भारत - डेनमार्क संबंध


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिक्सन के बीच 9 अक्टूबर, 2021 को नई दिल्ली में एक बैठक में भारत और डेनमार्क ने चार समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

(Image Source: The Hindu.com)

महत्वपूर्ण तथ्य: कौशल विकास और उद्यमिता, पारंपरिक ज्ञान डिजिटल लाइब्रेरी, संभावित अनुप्रयोगों के साथ उष्णकटिबंधीय जलवायु के लिए प्राकृतिक प्रशीतकों (रेफ्रिजरेंट) के लिए उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना और भूजल संसाधनों और एक्वीफर्स (aquifers) के मानचित्रण के क्षेत्र में समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

  • दोनों प्रधानमंत्रियों ने 28 सितंबर, 2020 को अपने आभासी शिखर सम्मेलन के दौरान हरित रणनीतिक साझेदारी की शुरुआत करने के बाद से द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने 2021 से 2026 तक की अवधि के लिए विस्तृत 5 वर्षीय कार्य योजना का स्वागत किया।
इसके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज और डेनिश कंपनी 'स्टिस्डल फ्यूल टेक्नोलॉजीज' (Stiesdal Fuel Technologies) के बीच "हाइड्रोजन" इलेक्ट्रोलाइजर प्लांट स्थापित करने के लिए वाणिज्यिक समझौते की भी घोषणा की गई।