समसामयिकी -26 May 2022

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

इंडो-जर्मन ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स


केंद्रीय ऊर्जा और नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह और जर्मनी के आर्थिक मामलों और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. रॉबर्ट हेबेक ने 2 मई, 2022 को 'इंडो-जर्मन ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स' (Indo - German Green Hydrogen Task Force) पर आशय की संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किए।

(Image Source: https://alj.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: समझौते के तहत दोनों देश परियोजनाओं, विनियमों और मानकों, व्यापार और संयुक्त अनुसंधान एवं विकास (आर एंड डी) परियोजनाओं के लिए सक्षम ढांचे के निर्माण के माध्यम से ग्रीन हाइड्रोजन के उत्पादन, उपयोग, भंडारण और वितरण में आपसी सहयोग को मजबूत करने के लिए एक ‘इंडो-जर्मन ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स’ का गठन करेंगे।

  • भारत और जर्मनी ने अपनी अर्थव्यवस्थाओं को कार्बन मुक्त करने के साझा लक्ष्य के साथ एक 'राष्ट्रीय हरित हाइड्रोजन अर्थव्यवस्था विकसित करने के लिए प्रतिबद्धता की है। सामान्य दीर्घकालिक लक्ष्य 'उत्सर्जन को कम करना' और 'पर्यावरण की रक्षा करना' है।
  • ग्रीन हाइड्रोजन और/या इसके व्युत्पन्न (derivatives) जैसे- ग्रीन अमोनिया/ग्रीन मेथनॉल का व्यापार इस सहयोग की आधारशिला बनाएगा।
  • संयुक्त अनुसंधान, लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स, इनोवेशन क्लस्टर्स और हाइड्रोजन हब में संस्थागत सहयोग दोनों देशों के सहक्रियात्मक प्रयासों को उत्प्रेरित करेगा।
  • भारत को ग्रीन हाइड्रोजन उत्पादन और निर्यात का वैश्विक केंद्र बनाने के लक्ष्य के साथ भारत ने 'राष्ट्रीय ग्रीन हाइड्रोजन मिशन' शुरू किया है।
  • जर्मनी ने भी हाइड्रोजन प्रौद्योगिकियों में वैश्विक नेतृत्व हासिल करने के उद्देश्य से एक महत्वाकांक्षी 'राष्ट्रीय हाइड्रोजन रणनीति' विकसित की है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

अंडमान को मिलेगा गैस आधारित बिजली संयंत्र


9 मई, 2022 को केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने तटीय क्षेत्रों के नियमन को नियंत्रित करने वाले कानूनों में छूट को मंजूरी दे दी है, जिसने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में गैस संचालित संयंत्रों की स्थापना का मार्ग प्रशस्त किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: द्वीप तटीय क्षेत्र विनियमन (The Island Coastal Zone Regulation: ICRZ), 2019, कमजोर तटीय हिस्सों पर बुनियादी ढांचे के विकास को सीमित करता है।

  • ‘राष्ट्रीय तटीय क्षेत्र प्रबंधन प्राधिकरण’ (National Coastal Zone Management Authority: NCZMA) ने सिफारिश की है कि केवल 100 वर्ग किलोमीटर से अधिक भौगोलिक क्षेत्रों वाले द्वीपों पर द्वीप तटीय विनियमन क्षेत्र के भीतर गैस आधारित बिजली संयंत्रों की अनुमति दी जानी चाहिए।
  • होप टाउन, पोर्ट ब्लेयर में 50 मेगावाट की तरल प्राकृतिक गैस (एलएनजी) आधारित बिजली परियोजना शुरू की जाएगी। यह एक दोहरे ईंधन वाला बिजली संयंत्र होगा, जो डीजल और एलएनजी दोनों से संचालित होगा।
  • इस संयंत्र को राष्ट्रीय ताप विद्युत निगम (एनटीपीसी) द्वारा विकसित किया जाएगा।
  • नीति आयोग के नीतिगत प्रयासों के बाद अंडमान क्षेत्र के विकास में रुचि बढ़ी है। एक प्रस्तावित परियोजना ग्रेटर अंडमान क्षेत्र या द्वीप समूह के सबसे दक्षिणी हिस्से को विकसित करने की है।
  • प्रस्तावों में 22 वर्ग किलोमीटर का हवाई अड्डा परिसर, दक्षिण खाड़ी में 12,000 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से एक ट्रांसशिपमेंट पोर्ट (TSP), तट के समांतर एक मास रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम (mass rapid transport system), एक मुक्त व्यापार क्षेत्र और दक्षिण-पश्चिमी तट पर वेयरहाउसिंग कॉम्प्लेक्स का निर्माण शामिल हैं।

