पीआईबी न्यूज आर्थिक

देश में एफडीआई प्रवाह में वृद्धि


केंद्र सरकार द्वारा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) से जुड़े नीतिगत सुधारों, निवेश को सुविधाजनक बनाने और कारोबार सुगमता सुनिश्चित करने के मोर्चों पर किए गए विभिन्न उपायों के परिणामस्वरूप देश में एफडीआई प्रवाह में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: भारत ने वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान अब तक का सर्वाधिक 81.72 अरब डॉलर का कुल एफडीआई प्रवाह आकर्षित किया है, जो वित्त वर्ष 2019-20 में आकर्षित किए गए कुल एफडीआई (74.39 अरब डॉलर) की तुलना में 10% अधिक है।

  • एफडीआई इक्विटी प्रवाह में पिछले वित्त वर्ष 2019-20 (49.98 अरब डॉलर) की तुलना में वित्त वर्ष 2020-21 (59.64 अरब डॉलर) में 19% की वृद्धि दर्ज की गई है।
  • शीर्ष निवेशक देशों की दृष्टि से वित्त वर्ष 2020-21 में ‘सिंगापुर’ 29% के साथ शीर्ष पर है, इसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका (23%) और मॉरीशस (9%) हैं।
  • ‘कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर’ वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कुल एफडीआई इक्विटी प्रवाह में लगभग 44% हिस्सेदारी के साथ शीर्ष सेक्टर रहा। इसके बाद क्रमश: निर्माण या अवसंरचना गतिविधियां (13%) और सेवा क्षेत्र (8%) हैं।
  • ‘कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर’ सेक्टर के तहत वित्त वर्ष 2020-21 में प्रमुख एफडीआई प्रवाह प्राप्तकर्ता राज्य क्रमश: गुजरात (78%), कर्नाटक (9%) और दिल्ली (5%) हैं।
  • वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान प्रतिशत वृद्धि की दृष्टि से सऊदी अरब शीर्ष निवेशक है, इसने वित्त वर्ष 2019-20 में किए गए 89.93 मिलियन डॉलर की तुलना में वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 2816.08 डॉलर का निवेश किया।

सामयिक खबरें आर्थिकी

भारत का पहला कृषि निर्यात सुविधा केंद्


14 मई, 2021 को ‘महाराष्ट्र चैंबर ऑफ कॉमर्स इंडस्ट्रीज एंड एग्रीकल्चर’ और नाबार्ड (National Bank for Agriculture and Rural Development- NABARD) ने पुणे शहर में भारत का पहला कृषि निर्यात सुविधा केंद्र शुरू किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह सुविधा राज्य से कृषि क्षेत्र में अपने उत्पादों को विदेशों में निर्यात करने की योजना बनाने वाले हर किसी के लिए उपलब्ध होगी।

  • यह केंद्र निर्यातकों के मार्गदर्शन और राज्य से कृषि-खाद्य उत्पादों के निर्यात के लिए आवश्यक सभी सूचनाओं के लिए 'वन-स्टॉप-शॉप' के रूप में काम करेगा।
  • इस केंद्र में वर्तमान कृषि निर्यातक और सेवारत एवं सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी बतौर विशेषज्ञ होंगे। इससे नए निर्यातक को निर्यात प्रक्रिया की सभी जानकारियों में मदद मिलेगी।
  • इस निर्यात प्रक्रिया में निर्यात पंजीकरण, बाजार मूल्यांकन, प्राप्तकर्ता देशों के मानक, और उन मानकों से मेल खाने के लिए आवश्यक समायोजन, संचालन में शामिल लॉजिस्टिक के प्रकार आदि शामिल हैं।

सामयिक खबरें आर्थिकी

ईंधन दक्षता बढ़ाने हेतु चार पहिया टायरों के लिए मसौदा मानदंड जारी


मई 2021 में केंद्रीय परिवहन मंत्रालय ने चार पहिया वाहनों के टायरों के लिए मसौदा मानदंड जारी किए हैं, जिनका उद्देश्य वाहन की ईंधन दक्षता को बढ़ाना और गीली परिस्थितियों में टायरों की बेहतर ब्रेकिंग क्षमता में सक्षम करना है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ये मानक टायर की क्षमता को रोलिंग ध्वनि उत्सर्जन (rolling sound emissions), रोलिंग प्रतिरोध (rolling resistance) और गीली सतहों पर पकड़ क्षमता (adhesion performance) के संबंध में यूरोपीय नियमों के चरण- II सीमाओं के अनुरूप बनाएंगे।

  • मसौदा अधिसूचना कारों, बसों और ट्रकों के टायर समय-समय पर संशोधित मोटर वाहन उद्योग मानक (एआईएस) 142:2019 के चरण 2 में निर्दिष्ट रोलिंग प्रतिरोध, गीली पकड़ (wet grip) और रोलिंग ध्वनि उत्सर्जन की आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रस्ताव करती है।
  • टायरों के ‘रोलिंग प्रतिरोध’ का ईंधन दक्षता पर प्रभाव पड़ता है, जबकि ‘गीली पकड़’ गीली परिस्थितियों में टायरों की ब्रेकिंग क्षमता से संबंधित होती है और ‘रोलिंग ध्वनि उत्सर्जन’ गति के दौरान टायर और सड़क की सतह के बीच संपर्क से निकलने वाली ध्वनि से संबंधित होता है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

