ओसीआई कार्ड दोबारा जारी करने की प्रक्रिया सरल


15 अप्रैल, 2021 को केंद्र सरकार ने ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया (ओसीआई) कार्ड दोबारा जारी करने की प्रक्रिया सरल बनाई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: मौजूदा कानून के अनुसार, भारतीय मूल का विदेशी या भारतीय नागरिक का विदेशी मूल का जीवनसाथी या भारत के प्रवासी नागरिक (ओसीआई) कार्डधारक का विदेशी मूल का जीवनसाथी ओसीआई कार्डधारक के रूप में पंजीकृत हो सकता है।

  • ओसीआई कार्ड भारत में प्रवेश करने और प्रवास तथा उससे जुड़े कई अन्य प्रमुख लाभों के साथ आजीवन वीजा है, जो अन्य विदेशियों के लिए उपलब्ध नहीं है।
  • वर्तमान में, आवेदक के चेहरे में जैविक परिवर्तन को ध्यान में रखते हुए, ओसीआई कार्ड को 20 साल की उम्र तक प्रत्येक बार नया पासपोर्ट जारी होने और एक बार 50 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद दोबारा जारी कराने की आवश्यकता होती है।

बदलाव: अब सरकार ने इस आवश्यकता को खत्म करने का निर्णय लिया है। 20 वर्ष की आयु प्राप्त करने से पहले ओसीआई कार्डधारक के रूप में पंजीकरण करवाने वाले व्यक्ति को तब केवल एक बार फिर से ओसीआई कार्ड प्राप्त करना होगा, जब उसे 20 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद नया पासपोर्ट जारी किया जाएगा।

  • यदि किसी व्यक्ति ने 20 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद ओसीआई कार्डधारक के रूप में पंजीकरण किया है, तो ओसीआई कार्ड के दोबारा जारी करने की कोई आवश्यकता नहीं होगी।