डॉ. वर्गीज कुरियन की 101वीं जयंती


26 नवंबर, 2022 को पशुपालन और डेयरी विभाग आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में बेंगलुरु में भारत में श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कुरियन की 101वीं जयंती के अवसर पर राष्ट्रीय दुग्ध दिवस मनाया।

  • केंद्रीय पशु प्रजनन फार्म, हेसरघट्टा, बेंगलुरु (कर्नाटक) में बोवाइन आईवीएफ (इन विट्रो-फर्टिलाइजेशन) गतिविधियों के लिए केंद्रीय हिमित वीर्य उत्पादन और प्रशिक्षण संस्थान, हेसरघट्टा, बेंगलुरु में ‘उन्नत प्रशिक्षण सुविधा’ की आधारशिला रखी।
  • समारोह के दौरान, गणमान्य व्यक्तियों द्वारा वर्गीज कुरियन के जीवन पर एक पुस्तक और दूध में मिलावट पर एक पुस्तिका का विमोचन किया गया।
  • इस दौरान डेयरी राज्य मंत्री डॉ. संजीव बालियान ने हेसरघट्टा, बेंगलुरु में ‘पशु संगरोध प्रमाणन सेवाओं’ (एक्यूसीएस) का भी उद्घाटन किया।

अनवर इब्राहिम बने मलेशिया के नए पीएम


24 नवंबर, 2022 को अनवर इब्राहिम को सुल्तान अब्दुल्ला ने मलेशिया के 10वां प्रधानमंत्री नियुक्त किया।

  • अनवर इब्राहिम मलेशिया में एक अनुभवी राजनीतिज्ञ हैं, उन्होंने 1971 में मलेशिया के मुस्लिम यूथ मूवमेंट (ABIM) की स्थापना की।
  • इब्राहिम ने अपने राजनीतिक जीवन के शुरुआती दिनों में ग्रामीण गरीबी और देश को प्रभावित करने वाली अन्य सामाजिक-आर्थिक चुनौतियों के खिलाफ विरोध का नेतृत्व किया।
  • अनवर इब्राहिम को नए मलेशियाई प्रधानमंत्री के रूप में ऐसे समय में शपथ दिलाई गई, जब देश अभी भी COVID-19 महामारी के दीर्घकालिक परिणामों के कारण संघर्ष कर रहा है।

लचित बरफुकन की 400वीं जयंती


25 नवंबर, 2022 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में 17वीं शताब्दी के महान योद्धा लचित बरफुकन की 400वीं जयंती के उपलक्ष्य में वर्ष भर चलने वाले उत्सव के समापन समारोह को संबोधित करेंगे।

महत्वपूर्ण तथ्य-

  • इस उत्सव का उद्घाटन फरवरी 2022 में भारत के तत्कालिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा असम के गुवाहाटी में किया गया था।
  • लचित बरफुकन 24 नवंबर, 1622 - 25 अप्रैल, 1672 असम के अहोम साम्राज्य की शाही सेना के प्रसिद्ध सेनापति थे।
  • लचित बरफुकन ने 1671 में ‘सराईघाट का युद्ध जिसमें मुगलों को हराकर औरंगजेब की लगातार बढ़ती महत्वाकांक्षाओं को सफलतापूर्वक रोक दिया था।
  • रामसिंह प्रथम ने मुगलों की सेना का नेतृत्व किया था |
  • यह लड़ाई गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र के तट पर लड़ी गई थी।
  • लचित बरफुकन और उनकी सेना की वीरतापूर्ण लड़ाई देश के इतिहास में प्रतिरोध की सबसे प्रेरक सैन्य उपलब्धियों में से एक है।
  • असम में 24 नवंबर को उनकी जयंती पर 'लचित दिवस' मनाया जाता है।लचित के नाम पर नेशनल डिफेंस एकेडमीमें बेस्ट कैडेट गोल्ड मेडल भी दिया जाता है, जिसे लचित मेडल भी कहा जाता है।

कासिम जोमार्ट बने कजाकिस्तान के नए राष्ट्रपति


20 नवंबर, 2022 को हुए राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रपति कासिम-जोमार्ट टोकायव को कजाकिस्तान के राष्ट्रपति के रूप में फिर से निर्वाचित किया गया है।

  • कजाकिस्तान चुनाव आयोग के अनुसार, उन्होंने 81.31% वोट हासिल किए हैं ।
  • मार्च 2019 को कासिम-जोमार्ट टोकायव कजाकिस्तान के पहले राष्ट्रपति नूर सुल्तान नज़रबायेव के इस्तीफे के बाद कजाकिस्तान के राष्ट्रपति बने थे।
  • कजाकिस्तान सोवियत संघ के विघटन के बाद 16 दिसंबर, 1991 को स्वतंत्रता हुआ था|
  • यह मध्य एशिया में स्थित सबसे बड़ा देश और दुनिया का 9वां सबसे बड़ा देश है।
  • कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना है|
  • रानी लक्ष्मीबाई की 194वीं जयंती


    19 नवंबर, 2022 को झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की 194वीं जयंती मनाई गई। झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की जयंती के अवसर पर फिल्म प्रभाग, यू-ट्यूब चैनल और वेबसाइट पर रानी लक्ष्मीबाई के जीवन के बारे मे विशेष फिल्म की स्क्रीनिंग की गई।

    • 52 मिनट की अंग्रेजी फिल्म 'महारानी लक्ष्मीबाई' में उनकी राष्ट्रवाद की सच्ची भावना और निडर साहस का प्रदर्शिन किया गया है।
    • यह फिल्म 1857 के स्वतंत्रता संग्राम की दुर्गा के प्रति श्रद्धांजलि है, जिसमें उनकी अद्वितीय वीरता और साहस को दिखाया गया है।
    • 19 नवम्बर, 1828 को काशी के सुप्रसिद्ध महाविद्वान ब्राह्मण परिवार में जन्मी रानी लक्ष्मीबाई का पालन पोषण, शिक्षा-दीक्षा, बिठूर (कानपुर) में हुई। वह मनु और छबीली के नाम से प्रसिद्ध थी।
    • उन्होंने युद्ध कौशल की शिक्षा बिठूर में ही ली। झांसी के गंगाधर राव से विवाहोपरान्त वह लक्ष्मीबाई के नाम से विख्यात हुई।
    • भारत की विरांगना रानी लक्ष्मीबाई 17 जून, 1858 को ग्वालियर में वीर गति को प्राप्त हुई थी।

    राजीव कुमार


    भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार को नेपाल के चुनाव आयोग द्वारा नेपाल में प्रतिनिधि सभा और प्रांतीय विधानसभा के आगामी चुनावों के लिए अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षक के रूप में आमंत्रित किया गया है।

    • संघीय संसद के 275 सदस्यों और 7 प्रांतीय विधानसभाओं की 550 सीटों के चुनाव के लिए नेपाल में 20 नवंबर, 2022 को चुनाव निर्धारित किये गए हैं ।
    • ईसीआई का भी एक अंतरराष्ट्रीय चुनाव परिदर्शक कार्यक्रम है, जहां अन्य चुनाव प्रबंधन निकायों के सदस्यों को समय-समय पर होने वाले हमारे आम और विधानसभा चुनावों का प्रत्यक्ष अनुभव प्राप्त करने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

    बेंजामिन नेतन्याहू


    हाल ही में इजराइल के आम चुनाव में 73 साल के ‘लिकुड पार्टी’ के प्रमुख बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने सेंटर लेफ्ट प्रतिद्विंद्वी यायर लेपिड को पराजित कर इजराइल के प्रधानमंत्री पद पर सबसे लंबे समय तक रहने वाले नेतन्याहू पांचवीं चुनाव जीतकर छठी बार पीएम बने हैं।

    • बेंजामिन नेतन्याहू का जन्म 1949 में इजराइल के मशहूर शहर तेल-अवीव में हुआ था। वे बीबीके नाम से प्रसिद्ध हैं।
    • पहली बार 29 मई, 1996 को शिमोन पेरेज़ के सामने लगभग 1 प्रतिशत के अंतर से इजराइल के प्रधानमंत्री चुने गए थे|
    • वहीं वर्ष 1996 में सरकार बनाने के बाद नेतन्याहू इजराइल के प्रधानमंत्री के रूप में सेवा करने वाले सबसे कम उम्र के व्यक्ति थे।
    • प्रधानमंत्री बनने से पहले देश की सेना का हिस्सा रहे और इस दौरान कमांडो और कैप्टन भी रहे।

    सुश्री भारती दास


    18 अक्टूबर, 2022 को सुश्री भारती दास नई ‘महालेखा नियंत्रक’ (Controller General of Accounts-CGA) के रूप में पदभार ग्रहण किया।

    • 1988 बैच की भारतीय सिविल लेखा सेवा (आईसीएएस) अधिकारी हैं| इन्हें भारत सरकार द्वारा वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग में महालेखा नियंत्रक (सीजीए) के रूप में नियुक्त किया गया है| उनकी नियुक्ति 18 अक्टूबर, 2021 से प्रभावी है।
    • ये भारत सरकार के वित्त मंत्रालय में 27वीं महालेखा नियंत्रक (सीजीए) हैं। महालेखा नियंत्रक ही लेखांकन (Accounting) मामलों पर केंद्र सरकार का ‘प्रधान सलाहकार’ होता है।
    • सीजीए को ही तकनीकी रूप से सुदृढ़ प्रबंधन लेखा प्रणाली की स्थापना एवं प्रबंधन करने और केंद्र सरकार के खातों को तैयार करने एवं प्रस्तुत करने की जिम्मेदारी सौंपी जाती है।
    • सीजीए को ही केंद्र सरकार के लिए राजकोष नियंत्रण और आंतरिक अंकेक्षण (audit) करने की भी जिम्मेदारी सौंपी जाती है।

    उल्फ क्रिस्टर्सन


    17 अक्टूबर, 2022 को स्वीडन की संसद द्वारा ‘परंपरावादी मॉडरेट पार्टी’ के नेता उल्फ क्रिस्टर्सन को नए प्रधानमंत्री के रूप में निर्वाचित गया है।

    • क्रिस्टर्सन 176 के मुकाबले 173 मतों से चुने गए। स्वीडन डेमोक्रेट पार्टी इस चुनाव में दूसरे नंबर पर रही।

    लोकनायक जयप्रकाश नारायण


    11 अक्टूबर, 2022 को केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की 121वीं जयंती के अवसर पर बिहार में उनकी जन्मभूमि सिताब दियारा में उनकी प्रतिमा का अनावरण किया|

    उद्देश्य - आने वाली पीढ़ी जेपी के विचारों से प्रेरणा लेकर देश के विकास को नई गति दे सकें|

