पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

नैनोस्निफर


केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने 9 अप्रैल, 2021 को विश्व का पहला माइक्रोसेंसर आधारित एक्सप्लोसिव ट्रेस डिटेक्टर (Explosive trace detector device- ETD) ‘नैनोस्निफर’ (NanoSniffer) का लोकार्पण किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: देश में विकसित यह एक्सप्लोसिव ट्रेस डिटेक्टर (Explosive trace detector device- ETD) उपकरण ‘नैनोस्निफर’ 10 सेकेंड से भी कम समय में विस्फोटक का पता लगा सकता है। इसके अलावा यह विभिन्न श्रेणियों में विस्फोटकों की पहचान एवं वर्गीकरण भी करता है।

  • यह सैन्य, पारंपरिक और घर में निर्मित विस्फोटक के सभी वर्गों का पता लगाता है। नैनोस्निफर सूर्य के प्रकाश में पढ़ने योग्य कलर डिस्प्ले के साथ दिखाई एवं सुनाई देने योग्य चेतावनी देता है।
  • अनुसंधान, विकास एवं निर्माण के संदर्भ में नैनोस्निफर सौ फीसदी ‘मेड इन इंडिया’ उत्पाद है। इसे आईआईटी बॉम्बे की इनक्यूबेटेड स्टार्टअप ‘नैनोस्निफ टेक्नोलॉजी’ ने विकसित किया है।
  • नैनोस्निफर विस्फोटकों की नैनो-ग्राम मात्रा (nano-gram quantity) का पता लगाने का काम करता है और इसके परिणाम कुछ सेकेंडों में दे देता है।
  • नैनोस्निफर का विपणन वेहांत टेक्नोलॉजी द्वारा किया गया है, जो दिल्ली आईआईटी से इनक्यूबेटेड एक पूर्व स्टार्टअप क्रिटिकल सॉल्यूशन्स (Kritikal Solutions) का एक सह-उत्पाद है।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

भारत - नीदरलैंड वर्चुअल सम्मेलन


9 अप्रैल, 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रुटे ने ‘भारत - नीदरलैंड वर्चुअल सम्मेलन’ में विचार-विमर्श किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: दोनों नेताओं ने सभी द्विपक्षीय आयामों की विस्तृत समीक्षा की और अपने संबंधों को व्यापार और अर्थव्यवस्था, जल प्रबंधन, कृषि क्षेत्र, स्मार्ट सिटी, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य देखभाल और अंतरिक्ष जैसे विविध क्षेत्रों में और मजबूत करने के लिए अपने विचार साझा किए।

  • दोनों प्रधानमंत्रियों ने जल पर भारत- नीदरलैंड्स सहयोग को और अधिक मजबूत करने हेतु 'जल पर रणनीतिक साझेदारी' को संस्थागत स्वरूप देने पर सहमति व्यक्त की तथा जल विषय पर संयुक्त कार्य बल को मंत्री-स्तरीय किए जाने पर भी सहमति जताई।
  • भारत के प्रधानमंत्री ने अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन और आपदा रोधी बुनियादी ढांचा पर सहयोग (सीडीआरआई) को अपना समर्थन देने के लिए नीदरलैंड का धन्यवाद किया और नीदरलैंड की हिंद प्रशांत नीति का स्वागत किया।
  • नीदरलैंड ने 2023 में जी-20 के भारत के अध्यक्षीय कार्यकाल में मिलकर काम करने की इच्छा जताई है।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

हिमालय की गैर-एकरूपता से बहुत बड़े भूकंपीय घटनाओं का अनुमान


9 अप्रैल, 2021 को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अनुसार हिमालय के एकरूप ना होने के परिणामस्वरूप हिमालय में बड़ी भूकंपीय घटनायें हो सकती हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: गढ़वाल और हिमाचल प्रदेश को कवर करने वाले भारत के उत्तरी पश्चिमी क्षेत्र में 20वीं सदी के आरंभ से मध्यम श्रेणी से बड़े तक चार विध्वंसक भूकंप आ चुके हैं- 1905 में कांगड़ा में आया भूकंप, 1975 का किन्नौर भूकंप, 1991 का उत्तरकाशी भूकंप और 1999 में चमोली में आया भूकंप।

  • ये भूकंपीय गतिविधियां बड़े पैमाने पर उपसतही विरूपण (subsurface deformation) तथा कमजोर जोन को दर्शाती हैं और संरचना के लिहाज से इन अस्थिर जोन के नीचे वर्तमान में जारी विरूपण की तह में जाने की आवश्यकता रेखांकित करती हैं।
  • भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के तहत एक स्वायत्तशासी संस्थान, देहरादून स्थित वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जिओलॉजी तथा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर के शोधकर्ताओं के अनुसार उत्तर-पश्चिम हिमालयी क्षेत्र, क्रिस्टल में मौजूद एक एक विशिष्ट अभिलक्षण को प्रदर्शित करता है।
  • वैज्ञानिकों के अनुसार हिमालय एकरूप नहीं है और उनका अनुमान है कि विभिन्न दिशाओं में विभिन्न भौतिक एवं यांत्रिकी गुण हैं।
  • क्रिस्टल में मौजूद एक गुण जिसे एनिसोट्रॉपी (anisotropy) कहा जाता है, के परिणामस्वरूप हिमालय में काफी बड़े भूकंप की घटनाएं हो सकती हैं।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

