पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

गणतंत्र दिवस 2021 पुरस्कार


खेल और युवा मामलों के मंत्री किरेन रिजिजू ने 28 जनवरी, 2021 को गणतंत्र दिवस 2021 पुरस्कार प्रदान किए।

  • इस वर्ष 32 झांकियों में से 17 राज्यों एवं केंद्र-शासित प्रदेशों से और नौ झांकियां विभिन्न मंत्रालयों/विभागों और अर्धसैनिक बलों से और छ: झांकियां रक्षा मंत्रालय की तरफ से सम्मलित हुई थीं।
  • उत्तर प्रदेश की झांकी को पहला पुरस्कार मिला है। उत्तर प्रदेश की झांकी का विषय था- 'अयोध्या - उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत'।
  • त्रिपुरा की झांकी दूसरे स्थान पर रही। त्रिपुरा की झांकी ने दर्शाया कि कैसे इस राज्य ने पर्यावरण के अनुकूल परंपरा को बढ़ावा देते हुए सामाजिक-आर्थिक मापदंडों पर आत्मनिर्भरता हासिल की। इस पूर्वोत्तर राज्य में दुनिया की ‘21 बांस की प्रजातियो’ का भी समृद्ध खजाना है। झांकी में बांस की प्रजातियों और जनजातियों की समृद्ध विरासत को दिखाया गया।
  • 'देव भूमि- देवताओं का घर', उत्तराखंड की इस झांकी ने विजेताओं में तीसरा स्थान हासिल किया। झांकी के सामने के हिस्से में राज्य-पशु कस्तूरी मृग को दिखाया गया। राज्य-पक्षी 'मोनाल' और राज्य-पुष्प 'ब्रह्मकमल' भी यहां देखने को मिले, जो केदारखंड के साथ-साथ उच्च हिमालयी क्षेत्रों में पाए जाते हैं। झांकी के मध्य में भगवान शिव के वाहन 'नंदी' को दिखाया गया। झांकी के पीछे के हिस्से में भगवान केदार का मंदिर दिखा जो 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है।
  • विभिन्न मंत्रालयों, विभागों और अर्द्धसैनिक बलों की नौ झांकियों में से ‘बायो टेक्नोलॉजी विभाग’ की झांकी सर्वश्रेष्ठ मानी गई। इसमें विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत: कोविड-टीका विकसित करने की प्रक्रिया को प्रदर्शित किया गया।
  • केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की झांकी ‘अमर जवान’ को सशस्त्र बलों के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए विशेष पुरस्कार दिया गया।
  • दिल्ली के रोहिणी इलाके के माउंट आबू पब्लिक स्कूल और विद्या भारती स्कूल के छात्रों को सर्वोत्तम सांस्कृतिक प्रस्तुति के लिए पुरस्कृत किया। इन बच्चों ने आत्मनिर्भर भारत के दृष्टिकोण को सुंदर ढंग से पेश किया था।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

'आयुष्मान सीएपीएफ' योजना


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 23 जनवरी, 2021 को देश के सभी सशस्त्र पुलिस बलों के कर्मियों को केंद्रीय स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम का लाभ प्रदान करने के लिए 'आयुष्मान सीएपीएफ' योजना ('Ayushman CAPF’ scheme) का शुभारंभ किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस योजना के तहत, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों, असम राइफल्स और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) के लगभग 28 लाख कर्मियों और उनके परिवारों को आयुष्मान भारत: प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना ’(AB PM-JAY) द्वारा कवर किया जाएगा।

आयुष्मान भारत: प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना: सितंबर, 2018 में शुरु यह योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य आश्वासन योजना है।

  • भारत में सार्वजनिक व निजी सूचीबद्ध अस्पतालों में माध्यमिक और तृतीयक स्वास्थ्य उपचार के लिए प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक की धनराशि लाभार्थियों को मुहैया करायी जाती है।
  • 10.74 करोड़ से अधिक गरीब और वंचित परिवार (या लगभग 50 करोड़ लाभार्थी) इस योजना के लाभ ले सकते हैं।
  • योजना सेवा स्थल पर लाभार्थी के लिए नि:शुल्क सेवा प्रदान करती है। योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने से 3 दिन पहले और 15 दिन बाद तक का नैदानिक उपचार, स्वास्थ्य उपचार व दवाइयाँ मुफ्त उपलब्ध होतीं हैं।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

भारत का नया आर्कटिक नीति मसौदा


भारत ने जनवरी 2021 में एक नई 'आर्कटिक’ नीति मसौदे का अनावरण किया है।

मुख्य उद्देश्य: आर्कटिक क्षेत्र में वैज्ञानिक अनुसंधान, सतत पर्यटन तथा खनिज तेल और गैस की खोज को बढ़ावा देना।

महत्वपूर्ण तथ्य: गोवा स्थित राष्ट्रीय ध्रुवीय एवं समुद्री अनुसंधान केंद्र (National Centre for Polar and Ocean Research-NCPOR) वैज्ञानिक अनुसंधान का नेतृत्व करेगा और इसके लिए गतिविधियों का समन्वय करने के लिए एक नोडल निकाय के रूप में कार्य करेगा।

  • नीति का उद्देश्य पेट्रोलियम अनुसंधान संस्थानों में खनिज / तेल और गैस की खोज के लिए आर्कटिक से संबंधित कार्यक्रमों हेतु प्रभावी योजना तैयार करना और आर्कटिक उद्यमों के साथ जुड़ने के लिए विशेष क्षमताओं और जागरूकता के निर्माण में पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्रों को प्रोत्साहित करना है।
  • आर्कटिक अनुसंधान से भारत के वैज्ञानिक समुदाय को 'हिमालयी ग्लेशियरों' की पिघलने की दर का अध्ययन करने में मदद मिलेगी, जो भौगोलिक ध्रुवों के बाहर दुनिया के सबसे बड़े मीठे पानी के भंडार से संपन्न हैं।
  • भारत ने 2007 में आर्कटिक में अपना पहला वैज्ञानिक अभियान शुरू किया था।
  • 'हिमाद्री' भारत का पहला स्थायी आर्कटिक अनुसंधान स्टेशन है, जो स्पिट्सबर्गेन, स्वालबार्ड, नॉर्वे में स्थित है। इसे 2008 में भारत के दूसरे आर्कटिक अभियान के दौरान स्थापित किया गया था।
  • आर्कटिक पृथ्वी के सबसे उत्तरी भाग में स्थित एक ध्रुवीय क्षेत्र है। आर्कटिक के अंतर्गत आर्कटिक महासागर, निकटवर्ती समुद्र और अलास्का (संयुक्त राज्य अमेरिका), कनाडा, फिनलैंड, ग्रीनलैंड (डेनमार्क), आइसलैंड, नॉर्वे, रूस और स्वीडन को शामिल किया जाता है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

अर्जेंटीना ने दिया गर्भपात को वैध दर्जा दिया


दिसंबर 2020 में अर्जेंटीना द्वारा गर्भपात को वैध दर्जा दिया गया। नए कानून के तहत अर्जेंटीना ने गर्भावस्था के 14वें सप्ताह तक के गर्भपात को वैधता प्रदान की है।

महत्वपूर्ण तथ्य: अर्जेंटीना में इसे ऐतिहासिक बदलाव माना गया है, क्योंकि इससे पहले, बलात्कार के मामलों में या महिला के स्वास्थ्य के गंभीर जोखिम के दौरान ही गर्भपात की अनुमति थी।

  • वर्तमान में निकारागुआ, अल सल्वाडेार‚ और डोमेनिक गणराज्य में गर्भपात अवैध है तथा कुछ लैटिन अमेरिकी देशों में गर्भपात कराने पर आजीवन कारावास का प्रावधान भी है।
  • क्यूबा‚ उरुग्वे‚ गुयाना‚ जैसे कुछ देशों में महिलाएं केवल विशिष्ट मामलों में गर्भपात के लिए अनुरोध कर सकती हैं।
  • भारत में गर्भपात ‘गर्भावस्था के चिकित्सा समाप्ति (संशोधन) अधिनियम‚ 2020’ के अनुसार गर्भावस्था के 24वें सप्ताह तक कानूनी है। पहले यह अवधि 20 सप्ताह तक थी।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित व्यक्ति

भावना कंठ गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट


26 जनवरी, 2021 को 28 वर्षीय फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बन गई हैं।

  • गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित परेड में भावना भारतीय वायुसेना की उस झांकी का हिस्सा थी, जिसमें हल्के लड़ाकू विमान, हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सुखोई -30 एमकेआई फाइटर जेट और रोहिणी रडार के मॉडल प्रदर्शित किए गए थे।
  • भारतीय वायु सेना की झांकी का विषय 'इंडियन एयर फोर्स: टच द स्काई विद ग्लोरी' (Indian Air Force: Touch the Sky with Glory) था।
  • भावना भारतीय वायु सेना में 2016 में शामिल हुई थीं। वह पहली तीन महिला फाइटर पायलट में शामिल हैं। उनके अलावा अवनी चतुर्वेदी एवं मोहना सिंह भी इसी दिन वायु सेना में शामिल हुईं थीं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

अंतरराष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस


26 जनवरी

2021 का विषय/ अभियान: 'एक टिकाऊ आपूर्ति श्रृंखला के लिए सीमा शुल्क वसूली, नवीकरण और लचीलापन' (Customs bolstering Recovery, Renewal and Resilience for a sustainable supply chain)।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह दिवस दुनिया की सीमाओं पर वस्तुओं के प्रवाह को सुचारु रखने के लिए कस्टम अधिकारियों और एजेंसियों को सम्मानित करने के लिए नामित किया गया है।

सामयिक खबरें राज्य छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में सार्वजनिक यात्री वाहनों में जीपीएस, पैनिक बटन अनिवार्य


23 जनवरी, 2021 को छत्तीसगढ़ में महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए सभी सार्वजनिक यात्री वाहनों में जीपीएस और पैनिक बटन लगाए जाने की घोषणा की गई।

  • वाहनों की निगरानी के लिए एक ट्रैकिंग डिवाइस और कमांड सेंटर स्थापित किया जाएगा।
  • ज्ञात हो कि केंद्र सरकार द्वारा सार्वजनिक यात्री वाहनों में जीपीएस और पैनिक बटन अनिवार्य कर दिया गया है।
  • नए वाहनों में ये सभी विशेषताएं हैं। छत्तीसगढ़ में जीपीएस सिस्टम और पैनिक बटन को पुराने वाहनों में भी अनिवार्य किया जाएगा।
  • योजना के कार्यान्वयन में लगभग 15 करोड़ रुपये की लागत आयेगी, जिसका 60% केंद्र सरकार और 40% राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

सामयिक खबरें खेल क्रिकेट

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पुरस्कार 2020


पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम को 1 जनवरी, 2021 को 2020 सीजन के दौरान अपने शानदार प्रदर्शन के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) अवार्ड्स में 'मोस्ट वैल्यूएबल क्रिकेटर ऑफ द इयर' (Most Valuable Cricketer of the Year) चुना गया।

अन्य पुरस्कार

  • टेस्ट क्रिकेटर ऑफ द इयर - मोहम्मद रिजवान
  • वाइट-बॉल (सीमित ओवर) क्रिकेटर ऑफ द इयर - बाबर आजम
  • वर्ष का व्यक्तिगत प्रदर्शन - फवाद आलम
  • महिला क्रिकेटर ऑफ द इयर - आलिया रियाज
  • वर्ष का घरेलू पुरुष क्रिकेटर - कामरान गुलाम
  • वर्ष का पुरुष उदीयमान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर - नसीम शाह
  • वर्ष का पुरुष उदीयमान क्रिकेटर - रोहेल नजीर
  • वर्ष की महिला उदीयमान क्रिकेटर - फातिमा साना
  • अंपायर ऑफ द इयर - आसिफ याकूब

सामयिक खबरें बिजनेस और सार्वजनिक उपक्रम

लिंक्स यू2 फायर नियंत्रण प्रणाली


रक्षा मंत्रालय ने विक्रय (भारतीय) श्रेणी के तहत 1,355 करोड़ रुपये की लागत से भारतीय नौसेना के प्रमुख युद्धपोतों के लिए 10 ‘लिंक्स यू2 फायर नियंत्रण प्रणाली’ (Lynx U2 Fire Control systems) की खरीद हेतु भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) के साथ 31 दिसंबर, 2020 को नई दिल्ली में एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए।

  • लिंक्स प्रणाली को स्वदेश में डिजाइन और विकसित किया गया है।
  • ‘लिंक्स यू2 जीएफसीएस’ (LYNX U2 GFCS) एक नेवल गन फायर नियंत्रण प्रणाली (Naval Gun Fire Control System) है, जिसे समुद्री हलचल के बीच निगरानी करने और लक्ष्यों को निशाना बनाने के लिए विकसित किया गया है। यह सटीक रूप से हवा/जमीन के लक्ष्यों पर नजर रखने में सक्षम है।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड का एसएमई के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म


निजी बीमा कंपनी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस ने बीमा खरीदने या नवीनीकृत करने के लिए छोटे और मध्यम उद्यमों (SMEs) के लिए दिसंबर 2020 में एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म शुरू किया है।

  • व्यवसाय बीमा के लिए अपनी तरह के इस ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के साथ, एसएमई किसी भी समय और कहीं से भी संपर्क रहित तरीके से व्यावसायिक बीमा समाधानों का लाभ सकते हैं, जैसे कि समुद्री बीमा (marine insurance) तथा कामगार क्षतिपूर्ति आदि।
  • आईसीआईसीआई लोम्बार्ड, इस मंच के माध्यम से, देश भर में 6.33 करोड़ से अधिक MSME तक पहुँचने का इरादा रखता है।

पीआईबी न्यूज पर्यावरण

दो नई चींटी प्रजातियों की खोज


जनवरी 2021 में शोध पत्रिका ‘जूकीज’ (ZooKeys) में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार भारत में दुर्लभ चीटी वंश की दो नई प्रजातियों की खोज की गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: केरल और तमिलनाडु में पाई गई चींटी वंश ‘उकेरिया’ (Ooceraea) की प्रजातियां इस दुलर्भ वंश की विविधता को बढ़ाती हैं। वे एंटेना सखंडों (antennal segments) की संख्या के आधार पर समान वंश की चींटियों से भिन्न हैं।

  • इनमें से एक केरल के ‘पेरियार बाघ अभयारण्य’ में पाई गई है, जिसका नाम भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) के एक स्वायतशासी संस्थान जवाहर लाल नेहरू एडवांस्ड साइंटिफिक रिसर्च सेंटर (जेएनसीएएसआर) के एक प्रख्यात विकासमूलक जीवविज्ञानी प्रोफेसर अमिताभ जोशी के सम्मान में ‘उकेरिया जोशी’ (Ooceraea joshii) रखा गया है।
  • अन्य चींटी का नाम 'उकेरिया डेकामरा' (Ooceraea decamera) (डेकामरा दस खंडों वाली एंटेना को संदर्भित करता है) है, जिसे मदुरै के अलगार्कोइल (Alagarkoil) से खोजा गया है।
  • ‘उकेरिया’ वंश का वर्तमान में प्रतिनिधित्व 14 प्रजातियों द्वारा किया जाता है, जिनमें से आठ के पास नौ सखंडित एंटिना होते हैं जबकि पांच के पास 11 सखंडित एंटिना और हाल ही में एक प्रजाति आठ सखंडित एंटिना के साथ रिपोर्ट की गई है।
  • भारत में अभी तक ‘उकेरिया’ वंश का प्रतिनिधित्व क्रमश: नौ और ग्यारह सखंडित एंटिना के साथ दो प्रजातियों द्वारा किया गया है। दस सखंडित एंटिना के साथ हाल ही में खोज की गई चींटी प्रजातियां एक पुरानी वंशावली को स्थापित करती हैं।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

ई-ईपीआईसी


भारतीय निर्वाचन आयोग ने 25 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर मतदाताओं के फोटो पहचान पत्र का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण 'ई-ईपीआईसी' e-EPIC (Elector Photo Identity Cards) लॉन्च किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: ई-वोटर कार्ड पीडीएफ प्रारूप में उपलब्ध है, जिसमें परिवर्तन (edit) नहीं किया जा सकता है।

  • आईडी कार्ड को मोबाइल फोन पर संग्रहीत किया जा सकता है और व्यक्तिगत कंप्यूटरों पर डाउनलोड किया जा सकता है। इन्हें डिजिटल लॉकर में भी सेव किया जा सकता है।
  • अप्रैल-मई में 5 राज्यों / केंद्र-शासित प्रदेशों पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में होने वाले चुनावों के समय मतदाता ई-वोटर कार्ड का इस्तेमाल मतदान के दिन कर सकेंगे।
  • डिजिटल कार्ड से मतदाता को हर बार प्रवास के कारण पते में बदलाव के कारण नया कार्ड प्राप्त करने की आवश्यकता समाप्त हो जाएगी। पारंपरिक 'मतदाता कार्ड’ का उपयोग जारी रहेगा।
  • विशेष सार संशोधन 2021 के दौरान विशिष्ट मोबाइल संख्या के साथ सिर्फ नए नामांकित मतदाता 25 जनवरी से 31 जनवरी 2021 तक ई-ईपीआईसी डाउनलोड कर सकते हैं। यह सुविधा 1 फरवरी, 2021 से अन्य सभी मतदाताओं को मिलने लगेगी।
  • जिन मतदाताओं ने अपना फोटो पहचान पत्र खो दिया है या क्षतिग्रस्त हो गया है, वे मुफ्त में डुप्लीकेट कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित स्थल

हरिपुरा


  • 23 जनवरी, 2021 को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती 'पराक्रम दिवस' के अवसर पर गुजरात के हरिपुरा में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया।
  • हरिपुरा का नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के साथ एक विशेष संबंध रहा है। 1938 के ऐतिहासिक हरिपुरा अधिवेशन में ही नेताजी बोस ने कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष पद संभाला था।
  • 23 जनवरी, 2009 को हरिपुरा से ‘ई-ग्राम विश्वग्राम परियोजना’ की शुरुआत की गई थी। इस पहल ने गुजरात के आईटी बुनियादी ढांचे में क्रांति ला दी और राज्य के सुदूरवर्ती भागों के गरीब लोगों को प्रौद्योगिकी का लाभ हुआ है।
  • हरिपुरा, गुजरात के सूरत जिले में कडोद शहर के पास स्थित एक गांव है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

पराक्रम दिवस


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 23 जनवरी, 2021 को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर कोलकाता में विक्टोरिया मेमोरियल में ‘पराक्रम दिवस’ के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता की।

  • इस अवसर पर नेताजी पर एक स्थायी प्रदर्शनी और एक प्रोजेक्शन मैपिंग शो का उद्घाटन किया गया।
  • प्रधानमंत्री द्वारा एक स्मारक सिक्का और डाक टिकट जारी किया गया। इसके साथ ही नेताजी पर आधारित एक सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘आमरा नूतोन जोउबोनेरी दूत’ का भी आयोजन किया गया।
  • केंद्र सरकार ने नेताजी के अदम्य साहस और राष्ट्र की निःस्वार्थ सेवा को सम्मान देने और याद करने के क्रम में नेताजी की जयंती 23 जनवरी को हर साल ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

राष्ट्रीय युवा महोत्सव 2021


इसका आयोजन हर वर्ष 12 से 16 जनवरी को किया जाता है। 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती है, जिसे राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

महोत्सव का विषय: युवा – उत्साह नये भारत का।

उद्देश्य: देश के युवाओं को अपनी प्रतिभा का परिचय देने के लिए एक साथ एक मंच पर लाना है; जहां एक लघु भारत का निर्माण करते हुए युवा औपचारिक और अनौपचारिक रूप से अपनी सामाजिक और सांस्कृतिक विशिष्टता पर विचारों का आदान-प्रदान करते हैं।

  • 24वां राष्ट्रीय युवा महोत्सव वर्चुअल माध्यम में आयोजित किया गया। यह महोत्सव युवा मामलों और खेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किसी एक राज्य सरकार के सहयोग से आयोजित किया जाता है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

अंतरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस


24 जनवरी

महत्वपूर्ण तथ्य: 3 दिसंबर 2018 को, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सर्वसम्मति के साथ शांति और विकास के लिए शिक्षा की भूमिका के जश्न में 24 जनवरी को अंतरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में घोषित करने का संकल्प अपनाया था।

  • सतत विकास लक्ष्य 4 के अंतर्गत 2030 तक 'समावेशी और समान गुणवत्ता वाली शिक्षा सुनिश्चित करना और सभी के लिए आजीवन सीखने के अवसरों को बढ़ावा देना' है।

सामयिक खबरें खेल क्रिकेट

बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2020-21


भारत ने 19 जनवरी, 2021 को ब्रिसबेन के गाबा मैदान पर ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट शृंखला के चौथे और अंतिम मैच में 3 विकेट से हराकर बार्डर-गावस्कर ट्राफी अपने पास बरकरार रखी है। भारत ने 328 रन का लक्ष्य हासिल कर ये जीत हासिल की और शृंखला 2-1 से अपने नाम की।

  • ये गाबा के मैदान पर 32 सालों में ऑस्ट्रेलिया की पहली हार थी। इस मैच में ऋषभ पंत ने दूसरी पारी में शानदार नाबाद 89 रन, शुभम गिल ने 91 और चेतेशवर पुजारा ने अर्द्धशतक बनाकर भारत को यादगार जीत दिलाई। ऋषभ पंत को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।
  • एडीलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हराया था। इस मैच की दूसरी पारी में भारतीय टीम मात्र 36 रन बनाकर आउट हो गई, जो अब तक का उसका सबसे न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में भारत का सबसे कम स्कोर 42 रन था।
  • मेलबर्न में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने 8 विकेट से जीत हासिल की थी। सिडनी में खेला गया तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था।
  • शृंखला में 21 विकेट लेने वाले ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस को ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ चुना गया।

सामयिक खबरें खेल क्रिकेट

'आईसीसी प्लेयर ऑफ द मंथ अवार्ड्स' की शुरुआत की घोषणा


  • 27 जनवरी, 2021 को दुबई में, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने 'आईसीसी प्लेयर ऑफ द मंथ अवार्ड्स' (ICC Player of the Month award) की शुरुआत की घोषणा की।
  • इस पुरस्कार के जरिये अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले पुरुष और महिला क्रिकेटरों को सम्मानित किया जाएगा।
  • सम्मानित किये जाने वाले खिलाडि़यों का चयन मतदान के जरिये किया जायेगा, जिसमें दुनिया भर के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी, पत्रकार और प्रसारक और क्रिकेट प्रेमी माह के सर्वश्रेष्ठ महिला और पुरूष क्रिकेटर का चयन करेंगे।

सामयिक खबरें बिजनेस और सार्वजनिक उपक्रम

बीईएल का भारतीय नौसेना के साथ डैजलर्स हेतु अनुबंध


  • भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) ने रेडिएशन डैजलर्स (लेजर डैजलर्स) (Laser Dazzlers) के तीव्र उत्सर्जन के माध्यम से 20 प्रकाश प्रवर्धन की प्रारंभिक आपूर्ति के लिए भारतीय नौसेना के साथ 31 दिसंबर, 2020 को नई दिल्ली में एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • लेजर डैजलर का उपयोग दिन और रात दोनों के दौरान सुरक्षित क्षेत्रों में प्रवेश करने आने वाले संदिग्ध वाहनों/नावों/हवाई जहाजों/यूएवी/समुद्री डाकुओं आदि को चेताने और रोकने के लिए एक गैर-घातक प्रणाली के तौर पर किया जाता है।
  • यह अपनी तीव्र चमक से विमान/यूएवी को भी विचलित कर देता है। यह आसानी से ले जाने में सक्षम (portable) है। लेजर डैजलर तकनीक को डीआरडीओ द्वारा विकसित किया गया है।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

बंधन बैंक शौर्य वेतन खाता


  • 5 जनवरी, 2021 को बंधन बैंक ने भारतीय सेना के साथ 'बंधन बैंक शौर्य वेतन खाते' के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • इस खाते के तहत सेना के सेवारत कर्मियों को बैंकिंग आउटलेट के बैंक नेटवर्क के माध्यम से सेवाएँ प्रदान की जाएंगी। खाता एक लाख से ऊपर की शेष राशि पर 6% ब्याज के साथ जीरो-बैलेंस सुविधा, असीमित मुफ्त एटीएम लेनदेन तथा शौर्य वीजा प्लेटिनल डेबिट कार्ड सहित कई सुविधाएँ प्रदान करेगा।
  • इसमें 30 लाख रुपये का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, एक करोड़ रुपये का हवाई दुर्घटना बीमा, खाताधारक की दुर्घटना में मौत होने पर आश्रित बच्चे को चार साल तक एक लाख रुपये सालाना की मुफ्त शिक्षा का लाभ शामिल है।

सामयिक खबरें राज्य राजस्थान

‘एक पौधा सुपोषित बेटी के नाम’ योजना


बेटियों के जन्म को एक उत्सव के रूप में मनाने तथा गर्भवती महिलाओं तथा बच्चों को पोषण के बारे में जागरूक करने के लिए राजस्थान के सिरोही जिले में 'एक पौधा सुपोषित बेटी के नाम योजना' शुरू की गयी है।

  • यह योजना केंद्र सरकार की 'बेटी बचाओ बेटी बढाओ योजना' के तहत सिरोही जिला प्रशासन द्वारा शुरू की गई है।
  • बालिका के जन्म पर इस योजना के तहत जिला प्रशासन द्वारा 'ड्रमस्टिक प्लांट' (drumstick plant) का वितरण किया जा रहा है। इस पोषक पौधे की देखभाल बालिकाओं के परिवार के सदस्यों द्वारा की जाती है।
  • इस योजना के तहत ब्लॉक और पंचायत स्तर पर पोषण उद्यान (nutrition garden) विकसित किए जायेंगे। इस योजना के तहत जल्द ही सामुदायिक स्तर के कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

सेना में परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि


22 जनवरी, 2021 को सेना में परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि (Treaty On The Prohibition Of Nuclear Weapons- TPNW) हुई है।

  • अब तक कुल 86 देशों ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किया है और 60 से अधिक देशों द्वारा मंजूरी दी गयी है, जो मौजूदा निरस्त्रीकरण उपायों जैसे- परमाणु अप्रसार संधि (Non-Proliferation Treaty- NPT) का पूरक है।
  • अब, परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि अंतरराष्ट्रीय क़ानून का एक हिस्सा है।

परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि (TPNW) के बारे में

  • परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि (TPNW) परमाणु हथियारों से मुक्त विश्व को प्राप्त करने के लिए लंबे और वैश्विक प्रयास में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

बुनियादी दायित्व

  • परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि (TPNW) राज्यों को परमाणु हथियार या अन्य परमाणु विस्फोटक उपकरणों के विकास, परीक्षण, उत्पादन, निर्माण, अधिग्रहण, रखने या रखने से प्रतिबंधित करता है।
  • हस्ताक्षरकर्ताओं को परमाणु हथियार और अन्य परमाणु विस्फोटक उपकरणों को स्थानांतरित करने या प्राप्त करने से रोक दिया जाता है, इसके साथ-साथ संधि के तहत निषिद्ध गतिविधियों के साथ कोई सहायता और ऐसे हथियारों पर नियंत्रण पर रोक लगाई जाती है।
  • राज्यों को परमाणु हथियार और अन्य परमाणु विस्फोटक उपकरणों का उपयोग करने या धमकी देने से भी रोक दिया जाता है।
  • राज्यों को अपने क्षेत्र में परमाणु हथियारों और अन्य परमाणु विस्फोटक उपकरणों को तैनात करने, स्थापना या तैनाती की अनुमति नहीं दे सकते हैं।
  • राज्यों को पीड़ितों को सहायता प्रदान करने और पर्यावरण को सुदृढ़ करने के प्रयासों में मदद करने के लिए बाध्य किया जाता है।

घटनाक्रम

  • न्यूयॉर्क में अपनाया गया: 7 जुलाई 2017
  • न्यूयॉर्क में हस्ताक्षर के लिए स्वीकृति: 20 सितंबर 2017
  • सेना में प्रवेश: 22 जनवरी 2021

परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि में शामिल नहीं होने वाले प्रमुख देश (Major Non-Parties to TPNW)

  • भारत: भारत न तो कोई पक्ष है और न ही संधि का समर्थन करता है। भारत ने TPNW पर वार्ता में भाग नहीं लिया और लगातार यह स्पष्ट किया है कि यह संधि का पक्ष नहीं बनेगा। भारत ऐसा कोई भी बाध्य नहीं होना चाहता जो इससे उत्पन्न हो। भारत का मानना है कि यह संधि प्रथागत अंतरराष्ट्रीय क़ानून के विकास में योगदान नहीं करती है, न ही यह कोई नया मानक या मानदंड निर्धारित करता है।
  • अन्य परमाणु-हथियार वाले राज्य: परमाणु हथियार वाले राज्यों (संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, भारत, पाकिस्तान, उत्तर कोरिया और इजरायल) में से कोई भी राज्य परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि (TPNW) का पक्षकार नहीं हैं।
  • नाटो (NATO): नाटो ने संधि का समर्थन करने से इनकार कर दिया है।
  • जापान: एकमात्र राज्य जो वास्तव में एक परमाणु हथियार हमले से पीड़ित है, यह भी संधि से अलग हो गया, हालांकि यह पूर्ण निरस्त्रीकरण के लिए प्रतिबद्ध है।

एनपीटी - वह संधि जो अभी भी अधर में लटकी हुई है

  • वर्ष 2017 के परमाणु हथियारों के निषेध पर संधि (TPNW) को वर्ष 1968 के परमाणु अप्रसार संधि (Non-Proliferation Treaty- NPT) के अघोषित निरस्त्रीकरण स्तंभ को बड़े पैमाने पर मज़बूत करने के उद्देश्य से लायी गई थी।
  • परमाणु हथियारों के अप्रसार की संधि (Treaty on the Non-Proliferation of Nuclear Weapons), जिसे आमतौर पर परमाणु अप्रसार संधि (Non-Proliferation Treaty- NPT) के नाम से जानते हैं एक अंतर्राष्ट्रीय संधि है जिसका उद्देश्य परमाणु हथियारों और हथियारों की तकनीकी के प्रसार को रोकना, परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग में सहयोग को बढ़ावा देना और परमाणु निरस्त्रीकरण और सामान्य और पूर्ण निरस्त्रीकरण को प्राप्त करने के लक्ष्य को आगे बढ़ाना है।

एनपीटी को अभी भी क्यों लागू नहीं किया गया है?