    महत्वपूर्ण बिंदु-

    • यहां पर स्मारक के साथ एक रिसर्च सेंटर बनाने का भी निर्णय लिया गया है, R&D सेंटर बनने के बाद विद्यार्थी यहाँ रहकर जेपी के सिद्धांतों व ग्रामीण विकास हेतु किये गये उनके कार्यों पर शोधकार्य कर सकेंगे|
    • जयप्रकाश नारायण ने सहकारिता, ग्रामोत्थान और सर्वोदय के अनेक कार्य कर देश के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है|

    दिमित्री मुराटोव


    हाल ही में रूसी पत्रकार दिमित्री मुराटोव (Dmitry Muratov) ने यूक्रेन के बच्चों की मदद के लिए अपना नोबेल शांति पुरस्कार बेचा।

    महत्वपूर्ण तथ्य

    • 2021 के नोबेल शांति पुरस्कार के सह-विजेता दिमित्री मुराटोव ने अपना नोबेल पुरस्कार रिकॉर्ड 103.5 मिलियन डॉलर में बेचा है।
    • उन्होंने फिलीपींस की मारिया रसा (Maria Ressa) के साथ 2021 कानोबेल शांति पुरस्कार जीता था।
    • दिमित्री मुराटोव ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा के अपने प्रयासों के लिए नोबेल शांति पुरस्कार जीता, जो लोकतंत्र के लिए पूर्व शर्त है।

    कामी रीता शेरपा : 26वीं बार माउंट एवरेस्ट पर फतह


    नेपाल केप्रसिद्ध पर्वतारोही कामी रीता शेरपा ने 7 मई, 2022 को 26वीं बार दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट फतह किया।

    (Image Source: Navesh Chitrakar/REUTERS)

    • कामी ने सबसे अधिक बार माउंट एवरेस्ट को फतह करने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ते हुए एक नया विश्व रिकॉर्ड कायम किया है।
    • 52 वर्षीय कामी रीता शेरपा ने ने 8,848.86 मीटर की ऊंचाई वाले माउंट एवरेस्ट को 10 अन्य पर्वतारोहियों के साथ पारंपरिक दक्षिणपूर्व रिज रूट (southeast ridge route) के जरिए फतह किया।
    • 1970 में सोलुखुम्बु जिले में जन्मे, कामी ने पहली बार मई 1994 में एवरेस्ट पर चढ़ाई की थी।
    • माउंट एवरेस्ट के अलावा, कामी ने माउंट गॉडविन-ऑस्टेन (K2), माउंट ल्होत्से, माउंट मनासलु और माउंट चो ओयू (Mt Cho Oyu) को भी फतह किया है।
    • नेपाल के पर्यटन विभाग के मुताबिक इस सीजन में 316 लोगों ने एवरेस्ट फतह करने के लिए आवेदन किया है।
    • 1953 में पहली बार माउंट एवरेस्ट फतह करने वाले शेरपा तेनजिंग नोर्गे और सर एडमंड हिलेरी द्वारा दक्षिणपूर्व रिज रूट का इस्तेमाल किया गया था।

    हेमवती नंदन बहुगुणा की जीवनी


    4 मई, 2022 को उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी तथा राजनेता हेमवती नंदन बहुगुणा की जीवनी का विमोचन किया।

    (Image Source: https://twitter.com/RitaBJoshi)

    • 'हेमवती नंदन बहुगुणा: ए पॉलिटिकल क्रूसेडर' (Hemwati Nandan Bahuguna: A Political Crusader) (अंग्रेजी संस्करण) और 'हेमवती नंदन बहुगुणा: भारतीय चेतना के संवाहक' (हिंदी में संशोधित संस्करण) नामक पुस्तकें प्रो. रीता बहुगुणा जोशी और डॉ. राम नरेश त्रिपाठी द्वारा लिखी गई हैं।
    • पुस्तक के हिंदी संस्करण 'हेमवती नंदन बहुगुणा: भारतीय चेतना के संवाहक' को पहली बार 1997 में जारी किया गया था।

    हेमवती नंदन बहुगुणा: वे एक प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी, एक राजनेता और कुशल प्रशासक थे।

    • उनका जन्म 25 अप्रैल, 1919 को उतराखंड के पौड़ी गढ़वाल क्षेत्र के बुघानी गांव में हुआ था।
    • वे किशोरावस्था में ही स्वाधीनता आंदोलन में शामिल हुए थे। 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लेने के कारण उन्हें ब्रिटिश अधिकारियों की प्रताड़ना झेलनी पड़ी।
    • उत्तर प्रदेश की प्रमुख राजनीतिक शख्सियतों में से एक, बहुगुणा ने अपने सभी विधान सभा चुनाव तत्कालीन इलाहाबाद जिले की सीटों से लड़े थे।
    • वे वर्ष 1973-75 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे थे।

    प्रियंका मोहिते 8,000 मीटर से ऊपर की पांच चोटियों को फतह करने वाली पहली भारतीय महिला बनीं


    पश्चिमी महाराष्ट्र के सतारा की प्रियंका मोहिते 5 मई, 2022 को कंचनजंगा पर्वत पर चढ़ने के बाद 8,000 मीटर से ऊपर की पांच चोटियों को फतह करने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं।

    (Image Source: https://thebridge.in)

    • तेनजिंग नोर्गे एडवेंचर अवॉर्ड 2020 की प्राप्तकर्ता, प्रियंका ने विश्व के तीसरे सबसे ऊंचे पर्वत कंचनजंगा (8,586 मीटर) पर अपना अभियान सफलतापूर्वक पूरा किया।
    • अप्रैल 2021 में, उन्होंने दुनिया की 10वीं सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट अन्नपूर्णा (8,091 मीटर) को फतह किया था और यह उपलब्धि हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला पर्वतारोही बनी थीं।
    • प्रियंका ने 2013 में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट (8,848.86 मीटर), 2018 में माउंट ल्होत्से (8,516 मीटर) और 2016 में माउंट मकालू (8,485 मीटर) तथा माउंट किलिमंजारो (5,895 मीटर) पर भी चढ़ाई की है।
    • 2015 में प्रियंका ने 'माउंट मेंथोसा' (Mt. Menthosa) को फतह किया, जो 6443 मीटर की ऊंचाई पर हिमाचल प्रदेश के लाहौल और स्पीति जिले की दूसरी सबसे ऊंची चोटी है।
    • वह 2017-2018 के लिए साहसिक खेलों के लिए महाराष्ट्र सरकार के शिव छत्रपति राज्य पुरस्कार की प्राप्तकर्ता भी हैं।

    देवेंद्र फडणवीस ने किया अमित शाह पर लिखी किताब का विमोचन


    महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 26 अप्रैल, 2022 को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर एक मराठी पुस्तक का विमोचन किया, जो उनकी राजनीतिक यात्रा का वर्णन करती है।

    • 'अमित शाह आणि भाजपची वाटचाल' (Amit Shah Ani Bhajapachi Vatchal) नामक पुस्तक में शाह के जीवन एवं राजनीतिक यात्रा और भाजपा के निर्माण में उनके योगदान का दस्तावेजीकरण किया गया है।
    • मूल रूप से डॉ. अनिर्बान गांगुली और शिवानंद द्विवेदी द्वारा लिखित पुस्तक ‘अमित शाह एंड द मार्च ऑफ बीजेपी’ (Amit Shah and the March of BJP) का मराठी में अनुवाद डॉ. ज्योस्तना कोल्हाटकर ने किया है।

    विनोद राय की किताब 'नॉट जस्ट ए नाइटवॉचमैन: माई इनिंग्स इन द बीसीसीआई'


    विनोद राय द्वारा 'नॉट जस्ट ए नाइटवॉचमैन: माई इनिंग्स इन द बीसीसीआई' (NOT JUST A NIGHTWATCHMAN: My Innings in the BCCI) शीर्षक से एक नई किताब का लेखन किया गया है। इसे 'रूपा' प्रकाशन द्वारा प्रकाशित किया गया है।

    (Image Source: https://rupapublications.co.in/)

    • यह किताब बीसीसीआई की प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष के रूप में विनोद राय के 33 महीने के कार्यकाल के बारे में है।
    • उन्होंने अपनी किताब में विराट कोहली और अनिल कुंबले के बीच रिश्तों में खटास का जिक्र किया है।
    • ज्ञात हो कि इस विवाद के चलते 2017 में चैम्पियंस ट्रॉफी के बाद अनिल कुंबले ने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच पद से इस्तीफा दे दिया था।
    • विनोद राय भारत के पूर्व नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (CAG) और बाहरी लेखा परीक्षकों के संयुक्त राष्ट्र पैनल के पूर्व अध्यक्ष हैं।
    • विनोद राय की कुछ अन्य प्रसिद्ध पुस्तकें ‘नॉट जस्ट ए अकाउंटेंट: द डायरी ऑफ द नेशन्स कॉन्शियस कीपर’ (Not Just an Accountant: The Diary of the Nations Conscience Keeper) और ‘रीथिंकिंग गुड गवर्नेंस: होल्डिंग टू अकाउंट इंडियाज पब्लिक इंस्टीट्यूशंस’ (Rethinking Good Governance: Holding to Account India’s Public Institutions) हैं।

    जनरल बिपिन रावत की स्मृति में उत्कृष्टता पीठ


    दिवंगत चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस), जनरल बिपिन रावत के 65वें जन्मदिन की पूर्व संध्या पर 15 मार्च, 2022 को भारतीय सेना ने यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूशन ऑफ इंडिया (यूएसआई) में उनकी स्मृति में एक उत्कृष्टता पीठ (चेयर ऑफ एक्सीलेंस) की स्थापना की है।

    (Image Source: https://scroll.in/)

    • थल सेनाध्यक्ष और चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी (सीओएससी) के कार्यवाहक अध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे ने इसकी औपचारिक घोषणा 15 मार्च, 2022 को साउथ ब्लॉक में आयोजित एक समारोह में की।
    • प्रस्तावित उत्कृष्टता पीठ का उद्देश्य सशस्त्र बलों से संबंधित सामरिक महत्व के मुद्दों पर शोध करना होगा।
    • तीनों सेनाओं के वेटरंस (पूर्व कर्मियों) और राष्ट्रीय सुरक्षा और सैन्य मामलों के क्षेत्र में विशेषज्ञता रखने वाले नागरिक इस पीठ का हिस्सा हो सकते हैं।
    • यूएसआई के निदेशक मेजर जनरल बीके शर्मा (सेवानिवृत्त) को 5 लाख रुपये का चेक सौंपा गया, जो कि नामित चेयर ऑफ एक्सीलेंस को मानदेय के रूप में दिया जाएगा।
    • यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूशन ऑफ इंडिया नई दिल्ली, भारत में स्थित एक राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा सेवा थिंक टैंक है।
    • यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूशन ऑफ इंडिया की स्थापना 1870 में एक सैनिक विद्वान कर्नल (बाद में मेजर जनरल) सर चार्ल्स मैकग्रेगर ने की थी।
    • दिवंगत जनरल बिपिन रावत ने भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ होने के साथ-साथ भारतीय सेना के 27वें प्रमुख के रूप में भी जिम्मेदारी संभाली थी।

