राज्य समाचार मणिपुर

नट-संकीर्तन


जवाहरलाल नेहरू मणिपुर नृत्य अकादमी, इंफाल के मंडप में 28 से 30 सितंबर, 2021 तक 3 दिवसीय नृत्य और संगीत समारोह 'नट-संकीर्तन' (Nata-Sankirtana) का आयोजन किया गया।

(Image Source: https://ich.unesco.org/)

  • यह महोत्सव अकादमी की गतिविधियों की वार्षिक विशेषता है।
  • संकीर्तन मणिपुर का एक अनुष्ठान नृत्य और संगीत रूप है।
  • नट संकीर्तन शास्त्रीय रागों में भगवान कृष्ण का एक भजन है, जो विभिन्न स्वदेशी लय का संश्लेषण करता है।
  • संकीर्तन अपने प्रदर्शन में लय पैटर्न और वेशभूषा के साथ-साथ विशिष्ट नियमों और विनियमों द्वारा निर्धारित एक अत्यंत सख्त कोड का पालन करता है।
  • मणिपुर के मैदानों के वैष्णव लोगों के जन्म से लेकर मृत्यु तक किसी व्यक्ति के जीवन के महत्वपूर्ण अवसरों को चिह्नित करने के लिए संकीर्तन किया जाता है।
  • मणिपुर की इस अनूठी सांस्कृतिक विरासत को 2013 में यूनेस्को की मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की प्रदर्शक सूची (Representative List) में अंकित किया गया था।

राज्य समाचार तमिलनाडु

कन्याकुमारी लौंग ने हासिल किया जीआई टैग


कन्याकुमारी के मसाला उत्पादकों ने जिले के पहाड़ी क्षेत्रों में उगाई जा रही लौंग के लिए भौगोलिक संकेतक (जीआई) टैग प्राप्त किया है, जो अपनी समृद्ध सुगंधित तेल सामग्री के लिए जाना जाता है।

(Image Source: https://www.newindianexpress.com/

  • लौंग, कन्याकुमारी जिले की प्रमुख मसाला फसलों में से एक है, जो वीरापुली आरक्षित वन और महेंद्रगिरि के पश्चिमी घाटों में मारामलाई, ब्लैकरॉक और वेलिमलाई के घने जंगलों वाले क्षेत्रों में 760 हेक्टेयर में उगाई जाती है।
  • भारत में कुल 1,100 टन लौंग के उत्पादन में से, तमिलनाडु में 1,000 टन के करीब उत्पादन होता है, जिसमें से 65% से अधिक कन्याकुमारी जिले में उगाया जाता है।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

मास्टिटिस


गुजरात के एक किसान द्वारा साझा की गई स्वदेशी जानकारी का उपयोग करते हुए, दुधारू पशुओं की एक संक्रामक बीमारी, मास्टिटिस (Mastitis) के इलाज के लिए एक पॉली-हर्बल और लागत प्रभावी दवा विकसित की गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: दुधारु पशुओं के थन की प्रभावित सतह पर सामयिक अनुप्रयोग के लिए यह दवा एक जैल के रूप में विकसित की गई है, जिसे 'मस्तिरक जैल' (Mastirak gel) नाम दिया गया है।

  • मास्टिटिस एक आम संक्रामक बीमारी है, जो दूध की गुणवत्ता में गिरावट के कारण कृषि उत्पादकता को प्रभावित करती है, इस प्रकार आय-सृजन गतिविधियों को प्रभावित करती है।
  • यह पाया गया कि दवा सोमैटिक सेल काउंट (Somatic Cell Count: SCC) को कम कर सकती है और दुधारू पशुओं के थन स्वास्थ्य (udder health) में सुधार कर सकती है।
  • सोमैटिक सेल काउंट विश्व स्तर पर एक मानक है और इस मानक सीमा पर दूध में सोमैटिक सेल काउंट को कम करने का प्रयास किया गयाहै।
  • नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन (NIF) द्वारा विकसित 'मस्तिरक जैल' दवा का उद्योग भागीदार ‘राकेश फार्मास्युटिकल्स’ के माध्यम से व्यावसायीकरण किया गया है।
  • देश के आठ राज्यों गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश, केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में डेयरी मालिकों को इस हर्बल दवा को अपनाने से लाभ हुआ है।
  • नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार का एक स्वायत्त संस्थान है।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

इंडस आईओटी किट


केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय में राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने 18 अक्टूबर, 2021 को सीडैक, बैंगलोर (Centre for Development of Advanced Computing: CDAC) में एकल बोर्ड आईओटी डेवलपमेंट प्लेटफॉर्म 'इंडस आईओटी किट' [Innovation Development Upskilling (INDUS) Internet of Things (IoT) Kit] लॉन्च की।