  • एनपीटी की दोषपूर्ण प्रकृति, जो दुनिया को परमाणु हथियार रखने वाले और नहीं रखने वाले देशों में बांटती है।
  • सुरक्षा दुविधा जो परमाणु हथियारों की दौड़ की ओर ले जाती है (जैसा कि भारत और पाकिस्तान परमाणु हथियार विकसित करने के मामले में)।
  • परमाणु हथियारों के अधिपत्य से अंतरराष्ट्रीय शासन और सुरक्षा की भावना में अधिक प्रतिष्ठा और सम्मान की धारणा (अक्सर सच)।
  • परमाणु हथियार रखने वाले देशों की पूर्ण समय-सीमा वाले परमाणु निरस्त्रीकरण की ओर बढ़ने की अनिच्छा।

भारत एनपीटी (NPT) के लिए हस्ताक्षरकर्ता क्यों नहीं?

  • एनपीटी ने संधि पर हस्ताक्षर करने के बाद अपने हथियारों को बनाए रखने के लिए 1 जनवरी, 1967 से पहले केवल उन पांच देशों को परमाणु हथियार बनाने और विस्फोट करने की अनुमति दी।
  • भारत इस भेदभावपूर्ण निरस्त्रीकरण नीति का विरोध करता है और परमाणु हथियारों के पूर्ण प्रतिबंध के लिए तर्क देता है और इसलिए, अभी भी एनपीटी का हस्ताक्षरकर्ता नहीं है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

श्रमशक्ति


केन्द्रीय जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा ने 22 जनवरी, 2021 को गोवा के पंजिम में आयोजित एक कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एक राष्ट्रीय प्रवासन सहायता पोर्टल ‘श्रमशक्ति’ (Shramshakti) का शुभारंभ किया।

  • यह पोर्टल प्रभावी तरीके से प्रवासी श्रमिकों के लिए राज्य और राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रमों के सुचारू रूप से निर्माण में मदद करेगा।
  • आदिवासी प्रवासन रिपॉजिटरी ‘श्रमशक्ति’डेटा से संबंधित अंतर को दूर करने और उन प्रवासी श्रमिकों को सशक्त बनाने में सफल होगी, जो आम तौर पर रोजगार और आय की तलाश में पलायन करते हैं।
  • श्रमशक्ति के जरिए दर्ज किए जाने वाले विभिन्न डेटा में जनसांख्यिकीय खाका, आजीविका विकल्प, कौशल संबंधी चित्रण और प्रवासन के रुझान से जुड़े विवरण शामिल होंगे।
  • उन्होंने गोवा में एक ‘आदिवासी प्रवासन प्रकोष्ठ’, एक ‘आदिवासी संग्रहालय’ और प्रवासी श्रमिकों के लिए एक प्रशिक्षण पुस्तिका ‘श्रमसाथी’ का भी शुभारंभ किया।
  • प्रवासी श्रमिकों की विभिन्न समस्याओं को हल करने के उद्देश्य से एक समर्पित प्रवासन प्रकोष्ठ स्थापित करने वाला ‘गोवा’ भारत का पहला गंतव्य राज्य बनने जा रहा है।

पीआईबी न्यूज पर्यावरण

वायु गुणवत्ता प्रबंधन हेतु निर्णय सहायता प्रणाली


जनवरी 2021 में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) और उसके आसपास के इलाकों के लिए गठित वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने एक निर्णय सहायता प्रणाली (Decision Support System) स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, जिसमें एक वेब और जीआईएस के साथ-साथ मल्टी-मॉडल आधारित संचालन एवं नियोजन निर्णय सहायता टूल भी होगा।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह टूल विभिन्न स्रोतों से होने वाले उत्सर्जन के स्थिर और इधर-उधर फैलने वाले धूल कण, इत्यादि का पता लगाने में काफी मददगार साबित होगा।

  • इसके तहत कवर किए जाने वाले स्रोतों में उद्योग, परिवहन, बिजली संयंत्र, आवासीय, डीजी सेट, सड़कों पर मौजूद धूल कण, पराली जलाना, इनके जलाने के बाद बचे अवशेषों, निर्माण गतिविधि से उत्पन्न धूल, अमोनिया, वाष्पशील कार्बनिक यौगिक, अपशिष्ट भरावक्षेत्र या लैंडफिल आदि शामिल होंगे।
  • इसमें रासायनिक परिवहन मॉडल का इस्तेमाल कर मुख्य और गौण दोनों ही तरह के प्रदूषक तत्वों से निपटने के लिए एक एकीकृत फ्रेमवर्क होगा।
  • यह प्रणाली इस फ्रेमवर्क की मदद से स्रोत-विशिष्ट उपायों का उपयोग करने में भी सक्षम होगी, ताकि इन उपायों के लाभों का आकलन किया जा सके।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

एफएसएसएआई ने घटाई खाद्य पदार्थों में ट्रांस फैट की सीमा


जनवरी 2021 में, भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) द्वारा खाद्य सुरक्षा और मानक (बिक्री पर रोक एवं प्रतिबंध) विनियम [Food Safety and Standards (Prohibition and Restriction on Sales) Regulations] में संशोधन करते हुए तेल और वसा में ट्रांस फैटी एसिड (Trans Fatty Acids -TFA) की मात्रा वर्ष 2021 के लिए 3% और वर्ष 2022 में 2% तक निर्धारित की गयी है। वर्तमान में, खाद्य पदार्थो में ट्रांस फैटी एसिड का अनुमेय स्तर 5% है।

महत्वपूर्ण तथ्य: संशोधित विनियमन रिफाइंड खाद्य तेलों, वनस्पति (आंशिक रूप से हाइड्रोजनीकृत तेल), मार्जरीन (कृत्रिम मक्खन), बेकरी से संबंधित वस्तुओं तथा खाना पकाने में प्रयुक्त होने वाले अन्य माध्यमों जैसे कि वनस्पति वसा और मिश्रित वसा पर लागू होंगे।

  • ट्रांस फैट्स का संबंध दिल के दौरा पड़ने संबंधी जोखिम में वृद्धि और हृदय रोग से होने वाली मौतों से होता है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, औद्योगिक रूप से उत्पादित ट्रांस फैटी एसिड के सेवन से वैश्विक स्तर पर प्रतिवर्ष लगभग 4 लाख मौतें होती हैं। WHO द्वारा वर्ष 2023 तक ट्रांस फैट्स के वैश्विक उन्मूलन का आह्वान किया गया है।

ट्रांस फैट: ट्रांस फैट, या ट्रांस-फैटी एसिड, असंतृप्त फैटी एसिड होते हैं। ये शरीर के लिए सबसे हानिकारक प्रकार के वसा होते हैं।

  • इस वसा को अधिकांशतः कृत्रिम रूप से निर्मित किया जाता है, हालंकि, कुछ मात्रा में प्राकृतिक रूप से ट्रांस फैट जुगाली करने वालों पशुओं (गायों और भेड़ों) में मिलता है।
  • कृत्रिम ट्रांस फैटी एसिड (TFAs) को हाइड्रोजन तथा वनस्पति तेल की अभिक्रिया कराने पर उत्पादित किया जाता है।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

सुंदरबन बायोस्फीयर रिजर्व के पक्षी


जनवरी 2021 में भारतीय प्राणी-विज्ञान सर्वेक्षण (ZSI) के 'सुंदरबन बायोस्फीयर रिजर्व के पक्षी' (Birds of the Sundarban Biosphere Reserve) प्रकाशन के अनुसार दुनिया के सबसे बड़े मैन्ग्रोव वन का हिस्सा ‘भारतीय सुंदरबन’ पक्षियों की 428 प्रजातियों का पर्यावास स्थल है।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह प्रकाशन न केवल सुंदरबन के पक्षी समूह का दस्तावेज है, बल्कि क्षेत्र के लिए एक व्यापक फोटोग्राफिक क्षेत्रीय मार्गदर्शक के रूप में भी कार्य करता है।

  • वैज्ञानिकों ने सूचीबद्ध 428 पक्षियों के बारे में कहा, कुछ, जैसे ‘नकाबपोश फिनफुट’ (masked finfoot) और ‘बफी फिश आउल’ (Buffy fish owl) केवल सुंदरबन से रिकॉर्ड किए गए हैं।
  • यह क्षेत्र देश में पाए जाने वाले किंगफिशर की 12 प्रजातियों में से नौ प्रजातियों के साथ-साथ गोलियत बगुला (Goliath heron) तथा चम्मच जैसी चोंच वाली टिटहरी (spoon-billed sandpiper) जैसी दुर्लभ प्रजातियों का पर्यावास स्थल है।
  • 4,200 वर्ग किमी. में फैले भारतीय सुंदरबन में 2,585 वर्ग किमी. का सुंदरबन टाइगर रिजर्व शामिल है।
  • सुंदरबन प्राकृतिक परिदृश्य में सबसे विविध हैं और देश के कुल मैंग्रोव वनों का लगभग 60% है। 2020 में अंतिम गणना के अनुसार यह लगभग 96 रॉयल बंगाल टाइगर्स का वास स्थल है।
  • यह यूनेस्को विश्व विरासत स्थल के साथ ही रामसर स्थल भी है। यह 4,23,000 हेक्टेयर क्षेत्र के साथ देश में सबसे बड़ी संरक्षित आर्द्रभूमि है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

निर्वाचन आयोग का वेब रेडियो: 'हैलो वोटर्स'


भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 25 जनवरी, 2021 को 11वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर निर्वाचन आयोग के वेब रेडियो: 'हैलो वोटर्स' (ECI’s Web Radio:‘Hello Voters’) का शुभारंभ किया और वर्ष 2020-21 के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किए।

  • निर्वाचन आयोग का वेब रेडियो: 'हैलो वोटर्स' ऑनलाइन डिजिटल रेडियो सेवा है, जो मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों को प्रसारित करेगी। यह भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर एक लिंक के माध्यम से उपलब्ध होगा।
  • रेडियो ‘हैलो वोटर्स’ के कार्यक्रम की शैली लोकप्रिय एफएम रेडियो सेवाओं के अनुरूप परिकल्पित की गई है।
  • यह देश भर में हिंदी, अंग्रेजी और क्षेत्रीय भाषाओं में गीत, नाटक, परिचर्चा, स्पॉट, चुनाव संबंधी खबरों आदि के जरिये मतदाताओं को चुनाव प्रक्रिया की जानकारी एवं शिक्षा प्रदान करेगा।

सर्वश्रेष्ठ चुनावी प्रथाओं के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार: राज्य और जिला स्तर के अधिकारियों को विभिन्न क्षेत्रों जैसे आईटी पहल, सुरक्षा प्रबंधन, कोविड-19 के दौरान चुनाव प्रबंधन, सुलभ चुनाव और मतदाता जागरूकता एवं आउटरीच के क्षेत्र में योगदान जैसे कार्यों में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया गया।

  • मतदाताओं की जागरूकता में बहुमूल्य योगदान के लिए राष्ट्रीय हस्तियों और मीडिया समूह जैसे महत्वपूर्ण हितधारकों को भी राष्ट्रीय पुरस्कार दिए गए।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

राष्ट्रीय बालिका दिवस


24 जनवरी

2021 का अभियान/विषय: ‘देश की बेटी’ (#DeshKiBeti)

महत्वपूर्ण तथ्य: यह दिवस महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की पहल है। राष्ट्रीय बालिका दिवस के आयोजन का उद्देश्य देश की बालिकाओं को हर सहयोग और अवसर उपलब्ध कराना है। इसका लक्ष्य बालिकाओं के अधिकारों के बारे में जागरूकता फैलाने और बालिकाओं की शिक्षा, उनके स्वास्थ्य व पोषण के महत्व को लेकर जागरूकता फैलाना भी है।

  • 21 से 26 जनवरी, 2021 तक ‘राष्ट्रीय बालिका सप्ताह’ भी मनाया गया।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

11वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस


25 जनवरी

2021 का विषय/अभियान: 'मतदाताओं को सशक्त, सतर्क, सुरक्षित और जानकार बनाना' (Making Our Voters Empowered, Vigilant, Safe and Informed)।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस वर्ष 11वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया गया। भारतीय निर्वाचन आयोग के स्थापना दिवस यानी 25 जनवरी, 1950 के उपलक्ष्य में 2011 से हर साल 25 जनवरी को देश भर में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है।

  • इस दिवस का मुख्य उद्देश्य मतदाताओं को प्रोत्साहित करना, उन्हें सुविधा प्रदान करना और विशेषकर नए मतदाताओं के लिए अधिकतम नामांकन करना है।

सामयिक खबरें राज्य

नि:शुल्क कोचिंग सुविधा 'अभ्युदय'


24 जनवरी, 2021 को उत्तर प्रदेश के 71वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अगले महीने से एक महत्वाकांक्षी, राज्यव्यापी, नि:शुल्क कोचिंग सुविधा 'अभ्युदय' (ABHYUDAYA) शुरू करने की घोषणा की।

  • राज्य सरकार विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे JEE, NEET, NDA, CDS और UPSC की तैयारी करने वाले छात्रों को मुफ्त कोचिंग प्रदान करेगी।
  • नि:शुल्क कोचिंग सुविधा कार्यक्रम 'अभ्युदय' बसंत पंचमी से शुरू होगा। पहले चरण में, यह राज्य के 18 मंडल मुख्यालयों में शुरू होगा, जहां विद्यार्थी कोचिंग सेंटर में उपस्थित होने के साथ घर बैठे भी वर्चुअल कोचिंग प्राप्त कर सकेंगे।
  • कोचिंग के लिये अधिकारी भी अपना समय देंगे और विशेषज्ञों को भी वहां तैनात किया जाएगा। अभ्युदय कोचिंग सेंटरों के लिए सरकारी स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के बुनियादी शिक्षण ढांचे का उपयोग किया जाएगा।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

घरेलू प्रणालीगत रूप से महत्त्वपूर्ण बैंक


भारतीय रिजर्व बैंक ने 19 जनवरी, 2021 को ‘घरेलू प्रणालीगत रूप से महतवपूर्ण बैंक’ (डी--एसआईबी) (Domestic Systemically Important Banks- D-SIB) की अद्यतन सूची जारी की ।

  • आरबीआई ने सार्वजनिक क्षेत्र के भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक और आईसीआईसीआई बैंक को घरेलू प्रणालीगत रूप से महत्त्वपूर्ण बैंक (डी-एसआईबी) अथवा संस्थान के रूप में बरकरार रखा है अर्थात ये इतने विशाल हैं कि इन्हें असफल नहीं होने दिया जा सकता है (Too Big To Fail)। वर्तमान अपडेट 31 मार्च, 2020 तक बैंकों से एकत्र किए गए आंकड़ों पर आधारित है।
  • इस सूची में शामिल होने वाले बैंकों पर RBI कड़ी नजर रखता है। इसका मकसद वित्तीय तंत्र को ढहने से बचाना है।
  • आरबीआई ने 2015 में एसबीआई और 2016 में आईसीआईसीआई बैंक और 2017 में बाद में एचडीएफसी बैंक को भी इस सूची में शामिल किया था।
  • रिजर्व बैंक ने प्रणालीगत तौर पर महत्वपूर्ण बैंकों के बारे में व्यवस्था को जुलाई 2014 में जारी किया था।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय पर्यावरण

जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन - 2021


नीदरलैंड सरकार ने 25 और 26 जनवरी, 2021 को ऑनलाइन अंतरराष्ट्रीय जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन (CAS Online) आयोजित किया।

  • ऑनलाइन जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन का आयोजन जलवायु आपातकाल के लिए अग्रणी समाधानों और जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (United Nations Framework Convention on Climate Change-UNFCCC)के विभिन्न देशों के साथ सम्मेलन का 26वें सत्र (26th session of the Conference of the Parties- COP26) के माध्यम से ‘संयुक्त राष्ट्र जलवायु कार्यवाही शिखर सम्मेलन' (UN Climate Action Summit)की प्रगति बनाये रखने के लिए किया गया।

जलवायु परिवर्तन अनुकूलन क्या है?

  • जलवायु परिवर्तन अनुकूलन वास्तविक या अपेक्षित जलवायु और उसके प्रभावों के जवाब में पारिस्थितिक, सामाजिक या आर्थिक प्रणालियों में समायोजन को संदर्भित करता है। यह प्रक्रियाओं, प्रथाओं और संरचनाओं में परिवर्तन के लिए संभावित नुकसान को कम करने या जलवायु परिवर्तन से जुड़े अवसरों से लाभ प्राप्त करने के लिए संदर्भित करता है।

संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन शासन के तहत अनुकूलन चक्र

जलवायु परिवर्तन अनुकूलन की आवश्यकता

  • चूंकि जलवायु परिवर्तन मौसम की चरमसीमा की आवृत्ति और तीव्रता में वृद्धि करता है, अतः एक प्रभावी प्रारंभिक चेतावनी और प्रारंभिक कार्रवाई की आवश्यकता की अनिवार्यता होती है।
  • विश्व मौसम विज्ञान संगठन के अनुसार, पिछले 50 वर्षों में मौसम, जलवायु और पानी से संबंधित ख़तरों के कारण 11,000 से अधिक आपदाएं हुई हैं, जिसका कुल हर्ज़ाना तकरीबन $3.6 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर है।
  • मौसम की पराकाष्ठा और जलवायु से संबंधित ख़तरों के चलते पिछले दशक में 410,000 से अधिक लोगों को जान गँवानी पड़ी, इनमें से बहुतायत ग़रीब और ग़रीब–मध्यम वर्ग वाले देश के नागरिक थें।
  • हालांकि वैश्विक मृत्यु दर गिरी है, इसके बावजूद ग़रीब देशों में मृत्यु दर अनुपातहीन रूप से उजागर हुआ है।
  • तीन में से एक व्यक्ति अभी भी प्रारंभिक चेतावनी प्रणालियों द्वारा पर्याप्त रूप से कवर नहीं किया गया है, और जोख़िम-सूचित प्रारंभिक दृष्टिकोण आवश्यक पैमाने पर उपलब्ध नहीं हैं। इन नुकसानों को कम करने में मदद करने के लिए प्रारंभिक चेतावनी प्रणालियों द्वारा पूर्ण वैश्विक कवरेज सुनिश्चित करने के लिए एक साथ काम करने की आवश्यकता है।

शिखर सम्मेलन में भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन 2021 को संबोधित किया और जलवायु अनुकूलन की दिशा में भारत के दृष्टिकोण और प्रयासों को अभिव्यक्त किया:

  • जलवायु अनुकूलन पहले की तुलना में आज अत्यंत महत्वपूर्ण है, यह भारत के विकास के प्रयासों का एक प्रमुख तत्व है।
  • स्वच्छ ऊर्जा: भारत वर्ष 2030 तक 450 ज़ीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को लक्षित कर रहा है।
  • स्वच्छ ईंधन: भारत 80 मिलियन ग्रामीण परिवारों को खाना पकाने के लिए स्वच्छ ईंधन प्रदान कर रहा है।
  • स्वच्छ जल: भारत 64 मिलियन घरों को पाइप जलापूर्ति से जोड़ रहा है।
  • CO2उत्सर्जन में कमी: भारत एलईडी रोशनी को बढ़ावा दे रहा है और सालाना 38 मिलियन टन कार्बन डाइ ऑक्साइड उत्सर्जन को बचा रहा है।
  • पेरिस समझौता: भारत न केवल अपने पेरिस समझौते के लक्ष्यों को पूरा करेगा, बल्कि उसे आगे बढ़ाएगा।
  • पर्यावरणीय विचलन का उलटा: भारत न केवल पर्यावरणीय गिरावट को गिरफ्तार करेगा बल्कि इसे उलट देगा। भारत वर्ष 2030 तक 26 मिलियन हेक्टेयर ख़राब भूमि को पुनर्स्थापित (हरा-भरा) करने जा रहा है।
  • नई क्षमताओं का निर्माण: भारत न केवल नई क्षमताओं का निर्माण करेगा, बल्कि उन्हें वैश्विक रूप से प्रसार के लिए एक एजेंट भी बनाएगा।
  • मान्यताएं: हमारा प्राचीन ग्रंथ यजुर्वेद हमें सिखाता है कि ग्रह पृथ्वी के साथ हमारा रिश्ता एक माँ और उसके बच्चे का है। अगर हम धरती माता का ध्यान रखेंगे, तो वह हमारा पालन-पोषण करती रहेगी।
  • जीवन शैली: जलवायु परिवर्तन के अनुकूल होने के लिए, हमारी जीवनशैली को भी इसी आदर्श के साथ अनुकूल होना चाहिए। इस भावना को हमारे आगे बढ़ने के लिए मार्गदर्शन करना चाहिए।

अनुकूलन क्रिया गठबंधन (Adaptation Action Coalition): एक नई वैश्विक जलवायु कार्रवाई गठबंधन

  • यूनाइटेड किंगडम के प्रधानमंत्री बोरिस जोनसन एक नए अंतर्राष्ट्रीय गठबंधन की घोषणा की है जिसका नाम अनुकूलन क्रिया गठबंधन (Adaptation Action Coalition) है। इसका गठन जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से निपटने के लिए किया गया है।
  • नीदरलैंड में आयोजित जलवायु अनुकूलन शिखर सम्मेलन, सर्व-प्रथम वैश्विक शिखर सम्मेलन है जो पूरी तरह से अनुकूलन और लचीलेपन पर केंद्रित था।
  • अनुकूलन क्रिया गठबंधन यूके द्वारा तैयार किया गया जिसमें मिस्र, बांग्लादेश, मलावी, नीदरलैंड्स, सेंट लूसिया और संयुक्त राष्ट्र के साथ साझेदारी है।
  • नए गठबंधन का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र कॉल फॉर एक्शन ऑन एडेप्टेशन एंड रेजिलिएंस (United Nations Call for Action on Adaptation and Resilience) के माध्यम से कमज़ोर समुदायों को ज़मीनी सहायता प्रदान करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय राजनीतिक प्रतिबद्धताओं को शुरू करने के लिए कार्य करना है।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

स्‍मार्ट एंटी एयरफील्‍ड वेपन


डीआरडीओ ने 21 जनवरी, 2021 को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (Hindustan Aeronautics Limited- HAL) के हॉक-I विमान के जरिए स्वदेश में निर्मित ‘स्मार्ट एंटी एयरफील्ड वेपन’ (Smart Anti-Airfield Weapon- SAAW) का ओडिशा तट से कुछ दूर सफल ‘कैप्टिव एंड रिलीज’ उड़ान परीक्षण किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस स्मार्ट वेपन का HAL में निर्मित ‘भारतीय हॉक-एमके132 विमान’ (Indian Hawk-Mk132) से सफलतापूर्वक प्रायोगिक परीक्षण किया गया।

  • डीआरडीओ द्वारा अब तक किए गए सफल परीक्षणों की शृंखला में SAAW का यह परीक्षण नौवां था।
  • स्मार्ट एंटी एयरफील्ड वेपन का डिजाइन और विकास डीआरडीओ के हैदराबाद स्थित ‘रिसर्च सेंटर इमारत’ (Research Centre Imarat- RCI) द्वारा स्वेदशी तौर पर किया गया है।
  • यह 125 किलोग्राम वजन श्रेणी का स्मार्ट वेपन है, जो कि स्थल पर शत्रु की एयरफील्ड सम्पत्तियों जैसे- रडार, बंकर, टैक्सी ट्रैक और रनवे को 100 किलोमीटर की दूरी से निशाना बना सकता है।
  • इसका उच्च सटीकता वाला निर्देशित बम भी इस श्रेणी की अन्य हथियार प्रणालियों की तुलना में कम वजन का है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

पोटाश की सोल्यूशन माइनिंग तकनीक


22 जनवरी, 2021 को राजस्थान में पोटाश की खास खनन तकनीक यानी सोल्यूशन माइनिंग (Solution Mining of Potash) का व्यावहारिक अध्ययन करने के लिए मिनरल एक्सप्लोरेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एमईसीएल), राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स लिमिटेड (आरएसएमएमएल) और राजस्थान सरकार के खान एवं भू-विज्ञान विभाग के बीच एक त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस समझौता ज्ञापन से सोल्यूशन माइनिंग के माध्यम से राज्य की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा तथा राज्य देश के पहले पोटाश सोल्यूशन माइनिंग के एक केंद्र के रूप में स्थापित होगा।

  • राजस्थान के उत्तर-पश्चिम भाग में नागौर-गंगानगर बेसिन में 50,000 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैले पोटाश और सेंधा नमक (Halite) के विशाल भंडार हैं।
  • संस्तरित नमक (Bedded Salt) निर्माण भूमिगत तेल भंडारण, हाइड्रोजन, अमोनिया और हीलियम गैस के लिए भंडारण, संपीड़ित गैस और परमाणु कचरे के भंडारण के लिए उपयोगी है।
  • संस्तरित नमक से पोटाश और सोडियम क्लोराइड का क्रमश: उर्वरक उद्योग तथा रासायनिक उद्योग में बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है।
  • पोटाश खनिज ‘पोटेशियम’ (K) के उर्वरक रूप का एक सामान्य नाम है, जो प्रकृति में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। यह नाम धातु के बर्तनों (Pot) में लकड़ी की राख (ash) के संग्रह से उस समय निकला है, जब इस सामग्री के लाभदायक उर्वरकों को पहली बार कई शताब्दियों पहले पहचाना गया था।

सोल्यूशन माइनिंग: यह पोटाश, या अन्य घुलनशील उत्पादों के उत्पादन को संदर्भित करता है, जिसमें पानी को भूमिगत नमक या पोटाश के जमाव में पंप करके घोला जाता है, और लवणीय जल को सतह पर लाकर सुखाकर आगे उपयोग किया जाता है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

आरबीआई द्वारा डिजिटल उधार पर कार्यदल का गठन


भारतीय रिजर्व बैंक ने 13 जनवरी, 2021 को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म और मोबाइल ऐप के माध्यम से ऋण देने सहित डिजिटल उधार पर एक कार्य दल का गठन किया है। कार्य दल को तीन महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: समिति के सदस्यों में RBI के चार अधिकारी और दो बाहरी विशेषज्ञ शामिल हैं। इसका नेतृत्व आरबीआई के कार्यकारी निदेशक जयंत कुमार दाश करेंगे।

कार्यक्षेत्र की शर्तें: आरबीआई द्वारा विनियमित संस्थाओं में डिजिटल उधार गतिविधियों का मूल्यांकन करना और आउटसोर्स डिजिटल ऋण गतिविधियों की पैठ और मानकों का आकलन करना;

  • वित्तीय स्थिरता, विनियमित संस्थाओं और उपभोक्ताओं को अनियमित डिजिटल ऋण द्वारा उत्पन्न जोखिमों की पहचान करना;
  • डिजिटल ऋण देने की क्रमिक वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए विनियामक परिवर्तन, यदि कोई हो, का सुझाव देना;
  • विशिष्ट विनियामक या सांविधिक परिधि के विस्तार के लिए उपाय सुझाना, यदि कोई हो, और विभिन्न नियामक और सरकारी एजेंसियों की भूमिका का सुझाव देना;
  • डिजिटल ऋण देने वाले आंतरिक स्त्रोत या बाहरी स्त्रोत के लिए एक मजबूत उचित व्यवहार संहिता की सिफारिश करना;
  • उपभोक्ता संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए उपाय सुझाना; तथा
  • डिजिटल उधार सेवाओं के नियोजन के लिए मजबूत डाटा प्रशासन, डाटा गोपनीयता और डाटा सुरक्षा मानकों के लिए उपायों की सिफारिश करना।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित व्यक्ति