सामयिक खबरें समिति-आयोग

मौद्रिक नीति समिति


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2 मई, 2022 को डॉ. राजीव रंजन को कार्यकारी निदेशक (ED) के रूप में नियुक्त किया है। कार्यकारी निदेशक के रूप में डॉ. रंजन मौद्रिक नीति समिति (Monetary Policy Committee: MPC) के पदेन सदस्य के रूप में काम करेंगे।

महत्वपूर्ण तथ्य: संशोधित आरबीआई अधिनियम, 1934 की धारा 45ZB के तहत, केंद्र सरकार को मुद्रास्फीति लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आवश्यक नीतिगत ब्याज दर निर्धारित करने के लिए छ: सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (MPC) का गठन करने का अधिकार है।

  • इस तरह की पहली मौद्रिक नीति समिति का गठन 2016 में किया किया गया था।
  • धारा 45ZB के अनुसार "मौद्रिक नीति समिति मुद्रास्फीति लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आवश्यक नीति दर निर्धारित करेगी" और "मौद्रिक नीति समिति का निर्णय बैंको के लिए बाध्यकारी होगा"।
  • मौद्रिक नीति समिति के छ: सदस्यों में से तीन सदस्य RBI से होते हैं और अन्य तीन सदस्यों की नियुक्ति केंद्र सरकार द्वारा की जाती है।
  • एमपीसी के वर्तमान सदस्य आरबीआई से शक्तिकांत दास, माइकल पात्रा और डॉ. राजीव रंजन हैं और आरबीआई के बाहर के तीन सदस्य- डॉ. शशांक भिडे, डॉ. आशिमा गोयल और प्रो. जयंत आर वर्मा हैं।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

शिगेला


केरल के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मई 2022 में कासरगोड में खाद्य विषाक्तता (food poisoning) की घटना 'शिगेला बैक्टीरिया' (Shigella bacteria) के कारण हुई है।

(Image Source: https://www.cdc.gov/shigella)

महत्वपूर्ण तथ्य: कासरगोड में एक भोजनालय से चिकन शावरमा (chicken shawarma) खाने के बाद लोगों के रक्त और मल में इस बैक्टीरिया की उपस्थिति की पुष्टि हुई।

  • शिगेला बैक्टीरिया 'एंटरोबैक्टर परिवार' (enterobacter family) से संबंधित है। यह दुनिया भर में ‘अतिसार’ (Diarrhoea) के सबसे आम कारणों में से एक है।
  • शिगेला बैक्टीरिया 'शिगेलोसिस (shigellosis) नामक संक्रमण का कारण बनता है।
  • शिगेलोसिस एक बहुत ही सामान्य संक्रमण नहीं है। यह भोजन और पानी से होने वाला संक्रमण है, और यह दूषित भोजन के सेवन से हो सकता है; जैसे- केरल के मामले में ‘बिना धुले फल या सब्जियां’।
  • शिगेला के संक्रमण से अधिकांश रोगियों में दस्त (कभी-कभी खूनी), पेट में ऐंठन और बुखार की शिकायत होती है।
  • रोगी के मलमूत्र के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संपर्क से यह रोग आसानी से फैलता है। दूषित पानी से स्नान करने से भी संक्रमण हो सकता है।
  • शिगेला बैक्टीरिया चार प्रकार के होते हैं, जो मनुष्यों को प्रभावित करते हैं - 'शिगेला सोनेई' (Shigella sonnei), 'शिगेला फ्लेक्सनेरी' (Shigella flexneri), शिगेला बॉयडी (Shigella boydii) और 'शिगेला डिसेंट्री' (Shigella dysenteriaei)।
  • 'शिगेला डिसेंट्री' सबसे गंभीर बीमारी का कारण बनता है क्योंकि यह विष पैदा करता है।
  • लगातार हाथ धोने से शिगेला संक्रमण को 70% तक कम किया जा सकता है। अधिकांश लोग एंटीबायोटिक दवाओं की आवश्यकता के बिना ठीक हो जाते हैं। हालांकि, गंभीर बीमारी वाले लोगों को एंटीबायोटिक दवाएं दी जानी चाहिए।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