(Image Source: https://www.nielit.gov.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: क्रेडिट कार्ड के आकार की CDAC द्वारा स्वदेशी रूप से विकसित यह किट, 6 सेंसर, एक्चुएटर्स (प्रवर्तक या गति देने वाला), कनेक्टिविटी और डिबगर इंटरफेस (debugger interfaces) से सुसज्जित है।

  • कॉम्पैक्ट और ले जाने में आसान (पोर्टेबल) आईओटी किट ड्रोन सहित कई एप्लीकेशन की एक शृंखला में स्थानीय और स्मार्ट सॉल्युशन के विकास को सुविधाजनक बनाएगी।
  • इसकी कीमत सिर्फ 2,500 रुपये प्रति यूनिट है और यह जल्द ही जीईएम (Government e- MarketPlace: GeM) पोर्टल पर उपलब्ध होगा।
  • सी-डैक वाणिज्यिक उत्पादन के लिए इस तकनीक को स्टार्टअप्स को हस्तांतरित करने का भी इच्छुक है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

कुशीनगर जनसांख्यिकी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 अक्टूबर, 2021 को पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: कुशीनगर में बुद्ध ने 483 ईसा पूर्व में महापरिनिर्वाण प्राप्त किया था और इसलिए यह एक अंतरराष्ट्रीय बौद्ध तीर्थस्थल है। हालाँकि, यहाँ पर बौद्धों की बहुत कम आबादी है।

  • भारत की जनगणना 2011 के अनुसार, कुशीनगर जिले की 35.64 लाख आबादी में से अधिकांश हिंदू (29.28 लाख), उसके बाद मुस्लिम (6.20 लाख), और ईसाई (5,006) थे।
  • जिले की बौद्ध आबादी सिर्फ 4,619, या कुल आबादी का मात्र 0.12% थी।
  • उत्तर प्रदेश के दस अन्य जिलों - खीरी, महाराजगंज, सिद्धार्थनगर, सुल्तानपुर, बस्ती, मैनपुरी, जौनपुर, प्रतापगढ़, हरदोई और आजमगढ़ में कुशीनगर की तुलना में अधिक बौद्ध आबादी है।
  • खीरी, जो 3 अक्टूबर को चार विरोध प्रदर्शन करने वाले किसानों सहित आठ लोगों की मौत के लिए चर्चा में रहा, 2011 में उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में सबसे बड़ी बौद्ध आबादी (18,454) वाला जिला था।
  • नवीनतम उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार प्रति व्यक्ति जिला घरेलू उत्पाद (District Domestic Product) के मामले में, कुशीनगर 2019-20 में उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में 61वें स्थान पर था।
  • तृतीयक क्षेत्र (सेवाओं) ने जिले के घरेलू उत्पाद में लगभग 50% का योगदान दिया है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

गणतांत्रिक देश बनने से पहले डेम सैंड्रा मेसन बारबाडोस की पहली राष्ट्रपति निर्वाचित


बारबाडोस ने कैरेबियाई द्वीप के औपनिवेशिक अतीत को खत्म करने तथा गणतांत्रिक देश बनने की दिशा में एक निर्णायक कदम में यूनाइटेड किंगडम की महारानी एलिजाबेथ को बारबाडोस के प्रमुख के रूप में हटाने का फैसला करते हुये 20 अक्टूबर, 2021 को दो-तिहाई मतों से डेम सैंड्रा मेसन (Dame Sandra Mason) को देश का पहला राष्ट्रपति निर्वाचित किया है।

(Image Source: https://www.bbc.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: 72 वर्षीय मेसन 30 नवंबर, 2021 को ब्रिटेन से देश की आजादी की 55वीं वर्षगांठ पर शपथ लेंगी।

  • मेसन एक पूर्व न्यायविद हैं, जो 2018 से बारबाडोस की गवर्नर-जनरल हैं। वे बारबाडोस कोर्ट ऑफ अपील्स (Court of Appeals) में सेवा देने वाली पहली महिला भी थीं।

बारबाडोस: लगभग 285,000 की आबादी के साथ, बारबाडोस अधिक आबादी वाले और समृद्ध कैरिबियाई द्वीपों में से एक है। बारबाडोस एक पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश है, जिसने 1966 में स्वतंत्रता प्राप्त की थी।