श्री नारायण गुरु


उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने 22 जनवरी, 2021 को प्रो. जी. के. शशिधरन द्वारा श्री नारायण गुरु की कविताओं के अंग्रेजी अनुवाद ‘नॉट मेनी, बट वन’ (Not Many, But One) (दो संस्करण) की हुई पुस्तक का वर्चुअल माध्यम में विमोचन किया।

  • श्री नारायण गुरु (1854 - 1928) केरल के एक दार्शनिक, आध्यात्मिक नेता और समाज सुधारक थे।
  • वे मंदिर प्रवेश आंदोलन में सबसे अग्रणी थे और अछूतों के सामाजिक भेदभाव के खिलाफ थे। कट्टरपंथियों के विरोध के बीच एक शिव मूर्ति का अभिषेक करते हुए, उन्होंने ‘वैकोम आंदोलन’ को गति प्रदान की।
  • नारायण गुरु के अनुसार “सभी के लिए केवल एक जाति, एक धर्म, एक ईश्वर है” (ओरु जति, ओरु माथम, ओरु दैवम, मानुष्यानु)। इस दर्शन ने उनके सुधार आंदोलनों का आधार तैयार किया, जिसमें असमानताओं और सामाजिक विकृतियों को दूर करने की कोशिश की गई।
  • 1914 में श्री नारायण गुरु द्वारा मलयालम में ‘दैव दसकम' या 'टेन वर्सेज टू गॉड' (Ten Verses to God) का लेखन किया गया।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

लोकप्रिय भजन गायक नरेंद्र चंचल का निधन


लोकप्रिय भजन गायक नरेंद्र चंचल का 22 जनवरी, 2021 को नई दिल्ली में निधन हो गया। वे 80 वर्ष के थे।

  • चंचल अपने धार्मिक गीतों और भजनों के लिए जाने जाते थे। अपने करियर के एक बड़े हिस्से में लाइव इवेंट में परफॉर्म करने के अलावा, चंचल के गाने जैसे 'अवतार' फिल्म का 'चलो बुलावा आया है' और 'बॉबी' फिल्म का 'बेशक मंदिर मस्जिद तोड़ो' काफी लोकप्रिय हुए।
  • उन्होंने बॉबी के लिए 'सर्वश्रेष्ठ पुरुष गायक का फिल्मफेयर पुरस्कार' भी जीता था।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

एमएएससीआरएडीई 2021


केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 21जनवरी, 2021 को 'फिक्की कास्केड' (FICCI Cascade) द्वारा 'तस्करी किए गए और फर्जी व्यापार के खिलाफ आंदोलन' विषय पर आयोजित 'एमएएससीआरएडीई 2021' (MASCRADE 2021) के 7वें संस्करण का उद्घाटन किया।

उद्देश्य: विशेष रूप से कोविड युग के बाद जालसाजी और तस्करी की चुनौतियों को कम करने के लिए नई और व्यावहारिक रणनीतियों पर एक स्वस्थ चर्चा को बढ़ावा देना।

  • भारत सरकार ने नकली दवाओं के खतरे की जाँच करने के लिए औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम, 1940 में औषधि एवं प्रसाधन सामग्री (संशोधन) अधिनियम, 2008 के तहत संशोधन किया गया था।
  • इस कानून के अनुसार, अगर किसी भी दवा को मिलावटी या नकली माना जाता है, तो अपराधी व्यक्ति को न्यूनतम 10 वर्ष के कारावास का सामना करना पड़ सकता है, जिसे आजीवन कारावास में बदला जा सकता है।
  • शीघ्र निपटान के लिए औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम के तहत अपराधों की सुनवाई के लिए ‘विशेष न्यायालयों’ की स्थापना की गई है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप युद्धाभ्यास/सैन्य अभियान

भारत - फ्रांस वायुसैनिक अभ्यास डेजर्ट नाइट -21


भारतीय वायु सेना और फ्रांसीसी वायु एवं अंतरिक्ष सेना ‘आर्मी डी’एर एट डी'स्पेस’ (Armée de l’Air et de l’Espace) ने 20 से 24 जनवरी, 2021 तक जोधपुर के वायु सेना स्टेशन पर आयोजित एक द्विपक्षीय वायु अभ्यास ‘डेजर्ट नाइट-21’ (Desert Knight-21) में हिस्सा लिया।

उद्देश्य: परस्पर व्यवहार को बढ़ाने के लिए विचारों एवं सर्वोत्तम प्रक्रियाओं का आदान-प्रदान करना।

  • इस अभ्यास में दोनों ही देशों की वायु सेनाओं में राफेल विमान शामिल था और यह दो प्रमुख वायु सेनाओं के बीच बढ़ते हुए सहयोग का संकेत है।
  • मौजूदा समय में डेजर्ट नाइट -21 अभ्यास के लिए फ्रांसीसी टुकड़ी एशिया में अपने 'स्काईरोस डिप्लॉयमेंट' (Skyros Deployment) के हिस्से के रूप में तैनात है।
  • भारत और फ्रांस के बीच रक्षा सहयोग के हिस्से के रूप में, भारतीय वायु सेना और फ्रांसीसी एवं अंतरिक्ष सेना ने मिलकर 'गरुड़' नाम के वायुसैनिक अभ्यास के छ: संस्करणों का आयोजन किया है। आखिरी 'गरुड़' अभ्यास जुलाई 2019 में फ्रांस के ‘मोंट-द-मारसन एयरबेस’ में आयोजित किया गया था।

सामयिक खबरें राज्य मध्य प्रदेश

विश्व का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट


4 जनवरी‚ 2021 को मध्य प्रदेश के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीप सिंह डंग ने जानकारी प्रदान की कि विश्व का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में नर्मदा नदी पर ओंकारेश्वर बांध पर बनने जा रहा है।

  • 600 मेगावॉट वाले इस प्राजेक्ट में अनुमानित निवेश राशि 3000 करोड़ रुपये है। अंतरराष्ट्रीय वित्त निगम (आईएफसी)‚ विश्व बैंक और पॉवर ग्रिड ने इस प्रोजेक्ट के विकास में सहयोग देने के लिए सैद्धांतिक सहमति प्रदान की है।
  • इस प्रोजेक्ट (परियोजना) से वर्ष 2022-23 तक विद्युत उत्पादन होने की संभावना है।
  • परियोजना में ओंकारेश्वर जलाशय में फ्लोटिंग (तैरते हुए) सोलर पैनल होंगे। बांध के लगभग 2000 हेक्टेयर जल क्षेत्र में सोलर पैनल से लगातार बिजली उत्पादन होगा।
  • तैरने वाले यह सोलर पैनल बांध का जलस्तर कम-अधिक होने पर स्वत: ही ऊपर नीचे एडजस्ट होते रहेंगे। तेज लहरों और बाढ़ का इन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

सामयिक खबरें खेल फुटबॉल

दशक की सर्वश्रेष्ठ भारतीय पुरुष और महिला फुटबॉल टीम


12 जनवरी‚ 2021 को अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (AIFF) ने दशक की सर्वश्रेष्ठ भारतीय पुरुष और महिला फुटबॉल टीम की घोषणा की।

  • दशक की सर्वश्रेष्ठ भारतीय पुरुष और महिला फुटबॉल टीम को फुटबॉल प्रेमियों द्वारा वोटिंग के माध्यम से चुना गया है।

दशक की सर्वश्रेष्ठ भारतीय पुरुष फुटबॉल टीम: गुरप्रीत सिंह संधू, सुभाशीष बोस, संदेश झिंगन अनस इडथोडिका, प्रीतम कोटाल, हलीचरण नारजरी, अनिरुद्ध थापा, रोलिन बोरगे, उदांता सिंह, सुनील छेत्री और जेजे लालपेखलुआ।

दशक की सर्वश्रेष्ठ भारतीय महिला फुटबॉल टीम: अदिति चौहान, रोजा देवी, आशालता देवी, स्वीटी देवी, डालिमा छिब्बर, रंजना चानू, बेमबेम देवी, रतनबाला देवी, डांगमेई ग्रेस, बाला देवी और अंजू तमांग।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

'फोनपे का 'टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान'


भारत के डिजिटल भुगतान प्लेटफॉर्म 'फोनपे' (PhonePe) ने 6 जनवरी, 2021 को आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के साथ मिलकर अपने प्लेटफॉर्म पर 'टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान' (Term Life Insurance plans) लॉन्च करने की घोषणा की।

  • इस लॉन्च के साथ, लाखों फोनपे यूजर्स अब सालाना 149 रुपये के प्रीमियम से शुरू होने वाले जीवन बीमा का लाभ उठा सकते हैं। यूजर्स बिना किसी मेडिकल जांच और पेपरवर्क के इसे तुरंत खरीद सकेंगे।
  • फोनपे के सभी यूजर्स जिनकी आयु 18 से 50 वर्ष के बीच है और जिनकी प्रति वर्ष आय 1 लाख रुपये या या इससे अधिक है, वे इस पॉलिसी प्लेटफॉर्म का लाभ उठा सकते हैं।
  • इसके अलावा, यूजर्स 1 लाख से 20 लाख रुपये की राशि की पॉलिसी ले सकते हैं।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

एनसीसी कैडेट्स रक्षा मंत्री पदक से सम्मानित


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 21 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) के कैडेट्स को उनके 'अनुकरणीय प्रदर्शन और कर्तव्य परायणता' के लिए रक्षा मंत्री पदक और प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया।

  • बिहार और झारखंड निदेशालय से सीनियर अंडर ऑफिसर (एसओयू) प्रशांत कुमार तिवारी और उत्तर प्रदेश निदेशालय के लेफ्टिनेंट कमांडर जितेंद्र पाल सिंह को रक्षा मंत्री पदक से सम्मानित किया गया।
  • इस पदक को पहली बार 1989 में दिया गया था। तब से हर वर्ष कैडेट्स को उनकी उच्च स्तरीय बहादुरी और असाधारण सेवाओं के लिए ये पदक दिया जाता है।
  • वहीं लेफ्टिनेंट शिवानी शर्मा, श्रीषमा हेगडे, सैयद शाजिद और नीवा सिंह को रक्षा मंत्री प्रशस्ति पत्र भेंट किए गए।
  • 15 अगस्त, 2020 को लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भारत के सीमावर्ती और तटीय क्षेत्रों में एनसीसी के एक लाख कैडेटों के विस्तार की घोषणा के अनुरूप देश के सीमावर्ती और तटीय क्षेत्रों के 1,104 स्कूलों और कॉलेजों से एक लाख से ज्यादा कैडेट नामांकित हो चुके हैं।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

रिसा


त्रिपुरा सरकार अब त्रिपुरा के प्रमुख वस्त्र रिसा (Risa) को राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ावा देने के लिए तैयार है।

महत्वपूर्ण तथ्य: हाथ से बने वस्त्र रिसा को त्रिपुरा के देसी आदिवासी समुदायों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है।

  • रिसा का उपयोग सिर की पगड़ी, दुपट्टा और महिलाओं के ऊपरी वस्त्र के रूप में किया जाता है तथा इसे किसी व्यक्ति को सम्मानित करने के लिए भेंट किया जाता है।
  • किशोर त्रिपुरी लड़कियों को सबसे पहले रिसा पहनने के लिए तब दिया जाता है, जब वह 12-14 साल की उम्र में 'रिसा सरोमनी' नामक एक कार्यक्रम में पहुंचती हैं।
  • इसका उपयोग धार्मिक त्योहारों जैसे कि आदिवासी समुदायों के एक पारंपरिक त्योहार ‘गरिया पूजा’ या शादियों और त्योहारों के दौरान पुरुषों द्वारा सिर की पगड़ी के रूप में भी किया जाता है।
  • रिसा एक पारंपरिक त्रिपुरी महिला पोशाक के तीन भागों में से एक है, अन्य दो रिनई (Rignai) और रिकुटु (Rikutu) हैं।
  • रिनई का उपयोग मुख्य रूप से शरीर के निचले हिस्से को कवर करने के लिए किया जाता है और इसका शाब्दिक अर्थ है 'पहनने के लिए'।
  • रिकुटु शरीर के ऊपरी आधे हिस्से को कवर करता है, इसे चारों ओर लपेटा जाता है। हालाँकि, यह भारतीय साड़ी के 'चुनरी' या 'पल्लू' की तरह भी इस्तेमाल किया जाता है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

प्राचीनतम गुहा चित्रकारी की खोज


जनवरी 2021 में पुरातत्वविदों ने दुनिया की सबसे पुरानी ज्ञात गुहा चित्रकारी (Oldest Cave Painting) का पता लगाया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: पुरातत्वविदों ने एक जंगली सूअर की आदमकद तस्वीर की खोज की है, जिसे कम से कम 45,500 साल पहले इंडोनेशिया में चित्रित किया गया था।

  • इस चित्रकारी को इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप पर खोजा गया है, जिसमें सुलावेसी द्वीप की एक स्थानिक जंगली सूअर की प्रजाति को दर्शाया गया है।
  • सुलावेसी जंगली सूअर की यह चित्रकारी लीनग टेडॉन्गे (Leang Tedongnge) की चूना पत्थर की गुफा में खोजी गई।
  • गुफा एक घाटी में स्थित है, जो खड़ी चूना पत्थर की चट्टानों से घिरी है, यहाँ केवल शुष्क मौसम में एक संकीर्ण गुफा मार्ग से पहुंचा जा सकता है।
  • चित्रकारी के तिथि-निर्धारण के लिये पुरातत्वविदों ने यूरेनियम-सीरीज आइसोटोप (U-series Isotope) विश्लेषण नामक एक विधि का प्रयोग किया, जो कैल्शियम कार्बोनेट सामग्री की आयु निर्धारण करने की तकनीक है।
  • मध्य इंडोनेशियाई द्वीप सुलावेसी, जो 174,000 वर्ग किमी. से अधिक के क्षेत्र में फैला है, एशिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच स्थित है।

सामयिक खबरें राज्य उत्तराखंड

भारत का पहला पॉलीनेटर पार्क


उत्तराखंड वन विभाग ने 29 दिसंबर, 2020 को ‘भारत के पहले पॉलीनेटर (पराग कण) पार्क’ (India’s first pollinator park) को जनता को समर्पित किया।

उद्देश्य: विभिन्न परागण प्रजातियों का संरक्षण करना, उनके महत्व के बारे में आम जनता के बीच जागरूकता पैदा करना और परागण के विभिन्न पहलुओं पर शोध, पर्यावास खतरों और प्रदूषण के प्रभाव, कीटनाशकों के उपयोग और विभिन्न परागणकों और पादप प्रजातियों के बीच संबंध सहित अन्य अनुसंधानों को बढ़ावा देना।

  • यह नैनीताल जिले के हल्द्वानी में 4 एकड़ में फैला हुआ है। पार्क में तितलियों, मधुमक्खियों, पक्षियों, कीटों, पतंगों, भृंगों, ततैया और छोटे स्तनधारियों की 40 से अधिक परागकण प्रजातियाँ हैं।
  • पार्क में रस और परागकण पैदा करने वाले फूलों जैसे गेंदा, गुलाब, गुडहल, चमेली आदि की पौध लगाकर विभिन्न पॉलीनेटरों के लिए उपयुक्त प्राकृतिक आवास बनाए गए हैं।
  • तितली अनुसंधान केंद्र भीमताल के जाने-माने तितली विशेषज्ञ पीटर स्मेटासेक ने पोलिनेटर पार्क का उद्घाटन किया।

सामयिक खबरें राज्य केरल

वन स्कूल‚ वन आईएएस योजना


16 जनवरी‚ 2021 को केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने राज्य भर में 10,000 मेधावी, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को प्रशासनिक सेवाओं और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुफ्त कोचिंग प्रदान करने के लिए वेदिक एरुडाइट फाउंडेशन की महत्वाकांक्षी योजना का शुभारंभ किया। इस योजना का नाम ‘वन स्कूल‚ वन आईएएस’ (One School One IAS) है।

  • अभिनेत्री मंजू वरियर ने फाउंडेशन की छात्रवृत्ति योजना के पहले प्रायोजक बनने की घोषणा की, जिसके तहत वह 10 छात्राओं को प्रशासनिक सेवा के लिए कोचिंग कराने पर आने वाले खर्च का वहन करेंगी।
  • यह फाउंडेशन ग्रामीण क्षेत्रों के उम्मीदवारों पर ध्यान केंद्रित करेगा और उन्हें हाईस्कूल स्तर से ही उच्च शिक्षा के बारे में जागरूक करेगा।

सामयिक खबरें राज्य मध्य प्रदेश

लांच पैड योजना


4 जनवरी‚ 2021 को महिला एवं बाल विकास विभाग‚ मध्य प्रदेश द्वारा समेकित बाल संरक्षण योजना के अंतर्गत नवाचार के रूप में ‘लांच पैड योजना’ (Launch Pad Scheme) शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

उद्देश्य: प्रदेश के बाल देखरेख संस्थाओं (child care institutions) के संस्थागत देखरेख से बाहर आने वाले 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके बालक/बालिकाओं को एक ऐसा मंच उपलब्ध कराना‚ जिसके माध्यम से वे संस्थागत जीवन से बाहर आने के बाद अपने शिक्षण एवं प्रशिक्षण कार्य को जारी रखते हुए आत्मनिर्भर हो सकें।

  • योजना के अंतर्गत प्रदेश के 52 जिलों को 5 क्लस्टर में बांटा गया है। पांच संभागीय मुख्यालय इंदौर‚ सागर‚ ग्वालियर‚ जबलपुर तथा भोपाल में शुरू किए जा रहे हैं।
  • इसका क्रियान्वयन चालू वित्तीय वर्ष में किया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत बाल गृहों के 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके 6 से 8 युवाओं के समूह को कॉफी शॉप‚ स्टेशनरी‚ फोटोकॉपी‚ कंप्यूटर टाइपिंग‚ डी.टी.पी.कार्य‚ नोटरी आदि कार्य हेतु जिला प्रशासन द्वारा स्थान उपलब्ध कराया जाएगा।
  • प्रत्येक ‘लांच पैड’ (Launch Pad) की स्थापना हेतु 6 लाख रुपये की राशि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

न्यूजीलैंड के पूर्व बल्लेबाज जॉन फुल्टन रीड का निधन


29 दिसंबर, 2020 को न्यूजीलैंड के पूर्व बल्लेबाज जॉन फुल्टन रीड का निधन हो गया। वे 64 वर्ष के थे।

  • बाएं हाथ के बल्लेबाज ने 1979 से 1986 तक न्यूजीलैंड के लिए 19 टेस्ट और 25 एकदिवसीय मैच खेले, जिनमें क्रमशः 1296 और 633 रन बनाए।

सामयिक खबरें खेल टेनिस

अबू धाबी महिला टेनिस ओपन 2021


6 से 13 जनवरी‚ 2021 तक अबू धाबी महिला टेनिस ओपन 2021 प्रतियोगिता अबू धाबी‚ संयुक्त अरब अमीरात में संपन्न हुई।

प्रतियोगिता परिणाम

  • महिला एकल: विजेता- एरीना सबालेंका (बेलारूस); उपविजेता- वेरोनिका कुदेरमेटोवा (रूस)।
  • महिला युगल विजेता- शुको ओयामा और एना शिबाहारा (दोनों जापान); उपविजेता- हेले कार्टर (अमेरिका) और लुईसा स्टेफनी (ब्राजील)।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

बैंक ऑफ बड़ौदा और सिडबी समझौता


बैंक ऑफ बड़ौदा ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) को एक बार के पुनर्गठन (One-Time Restructuring-OTR) हेतु ऑनलाइन आवेदन करने में सक्षम करने के लिए भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।

  • इस समझौते के अनुसार एमएसएमई के पात्र ग्राहकों को 25 करोड़ तक का ऋण प्रदान किया जा सकता है।
  • यह निर्णय कोविड-19 महामारी के कारण वित्तीय तनाव का सामना कर रहे एमएसएमई ग्राहकों को उबारने के लिए लिया गया है।
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के MSME ग्राहक अब वेब आधारित पोर्टल 'MSME के लिए एसेट रिस्ट्रक्चरिंग मॉड्यूल' (ARM-MSME) का उपयोग कर सकते हैं।
  • भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एमएसएमई ग्राहकों को राहत देने के लिए एक बार के पुनर्गठन (OTR) विडों को 31 मार्च, 2021 तक बढ़ा दिया है।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

शिवालिक मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक ने हासिल किया स्मॉल फाइनेंस बैंक लाइसेंस


जनवरी 2021 में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर स्थित शिवालिक मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक (SMCB) ने भारतीय रिजर्व बैंक से स्मॉल फाइनेंस बैंक (SFB) का लाइसेंस हासिल कर लिया है।

  • इसके साथ ही, शिवालिक मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक स्वैच्छिक रूप से बदलाव की योजना (voluntary transition scheme) के तहत SFB में परिवर्तन करने वाला देश का पहला शहरी सहकारी बैंक (UCB) बन गया। बैंक को अप्रैल 2021 तक SFB के रूप में कारोबार शुरू करने की उम्मीद है।
  • शिवालिक शहरी सहकारी बैंक को लघु वित्त बैंक (SFB) में परिवर्तन हेतु सैद्धांतिक रूप से मंजूरी 18 महीने के लिए मान्य होगी।
  • 1997 में निगमित शिवालिक मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक वर्तमान में उत्तर प्रदेश, दिल्ली, और मध्य प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में व्यवसाय परिचालन कर रहा है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

कोयला मंत्री पुरस्कार 2020


केंद्रीय कोयला और खान मंत्री प्रहलाद जोशी ने 21 जनवरी, 2021 को नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में कोल इंडिया लिमिटेड की तीन कंपनियों - नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल), सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) और वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (डब्ल्यूसीएल) को ‘कोयला मंत्री पुरस्कार 2020’ (Coal Minister’s Award 2020) प्रदान किए।

  • यह पुरस्कार देश के कोयला खनन में सबसे अच्छे और स्थायी प्रथाओं को बढ़ावा देने के लिए स्थापित किया गया है।
  • कोल इंडिया लिमिटेड की अनुषंगी कंपनी ‘एनसीएल’ को कोयला उत्पादन और उत्पादकता में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए पुरस्कार से सम्मानित किया गया, जबकि इसकी अन्य कंपनियों ‘सीसीएल’ को सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा प्रथाओं और डब्ल्यूसीएल को टिकाऊ खनन को अपनाने के लिए पुरस्कार दिए गए।
  • केंद्रीय मंत्री ने कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) के ‘प्रोजेक्ट पैशन’- एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग (ईआरपी)’ भी लॉन्च किया, जो डेटा एकीकरण की सहायता से कंपनी के व्यवसाय प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद करेगा।

सामयिक खबरें आर्थिकी

भारत नवाचार सूचकांक 2020


नीति आयोग ने 20 जनवरी, 2021 को भारत नवाचार सूचकांक 2020 जारी किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: रिपोर्ट में राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों की नवाचार क्षमताओं और प्रदर्शन को मापा गया है। यह सूचकांक का दूसरा संस्करण है। सूचकांक का पहला संस्करण अक्टूबर 2019 में जारी किया गया था।

  • यह सूचकांक, नीति आयोग द्वारा प्रतिस्पर्धात्मकता संस्थान (Institute for Competitiveness) के साथ मिलकर तैयार किया जाता है।

प्रमुख राज्यों की श्रेणी: कर्नाटक ने शीर्ष स्थान बरकरार रखा, जबकि तमिलनाडु को पीछे छोड़ते हुए महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर पहुंच गया।

  • तमिलनाडु तीसरे, तेलंगाना चौथे, केरल पांचवे, हरियाणा छठे, आंध्र प्रदेश सातवें, गुजरात आठवें, उत्तर प्रदेश नौवें और पंजाब दसवें स्थान पर रहा। बिहार को सबसे निचला स्थान (17वां) हासिल हुआ है।

केंद्र-शासित प्रदेश और छोटे राज्य श्रेणी: 46.60 स्कोर के साथ सभी समूहों में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला दिल्ली पहले स्थान पर, जबकि चंडीगढ़ दूसरे स्थान पर रहा। लक्षद्वीप अंतिम नौवें स्थान पर रहा।

पूर्वोत्तर/ पहाड़ी राज्यों की श्रेणी: हिमाचल प्रदेश शीर्ष स्थान पर है, इसके बाद उत्तराखंड, मणिपुर और सिक्किम का स्थान है। मेघालय सबसे निचले 10वें स्थान पर रहा।

सूचकांक मापदंड: नवाचार सूचकांक की गणना पांच 'सक्षमकर्ता' (enabler) मापदंडों और दो 'प्रदर्शन' (performance) मापदंडों के माध्यम से की गई।

  • पांच 'सक्षमकर्ता' मापदंड मानव पूंजी, निवेश, ज्ञान कार्यकर्त्ता (Knowledge Workers), व्यावसायिक वातावरण, और सुरक्षा तथा कानूनी वातावरण हैं, जबकि दो 'प्रदर्शन' मापदंड ज्ञान उत्पादन (Knowledge Output) और ज्ञान प्रसार (Knowledge Diffusion) हैं।

सामयिक खबरें राज्य गुजरात

गुजरात सरकार का 'ड्रैगन फ्रूट' का नाम बदलकर 'कमलम' रखने का फैसला


जनवरी 2021 में गुजरात सरकार ने 'ड्रैगन फ्रूट' (dragon fruit) का नाम बदलकर 'कमलम' रखने का फैसला किया है।

  • 'कमलम' शब्द एक संस्कृत शब्द है। मुख्यमंत्री विजय रूपानी के अनुसार, फल का बाहरी आकार कमल के फूल से मिलता जुलता है। 'कमलम' के पेटेंट के लिए भी आवेदन किया गया है।
  • ड्रैगन फ्रूट दक्षिण और मध्य अमेरिका में पाए जाने वाले देसी जंगली कैक्टस (wild cactus) की एक प्रजाति का फल है, जहाँ इसे पिटाया (Pitaya) या पिटाहाया (Pitahaya) कहा जाता है।
  • फल बाहर से आमतौर पर सफेद या लाल रंग का होता है, हालाँकि इसमें पीला पिटाया (Pitaya) भी होता है, लेकिन यह कम मिलता है। यह किवी फ्रूट की तरह छोटे बीज वाला होता है।
  • ड्रैगन फ्रूट का दुनिया का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक वियतनाम है, जहां 19वीं शताब्दी में फ्रांसीसी द्वारा इसके संयंत्र को लाया गया था। वियतनामी इसे लंबे समय से ‘थान्ह लोंग’ (Thanh long) कहते रहे हैं, जिसका अर्थ 'ड्रैगन आई' (dragon’s eyes) होता है।
  • ड्रैगन फ्रूट की खेती लैटिन अमेरिका के अलावा थाईलैंड, ताइवान, चीन, ऑस्ट्रेलिया, इजरायल और श्रीलंका में भी की जाती है।
  • यह 1990 के दशक में भारत में लाया गया था, और कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में उगाया जाता है।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

कृष्णन शशिकिरण ने जीता रिल्टन विनर्स कप का खिताब


भारतीय ग्रैंड मास्टर कृष्णन शशिकिरण ने शतरंज का रिल्टन विनर्स कप 2020-21 खिताब जीत लिया। उन्होंने इस प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में रूसी ग्रैंड मास्टर अलेक्जेंडर शिमानोव को 2-0 से पराजित किया।

  • यह इस दशक और वर्ष 2021 का किसी भी भारतीय शतरंज खिलाड़ी का पहला अंतरराष्ट्रीय खिताब है।
  • यह प्रतियोगिता स्टॉकहोम शतरंज परिसंघ (स्वीडन) और रिल्टन समिति द्वारा 27 दिसंबर‚ 2020 से 2 जनवरी‚ 2021 तक ऑनलाइन आयोजित की गई।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

श्रीलंकाई क्रिकेटर शेहान जयसूर्या ने लिया संन्यास


  • 8 जनवरी‚ 2021 को श्रीलंका के 29 वर्षीय क्रिकेटर शेहान जयसूर्या ने श्रीलंका क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की। उन्होंने अपने परिवार के साथ अमेरिका में रहने का फैसला किया है।
  • जयसूर्या ने वनडे और टी-20 प्रारूपों में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व किया है। वे श्रीलंका के लिए 12 एकदिवसीय और 18 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

