सामयिक

सार-संक्षेप:

नोबेल पुरस्कार विजेता हेनरी किसिंजर का निधन

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री और नोबेल पुरस्कार विजेता हेनरी किसिंजर का 29 नवंबर, 2023 को कनेक्टिकट (अमेरिका) में निधन हो गया। वे 100 वर्ष के थे। हेनरी किसिंजर एक अमेरिकी राजनीतिज्ञ थे।

  • वर्ष 1973 में हेनरी किसिंजर को और वियतनाम के ले डक थो को संयुक्त रूप से शांति का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया था।
  • हेनरी ने अमेरिकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन और जेराल्ड फ़ोर्ड के प्रशासन के दौरान संयुक्त राज्य अमेरिका के सचिव और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के रूप में कार्य किया।
  • हेनरी ने अंतरराष्ट्रीय मसलों पर कई किताबें लिखी। किसिंजर को वैश्विक राजनीति और व्यापार को आकार देने वाली शक्ति भी माना जाता था।

आयरलैंड के लेखक पॉल लिंच बुकर पुरस्कार 2023 से सम्मानित

26 नवंबर, 2023 को आयरलैंड के लेखक पॉल लिंच को उनके उपन्यास ‘प्रॉफेट सॉन्ग’ के लिए लंदन में आयोजित एक कार्यक्रम में बुकर पुरस्कार 2023 से सम्मानित किया गया।

  • वे यह हाई-प्रोफाइल साहित्यिक पुरस्कार जीतने वाले पांचवें आयरिश लेखक बन गए हैं।
  • भारतीय मूल की लेखिका चेतना मारू के पहले उपन्यास "वेस्टर्न लेन" को पीछे छोड़ते हुए पॉल लिंच ने यह पुरस्कार जीता।
  • 46 वर्षीय लिंच के इस उपन्यास में अधिनायकवाद की चपेट में आए आयरलैंड के बारे में बताया गया है।
  • पॉल लिंच को पिछले साल के बुकर विजेता श्रीलंकाई लेखक शेहान करुणातिलका से यह ट्रॉफी मिली।
  • 1969 में स्थापित, बुकर पुरस्कार अंग्रेजी भाषी दुनिया में अग्रणी साहित्यिक पुरस्कार है तथा इसने पांच दशकों से अधिक समय से उत्कृष्ट कथा साहित्य को मान्यता प्रदान की है।
  • प्रत्येक वर्ष, अंग्रेजी में लिखे गए तथा यूके और आयरलैंड में प्रकाशित सर्वश्रेष्ठ कथा साहित्य को यह पुरस्कार दिया जाता है।
  • इसके पिछले विजेताओं में इयान मैकएवन, मार्गरेट एटवुड, सलमान रुश्दी और हिलेरी मेंटल शामिल हैं।

डॉ. सैयदना सैफुद्दीन को पाकिस्तान का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

मुंबई से संचालित इस्लाम के दाऊदी बोहरा पंथ के प्रमुख डॉ. सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन को पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘निशान-ए-पाकिस्तान’ से सम्मानित किया जाएगा।

  • डॉ. सैयदना, पाकिस्तान का कोई सर्वोच्च नागरिक सम्मान प्राप्त करने वाले चौथे भारतीय होंगे।
  • ‘निशान-ए-पाकिस्तान’ से सम्मानित होने वाले पहले भारतीय मोरारजी देसाई थे। उन्हें 1990 में यह सम्मान दिया गया था।
  • 1998 में अभिनेता दिलीप कुमार को कला और संस्कृति के क्षेत्र में पाकिस्तान का सर्वोच्च पुरस्कार ‘निशान-ए-इम्तियाज’ प्रदान किया गया था।
  • वर्ष 2020 में कश्मीरी अलगाववादी नेता अली गिलानी को ‘निशान-ए-पाकिस्तान’ प्रदान किया गया।
  • ‘निशान-ए-पाकिस्तान’ या ‘ग्रांड क्रॉस ऑफ द ऑर्डर ऑफ पाकिस्तान’ पाकिस्तान के राष्ट्रीय हित में सर्वोच्च सम्मान वाली सेवाओं के लिए प्रदान किया जाने वाला सर्वोच्च नागरिक सम्मान है।
  • यह सर्वोच्च सैन्य वीरता पुरस्कार ‘निशान-ए-हैदर’ के समतुल्य है।