  • बारबाडोस पर अंग्रेजों ने 1625 में कब्जा किया था। ब्रिटिश रीति-रिवाजों के प्रति वफादारी के कारण इसे कभी-कभी "लिटिल इंग्लैंड" (Little England) भी कहा जाता है।
  • बारबाडोस कैरिबियाई देशों में गणतांत्रिक देश बनने वाला पहला ब्रिटिश उपनिवेश नहीं होगा। इससे पहले 1970 में गुयाना, 1976 में त्रिनिदाद और टोबैगो और 1978 में डोमिनिका गणतांत्रिक देश बने थे।
  • बारबाडोस की प्रधानमंत्री ‘मिया मोटली’ हैं और इसकी राजधानी ब्रिजटाउन है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

नॉर्वे के नए प्रधानमंत्री जोनास गहर स्टोर


नॉर्वे के नए प्रधानमंत्री ‘जोनास गहर स्टोर’ (Jonas Gahr Stoere) ने 14 अक्टूबर, 2021 को पदभार ग्रहण किया।

(Image Source: https://www.goodcountry.org/)

  • जोनास गहर स्टोर नॉर्वे की सेंटर-लेफ्ट लेबर पार्टी (Center-left Labor Party) के नेता हैं।
  • उनकी 19-सदस्यीय कैबिनेट में 10 महिलाएं और 9 पुरुष हैं, जिसमें यूरोस्केप्टिक सेंटर पार्टी (Euroskeptic Center Party) के नेता ट्रिगवे स्लैग्सवॉल्ड वेदुम (Trygve Slagsvold Vedum) बतौर वित्त मंत्री शामिल हैं।
  • एमिली एंगर मेहल 28 साल की उम्र में नॉर्वे की सबसे कम उम्र की न्याय मंत्री बनीं हैं।
  • दो बार चार-चार साल के प्रधानमंत्री के कार्यकाल के बाद 13 सितंबर, 2021 को हुये चुनाव मेंकंजरवेटिव पार्टी की एर्ना सोलबर्ग को हार का सामना करना पड़ा था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

आधार हैकाथॉन 2021


यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) 28 से 31 अक्टूबर, 2021 तक युवा नवोन्मेषकों पर लक्षित 'आधार हैकथॉन 2021' नामक एक हैकथॉन की मेजबानी कर रहा है।

(Image Source: PIB)

  • हैकाथॉन में भारत के सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों के छात्र प्रतिभाग कर सकते हैं। टीम के हिस्से के रूप में अधिकतम 5 सदस्य हो सकते हैं।
  • आधार हैकाथॉन 2021 दो विषयों पर आधारित है। पहला विषय "नामांकन और अपडेट" (Enrolment and Update) से संबंधित है, जो अनिवार्य रूप से निवासियों द्वारा अपना पता अपडेट करते समय सामना की जाने वाली कुछ वास्तविक चुनौतियों को कवर करता है।
  • हैकथॉन का दूसरा विषय यूआईडीएआई द्वारा पेश किए गए "पहचान और प्रमाणीकरण" समाधान से संबंधित है। इस विषय के तहत, UIDAI आधार संख्या या किसी भी जनसांख्यिकीय जानकारी को साझा किए बिना पहचान साबित करने के लिए अभिनव समाधान की तलाश रहा है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

अंतरराष्‍ट्रीय गरीबी उन्‍मूलन दिवस (17 अक्टूबर) [


2021 का विषय: 'एक साथ आगे बढ़ना: लगातार गरीबी को समाप्त करना, सभी लोगों और हमारे ग्रह का सम्मान करना' (Building forward together: Ending Persistent Poverty, Respecting all People and our Planet)

महत्वपूर्ण तथ्य: 22 दिसंबर, 1992 को अपनाए गए संकल्प के माध्यम से, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 17 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस के रूप में घोषित किया।

  • इस दिवस का उद्देश्य सभी देशों को गरीबी और निराश्रयता के उन्मूलन के लिए राष्ट्रीय संदर्भ में उपयुक्त, ठोस कार्रवाई के लिए प्रेरित करना है।
  • 1987 में 17 अक्टूबर के ही दिन पेरिस में ट्रोकाडेरो (Trocadéro) में अत्यधिक गरीबी, हिंसा और भूख के शिकार लोगों के सम्मान में एक लाख से अधिक लोग एकत्र हुए थे; ट्रोकाडेरो में 1948 में 'मानवाधिकारों की सार्वभौमिक घोषणा' पर हस्ताक्षर किए गए थे।
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 2018-2027 को ‘गरीबी उन्मूलन के लिए तीसरा संयुक्त राष्ट्र दशक’ घोषित किया है।

संक्षिप्त खबरें इन्हें भी जानें

मृत क्षेत्र


सम्पूर्ण ग्रह में जल निकाय धीरे-धीरे 'मृत क्षेत्रों' या डेड जोन (Dead Zones) में बदल रहे हैं। उर्वरकों में उपयोग किया जाने वाला रासायनिक रूप से संश्लेषित नाइट्रोजन (chemically synthesized nitrogen) महासागरों, नदियों और झीलों को 'मृत' बना रहा है।