इंटरसोलर यूरोप 2022


11 से 13 मई, 2022 तक म्यूनिख, जर्मनी में 'इंटरसोलर यूरोप 2022' (Intersolar Europe 2022) का आयोजन किया गया।

(Image Source: https://www.businesswire.com/)

  • केंद्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री भगवंत खुबा ने 12 मई को इंटरसोलर यूरोप 2022 में 'भारत के सौर ऊर्जा बाजार' विषय पर निवेश प्रोत्साहन कार्यक्रम में मुख्य वक्तव्य दिया। यह कार्यक्रम इंडो-जर्मन एनर्जी फोरम (IGEF) द्वारा आयोजित किया गया था।
  • केंद्रीय मंत्री ने वैश्विक निवेशकों को भारत के स्वच्छ ऊर्जा उद्योग में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया है। भारत में स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र में लगभग 196.98 बिलियन डॉलर की परियोजनाएं संचालित की जा रही हैं।
  • इंटरसोलर सौर उद्योग और उसके भागीदारों के लिए दुनिया की अग्रणी प्रदर्शनी शृंखला है। यह हमारी ऊर्जा आपूर्ति में सौर ऊर्जा की हिस्सेदारी बढ़ाने के उद्देश्य से दुनिया भर के लोगों और कंपनियों को एकजुट करती है।
  • इंटरसोलर प्रदर्शनी और सम्मेलन म्यूनिख, साओ पाउलो, लॉन्ग बीच, गांधीनगर, दुबई और मैक्सिको सिटी में आयोजित किए जाते हैं।
  • इन वैश्विक आयोजनों को इंटरसोलर शिखर सम्मेलनों द्वारा सहायता दी जाती है, जो दुनिया भर में उभरते और बढ़ते बाजारों में आयोजित किए जाते हैं।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप समझौते/संधि

सी-डॉट और सी-डैक के मध्य समझौता


सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (सी-डॉट) और सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग (सी-डैक) ने 30 अप्रैल, 2022 को बैंगलोर में 'सेमीकॉनइंडिया 2022' (SemiconIndia 2022) कार्यक्रम में एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

उद्देश्य: स्वदेशी तकनीकी डिजाइन और विकास को बढ़ावा देने के लिए दूरसंचार और सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी के विविध क्षेत्रों में एक साथ काम करना।

  • सी-डॉट और सी-डैक दोनों 4जी/5जी, ब्रॉडबैंड, इंटरनेट ऑफ थिंग्स / मशीन टू मशीन (IOT/M2M), पैकेट कोर, कंप्यूटिंग आदिक्षेत्रों में गतिविधियों की पहचान और विकास में सहयोग करने और संयुक्त रूप से काम करने के लिए सहमत हुए हैं।
  • ‘सी-डॉट’ भारत सरकार के दूरसंचार विभाग (संचार मंत्रालय) का प्रमुख अनुसंधान एवं विकास केंद्र है।
  • 'सी-डैक' इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार की एक स्वायत्त वैज्ञानिक सोसायटी है।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

इंडियन बैंक ने पेश किया डिजिटल ब्रोकिंग समाधान


सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन बैंक ने अपने डिजिटलीकरण मिशन के तहत 7 मई, 2022 को डिजिटल ब्रोकिंग समाधान 'ई-ब्रोकिंग' (E-Broking) पेश किया है, जिस पर ग्राहक डीमैट और ट्रेडिंग खाता खोल सकेंगे।

  • ई-ब्रोकिंग त्वरित और कागज रहित डीमैट और ट्रेडिंग खाता खोलने की सुविधा प्रदान करता है, जिसे बैंक के मोबाइल बैंकिंग एप्लिकेशन 'इंडओएसिस' (IndOASIS) से जोड़ा गया है।
  • उत्पाद को बैंक के वित्तीय प्रौद्योगिकी भागीदार फिजडम (Fisdom) के सहयोग से लॉन्च किया गया है।
  • शांति लाल जैन इंडियन बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। इंडियन बैंक का मुख्यालय चेन्नई में है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

अंतरराष्ट्रीय पादप स्वास्थ्य दिवस (12 मई)