    राष्ट्रपति ने किया लचित बोरफुकन की 400वीं जयंती के स्मरणोत्सव का उद्घाटन


    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 25 फरवरी, 2022 को महान अहोम जनरल लचित बोरफुकन की 400वीं जयंती मनाने के लिए गुवाहाटी में एक साल तक चलने वाले उत्सव का उद्घाटन किया।

    • उन्होंने जोरहाट जिले में जनरल मेमोरियल के पुनर्विकास परियोजना की आधारशिला रखी।
    • राष्ट्रपति ने कामरूप जिले के डोडोरा में अलाबोई युद्ध स्मारक की आधारशिला भी रखी।
    • लचित बोरफुकन: लचित बोरफुकन अहोम साम्राज्य का एक प्रसिद्ध सेनापति था।
    • उन्हें 1671 में सरायघाट की लड़ाई में उनके नेतृत्व के लिए जाना जाता है, जिसने अहोम साम्राज्य पर कब्जा करने के लिए रामसिंह प्रथम की कमान के तहत मुगल सेना द्वारा किए गए प्रयास को विफल कर दिया था।
    • सरायघाट की लड़ाई गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र के तट पर लड़ी गई थी।
    • राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए), 1999 से सर्वश्रेष्ठ उत्तीर्ण कैडेट को लचित बोरफुकन स्वर्ण पदक से सम्मानित कर रही है।
    • असम में 24 नवंबर को उनकी जयंती पर 'लचित दिवस' मनाया जाता है।

    चार धाम परियोजना पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त पैनल के अध्यक्ष रवि चोपड़ा का इस्तीफा


    चार धाम सड़क चौड़ीकरण परियोजना के निष्पादन की देखरेख के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त उच्चाधिकार समिति (एचपीसी) के अध्यक्ष व पर्यावरणविद रवि चोपड़ा ने 11 फरवरी, 2022 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

    (Image Source: https://thewire.in/)

    • उन्होंने चार धाम सड़क चौड़ीकरण में पर्यावरण के विभिन्न पहलुओं पर भी अपनी चिंता जाहिर की थी।
    • ज्ञात हो कि सुप्रीम कोर्ट ने 14 दिसंबर, 2021 को सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए परियोजना के लिए सड़कों को डबल-लेन चौड़ा करने की अनुमति दी थी।
    • चोपड़ा और समिति के कुछ सदस्यों ने पहले इस तरह के चौड़ीकरण के खिलाफ तर्क दिया था।

    यू. वी. स्वामीनाथ अय्यर जयंती


    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 फरवरी, 2022 को यू. वी. स्वामीनाथ अय्यर को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी।

    (Image Source: https://en.wikipedia.org/wiki/U._V._Swaminatha_Iyer)

    • उत्तमाधानपुरम वेंकटसुब्बैयर स्वामीनाथ अय्यर (19 फरवरी 1855 - 28 अप्रैल 1942) एक तमिल विद्वान और शोधकर्ता थे।
    • उन्होंने शास्त्रीय तमिल साहित्य के लंबे समय से भूले-बिसरे कार्यों को प्रकाश में लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
    • पांच दशकों में उनके विलक्षण प्रयासों से तमिल में प्रमुख साहित्यिक कार्यों को प्रकाश में लाया गया।
    • अय्यर ने शास्त्रीय तमिल साहित्य से जुड़े विभिन्न विषयों पर 90 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित कीं, और 3,000 से अधिक पत्र पांडुलिपियों, ताम्रपत्र पांडुलिपियों का संग्रह किया था।
    • उन्हें प्यार से 'तमिल तात' (Tamil Thatha) (शाब्दिक रूप से, तमिल दादा) कहा जाता है।

    तिलका मांझी


    देश ने 11 फरवरी, 2022 को क्रांतिकारी स्वतंत्रता सेनानी और आदिवासी नेता तिलका मांझी को उनकी 272वीं जयंती पर याद किया।

    (Image Source: https://twitter.com/mygovindia)

    • अपने लोगों और अपने जमीन की रक्षा के लिये प्रतिबद्ध तिलका मांझी ने जनजातियों को तीर-धनुष चलाने में प्रशिक्षित सेना के रूप में संगठित किया।
    • 1770 में संथाल क्षेत्र में भयंकर अकाल पड़ने से जब लोग भूख से मरने लगे थे तो तिलका मांझी ने ईस्ट इंडिया कंपनी के खजाने को लूट लिया और इसे गरीबों और जरूरतमंदों में बांट दिया था।
    • तिलका के इस नेक कार्य से प्रेरित होकर कई अन्य आदिवासी भी विद्रोह में शामिल हो गए। इसके साथ ही उनके संथाल हूल (संथाल विद्रोह) की शुरूआत हुई।
    • उन्होंने अंग्रेजों और उनके सहयोगियों पर हमला करना जारी रखा। 1771 से 1784 तक तिलका मांझी ने कभी आत्मसमर्पण नहीं किया।
    • तिलका मांझी ने ईस्ट इंडिया कंपनी के प्रशासक ऑगस्टस क्लीवलैंड पर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। अंग्रेजों ने हमले वाली जगह तिलापोर के जंगल को घेर लिया था, लेकिन तिलका और उनके साथियों ने कई सप्ताह तक अंग्रेजों को रोके रखा।
    • 1784 में जब तिलका अंततः पकड़े गये, उन्हें एक घोड़े की पूंछ से बांधकर घसीटते हुए भागलपुर कलेक्टर के निवास तक ले जाया गया, जहां उनके क्षत-विक्षत शरीर को बरगद के पेड़ से लटका दिया गया था।

    तिरुवल्लुवर जयंती


    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 जनवरी, 2022 को ‘तिरुवल्लुवर दिवस’ के अवसर पर तिरुवल्लुवर को श्रद्धांजलि दी।

    (Image Source: https://twitter.com/VPSecretariat)

    • तमिल कवि और दार्शनिक तिरुवल्लुवर की जयंती के उपलक्ष्य में 'तिरुवल्लुवर दिवस' मनाया जाता है।
    • तिरुवल्लुवर तमिल संस्कृति में एक सम्मानित व्यक्ति हैं।
    • तिरुवल्लुवर अपने काम 'तिरुक्कुरल' (Tirukkural) के लिए सबसे ज्यादा जाने जाते हैं , जो राजनीति, प्रेम, नैतिकता और अर्थशास्त्र से संबंधित विषयों पर दोहों का संग्रह है।
    • तमिल साहित्य में तिरुक्कुरल को एक बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रंथ माना जाता है।
    • तमिल संत-कवि ने किसी भी पद्य में न तो अपने धर्म और जाति का उल्लेख किया और न ही अपने जन्म स्थान और भाषा का और न ही उन्होंने किसी विशेष धर्म या अनुष्ठान/संस्कार के बारे में अपने विचारों को उजागर किया है।

    फातिमा शेख की जयंती


    गूगल ने 9 जनवरी, 2022 को शिक्षक और समाज सुधारक फातिमा शेख को उनकी 191वीं जयंती पर अपने होमपेज पर डूडल बनाकर सम्मानित किया।

    (Image Source: https://www.google.com/doodles/fatima-sheikhs-191s... /)

    • फातिमा शेख का जन्म 9 जनवरी, 1831 को पुणे में हुआ था।
    • आधुनिक भारत की पहली मुस्लिम महिला शिक्षकों में से एक फातिमा ने 1848 में ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले के साथ स्वदेशी पुस्तकालय की सह-स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
    • सावित्रीबाई फुले और फातिमा शेख ने उन वंचित दलित समुदायों और मुस्लिम महिलाओं और बच्चों को शिक्षा दी, जिन्हें वर्ग, धर्म या लिंग के आधार पर शिक्षा से वंचित कर दिया गया था।
    • फातिमा शेख ने फुले के 'सत्यशोधक समाज' में सक्रिय भूमिका निभाई और घर-घर जाकर अपने समुदाय के दलितों को स्वदेशी पुस्तकालय में पढ़ने और भारतीय जाति व्यवस्था की कठोरता से बचने का आह्वान किया।
    • भारत सरकार ने 2014 में उनकी उपलब्धि को उजागर करने के प्रयास किए तथा उर्दू पाठ्यपुस्तकों में उनकी प्रोफाइल को अन्य अग्रणी भारतीय शिक्षकों के साथ चित्रित किया।

    स्वतंत्रता सेनानी रानी वेलु नचियार


    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 जनवरी, 2021 को तमिलनाडु की स्वतंत्रता सेनानी रानी वेलू नचियार की 292वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

    (Image Source: https://www.amritmahotsav.nic.in/)

    • रानी वेलु नचियार (3 जनवरी, 1730 - 25 दिसंबर, 1796) तमिलनाडु के शिवगंगई जिले की 18वीं सदी की रानी थीं, जिन्हें ब्रिटिश औपनिवेशिक सत्ता के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाली पहली रानी के रूप में जाना जाता है।
    • उन्हें तमिल लोग 'वीरमंगई' (Veeramangai) के नाम से जानते हैं। वह रामनाथपुरम की राजकुमारी थी।
    • वह रामनाद साम्राज्य के राजा चेल्लामुथु विजयरागुनाथ सेतुपति और रानी सकंधिमुथल की इकलौती संतान थीं।
    • रानी वेलु नचियार को युद्ध में हथियारों के उपयोग, वलारी, सिलंबम (छड़ी का उपयोग करके लड़ना), घुड़सवारी और तीरंदाजी जैसे मार्शल आर्ट में प्रशिक्षित किया गया था।
    • 1796 में मृत्यु से पहले वेलु नचियार ने 10 से अधिक वर्षों तक शिवगंगई पर शासन किया।
    • 31 दिसंबर, 2008 को उनकी याद में एक डाक टिकट जारी किया गया था।

    इजरायली सौंदर्य प्रतियोगिता में 86 वर्षीय महिला बनी 'मिस होलोकॉस्ट सर्वाइवर'