  • मृत क्षेत्र जल निकायों में ऐसे क्षेत्र हैं, जहां जलीय जीव ऑक्सीजन की कमी के चलते जीवित नहीं रह सकते हैं।
  • खेतों और कृषि भूमि में उपयोग किए जाने वाले उर्वरक जल निकायों में चले जाते हैं तो वे शैवाल के विकास को उत्प्रेरित करते हैं।
  • जल निकायों में पोषक तत्वों की अधिकता सुपोषण या 'यूट्रोफिकेशन' (eutrophication) मृत क्षेत्रों के निर्माण का प्रमुख कारण है। अतिरिक्त नाइट्रोजन और फास्फोरस थोड़े समय में शैवाल के अतिवृद्धि का कारण बनते हैं, जिसे शैवाल प्रस्फुटन (Algal blooms) भी कहा जाता है।
  • जब शैवाल मर जाते हैं तो वे जल निकाय के तल में बैक्टीरिया के लिए एक समृद्ध खाद्य स्रोत प्रदान करते हैं, जो विघटित होने पर आसपास के पानी से घुलित ऑक्सीजन का उपभोग करते हैं, जिससे समुद्री जीवों से आपूर्ति कम हो जाती है।
अनुमानों के अनुसार लगभग 10% या अधिक महासागर अब मृत क्षेत्र हैं। इस साल मैक्सिको की खाड़ी का मृत क्षेत्र अब तक का सबसे बड़ा मृत क्षेत्र दर्ज किया गया, जो लगभग 16,400 वर्ग किलोमीटर में फैला था।

राज्य समाचार उत्तर प्रदेश

वाराणसी सार्वजनिक परिवहन में रोपवे सेवा शुरू करने वाला पहला भारतीय शहर बन जाएगा


वाराणसी जल्द ही सार्वजनिक परिवहन में रोपवे सेवाओं का उपयोग करने वाला पहला भारतीय शहर बन जाएगा।

(Image Source: Times of India)

  • सार्वजनिक परिवहन रोपवे कैंट रेलवे स्टेशन (वाराणसी जंक्शन) से चर्च स्क्वायर (गोदौलिया) तक यातायात की भीड़ को कम करने के लिए बनाया जाना प्रस्तावित है।
  • सार्वजनिक परिवहन के लिए रोपवे का उपयोग करने वाला बोलीविया और मैक्सिको सिटी के बाद भारत दुनिया का तीसरा देश होगा और वाराणसी पहला शहर होगा।
  • इस पायलट प्रोजेक्ट को जापान में क्योटो की तर्ज पर अत्याधुनिक तरीके से विकसित किया जा रहा है।
  • रोपवे से महज 15 मिनट में 4.2 किमी. का सफर तय किया जा सकेगा।
  • परियोजना की लागत 424 करोड़ रुपये है, जिसे केंद्र और राज्य सरकार के बीच 80:20 मे विभाजित किया जाएगा।

राज्य समाचार तेलंगाना

देश की पहली स्मार्टफोन आधारित ई-वोटिंग प्रणाली


तेलंगाना सरकार ने 20 अक्टूबर, 2021 को खम्मम जिले में खम्मम नगर निगम के डमी चुनावों (dummy elections) के साथ ‘देश की पहली स्मार्टफोन-आधारित ई-वोटिंग प्रणाली’ का ड्राई रन (प्रयोगिक रूप में) किया।

  • लगभग 3,830 मतदाताओं ने मोबाइल ऐप पर अपना नाम दर्ज कराया और लगभग 2,128 लोगों ने ई-वोटिंग में हिस्सा लिया।
  • तेलंगाना राज्य चुनाव आयोग (TSEC) ने राज्य सरकार के आईटी इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार (ITE & C) विभाग की उभरती हुई प्रौद्योगिकी शाखा और सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग (CDAC) द्वारा तकनीकी विकास के समर्थन से इस प्रणाली का कार्यान्वयन किया।
  • ई-वोटिंग प्रणाली वैध मतदाता के तीन तरह के प्रमाणीकरण के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग करती है- आधार के साथ नाम मिलान, व्यक्ति की जीवंतता (liveness) का पता लगाना, और लगभग 15 - 20 साल पुराने रिकॉर्ड के साथ ईपीआईसी डेटाबेस (EPIC Database) के साथ छवि मिलान।
  • इसके अलावा, कूटलेखित मतों (encrypted votes) को सुरक्षित रखने के लिए ब्लॉकचेन (डिस्ट्रिब्यूटेड लेजर) तकनीक का उपयोग किया गया।