Civil Services Chronicle Hindi One Year Subscription With 29 Years Solved Paper @ Rs.1290/-

स्वच्छता सारथी फेलोशिप 2022


भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के कार्यालय ने 4 फरवरी, 2022 को अपने 'वेस्ट टू वेल्थ' मिशन (Waste to Wealth Mission) के तहत 'स्वच्छता सारथी फेलोशिप 2022' (Swachhta Saarthi Fellowship 2022) की घोषणा की।

(Image Source: https://twitter.com/wasteto_wealth/)

उद्देश्य: अपशिष्ट प्रबंधन, अपशिष्ट जागरूकता अभियान, अपशिष्ट सर्वेक्षण आदि के सामुदायिक कार्य में लगे युवा नवप्रवर्तकों को स्वच्छता सारथी के रूप में सशक्त बनाना।

महत्वपूर्ण तथ्य: वैज्ञानिक और स्थायी रूप से अपशिष्ट प्रबंधन की विशाल चुनौती से निपटने में संलग्न छात्रों, सामुदायिक कार्यकर्ताओं / स्वयं सहायता समूहों, और नगरपालिका / स्वच्छता कार्यकर्ताओं को मान्यता प्रदान करने के उद्देश्य से 2021 में फेलोशिप की शुरुआत की गई थी।

  • फेलोशिप के तहत पुरस्कारों की तीन श्रेणियां हैं:
  1. श्रेणी-ए - अपशिष्ट प्रबंधन सामुदायिक कार्य में संलग्न 9वीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूली छात्रों के लिए है। रुपये की राशि।फेलोशिप के रूप में 1 वर्ष की अवधि के लिए प्रतिमाह 500/-रुपये की राशि दी जाएगी।
  2. श्रेणी-बी - अपशिष्ट प्रबंधन सामुदायिक कार्य में संलग्न कॉलेज के छात्रों (स्नातक, स्नातकोत्तर, शोध छात्रों) के लिए है। फेलोशिप के रूप में 1 वर्ष की अवधि के लिए प्रतिमाह 1,000/- रुपये की राशि दी जाएगी।
  3. श्रेणी-सी- स्वयं सहायता समूह या स्वच्छता कार्यकर्ता के लिए है। एक स्वयं सहायता समूह से अधिकतम 2 नागरिक आवेदन कर सकते हैं। फेलोशिप के रूप में 1 वर्ष की अवधि के लिए प्रतिमाह 2,000/- रुपए की राशि दी जाएगी।

वेस्ट टू वेल्थ मिशन: वेस्ट टू वेल्थ मिशन ‘प्रधानमंत्री विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार सलाहकार परिष’द (PM-STIAC) के नौ राष्ट्रीय मिशनों में से एक है।

  • इस मिशन का नेतृत्व भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार (PSA) के कार्यालय द्वारा किया जाता है।