    एक 86 वर्षीय महिला सलीना स्टीनफेल्ड को 16 नवंबर, 2021 को इजराइल की ‘मिस होलोकॉस्ट सर्वाइवर’ (Miss Holocaust Survivor) का ताज पहनाया गया।

    (Image Source: https://www.arabnews.com/)

    • सलीना रोमानिया में बड़े पैमाने पर हुये यहूदियों के नरसंहार में बचपन में जीवित बच गई थी। सलीना स्टीनफेल्ड रोमानिया में पैदा हुई थी।
    • यह नाजी नरसंहार की भयावहता को सहन करने वाली महिलाओं को सम्मानित करने के लिए डिजाइन की गई वार्षिक इजराइली सौंदर्य प्रतियोगिता है।
    • प्रतियोगिता स्थानीय फाउंडेशन "याद एजर ल'हावर" (Yad Ezer L'Haver) या "हेल्पिंग हैंड" (Helping Hand) द्वारा प्रायोजित की गई, जो होलोकॉस्ट (Holocaust) में जीवित बचे लोगों को सेवाएं प्रदान करता है।
    • यहूदियों के नरसंहार के मद्देनजर दुनिया भर के यहूदियों की शरणस्थली के रूप में 1948 में इजराइल की स्थापना की गई थी।

    ओनाके ओबाव्वा की जयंती


    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11 नवंबर, 2021 को महान कन्नड़ महिला योद्धा ओनाके ओबाव्वा (Onake Obavva) को उनकी जयंती के अवसर पर श्रद्धांजलि दी।

    (Image Source: https://twitter.com/bengalurulive)

    • महिला योद्धा ओनाके ओबाव्वा, ने 18वीं शताब्दी में चित्रदुर्ग में एक मूसल (कन्नड़ में 'ओनाके') के साथ अकेले ही हैदर अली की सेना से लड़ाई लड़ी थी।
    • ओनाके ओबाव्वा के पति चित्रदुर्ग के किले में एक पहरेदार थे।
    • ओबाव्वा को कन्नड़ गौरव का प्रतीक माना जाता है और उन्हें कर्नाटक राज्य की अन्य महिला योद्धाओं जैसे अब्बक्का रानी, केलाडी चेन्नम्मा और कित्तूर चेन्नम्मा के साथ सम्मान दिया जाता है।
    • ओबाव्वा के साहसी कार्यों का वर्णन प्रसिद्ध निर्देशक पुत्तना कनागल ने अपनी 1972 की फिल्म 'नागरहावु' में एक गीत के माध्यम से किया था।

    कमल रणदिवे जयंती


    गूगल ने 8 नवंबर, 2021 को भारतीय कोशिका जीव-विज्ञानी डॉ. कमल रणदिवे की 104वीं जयंती पर उन्हें डूडल समर्पित किया।

    (Image Source: https://www.shethepeople.tv/shestars/who-was-dr-kamal-ranadive-google-doodle/)

    • 1917 में पुणे में जन्मी, रणदिवे को उनके कैंसर अनुसंधान तथा विज्ञान और शिक्षा के माध्यम से अधिक न्यायसंगत समाज के लिए समर्पण हेतु जाना जाता है।
    • डॉ. रणदिवे ने ‘माइकोबैक्टीरियम लेप्राई’ (Mycobacterium leprae) का अध्ययन किया, जो कुष्ठ रोग का कारण बनता है।
    • डॉ. रणदिवे ने भारतीय कैंसर अनुसंधान केंद्र में देश की पहली 'ऊतक संवर्धन प्रयोगशाला' (tissue culture laboratory) की स्थापना की थी।
    • 1973 में, डॉ. रणदिवे और 11 सहयोगियों ने वैज्ञानिक क्षेत्रों में महिलाओं का समर्थन करने के लिए ‘भारतीय महिला वैज्ञानिक संघ’ (Indian Women Scientists’ Association: IWSA) की स्थापना की।
    • 1982 में उन्हें चिकित्सा के लिए पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। डॉ. रणदिवे का 11 अप्रैल, 2001 को निधन हो गया था।

    विलियम शैटनर बने अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति


    प्रतिष्ठित 'स्टार ट्रेक' सीरीज में 'कैप्टन जेम्स टी. किर्क' की भूमिका निभाने वाले 90 वर्षीय महान कनाडाई अभिनेता 'विलियम शैटनर' अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति बन गए हैं।

    (Image Source: https://www.businessinsider.in/)

    • 13 अक्टूबर, 2021 को शैटनर जेफ बेजोस की स्पेसफ्लाइट कंपनी ब्लू ओरिजिन के 'न्यू शेपर्ड' एनएस-18 मिशन के चार सदस्यीय दल का हिस्सा थे।
    • पूरी तरह से स्वचालित कैप्सूल में 66.5 मील (107 किलोमीटर) की ऊंचाई पर पहुँचने के बाद, वे पैराशूट की मदद से पश्चिम टेक्सास रेगिस्तान में सुरक्षित रूप से उतरे।
    • शटनर ने 82 वर्षीय वैली फंक का रिकॉर्ड तोड़ दिया है, जो 20 जुलाई, 2021 को अंतरिक्ष में जाने वाली ब्लू ओरिजिन उड़ान का हिस्सा थी।

    वनडे में शतक लगाने वाली सबसे युवा बल्लेबाज बनीं आयरलैंड की एमी हंटर


    11 अक्टूबर, 2021 को आयरलैंड की एमी हंटर अपने 16वें जन्मदिन के अवसर पर जिम्बाब्वे के खिलाफ जीत में नाबाद 121 रन बनाकर एकदिवसीय (वनडे) क्रिकेट में शतक बनाने वाली सबसे युवा बल्लेबाज बन गईं हैं।

    (Image Source: https://www.independent.co.uk/)

    • बेलफास्ट की स्कूली छात्रा एमी ने भारत की मिताली राज के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया, जिन्होंने जून 1999 में 16 साल और 205 दिन की उम्र में आयरलैंड के खिलाफ नाबाद 114 रन बनाए थे।
    • एमी आयरलैंड के लिए एकदिवसीय मैचों में शतक लगाने वाली चौथी और वर्ष 2000 के बाद पहली महिला क्रिकेटर हैं।
    • एकदिवसीय मैचों में शतक बनाने वाले सबसे कम उम्र के पुरुष बल्लेबाज पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी हैं, जिन्होंने 1996 में श्रीलंका के खिलाफ 16 साल और 217 दिन की उम्र में 102 रन बनाए थे।

    बीआरओ ने पहली बार महिला सैन्य अधिकारी मेजर आइना राणा को नियुक्त किया


    सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने 30 अगस्त, 2021 को फिर से इतिहास रच दिया, जब प्रोजेक्ट शिवालिक की मेजर आइना राणा ने उत्तराखंड में चमोली जिले के पीपलकोटी में ‘75 रोड कंस्ट्रक्शन कंपनी’ (75 RCC) के ऑफिसर कमांडिंग (Officer Commanding) के रूप में कार्यभार संभाला।

    (Image Source: BRO)

    • पठानकोट, पंजाब की रहने वाली मेजर आइना, सड़क निर्माण कंपनी की कमान संभालने वाली पहली भारतीय सेना इंजीनियर अधिकारी हैं।
    • सीमा सड़क संगठन की ऐसे सभी महिलाओं के नेतृत्व वाले चार RCC बनाने की योजना है, दो पूर्वोत्तर क्षेत्र में और दो पश्चिमी क्षेत्र में।

    शिवानी मीणा ओपन कास्ट खदान में काम करने वाली पहली उत्खनन इंजीनियर बनीं


    सितंबर 2021 में राजस्थान की शिवानी मीणा कोल इंडिया में एक ओपन कास्ट खदान (Open Cast Mine) में उत्खनन इंजीनियर के रूप में नियुक्त होने वाली पहली महिला बन गई हैं।

    (Source: PIB)

    • शिवानी मीणा कोल इंडिया की शाखा सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड के रजरप्पा क्षेत्र में एक मशीनीकृत ओपन कास्ट खदान रजरप्पा परियोजना में एक उत्खनन इंजीनियर के रूप में शामिल हुई हैं। उन्हें हेवी अर्थ मूविंग मशीनरी (Heavy Earth Moving Machinery) के रखरखाव और मरम्मत की जिम्मेदारी दी गई है।
    • भरतपुर, राजस्थान की मूल निवासी, शिवानी ने आईआईटी जोधपुर से इंजीनियरिंग की है।
    • रजरप्पा क्षेत्र को हाल ही में कोयला मंत्रालय द्वारा ‘स्वच्छता मिशन’ के तहत उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया था।

    राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर विश्वविद्यालय


    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 सितंबर, 2021 को अलीगढ़ में 'राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय' की आधारशिला रखी।

    • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राजा महेंद्र प्रताप सिंह की स्मृति और सम्मान में अलीगढ़ की कोल तहसील के ग्राम लोढ़ा और गांव मुसेपुर करीम जरौली में कुल 92 एकड़ से अधिक क्षेत्र में विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है।
    • 1886 में उत्तर प्रदेश के हाथरस में शाही परिवार में जन्मे राजा महेंद्र प्रताप सिंह एक समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी और क्रांतिकारी थे।
    • 'मोहम्मडन एंग्लो-ओरिएंटल कॉलेज' (अब अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय) के पूर्व छात्र रहे सिंह ने कॉलेज के साथी छात्रों के साथ 1911 के 'बाल्कन युद्ध' में भी भाग लिया था।
    • ब्रिटिश अधिकारियों द्वारा वांछित होने के कारण वे 1914 में घर छोड़कर जर्मनी चले गए थे और लगभग 33 वर्षों तक निर्वासन में रहे।
    • वे 1915 में अफगानिस्तान में पहली अनंतिम निर्वासित भारत सरकार के गठन के लिए प्रसिद्ध थे। उन्हें 1932 में नोबल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था।
    • स्वतंत्रता के बाद, वे 1957 में मथुरा लोक सभा सीट से तत्कालीन जनसंघ (और बाद में भाजपा) के उम्मीदवार अटल बिहारी वाजपेयी को हराकर संसद के लिए चुने गए थे। 1979 में उनका निधन हो गया था।

    स्वतंत्रता सेनानी और कवि सुब्रमण्यम भारती की शताब्दी पुण्यतिथि


    उपराष्ट्रपति ने 11 सितंबर, 2021 को तमिलनाडु के महान कवि, समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी सुब्रमण्यम भारती (भरथियार) की शताब्दी पुण्यतिथि के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

