भारत-बांग्लादेश आर्थिक संबंध


‘भारत-बांग्लादेश सीईओ फोरम’ पहली बार जल्द ही बैठक करेंगे।

महत्वपूर्ण तथ्य: दोनों देश एक व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते (सीईपीए) को अंतिम रूप देने की दिशा में काम कर रहे हैं ताकि व्यापार और आर्थिक संबंधों को प्रतिस्पर्धियों के बजाय भागीदारों के रूप में मजबूत किया जा सके।

  • 10 बिलियन डॉलर से अधिक के वॉल्यूम के साथ बांग्लादेश दक्षिण एशिया में भारत का सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है।
  • भारत ने बांग्लादेश को एक करोड़ से अधिक कोविड-19 वैक्सीन खुराक भेजी थी और लगभग 8 बिलियन डॉलर की रियायती ऋण सुविधा भी प्रदान की है।
  • वस्त्र (टेक्सटाइल) क्षेत्र में सहयोग को सुगम बनाने के लिए एक द्विपक्षीय 'टेक्सटाइल उद्योग मंच' का भी गठन किया गया है।
  • भारत 'मिरसराय' और 'मोंगला' में दो भारतीय आर्थिक क्षेत्र भी विकसित कर रहा है।
  • भारत के वाणिज्य मंत्रालय ने पांच फोकस क्षेत्रों की पहचान की जो द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों को मजबूत कर सकते हैं: प्रौद्योगिकी, कनेक्टिविटी, उद्यमिता, स्वास्थ्य और पर्यटन।