सुप्रीम कोर्ट की पहली महिला जज फातिमा बीवी का निधन

सुप्रीम कोर्ट की पहली महिला जज और तमिलनाडु की पूर्व राज्यपाल फातिमा बीवी का 23 नवंबर, 2023 को कोल्लम (केरल) में 96 साल की उम्र में निधन हो गया।

  • फातिमा बीवी 1989 में सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस बनीं और 29 अप्रैल, 1992 तक इस पद पर रहीं। रिटायरमेंट के बाद वे नेशनल ह्यूमन राइट्स कमीशन की सदस्य रहीं।
  • 1997 से 2001 तक फातिमा बीवी तमिलनाडु की राज्यपाल रहीं।
  • राजीव गांधी हत्याकांड के चार दोषियों की दया याचिका को अस्वीकार करने के बाद उन्होंने गवर्नर पद से इस्तीफा दे दिया था।
  • जस्टिस फातिमा बीवी का जन्म 30 अप्रैल, 1927 को केरल के पथानामथिट्टा में हुआ था।

जे.सी.बी. साहित्य पुरस्कार – 2023

तमिल लेखक पेरुमल मुरुगन को उनके उपन्यास ‘फायर बर्ड’ (Fire Bird) के लिए साहित्य का प्रतिष्ठित जेसीबी पुरस्कार-2023 प्रदान किया गया है।

  • ‘फायर बर्ड’ तमिल उपन्यास ‘आलंदा पैची’ (Aalanda Patchi) का अंग्रेजी अनुवाद है।
  • इस पुस्तक का अंग्रेजी में अनुवाद जननी कन्नन द्वारा किया गया है।
  • ‘फायर बर्ड’ में पेरुमल मुरुगन ने जमीन से जुड़े जीवन की एक सार्वभौमिक कहानी को आश्चर्यजनक विशिष्टता के साथ प्रस्तुत किया है।
  • तमिल भाषा के प्रोफेसर रहे मुरुगन ने 12 उपन्यास, 6 लघुकथा संग्रह, 6 कविता संग्रह और अन्य कई पुस्तकें लिखी हैं। उनके 10 उपन्यासों का अंग्रेजी अनुवाद किया जा चुका है।
  • जे.सी.बी. पुरस्कार साहित्य के क्षेत्र में प्रदान किया जाता है।

प्रसिद्ध मलयालम लेखिका पी. वलसाला का निधन

प्रसिद्ध मलयालम उपन्यासकार और लघु कथाकार पी. वलसाला का 21 नवंबर, 2023 को कोझिकोड में निधन हो गया। वे 85 वर्ष की थीं।

  • पी. वलसाला ने लगभग 20 उपन्यास और 300 से अधिक लघु कहानियां प्रकाशित कीं, वलसाला ने कई जीवनियां, यात्रा वृतांत और बच्चों की कहानियां लिखीं।
  • उनके महत्वपूर्ण उपन्यासों में नेल्लु, अग्नेयम, कूमांकोल्ली, अरक्किलम और विलापम शामिल हैं।
  • वलसाला को कथाकार थिरुनेली के रूप में जाना जाता था, क्योंकि उनके कई कार्यों में वायनाड जिले के आदिवासियों के जीवन को दर्शाया गया था।
  • वलसाला ने केरल साहित्य अकादमी के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया। उन्हें एज़ुथच्चन पुरस्कार और केरल साहित्य अकादमी पुरस्कार सहित कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।

विनय एम. टोंसे एसबीआई के प्रबंध निदेशक नियुक्त

भारत सरकार ने 20 नवंबर, 2023 को विनय एम. टोंसे को भारत के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) का प्रबंध निदेशक (MD) नियुक्त किया।

  • विनय एम. टोंसे को 30 नवंबर, 2025 तक भारतीय स्टेट बैंक के प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त किया है।
  • टोंसे को एसबीआई के प्रबंध निदेशक नियुक्त करने की सिफारिश वित्तीय सेवा संस्थान ब्यूरो द्वारा की गई थी।
  • जून 2023 में रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के रूप में स्वामीनाथन जानकीरमन की नियुक्ति के बाद से यह पद रिक्त था।
  • देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई का संचालन 4 प्रबंध निदेशकों और 1 अध्यक्ष द्वारा किया जाता है।
  • दिनेश कुमार खारा वर्तमान में एसबीआई के अध्यक्ष हैं।
  • सी.एस.सेट्टी, अश्विनी कुमार तिवारी और आलोक कुमार चौधरी एसबीआई के अन्य एमडी हैं।

