Civil Services Chronicle One Year Subscription With 28 Years Solved Paper @ Rs.1290/-

भारत का पहला 5जी टेस्टबेड


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 मई, 2022 को देश के पहले '5जी टेस्टबेड' (5G testbed) का उद्घाटन किया, जिससे स्टार्टअप और उद्योग जगत स्थानीय स्तर पर अपने उत्पादों का परीक्षण कर सकेंगे और विदेशी सुविधाओं पर निर्भरता कम होगी।


(Image Source: https://news2news.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: 5जी टेस्टबेड को लगभग 220 करोड़ रुपए की लागत से आईआईटी मद्रास परिसर में स्थापित किया गया है।

  • 5जी टेस्टबेड को आईआईटी मद्रास के नेतृत्व में आठ संस्थानों द्वारा एक बहु-संस्थान सहयोगी परियोजना के रूप में विकसित किया गया है।
  • टेस्टबेड की सुविधा 5 अलग-अलग स्थानों पर उपलब्ध होगी।
  • 5जी टेस्टबेड की अनुपस्थिति में, स्टार्टअप और उद्योग जगत को 5जी नेटवर्क के लिए अपने उत्पादों का परीक्षण दूसरे देशों में करना पड़ता था।
  • 19 मई को भारत ने दूरसंचार क्षेत्र में एक ऐतिहासिक तकनीकी सफलता हासिल की, जब केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आईआईटी मद्रास में देश की पहली 5जी कॉल की।