ब्रिटेन द्वारा डिजिटल सीमा बनाने की योजना


मई 2021 में प्रवासियों की सटीक संख्या प्रदान करने के लिए ब्रिटेन द्वारा अपनी सीमाओं को पूरी तरह से डिजिटल बनाने की योजना तैयार की जा रही है।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह योजना, देश की आव्रजन प्रणाली (Immigration system) में किए जा रहे व्यापक सुधारों का एक भाग है और इसमें अंक-आधारित प्रवासन प्रणाली (points-based migration system) की शुरूआत भी की जाएगी।

  • बिना वीजा या आव्रजन दर्जे (Immigration status) के ब्रिटेन आने वाले लोगों को अमेरिकी शैली के इलेक्ट्रॉनिक यात्रा अधिकार पत्र (Electronic Travel Authorisation- ETA) के लिए आवेदन करना होगा। ये प्रावधान वर्ष 2025 के अंत तक लागू किये जाने वाली योजनाओं का एक हिस्सा है।
  • सीमा को डिजिटल करने से अधिकारी ‘अब देश में आने वालों तथा देश से बाहर जाने वालों की गणना करने के साथ ही देश में ठहरने संबंधी जानकारी हासिल कर सकते हैं। इससे सीमा तक पहुंचने से पहले ही संभावित खतरों की पहचान करना आसान हो जाएगा।
  • इस डिजिटल पहचान जांच का उपयोग, वीजा आवेदन केंद्रों पर जाने की आवश्यकता को कम करने के लिए भी किया जाएगा।

सामयिक खबरें पर्यावरण

कोविसेल्फ


19 मई, 2021 को भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कोविड-19 के लिए देश के पहले घरेलू, स्व-परीक्षण (Self-testing) किट ‘कोविसेल्फ’ (CoviSelf) को अपनी मंजूरी दे दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ‘कोविसेल्फ’ (CoviSelf) को पुणे स्थित एक जैव प्रौद्योगिकी कंपनी ‘मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस’ (MyLab Discovery Solutions) द्वारा विकसित किया गया है।

  • कोई भी व्यक्ति खुद ही अपनी नाक से नमूनों को एकत्र कर सकता है। इसमें ‘रैपिड एंटीजन टेस्ट’ का उपयोग किया जाता है और यह 15-20 मिनट के भीतर परिणाम देता है। इस किट की कीमत 250 रुपये है।
  • यदि परीक्षण कार्ड पर दो रेखाएं ‘परीक्षण रेखा’ के लिए मार्कर 'टी' और’गुणवत्ता नियंत्रण रेखा’ के लिए मार्कर 'सी' दिखाई देती है, तो व्यक्ति पॉजिटिव है; यदि मार्कर 'सी' पर ही एक लाइन दिखाई देती है और मार्कर 'टी' पर नहीं तो व्यक्ति नेगेटिव है; यदि परिणाम प्रदर्शित होने में 20 मिनट से अधिक समय लगता है, या यदि मार्कर 'सी' पर कोई रेखा नहीं दिखाई देती है, तो परीक्षण अमान्य है।
  • उपयोग में आसान यह परीक्षण, मायलैब के ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस-सक्षम मोबाइल ऐप’ के साथ जुड़ा होता है। उपयोगकर्ताओं का परीक्षण-परिणाम ‘पॉजिटिव’ आने पर इसे सीधे ICMR को भेजा जा सकता है, जहाँ से उन्हें आगे की जाने वाली कार्रवाई के लिए दिशा-निर्देश प्राप्त होंगे।
  • आरटी-पीसीआर परीक्षण, जिसे कोविड -19 परीक्षण के लिए स्वर्ण मानक माना जाता है, को परिणाम देने में 3-4 दिन लगते हैं, जिससे अस्पताल में भर्ती होने और उपचार में देरी होती है। स्व-परीक्षण किट संभावित रूप से भारत में कोविड -19 प्रबंधन में उपयोगी साबित सकती है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

विख्यात संस्कृत विद्वान पंडित रेवा प्रसाद द्विवेदी का निधन


विख्यात संस्कृत विद्वान और कवि पंडित रेवा प्रसाद द्विवेदी का 22 मई, 2021 को निधन हो गया। वे 86 वर्ष के थे।