कोमरोन तुर्सुनोव ने किया आई लीग फुटबॉल टूर्नामेंट के इतिहास का सबसे तेज गोल


  • टिडिम रोड एथलेटिक यूनियन (TRAU) के तजाकिस्तान के फॉरवर्ड कोमरोन तुर्सुनोव ने 10 जनवरी‚ 2021 को ‘आई लीग फुटबॉल टूर्नामेंट’ के इतिहास का सबसे तेज गोल किया।
  • तुर्सुनोव ने मोहन बागान ग्राउंड पर खेले गए मैच में रीयल कश्मीर एफसी के खिलाफ खेल शुरू होने के बाद नौवें सेकंड में यह गोल किया।
  • उन्होंने कात्सुमी युसा का रिकॉर्ड तोड़ा, जिन्होंने 2018-19 सत्र में नेरोका एफसी की तरफ से चर्चिल ब्रदर्स के खिलाफ 13वें सेकंड में गोल किया था।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

एयरटेल सेफ पे


  • एयरटेल ग्राहकों को ऑनलाइन भुगतान धोखाधड़ी की बढ़ती घटनाओं से बचाने के लिए, एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने डिजिटल रूप से भुगतान करने का एक सुरक्षित तरीका 'एयरटेल सेफ पे' (Airtel Safe Pay) लॉन्च किया है।
  • अभी तक दो स्तर की सुरक्षा थी, लेकिन एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने तीन स्तर की सुरक्षा सुनिश्चित की है।
  • नेटवर्क इंटेलीजेंस पर आधारित इस फीचर से एयरटेल ग्राहक सुरक्षित तरीके से डिजिटल पेमेंट्स कर सकेंगे यानी अब उनकी सहमति के बिना उन्हें खाता खाली होने का डर नहीं रहेगा।
  • एयरटेल पेमेंट्स बैंक एक सार्वजनिक लिमिटेड कंपनी है, जिसका मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में है। कंपनी भारती एयरटेल की सहायक कंपनी है।
  • यह भारतीय रिजर्व बैंक से ‘भुगतान बैंक’ लाइसेंस प्राप्त करने वाली भारत की पहली कंपनी है। 2017 में औपचारिक रूप से एयरटेल पेमेंट्स बैंक के राष्ट्रीय परिचालन का शुभारंभ किया गया था।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक और 'जय किसान' में समझौता


जनवरी 2021 में कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक (KVGB) ने कर्नाटक में 'जय किसान' (ग्रीनजेन एग्रीटेक कंसल्टेंसी प्राइवेट लिमिटेड का एक ग्रामीण-केंद्रित फिनटेक प्लेटफॉर्म) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

  • इसका उद्देश्य कर्नाटक में व्यक्तिगत और व्यवसायों के लिए वित्तीय सेवाओं तक पहुँच में विस्तार करना है, जिसमें किसान और गैर-किसान उद्यमी शामिल हैं।
  • बैंक 'जय किसान' के साथ भागीदारी के माध्यम से अपनी सेवाओं को लघु और सूक्ष्म उद्यमों (एसएमई), संयुक्त देयता समूहों, स्वयं सहायता समूहों, और किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के माध्यम से किसानों और कृषि मशीनीकरण प्रयासों तक पहुंच में विस्तार करना चाहता है।
  • चार क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक मलप्रभा ग्रामीण बैंक, बीजापुर ग्रामीण बैंक, वरदा ग्रामीण बैंक और नेत्रवती ग्रामीण बैंक के समामेलन से भारत सरकार द्वारा 12 सितंबर, 2005 को ‘कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक’ स्थापित किया गया था।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

'माई पैड माई राइट' प्रोजेक्ट


  • 'सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया' और NABFOUNDATION ने जनवरी 2021 में एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) किया है।
  • इसके तहत बैंक द्वारा उन सभी स्वयं सहायता समूहों (SHG) को कार्यशील पूंजी प्रदान की जाएगी, जिनके पास बैंक का खाता है और नाबार्ड द्वारा प्रायोजित 'माई पैड माई राइट' (My Pad My Right project) प्रोजेक्ट संचालित कर रहे हैं।
  • प्रोजेक्ट के तहत, प्रत्येक जिले में प्रायोजित एक पैड बनाने की मशीन के लिए देश भर में अच्छी तरह से काम कर रहे एसएचजी को अपेक्षित क्षमता निर्माण सहायता के साथ, लगभग 5 लाख रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से अनुदान समर्थन प्रदान किया जाएगा।
  • यह प्रोजेक्ट अगले तीन वर्षों में नाबार्ड से कुल लगभग 50 करोड़ रुपए का समर्थन प्राप्त करेगा।
  • NABFOUNDATION, राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद


भारत सरकार ने 19 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद (National Startup Advisory Council) में 28 गैर-आधिकारिक सदस्यों को नामित किया है, जिसमें बायजू के सीईओ बायजू रवीन्द्रन, ओला कैब्स के सह-संस्थापक भाविश अग्रवाल, कालारी कैपिटल की प्रबंध निदेशक वाणी कोला और सॉफ्टबैंक इंडिया के प्रमुख मनोज कोहली शामिल हैं।

  • उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) ने सरकार को देश में नवाचार और स्टार्टअप्स के अनुकूल एक बेहतर माहौल विकसित करने के लिए उठाए जाने वाले कदमों पर परामर्श देने के लिए 21 जनवरी, 2020 को स्टार्टअप इंडिया के माध्यम से ‘राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद’ का गठन किया था।
  • इसका उद्देश्य सतत आर्थिक विकास को बढ़ावा देना और व्यापक स्तर पर रोजगार के अवसर पैदा करना है।
  • राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद की अध्यक्षता वाणिज्य और उद्योग मंत्री करेंगे। स्टार्टअप सलाहकार परिषद के गैर-आधिकारिक सदस्यों का कार्यकाल दो साल तक होगा।
  • परिषद नवाचार की संस्कृति को प्रोत्साहन देने; बौद्धिक संपदा अधिकार तैयार करने; स्टार्टअप्स में निवेश के लिए घरेलू पूंजी को प्रोत्साहन देने; तथा भारतीय स्टार्टअप्स के लिए वैश्विक बाजारों तक पहुंच उपलब्ध कराने संबंधी उपाय सुझाएगी।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

लॉजिस्टिक क्षेत्र के लिए राज्यों का पहला राष्ट्रीय सम्मेलन


वाणिज्य मंत्रालय द्वारा 19 जनवरी, 2021 को ‘लॉजिस्टिक क्षेत्र के लिए राज्यों का पहला राष्ट्रीय सम्मेलन’ (1st National Conference of States on Logistics) आयोजित किया गया। सम्मलेन का उद्देश्य: लॉजिस्टिक क्षेत्र में समन्वित तरीके से काम करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों के लिए एक सलाहकार और सहयोगी ढांचा शुरू करना।

महत्वपूर्ण तथ्य: लॉजिस्टिक क्षेत्र में सुधार के लिए राज्यों को एक व्यापक 18 प्वाइंट एजेंडा पेश किया गया। राज्यों में लॉजिस्टिक सुधार के लिए शहरों में लॉजिस्टिक सुविधाओं, गोदाम बनाने की प्रक्रिया के सरलीकरण, भंडारण विकास के लिए प्रक्रियाओं को आसान बनाने पर प्रमुख रूप से चर्चा हुई।

  • केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय के अनुसार एक राष्ट्रीय लॉजिस्टिक नीति को लेकर चर्चा जारी है, जो लॉजिस्टिक क्षेत्र में बेहतर समन्वय और एकीकृत विकास के लिए एक माध्यम के रूप में काम करेगी।
  • केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि लॉजिस्टिक का मतलब 5R यानि ‘सही उत्पाद को- सही स्थिति में - सही जगह पर - सही समय पर - सही ग्राहक तक पहुँचाना’ (Getting the Right product - In the Right condition - At the Right place - At the Right time - To the Right customer) है।
  • उन्होंने लॉजिस्टिक लागत को 13 फीसदी से घटाकर 8 फीसदी करने का भी आह्वान किया।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

रतले पनबिजली परियोजना


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 20 जनवरी, 2021 को केंद्र-शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में चिनाब नदी पर स्थित 850 मेगावाट की रतले पनबिजली परियोजना के लिए 5281.94 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी प्रदान की।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह निवेश राष्ट्रीय जल विद्युत निगम (एनएचपीसी) और जम्मू-कश्मीर राज्य विद्युत विकास निगम लिमिटेड (जेकेएसपीडीसी) की क्रमशः 51% और 49% हिस्सेदारी वाली एक नई ‘संयुक्त उद्यम कंपनी’ द्वारा किया जाएगा।

  • रतले पनबिजली परियोजना को 60 माह की अवधि के भीतर चालू किया जाएगा।
  • इस परियोजना से उत्पन्न बिजली ग्रिड को संतुलन प्रदान करने में मदद करेगी और इसके साथ ही इससे बिजली आपूर्ति की स्थिति में सुधार होगा।
  • इसके अलावा, केंद्र -शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर 5289 करोड़ रुपये की मुफ्त बिजली पाने के साथ-साथ 40 वर्षों के परियोजना जीवन चक्र के दौरान रतले पनबिजली परियोजना से 9581 करोड़ रुपये के जल उपयोग शुल्क के माध्यम से लाभान्वित होगा।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

मल गाद और सेप्टेज प्रबंधन


नीति आयोग ने 20 जनवरी, 2021 को शहरी क्षेत्रों में ‘मल गाद और सेप्टेज प्रबंधन’ (Faecal Sludge and Septage Management- FSSM) रिपोर्ट पर एक पुस्तक जारी की।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसे ‘नेशनल फेकल स्लज एंड सेप्टेज मैनेजमेंट एलायंस’ (National Faecal Sludge and Septage Management- NFSSM) के साथ संयुक्त रूप से तैयार किया गया है।

  • रिपोर्ट में 10 राज्यों के कई शहरों द्वारा सेवा और व्यवसाय मॉडल के तहत ‘मल गाद और सेप्टेज प्रबंधन’ के 27 मामलों पर अध्ययन प्रकाशित किया गया है।
  • रिपोर्ट में यह उल्लेख किया गया है कि लगभग 60% शहरी परिवार ऑनसाइट स्वच्छता प्रणालियों पर निर्भर हैं, जहां इन प्रणालियों के तहत जमा कचरे के प्रबंधन के लिए खास योजना की आवश्यकता है।
  • ‘मल गाद और सेप्टेज प्रबंधन’ योजना मानव मल प्रबंधन को प्राथमिकता देती है क्योंकि इसमें रोगों को फैलाने की काफी संभावना होती है। इसकी नियोजन रणनीतियों में संयत्रों को खाली करना, दूसरी जगहों तक ले जाना, कचरे का सुरक्षित निपटान आदि शामिल होता है।
  • मल गाद और सेप्टेज प्रबंधन के समाधानों के महत्व को देखते हुए, आवास और शहरी मामलों का मंत्रालय 2017 में ‘मल गाद और सेप्टेज प्रबंधन पर राष्ट्रीय नीति’ लेकर आया था। नीति को 24 से अधिक राज्यों ने अपनाया है तथा 12 राज्यों ने अपनी नीतियों को भी लागू किया है।
  • खुले में शौच-मुक्त भारत के लक्ष्य को प्राप्त करने के बाद, भारत अब ODF+ और ODF++ लक्ष्य की ओर बढ़ गया है। ये लक्ष्य शौचालय तक पहुंच और सुरक्षित स्वच्छता प्रणालियों से परे मल के सही और सुरक्षित निपटान पर केंद्रित हैं।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

भारत- सिंगापुर रक्षा मंत्रियों की 5वीं वार्ता


भारत और सिंगापुर के रक्षा मंत्रियों के बीच 5वीं वार्ता (Defence Ministers' Dialogue- DMD) 20 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सफलतापूर्वक आयोजित की गई।

महत्वपूर्ण तथ्य: रक्षा मंत्रियों के बीच 5वीं वार्ता में दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच ‘पनडुब्बी बचाव सहायता एवं सहयोग पर कार्यान्वयन समझौते’ पर हस्ताक्षर हुए।

  • मंत्रियों द्वारा दोनों सशस्त्र बलों के लिए अगस्त 2020 में मानवीय सहायता और आपदा राहत (एचएडीआर) सहयोग पर समझौता सहित द्विपक्षीय रक्षा सहयोग का विस्तार करने वाली पहलों का स्वागत किया गया। दोनों देशों के सशस्त्र बलों की साइबर एजेंसियों ने भी अपना मेल-मिलाप बढ़ा दिया है।
  • नवंबर 2020 में आयोजित किए गए भारतीय नौसेना और सिंगापुर नौसेना के बीच सिंगापुर-भारत समुद्री द्विपक्षीय अभ्यास (सिम्बेक्स) के 27वें संस्करण और सिंगापुर-भारत-थाईलैंड समुद्री अभ्यास (सिटमेक्स) के दूसरे संस्करण के सफलतापूर्वक संचालन पर प्रसन्नता व्यक्त की गई।
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए आसियान को केंद्र में रखने की पुष्टि की और आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक (एडीएमएम)-प्लस के सभी प्रयासों के लिए भारत का समर्थन प्रदान करने का वादा किया।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

भू-खतरा प्रबंधन


रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने 20 जनवरी, 2021 को तकनीकी आदान-प्रदान के क्षेत्र में सहयोग को मजबूती देने और स्थायी भू-खतरा प्रबंधन Geo-Hazard management) में सहयोग पर सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के साथ एक फ्रेमवर्क समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: डीआरडीओ के ‘रक्षा भू-सूचना विज्ञान अनुसंधान प्रतिष्ठान’ (Defence Geo-Informatics Research Establishment- DGRE) विभिन्न प्रकार के इलाकों और हिमस्खलन से निपटने की बेहतर प्रभावशीलता के लिए महत्वपूर्ण तकनीकों के विकास पर काम कर रहा है।

  • DGRE की हिमालयी इलाकों में भूस्खलन एवं हिमस्खलन का मानचित्रण, पूर्वानुमान, नियंत्रण और उससे निपटने में विशेषज्ञता है, जबकि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय देश भर में राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास एवं रखरखाव के लिए जिम्मेदार है।
  • डीआरडीओ के ‘रक्षा भू-सूचना विज्ञान अनुसंधान प्रतिष्ठान’ की विशेषज्ञता का उपयोग देश में विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्गों पर भूस्खलन, हिमस्खलन एवं अन्य प्राकृतिक कारणों से होने वाले नुकसान के स्थायी समाधान तलाशने में किए जाने पर सहमति हुई है।
  • सहयोग के लिए पहचाने किए गए कुछ अन्य क्षेत्रों में राष्ट्रीय राजमार्गों पर डिजाइन एवं निर्माण के साथ-साथ सुरंग, निगरानी और शमन उपायों की देखरेख आदि भी शामिल हैं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप समझौते/संधि

भारत और उज्‍बेकिस्‍तान के बीच सौर ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग हेतु समझौता


केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 20 जनवरी, 2021 को भारत और उज्बेकिस्तान के बीच सौर ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए जाने को मंजूरी प्रदान की।

  • समझौता ज्ञापन के तहत भारत के राष्ट्रीय सौर ऊर्जा संस्थान तथा उज्बेकिस्तान के अंतरराष्ट्रीय सौर ऊर्जा संस्थान के बीच परस्पर पहचान किए गए ‘सोलर फोटोवोल्टिक’, ‘भंडारण प्रौद्योगिकियों’ और ‘प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण’ वाले क्षेत्रों में अनुसंधान/प्रदर्शन/पायलट परियोजनाओं की पहचान की जाएगी।
  • परस्पर अनुबंध के आधार पर दोनों पक्ष अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) सदस्य देशों में पायलट परियोजना के कार्यान्वयन और तैनाती के लिए कार्य करेंगे।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप वेब पोर्टल/ऐप

नियामक अनुपालन पोर्टल


जनवरी 2021 में उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT) ने एक 'नियामक अनुपालन पोर्टल' (Regulatory compliance portal) शुरू किया है।

उद्देश्य: नियामकीय अनुपालन को कम करने के लिए नागरिकों, उद्योगों और सरकार के बीच एक सेतु के रूप में कार्य करना।

  • यह पोर्टल केंद्रीय और राज्य स्तर के सभी अनुपालनों के लिए अपनी तरह का पहला केंद्रीय ऑनलाइन रिपॉजिटरी (online repository) होगा।
  • सभी केंद्रीय मंत्रालय/ विभाग और राज्य/ केन्द्र-शासित प्रदेश अपने सभी कानूनों/ विनियमों/ नियमों की जांच करेंगे और सभी प्रक्रियाओं को युक्तिसंगत और सरल बनाने के लिए गैर-जरूरी अनुपालन को हटाने, कानूनों को कम करने और निरर्थक अधिनियमों को हटाने की एक कार्य योजना को लागू करेंगे। इन सभी प्रक्रियाओं को नियामकीय अनुपालन पोर्टल पर न केवल देखा जा सकेगा, बल्कि उनकी निगरानी भी की जा सकेगी।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

रोहित शर्मा ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 100 छक्के लगाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज


8 जनवरी‚ 2021 को भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 100 छक्के लगाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने सिडनी टेस्ट के दूसरे दिन नेथन लायन की गेंद पर छक्का लगाकर यह उपलब्धि हासिल की।

  • उनके ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध यह 100 छक्के खेल के सभी प्रारूपों (टेस्ट‚ वनडे और टी-20 मैचों) में लगाए गए छक्कों को मिलाकर है।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

सोफी डिवाइन ने जड़ा महिला टी-20 क्रिकेट में सबसे तेज शतक


न्यूजीलैंड की कप्तान और स्टार क्रिकेटर सोफी डिवाइन 14 जनवरी‚ 2021 को मात्र 36 गेदों पर शतक लगाकर महिला टी-20 क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाने वाली खिलाड़ी बन गई हैं।

  • यह उपलब्धि उन्होंने घरेलू सुपर स्मैश टूर्नामेंट में वेलिंगटन ब्लेज की तरफ से खेलते हुए ओटैगो स्पार्क्स के विरुद्ध हासिल की। डिवाइन ने अपनी इस पारी में 38 गेंदों पर नौ छक्कों और नौ चौकों के साथ नाबाद 108 रन बनाए।
  • उन्होंने वेस्टइंडीज की डिएंड्रा डॉटिन का रिकॉर्ड तोड़ा है‚ जिन्होंने वर्ष 2010 टी-20 विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध 38 गेदों पर शतक लगाकर यह रिकॉर्ड बनाया था।
  • उन्होंने 2017 में नॉर्दर्न डिस्ट्रिक्ट्स के लिए टिम सीफर्ट के 40 गेंद के शतक को पीछे छोड़ते हुए न्यूजीलैंड के किसी खिलाड़ी (पुरुष या महिला) द्वारा सबसे तेज टी-20 शतक का भी नया रिकॉर्ड बनाया है।
  • टी-20 (पुरुष और महिला) में सबसे तेज शतक बनाने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के क्रिस गेल के नाम है। उन्होंने वर्ष 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में रॉयल चैलेंजर बैंगलोर की तरफ से खेलते हुए पुणे वारियर्स के विरुद्ध मात्र 30 गेदों में शतक लगाया था।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप समझौते/संधि

खादी कारीगरों और जनजातीय आबादी को सशक्त करने हेतु समझौता


खादी और ग्रामोद्योग आयोग और जनजातीय मामलों के मंत्रालय ने स्थानीय रोजगार पैदा करने, खादी कारीगरों और जनजातीय आबादी को सशक्त करने के लिए 19 जनवरी, 2021 को समझौता किया।

उद्देश्य: प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के आह्वान के अनुरूप खादी दस्तकारों और देशभर में जनजातीयों लोगों की बड़ी आबादी के बीच तालमेल बढाकर स्थानीय रोजगार के अवसर सृजित करना।

  • खादी और ग्रामोद्योग आयोग और जनजातीय मामलों के मंत्रालय ने दो समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए। इनमें जनजातीय विद्यार्थियों के लिए ‘खादी वस्त्र की खरीद’ और ‘प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के लिए क्रियान्वयन एजेंसी’ के रूप में भागीदारी करने की व्यवस्था है।
  • जनजातीय कार्य मंत्रालय 2020-21 में अपने एकलव्य आवासीय विद्यालयों के जनजातीय विद्यार्थियों के लिए 14 करोड़ 77 लाख रुपए मूल्य के (6 लाख मीटर से अधिक) खादी वस्त्र खरीदेगा।
  • भारत में जनजातियों के आर्थिक विकास के लिए काम करने वाली जनजातीय मामलों के मंत्रालय की एक एजेंसी ‘राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति वित्त विकास निगम’ (एनएसटीएफडीसी) को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना को लागू करने के लिए एक भागीदार के रूप में शामिल किया जाएगा।

सामयिक खबरें खेल

खेल सुविधा केन्द्रों का नाम विख्यात एथलीटों के नाम पर


देश के खेल नायकों को सम्मानित करने के उद्देश्य से खेल मंत्रालय ने जनवरी 2021 में भारतीय खेल प्राधिकरण के सभी आगामी तथा अपग्रेड किए गए खेल सुविधा केन्द्रों का नाम भारत में खेलों में योगदान देने वाले विख्यात एथलीटों के नाम पर रखने का फैसला किया है।

  • पहले चरण में, लखनऊ में राष्ट्रीय उत्कृष्टता केन्द्र (एनसीओई) में नवनिर्मित वातानुकूलित कुश्तीबाजी कक्ष एवं शिक्षार्थी स्विमिंग पूल, एनसीओई भोपाल में सौ बेड वाला छात्रावास, एनसीओई सोनीपत में बहुद्देशीय सभा कक्ष एवं बालिका छात्रावास तथा गुवाहाटी में नये एसटीसी, जिसमें एक छात्रावास, बहुद्देशीय सभा कक्ष एवं स्टाफ क्वार्टर हैं, का नाम स्थानीय विख्यात खिलाड़ियों के नाम पर रखा जाएगा।

सामयिक खबरें खेल

ढाका मैराथन 2021


लद्दाख पुलिस की एसपीओ जिग्मेट डोलमा ने 10 जनवरी, 2021 को आयोजित ढाका मैराथन 2021 में चौथा स्थान हासिल किया।

  • 1972 में बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की पाकिस्तान जेल से बांग्लादेश में वापसी का जश्न मनाने के लिए मैराथन का आयोजन किया गया।
  • मैराथन में, मोरक्को के हिचम लखोई पुरुषों के वर्ग में पहले स्थान पर रहे, जबकि केन्या की एंजेला जिम असंडे महिला वर्ग में पहले स्थान पर रही।
  • पूर्ण मैराथन में, सार्क और स्थानीय धावकों में, भारत के बहादुर सिंह पुरुष वर्ग में चैंपियन बने, जबकि महिला वर्ग में नेपाल की पुष्पा भंडारी चैंपियन बनीं।
  • पूर्ण मैराथन में 42.19 किलोमीटर की दूरी तय की गई, जबकि हाफ मैराथन में 21.09 किलोमीटर की दूरी तय की गई।

सामयिक खबरें राज्य कर्नाटक

न्यू अनुभव मंडप


कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने 6 जनवरी, 2021 को बसवकल्याण में 'न्यू अनुभव मंडप’ (New Anubhava Mantapa) की आधारशिला रखी।

  • ज्ञात हो कि यह वह स्थान है, जहां 12वीं शताब्दी के कवि-दार्शनिक बसवेश्वरा अपने जीवन के अधिकांश समय तक रहे थे। बसवेश्वरा (वीरशैव-लिंगायत समुदाय के एक प्रतीक) को ‘बासवन्ना’ के नाम से भी जाना जाता है।
  • यह 7.5 एकड़ भूखंड में बनी छ: मंजिला संरचना होगी, जो कि बसवेश्वरा के दर्शन के विभिन्न सिद्धांतों का प्रतिनिधित्व करेगी।
  • यह 12वीं शताब्दी में बसवेश्वरा द्वारा बसवकल्याण में स्थापित ‘अनुभव मंडप’ (जिसे प्रायः विश्व की पहली संसद के रूप में संदर्भित किया जाता है) को प्रदर्शित करेगी। बसवेश्वरा द्वारा स्थापित ‘अनुभव मंडप’ में विभिन्न दार्शनिकों और समाज सुधारकों द्वारा वाद-विवाद किया जाता था।

विशेषताएं: इसका निर्माण वास्तुकला की कल्याण चालुक्य शैली में किया जाएगा। 770 स्तंभों वाली इस भव्य संरचना में 770 लोगों के बैठने की क्षमता वाला एक सभागार भी बनाया जाएगा।

  • ऐसा माना जाता है कि 770 शरणों (बसवेश्वरा के अनुयायी) ने 12वीं शताब्दी में ‘वचन’ सुधारवादी आंदोलन का नेतृत्त्व किया था।
  • इसके शीर्ष पर एक विशाल शिवलिंग स्थापित किया जाएगा।
  • इस परियोजना में अत्याधुनिक रोबोट प्रणाली, ओपन-एयर थिएटर, आधुनिक जल संरक्षण प्रणाली, पुस्तकालय, अनुसंधान केंद्र, प्रार्थना कक्ष और योग केंद्र आदि की भी परिकल्पना की गई है।

सामयिक खबरें राज्य महाराष्ट्र

महाराष्ट्र सरकार की कृषि मूल्य शृंखला विकास परियोजना


जनवरी 2021 में राज्य सरकार की विज्ञप्ति के अनुसार ‘महाराष्ट्र सरकार के कृषि मूल्य श्रृंखला विकास परियोजना’ के लिए कुल 11,584 व्यक्तियों ने पंजीकरण कराया है।

उद्देश्य: किसानों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार में प्रवेश के लिए एक मूल्य शृंखला प्रदान करना।

  • इस परियोजना के लिए 5,764 संगठनों ने आवेदन किया, जिनमें से लगभग 2000 किसान उत्पादक संगठन हैं। इस परियोजना को 2020 में मंजूरी दी गई थी।
  • विश्व बैंक की सहायता प्राप्त इस परियोजना को 'महाराष्ट्र राज्य एग्री बिजनेस एवं ग्रामीण रूपांतरण परियोजना' (State of Maharshtra Agri Business and Rural Transformation- SMART) भी कहा जाता है, जिसे 7 साल में राज्य के सभी जिलों में लागू किया जाएगा।
  • यह बिचौलियों की संख्या में कमी करने और किसान उत्पादक संगठनों की आय बढ़ाने में मदद करेगा। इस परियोजना के तहत, तकनीकी सहायता और बुनियादी ढांचे के विकास के लिए किसानों को वित्तीय सहायता दी जाएगी।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के 6.1 लाख लाभार्थियों को ‘प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण’ (पीएमएवाई-जी) [Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin (PMAY-G)] के अंतर्गत लगभग 2691 करोड़ रुपये की सहायता राशि जारी की।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस सहायता में 5.30 लाख लाभार्थियों को आर्थिक सहायता की पहली किस्त और 80 हजार लाभार्थियों को दूसरी किस्त प्राप्त हुई।

  • प्रधानमंत्री ने ‘2022 तक सभी को घर’ दिये जाने का आह्वान करते हुए 20 नवंबर, 2016 को प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण’ का शुभारंभ किया था।
  • इस योजना के अंतर्गत अब तक 1.26 करोड़ घर पहले ही बनाए जा चुके हैं। पीएमएवाई-जी के अंतर्गत मैदानी इलाकों में प्रत्येक लाभार्थी को घर बनाने के लिए 1.20 लाख रुपये, जबकि पहाड़ी क्षेत्रों (पूर्वोत्तर राज्यों/ दुर्गम स्थानों/ जम्मू कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित क्षेत्रों/ आईएपी/ एलडबल्यूई जिलों) के लोगों को 1.30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती है।
  • पीएमएवाई-जी के लाभार्थियों को घर के अलावा महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MGNREGS) के अंतर्गत अकुशल कामगार श्रेणी के रूप में भी मदद दी जाती है।
  • साथ ही शौचालय निर्माण के लिए स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण (एसबीएम-जी), MGNREGS या अन्य स्रोतों से 12,000 रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

बैड बैंक


गैर-निष्पादित संपत्तियों (एनपीए), या डिफॉल्ट ऋणों की समस्या तथा महामारी से तनावग्रस्त क्षेत्र को देखते हुए आरबीआई गवर्नर एक 'बैड बैंक' (bad bank) स्थापित करने के प्रस्ताव के लिए सहमत हुए हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: बैड बैंक एक आर्थिक अवधारणा है, जिसके अंतर्गत आर्थिक संकट के समय घाटे में चल रहे बैंकों द्वारा अपनी देयताओं को एक नए बैंक को स्थानांतरित कर दिया जाता है।

  • तकनीकी रूप से, एक बैड बैंक एक परिसंपत्ति पुनर्निर्माण कंपनी (Asset Reconstruction Company- ARC) या एक परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी है, जो वाणिज्यिक बैंकों के बैड लोन (bad loans) को अपने नियंत्रण में लेती है, उनका प्रबंधन करती है और अंत में एक समय अवधि में धन की वसूली करती है।
  • बैड बैंक ऋण देने और जमा लेने की प्रक्रिया में शामिल नहीं है, लेकिन वाणिज्यिक बैंकों को अपनी बैलेंस शीट परिशोधन करने और बैड लोन समस्या के समाधान में सहायता करते हैं।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका स्थित 'मेल्लोन बैंक' (Mellon Bank) ने 1988 में पहला बैड बैंक बनाया, जिसके बाद यह अवधारणा स्वीडन, फिनलैंड, फ्रांस और जर्मनी सहित अन्य देशों में लागू की गई है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