    • सुब्रमण्य भारती का जन्म 11 दिसंबर, 1882 को तमिलनाडु में तिरुनेलवेली जिले के एट्टयपुरम् गाँव में हुआ था। इन्हें ‘महाकवि भरथियार’ के नाम से जाना जाता है।
    • भारती को बाल गंगाधर तिलक से प्रेरणा मिली। उन्होंने 8 साल की उम्र में कविताएं लिखना शुरू कर दिया था।
    • इनकी प्रमुख साहित्यिक कृतियाँ ‘कण्णन पट्टू’, ‘निलावुम वन्मिनुम कत्रुम, (Nilavum Vanminum Katrum) ‘पांचाली सपथम’ तथा ‘कुयिल पट्टू’ थी।
    • सुब्रमण्यम भारती ज्यादातर धर्मनिरपेक्ष, राजनीतिक और आध्यात्मिक लेखन में सक्रिय रहे। वे रूस की बोल्शेविक क्रांति की महिमा का गायन करने वाले पहले एशियाई कवि भी थे।
    • भारती ने एक युवा पत्रकार के रूप में और एक उप-संपादक के रूप में नवंबर 1904 में "स्वदेशमित्रन" से अपना करियर शुरू किया। उन्होंने 1908 में ‘सुदेश गीतंगल’ नामक क्रांतिकारी रचना का प्रकाशन किया।
    • 11 सितंबर, 1921 को भारती का देहावसान हो गया था।

    सुभद्रा कुमारी चौहान को उनकी 117वीं जयंती


    गूगल ने 16 अगस्त, 2021 को प्रसिद्ध कविता झांसी की रानी की रचयिता भारतीय कवयित्री सुभद्रा कुमारी चौहान को उनकी 117वीं जयंती पर डूडल बनाकर सम्मानित किया।

    • सुभद्रा कुमारी ने हिंदी कविता में कई रचनाएँ लिखीं, जिनमें झाँसी की रानी उनकी सबसे प्रसिद्ध रचना थी, जो रानी लक्ष्मीबाई के जीवन का वर्णन करने वाली कविता है।
    • सुभद्रा कुमारी का जन्म 16 अगस्त, 1904 को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के निहालपुर गाँव के एक राजपुर परिवार में हुआ था।
    • उनका विवाह 1919 में खंडवा के ठाकुर लक्ष्मण सिंह चौहान से हुआ था।
    • सुभद्रा और उनके पति 1921 में महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन में शामिल हुए थे। वे नागपुर में अदालत में गिरफ्तार होने वाली पहली महिला सत्याग्रही थीं और 1923 और 1942 में ब्रिटिश शासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के कारण दो बार जेल गईं।
    • 1948 में मध्य प्रदेश के सिवनी में एक कार दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी।

    यूनिसेफ प्रमुख हेनरिटा फोरे ने दिया इस्तीफा


    संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने 12 जुलाई, 2021 को यूनिसेफ की कार्यकारी निदेशक हेनरिटा फोरे का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। उन्होंने पारिवारिक स्वास्थ्य समस्या के चलते इस्तीफा दिया है।

    • हेनरिटा फोरे यूएस एजेंसी फॉर इंटरनेशल डेवलपमेंट (USAID) की प्रमुख बनने वाली पहली महिला हैं। वह 1 जनवरी, 2018 को यूनिसेफ की प्रमुख बनी थीं।
    • फोरे ने इससे पहले 2001-2005 तक यूएस मिंट के निदेशक के रूप में, 2005-2007 तक प्रबंधन के लिए यूएस अंडरसेक्रेटरी के रूप में और 2007-2009 तक तत्कालीन राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश के प्रशासन के दौरान USAID प्रशासक के रूप में कई कंपनियों को चलाया।
    • उत्तराधिकारी चुने जाने तक फोरे यूनिसेफ में पद पर बने रहेंगी।
    • यूनिसेफ के कार्यकारी निदेशक की नियुक्ति संयुक्त राष्ट्र महासचिव द्वारा संगठन के कार्यकारी बोर्ड के परामर्श से की जाती है।

    यूनिसेफ: यह ‘संयुक्त राष्ट्र बाल कोष’ है, जिसे संयुक्त राष्ट्र बाल आपातकालीन कोष (UNICEF) के रूप में भी जाना जाता है। यह एक संयुक्त राष्ट्र एजेंसी है, जो दुनिया भर में बच्चों को मानवीय और विकासात्मक सहायता प्रदान करने के लिए जिम्मेदार है।

    • 11 दिसंबर 1946 को, संयुक्त राष्ट्र ने द्वितीय विश्व युद्ध में तबाह हुए देशों में बच्चों और माताओं को आपातकालीन स्थिति में भोजन और स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से यूनिसेफ की स्थापना की थी।

    प्रोफेसर मनीषा एस. इनामदार


    भारतीय स्टेम सेल एवं विकासात्मक जीवविज्ञानी प्रोफेसर मनीषा एस. इनामदार मानव ‘जीनोम संपादन’ के प्रशासन और निगरानी के लिए वैश्विक मानक विकसित करने से संबंधित ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन की विशेषज्ञ सलाहकार समिति’ का हिस्सा रही हैं।

    • इस विशेषज्ञ सलाहकार समिति ने सुरक्षा, प्रभावशीलता और नैतिकता पर जोर देते हुए मानव जीनोम संपादन का उपयोग सार्वजनिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुनिश्चित करने में मदद देने के उद्देश्य से पहली वैश्विक सिफारिशें प्रदान करने वाली दो नई सहयोगी रिपोर्टें जारी की।
    • 12 जुलाई, 2021 को जारी की गई इन रिपोर्टों में संस्थागत, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तरों पर मानव जीनोम संपादन प्रौद्योगिकी के अनुसंधान और संभावित अनुप्रयोग से जुड़े निगरानी तंत्र के लिए एक अग्रगामी सोच वाले प्रशासन से संबंधित रूपरेखा शामिल है।
    • प्रोफेसर मनीषा एस. इनामदार अपने समूह के साथ बेंगलुरू स्थित विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के एक स्वायत्त संस्थान जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस साइंटिफिक रिसर्च, जोकि कृत्रिम परिवेश में स्टेम सेल में हेरफेर करने के लिए जीन-संपादन उपकरण का उपयोग करता है, में अनुसंधान कर रही हैं।

    इब्राहिम रायसी ईरान के नए राष्ट्रपति निर्वाचित


    जून 2021 में इब्राहिम रायसी ईरान के 8वें राष्ट्रपति निर्वाचित हुए हैं।

    • वे अगस्त 2021 में पदभार ग्रहण करेंगे। वे राष्ट्रपति के रूप में हसन रूहानी की जगह लेंगे।
    • इब्राहिम रायसी को एक रुढ़िवादी नेता माना जाता है। वे वर्तमान में ईरान के मुख्य न्यायधीश भी हैं।
    • इब्राहिम रायसी का जन्म 14 दिसम्बर, 1960 को ईरान के मशाद में हुआ था। 1980 में मात्र 20 वर्ष की आयु में करज के महा-अभियोजक (Prosecutor General) बनने पर उन्होंने ख्याति हासिल की थी।
    • बाद में वे 2004 से 2014 तक ईरान के पहले उप-मुख्य न्यायधीश रहे। इसके बाद 2014 से 2016 तक वे ईरान के महा-अभियोजक भी रहे। 2019 से वे ईरान के मुख्य न्यायधीश के रूप में कार्य कर रहे हैं।

    प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री कल्पना कोचर होंगी आईएमएफ से सेवानिवृत्त


    प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष-आईएमएफ (IMF) के मानव संसाधन विभाग की प्रमुख कल्पना कोचर, तीन दशकों से अधिक समय तक आईएमएफ में विभिन्न वरिष्ठ पदों पर कार्य करने के बाद, 30 जुलाई, 2021 को सेवानिवृत्त हो रही हैं।

    • कोचर बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन में बतौर 'विकास नीति और वित्त निदेशक' (Director of Development Policy and Finance) के रूप में जुड़ने के लिए IMF से सेवानिवृत्त हो रही हैं।
    • कोचर ने आईएमएफ में 1988 में एक अर्थशास्त्री के रूप में शुरुआत की। वर्षों से, उन्होंने श्रीलंका और फिलीपींस पर डेस्क अर्थशास्त्री (desk economist) पदों के साथ एशियाई क्षेत्रीय मामलों में अपनी विशेषज्ञता हासिल की और 1990 के दशक के उत्तरार्ध में एशियाई वित्तीय संकट के दौरान कोरिया और मलेशिया में अग्रणी रूप से काम किया।

    सादिक खान फिर से लंदन के महापौर निर्वाचित


    लेबर पार्टी के सादिक खान को 8 मई, 2021 को लंदन के महापौर पद के लिए फिर से निर्वाचित किया गया है।

    • लेबर पार्टी के प्रत्याशी खान ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की कंजर्वेटिव पार्टी के उम्मीदवार शॉन बेली को शिकस्त दी। उन्हें 55.2 फीसदी वोट मिले, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 44.8 फीसदी मत हासिल हुए।
    • सादिक खान पाकिस्तानी मूल के हैं और वह लेबर पार्टी से संसद के सदस्य रह चुके हैं। वह 2016 में महापौर पद के लिए चुने गए थे। खान लंदन के पहले मुस्लिम महापौर हैं।

    प्रियंका मोहिते ने की माउंट अन्नपूर्णा पर फतह


    पश्चिमी महाराष्ट्र के सतारा की प्रियंका मोहिते (Priyanka Mohite) ने 16 अप्रैल, 2021 को विश्व की दसवीं सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट अन्नपूर्णा पर फतह हासिल की।

    • वे यह उपलब्धि हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला पर्वतारोही बन गई हैं।
    • माउंट अन्नपूर्णा नेपाल में स्थित हिमालय का एक पुंजक (पर्वत-माला) है, जिसमें 8,000 मीटर से अधिक ऊंची चोटी शामिल है और इसे चढ़ाई करने के लिए सबसे कठिन पहाड़ों में से एक माना जाता है।

    डॉ. हरेकृष्ण महताब द्वारा लिखित पुस्तक 'ओडिशा इतिहस' का हिंदी अनुवाद जारी


    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 अप्रैल, 2021 को 'उत्कल केशरी' डॉ. हरेकृष्ण महताब द्वारा लिखित पुस्तक 'ओडिशा इतिहस' का हिंदी अनुवाद जारी किया।

    • अब तक ओडिया और अंग्रेजी में उपलब्ध पुस्तक का हिंदी में अनुवाद शंकरलाल पुरोहित ने किया है।
    • डॉ. हरेकृष्ण महताब भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में एक महत्वपूर्ण शख्सियत थे। वे 1946 से 1950 तक और 1956 से 1961 तक ओडिशा के मुख्यमंत्री पद पर भी रहे। उन्होंने अहमदनगर किला जेल में 'ओडिशा इतिहस' पुस्तक लिखी, जहाँ उन्हें 1942 से 45 के दौरान दो साल से अधिक समय तक जेल में रखा गया था।