  • उनकी प्रमुख रचनाएँ दो संस्कृत महाकाव्य कविताएँ 'सीताचरितम' और 'स्वातंत्र्यसंभवम' हैं।
  • उनका दूसरा महाकाव्य, स्वातंत्र्य-संभवम, जिसने 1991 में ‘साहित्य अकादमी पुरस्कार’ जीता, झांसी की रानी लक्ष्मीबाई के समय से लेकर स्वतंत्रता के बाद की घटनाओं तक भारतीय राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन को चित्रित करता है।
  • वे कालिदास संस्थान, वाराणसी के संस्थापक भी रहे।
  • उन्हें 1993 में भारतीय भाषा परिषद, कलकत्ता द्वारा 'कल्पावल्ली पुरस्कार'; 1997 में के.के. बिड़ला फाउंडेशन, नई दिल्ली द्वारा 'वाचस्पति पुरस्कार'; और 1999 में आर.जे. डालमिया श्रीवेणी ट्रस्ट, दिल्ली द्वारा 'श्रीवेणी पुरस्कार' से भी सम्मानित किया गया था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

कलाक्षेत्र फाउंडेशन


केंद्र सरकार ने 21 मई, 2021 को 12 प्रख्यात कलाकारों और संगीतकारों को कलाक्षेत्र फाउंडेशन के शासी निकाय के सदस्यों के तौर पर नामित किया है।

  • कलाक्षेत्र फाउंडेशन एक कला और सांस्कृतिक अकादमी है, जो भारतीय कला और शिल्प में, खासकर ‘भरतनाट्यम नृत्य’ और ‘गंधर्ववेद संगीत’ के क्षेत्र में पारंपरिक मूल्यों के संरक्षण के लिए समर्पित है।
  • यह चेन्नई में स्थित है। इसकी स्थापना 1936 में रुक्मिणी देवी अरुंडेल और उनके पति जॉर्ज अरुंडेल ने की थी।
  • कलाक्षेत्र फाउंडेशन को भारत सरकार द्वारा 1993 में संसद के एक अधिनियम द्वारा ‘राष्ट्रीय महत्व के संस्थान’ के रूप में मान्यता दी गई थी और अब यह संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के तहत एक स्वायत्त निकाय है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

विश्व कछुआ दिवस


23 मई

महत्वपूर्ण तथ्य: यह दिवस गैर-लाभकारी संगठन अमेरिकन टोरटोइज रेस्क्यू द्वारा मनाया जाता है। इसे वार्षिक रूप से लोगों को कछुओं का संरक्षण करने और दुनिया भर में उनके प्रयावासों के लुप्त होने के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।

खेल समाचार टेनिस

मुतुआ मैड्रिड ओपन 2021


पुरुष एकल वर्ग में, दुनिया के छठे नंबर के जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव ने इटली के मैट्टो बेरेटिनी को हराकर अपना दूसरा मैड्रिड ओपन खिताब जीता।

  • महिला एकल वर्ग में विश्व की सातवें नंबर की बेलारूस की एरीना सबलेंका ने विश्व की नंबर 1 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एश्ले बार्टी को 6-0, 3-6, 6-4 से हराया।
  • एटीपी और WTA टूर सत्र 2021 की प्रतियोगिता ‘मुतुआ मैड्रिड ओपन 2021’ (Mutua Madrid Open 2021) 29 अप्रैल से 9 मई‚ 2021 तक मैड्रिड, स्पेन में संपन्न हुई।

अन्य परिणाम-

  • पुरुष युगल: विजेता- मार्सेल ग्रेनोलर्स (स्पेन) और होरासियो जेबालोस (अर्जेंटीना); उपविजेता- निकोला मेक्टिक और मेट पाविक (दोनों क्रोएशिया)।
  • महिला युगल: विजेता- बारबोरा क्रेजीकोवा और कैटरीना सिनियाकोवा (दोनों चेक गणराज्य);
  • उपविजेता- गैब्रिएला डाब्रोवस्की (कनाडा) और डेमी शूर्स (नीदरलैंड्स)।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप विविध

खिलाड़ियों के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय कल्याण कोष


युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय (एमवाईएएस) ने कर्नाटक की वी तेजस्विनी बाई के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय कल्याण कोष के तहत 2 लाख रुपये की सहायता राशि को मंजूरी दी।

  • तेजस्विनी वर्ष 2010 तथा 2014 के एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली महिला कबड्डी टीम की सदस्य थी। तेजस्विनी ने साल 2011 में अर्जुन पुरस्कार जीता था।
  • खेल मंत्रालय द्वारा मौजूदा कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए पूर्व अंतरराष्ट्रीय एथलीटों एवं कोचों की मदद करने हेतु पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय कल्याण कोष से इस वित्तीय सहायता को मंजूरी दी गई है।
  • खेल में देश को गौरवान्वित करने वाले और वर्तमान में दयनीय परिस्थितियों में रहने वाले उत्कृष्ट खिलाड़ियों की सहायता करने के उद्देश्य से इस कोष की स्थापना मार्च 1982 में की गई थी।
  • पूर्व उत्कृष्ट खिलाड़ियों को एकमुश्त अनुग्रह सहायता प्रदान करने हेतु सितंबर 2017 में योजना को संशोधित किया गया था।