विश्‍व प्रसिद्ध कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. वी शांता का निधन


विश्व प्रसिद्ध कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. वी शांता का 19 जनवरी, 2021 को चेन्नई में निधन हो गया। वे 93 वर्ष की थीं।

  • डॉक्टर शांता चेन्नई में अड्यार कैंसर संस्थान की अध्यक्ष थी। उन्होंने 1955 में प्रशिक्षु के तौर पर अस्पताल में काम शुरू किया और फिर संस्थान की प्रमुख बनी।
  • मरीजों को उत्तम और किफायती इलाज उपलब्ध कराने के लिए संस्थान के अध्यक्ष के तौर पर उन्होंने अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों के साथ मिलकर काम किया।
  • 60 वर्ष से अधिक के अपने करियर में, उन्होंने कैंसर रोगियों की देखभाल, रोग का अध्ययन, इसकी रोकथाम और नियंत्रण, कैंसर रोग विज्ञान के विभिन्न पहलुओं में विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित किया।
  • डॉ. शांता मार्च 2005 तक कैंसर पर विश्व स्वास्थ्य संगठन सलाहकार समिति में शामिल थी। वह कैंसर पर राज्य सलाहकार बोर्ड की संयोजक भी थीं, और कई आईसीएमआर समितियों की सदस्य रही हैं।
  • उन्हें 1986 में पद्म श्री, 2006 में पद्म भूषण और 2016 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। 2005 में उन्हें सार्वजनिक सेवा के लिए रेमन मैग्सेसे पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

वर्ष का भारतीय व्यक्तित्व पुरस्कार


16 जनवरी, 2021 को गोवा में भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह के 51वें संस्करण में हिंदी और बंगाली सिनेमा के जाने-माने दिग्गज अभिनेता, निर्माता, निर्देशक और गायक बिस्वजीत चटर्जी को वर्ष के भारतीय व्यक्तित्व पुरस्कार (Indian Personality of the Year Award) से सम्मानित किए जाने की घोषणा की।

  • यह पुरस्कार उन्हें मार्च 2021 में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्रदान किए जाने के अवसर पर दिया जाएगा।
  • बिस्वजीत चटर्जी को फिल्म ‘बीस साल बाद’ में कुमार विजय सिंह, ‘कोहरा’ में राजा अमित कुमार सिंह, ‘अप्रैल फूल’ में अशोक, ‘मेरे सनम’ में रमेश कुमार, ‘नाइट इन लंदन’ में जीवन, ‘दो कलियां’ में शेखर और फिल्म ‘किस्मत’ में विक्की जैसे किरदारों के लिए जाना जाता है।
  • उनकी कुछ प्रमुख बंगाली फिल्मों में ‘चौरंगी’ (1968) और उत्तम कुमार के साथ ‘गढ़ नसीमपुर’, इसके बाद में ‘श्रीमान पृथ्वीराज’ (1973), ‘जय बाबा तारकनाथ’ (1977) और ‘अमर गीती’ (1983) शामिल हैं।
  • बिस्वजीत ने वर्ष 1975 में अपनी फिल्म ‘कहते हैं मुझको राजा’ का निर्माण और निर्देशन किया।

सामयिक खबरें आर्थिकी

विस्‍टा-डोम कोच


रेल मंत्रालय के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 17 जनवरी, 2021 को शुरू की गई आठ ट्रेनों में से अहमदाबाद- केवडिया जनशताब्दी एक्सप्रेस में आधुनिक विस्टा-डोम (Vistadome coach) कोच लगाये गए हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: विस्टाडोम कोच भारतीय रेलवे द्वारा निर्मित एक अत्याधुनिक कोच है, जो यात्रियों को यात्रा के आराम के साथ-साथ मनोरम दृश्य का अनुभव प्रदान करते हैं।

  • जनशताब्दी एक्सप्रेस में विस्टाडोम कोच का निर्माण चेन्नई, तमिलनाडु में 'इंटीग्रल कोच फैक्ट्री' (Integral Coach Factory) में किया गया है।
  • पहली बार विस्टाडोम कोच भारत में ट्रेनों के लिए यात्री कोचों के लिए बनाये गये 'लिंके हॉफमैन बस' (Linke Hofmann Busch-LHB) प्लेटफार्म पर बनाया गया।

विस्टाडोम कोच की प्रमुख विशेषताएं: केवडिया के दर्शनीय मार्ग का अनुभव करने के लिए यात्रियों के लिए एक बड़ी खिड़की के साथ एक अवलोकन लाउंज (observation lounge) है।

  • कोच में फ्लाइट्स के समान फोल्ड करने योग्य स्नैक टेबल (foldable snack tables), ब्रेल भाषा के साथ सीट नंबर, जीपीएस-आधारित सार्वजनिक-पता-सह यात्री सूचना प्रणाली (GPS-based public-address-cum passenger information system) के साथ डिजिटल डिस्प्ले स्क्रीन और स्पीकर के साथ एकीकृत एक एंटरटेनमेंट सिस्टम भी हैं।
  • कोच में सीसीटीवी निगरानी, फायर अलार्म सिस्टम और एक एलईडी गंतव्य बोर्ड भी है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

ओपन स्काई संधि


रूस ने 15 जनवरी, 2021 'ओपन स्काई संधि' (Open Skies Treaty) से अलग होने की घोषणा की है।

संधि का उद्देश्य: सदस्य देशों के बीच आपसी खुलेपन के माध्यम से विश्वास का निर्माण करना है, जिससे आकस्मिक युद्ध की संभावना कम हो जाती है।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह संधि 30 से अधिक देशों के बीच एक समझौता है, जो सदस्य देशों को उनके साथी सदस्य देशों के किसी भी हिस्से में निहत्थे निगरानी विमानों को उड़ाने की अनुमति देती है।

  • रूस पर समझौते के उल्लंघन करने के आरोपों के बाद अमेरिका ने पहले ही इस संधि को छोड़ दिया था। रूस ने अब संधि छोड़ने के अपने फैसले के लिए अमेरिका को दोषी ठहराया है।
  • 1955 में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ड्वाइट आइजनहावर द्वारा शीत युद्ध के दौरान तनाव को कम करने के साधन के रूप में इस संधि को प्रस्तावित किया गया था।
  • सोवियत संघ के विघटन के बाद नाटो सदस्यों और पूर्व वारसॉ समझौते वाले देशों के बीच 1992 में ऐतिहासिक संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे।
  • यह संधि 2002 में प्रभावी हुई और इसमें 35 हस्ताक्षरकर्ता थे, जिनमें प्रमुख देश अमेरिका और रूस भी थे।
  • संधि के तहत, एक सदस्य देश अन्य देश की सहमति से 72 घंटे पहले नोटिस देकर उसके किसी भी हिस्से पर हवाई निगरानी कर सकता है और 24 घंटे पहले अपनी सटीक उड़ान पथ साझा कर सकता है।
  • सैन्य गतिविधियों, सैन्य अभ्यास और मिसाइल तैनाती पर एकत्रित जानकारी को सभी सदस्य देशों के साथ साझा करना होता है।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

5जी बैंड


जनवरी 2021 में दूरसंचार विभाग (DoT) द्वारा दूरसंचार कंपनियों और अन्य उद्योग विशेषज्ञों से 5जी बैंड (5G bands) सहित अगले 10 वर्षों में रेडियो फ्रीक्वेंसी स्पेक्ट्रम की बिक्री और उपयोग पर इनपुट मांगे गए हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: 5जी या पांचवीं पीढ़ी (fifth generation) प्रौद्योगिकी ‘लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन’ (Long-Term Evolution- LTE) मोबाइल ब्रॉडबैंड नेटवर्क में नवीनतम अपग्रेड है।

  • 5जी मुख्य रूप से 3 बैंड में काम करता है, अर्थात् निम्न, मध्य और उच्च आवृत्ति स्पेक्ट्रम - जिनमें से सभी के अपने उपयोग के साथ-साथ सीमाएं भी हैं।
  • अधिकतम 100 एमबीपीएस (मेगाबिट्स प्रति सेकंड) स्पीड की सीमा वाला निम्न बैंड स्पेक्ट्रम इंटरनेट की कवरेज और स्पीड तथा तथा डेटा आदान-प्रदान के मामले में काफी भरोसेमंद है।
  • दूसरी ओर, मध्य-बैंड स्पेक्ट्रम, निम्न बैंड की तुलना में अधिक स्पीड प्रदान करता है, लेकिन इसका कवरेज क्षेत्र और सिग्नल प्रसार सीमित है। इस बैंड का उपयोग उद्योगों और विशेष कारखाने इकाइयों द्वारा 'कैप्टिव नेटवर्क' (captive networks) बनाने के लिए किया जा सकता है, जिन्हें उस विशेष उद्योग की जरूरतों के अनुसार ढाला जा सकता है।
  • उच्च-बैंड स्पेक्ट्रम सभी तीन बैंडों में उच्चतम स्पीड प्रदान करता है, लेकिन इसका कवरेज क्षेत्र और सिग्नल प्रसार अत्यंत सीमित है। 5जी के उच्च-बैंड स्पेक्ट्रम में अधिकतम इंटरनेट स्पीड 20 Gbps (गीगा बिट्स प्रति सेकंड) तक है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

महान भारतीय शास्त्रीय संगीतकार उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान का निधन


महान भारतीय शास्त्रीय संगीतकार और पद्म पुरस्कारों से सम्मानित उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान का 17 जनवरी, 2021 को मुंबई में निधन हो गया। वे 89 वर्ष के थे।

  • उत्तर प्रदेश के बदायूं में 3 मार्च, 1931 को जन्मे गुलाम मुस्तफा खान के माता-पिता संगीत पृष्ठभूमि से थे।
  • उनके पिता, उस्ताद वारिस हुसैन खान, प्रसिद्ध संगीतकार उस्ताद मदन बख्श के पुत्र थे, जबकि उनकी मां, साबरी बेगम, उस्ताद इनायत हुसैन खान की बेटी थीं, जिन्हें संगीत के ‘रामपुर-सहसवान घराने’ के संस्थापक का श्रेय दिया जाता है।
  • उन्होंने अपने पिता से शास्त्रीय संगीत का बुनियादी प्रशिक्षण प्राप्त किया और बाद में अपने चचेरे भाई, उस्ताद निसार हुसैन खान से संगीत का अध्ययन और प्रशिक्षण प्राप्त किया।
  • गुलाम मुस्तफा खान को 1991 में पद्म श्री, 2006 में पद्म भूषण और 2018 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। 2003 में उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।


सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

प्रारंभ: स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 16 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘प्रारंभ: स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन’ (Prarambh: Startup India International Summit) को संबोधित किया।

  • सम्मेलन का आयोजन 15-16 जनवरी, 2021 को वाणिज्य तथा उद्योग मंत्रालय के उद्योग तथा आतंरिक व्यापार विभाग द्वारा किया गया।
  • सम्मलेन के दौरान प्रधानमंत्री ने 1000 करोड़ रुपये के ‘स्टार्टअप इंडिया सीड फंड’ की घोषणा की उन्होंने ‘इवोल्यूशन ऑफ स्टार्टअप इंडिया’ शीर्षक से एक पुस्तिका का भी विमोचन किया, जिसमें स्टार्टअप क्षेत्र में भारत की 5 साल के सफर के अनुभवों को दर्ज किया गया है।
  • सम्मलेन का मुख्य फोकस वैश्विक स्तर पर सामूहिक रूप से स्टार्टअप इकोसिस्टम को विकसित करने और मजबूत बनाने के लिए पूरे विश्व के देशों के साथ द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाना था।
  • दो दिवसीय सम्मेलन प्रधानमंत्री द्वारा अगस्त 2018 में काठमांडू में आयोजित चौथे बिम्सटेक शिखर सम्मेलन में की गई घोषणा की दिशा में आगे का कदम है।
  • 16 जनवरी, 2016 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा ‘स्टार्टअप इंडिया पहल’ लॉन्च की गई।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

केवडिया के साथ रेल-कनेक्टिविटी


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 18 जनवरी, 2021 रेल कनेक्टिविटी के माध्यम से केवडिया (स्टैच्यू ऑफ यूनिटी) को जोड़ने वाली आठ ट्रेनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

  • ये ट्रेन हैं- साप्ताहिक केवडिया - वाराणसी महामना एक्सप्रेस, दैनिक दादर- केवडिया एक्सप्रेस, दैनिक अहमदाबाद- केवडिया जनशताब्दी एक्सप्रेस, सप्ताह में दो बार चलने वाली हजरत निजामुद्दीन-केवडिया सम्पर्क क्रांति एक्सप्रेस, साप्ताहिक केवडिया -रीवा एक्सप्रेस, साप्ताहिक चेन्नई- केवडिया एक्सप्रेस, दैनिक प्रताप नगर- केवडिया एमईएमयू ट्रेन और दैनिक केवडिया -प्रताप नगर एमईएमयू ट्रेन।
  • प्रधानमंत्री ने इसके अलावा दभोई-चंदोद की परिवर्तित ब्रॉड गेज रेललाइन, चंदोद- केवडिया नई ब्रॉड गेज लाइन, प्रतापनगर- केवडिया के नए विद्युतीकृत खंड और दभोई, चंदोद तथा केवडिया स्टेशन के नए भवन का भी उद्घाटन किया।
  • नया केवडिया रेलवे स्टेशन स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से लगभग 6. 5 किमी. की दूरी पर है। केवडिया स्टेशन 'भारतीय ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल' द्वारा हरित भवन (ग्रीन बिल्डिंग) के रूप में प्रमाणित होने वाला भारत का पहला रेलवे स्टेशन होगा।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

‘जो’ नाम का कबूतर


26 दिसंबर, 2020 को ‘जो’ (Joe) नाम का कबूतर उस वक्त बहुत चर्चित हुआ, जब मेलबर्न में 'अमेरिकी पहचान' का टैग पहने इसे देखा गया था।

  • ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों ने 'जो' नामक कबूतर को संयुक्त राज्य अमेरिका से देश में प्रवेश करने के संदेह में जैव सुरक्षा जोखिम के रूप में घोषित कर मार डालने का फैसला किया था।
  • हालांकि, बाद में अधिकारियों को इस टैग पर शक हुआ और पाया कि यह स्थानीय ही है और इससे जैव सुरक्षा का खतरा नहीं है।
  • देश के बाहर का कोई भी पक्षी जैव विविधता जोखिम है, क्योंकि यह रोग वाहक हो सकता है, जैसे कि एवियन इन्फ्लूएंजा, न्यूकैसल रोग (Newcastle disease), कबूतर पैरामिक्सोवायरस टाइप 1 (पीपीएमवी -1) संक्रमण, एवियन पैरामाइक्सोवायरस टाइप 3 (APMV-3) संक्रमण आदि।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का तीसरा चरण


15 जनवरी, 2021 को देश के सभी राज्यों के 600 जिलों में ‘प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तीसरे चरण’ का शुभारम्भ किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (एमएसडीई) की अगुआई वाले इस चरण में नए-युग और कोविड से संबंधित कौशल पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

  • ‘स्किल इंडिया मिशन पीएमकेवीवाई 3.0’ में 948.90 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ 2020-2021 की योजना अवधि के दौरान आठ लाख उम्मीदवारों को प्रशिक्षण देने की परिकल्पना की गई है।
  • 729 प्रधानमंत्री कौशल केंद्र (पीएमकेके), स्किल इंडिया के तहत सूची में शामिल गैर-पीएमकेके प्रशिक्षण केंद्र और 200 से अधिक आईटीआई कुशल पेशेवरों का एक मजबूत पूल बनाने के लिए पीएमकेवीवाई 3.0 प्रशिक्षण शुरू किया गया है।
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 15 जुलाई, 2015 को ‘स्किल इंडिया मिशन’ का शुभारम्भ किया गया था। भारत को विश्व की ‘कौशल राजधानी’ बनाने के दृष्टिकोण से ‘प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना’ के शुभारम्भ से इस मिशन को जबरदस्त गति प्राप्त हुई है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

एलसीए तेजस एमके-1ए लड़ाकू विमान


13 जनवरी, 2021 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) से 83 हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) ‘तेजस’ खरीदने की मंजूरी प्रदान की।

महत्वपूर्ण तथ्य: 45,696 करोड़ रुपये की लागत से 73 एलसीए तेजस एमके-1ए लड़ाकू विमान (LCA Tejas Mk-1A fighter aircrafts) और 10 एलसीए तेजस एमके-1 ट्रेनर विमान की खरीद को मंजूरी प्रदान की गई। इसके साथ ही डिजाइन और बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 1,202 करोड़ रुपये भी मंजूर किए गए हैं।

  • हल्के लड़ाकू विमान एमके-1ए स्वदेश में डिजाइन, विकसित और निर्मित अत्याधुनिक ‘आधुनिक 4+ पीढ़ी के लड़ाकू विमान’ (modern 4+ generation fighter aircraft) हैं।
  • यह विमान इलेक्ट्रॉनिक रूप से स्कैन किए गए सक्रिय एरे रडार (Active Electronically Scanned Array –AESA Radar), दृश्य सीमा से परे (Beyond Visual Range) मिसाइल, इलेक्ट्रॉनिक युद्धक्षमता और एयर टू एयर रिफ्यूलिंग (Air to Air Refuelling) की महत्वपूर्ण परिचालन क्षमताओं से लैस है।
  • यह 50% की स्वदेशी सामग्री के साथ लड़ाकू विमानों की पहली "खरीद (भारतीय-स्वदेशी रूप से डिजाइन, विकसित और निर्मित)" श्रेणी है, जो कार्यक्रम के अंत तक धीरे-धीरे 60% तक पहुंच जाएगी।
  • मंत्रिमंडल ने परियोजना के तहत भारतीय वायु सेना द्वारा बुनियादी ढाँचे के विकास को भी मंजूरी दे दी ताकि वे अपने बेस डिपो में मरम्मत या सर्विसिंग को सक्षम कर सकें, जिससे मिशन महत्वपूर्ण प्रणाली (mission critical systems) के लिए विमान में माल लादने और उतारने का समय कम हो जाए और परिचालन के लिए विमान की उपलब्धता बढ़ सके।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

अस्मी


14 जनवरी, 2021 को रक्षा मंत्रालय के अनुसार रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) तथा भारतीय सेना द्वारा संयुक्त रूप से भारत की पहली स्वदेशी ‘9 एमएम मशीन पिस्तौल’ (9mm Machine Pistol) विकसित की गई है, जिसका नाम ‘अस्मी’ (Asmi) रखा गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: अस्मी का अर्थ गर्व, आत्मसम्मान तथा कठिन परिश्रम है।

  • इस हथियार का डिजाइन और विकास कार्य इन्फैंट्री स्कूल, महू तथा डीआरडीओ के आयुध अनुसंधान और विकास प्रतिष्ठान (एआरडीई), पुणे द्वारा अपनी विशेषज्ञताओं का उपयोग करते हुए किया गया है।
  • मशीन पिस्तौल 9 एमएम हथियार (गोला बारूद) को दागता है। इसका ऊपरी रिसीवर एयरक्राफ्ट ग्रेड एलुमिनियम से तथा निचला रिसीवर कार्बन फाइबर से बना है। ट्रिगर घटक (trigger components) सहित इसके विभिन्न भागों की डिजाइनिंग और प्रोटोटाइपिंग में 3डी प्रिटिंग प्रक्रिया का इस्तेमाल किया गया है।

महत्व: सशस्त्र बलों में हेवी वेपन डिटेंचमेंट, कमांडरों, टैंक तथा विमानकर्मियों, ड्राइवर/डिस्पैच राइडरों, रेडियो/रडार संचालकों, चरमपंथ विरोधी तथा आतंकवाद विरोधी कार्यवाइयों में व्यक्तिगत हथियार के रूप में इसकी क्षमता काफी अधिक है। इसका इस्तेमाल केंद्रीय तथा राज्य पुलिस संगठनों के साथ-साथ वीआईपी सुरक्षा ड्यूटियों तथा पुलिसिंग में किया जा सकता है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

रिस्क-ओ-मीटर


म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए जोखिम को ठीक तरह से पहचानने के लिए बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) का 'रिस्क-ओ-मीटर' (Risk-o-meter) 1 जनवरी, 2021 से लागू हो गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: 5 अक्टूबर, 2020 को जारी अपने परिपत्र में, नियामक ने म्यूचुअल फंड हाउसों के लिए अपनी योजनाओं के जोखिम स्तर को छ-स्तरीय पैमाने 'निम्न' से 'बहुत उच्च' तक श्रेणीबद्ध करने को अनिवार्य कर दिया था।

  • 1 जनवरी से शुरू होने वाले सभी म्यूचुअल फंड अपनी योजनाओं की विशेषताओं के आधार पर लॉन्च के समय अपनी योजनाओं के लिए एक जोखिम स्तर प्रदान करते हैं।
  • रिस्क-ओ-मीटर का मूल्यांकन मासिक आधार पर किया जाएगा।
  • फंड हाउसों को अपनी वेबसाइट के साथ-साथ एसोसिएशन ऑफ म्युचुअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) की वेबसाइट पर अपनी सभी योजनाओं के लिए पोर्टफोलियो प्रकटीकरण के साथ रिस्क-ओ-मीटर जोखिम स्तर का खुलासा हर महीने के अंत के 10 दिन पहले करना आवश्यक है।
  • किसी योजना के संबंध में रिस्क-ओ-मीटर रीडिंग में कोई भी परिवर्तन होने पर उस योजना के यूनिट-धारकों को सूचित किया जाएगा।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

एनसीएवीईएस इंडिया फोरम 2021


जनवरी 2021 में सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा आभासी प्रारूप में संयुक्त राष्ट्र सांख्यिकी प्रभाग (UNSD), यूरोपीय संघ और संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण के सहयोग से ‘एनसीएवीईएस इंडिया फोरम 2021' (NCAVES India Forum 2021) का आयोजन किया जा रहा है।

महत्वपूर्ण तथ्य: 2017 में, यूरोपीय संघ ने 'प्राकृतिक पूंजी लेखा और पारिस्थितिकी तंत्र सेवाओं का मूल्यांकन- एनसीएवीईएस' (Natural Capital Accounting and Valuation of Ecosystem Services- NCAVES) नामक एक परियोजना शुरू की।

  • इस परियोजना का उद्देश्य राष्ट्रों को ‘पर्यावरण-आर्थिक लेखांकन’ विशेष रूप से ‘पारिस्थितिक तंत्र लेखांकन’ पर ज्ञान को आगे बढ़ाने में मदद करना है ताकि सतत आर्थिक विकास सुनिश्चित किया जा सके।
  • एनसीएवीईएस परियोजना को पांच देशों - भारत, ब्राजील, चीन, मैक्सिको और दक्षिण अफ्रीका में संयुक्त राष्ट्र सांख्यिकी प्रभाग (UNSD), संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) और जैव विविधता अभिसमय (CBD) सचिवालय द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है।
  • 'प्राकृतिक पूंजी' नवीकरणीय और गैर-नवीकरणीय संसाधनों (जैसे पौधों, जानवरों, हवा, पानी, मिट्टी, खनिज) के भंडार के लिए प्रयुक्त एक शब्द है, जो लोगों को लाभों के प्रवाह के लिए जोड़ती है।
  • ‘प्राकृतिक पूंजी लेखा’ व्यक्तिगत पर्यावरणीय संपत्ति या जैविक और अजैविक संसाधनों (जैसे पानी, खनिज, ऊर्जा, लकड़ी, मछली) के लिए लेखांकन के साथ-साथ पारिस्थितिकी तंत्र परिसंपत्तियों (जैसे वन; आर्द्रभूमि), जैव विविधता और पारिस्थितिकी तंत्र सेवाओं के लेखांकन को कवर करता है।
  • सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय ने पिछले तीन वर्षों के दौरान एनसीएवीईएस परियोजना के तहत कई पहल शुरू की हैं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप वेब पोर्टल/ऐप

नवोन्मेष पोर्टल


केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 14 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान- भारत [National Innovation Foundation (NIF) – India] द्वारा विकसित एक ‘नवोन्मेष पोर्टल’ (Innovation Portal) राष्ट्र को समर्पित किया।

  • इस राष्ट्रीय नवोन्मेष पोर्टल पर वर्तमान में इंजीनियरिंग, कृषि, पशु चिकित्सा और मानव स्वास्थ्य को कवर करते हुए देश के आम लोगों के लगभग 1.15 लाख नवाचारों का ब्यौरा है।
  • वर्तमान में इसमें ऊर्जा, यांत्रिक, ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स, घरेलू, रासायनिक, सिविल, वस्त्र, खेती/फसल संबंधी, भंडारण, पौधों के प्रकार, पौधों की सुरक्षा, कुक्कुट, मवेशी प्रबंधन जैसे कई विषयों पर नवाचार को कवर किया गया है।
  • राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान- भारत, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (DST), भारत सरकार की स्वायत्तशासी संस्था है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप समझौते/संधि

सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत-जापान सहयोग


भारत और जापान ने 15 जनवरी, 2021 को सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

  • दूरसंचार विभाग और जापान के संचार मंत्रालय 5G प्रौद्योगिकियों, दूरसंचार सुरक्षा, भारत के द्वीपों के लिए पनडुब्बी ऑप्टिकल फाइबर केबल प्रणाली, स्पेक्ट्रम प्रबंधन, स्मार्ट शहरों, बिना कनेक्टिविटी वाले क्षेत्रों में ब्रॉडबैंड के लिए अधिक ऊंचाई वाले प्लेटफॉर्म, आपदा प्रबंधन और सार्वजनिक सुरक्षा आदि में आपसी सहयोग बढ़ाएंगे।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

सेना दिवस


15 जनवरी

महत्वपूर्ण तथ्य: भारतीय सेना ने 15 जनवरी को अपना 73वां सेना दिवस मनाया। भारतीय सेना हर वर्ष 15 जनवरी को 'सेना दिवस' के रूप में मनाती है।

  • वर्ष 1949 में इसी दिन जनरल के.एम. करियप्पा (बाद में फील्ड मार्शल) ने अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल सर फ्रांसिस रॉबर्ट रॉय बुचर से सेना की कमान संभाली थी। वे स्वतंत्रता के बाद भारतीय सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ बने थे।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

सीएसआईआर-राष्ट्रीय विज्ञान संचार और नीति अनुसंधान संस्थान


केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 14 जनवरी, 2021 को नई दिल्ली में वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के नए संस्थान सीएसआईआर-राष्ट्रीय विज्ञान संचार और नीति अनुसंधान संस्थान [CSIR-National Institute of Science Communication and Policy Research (NIScPR)] का उद्घाटन किया।

  • नया संस्थान, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, समाज और विज्ञान संचार व नीति अनुसंधान के इंटरफेस पर काम करने वाले ‘सीएसआईआर-राष्ट्रीय विज्ञान संचार एवं सूचना स्रोत संस्थान’ (CSIR-NISCAIR) और ‘सीएसआईआर-राष्ट्रीय विज्ञान, प्रौद्योगिकी और विकास अध्ययन संस्थान’ (CSIR-NISTADS) नामक सीएसआईआर के दो प्रतिष्ठित संस्थानों के विलय के बाद स्थापित किया गया है।
  • नए संस्थान का उद्देश्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार (एसटीआई) नीति अनुसंधान और संचार के क्षेत्र में समझ विकसित करने के लिए विश्व स्तर पर एक सम्मानित थिंक टैंक और संसाधन केंद्र के रूप में उभरने की दृष्टि से दो संस्थानों की शक्ति को समन्वित तरीके से एकजुट करना है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

मोनपा हस्तनिर्मित कागज उद्योग


दिसंबर 2020 में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय के अनुसार खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के समर्पित प्रयासों के फलस्वरूप 1000 वर्ष पुरानी परंपरागत कला अरुणाचल प्रदेश का मोनपा हस्तनिर्मित कागज उद्योग (Monpa Handmade Paper) जो विलुप्त होने के कगार पर पहुँच गया था, का पुनरुद्धार किया गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: मोनपा हस्तनिर्मित कागज निर्माण कला की शुरूआत 1000 वर्ष पूर्व हुई थी और धीरे-धीरे यह कला अरुणाचल प्रदेश के तवांग में स्थानीय रीति-रिवाजों और संस्कृति का अभिन्न हिस्सा बन गई।