ओडिशा की चिल्का झील में डॉल्फिन संख्या में वृद्धि


ओडिशा पर्यावरण विभाग द्वारा जनवरी - फरवरी 2021 में आयोजित डॉल्फिन गणना पर अप्रैल 2021 में जारी अंतिम डेटा के अनुसार भारत की सबसे बड़ी खारे पानी की झील चिल्का और ओडिशा तट पर डॉल्फिन की आबादी पिछले साल की तुलना में इस साल दोगुनी हो गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: गणना के दौरान इस वर्ष, 544 इरावदी डॉल्फिन, बोटल नोज डॉल्फिन (bottle-nose dolphins) और कूबड़ वाली डॉल्फिन प्रजातियां दर्ज की गईं, जबकि पिछले साल कुल डॉल्फिन संख्या 233 थी।

  • संकटग्रस्त इरावदी डॉल्फिन, जो ज्यादातर चिल्का झील में पाई जाती हैं, इनकी संख्या चिल्का में 2020 में 146 से बढ़कर इस वर्ष 162 हो गई हैं। कुल 209 इरावदी डॉल्फिन दर्ज की गई।
  • 281 की आबादी के साथ कूबड़ वाली डॉल्फिन प्रजातियां के मामले में सबसे अधिक वृद्धि देखी गई। 2020 में इनकी संख्या मात्र 2 थी।
  • बोटल नोज डॉल्फिन की संख्या 2020 में 23 से बढ़कर इस वर्ष 54 हो गई है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

प्रो. माधवन मुकुंद चेन्नई गणितीय संस्थान के निदेशक नियुक्त


प्रो. माधवन मुकुंद को चेन्नई गणितीय संस्थान (Chennai Mathematical Institute- CMI) के निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है। वे 1 मई को राजीव करंदीकर के स्थान पर पदभार ग्रहण करेंगे।

  • वह वर्तमान में 'फ्रेंच नेशनल सेंटर फॉर साइंटिफिक रिसर्च' द्वारा CMI में स्थापित कंप्यूटर विज्ञान में अंतरराष्ट्रीय अनुसंधान प्रयोगशाला के निदेशक हैं और भारतीय विज्ञान अकादमी के फेलो हैं।
  • उन्होंने एसीएम इंडिया काउंसिल (ACM India Council) और इंडियन एसोसिएशन फॉर रिसर्च इन कंप्यूटिंग साइंस (IARCS) के अध्यक्ष के रूप में भारतीय कंप्यूटर विज्ञान समुदाय में अग्रणी भूमिका निभाई है।
  • इसके अलावा, प्रो मुकुंद 2002 से भारतीय कम्प्यूटिंग ओलंपियाड के राष्ट्रीय समन्वयक हैं और वे 2011 से 2014 तक इंफॉर्मेटिक्स में अंतरराष्ट्रीय ओलंपियाड के कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्य कर चुके हैं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

ऑनलाइन विवाद समाधान पुस्तिका


नीति आयोग ने 10 अप्रैल, 2021 को ‘अगामी और ओमिद्यार नेटवर्क इंडिया’ के साथ मिलकर आईसीआईसीआई बैंक और अन्य के सहयोग से अपनी तरह की पहली ‘ऑनलाइन विवाद समाधान पुस्तिका’ (Online Dispute Resolution Handbook) का शुभारंभ किया।

  • यह पुस्तिका भारत में ऑनलाइन विवाद समाधान को अंगीकार करने के लिए व्यवसायिक जगत के लिए एक तरह का आमंत्रण है।
  • ऑनलाइन विवाद समाधान डिजिटल प्रौद्योगिकी और विवाद समाधान की वैकल्पिक तकनीकियों का उपयोग करते हुए अदालतों के बाहर लघु और मध्यम दर्जे के विवादों को निपटाने की एक व्यवस्था है, जिसमें मध्यस्थता और बीच बचाव के उपाय किए गए हैं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

‘सदाबहार’ आम


राजस्थान के कोटा के 55 वर्षीय किसान श्रीकृष्ण सुमनने आम की एक ऐसी नई किस्म विकसित की है, जिसमें नियमित तौर पर पूरे साल ‘सदाबहार’ नाम का आम पैदा होता है।