शंकर नेत्रालय के संस्थापक डॉ. एस. एस. बद्रीनाथ का निधन

शंकर नेत्रालय के संस्थापक डॉ. एस. एस. बद्रीनाथ का 21 नवंबर, 2023 को चेन्नई में निधन हो गया। वे 83 वर्ष के थे।

  • आंखों के इलाज में डॉ. एस एस बद्रीनाथ के योगदान और समाज के लिए उनकी अथक सेवा ने एक अमिट छाप छोड़ी है।
  • बद्रीनाथ को वर्ष 1983 में पद्मश्री और 1999 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
  • बद्रीनाथ ने वर्ष 1978 में चिकित्सा अनुसंधान प्रतिष्ठान के रूप में शंकर नेत्रालय की स्थापना की थी।
  • शंकर नेत्रालय, एक धर्मार्थ गैर-लाभकारी नेत्र अस्पताल, मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन है, जहाँ प्रति दिन औसतन 1200 मरीज देखे जाते हैं और 100 सर्जरी की जाती हैं।

इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार-2022

वर्ष 2022 के लिए इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार 19 नवंबर, 2023 को संयुक्त रूप से इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) और ट्रेंड नर्सेज एसोसिएशन ऑफ इंडिया को प्रदान किया गया।

  • पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने आईएमए के अध्यक्ष डॉ. शरद कुमार अग्रवाल और भारतीय प्रशिक्षित नर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रोफेसर (डॉ.) रॉय के. जॉर्ज को यह सम्मान प्रदान किया।
  • यह पुरस्कार भारत में कोविड-19 योद्धाओं के अथक प्रयासों के प्रति सम्मान का प्रतीक है।
  • इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार का उद्देश्य उन महिलाओं, पुरुषों तथा संस्थानों को सम्मानित करना है, जिन्होंने मानवता और पृथ्वी की सेवा में अनुकरणीय कार्य किया है।
  • इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1986 में ‘इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट’ द्वारा की गई थी।
  • यह पुरस्कार प्रति वर्ष विश्व के किसी ऐसे व्यक्ति को प्रदान किया जाता है, जिसने समाज सेवा, निरस्त्रीकरण या विकास के कार्य में महत्वपूर्ण योगदान किया हो।

इतिहासकार बृजिंदर नाथ गोस्वामी का निधन

भारतीय कला समीक्षक और इतिहासकार बृजिंदर नाथ गोस्वामी का 17 नवंबर, 2023 को चंडीगढ़ में निधन हो गया। वे 90 वर्ष के थे।

  • वे पहाड़ी चित्रकला और भारतीय लघु चित्रकला पर अपनी विद्वता के लिए जाने जाते थे।
  • उन्हें वर्ष 1998 में ‘पद्म श्री’ और वर्ष 2008 में ‘पद्म भूषण’ से सम्मानित किया गया।
  • “द स्पिरिट ऑफ इंडियन पेंटिंग: क्लोज एनकाउंटर्स विद 101 ग्रेट वर्क्स, 1100-1900” जैन पांडुलिपियों से लेकर भारतीय लघुचित्रों तक की चयनित कृतियों पर आधारित बृजिंदर नाथ गोस्वामी का एक ग्रंथ है।
  • "द इंडियन कैट: स्टोरीज़, पेंटिंग्स, पोएट्री, एंड प्रोवर्स" गोस्वामी की अंतिम लिखी किताब है। उन्होंने अब तक 20 पुस्तकें प्रकाशित की हैं।
  • लघु चित्रकला कला का एक जटिल रूप है, जिसमें छोटे पैमाने पर अत्यधिक विस्तृत पेंटिंग शामिल होती हैं।

गोस्वामी के कुछ प्रमुख कृतियां:-

  • पहाड़ी पेंटिंग: शैली के आधार के रूप में परिवार
  • सिख दरबार में चित्रकार
  • एक जगह अलग: कच्छ में चित्रकारी, 1720-1820
  • चित्रित दर्शन: भारतीय चित्रों का गोयनका संग्रह
  • आश्चर्य के क्षेत्र: भारतीय चित्रकला के चयनित मास्टरवर्क
Showing 81-90 of 2,089 items.