  • एक समय में इस हस्तनिर्मित कागज का उत्पादन तवांग के प्रत्येक घर में होता था और यह स्थानीय लोगों के लिए आजीविका का एक प्रमुख स्रोत बन गया था। इसे स्थानीय भाषा में ‘मोन शुगु’ (Mon Shugu) कहा जाता है।
  • इस कागज का एक बहुत बड़ा ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व है, क्योंकि यह बौद्ध मठों में धर्मग्रंथों और स्तुति गान लिखने के लिए उपयोग किया जाने वाला कागज है।
  • मोनपा हस्तनिर्मित कागज, ‘शुगु शेंग’ (Shugu Sheng) नामक स्थानीय पेड़ की छाल से बनाया जाएगा, जो औषधीय गुणों से युक्त है।
  • पिछले 100 वर्षों से लगभग गायब हो चुके इस हस्तनिर्मित कागज उद्योग की प्राचीन कला का पुनरुद्धार करने की योजना के तहत केवीआईसी द्वारा तवांग में मोनपा हस्तनिर्मित कागज निर्माण इकाई की शुरूआत की गई है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

विनिर्माण, खनन क्षेत्र और सेवा क्षेत्र के लिए मॉडल स्थायी आदेशों का मसौदा


औद्योगिक संबंध संहिता, 2020 की धारा 29 के अनुसार केंद्र सरकार ने 2 जनवरी, 2021 को विनिर्माण, खनन क्षेत्र और सेवा क्षेत्र के लिए मॉडल स्थायी आदेशों के मसौदे को आधिकारिक राजपत्र में प्रकाशित किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: सेवा क्षेत्र की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए, पहली बार सेवा क्षेत्र के लिए एक अलग स्थायी आदेश मॉडल तैयार किया गया है।

मुख्य विशेषताएं: नियोक्ता द्वारा अपने औद्योगिक प्रतिष्ठान या उपक्रम से संबंधित मामलों के संबंध में मॉडल स्थायी आदेश को अपनाने पर इसे प्रमाणित माना जाएगा।

  • औद्योगिक प्रतिष्ठान द्वारा अपनाए गए मॉडल स्थायी आदेश औद्योगिक प्रतिष्ठान की अन्य सभी औद्योगिक इकाइयों पर लागू होंगे, भले ही वह किसी भी स्थान पर हो।
  • क्षेत्र-विशिष्ट आवश्यकताओं पर कुछ लचीलापन प्रदान करने के साथ तीनों मॉडल स्थायी आदेशों में एकरूपता रखी गई है।
  • तीनों मॉडल स्थायी आदेश इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से श्रमिकों को सूचना के प्रसार में सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग के लिए नियोक्ता को प्रोत्साहन देते हैं।
  • सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग को सुरक्षा प्रदान करने हेतु, ‘किसी भी सूचना प्रौद्योगिकी प्रणाली, नियोक्ता/ग्राहक/क्लाइंट के कंप्यूटर नेटवर्क में अनधिकृत पहुंच में शामिल होने को’ एक कदाचार के रूप में निर्धारित किया गया है।
  • सेवा क्षेत्र के लिए मॉडल स्थायी आदेश में ‘घर से कार्य’ (Work from home) की अवधारणा को औपचारिक रूप दिया गया है।
  • रेल यात्रा सुविधा का विस्तार खनन क्षेत्र के श्रमिकों के लिए किया गया है। वर्तमान में, इसका उपयोग केवल कोयला खदानों के श्रमिकों द्वारा किया जा रहा है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

सी-विजिल-21


हर दूसरे साल होने वाले समुद्री रक्षा अभ्यास ‘सी-विजिल-21’ (Sea Vigil-21) के दूसरे संस्करण का आयोजन 12-13 जनवरी 2021 को किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: समुद्री रक्षा अभ्यास के पहले संस्करण का आयोजन जनवरी 2019 में हुआ था।

  • इस अभ्यास में समुद्र के तटवर्ती क्षेत्र में मौजूद देश के 13 राज्य और केंद्र-शासित प्रदेश, मत्स्य पालन करने वाले और तटवर्ती इलाकों में रहने वाले समुदाय भी शामिल हुए।
  • करीब 7516 किमी. वाले तटवर्ती और अनन्य आर्थिक क्षेत्र के दायरे में इस अभ्यास का आयोजन किया गया। अभ्यास का समन्वय भारतीय नौसेना द्वारा किया गया।
  • यह अभ्यास भारतीय नौसेना के थिएटर लेवल अभ्यास ‘ट्रोपेक्स’ ([Theatre-level Readiness Operational Exercise (TROPEX)] की दिशा में उठाया गया कदम है, जो कि हर दो साल में आयोजित किया जाता है।
  • ‘सी विजिल’ और ‘ट्रोपेक्स’ अभ्यास मिलकर शांति से संघर्ष के बदलाव की परिस्थितियों सहित समुद्री इलाकों की चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से सक्षम है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

विज्ञान एवं तकनीकी सहयोग के लिए भारत- यूएई समझौता


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 13 जनवरी, 2021 को भारत के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के नेशनल सेंटर ऑफ मेट्रोलॉजी (National Centre of Meteorology- NCM) के बीच विज्ञान एवं तकनीकी सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन को मंजूरी प्रदान की।

समझौता ज्ञापन के तहत प्रस्ताव: जलवायु सूचना सेवाओं और उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के पूर्वानुमान के लिए उपग्रह डेटा उपयोग पर केंद्रित अनुसंधान, प्रशिक्षण, परामर्श के उद्देश्य से वैज्ञानिकों, अनुसंधानकर्ताओं और विशेषज्ञों के अनुभव / यात्राओं का आदान-प्रदान।

  • आपसी सहमति से समुद्री जल पर ‘मौसम संबंधी पर्यवेक्षण नेटवर्क’ (Meteorological observation networks) स्थापित करना।
  • ‘सुनामी पूर्व चेतावनी केन्द्रों में’ सुनामी पूर्वानुमान कार्य के लिए विशेष रूप से डिजाइन किया गया पूर्वानुमान संबंधी सॉफ्टवेयर स्थापित करने के लिए सहयोग।
  • अरब सागर और ओमान सागर में सुनामी पैदा करने में सक्षम भूकंप संबंधी गतिविधियों के अध्ययन हेतु ‘भूकंप विज्ञान’ के क्षेत्र में सहयोग।
  • ‘रेत और धूल भरी आंधी के संबंध में पूर्व चेतावनी प्रणाली’ के क्षेत्र में जानकारी का आदान-प्रदान।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता डी. प्रकाश राव का निधन


प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता डी. प्रकाश राव का 13 जनवरी, 2021 को कटक में निधन हो गया। वे 63 वर्ष के थे।

  • पद्म श्री, से सम्मानित राव को कटक में झुग्गियों में और अनाथ बच्चों को शिक्षा देने के लिए उनके योगदान के लिए जाना जाता था।
  • समाज सेवा के लिए पूरा जीवन समर्पित कर देने वाले प्रकाश राव चाय की दुकान चलाकर जीवन यापन करते थे।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप वेब पोर्टल/ऐप

'कोलैबकैड' सॉफ्टवेयर


राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 14 जनवरी, 2021 को इंजीनियरिंग ग्राफिक्स पाठ्यक्रम के छात्रों और संकाय के लिए सम्पूर्ण इंजीनियरिंग समाधान प्रदान करने के लिए संयुक्त रूप से 'कोलैबकैड' (CollabCAD) सॉफ्टवेयर लॉन्च किया।

  • इस पहल का उद्देश्य पूरे देश में छात्रों को रचनात्मकता और कल्पना के मुक्त प्रवाह के साथ 3-डी डिजिटल डिजाइन बनाने और संशोधित करने के लिए एक शानदार मंच प्रदान करना है।
  • यह सॉफ्टवेयर छात्रों को पूरे नेटवर्क में डिजाइन पर सहयोग करने और भंडारण और विजुअलाइजेशन के लिए समान डिजाइन डेटा तक पहुंच में भी सक्षम करेगा।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

गणतंत्र दिवस परेड में बांग्लादेशी सशस्त्र बलों की एक टुकड़ी


26 जनवरी, 2021 को गणतंत्र दिवस परेड में बांग्लादेशी सशस्त्र बलों की एक टुकड़ी राजपथ पर मार्च करती हुई दिखाई देगी। इसमें बांग्लादेश की सशस्त्र सेना के एक 122 सदस्यीय सशस्त्र बल भाग लेगा।

  • बांग्लादेश सशस्त्र बलों के दल में बांग्लादेश की तीनों सेनाओं के सैनिक शामिल हैं।
  • बांग्लादेश टुकड़ी के अधिकांश सैनिक बांग्लादेश सेना की सबसे प्रतिष्ठित इकाइयों पूर्वी बंगाल रेजिमेंट और फील्ड आर्टिलरी रेजिमेंट से से आते हैं, जो 1971 के बांग्लादेश मुक्ति युद्ध में लड़े थे।
  • यह भारत के इतिहास में केवल तीसरी बार है, जब किसी विदेशी सैन्य टुकड़ी को दिल्ली के राजपथ पर राष्ट्रीय परेड में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है। इससे पहले 2016 में फ्रांस और 2017 में संयुक्त अरब अमीरात की सैन्य टुकड़ी ने परेड में हिस्सा लिया था।
  • यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि वर्ष 2021 में बांग्लादेश के मुक्ति युद्ध के 50 वर्ष पूरे हो रहे हैं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

सशस्‍त्र बल सेवानिवृत्‍त सैनिक दिवस


14 जनवरी

महत्वपूर्ण तथ्य: यह दिवस सेना के सेवानिवृत्त कर्मियों की अनुपम सेवा का सम्मान करने के लिए हर वर्ष 14 जनवरी को मनाया जाता है। वर्ष 2021 में पांचवां सशस्त्र बल सेवानिवृत्त सैनिक दिवस मनाया गया।

  • इस दिन को भारतीय सशस्त्र बलों के प्रथम कमांडर-इन-चीफ, फील्ड मार्शल के. एम. करियप्पा द्वारा प्रदान की गई सेवाओं की मान्यता के रूप में चुना गया था, जो 1953 में इसी दिन सेवानिवृत्त हुए थे।
  • वर्ष 1971 के युद्ध में जीत दिलाने वाले पूर्व सैनिकों के सम्मान में पूरे वर्ष 'स्वर्णिम विजय वर्ष' के रूप में मनाया जा रहा है।

सामयिक खबरें राज्य मणिपुर

चेरी ब्लॉसम माओ फेस्टिवल


मणिपुर में, सेनापति जिले में 9 जनवरी, 2021 को ‘चेरी ब्लॉसम माओ फेस्टिवल’ (Cherry Blossom Mao Festival) आयोजित किया गया, जो जिले में गुलाबी मौसम (Pink season) की शुरुआत का प्रतीक है।

  • मणिपुर में सेनापति जिले का ‘माओ क्षेत्र’ चेरी ब्लॉसम के लिए जाना जाता है, एक पौधा जो जापान में लोकप्रिय रूप से ‘सकुरा’ (Sakura) के रूप में जाना जाता है।
  • मणिपुर सरकार 2017 से हर साल त्योहार का आयोजन करती है। फेस्टिवल में माओ शहर के खूबसूरत परिदृश्य को सुंदर चेरी ब्लॉसम फूलों से सजाया गया था।
  • ‘चेरी’ वंश प्रूनस (Prunus) के कई पेड़ों का एक फूल है। पद्म यानी हिमालय चेरी का वैज्ञानिक नाम 'प्रूनस सेरासॉइड्स' (Prunus cerasoides) है। यह हिमालयी क्षेत्र में 1200 मीटर - 2400 मीटर की ऊंचाई पर उगता है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

नॉर्थ ईस्ट वेंचर फंड


जनवरी 2021 में पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय (DoNER) के अनुसार ‘नॉर्थ ईस्ट वेंचर फंड’ (North East Venture Fund -NEVF) स्टार्ट-अप और युवा उद्यमियों के बीच लोकप्रियता हासिल कर रहा है।

उद्देश्य: पूर्वोत्तर क्षेत्र में व्यावसायिक गतिविधियों और कौशल विकास को बढ़ावा देना।

महत्वपूर्ण तथ्य: पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय मंत्रालय ने नॉर्थ ईस्ट डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (NEDFi) के साथ मिलकर नॉर्थ ईस्ट वेंचर फंड की स्थापना की थी।

  • यह 100 करोड़ रुपये की शुरुआती धनराशि का पूर्वोत्तर क्षेत्र का पहला और एकमात्र वेंचर फंड था।
  • फंड स्टार्ट-अप्स में निवेश करने का लक्ष्य रखता है और नए उद्यमिता के लिए संसाधन प्रदान करने के लिए अद्वितीय व्यावसायिक अवसर प्रदान करता है।
  • नॉर्थ ईस्ट वेंचर फंड का मुख्य फोकस खाद्य प्रसंस्करण, हेल्थकेयर, पर्यटन, सेवाओं के पृथक्करण तथा आईटी क्षेत्र में शामिल उद्यमों पर है।
  • इस वेंचर फंड योजना में 5 से 10 साल की लंबी अवधि वाली समय-सीमा के साथ निवेश का आकार 25 लाख रुपये से लेकर 10 करोड़ रुपये के बीच होता है।

पीआईबी न्यूज पर्यावरण

भारतीय चिड़ियाघरों के लिए प्रबंधन प्रभावशीलता मूल्यांकन रुपरेखा


पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने 11 जनवरी, 2021 को भारतीय चिड़ियाघरों के लिए प्रबंधन प्रभावशीलता मूल्यांकन [Management Effectiveness Evaluation of Indian Zoos (MEE-ZOO)] की रूपरेखा को लॉन्च किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह विशेष, समग्र और स्वतंत्र तरीके से प्रबंधन प्रभावशीलता मूल्यांकन प्रक्रिया (MEE-ZOO) के माध्यम से देश के चिड़ियाघरों के मूल्यांकन के लिए दिशा-निर्देशों, मानदंडों और संकेतकों का प्रस्ताव करता है।

  • मूल्यांकन मानदंड और संकेतक में पारंपरिक अवधारणाओं से इतर पशु कल्याण, पशुपालन, स्थायी संसाधन और वित्त शामिल हैं।
  • MEE-ZOO की प्रक्रिया भारत भर में चिड़ियाघरों में उच्चतम मानकों के विकास की दिशा में आगे बढ़ रही है और संकटग्रस्त प्रजातियों (endangered species) के संरक्षण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए जवाबदेही, पारदर्शिता, नवाचार, तकनीक के उपयोग, सहयोग और ईमानदारी के बुनियादी मूल्यों का पालन कर रही है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

ईबीआईटीडीए


जनवरी 2021 में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अनुसार भारत सरकार के स्वामित्व वाले उपक्रम भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) ने इस वित्तीय वर्ष की पहली छमाही में 'ईबीआईटीडीए' (EBITDA) में सकारात्मक कारोबार दिखाया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ब्याज, कर, मूल्यह्रास और परिशोधन से पहले की आय या ‘ईबीआईटीडीए' (Earnings Before Interest, Taxes, Depreciation and Amortisation- EBITDA) कंपनी के समग्र वित्तीय प्रदर्शन को मापता है।

  • बेहतर प्रदर्शन के कारणों में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) (बीएसएनएल का लगभग 50 प्रतिशत कार्यबल और एमटीएनएल का 75 प्रतिशत कम हो गया) की वजह से वेतन बिल में भारी कमी शामिल है।
  • EBITDA का उपयोग अब आमतौर पर कंपनियों के वित्तीय स्वास्थ्य की तुलना करने और विभिन्न कर दरों और मूल्यह्रास नीतियों वाली फर्मों का मूल्यांकन करने के लिए किया जाता है।
  • इसकी कमियों में, EBITDA किसी कंपनी के नकदी प्रवाह का विश्लेषण करने के लिए एक विकल्प नहीं है और कंपनी को यह दिखा सकता है कि जितना उसके पास वास्तव में पैसा है, उसके पास ब्याज भुगतान करने के लिए उससे अधिक पैसा है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

आर पी तिवारी समिति


विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने दिसंबर 2020 में पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति आर पी तिवारी की अध्यक्षता में सात सदस्यीय समिति का गठन किया है, जो अगले शैक्षणिक वर्ष से केवल स्नातक स्तर पर सामान्य प्रवेश परीक्षा के मुद्दे पर विचार करेगी।

महत्वपूर्ण तथ्य: जुलाई 2020 में जारी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी), इन परीक्षाओं के लिए कोचिंग लेने की आवश्यकता को समाप्त करने के लिए प्रवेश परीक्षाओं की संख्या को कम करने की वकालत करती है।

  • शिक्षा मंत्रालय द्वारा लगभग 40 केंद्रीय विश्वविद्यालय संचालित किए जा रहे हैं और, सामूहिक रूप से, सभी में स्नातक स्तर पर विभिन्न विषयों में लगभग 1 से 1.25 लाख सीटें हैं।
  • इनमें से, वर्तमान में लगभग 16 केंद्रीय विश्वविद्यालय, जो सभी यूपीए -2 सरकार द्वारा स्थापित कए गए हैं, में स्नातक अध्ययन के लिए एक सामान्य प्रवेश परीक्षा है।
  • यदि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सुझाव को लागू किया जाता है, तो राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी को केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक में प्रवेश के लिए, वर्ष में कम से कम दो बार विभिन्न विषयों के लिए एक सामान्य योग्यता परीक्षा (common aptitude test) और विशेष सामान्य परीक्षा आयोजित करने का काम सौंपा जाएगा।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

अरुणाचल प्रदेश में वैनेडियम धातु की संभावना


जनवरी 2021 में भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (जीएसआई) द्वारा किए जा रहे अन्वेषण में अरुणाचल प्रदेश में वैनेडियम (Vanadium) धातु की उपस्थिति की संभावना व्यक्त की गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: अरुणाचल प्रदेश के पापुम पारे जिले के डेपो और तमांग क्षेत्रों में पैलेओ-प्रोटरोजोइक युग की कार्बनयुक्त फिलाइट चट्टानों (Carbonaceous Phyllite Rocks) में वैनेडियम के भंडार पाए गए हैं। फिलाइट (Phyllite) एक महीन दानेदार रूपांतरित चट्टान (Metamorphic Rock) है।

  • वैनेडियम, स्टील और टाइटेनियम को मजबूत करने में इस्तेमाल किया जाने वाला उच्च मूल्य का धातु है। इसका प्रतीक (V) है और इसका परमाणु क्रमांक 23 है।
  • यह एक कठोर श्वेत-चाँदी रंग की, तन्य व आघातवर्धक (malleable) धातु है। रासायनिक रूप से यह संक्रमण धातु समूह का सदस्य है।
  • भारत वैनेडियम का एक महत्वपूर्ण उपभोक्ता है, लेकिन इस रणनीतिक धातु का प्राथमिक उत्पादक नहीं है।
  • जीएसआई द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत ने 2017 में दुनिया भर में उत्पादित लगभग 84,000 मीट्रिक टन वैनेडियम के 4% का उपभोग किया। चीन, जो विश्व के 57% वैनेडियम का उत्पादन करता है, ने 44% धातु का उपभोग किया।
  • वैनेडियम का सबसे बड़ा भंडार चीन में है, इसके बाद क्रमशः रूस और दक्षिण अफ्रीका का स्थान है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित व्यक्ति

आर्या राजेंद्रन


दिसंबर 2020 में 21 वर्षीय आर्या राजेंद्रन तिरुवनंतपुरम नगर निगम की सबसे कम उम्र की मेयर बन गई हैं।

  • आर्या ने 2020 के केरल स्थानीय निकाय चुनावों में तिरुवनंतपुरम निगम के मुदवनमुकल वार्ड (Mudavanmukal ward) से जीत हासिल की।
  • सबसे कम उम्र के मेयर का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड अभी माइकल सेशंस के पास है, जो 2005 में 18 साल की उम्र में यूएसए में हिल्सडेल (Hillsdale) के मेयर बने थे।
  • भारत में, 2009 में 21 वर्ष की आयु में राजस्थान में भरतपुर की मेयर बनने वाली सुमन कोली सबसे कम उम्र की मेयर में से एक है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

जाने-माने खगोल वैज्ञानिक प्रोफेसर शशिकुमार चित्रे का निधन


जाने-माने खगोल वैज्ञानिक प्रोफेसर शशिकुमार मधुसूदन चित्रे का 11 जनवरी, 2021 को निधन हो गया। वे 84 वर्ष के थे।

  • वे भारतीय खगोल विज्ञान समुदाय, विशेष रूप से सौर भौतिकी के एक दिग्गज थे। वे 2001 में टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च, मुंबई के वरिष्ठ प्रोफेसर के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे।
  • उनका मुंबई विश्वविद्यालय के कलिना परिसर में ‘मुंबई विश्वविद्यालय - परमाणु ऊर्जा विभाग के बुनियादी विज्ञान में उत्कृष्टता केंद्र’ [University of Mumbai – Department of Atomic Energy Centre for Excellence in Basic Sciences (UM-DAE CEBS)] की स्थापना में महत्वपूर्ण योगदान था।
  • चित्रे ने एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (एएसआई) के अध्यक्ष, इंडियन नेशनल कमेटी फॉर एस्ट्रोनॉमी के अध्यक्ष, बॉम्बे एसोसिएशन फॉर साइंस एजुकेशन के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया था।
  • उन्हें 2012 में पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मनित किया गया था।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

कायाकल्प पुरस्कार


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्द्धन ने सार्वजनिक और निजी स्वास्थ्य सुविधाओं को 12 जनवरी, 2021 को स्वच्छता के उच्च मानकों के लिए 'कायाकल्प पुरस्कार' (Kayakalp award) से सम्मानित किया गया।

  • भारत में सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में स्वच्छता और साफ-सफाई सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने 15 मई, 2015 को एक राष्ट्रीय पहल 'कायाकल्प’ शुरू की थी।
  • इस योजना, में पहले वर्ष में 716 जिला अस्पतालों और केंद्र सरकार के संस्थानों की भागीदारी हुई थी, जो अब 26,172 सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं तक पहुँच गई है।
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय के साथ साझेदारी में ‘स्वच्छ स्वस्थ सर्वत्र कार्यक्रम' (Swachh Swasth Sarvatra programme) शुरू किया था, जिसके तहत ओडीएफ ब्लॉक के भीतर स्थित एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) को सुधार गतिविधियों के लिए 10 लाख रुपये का एकमुश्त अनुदान दिया जाता है, ताकि सीएचसी एक कायाकल्प सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बन सके।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

राष्ट्रीय युवा संसद महोत्‍सव-2021


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 12 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दूसरे ‘राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव-2021’ [National Youth Parliament Festival (NYPF) – 2021] के समापन कार्यक्रम को संबोधित किया।

उद्देश्य: 18 से 25 वर्ष के बीच के युवाओं के विचारों को सुनना, जो मतदान करने का अधिकार रखते हैं और आने वाले वर्षों में सार्वजनिक सेवाओं सहित विभिन्न सेवाओं में शामिल होंगे।

  • दूसरा NYPF 23 दिसंबर, 2020 को शुरू किया गया था।
  • NYPF की अवधारणा प्रधानमंत्री के 31दिसंबर, 2017को अपने ‘मन की बात’ के संबोधन में व्यक्त किए गए विचार पर आधारित है। पहला NYPF जनवरी - फरवरी 2019 में आयोजित किया गया था।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

सिंगल विंडो क्लीयरेंस पोर्टल


भारत में कोयला खदान शुरू करने के लिए जरूरी सभी औपचारिकताओं को पूरा करने और मंजूरियां दिलाने की प्रक्रिया में सहयोग देने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 11 जनवरी, 2021 को कोयला मंत्रालय के ‘सिंगल विंडो क्लीयरेंस पोर्टल’ (Single Window Clearance Portal) का शुभारंभ किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: सिंगल विंडो क्लीयरेंस पोर्टल सरकार के 'न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन' (Minimum Government and Maximum Governance) दृष्टिकोण को मजबूती प्रदान करता है। पोर्टल कोयला क्षेत्र में ‘ई ऑफ डूइंग बिजनेस’ को बढ़ावा देने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा।

  • वर्तमान में, देश में कोयला खदान शुरू करने के लिए 19 बड़ी औपचारिकताओं और मंजूरी लेने की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है।
  • भारत की पहली वाणिज्यिक कोयला खनन नीलामी के विजेताओं के साथ समझौता करने के लिए नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में इस पोर्टल का शुभारंभ किया गया।
  • देश की पहली वाणिज्यिक कोयला खनन नीलामी के 19 सफल बोलीदाताओं को खदानों का आवंटन किया गया। इससे राज्यों को अनुमानित 6500 करोड़ रुपये का राजस्व प्रतिवर्ष प्राप्त होने के अलावा 70,000 से अधिक रोजगार का सृजन होगा।

पीआईबी न्यूज पर्यावरण

राष्ट्रीय उद्यानों और वन्यजीव अभयारण्यों की प्रबंधन प्रभावशीलता का मूल्यांकन


पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने 11 जनवरी, 2021 को देश में 146 राष्ट्रीय उद्यानों और वन्यजीव अभयारण्यों की प्रबंधन प्रभावशीलता का मूल्यांकन (Management Effectiveness Evaluation- MEE) जारी किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: वर्तमान में, भारत में 903 संरक्षित क्षेत्रों के नेटवर्क में देश के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 5% हिस्सा आता है। संरक्षित क्षेत्रों के प्रभाव का आकलन करने के क्रम में प्रबंधन प्रभावशीलता के मूल्यांकन की जरूरत होती है।

  • संरक्षित क्षेत्रों (Protected Area) का प्रबंधन प्रभावशीलता मूल्यांकन संरक्षित क्षेत्रों के प्रबंधकों के लिए एक मुख्य साधन के रूप में उभरा है और सरकारों व अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं द्वारा संरक्षित क्षेत्र प्रबंधन प्रणालियों की क्षमताओं व कमजोरियों को समझने में ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है।
  • वर्तमान मूल्यांकन के परिणाम औसतन 62.01% MEE अंक के साथ उत्साहजनक रहे हैं, जो 56% के वैश्विक औसत से ज्यादा है।
  • मूल्यांकन के इस चरण के साथ, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने 2006 से 2019 तक सभी स्थलीय राष्ट्रीय उद्यानों और वन्यजीव अभायरण्यों के मूल्यांकन के एक चक्र को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है।
  • समुद्री संरक्षित क्षेत्रों के प्रबंधन प्रभावशीलता का मूल्यांकन के लिए एक नया प्रारूप भी भारतीय वन्यजीव संस्थान तथा पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से तैयार किया गया है और यह लागू करने के लिए बहुत उपयोगी दस्तावेज होगा।

अन्य तथ्य: इस वर्ष से प्रत्येक वर्ष देश में 10 सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रीय उद्यानों, 5 तटीय एवं समुद्री उद्यानों और शीर्ष 5 चिड़ियाघरों की सूची जारी की जाएगी और उन्हें पुरस्कृत किया जाएगा।

सामयिक खबरें आर्थिकी

खादी प्राकृतिक पेंट


केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री नितिन गडकरी ने 12 जनवरी, 2021 को अपने आवास पर खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग द्वारा विकसित एक अभिनव पेंट (रंग) लॉन्च किया। इसे ‘खादी प्राकृतिक पेंट’ (Khadi Prakritik Paint) नाम दिया गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह पेंट पर्यावरण अनुकूल, विष-रहित है, जो फफूंद-रोधी, जीवाणु-रोधी गुणों के साथ अपनी तरह का पहला उत्पाद है।

  • मुख्य घटक के रूप में गाय के गोबर पर आधारित यह पेंट किफायती और गंधहीन है, जिसे भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा प्रमाणित किया गया है।
  • खादी प्राकृतिक पेंट दो रूपों यानी डिस्टेंपर पेंट (distemper paint) तथा प्लास्टिक इम्यूलेशन पेंट (plastic emulsion paint) में उपलब्ध है।
  • खादी प्राकृतिक इम्यूलेशन पेंट बीआईएस 15489:2013 मानकों को पूरा करता है, जबकि खादी प्राकृतिक डिस्टेंपर पेंट बीआईएस 428:2013 मानकों को पूरा करता है।
  • खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के अध्यक्ष द्वारा मार्च 2020 में इस परियोजना की अवधारणा तैयार की गई थी। इसके बाद कुमारप्पा नेशनल हैंडमेड पेपर इंस्टीट्यूट, जयपुर (केवीआईसी की इकाई) द्वारा इसे विकसित किया गया।
  • यह पेंट सीसा, पारा, क्रोमियम, आर्सेनिक, कैडमियम तथा अन्य भारी धातुओं से मुक्त है।
  • इस प्रौद्योगिकी से पर्यावरण अनुकूल उत्पादों के लिए कच्चे माल के तौर पर गाय के गोबर की खपत बढ़ेगी और एक अनुमान के अनुसार किसानों/गौशालाओं की प्रति वर्ष, प्रति मवेशी लगभग 30,000 रुपये की अतिरिक्त आय होगी।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