    आरबीआई के डिप्टी गवर्नर बीपी कानूनगो हुए सेवानिवृत्त


    भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के वरिष्ठतम डिप्टी गवर्नर बीपी कानूनगो 2 अप्रैल, 2021 को अपना एक साल का विस्तारित कार्यकाल पूरा करने के बाद सेवानिवृत्त हो गए।

    • सरकार ने उन्हें मार्च 2017 में तीन साल के कार्यकाल के लिए डिप्टी गवर्नर नियुक्त किया था, लेकिन 2020 में उनका कार्यकाल एक साल और बढ़ा दिया था।
    • डिप्टी गवर्नर के रूप में, कानूनगो ने मुद्रा प्रबंधन, बाहरी निवेश और संचालन, सरकार और बैंक खाते, सूचना प्रौद्योगिकी, भुगतान और निपटान प्रणाली, विदेशी मुद्रा, आंतरिक ऋण प्रबंधन और कानूनी विभागों का नेतृत्व किया था।
    • कार्यकारी निदेशक के रूप में पदोन्नत होने से पहले, उन्होंने मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के लिए बैंकिंग लोकपाल का पद संभालने के अलावा, जयपुर और कोलकाता में रिजर्व बैंक के क्षेत्रीय कार्यालयों के प्रमुख के रूप में भी कार्य किया था।
    • RBI के अन्य डिप्टी गवर्नर राजेश्वर राव, महेश कुमार जैन और माइकल पात्रा हैं

    अय्या वैकुंडा स्वामीकल की जयंती


    12 मार्च, 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19वीं सदी के महान विचारक और समाज सुधारक, ‘अय्या वैकुंडा स्वामीकल’ को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

    • वे 19 वीं शताब्दी के शुरुआती दशकों में त्रावणकोर रियासत में निवास करते थे।
    • उन्होंने वर्ष 1836 में भारत के शुरुआती सामाजिक-सुधार आंदोलन ‘समथवा समाजम’ (Samathwa Samajam) की स्थापना की।
    • उन्होंने, ‘एक जाति, एक धर्म, एक कुटुंब, एक दुनिया, एक भगवान’ का नारा दिया था।

    प्रधानमंत्री कार्यालय में प्रधान सलाहकार पी.के. सिन्हा ने दिया इस्तीफा


    प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में प्रधान सलाहकार पी.के. सिन्हा ने व्यक्तिगत कारणों से 16 मार्च, 2021 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

    • उत्तर प्रदेश कैडर के 1977 बैच के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी सिन्हा को पीएमओ में पहले ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी(ओएसडी) के रूप में नियुक्त किया गया था और फिर सितंबर 2019 में प्रधान सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था।
    • इससे पहले, वे भारत सरकार में विद्युत मंत्रालय के सचिव और 2015 से चार साल तक कैबिनेट सचिव के रूप में भी सेवाएं दे चुके हैं।

    एंड्रयू स्टीयर बेजोस अर्थ फंड के प्रमुख के रूप में नामित


    ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन इंक के जेफ बेजोस ने 9 मार्च, 2021 को एंड्रयू स्टीयर को 10 बिलियन डॉलर के 'बेजोस अर्थ फंड' (Bezos Earth Fund) के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में नामित किया है।

    • एंड्रयू स्टीयर वर्तमान में पर्यावरण थिंक टैंक वर्ल्ड रिसोर्स इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष और सीईओ हैं। 'बेजोस अर्थ फंड' (Bezos Earth Fund) के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में नामित होने के बाद वे वर्ल्ड रिसोर्स इंस्टीट्यूट में अपने पद से इस्तीफा देंगे।
    • जेफ बेजोस ने पिछले साल वैज्ञानिकों, कार्यकर्ताओं, गैर-लाभकारी संगठनों और पर्यावरण सुरक्षा के लिए काम करने वाले और जलवायु परिवर्तन के प्रभावों का मुकाबला करने वाले अन्य समूहों के लिए 10 बिलियन डॉलर का 'बेजोस अर्थ फंड' शुरू किया।
    • स्टीयर को संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोप, एशिया और अफ्रीका में पर्यावरण और जलवायु विज्ञान के साथ-साथ आर्थिक और सामाजिक नीति में वर्षों का अनुभव है।

    प्रोणिता गुप्ता श्रम एवं कामगारों के लिए जो बाइडेन की विशेष सहायक नामित


    फरवरी 2021 में श्रम मुद्दों की विशेषज्ञ भारतीय-अमेरिकी प्रोणिता गुप्ता को घरेलू नीति परिषद में श्रम एवं कामगारों के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन का विशेष सहायक नामित किया गया है।

    • इससे पूर्व वह ‘सेंटर फॉर लॉ एंड स्पेशल पॉलिसी (Center for Law and Social Policy -CLASP) में जॉब क्वालिटी टीम की निदेशक थीं।
    • वे पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के दूसरे कार्यकाल में अप्रैल 2014 से जनवरी 2017 तक अमेरिका के श्रम विभाग में महिला ब्यूरो की उपनिदेशक रह चुकी हैं।
    • वह इससे पहले महिला डोनर्स नेटवर्क (Women Donors Network) के साथ-साथ एशियन अमेरिकी/ पैसिफिक आइलैंडर्स के लिए परोपकार (Asian Americans/Pacific Islanders in Philanthropy) में शोध कार्यक्रमों के वरिष्ठ निदेशक के रूप में भी काम कर चुकी हैं।

    भारतीय मूल की आकांक्षा अरोड़ा ने की संयुक्त राष्ट्र महासचिव पद के लिए अपनी उम्मीदवारी


    फरवरी 2021 में भारतीय मूल की 34 वर्षीय आकांक्षा अरोड़ा ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव पद के लिए अपनी उम्मीदवारी घोषित की।

    • वर्तमान में वह संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) में लेखा परीक्षा समन्वयक के तौर पर कार्यरत हैं।
    • वह मौजूदा महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के खिलाफ उम्मीदवारी की घोषणा करने वाली पहली महिला हैं।
    • एंटोनियो गुटेरेस ने भी संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के तौर पर अपने दूसरे कार्यकाल के लिए अपनी उम्मीदवारी पेश की है। उनका कार्यकाल 31 दिसंबर‚ 2021 को समाप्त होगा।
    • गुटेरेस संयुक्त राष्ट्र के 9वें महासचिव हैं। संयुक्त राष्ट्र के 75 वर्ष के इतिहास में कोई भी महिला इसकी महासचिव नहीं बनी हैं।

    सामाजिक कार्यकर्ता रानी बंग लेंसेट द्वारा सम्मानित


    स्वास्थ्य से जुड़ी प्रसिद्ध पत्रिका लेंसेट ने अपने फरवरी 2021 के संस्करण में सामाजिक कार्यकर्ता रानी बंग को ‘महिला प्रजनन स्वास्थ्य’ के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाने के लिए सम्मानित किया है।

    • पत्रिका ने लिखा है कि डॉ. अभय बंग और डॉ. रानी बंग के अध्ययनों ने पूरे विश्व में संसाधनों की कमी झेल रहे सिस्टम में चिकित्सा पद्धति को बदल दिया है।
    • 1988 में लेंसेट में बंग के प्रकाशित एक महत्वपूर्ण अध्ययन से पता चला था कि 92% ग्रामीण महिलाओं ने स्त्री रोग संबंधी समस्याओं का अनुभव किया, और उनमें से दस में से केवल एक ने ही कभी कोई मदद मांगी थी।
    • 69 वर्षीय वर्षीय डॉ. रानी बंग ने पूरे महाराष्ट्र में किशोरियों के लिए कई यौन शिक्षा सत्रों का संचालन किया है।
    • डॉ. अभय बंग और डॉ. रानी बंग दोनों महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में सामुदायिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम कर रहे हैं।

    भावना कंठ गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट


    26 जनवरी, 2021 को 28 वर्षीय फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बन गई हैं।

    • गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित परेड में भावना भारतीय वायुसेना की उस झांकी का हिस्सा थी, जिसमें हल्के लड़ाकू विमान, हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सुखोई -30 एमकेआई फाइटर जेट और रोहिणी रडार के मॉडल प्रदर्शित किए गए थे।
    • भारतीय वायु सेना की झांकी का विषय 'इंडियन एयर फोर्स: टच द स्काई विद ग्लोरी' (Indian Air Force: Touch the Sky with Glory) था।
    • भावना भारतीय वायु सेना में 2016 में शामिल हुई थीं। वह पहली तीन महिला फाइटर पायलट में शामिल हैं। उनके अलावा अवनी चतुर्वेदी एवं मोहना सिंह भी इसी दिन वायु सेना में शामिल हुईं थीं।

    श्री नारायण गुरु


    उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने 22 जनवरी, 2021 को प्रो. जी. के. शशिधरन द्वारा श्री नारायण गुरु की कविताओं के अंग्रेजी अनुवाद ‘नॉट मेनी, बट वन’ (Not Many, But One) (दो संस्करण) की हुई पुस्तक का वर्चुअल माध्यम में विमोचन किया।

    • श्री नारायण गुरु (1854 - 1928) केरल के एक दार्शनिक, आध्यात्मिक नेता और समाज सुधारक थे।
    • वे मंदिर प्रवेश आंदोलन में सबसे अग्रणी थे और अछूतों के सामाजिक भेदभाव के खिलाफ थे। कट्टरपंथियों के विरोध के बीच एक शिव मूर्ति का अभिषेक करते हुए, उन्होंने ‘वैकोम आंदोलन’ को गति प्रदान की।
    • नारायण गुरु के अनुसार “सभी के लिए केवल एक जाति, एक धर्म, एक ईश्वर है” (ओरु जति, ओरु माथम, ओरु दैवम, मानुष्यानु)। इस दर्शन ने उनके सुधार आंदोलनों का आधार तैयार किया, जिसमें असमानताओं और सामाजिक विकृतियों को दूर करने की कोशिश की गई।
    • 1914 में श्री नारायण गुरु द्वारा मलयालम में ‘दैव दसकम' या 'टेन वर्सेज टू गॉड' (Ten Verses to God) का लेखन किया गया।

    आर्या राजेंद्रन


    दिसंबर 2020 में 21 वर्षीय आर्या राजेंद्रन तिरुवनंतपुरम नगर निगम की सबसे कम उम्र की मेयर बन गई हैं।

