हस्तशिल्प ब्रांड 'राग-भोपाली'


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'वोकल फॉर लोकल' के मंत्र के अनुरूप, मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल के हस्तशिल्प को एक नई अंतरराष्ट्रीय पहचान देने के लिए 'राग-भोपाली' नामक एक नया ब्रांड पेश करने का निर्णय लिया है।

  • भोपाल अपनी जरी (zari), जरदोजी (zardozi) और जूट के काम के लिए लोकप्रिय है।
  • केंद्रीय कपड़ा मंत्रालय ने पहले ही भोपाल को जरी और जरदोजी का क्लस्टर बनाने का निर्णय लिया है।
  • भोपाल के गौहर महल में 26 से 30 दिसंबर, 2020 तक 'राग-भोपाली' नामक हस्तशिल्प प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें जरी, जरदोजी और जूट के सामान दिल्ली और मुंबई सहित विभिन्न शहरों के निर्यातकों की उपस्थिति में प्रदर्शित किए जाएंगे।