लद्दाख का त्सो कर आर्द्रभूमि क्षेत्र रामसर स्थल के रूप में शामिल


दिसंबर 2020 में भारत ने लद्दाख के ‘त्सो कर आर्द्रभूमि क्षेत्र’ (Tso Kar Wetland Complex) को अपने 42वें रामसर स्थल के रूप में शामिल किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: त्सो कर घाटी एक अत्यधिक ऊंचाई वाला आर्द्रभूमि क्षेत्र है, जहां दो प्रमुख जलप्रपात हैं। चांगथांग क्षेत्र के दक्षिण में लगभग 438 हेक्टेयर क्षेत्र में विस्तृत मीठे पानी की झील 'स्टारत्सपुक त्सो' (Startsapuk Tso) और उत्तर में 1800 हेक्टेयर क्षेत्र में विस्तृत खारे पानी की झील 'त्सो कर' खुद स्थित है।

  • इसे ‘त्सो कर’ कहा जाता है जिसका अर्थ है सफेद नमक। इस क्षेत्र में मौजूद अत्यधिक खारे पानी के वाष्पीकरण के कारण किनारे पर सफेद नमक की पपड़ी पाई जाती है।
  • बर्ड लाइफ इंटरनेशनल के अनुसार त्सो कर घाटी ‘ए1 श्रेणी’ (A1 Category) का एक महत्वपूर्ण पक्षी क्षेत्र (Important Bird Area) है और यह प्रवासी पक्षियों हेतु मध्य एशियाई उड़ान मार्ग का एक महत्वपूर्ण स्थान है।
  • यह स्थान भारत में काले गर्दन वाली सारस पक्षी (वैज्ञानिक नाम-ग्रस नाइग्रीकोलिस) (Grus nigricollis) का एक महत्वपूर्ण प्रजनन क्षेत्र है।
  • यह केंद्र -शासित प्रदेश लद्दाख का दूसरा रामसर स्थल है। इससे पहले लद्दाख का त्सोमोरिरी वेटलैंड रिजर्व को वर्ष 2002 में रामसर स्थल के रूप में नामित किया गया था।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

वयोवृद्ध पत्रकार तुरलापति कुटुम्बा राव का निधन


वयोवृद्ध पत्रकार, लेखक और पद्म श्री से सम्मानित तुरलापति कुटुम्बा राव का 11 जनवरी, 2021 को निधन हो गया। वे 87 वर्ष के थे।

  • राव आंध्र प्रदेश राज्य के पहले मुख्यमंत्री, तंगुटुरी प्रकाशम के निजी सचिव थे। उन्होंने करीब साढ़े तीन दशक तक तेलुगु अखबार 'आंध्र ज्योति' के संपादक और संपादकीय लेखक के रूप में काम किया था।
  • राव ने रिकॉर्ड संख्या में जनसभाओं को संबोधित किया, जिसने उन्हें गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में स्थान दिलाया। उन्होंने कई महत्वपूर्ण व्यक्तियों, देशभक्तों और स्वतंत्रता सेनानियों की जीवनी भी लिखी।
  • पत्रकारिता, साहित्य और कला में उनके बहुमूल्य योगदान के लिए भारत सरकार ने उन्हें 2002 में पद्म श्री से सम्मानित किया था।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

16वां प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन 2021


9 जनवरी, 2021 को 16वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन 2021का वर्चुअल रूप में आयोजन किया गया।

सम्मेलन 2021 का विषय: ‘आत्मनिर्भर भारत में योगदान’।

  • प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन ‘विदेश मंत्रालय’ का एक प्रमुख कार्यक्रम है और यह विदेश में रहने वाले भारतीयों के साथ जुड़ने तथा संबंध स्थापित करने के लिए एक महत्वपूर्ण मंच प्रदान करता है।
  • प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में मुख्य अतिथि सूरीनाम गणराज्य के राष्ट्रपति चंद्रिका प्रसाद संतोखी थे।
  • 2020-21 के लिए प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार विजेताओं के नामों की भी घोषणा की गई।

भारत के प्रवासी सदस्यों को उनकी उपलब्धियों और भारत तथा विदेश दोनों में विभिन्न क्षेत्रों में उनके योगदान को सामने लाने के लिए ‘प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार’ प्रदान किया जाता है।

पृष्ठभूमि: भारत के विकास में प्रवासी भारतीय समुदाय के योगदान को चिह्नित करने के लिए 9 जनवरी को यह दिवस मनाया जाता है, क्योंकि 1915 में इसी दिन महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे थे।

  • वर्ष 2003 में पहला प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का आयोजन किया गया था। वर्ष 2015 से प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन हर दो साल में एक बार आयोजित किया जाता है।

युवा प्रवासी भारतीय दिवस: यह दिवस 8 जनवरी, 2021 को ‘भारत और भारतीय समुदाय से सफल युवाओं को एक साथ लाना’ विषय पर वर्चुअल रूप में मनाया गया।

  • युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा इस आयोजन के लिए विशेष अतिथि न्यूजीलैंड की सामुदायिक और स्वैच्छिक क्षेत्र मंत्री प्रियंका राधाकृष्णन थी।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

उर्जा दक्षता हेतु उपाय


विद्युत मंत्रालय ने ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) के साथ मिलकर 11 जनवरी, 2021 को 30वें राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार समारोह के दौरान ‘एयर कंप्रेशर और यूएचडी टीवी के लिए स्टार लेबलिंग कार्यक्रम’ शुरू किया।

  • एयर कम्प्रेशर और अल्ट्रा हाई डेफिनेशन (Ultra High Definition- UHD) टीवी के लिए स्वैच्छिक आधार पर मानक और लेबलिंग कार्यक्रम को शुरू किया गया।
  • इसके लिए ऊर्जा खपत मानक 1 जनवरी, 2021 से प्रभावी हो गए। इस पहल से 2030 तक एयर कंप्रेशर्स के लिए 8.41 बिलियन यूनिट बिजली और यूएचडी टीवी के लिए 9.75 बिलियन यूनिट बिजली की बचत होने की सम्भावना है।

साथी पोर्टल: इस अवसर पर राज्य स्तर की गतिविधियों के लिए राज्य नामित एजेंसी के लिए एक पोर्टल 'साथी' यानि ऊर्जा दक्षता पर वार्षिक लक्ष्य को लेकर राज्यवार कदम और प्रगति (State-wise Actions on Annual Targets and Headways on Energy Efficiency- SAATHEE) का भी शुभारंभ किया गया।

  • बीईई ने यह प्रबंधन सूचना प्रणाली (एमआईएस) पोर्टल विकसित किया है, जो राज्य स्तर पर विभिन्न ऊर्जा संरक्षण के प्रयासों के कार्यान्वयन की प्रगति की वास्तविक समय की निगरानी की सुविधा प्रदान करेगा।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

लॉन्गिट्यूडिनल एजिंग स्टडी ऑफ इंडिया


स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 6 जनवरी, 2021 को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से ‘लॉन्गिट्यूडिनल एजिंग स्टडी ऑफ इंडिया’ (Longitudinal Ageing Study of India- LASI) वेव-1 रिपोर्ट जारी की।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसमें स्वास्थ्य, आर्थिक तथा सामाजिक निर्धारकों और भारत में बढ़ती उम्र की जनसंख्या के परिणामों की वैज्ञानिक जांच का व्यापक राष्ट्रीय सर्वेक्षण किया गया है।

  • 2011 की जनगणना में 60 वर्ष से अधिक उम्र की आबादी का आंकड़ा भारत की जनसंख्या का 8.6% है।
  • लगभग 3% वार्षिक की वृद्धि के साथ, बुजुर्गों की आबादी 2050 में 31 करोड़ 90 लाख हो जाएगी।
  • 75% बुजुर्ग कुछ पुरानी बीमारियों से पीड़ित हैं। 40% बुजुर्ग किसी न किसी दिव्यांगता से ग्रसित हैं और 20% बुजुर्गों में मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित समस्याएं हैं।
  • यह अध्ययन स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के ‘बुजुर्गों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए राष्ट्रीय कार्यक्रम’ (National Programme for Health Care of Elderly) ने हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ, यूनिवर्सिटी ऑफ सदर्न कैलिफोर्निया, संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष तथा नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एजिंग के सहयोग से मुंबई स्थित इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर पॉपुलेशन साइंसेज के माध्यम से किया है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट


सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने 10 जनवरी, 2021 को उन भारतीय नागरिकों के लिए अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट (IDP) जारी करने की सुविधा के लिए एक अधिसूचना जारी की है, जिनकी IDP विदेश में रहते हुए समाप्त हो गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ऐसे नागरिक, जो विदेश में थे और उनकी IDP समाप्त हो गई थी, के लिए इसके नवीकरण का कोई तंत्र नही था।

  • अब, इस संशोधन के साथ, यह प्रस्तावित है कि भारतीय नागरिक विदेशों में भारतीय दूतावासों/मिशनों के माध्यम से नवीकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं। वहाँ से ये आवेदन भारत में वाहन पोर्टल (VAHAN portal) पर जाएंगे, जिन पर संबंधित आरटीओ द्वारा विचार किया जाएगा।
  • यह अधिसूचना भारत में IDP के लिए अनुरोध करने के समय एक चिकित्सा प्रमाण पत्र और वैध वीजा की शर्तों को भी खत्म करती है।
  • सरकार ने सभी वाहनों से संबंधित डेटा संग्रहीत करने के लिए 'वाहन' नामक एक केंद्रीय निक्षेपागार (central depository) की स्थापना की है।
  • वाहन (Vahan) 'राष्ट्रीय वाहन रजिस्ट्री' है, जो नागरिकों और नियामकों दोनों की आसान पहुंच के लिए सड़क परिवहन अधिकारियों के साथ उपलब्ध सभी सूचनाओं को संग्रह करता है।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

निकारागुआ चिड़ियाघर में पैदा हुआ दुर्लभ सफेद बाघ


जनवरी 2021 में मध्य अमेरिकी देश निकारागुआ के राष्ट्रीय चिड़ियाघर मसाया में, 'नीव' (Nieve) नामक एक दुर्लभ सफेद बाघ का जन्म हुआ।

महत्वपूर्ण तथ्य: स्पेनिश में नीव का अर्थ ‘बर्फ’ है। इसकी माँ द्वारा इसे छोड़ दिए जाने के बाद इंसानों द्वारा इसकी देखभाल की जा रही है।

  • चिड़ियाघर के अनुसार नीव इस देश में पैदा होने वाला पहला सफेद बंगाल टाइगर है, जिसके माता-पिता पीले और काले रंग की धारियों वाले बंगाल टाइगर (Bengal Tiger) हैं।
  • यह सफेद रंग का बाघ 'एक आनुवंशिक विसंगति' के कारण पैदा हुआ है, जिसके किसी भी जंगली बाघ में मौजूद होने की जानकारी नहीं है।

सफेद बाघ: 'सफेद बाघ' बंगाल टाइगर (पैंथेरा टाइग्रिस टाइग्रिस) का एक दुर्लभ रूप है, जो भारत, बांग्लादेश, नेपाल और भूटान में पाया जाता है।

  • ये एक अलग प्रजाति नहीं है, बल्कि इसका सफेद रंग एक जीन के रिसेसिव म्यूटेशन (recessive mutation) यानि कमजोर पड़ जाने का परिणाम है।
  • 2013 में, चीनी शोधकर्ताओं की एक टीम ने पाया कि SLC45A2 नामक वर्णक जीन (pigment gene) इस विशेषता के लिए जिम्मेदार था। सफेद बाघ में इस जीन का ही एक प्रकार होता है, जो लाल और पीले रंग (red and yellow pigments) के उत्पादन को रोकता है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

प्रसिद्ध लेखक वेद मेहता का निधन


प्रसिद्ध भारतवंशी लेखक व उपन्यासकार वेद मेहता का 9 जनवरी, 2021 को मैनहटन, न्यूयॉर्क में निधन हो गया। वे 86 वर्ष के थे।

  • तीन वर्ष की उम्र में मेनिन्जाइटिस के कारण उनकी आंखों की रोशनी चली गई थी। उन्होंने अपनी रचनाओं से अमेरिकी लोगों का भारत से परिचय कराया। मेहता पत्रिका ‘न्यूयॉर्कर’ के साथ करीब 33 साल तक जुड़े रहे।
  • आधुनिक भारत के इतिहास और दृष्टिहीनता की वजह से उनके प्रारंभिक संघर्ष पर आधारित 12 अंकों वाला उनका संस्मरण ‘कॉन्टीनेंट्स ऑफ एक्जाइल’ (Continents of Exile) बहुत प्रसिद्ध हुआ था। इसका पहला अंक ‘डैडी जी’ भी पूरी दुनिया में काफी लोकप्रिय रहा।
  • उन्होंने 24 से अधिक पुस्तकों का लेखन किया। इनमें भारत पर रिपोर्ताज भी शामिल है, जिनमें ‘वाकिंग द इंडियन स्ट्रीट्स’ (1960), ‘पोर्टेट ऑफ इंडिया’ (1970) और ‘महात्मा गांधी एंड हिज अपासल’ (1977) शामिल है। इसके अलावा उन्होंने दर्शन, धर्मशास्त्र और भाषा विज्ञान पर कई रचनाएं लिखीं।
  • मेहता वर्ष 1982 में मैकआर्थर फाउंडेशन के ‘जीनियस ग्रांट’ (genius grant) से सम्मानित हुए थे।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

विज्ञान और प्रौद्योगिकी केंद्रित हैदराबाद क्लस्टर


विज्ञान और प्रौद्योगिकी केंद्रित हैदराबाद क्लस्टर (Hyderabad Cluster) को 8 जनवरी, 2021 को लॉन्च किया गया।

उद्देश्य: वैज्ञानिक उद्यम को प्रोत्साहित करना और सामूहिक प्रदर्शन के प्रति व्यक्तिगत संस्थागत उत्कृष्टता को बढ़ावा प्रदान करना।

  • यह क्लस्टर ऐसे चार भौगोलिक क्लस्टर में से एक है, जिसे केंद्र ने एक सहयोगी वातावरण के माध्यम से विज्ञान, अनुसंधान और नवाचार को बढ़ावा देने हेतु प्रस्तावित किया है।
  • प्रधानमंत्री की विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार सलाहकार परिषद (PM-STIAC) ने हैदराबाद, बेंगलुरु, एनसीआर-दिल्ली और पुणे में विज्ञान और प्रौद्योगिकी केंद्रित क्लस्टर के गठन की सिफारिश की थी।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

भारतीय रेल का स्वर्णिम चतुर्भुज और स्वर्णिम कोणीय रूट


भारतीय रेल ने स्वर्णिम चतुर्भुज और स्वर्णिम कोणीय रूट (GQ-GD route) में 1,612 किमी. में से 1,280 किमी. लंबाई के लिए अधिकतम गति उल्लेखनीय रूप से बढ़ाकर 130 किमी. प्रति घंटा कर एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है।

  • यह विजयवाड़ा - दुव्वाडा खंड (Vijayawada - Duvvada section) को छोड़कर, जहां सिग्नल अप-ग्रेडेशन कार्य प्रगति पर है, दक्षिण मध्य रेलवे के समस्त GQ-GD route को कवर करती है।
  • इन खंडों में तेज गति से बाधाओं को हटाकर ट्रैक और उसके बुनियादी ढांचे की व्यवस्थित और योजनाबद्ध मजबूती के कारण बढ़ी हुई गति सीमा प्राप्त की जा सकी।
  • सिकंदराबाद - काजीपेट (132 किमी. की दूरी) के बीच हाई-डेंसिटी नेटवर्क (High-Density Network- HDN) में अधिकतम गति सीमा पहले ही 130 किमी. प्रति घंटे तक बढ़ा दी गई थी।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

विश्व हिंदी दिवस


10 जनवरी

महत्वपूर्ण तथ्य: इस दिन 1975 में, दुनिया भर में हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से नागपुर में प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन आयोजित किया गया था। वर्ष 2006 से, विदेशों में हिंदी भाषा के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रति वर्ष यह दिवस 10 जनवरी को मनाया जा रहा है।

सामयिक खबरें राज्य जम्मू-कश्मीर

आयुष्मान भारत पीएम-जेएवाई सेहत


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 26 दिसंबर, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से केंद्र-शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में ‘आयुष्मान भारत पीएम-जेएवाई सेहत’ (Ayushman Bharat PM-JAY SEHAT) की शुरुआत की।

उद्देश्य: जम्मू एवं कश्मीर के सभी निवासियों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना।

  • योजना में ‘सेहत’ से तात्पर्य ‘स्वास्थ्य और टेलीमेडिसिन के लिये सामाजिक प्रयास’ (Social Endeavour for Health and Telemedicine-SEHAT) है।
  • इसके अंतर्गत जम्मू-कश्मीर के सभी निवासियों को फ्लोटर आधार पर 5 लाख रुपये प्रति परिवार का वित्तीय कवर उपलब्ध कराया जाएगा, जिसका अर्थ है कि इसका उपयोग परिवार के एक या सभी सदस्यों द्वारा किया जा सकता है।
  • पीएम-जेएवाई के परिचालन विस्तार से लगभग 15 लाख अतिरिक्त परिवारों को लाभ होगा। वर्तमान में जम्मू- कश्मीर के लगभग 6 लाख परिवार केंद्रीय आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लाभ ले रहे हैं।
  • इस योजना का लाभ पूरे देश में कहीं भी उठाया जा सकता है। पीएम-जेएवाई योजना के तहत सूचीबद्ध अस्पताल इस योजना के तहत भी सेवाएं प्रदान करेंगे।
  • आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY) केंद्र सरकार की एक महत्वपूर्ण स्वास्थ्य योजना है, जिसे 2018 में लॉन्च किया गया था।

सामयिक खबरें राज्य कर्नाटक

बेंगलुरु में बिजली वितरण प्रणाली उन्नयन


एशियाई विकास बैंक (एडीबी) और भारत सरकार ने 31 दिसंबर, 2020 को कर्नाटक राज्य के बेंगलुरु शहर में बिजली वितरण प्रणाली को आधुनिक बनाने और इसके उन्नयन के लिए 100 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए।

  • इसके तहत बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता और विश्वसनीयता को बेहतर बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • एडीबी 100 मिलियन डॉलर के सोवेरन ऋण के अलावा, बेंगलुरु विद्युत आपूर्ति कंपनी लिमिटेड, जो कर्नाटक में राज्य-स्वामित्व वाली पांच वितरण कंपनियों में से एक है, को परियोजना के लिए सोवेरन गारंटी के बिना 90 मिलियन डॉलर का ऋण प्रदान करेगा।
  • ऊपरी केबललाइनों को भूमिगत करने से ऊर्जा-कुशल वितरण नेटवर्क बनाने में मदद मिलेगी, तकनीकी और वाणिज्यिक नुकसान तथा चक्रवात जैसे प्राकृतिक खतरों से होने वाले नुकसान को कम किया जा सकेगा।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी


रेलवे बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी वी. के. यादव को भारतीय रेलवे के आधुनिकीकरण और सुधार लाने में उत्कृष्ट कार्यों के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (Institution of Engineering and Technology- IET) द्वारा ‘वर्ष 2020 के लिए प्रतिष्ठित इंजीनियर पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया है।

  • IET एक बहु-विषयक व्यावसायिक इंजीनियरिंग संस्थान है, जिसे औपचारिक रूप से ‘द इंस्टीट्यूशन ऑफ इलेक्ट्रिकल इंजीनियर्स’ (The Institution of Electrical Engineers- IEE) के रूप में जाना जाता है।
  • इसकी स्थापना 1871 में की गई थी। यह 150 देशों में 168,000 से अधिक सदस्यों के साथ दुनिया के सबसे बड़े इंजीनियरिंग संस्थानों में से एक है।
  • IET इंग्लैंड और वेल्स तथा स्कॉटलैंड में चैरिटी के रूप में पंजीकृत है।
  • आईईटी दिल्ली लोकल नेटवर्क (IET Delhi Local Network) दक्षिण एशिया के नौ ऐसे नेटवर्कों में से एक है, जो आईईटी की भारतीय शाखा का गठन करता है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

जम्मू-कश्मीर के लिए नई औद्योगिक विकास योजना


मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने 6 जनवरी, 2021 को जम्मू और कश्मीर के औद्योगिक विकास के लिए एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना के रूप में ‘जम्मू-कश्मीर के लिए नई औद्योगिक विकास योजना’ [New Industrial Development Scheme for Jammu & Kashmir (J&K IDS, 2021)] को मंजूरी प्रदान की।

मुख्य उद्देश्य: रोजगार सृजन करना, जिससे क्षेत्र का सामाजिक-आर्थिक विकास हो सके।

महत्वपूर्ण तथ्य: योजना 28,400 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय के साथ वर्ष 2037 तक स्वीकृत की गई है।

योजना की प्रमुख विशेषताएं: योजना छोटी और बड़ी दोनों तरह की इकाइयों के लिए आकर्षक बनायी गई है। संयंत्र और मशीनरी में 50 करोड़ रुपये तक निवेश करने वाली छोटी इकाइयों को 7.5 करोड़ रुपये तक पूंजी प्रोत्साहन मिलेगा और अधिकतम 7 वर्षों के लिए पूंजी ब्याज सहायता 6% की दर से मिलेगी।

  • इस योजना का उद्देश्य औद्योगिक विकास को जम्मू-कश्मीर में ब्लॉक स्तर पर ले जाना है, जो भारत सरकार की किसी भी औद्योगिक प्रोत्साहन योजना में पहली बार है।

योजना के अंतर्गत प्रोत्साहन: संयंत्र और मशीनरी (मैन्युफैक्चरिंग) में निवेश या भवन निर्माण तथा अन्य स्थायी भौतिक परिसंपत्तियों (सेवा क्षेत्र) में निवेश पर जोन-ए में 30% तथा जोन-बी में 50% की दर पर पूंजी निवेश प्रोत्साहन उपलब्ध है।

  • संयंत्र और मशीनरी (मैन्युफैक्चरिंग) में या भवन निर्माण तथा अन्य सभी स्थायी भौतिक परिसंपत्तियों (सेवा क्षेत्र) में निवेश के लिए 500 करोड़ रूपये तक की ऋण राशि पर अधिकतम 7 वर्षों के लिए 6% वार्षिक दर से पूंजी ब्याज सहायता।
  • सभी वर्तमान इकाइयों को अधिकतम 5 वर्षों के लिए 5% वार्षिक दर से प्रोत्साहन की अधिकतम सीमा एक करोड़ रुपये की कार्यशील पूंजी ब्याज सहायता।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

पूर्वोत्‍तर का पहला विशेषीकृत अदरक प्रसंस्‍करण संयंत्र


मेघालय के री-भोई जिले में पूर्वोत्तर के पहले विशेषीकृत अदरक प्रसंस्करण संयंत्र को पुनर्जीवित किया जा रहा है और 2021 की शुरुआत में इसके शुरू होने की उम्मीद है।

महत्वपूर्ण तथ्य: पूर्वोत्तर भारत का यह एकमात्र अदरक प्रसंस्करण संयंत्र वर्ष 2004 के आसपास स्थापित किया गया था, लेकिन लंबे समय से परिचालन में नहीं था।

  • भारत सरकार के पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय के अधीन कार्य कर रहे पीएसयू ‘उत्तर पूर्वी क्षेत्रीय कृषि विपणन निगम’ ने इसे पुनर्जीवित करने की जिम्मेदारी ली है।
  • एक्सपोर्ट प्रमोशन इंडस्ट्रियल पार्क (ईपीआईपी), राजा भागन, ब्यरनीहाट स्थित यह संयंत्र न केवल अदरक का प्रसंस्करण करेगा, बल्कि वैक्स्ड अदरक, अदरक पेस्ट, अदरक पाउडर, अदरक फ्लेक्स, अदरक ऑयल आदि जैसे उत्पादों को भी तैयार करने में मदद करेगा।
  • इस संयंत्र से तैयार किए जा रहे अदरक उत्पाद न सिर्फ घरेलू उपभोग के लिए उपलब्ध होंगे, बल्कि प्रधानमंत्री के ‘वोकल फॉर लोकल’ के नारे को भी ध्यान में रखते हुये हुए एक व्यापक मांग को पूरा करेंगे।
  • भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में हर साल लगभग 450,000 मीट्रिक टन उच्च-गुणवत्ता वाली अदरक का उत्पादन होता है ।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

बाह्य अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग में सहयोग पर भारत-भूटान समझौता


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 30 दिसंबर, 2020 को भारत सरकार और भूटान सरकार के बीच बाह्य अंतरिक्ष (Outer Space) के शांतिपूर्ण उपयोग में सहयोग पर हुए समझौता ज्ञापन (एमओयू) और उनके आदान-प्रदान को स्वीकृति दे दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस एमओयू से पृथ्वी के दूरस्थ संवेदन; उपग्रह संचार और उपग्रह आधारित नौवहन; अंतरिक्ष विज्ञान और ग्रहों की खोज; अंतरिक्ष यान और अंतरिक्ष प्रणालियों तथा भू प्रणाली के उपयोग; और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के उपयोग जैसे संभावित हित वाले क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाना संभव होगा।

  • इस एमओयू के क्रम में अंतरिक्ष विभाग / इसरो और भूटान के सूचना एवं संचार मंत्रालय के सदस्यों के एक संयुक्त कार्यकारी समूह का गठन किया जाएगा, जो कार्यान्वयन की समय-सीमा और कार्य-योजना पर काम करेगा।
  • दोनों पक्षों ने 19 नवंबर, 2020 को एमओयू पर हस्ताक्षर किए थे।

सामयिक खबरें आर्थिकी

वर्ष 2020-21 के लिए पहला अग्रिम अनुमान जारी


राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) ने 7 जनवरी, 2021 को वर्ष 2020-21 के लिए पहला अग्रिम अनुमान जारी किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: 2011-12 की कीमतों पर 2020-21 की वास्तविक जीडीपी (Real GDP) 7.7% और मौजूदा कीमतों में सांकेतिक जीडीपी (nominal GDP) 4.2% तक संकुचित होने का अनुमान लगाया गया है।

  • एनएसओ के तिमाही अनुमानों के अनुसार, 2020-21 की पहली छमाही में वास्तविक जीडीपी में 15.7% का संकुचन है।
  • मांग की दृष्टि से, 2020-21 में वास्तविक जीडीपी को सरकारी उपभोग व्यय में अनुमानित 5.8% की वृद्धि का समर्थन है।
  • 2019-20 के अनंतिम अनुमान के अनुसार आपूर्ति पक्ष पर, कृषि में 4.0% के मुकाबले 3.4% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज करने का अनुमान है।
  • बिजली क्षेत्र में 2.7% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज होने का अनुमान है।
  • महामारी और संबद्ध सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों ने संपर्क-संवेदनशील सेवाओं के क्षेत्र (contact-sensitive services sector) पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है, जहां वित्त वर्ष 2020-21 में व्यापार, होटल, परिवहन और संचार में 21.4% तक कमी होने का अनुमान है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

अर्बन गवर्नेंस इंडेक्स 2020


मुंबई स्थित थिंक टैंक ‘प्रजा फाउंडेशन’ द्वारा दिसंबर 2020 में जारी 'अर्बन गवर्नेंस इंडेक्स 2020' (Urban Governance Index 2020) के अनुसार सुशासन के मामले में ओडिशा पहले और महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर रहा।

महत्वपूर्ण तथ्य: रिपोर्ट में 28 राज्यों और दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 40 शहरों में तीन वर्षों (2017-2020) तक शहरी शासन सुधारों का अध्ययन किया गया है।

  • सूचकांक ने राज्यों को यह इंगित करने के लिए रैंकिंग दी है कि वे स्थानीय स्व-शासन और जमीनी लोकतंत्र के वास्तविक सशक्तिकरण के संदर्भ में कहां खड़े हैं।
  • शहरी शासन के मामले में शीर्ष पांच राज्य क्रमश: ओडिशा, महाराष्ट्र, केरल, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ है।
  • झारखंड (25वें), अरुणाचल प्रदेश (26वें), मेघालय (27वें), मणिपुर (28वें), और नागालैंड (29वें) स्थान के साथ सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले राज्य हैं। दिल्ली सूची में 13वें स्थान पर है।
  • प्रजा ने चार विषयों में शहरी सुधारों की स्थिति का मानचित्रण किया- सशक्त शहरी निर्वाचित प्रतिनिधि और विधायी संरचना; सशक्त शहरी प्रशासन; सशक्त नागरिक; और राजकोषीय सशक्तीकरण।
  • शीर्ष पांच राज्यों में से किसी ने भी 57% से अधिक स्कोर नहीं किया है, ओडिशा का स्कोर 56.86% था।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

मशहूर फैशन डिजाइनर सत्य पॉल का निधन


भारतीय साड़ी को नई पहचान देने वाले प्रसिद्ध फैशन डिजाइनर सत्य पॉल का 6 जनवरी, 2021 को निधन हो गया। वे 78 वर्ष के थे।

