Perfection IAS

ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस


केंद्र सरकार ने भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) में अपने 5% हिस्सेदारी बेचने के लिए 13 फरवरी, 2022 को भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास 'ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस' (Draft red herring prospectus: DRHP) दाखिल किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस एक दस्तावेज है, जो एक नये व्यवसाय या उत्पाद को एक संभावित निवेशक को पेश करने के लिए तैयार किया जाता है।

  • यह एक निवेशक के लिए अंतिम दस्तावेज नहीं है, बल्कि मूल्य प्रदर्शित करने और निवेशकों को पर्याप्त जानकारी प्रदान करने का एक तरीका है ताकि वे यह तय कर सकें कि वे कंपनी में निवेश करना चाहते हैं या नहीं।
  • भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के साथ DRHP को दाखिल करना, एलआईसी के व्यवसाय संचालन के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी के साथ, प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) की दिशा में पहला नियामक कदम है।
  • हिस्सेदारी की बिक्री को हरी झंडी देने से पहले सेबी को DRHP में बताए गए तथ्यों की जांच करनी चाहिए और यदि आवश्यक हो तो बदलाव की सिफारिश करनी चाहिए।
  • एलआईसी का आईपीओ पूरी तरह ऑफर फॉर सेल (OFS) है।
  • 31 मार्च तक आईपीओ के माध्यम से एलआईसी की शेयर बिक्री का परिणाम सरकार के लिए इस वर्ष के लिए अपने विनिवेश लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण है, जिसे 1.75 लाख करोड़ रुपए से घटाकर 78,000 करोड़ रुपए कर दिया गया था।