    • आर्या ने 2020 के केरल स्थानीय निकाय चुनावों में तिरुवनंतपुरम निगम के मुदवनमुकल वार्ड (Mudavanmukal ward) से जीत हासिल की।
    • सबसे कम उम्र के मेयर का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड अभी माइकल सेशंस के पास है, जो 2005 में 18 साल की उम्र में यूएसए में हिल्सडेल (Hillsdale) के मेयर बने थे।
    • भारत में, 2009 में 21 वर्ष की आयु में राजस्थान में भरतपुर की मेयर बनने वाली सुमन कोली सबसे कम उम्र की मेयर में से एक है।

    खुदीराम बोस


    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 19 दिसंबर, 2020 को पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में बंगाली क्रांतिकारी खुदीराम बोस के पैतृक गांव का दौरा किया।

    • बोस का जन्म 1889 में मिदनापुर जिले के एक छोटे से गाँव में हुआ था। स्वतंत्रता आंदोलन के सबसे युवा नेताओं में से एक, बोस को बंगाल में अपनी निडरता की भावना के लिए जाना जाता है।
    • 1905 में, बंगाल विभाजन के समय, उन्होंने सक्रिय रूप से अंग्रेजों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में भाग लिया। 15 वर्ष की आयु में, बोस 20वीं शताब्दी की आरंभिक संस्था 'अनुशीलन समिति' में शामिल हो गए, जिसने बंगाल में क्रांतिकारी गतिविधियों को बढ़ावा दिया।
    • उन्हें मुजफ्फरपुर के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट डगलस किंग्सफोर्ड की हत्या के प्रयास के लिए 18 साल की कम उम्र में मौत की सजा दी गई थी।

    गीतांजलि राव टाइम मैगजीन 'किड ऑफ द इयर’


    दिसंबर 2020 में भारतीय मूल की 15 वर्षीय अमेरिकी किशोरी गीतांजलि राव को उनके कार्यों के लिए 'टाइम मैगजीन' (TIME magazine) की पहली 'किड ऑफ द इयर' के रूप में नामित किया गया है।

    • गीतांजलि ने प्रौद्योगिकी का उपयोग कर दूषित पेयजल से लेकर अफीम की लत और साइबरबुलिंग (cyberbullying) जैसे मुद्दों से निपटने के मामले में शानदार कार्य किया है।
    • कोलोरैडो निवासी गीतांजलि एक प्रतिभाशाली युवा वैज्ञानिक और आविष्कारक हैं।
    • उन्हें 5,000 उम्मीदवारों में से चुना गया और अकादमी पुरस्कार विजेता हॉलीवुड अभिनेत्री एंजेलिना जोली द्वारा TIME के लिए उनका साक्षात्कार लिया गया।
    • 11 साल की उम्र में, राव ने 'डिस्कवरी एजुकेशन 3M साइंटिस्ट चैलेंज' (Discovery Education 3M Scientist Challenge) जीता था और उनके नवाचारों के लिए फोर्ब्स ने उन्हें '30 अंडर 30' सूची में शामिल किया था।
    • उनकी नवीनतम खोज कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रौद्योगिकी पर आधारित 'काइंडली' (Kindly) नामक एक ऐप है, जिससे शुरुआती अवस्था में ही साइबरबुलिंग का पता लगाया जा सकता है।
    • गीतांजलि ने 'टेथिस' (Tethys) नामक एक एप्लिकेशन विकसित किया है, जो कार्बन नैनोट्यूब की सहायता से पानी में सीसा संदूषण (lead contamination) की जांच कर सकता है।

    जॉनस मसेटी


    29 नवंबर, 2020 को 'मन की बात 2.0' की 18वीं कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील के ‘जॉनस मसेटी’ (Jonas Masetti) का जिक्र किया।

    • जॉनस को ‘विश्वनाथ’ के नाम से भी जाना जाता है। वे ब्राजील में लोगों को वेदांत और गीता सिखाते हैं।
    • वे ‘विश्वविद्या’ नाम की एक संस्था चलाते हैं, जो रियो डि जेनेरो (Rio de Janeiro) से घंटें भर की दूरी पर ‘पेट्रोपोलिस’ (Petrópolis) के पहाड़ों में स्थित है।
    • जॉनस ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद, स्टॉक मार्केट कंपनी में काम किया, बाद में, उनका रुझान भारतीय संस्कृति और खासकर ‘वेदान्त’ की तरफ हो गया।
    • जॉनस ने भारत में वेदांत दर्शन का अध्ययन किया और 4 साल तक वे कोयंबटूर के ‘अर्श विद्या गुरूकुलम’ में रहे हैं।

    माला अडिगा जिल बाइडेन की नीति निदेशक नियुक्त


    अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने नवंबर 2020 में भारतीय अमेरिकी माला अडिगा को अपनी पत्नी जिल बाइडेन का नीति निदेशक नियुक्त किया है।

    • माला अडिगा, जिल बाइडेन की वरिष्ठ सलाहकार रह चुकी हैं और राष्ट्रपति चुनाव के अभियान के दौरान बाइडेन और कमला हैरिस की वरिष्ठ नीति सलाहकार पद पर कार्य कर चुकी हैं।
    • इससे पहले वे बाइडेन फाउंडेशन उच्च शिक्षा और सैनिकों के परिवार से जुड़े मामलों की निदेशक के रूप में कार्य कर चुकी है।
    • पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल के दौरान उन्होंने शैक्षणिक और सांस्कृतिक मामलों के ब्यूरो में उप-सहायक सचिव के रूप में कार्य किया था।

    बाबर आजम


    न्यूजीलैंड दौरे के लिए वर्षीय बल्लेबाज बाबर आजम को पाकिस्तानी टेस्ट क्रिकेट टीम का कप्तान नियुक्त किया गया है। उन्हें अजहर अली की जगह टेस्ट टीम का कप्तान बनाया गया है। बाबर अब तीनों प्रारूपों टेस्टएकदिवसीय और टीमें पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान हैं।

    सुदीप त्यागी


    भारत के पूर्व तेज गेंदबाज सुदीप त्यागी ने 17 नवंबर, 2020 को खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की।

    • उन्होंने भारत के लिए चार एकदिवसीय मैच और एक टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला। वह आखिरी बार 2010 में भारत के लिए खेले थे। उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए 14 आईपीएल मैच भी खेले। उन्होंने घरेलू क्रिकेट में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया है।

    चेन मेंग


    नवंबरको दुनिया की नंबर एक टेबल टेनिस खिलाड़ी चीन की ‘चेन मेंग’ ने हमवतन ‘सन यिंग्शा’ को से हराकर वैई में अपना पहला ‘आईटीटीएफ महिला विश्व कप’ खिताब जीता। पिछले महीनेचेन ने चीन की राष्ट्रीय चैंपियनशिप अपने नाम की थी।

    सोनू सूद पंजाब राज्य आइकॉन नियुक्त


    16 नवंबर, 2020 को भारतीय निर्वाचन आयोग (ECI) ने अभिनेता सोनू सूद को नैतिक मतदान (ethical voting) के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए पंजाब राज्य आइकॉन (Punjab state icon) के रूप में नियुक्त किया है।

    • पंजाब के मोगा जिले के मूल निवासी सोनू सूद कोविद -19 लॉकडाउन के दौरान हजारों प्रवासियों को उनके घरों तक भेजने में मदद के बाद राष्ट्रीय नायक बन गए।
    • 28 सितंबर, 2020 को, कोविड -19 के समय में लोगों की मदद करने के प्रयासों के लिए उन्हें संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा 'एसडीजी स्पेशल ह्यूमेनिटेरियन एक्शन अवार्ड' (SDG Special Humanitarian Action Award) से सम्मानित किया गया।

    पक्षी विज्ञानी सलीम अली की 124वीं जयंती


    • 12 नवंबर, 2020 को प्रसिद्ध पक्षी विज्ञानी सलीम अली की 124वीं जयंती मनाई गई।

    • 12 नवंबर, 1896 को मुंबई में जन्मे, सलीम मोइजुद्दीन अब्दुल अली न केवल एक पक्षी प्रेमी थे, बल्कि एक प्रकृतिवादी भी थे। उन्हें 'बर्डमैन ऑफ इंडिया' के रूप में जाना जाता है।
    • वे पूरे भारत में व्यवस्थित पक्षी सर्वेक्षण करने वाले पहले भारतीय थे और उन्होंने कई किताबें लिखीं। उनकी आत्मकथा 'द फाल ऑफ ए स्पैरो' (The Fall of a Sparrow) है।
    • सलीम अली ने भरतपुर पक्षी अभयारण्य (केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान) की स्थापना में और 'साइलेंट वैली नेशनल पार्क' के विनाश को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
    • उन्हें 1958 में पद्म भूषण और 1976 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। इसके अलावा, अली 1967 में ब्रिटिश पक्षी विज्ञानी संघ का स्वर्ण पदक प्राप्त करने वाले पहले गैर-ब्रिटिश नागरिक थे।

    संयुक्त राष्ट्र की महत्वपूर्ण समिति में विदिशा मैत्रा


    नवंबर 2020 में संयुक्त राष्ट्र में भारत के लिए एक महत्वपूर्ण जीत में, भारतीय राजनयिक विदिशा मैत्रा को महासभा के सहायक अंग ‘प्रशासनिक और बजटीय प्रश्न पर संयुक्त राष्ट्र सलाहकार समिति’ (ACABQ) के लिए चुना गया है।

    • 193 सदस्यीय महासभा सलाहकार समिति के सदस्यों की नियुक्ति करती है। सदस्यों का चयन व्यापक भौगोलिक प्रतिनिधित्व, व्यक्तिगत योग्यता और अनुभव के आधार पर किया जाता है।
    • संयुक्त राष्ट्र महासभा की पांचवीं समिति, जो प्रशासनिक और बजटीय मुद्दों से संबंधित है, ने 1 जनवरी, 2021 से शुरू होने वाले तीन साल के कार्यकाल के लिए मैत्रा को चुना है।
    • ज्ञात हो कि भारत को जनवरी 2021 से शुरू होने वाले दो साल के कार्यकाल के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बतौर गैर-स्थायी सदस्य चुना गया है।

    पुरुषोत्तम लक्ष्मण देशपांडे की 101वीं जयंती


    • 8 नवंबर, 2020 को ‘पु ल देशपांडे’ (Pu La Deshpande) के नाम से लोकप्रिय पुरुषोत्तम लक्ष्मण देशपांडे की 101वीं जयंती गूगल डूडल के साथ मनाई गई।

