ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे


नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) डॉ. वी के सिंह द्वारा 2 दिसंबर, 2021 को लोक सभा में दी गई जानकारी के अनुसार, पिछले 3 वर्षों में छ: ग्रीनफील्ड हवाई अड्डों का परिचालन शुरू किया गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ये छ: ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे हैं: केरल में कन्नूर हवाई अड्डा (2018), सिक्किम में पाक्योंग हवाई अड्डा (2018), कर्नाटक में कलबुर्गी हवाई अड्डा (2019), आंध्र प्रदेश में कुरनूल हवाई अड्डा (2021), महाराष्ट्र में सिंधुदुर्ग हवाई अड्डा (2021) और उत्तर प्रदेश कुशीनगर में हवाई अड्डा (2021)।

  • इसके अलावा, पिछले 3 वर्षों के दौरान, महाराष्ट्र में नवी मुंबई, गोवा में मोपा, राजकोट में हीरासर, उत्तर प्रदेश में जेवर (नोएडा) और अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में होलोंगी ग्रीनफील्ड हवाई अड्डों का निर्माण किया जा रहा है।
  • भारत सरकार की "उड़े देश का आम नागरिक" (उड़ान) योजना के तहत पिछले 3 वर्षों के दौरान कुल 42 हवाई अड्डों / हवाई पट्टियों का परिचालन शुरू किया गया है।
  • भारत सरकार ने गोवा में मोपा हवाई अड्डे; महाराष्ट्र में नवी मुंबई हवाई अड्डे; कर्नाटक में बीजापुर हवाई अड्डे, हसन हवाई अड्डे और शिमोगा हवाई अड्डे; पुडुचेरी में कराईकल हवाई अड्डे; गुजरात में धोलेरा हवाई अड्डे और हीरासर हवाई अड्डे; आंध्र प्रदेश में दगदार्थी हवाई अड्डे और भोगापुरम हवाई अड्डे, उत्तर प्रदेश में जेवर (नोएडा) हवाई अड्डे, मध्य प्रदेश में दतिया हवाई अड्डे और अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में होलोंगी हवाई अड्डे पर 13 ग्रीनफील्ड हवाई अड्डों के विकास के लिए "सैद्धांतिक" अनुमोदन प्रदान किया है।
  • ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा बिल्कुल नया हवाई अड्डा होता है, जो एक ऐसे नए स्थान पर बना होता है जहां कोई हवाई अड्डा मौजूद नहीं था।