  • आम की यह किस्म आम के फल में होने वाली ज्यादातर प्रमुख बीमारियों और आमतौर पर होने वाली गड़बड़ियों से मुक्त है।
  • इसका फल स्वाद में ज्यादा मीठा, लंगड़ा आम जैसा होता है और नाटा पेड़ होने के चलते किचन गार्डन में लगाने के लिए उपयुक्त है।
  • इसका गूदा गहरे नारंगी रंग का और स्वाद में मीठा होता है। इसके गूदे में बहुत कम फाइबर होता है, जो इसे अन्य किस्मों से अलग करता है। पोषक तत्वों से भरपूर आम स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।
  • इस नई किस्म को राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान, भारत (NIF) ने भी मान्यता दी। NIF भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के तहत एक स्वायत्तसाशी संस्थान है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

विश्व होम्योपैथी दिवस


10 अप्रैल

महत्वपूर्ण तथ्य: होम्योपैथी के संस्थापक डॉ. फ्रेडरिक सैमुअल हैनिमैन की जयंती के उपलक्ष्य में यह दिवस मनाया जाता है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

राष्ट्रीय सुरक्षित मातृत्व दिवस


11 अप्रैल

2021 का विषय/अभियान: 'कोरोना वायरस के दौरान घर पर रहें, माँ और नवजात शिशु को कोरोनावायरस से सुरक्षित रखें' (Stay at home during Coronavirus, keep mother and newborn safe from Coronavirus)।

महत्वपूर्ण तथ्य: महात्मा गांधी की पत्नी कस्तूरबा गांधी की जयंती पर भारत सरकार ने 2003 में 11 अप्रैल को राष्ट्रीय सुरक्षित मातृत्व दिवस मनाने की घोषणा की थी।

  • यह दिवस, व्हाइट रिबन एलायंस इंडिया (WRAI) द्वारा शुरू की गई एक पहल है, जिसे गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की उचित देखभाल और प्रसव संबंधी जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से हर साल मनाया जाता है।

सामयिक खबरें राज्य ओडिशा

ओडिशा सरकार द्वारा जिला निवेश संवर्धन एजेंसियां स्थापित करने का निर्णय


राज्य में निवेश को बढ़ावा देने और उसे सुविधाजनक बनाने में मदद करने हेतु राज्य सरकार ने मार्च 2021 में राज्य के 30 जिलों में समर्पित ‘जिला निवेश संवर्धन एजेंसियां’ (District Investment Promotion Agencies – DIPA) स्थापित करने का निर्णय लिया है।

  • जिला निवेश प्रोत्साहन एजेंसियां संबंधित जिला कलेक्टर और अन्य घटक सदस्यों जैसे कि एसपी, डीएफओ के नेतृत्व में काम करेगी। इसकी स्थापना जिला कलेक्ट्रेट में की जाएगी।
  • जिला कलेक्टर को निवेश सुविधा प्रदान करने, परियोजना निगरानी और स्थानीय उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए पेशेवरों की टीम द्वारा सहयोग किया जाएगा।
  • DIPA, ओडिशा औद्योगिक संवर्धन व निवेश निगम लिमिटेड (IPICOL) की विस्तारित शाखा के रूप में काम करेगा। यह अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 तक चरणबद्ध तरीके से स्थापित किया जाएगा।

DIPA की मुख्य भूमिका: परियोजना के कार्यान्वयन के दौरान उद्यमियों को सुविधा प्रदान करना और उन्हें संभालना;

  • बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन के लिए उद्यमों को बढ़ावा देना, संबंधित जिलों की स्थानीय शक्तियों को बढ़ावा देने वाले निवेश को बढ़ावा देना;
  • निवेशक शिकायतों का शीघ्र समाधान सुनिश्चित करना तथा तेजी से परियोजना के कार्यान्वयन के लिए भूमि बैंक का निर्माण करना;
  • प्रत्येक जिले में बड़ी और एमएसएमई परियोजनाएँ स्थापित करना।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

'विकास आशा' ऋण योजना


धारवाड़ मुख्यालय वाले कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक (KVGB) ने महिलाओं के लिए 'विकास आशा' ऋण योजना (Vikas Asha loan scheme) शुरू की है।

  • यह नई ऋण योजना विशेष रूप से महिलाओं के लिए व्यापार से संबंधित जरूरतों को पूरा करने के लिए है, जिसमें क्रय / मशीनरी / उपकरण और खुदरा व्यापार सहित सूक्ष्म और छोटे उद्यमों के तहत कार्यशील पूंजी की आवश्यकताएं शामिल हैं।
  • इस योजना के तहत, बैंक 84 महीने की चुकौती अवधि के साथ अधिकतम 10 लाख रुपए तक की ऋण सुविधा प्रदान करेगा। कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक के चेयरमैन पी गोपी कृष्ण हैं।