    • पु ल देशपांडे (1919-2000) एक प्रसिद्ध मराठी लेखक और अभिनेता, पटकथा लेखक, संगीतकार, निर्देशक, वक्ता और परोपकारी थे। उन्हें 'हारमोनियम के गुरु' के रूप में जाना जाता था।
    • वे लंबे समय तक ऑल इंडिया रेडियो और दूरदर्शन से जुड़े रहे। उन्हें पद्म भूषण और पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

    दिलीप रथ इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन (IDF) के बोर्ड के लिए चुने गए


    • 2 नवंबर, 2020 को ‘राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड’ (NDDB) के अध्यक्ष दिलीप रथ को सर्वसम्मति से वैश्विक डेयरी निकाय ‘इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन (आईडीएफ) के बोर्ड के लिए चुना गया है।
    • रथ ने आईडीएफ और खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) के बीच अक्टूबर 2016 में रॉटरडैम में 'आईडीएफ विश्व डेयरी शिखर सम्मेलन' में डेयरी घोषणा पर हस्ताक्षर करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
    • यह घोषणा गरीबी और भूख को समाप्त करने और पर्यावरण की रक्षा करने जैसे प्रमुख सतत विकास लक्ष्यों की उपलब्धि के लिए डेयरी क्षेत्र के योगदान को मान्यता देती है।
    • आईडीएफ एक अंतरराष्ट्रीय गैर-सरकारी, गैर-लाभकारी संघ है, जिसमें प्रत्येक देश में डेयरी संगठनों द्वारा गठित राष्ट्रीय समितियों के सदस्य होते हैं।
    • 1903 के बाद से, आईडीएफ एक मान्यता प्राप्त अंतरराष्ट्रीय प्राधिकरण है, जो डेयरी क्षेत्र के लिए विज्ञान आधारित मानकों के विकास में सक्रिय रूप से योगदान देता है।

    विजयाराजे सिंधिया के सम्‍मान में 100 रूपये का स्‍मारक सिक्‍का जारी


    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 12 अक्टूबर, 2020 को विजयराजे सिंधिया की जन्मशताब्दी समारोह के अवसर पर उनके सम्मान में 100 रूपये का स्मारक सिक्का जारी किया। यह विशेष स्मारक सिक्का वित्त मंत्रालय ने तैयार किया है।

    • भारतीय जनता पार्टी के संस्थापकों में से एक विजया राजे सिंधिया को ‘ग्वालियर की राजमाता’ के तौर पर भी जाना जाता है। विजयाराजे सिंधिया सात बार लोक सभा के सदस्य के रूप में चुनी गयी थी। वह दो बार राज्यसभा की सदस्य भी रही।
    • उनका विवाह ग्वालियर के अंतिम राजा, जीवाजीराव सिंधिया से हुआ था।
    • उन्होंने दो पुस्तकों का भी लेखन किया है - एक आत्मकथा 'द लास्ट महारानी ऑफ ग्वालियर' और 'लोक पथ से राज पथ'।

    एक दिन के लिए भारत में ब्रिटेन की उच्चायुक्त बनी चैतन्या


    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की 18 वर्षीय युवती चैतन्या वेंकटेश्वरन ने 7 अक्टूबर, 2020 को एक दिन के लिए भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त का पद संभाला।

    उद्देश्य: पूरे विश्व में महिलाओं के समक्ष चुनौतियों को उजागर करना और उन्हें सशक्त बनाना।

    • चैतन्या एक सक्रिय स्वयंसेवी कार्यकर्ता रही हैं, जो दृष्टिहीन छात्रों, तेजाब पीड़िताओं और समलैंगिकों के कल्याण के लिए कार्यरत रही हैं।
    • ब्रिटिश उच्चायोग 2017 से प्रति वर्ष 'उच्चायुक्त के लिए एक दिवस' प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है, जिसमें 18 से 23 वर्ष की भारतीय महिला को एक दिन के लिए उच्चायुक्त के वरिष्ठ अधिकारी के पद के लिए आमंत्रित किया जाता है।
    • 11 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस समारोह के अंतर्गत आयोजित इस वार्षिक प्रतियोगिता में चैतन्य चौथी महिला हैं, जिन्हें आयुक्त का पदभार सौंपा गया।

    शिवांगी सिंह होंगी राफेल की पहली महिला पायलट


    फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह 10 सितंबर को औपचारिक रूप से भारतीय वायु सेना (IAF) में शामिल होने वाले राफेल विमान को उड़ाने वाली भारत की पहली महिला फाइटर पायलट बनने वाली हैं।

    • वाराणसी की रहने वाली शिवांगी वर्तमान में अंबाला स्थित भारतीय वायु सेना के नवीनतम लड़ाकू विमान को उड़ाने के लिए प्रशिक्षण ले रही हैं।
    • वह जल्द ही अंबाला स्थित नंबर 17 स्क्वाड्रन में शामिल हो जाएंगी, जिसे 'गोल्डन एरोज' भी कहा जाता है।
    • शिवांगी भारतीय वायु सेना की 10 महिला फाइटर पायलटों में से एक है, वे 2017 में वायु सेना में शामिल हुईं। IAF में शामिल होने के बाद, वह 'मिग-21 बाइसन' विमान उड़ा रही हैं।

    आयुष्मान खुराना यूनिसेफ इंडिया के सेलिब्रिटी एडवोकेट


    यूनिसेफ इंडिया ने बच्चों के अधिकारों को बढ़ावा देने के लिए #ForEveryChild अभियान के लिए 11 सितंबर को भारतीय फिल्म अभिनेता,आयुष्मान खुराना को अपना सेलिब्रिटी एडवोकेट नियुक्त करने की घोषणा की।

    • आयुष्मान देश में बच्चों के खिलाफ होने वाली हिंसाओं पर लोगों को जागरुक करेंगे और उन्हें कम करने के लिए काम करेंगे।

    योशीहिदे सुगा जापान के नए प्रधानमंत्री


    जापान में मुख्य सत्ताधारी दल-लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के योशीहिदे सुगा को 16 सितंबर, 2020 को देश के नए प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाई गई। उन्होंने शिंजो आबे का स्थान लिया, जिन्होंने स्वास्थ्य कारणों से प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

    • सुगा, इससे पहले शिंजो आबे सरकार में मुख्य कैबिनेट सचिव थे।

    हरिवंश नारायण सिंह फिर राज्यसभा के उप-सभापति निर्वाचित


    14 सितंबर, 2020 को एनडीए के उम्मीदवार और जनता दल यूनाटेड के हरिवंश नारायण सिंह को फिर से राज्यसभा का उप-सभापति चुन लिया गया है।

    • राज्यसभा में सदस्यों ने ध्वनि मत से उनके नाम का अनुमोदन किया। भारतीय जनता पार्टी के जे. पी. नड्डा ने उनके नाम का प्रस्ताव किया।
    • बतौर उप-सभापति सिंह का ये दूसरा कार्यकाल होगा। वो पहली बार अगस्त 2018 में चुने गए थे और उनका कार्यकाल इस साल अप्रैल में खत्म हो गया था।
    • विपक्ष ने हरिवंश के खिलाफ राष्ट्रीय जनता दल के मनोज झा को उप-सभापति के लिए नामित किया था।

    नूर इनायत खान के सम्मान में 'ब्लू पट्टिका' की घोषणा


    28 अगस्त, 2020 को द्वितीय विश्व युद्ध की जासूस रही नूर इनायत खान भारतीय मूल की पहली महिला हैं, जिनके सम्मान में 'ब्लू पट्टिका' (Blue Plaque) की घोषणा की गई है।

    • अंग्रेजी विरासत के गौरव का प्रतीक, पट्टिका को टाविटोन स्ट्रीट, ब्लूम्सबरी, लंदन में उस घर पर रखा गया है, जहां इनायत कभी रहा करती थी।
    • 1944 में मात्र 30 वर्ष की आयु में इनायत की गोली लगने के कारण मौत हो गई थी। इनायत यूरोप में ब्रिटेन की पहली मुस्लिम युद्ध नायिका थीं और उन्हें 1949 में मरणोपरांत जॉर्ज क्रॉस से सम्मानित किया गया था।
    • वर्तमान में, नीली पट्टिका योजना चैरिटी संगठन 'इंगलिश हैरिटेज’ द्वारा चलाई जा रही है।
    • ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण इमारतों पर स्मारक पट्टिका रखने का विचार पहली बार 1863 में आया था। इसका उद्देश्य उन महत्वपूर्ण लोगों और संगठनों को सम्मानित करना था, जो लंदन की इमारतों में रहते थे या काम करते थे।

    डीआरडीओ अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी को दो साल का कार्यकाल विस्तार


    केंद्र सरकार ने जी सतीश रेड्डी को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के अध्यक्ष के रूप में दो साल का कार्यकाल विस्तार दिया है। उन्हें दो साल के लिए अगस्त 2018 में इस पद पर नियुक्त किया गया था।

    • कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने डीआरडीओ के अध्यक्ष तथा रक्षा अनुसंधान और विकास विभाग के सचिव के रूप में रेड्डी के कार्यकाल विस्तार को 26 अगस्त के बाद 2 वर्षों के लिए मंजूरी दी है।

    कमला हैरिस अमेरिका के उप-राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार नामित


    संयुक्त राज्य अमेरिका में, डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन ने 11 अगस्त, 2020 को भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस को उप-राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार नामित किया है।

    • एक प्रमुख पार्टी द्वारा उप-राष्ट्रपति पद के लिए नामांकित होने वाली वे भारतीय मूल की पहली महिला तथा पहली अश्वेत महिला हैं।
    • कमला हैरिस वर्तमान में कैलिफोर्निया से अमेरिकी सीनेटर हैं। निर्वाचित होने पर, कमला हैरिस संयुक्त राज्य की उप-राष्ट्रपति बनने वाली पहली महिला होंगी।
    • वे सैन फ्रांसिस्को के लिए जिला अटॉर्नी बनने वाली पहली महिला थी। वे कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल बनने वाली पहली अफ्रीकी-अमेरिकी और भारतीय मूल की महिला भी थीं।

    हसन दियाब


    राजधानी बेरूत में बड़े विस्फोट के बाद जनता में आक्रोश के बाद लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दियाब ने पूरी कैबिनेट के साथ 10 अगस्त, 2020 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

    • बेरुत के बंदरगाह में 4 अगस्त को हुए अमोनियम नाइट्रेट विस्फोट के बाद सरकार विरोधी प्रदर्शन शुरू हो गया था। इस विस्फोट से व्यापक विनाश के साथ-साथ 160 लोगों की मौत हो गई और लगभग छह हजार घायल हो गए थे।