2022 का विषय: ‘पौधों की रक्षा, जीवन की रक्षा’ (Protecting plants, Protecting life)।

महत्वपूर्ण तथ्य: संयुक्त राष्ट्र ने 12 मई को पौधों पर वैश्विक जागरूकता बढ़ाने के लिए अंतरराष्ट्रीय पादप स्वास्थ्य दिवस नामित किया है कि कैसे पादप स्वास्थ्य की रक्षा भूख को समाप्त करने, गरीबी को कम करने, जैव विविधता और पर्यावरण की रक्षा करने और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है।

  • संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 2020 को 'अंतरराष्ट्रीय पादप स्वास्थ्य वर्ष' के रूप में घोषित किया था।

संक्षिप्त खबरें इन्हें भी जानें

एल्गोरिदम


इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी की मात्रा में लगातार वृद्धि के साथ, 'सर्च एल्गोरिदम' (search algorithms) तेजी से जटिल होते जा रहे हैं, निजता और अन्य चिंताओं को बढ़ा रहे हैं और नियामकों का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं।

  • अप्रैल 2022 में, यूनाइटेड किंगडम के डिजिटल निगरानीकर्ता ने कहा कि वे एल्गोरिदम पर करीब से नजर रखेंगे, साइटों और ऐप्स के एल्गोरिदम का उपयोग करने के लाभों और जोखिमों के साथ-साथ ऑडिटिंग एल्गोरिदम, वर्तमान परिदृश्य और नियामकों की भूमिका के बारे में राय लेंगे।
  • एक एल्गोरिथ्म निर्देशों की एक शृंखला है। इसका उपयोग गणना करने, किसी प्रश्न का उत्तर खोजने या किसी समस्या को हल करने के लिए किया जा सकता है।
  • सर्च इंजन (Search engines) किसी व्यक्ति के सर्च रिक्वेस्ट के लिए प्रासंगिक परिणाम प्रदर्शित करने से पहले विभिन्न क्रियाओं के लिए कई एल्गोरिदम का उपयोग करते हैं।
  • 'गूगल सर्च इंजन' प्रौद्योगिकी दिग्गज अल्फाबेट इंक के गूगल का प्रमुख उत्पाद है, जो सर्च बाजार में सबसे अग्रणी है।
  • एल्गोरिदम अक्सर ऐतिहासिक डेटा का उपयोग करके और विशिष्ट कार्यों के लिए विकसित किए जाते हैं। एक बार विकसित होने के बाद, इनकी गुणवत्ता बढ़ाने के लिए कंपनियों द्वारा लगातार इनको अपडेट किया जाता है।
  • फर्म इन एल्गोरिदम का उपयोग वेबसाइटों पर उत्पादों को रैंक करने के तरीके को बदलने के लिए कर सकते हैं, अपने स्वयं के उत्पादों को प्राथमिकता दे सकते हैं और प्रतिस्पर्धियों को बाहर कर सकते हैं। इनमें से कुछ चिंताओं ने नियामकों का ध्यान खींचा है।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

हर्षदा शरद गरुड़


भारोत्तोलन में, हर्षदा शरद गरुड़ 2 मई, 2022 को ग्रीस के हेराक्लिओन में अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ-आईडब्ल्यूएफ (IWF) जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बन गई हैं।

(Image Source: https://twitter.com/iwfnet/)

  • पुणे की रहने वाली हर्षदा ने महिलाओं के 45 किलोग्राम भार वर्ग में 153 किलोग्राम भार उठाया, जिसमें स्नैच में 70 किलोग्राम और क्लीन एंड जर्क में 83 किलोग्राम शामिल था।
  • हर्षदा से पहले आईडब्ल्यूएफ जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाली केवल दो भारतीय खिलाड़ी हैं। मीराबाई चानू ने 2013 में कांस्य पदक जीता था और 2021 में अचिंता शुली ने रजत पदक जीता था।
  • वर्ष 1905 में स्थापित अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (IWF) दुनिया भर में 193 संबद्ध राष्ट्रीय संघों से बना एक स्थायी गैर-लाभकारी संगठन है। इसका मुख्यालय स्विट्जरलैंड के लुसाने में स्थित है।
  • IWF को अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन के लिए एकमात्र नियंत्रक निकाय के रूप में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा भी मान्यता प्राप्त है।