जैव संसाधन और स्थायी विकास संस्थान


केंद्रीय मंत्री. डॉ जितेंद्र सिंह ने पूर्वोत्तर क्षेत्र की समग्र समृद्धि के लिए फसल, फल और पादप अनुसंधान में जैव प्रौद्योगिकी विभाग की परियोजनाओं की समीक्षा करने के लिए इंफाल के जैव-संसाधन और सतत विकास संस्थान (Institute of Bio-resources and Sustainable Development: IBSD) का दौरा किया।

  • जीव विज्ञान और जैव प्रौद्योगिकी के आधुनिक उपकरणों के अनुप्रयोग के माध्यम से देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र के समृद्ध जैव संसाधनों का विकास और उपयोग करने के उद्देश्य से 2001 में इंफाल, मणिपुर में जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी) द्वारा जैव-संसाधन और सतत विकास संस्थान की स्थापना की गई थी।
  • यह विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के जैव प्रौद्योगिकी विभाग का एक स्वायत्त संस्थान है।
  • इसके अनुसंधान के क्षेत्र जीव विज्ञान और जैव प्रौद्योगिकी, कृषि विज्ञान तथा चिकित्सा विज्ञान हैं। IBSD के निदेशक प्रो. पुलक कुमार मुखर्जी हैं।