क्वांटम कम्युनिकेशन लैब


दूरसंचार सचिव के. राजारमन ने 10 अक्टूबर, 2021 को सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (C-DOT), दिल्ली में क्वांटम कम्युनिकेशन लैब (Quantum Communication Lab) का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: उन्होंने C-DOT द्वारा स्वदेशी रूप से विकसित क्वांटम कुंजी वितरण (Quantum Key Distribution: QKD) समाधान का भी अनावरण किया।

  • क्वांटम कुंजी वितरण मानक ऑप्टिकल फाइबर पर 100 किलोमीटर से अधिक की दूरी पर संचार स्थापित कर सकता है।
  • सी-डॉट भारत में दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के साथ-साथ सामरिक और रक्षा क्षेत्र की आवश्यकताओं के व्यापक रूप से समाधान के लिए स्वदेशी क्वांटम सुरक्षित दूरसंचार उत्पादों और समाधानों के पूर्ण पोर्टफोलियो की पेशकश करने वाला भारत का पहला संगठन बन गया है।

क्वांटम प्रौद्योगिकी: क्वांटम प्रौद्योगिकी को मोटे तौर पर चार क्षेत्रों में विभाजित किया जा सकता है। क्वांटम कंप्यूटिंग, क्वांटम संचार, क्वांटम सेंसर और क्वांटम मैटेरियल (Quantum Materials)।

  • क्वांटम प्रौद्योगिकियां सूक्ष्म कणों (जैसे फोटॉन, इलेक्ट्रॉन, परमाणु आदि) द्वारा प्रदर्शित परिघटनाओं पर आधारित होती हैं।

अन्य तथ्य: भारत ने क्वांटम प्रौद्योगिकी और अनुप्रयोगों पर राष्ट्रीय मिशन (NM-QTA) लॉन्च किया है। आठ वर्षों से अधिक की अवधि वाली एक अरब डॉलर से अधिक के बजट वाली इस पहल का नेतृत्व विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (DST) द्वारा किया जाएगा।

  • C-DOT दूरसंचार विभाग, भारत सरकार के तहत एक प्रमुख दूरसंचार अनुसंधान एवं विकास संगठन है।