Medha IAS

मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयां


7 मई, 2022 को केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला ने किसानों से कॉल सेंटर पर प्राप्त फोन कॉल के आधार पर किसान के घर पर पशु चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए कर्नाटक में ‘मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयों’ (Mobile Veterinary Units) का उद्घाटन किया।

(Image Source: https://twitter.com/Min_FAHD/)

महत्वपूर्ण तथ्य: ये मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयां भारत सरकार की केंद्रीय क्षेत्र की योजना 'पशुधन स्वास्थ्य और रोग नियंत्रण कार्यक्रम' का एक प्रमुख घटक है।

  • पशु स्वास्थ्य सेवाओं को राज्यों / केंद्र-शासित प्रदेशों में कॉल सेंटरों के माध्यम से संचालित किया जाएगा, किसान किसी भी आपात स्थिति में इन कॉल सेंटरों पर कॉल कर सकते हैं।
  • आपात स्थिति को प्राथमिकता देने के बाद, इन मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयों में पशु चिकित्सक और पैरा-पशु चिकित्सक की एक टीम द्वारा निदान और उपचार के लिए सेवाएं प्रदान की जाएंगी।
  • किसानों के घर पर पशु चिकित्सा सेवाओं की पहुंच बढ़ाने के लिए, प्रत्येक एक लाख पशुधन आबादी के लिए 1 मोबाइल पशु चिकित्सा इकाई की दर से इस योजना के तहत राज्यों / केंद्र-शासित प्रदेशों को मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयों के लिए धन उपलब्ध कराया जाएगा।
  • 'पशुधन स्वास्थ्य और रोग नियंत्रण कार्यक्रम' का समग्र उद्देश्य पशुधन और कुक्कुट के विभिन्न रोगों के खिलाफ रोग-निरोधी टीकाकरण कार्यक्रमों के कार्यान्वयन, क्षमता निर्माण, रोग निगरानी और पशु चिकित्सा बुनियादी ढांचे को मजबूत करके पशु स्वास्थ्य में सुधार करना है।