वैश्विक रसायन और पेट्रोकेमिकल विनिर्माण हब


केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया ने 25 नवंबर, 2021 को दो दिवसीय दूसरे ‘वैश्विक रसायन और पेट्रोकेमिकल विनिर्माण हब’ (Global Chemicals & Petrochemicals Manufacturing Hub: GCPMH) का उद्घाटन किया।

उद्देश्य: भारत को एक वैश्विक रसायन और पेट्रो-रसायन विनिर्माण केंद्र के रूप में स्थापित करना और दुनिया के सामने भारतीय रसायन और पेट्रो-रसायन क्षेत्र की वास्तविक क्षमता को उजागर करना।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह आयोजन रसायन और पेट्रोकेमिकल विभाग, रसायन और उर्वरक मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संयुक्त रूप से फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के साथ भौतिक और डिजिटल प्रारूप में आयोजित किया गया।

  • शिखर सम्मेलन के इस संस्करण में पेट्रोलियम, रसायन और पेट्रो-रसायन निवेश क्षेत्र (Petroleum, Chemicals and Petrochemicals Investment Regions: PCPIRs) को विश्व स्तरीय रसायन और पेट्रो-रसायन विनिर्माण टर्मिनल और क्षमता तथा भारतीय रसायन और पेट्रो-रसायन उद्योग के सकारात्मक दृष्टिकोण के रूप में स्थापित करने का प्रयास किया गया।
  • अप्रैल 2007 में भारत सरकार द्वारा घोषित पेट्रोलियम, रसायन और पेट्रो-रसायन निवेश क्षेत्र (PCPIRs) नीति, देश के पेट्रोलियम, रसायन और पेट्रो-रसायन क्षेत्रों में वैश्विक स्तर के औद्योगिक गलियारों के विकास की परिकल्पना करती है।