राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारत की पहली आपातकालीन लैंडिंग सुविधा


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने संयुक्त रूप से 9 सितंबर, 2021 को राजस्थान के बाड़मेर के पास राष्ट्रीय राजमार्ग-925ए पर सट्टा-गंधव खंड पर भारतीय वायुसेना के लिए आपातकालीन लैंडिंग सुविधा (Emergency landing facility) का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: दोनों मंत्रियों ने इस सुविधा का उद्घाटन करने के लिए ‘सी-130जे विमान’ से बाड़मेर की यात्रा की।

  • यह पहली बार है जब भारतीय वायु सेना के विमानों की आपात लैंडिंग के लिए किसी राष्ट्रीय राजमार्ग का इस्तेमाल किया गया है।
  • यह लैंडिंग स्ट्रिप भारतीय वायुसेना के सभी प्रकार के विमानों की लैंडिंग की सुविधा प्रदान करने में सक्षम होगी।
  • भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने राष्ट्रीय राजमार्ग-925ए पर सट्टा-गंधव के 41/430 किमी. से 44/430 किमी. के तीन किलोमीटर लंबे हिस्से को भारतीय वायु सेना के लिये आपातकालीन लैंडिंग सुविधा के रूप में तैयार किया।
  • लैंडिंग सुविधा, दो लेन के गगरिया-भाखासर तथा सट्टा-गंधव सेक्शन का हिस्सा है, जिसकी भारतमाला परियोजना के तहत कुल लंबाई 196.97 किमी. है।
  • इस परियोजना से बाड़मेर और जालौर जिले के सीमावर्ती गांवों के बीच संपर्कता में सुधार होगा। यह हिस्सा पश्चिमी सीमावर्ती क्षेत्र में स्थित है और इससे भारतीय सेना की सतर्कता बढ़ेगी।
  • इस एमरजेंसी लैंडिंग सुविधा के अलावा वायुसेना/भारतीय सेना की जरूरतों को ध्यान में रखते हुये कुंदनपुरा, सिंघानिया और भाखासर गांवों में 100X30 मीटर आकार के तीन हेलीपैड भी बनाये गये हैं।