भारत कोविड-19 आपात प्रतिक्रिया और स्वास्थ्य प्रणाली तैयारी पैकेज- चरण 2


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 8 जुलाई, 2021 को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 23,123 करोड़ रुपये की एक नई योजना ‘भारत कोविड-19 आपात प्रतिक्रिया और स्वास्थ्य प्रणाली तैयारी पैकेज- चरण 2’ को स्वीकृति दे दी है।

उद्देश्य: बाल चिकित्सा देखभाल सहित स्वास्थ्य अवसंरचना का विकास और स्वास्थ्य प्रणाली की तैयारियों में तेजी लाना।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस पैकेज के चरण-2 में केंद्रीय क्षेत्र और केंद्र प्रायोजित योजनाओं के घटक शामिल हैं।

केंद्रीय क्षेत्र के घटक: इसके अंतर्गत ‘राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र’ को मजबूत बनाया जाएगा।

  • देश के सभी जिला अस्पतालों में ‘अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली’ के कार्यान्वयन के लिए सहयोग किया जाएगा।
  • टेली-परामर्श की संख्या प्रति दिन 50,000 से बढ़ाकर प्रति दिन 5 लाख करने के लिए ई-संजीवनी टेली-परामर्श प्लेटफार्म के राष्ट्रीय ढांचे के विस्तार हेतु समर्थन।

केंद्र प्रायोजित योजनाओं के घटक: सभी 736 जिलों में ‘बाल चिकित्सा इकाइयां’ स्थापित करना और टेली-आईसीयू सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए हर राज्य/केन्द्र- शासित प्रदेश में ‘बाल चिकित्सा उत्कृष्टता केंद्र’ की स्थापना।

  • सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली में 20,000 आईसीयू बेड (ICU beds) बढ़ाना, जिनमें से 20% बाल चिकित्सा आईसीयू बेड होंगे।
  • प्रत्येक जिले में कम से कम एक इकाई को सहयोग देने के उद्देश्य से मेडिकल गैस पाइपलाइन सिस्टम के साथ 1050 तरल मेडिकल ऑक्सीजन भंडारण टैंकों की स्थापना करना।
  • 8,800 नई एम्बुलेंस शामिल की जाएंगी।

पृष्ठभूमि: 2020 में महामारी के प्रबंधन हेतु स्वास्थ्य प्रणाली की गतिविधियों को प्रोत्साहन देने के लिए 15,000 करोड़ रुपये की ‘भारत कोविड-19 आपात प्रतिक्रिया और स्वास्थ्य प्रणाली तैयारी पैकेज’ की घोषणा की गई थी।