  • पॉल ने 1960 के दशक में खुदरा क्षेत्र में अपने सफर की शुरुआत की और बाद में यूरोप और अमेरिका में भारतीय हथकरघा उत्पादों के निर्यात का काम बढ़ाया। उन्होंने 1980 में भारत में पहला ‘साड़ी बुटीक’ लाअफेयर (L’Affaire) शुरू किया था।
  • पॉल ने एक ऐसे युग में वस्त्रों पर प्रिंट की शुरुआत करके भारतीय फैशन में अपने लिए एक नाम बनाया, जब कसीदाकारी का अत्यधिक प्रचलन था। उन्होंने 1985 में अपना ब्रांड 'सत्य पॉल' शुरू किया था।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

भारत के अंतरराष्ट्रीय विज्ञान फिल्म पुरस्कार 2020


25 दिसंबर, 2020 को भारत के अंतरराष्ट्रीय विज्ञान फिल्म पुरस्कार2020 की घोषणा की गई। इसमें 6 फिल्मों को अंतरराष्ट्रीय और 14 फिल्मों को राष्ट्रीय श्रेणी में पुरस्कृत किया गया।

अंतराष्ट्रीय श्रेणी: जर्मनी के एंड्रयूज एवेल्स द्वारा निर्देशित अंग्रेजी भाषा की फिल्म ‘द इंसेक्ट रेस्क्यूअर्स’को ‘आत्मनिर्भर भारत और/या विश्व कल्याण के लिए विज्ञान’ विषय पर केंद्रित फिल्म का सर्वोच्च पुरस्कार।

  • ईरान के अश्कान हतामी द्वारा निर्देशित पारसी भाषा की फिल्म ‘नाइट नर्स’ को ‘विज्ञान तथा कोविड-19पर जागरूकता और अन्य स्वास्थ्य आपात स्थितियां’ विषय पर केंद्रित समारोह का सर्वोच्च पुरस्कार।
  • 3 जूरी पुरस्कारों में यू.के. की क्रिस्टिना स्यूका द्वारा निर्देशित अंग्रेजी फिल्म ‘ए नेचुरल कोड’, ऑस्ट्रेलिया के राधेया जेगथेवा द्वारा निर्देशित अंग्रेजी फिल्म ‘आइरनी’ (iRony) और ईरान के हसन मुख्तारी द्वारा निर्देशित बिना डायलॉग की फिल्म ‘कीप योर स्माइल’ शामिल है।
  • इटली के ‘विटोरियो कैरेतोज्जोलो एंड क्लास-3ए’ (Vittorio Caratozzolo & Class 3 A) द्वारा निर्देशित इतालवी भाषा की फिल्म ‘केमिकल इंडस्ट्रीज वर्सेज कोविड-19’ को एक विशेष जूरी पुरस्कार।
  • अंतरराष्ट्रीय श्रेणी में पुरस्कृत सभी फिल्मों को ट्रॉफी एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

भारतीय फिल्म श्रेणी: इस श्रेणी में पुरस्कार दो श्रेणियों के अंतर्गत प्रदान किए गए, जिनमें स्वतंत्र फिल्म निर्माताओं और कॉलेज / स्कूली छात्रों की फिल्में शामिल हैं।

  • स्वतंत्र फिल्म निर्माताओं द्वारा निर्मित फिल्मों में विवेक कन्नादी द्वारा निर्मित और राहुल अय्यर द्वारा निर्देशित अंग्रेजी फिल्म 'द ट्रायल्स ऐंड ट्रिअम्फ्स ऑफ जी.एन. रामचंद्रन' (The Trials and Triumphs of G.N.Ramachandran) को 'आत्मनिर्भर भारत और / या वैश्विक कल्याण के लिए विज्ञान' विषय पर समारोह का सर्वोच्च पुरस्कार।
  • 'कोविड-19 जागरूकता तथा विज्ञान और अन्य स्वास्थ्य आपात स्थितियां' विषय पर बीकन टेलीविजन द्वारा निर्मित और सीमा मुरलीधरा द्वारा निर्देशित हिंदी फिल्म ‘राजा, रानी और वायरस’ को भी स्वतंत्र फिल्मकारों की श्रेणी में समारोह का सर्वोच्च पुरस्कार।
  • इन दोनों पुरस्कारों के रूप में प्रत्येक को एक लाख रुपये नकद, ट्रॉफी और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

वर्चुअल अंतरराष्ट्रीय अखंड सम्मेलन ‘एडुकॉन 2020’


केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने 7 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दो दिवसीय वर्चुअल अंतरराष्ट्रीय अखंड सम्मेलन ‘एडुकॉन 2020’ (Virtual International Akhand Conference ‘EDUCON-2020’) का शुभारम्भ किया।

एडुकॉन- 2020 का मुख्य विषय: ‘वैश्विक शांति को साकार करने को युवाओं में बदलाव के लिए शिक्षा की संकल्पना’ (Envisioning Education for Transforming Youth to Restore Global Peace)।

  • यह अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन ग्लोबल एजुकेशनल रिसर्च एसोसिएशन (GERA) के सहयोग से सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ पंजाब, बठिंडा द्वारा आयोजित किया गया।
  • यह सम्मेलन भारत में अपनी तरह का पहला आयोजन है, जहां दुनिया भर के विद्वानों ने भारत में समान गुणवत्ता वाली शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए उच्च शिक्षा में सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी के उपयोग की संभावनाओं के बारे में चर्चा की।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 7 जनवरी, 2021 को वर्चुअल माध्यम से न्यू अटेली (हरियाणा) से न्यू किशनगढ़ (राजस्थान) के लिए इलेक्ट्रिक कर्षण (electric traction) द्वारा चलने वाली 1.5 किमी. लंबी दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन (Double Stack Long Haul Container Train) को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन के परिचालन में 25 टन का बढ़ा हुआ एक्सल लोड होगा।

  • इसे डीएफसीसीआईएल (Dedicated Freight Corridor Corporation of India Limited- DFCCIL) के लिए भारतीय रेलवे के ‘अनुसंधान डिजाइन और मानक संगठन’ (RDSO) के वैगन विभाग द्वारा डिजाइन किया गया है।
  • कंटेनर इकाइयों के लिहाज से ‘पश्चिमी समर्पित माल ढुलाई गलियारे’ (Western Dedicated Freight Corridor- WDFC) पर एक लॉन्ग हॉल डबल स्टैक कंटेनर ट्रेन में जुड़े ये डिब्बे भारतीय रेलवे की वर्तमान क्षमता की तुलना में चार गुना अधिक कंटेनर इकाइयों को ढो सकते हैं।
  • डीएफसीसीआईएल (Dedicated Freight Corridor Corporation of India Limited- DFCCIL) भारतीय रेलवे की पटरियों पर 75 किमी. प्रति घंटे की मौजूदा अधिकतम गति के मुकाबले 100 किमी. प्रति घंटे की अधिकतम गति से मालगाड़ियां चलाएगा।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

उन्नत बायोडाइजेस्टर एमके- II तकनीकी


रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने महाराष्ट्र मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (महा-मेट्रो) के साथ उसके मेट्रो रेल नेटवर्क में 'उन्नत बायोडाइजेस्टर एमके- II तकनीकी' (Advanced Biodigester Mk-II Technology) के कार्यान्वयन के लिए 5 जनवरी, 2021 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

महत्वपूर्ण तथ्य: DRDO तथा भारत सरकार और महाराष्ट्र सरकार की एक संयुक्त उद्यम कंपनी 'महा-मेट्रो' DRDO की पर्यावरण अनुकूल बायोडाइजेस्टर इकाइयां (एक बिना सीवर वाली स्वच्छता तकनीक) स्थापित करके पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण के लिए मिलकर काम कर रही हैं।

  • यह DRDO द्वारा विकसित एक स्वदेशी, हरित और लागत प्रभावी तकनीक है।
  • इस तकनीक को जैव-निम्नीकरण दक्षता (bio-degradation efficiency) में सुधार, डिजाइन संशोधन और द्वितीयक उपचार मॉड्यूल को जोड़कर उन्नत किया गया है।
  • डल झील में शिकारा नावों से उत्पन्न मानव अपशिष्ट के उपचार के लिए प्रयुक्त इस एमके-II बायोडाइजेस्टर का एक अनुकूलित संस्करण DRDO द्वारा सफलतापूर्वक प्रदर्शित किया गया था।
  • यह तकनीक मुख्य रूप से अधिक ऊंचाई वाले हिमालयी क्षेत्रों जैसे लेह-लद्दाख और सियाचिन ग्लेशियर में सशस्त्र बलों के लिए विकसित की गई थी।

पीआईबी न्यूज पर्यावरण

मानव-वन्यजीव संघर्ष के प्रबंधन के लिए परामर्श


राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड की स्थायी समिति ने 5 जनवरी, 2021 को देश में मानव-वन्यजीव संघर्ष के प्रबंधन के लिए परामर्श को मंजूरी दे दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसमें राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों के लिए ऐसे विशेष उपाय सुझाए गए हैं, जिनसे मानव और वन्यजीवों के बीच संघर्ष की घटनाएं कम होंगी और विभागों के बीच समन्वय तथा प्रभावी कार्रवाई में तेजी आएगी।

  • परामर्श में वन्यजीव सुरक्षा अधिनियम, 1972 के खण्ड 11 (1) (बी) के अनुसार, संकटग्रस्त वन्य जीवों से निपटने में ग्राम पंचायतों को मजबूत बनाने की परिकल्पना की गई है।
  • मानव और वन्यजीव संघर्ष के कारण फसलों के नुकसान के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत क्षतिपूर्ति और वन्य क्षेत्रों के भीतर चारे और पानी के स्रोतों को बढ़ाना कुछ महत्वपूर्ण कदम शामिल हैं।
  • इसमें यह सुझाव दिया गया है कि संघर्ष की स्थिति में पीड़ित परिवार को अंतरिम राहत के रूप में अनुग्रह राशि के एक हिस्से का भुगतान किया जाये।
  • परामर्श में स्थानीय/राज्य स्तर पर अंतर-विभागीय समितियों को निर्धारित करने, पूर्व चेतावनी प्रणालियों को अपनाने, अवरोधों के निर्माण, 24X7 आधार पर संचालित होने वाले निःशुल्क हॉटलाइन नंबरों के साथ समर्पित क्षेत्रीय नियंत्रण कक्ष, हॉटस्पॉट की पहचान और और उनके कार्यान्वयन को अपनाने की अवधारणा भी की गई है।
  • राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड का गठन केंद्र सरकार द्वारा वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम, 1972 की धारा 5- ए के तहत किया गया है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

प्रधानमंत्री द्वारा ‘पश्चिमी समर्पित माल ढुलाई गलियारे’ के न्यू रेवाड़ी-न्यू मदार खंड का उदघाटन


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 7 जनवरी, 2021 को वर्चुअल माध्यम से ‘पश्चिमी समर्पित माल ढुलाई गलियारे’ (Western Dedicated Freight Corridor- WDFC) के न्यू रेवाड़ी-न्यू मदार खंड का उदघाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: 306 किमी. लंबा यह ‘न्यू रेवाड़ी-न्यू मदार खंड’ हरियाणा (महेंद्रगढ़ और रेवाड़ी जिलों में लगभग 79 किमी.) और राजस्थान (जयपुर, अजमेर, सीकर, नागौर और अलवर जिलों में लगभग 227 किमी.) में स्थित है।

  • इस खंड के शुरू होने से राजस्थान और हरियाणा के रेवाड़ी- मानेसर, नारनौल, फुलेरा और किशनगढ़ इलाके में स्थित विभिन्न उद्योगों को लाभ होगा।
  • इसमें 9 नवनिर्मित समर्पित माल ढुलाई गलियारे (डीएफसी) स्टेशन शामिल हैं। यह खंड गुजरात में स्थित कांडला, पिपावाव, मुंद्रा और दाहेज के पश्चिमी बंदरगाहों के साथ निर्बाध संपर्क सुनिश्चित करेगा।
  • उत्तर प्रदेश के दादरी को मुंबई में जवाहरलाल नेहरू पोर्ट (JNPT) से जोड़ने वाला 1504 किमी. लंबा पश्चिमी समर्पित माल ढुलाई गलियारा उत्तर प्रदेश हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र से होकर गुजरेगा।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

भूभौतिकीय सर्वेक्षण 'मैग्नेटो-टेल्यूरिक'


जनवरी 2021 में पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अनुसार पिछले साल दिल्ली-एनसीआर में कम तीव्रता के कई भूकंपों की पृष्ठभूमि में, राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (National Centre for Seismology- NCS) द्वारा इस क्षेत्र में संभावित भूकंपीय खतरों का सही आकलन करने हेतु एक विशिष्ट भूभौतिकीय सर्वेक्षण 'मैग्नेटो-टेल्यूरिक' (Magneto-telluric Survey) किया जा रहा है।

महत्वपूर्ण तथ्य: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र-दिल्ली में अप्रैल से अगस्त, 2020 के दौरान 4 छोटे-छोटे भूकंप आये थे।

  • इन सभी घटनाओं का स्थान-निर्धारण राष्ट्रीय भूकंपीय नेटवर्क (एनएसएन) द्वारा किया गया, जिसका संचालन और रख-रखाव पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र द्वारा किया जाता है।

मैग्नेटोटेल्यूरिक: मैग्नेटो-टेल्यूरिक (एमटी) एक भूभौतिकीय पद्धति है, जो भूगर्भीय (भूमिगत) संरचना और प्रक्रियाओं को समझने के लिए पृथ्वी के चुंबकीय और विद्युत क्षेत्रों के ‘प्राकृतिक समय भिन्नता’ (natural time variation) का उपयोग करती है। यह काफी विश्वसनीय तकनीक मानी जाती है।

  • ये मापन तीन प्रमुख भूकंपीय स्रोतों, अर्थात् महेंद्रगढ़-देहरादून फॉल्ट, सोहना फॉल्ट और मथुरा फॉल्ट में किए जा रहे हैं।
  • सर्वेक्षण से द्रव की उपस्थिति का पता लगाया जायेगा, जो आमतौर पर भूकंप के पैदा होने की संभावना को बढ़ाता है।
  • यह सर्वेक्षण वाडिया हिमालय भू-विज्ञान संस्थान, देहरादून के सहयोग से किया जा रहा है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

मिशन सागर-III


मिशन सागर-III के अंतर्गत भारतीय नौसेना का पोत ‘किलटन’ 29 दिसंबर, 2020 को कंबोडिया के ‘सिहानोकविले’ बंदरगाह पर पहुंचा।

  • भारतीय नौसैनिक जहाज ने कंबोडिया के बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए 15 टन मानवीय सहायता और आपदा राहत सामग्री सौंपी।
  • इससे पहले 24 दिसंबर को इस पोत ने सेंट्रल वियतनाम के बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए भी 15 टन मानवीय सहायता और आपदा राहत सामग्री सौंपी थी।
  • मिशन सागर- III वर्तमान में चल रही कोविड महामारी के दौरान मित्र देशों को भारत की ओर से मानवता के नाते मानवीय सहायता और आपदा राहत (Humanitarian Assistance and Disaster Relief -HADR) पहुंचाने का एक हिस्सा है।
  • यह मिशन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 'सागर' (क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा और विकास) दृष्टिकोण के अनुरूप चलाया जा रहा है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप वेब पोर्टल/ऐप

भारत सरकार का डिजिटल कैलेंडर और डायरी लॉन्‍च


केन्द्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने 8 जनवरी, 2021 को भारत सरकार के डिजिटल कैलेंडर और डायरी को लॉन्च किया।

  • यह ऐप हिंदी और अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है और 15 जनवरी, 2021 से 11 भाषाओं में उपलब्ध होगा। ऐप हर साल एक नए कैलेंडर की आवश्यकता को खत्म कर देगा।
  • ऐप हर महीना एक विषय-वस्तु और एक संदेश लिए हुए होगा और एक प्रसिद्ध भारतीय हस्ती की जानकारी देगा। ऐप लोगों को विभिन्न सरकारी कार्यक्रमों के शुरू होने का घटनाक्रम भी बताएगा
  • ऐप को ब्यूरो ऑफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशन, सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

जंगली बिल्ली कैराकल


राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड की स्थायी समिति ने जंगली बिल्ली ‘कैराकल’ (Caracal) को केंद्र प्रायोजित योजना ‘वन्यजीव निवास स्थलों का विकास’ (Development of Wildlife Habitat) के तहत वित्तीय सहायता के साथ संरक्षण के प्रयासों के अंतर्गत ‘गंभीर रूप से संकटग्रस्त’ प्रजातियों (critically endangered species) की सूची में शामिल करने की स्वीकृति दी है।

  • कैराकल राजस्थान और गुजरात के कुछ क्षेत्रों में पाई जाने वाली एक मध्यम आकार की जंगली बिल्ली है।
  • अब, ‘गंभीर रूप से संकटग्रस्त’ प्रजातियों के लिए रिकवरी कार्यक्रम के तहत 22 वन्यजीव प्रजातियां हैं।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

भारतीय मानक ब्यूरो का 74वां स्थापना दिवस


केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने 6 जनवरी, 2021 को भारतीय मानक ब्यूरो के 74वें स्थापना दिवस समारोह में भाग लिया।

  • इस अवसर पर उन्होंने खिलौना परीक्षण सुविधाओं का उद्घाटन किया, जिसे भारतीय मानक ब्यूरो ने अपनी तीन प्रयोगशालाओं में तैयार किया है।
  • उन्होंने जांच-परख एवं हॉलमार्किंग के साथ-साथ गुणवत्ता नियंत्रण पर आधारित सर्टिफिकेट पाठ्यक्रमों की शुरुआत की घोषणा की।
  • इन पाठ्यक्रमों से जांच-परख एवं हॉलमार्किंग के कार्मिकों तथा गुणवत्ता नियंत्रण कार्मिकों के लिए क्षमता में अंतर को पाटने के साथ-साथ देश भर में जांच-परख एवं हॉलमार्किंग केंद्रों में सक्षम मानव संसाधनों की उपलब्धता से जुड़े दोनों उद्देश्यों की पूर्ति होगी।
  • 1986 के संसद के एक अधिनियम के माध्यम से 1 अप्रैल, 1987 को अस्तित्व में आए भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) की शुरुआत ‘भारतीय मानक संस्थान’ के नाम से 6 जनवरी, 1947 को हुई थी।
  • भारतीय मानक ब्यूरो, उत्पादों के मानकीकरण, चिह्नांकन और गुणवत्ता प्रमाणित गतिविधियों के सामंजस्यपूर्ण विकास एवं इससे संबंधित मामलों के लिए उत्तरदायी है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

एथेनॉल उत्‍पादन क्षमता बढ़ाने हेतु संशोधित योजना


  • 30 दिसंबर, 2020 को आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने देश में ‘एथेनॉल उत्पादन क्षमता बढ़ाने हेतु संशोधित योजना’ को स्वीकृति दी।
  • महत्वपूर्ण तथ्य: एथेनॉल उत्पादक नई भट्टियों को 4,573 करोड़ रुपये की ब्याज सहायता देने को मंजूरी दी गई है।
  • सरकार परियोजना के प्रस्तावकों द्वारा लिए गए ऋण पर एक वर्ष की मोहलत सहित पांच वर्ष के लिए ब्याज अनुदान का वहन करेगी। इसका निर्धारण प्रतिवर्ष 6% ब्याज दर या बैंक द्वारा लिए जाने वाले ब्याज के 50% में से जो भी कम होगा उसके आधार पर किया जाएगा।
  • देश में पहली पीढी (वन जी) के एथेनॉल का उत्पादन बढ़ाने के लिए चावल, गेहूं, जौ, मक्का, ज्वार, गन्ना और चुकंदर जैसी खाद्य वस्तुओं का उपयोग किया जाएगा, जिससे किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • किसानों की एक बड़ी आबादी को लाभ देने के लिए, सरकार एफसीआई द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले मक्का और चावल से एथेनॉल का उत्पादन करने के लिए भट्टियों (distilleries) को प्रोत्साहित कर रही है।
  • भारत 2022 तक पेट्रोल में 10% एथेनॉल सम्मिश्रण लक्ष्य प्राप्त करने की राह पर है।
  • सरकार ने 2022 तक पेट्रोल के साथ ईंधन ग्रेड एथेनॉल के 10%, 2026 तक 15% और 2030 तक 20% सम्मिश्रण का लक्ष्य निर्धारित किया है।
  • सरकार 20% के सम्मिश्रण लक्ष्य को 2025 से पहले ही पूरा करने की योजना बना रही है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

राष्ट्रीय पुलिस के-9 पत्रिका


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2 जनवरी, 2021 को नई दिल्ली में ‘राष्ट्रीय पुलिस के-9 पत्रिका’ (National Police K-9 Journal) के प्रथम अंक का विमोचन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: ‘पुलिस सेवा श्वान (के-9)’ [Police Service Canines (K-9)] अर्थात पुलिस श्वान (Police Dogs) विषय पर देश में यह पहला प्रकाशन है।

  • यह एक ऐसी अनूठी पहल है, जो देश में ‘पुलिस सेवा श्वान (के-9)’ टीमों से संबन्धित विषयों को और अधिक समृद्ध बनाएगा।
  • देश में हो रहे ड्रोन या उपग्रहों के प्रयोग की तरह समाज की सुरक्षा सुनिश्चित करने में ‘पुलिस का श्वान दस्ता’ (police dog squad) एक ‘फोर्स मल्टिप्लायर’ (force multiplier) के रूप में काम कर सकता है।
  • इनका उपयोग मादक पदार्थों का पता लगाने से लेकर आतंकवादियों से मुकाबला करने में भली भांति किया जा सकता है।
  • देशभर में पुलिस सेवा के-9 को बढ़ावा देने और उसे मुख्यधारा में लाने के लिए गृह मंत्रालय के पुलिस आधुनिकीकरण प्रभाग के तहत नवंबर 2019 में एक विशेष ‘राष्ट्रीय पुलिस K9 सेल’ (Police K9 Cell) की स्थापना की गई थी।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

भारत और जापान ‘निर्दिष्‍ट कुशल कामगारों’ के संबंध में सहभागिता


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 6 जनवरी, 2021 को भारत और जापान के बीच ‘निर्दिष्ट कुशल कामगारों’ (Specified Skilled Worker) के संबंध में सहभागिता से जुड़े समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर की मंजूरी दी।

महत्वपूर्ण तथ्य: मौजूदा सहभागिता समझौता ज्ञापन भारत और जापान के बीच सहभागिता और सहयोग से जुड़े एक संस्थागत तंत्र की स्थापना करेगा।

  • इसके तहत जापान में 14 निर्दिष्ट क्षेत्रों में काम करने के लिए ऐसे कुशल भारतीय कामगारों को भेजा जाएगा, जिन्होंने अनिवार्य कुशलता योग्यता प्राप्त कर ली है और जापानी भाषा की परीक्षा पास कर ली है।
  • इन भारतीय कामगारों को जापान सरकार की ओर से ‘निर्दिष्ट कुशल कामगार’ नाम की एक नई सामाजिक स्थिति (new status of residence) प्रदान की जाएगी।
  • सहभागिता से जुड़े समझौता ज्ञापन के अंतर्गत एक संयुक्त कार्य बल का गठन किया जाएगा, जो इस सहभागिता से जुड़े समझौता ज्ञापन का अनुपालन सुनिश्चित करेगा।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

डिजिटल ओशन


पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 29 दिसंबर, 2020 को पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के आईएनसीओआईएस (INCOIS) द्वारा विकसित अपनी तरह के पहले डिजिटल प्लेटफॉर्म ‘डिजिटल ओशन’ (www.do.incois.gov.in) की शुरुआत की।

महत्वपूर्ण तथ्य: ‘डिजिटल ओशन’ प्लेटफॉर्म महासागरीय आंकड़ों के प्रबंधन के लिए अपनी तरह का पहला प्लेटफॉर्म है।

  • इसमें भू-स्थानिक प्रौद्योगिकी में हुई त्वरित प्रगति को अपनाते हुए विभिन्न प्रकार के सागरीय आंकड़ों को व्यवस्थित और प्रदर्शित करने के लिए विकसित एप्लीकेशन का एक समूह शामिल है।
  • यह समुद्र संबंधी विशेषताओं के आकलन के लिए डेटा एकीकरण, 3डी और 4डी डेटा विजुअलाइजेशन, डेटा विश्लेषण हेतु एक ऑनलाइन संवादयुक्त वेब-आधारित परिवेश उपलब्ध कराता है।
  • ‘डिजिटल ओशन’ महासागर संबंधित ज्ञान को अनुसंधान संस्थानों, परिचालन संबंधी संस्थाओं, सामरिक उपयोगकर्ताओं, शैक्षणिक समुदायों, समुद्री उद्योग और नीति निर्माताओं समेत उपयोगकर्ताओं की एक विस्तृत श्रेणी के साथ साझा करने में मदद करता है तथा आम जनता और सामान्य लोगों को सूचना तक नि:शुल्क पहुंच उपलब्ध कराता है।

महत्व: यह महासागरों के टिकाऊ प्रबंधन और सरकार की ‘ब्लू इकोनॉमी’ (सागर आधारित अर्थव्यवस्था) से जुड़े प्रयासों को विस्तार देने में एक केंद्रीय भूमिका निभाएगा।

  • इसे हिंद महासागर के किनारे पर बसे सभी देशों के लिए महासागरीय आंकड़ों के प्रबंधन में क्षमता निर्माण के लिए एक मंच के तौर पर बढ़ावा दिया जाएगा।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

सीईपीआई केंद्रीकृत नेटवर्क प्रयोगशाला


विज्ञान और प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 5 जनवरी, 2021 को ‘सीईपीआई केंद्रीकृत नेटवर्क प्रयोगशाला’ (Centralized Network Lab of CEPI) का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस प्रयोगशाला को फरीदाबाद के ‘ट्रांसलेशनल हेल्थ साइंस एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट’ (Translational Health Science & Technology Institute- THSTI) के जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी) में स्थापित किया गया है।

  • यह भारत में अपनी तरह की ‘पहली’ और दुनिया की ‘सातवीं’ प्रयोगशाला है तथा इसे ‘परीक्षण और मापांकन प्रयोगशालाओं के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड’ (National Accreditation Board for Testing and Calibration Laboratories- NABL) द्वारा मान्यता प्राप्त है।
  • 'महामारी संबंधी तैयारी नवाचारों के लिए गठबंधन- सीईपीआई' (Coalition for Epidemic Preparedness Innovations -CEPI) भविष्य की महामारियों को रोकने के लिए टीके विकसित करने हेतु सार्वजनिक, निजी, परोपकारी और नागरिक संगठनों के बीच एक अभिनव साझेदारी है, जो 2017 में दावोस में शुरू की गई थी।
  • जैव प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार 'भारत-सीईपीआई मिशन’ (Ind-CEPI mission) को लागू कर रहा है, जिसका शीर्षक है 'तीव्र वैक्सीन विकास के माध्यम से भारत केंद्रित महामारी की तैयारी: वैश्विक सीईपीई पहल के साथ गठबंधन कर भारत में वैक्सीन का विकास करना'
  • 'भारत-सीईपीआई’ मिशन का उद्देश्य भारत में महामारी के लिए टीकों के विकास की दिशा में काम करना और साथ ही भारत में मौजूदा और उभरते संक्रामक खतरों को दूर करने के लिए भारतीय सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली और वैक्सीन उद्योग में समन्वित तैयारी का निर्माण करना है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित स्थल

लेह में मौसम विज्ञान केन्द्र का उद्घाटन


केन्द्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 29 दिसंबर, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लेह (लद्दाख) स्थित मौसम विज्ञान केन्द्र का उद्घाटन किया।

  • 3500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित लेह मौसम विज्ञान केन्द्र भारत में सबसे ऊँचाई पर स्थित मौसम विज्ञान केन्द्र होगा।
  • भारतीय मौसम विज्ञान विभाग लद्दाख के दोनों जिलों (लेह और करगिल) के सभी हितधारकों के लिए दैनिक आधार पर मौसम के पूर्वानुमान की सुविधा लघु अवधि (3 दिन) और मध्यम अवधि (12 दिन) से लेकर एक महीने तक की अवधि के लिए प्रदान करेगा।
  • इसके अलावा नुब्रा, चांगथांग, पैंगोंग झील, जांस्कर, कारगिल, द्रास, धा-बैमा (आर्यन घाटी), खलसी जैसे प्रमुख पर्यटन स्थलों के मौसम के पूर्वानुमान की सुविधा भी प्रदान की जाएगी।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित स्थल

चत्तरगला सुरंग


सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चौधरी ने 5 जनवरी, 2021 को केन्द्रीय मंत्री डॉ.जितेन्द्र सिंह को जम्मू एवं कश्मीर में प्रस्तावित ‘चत्तरगला सुरंग’ (Chattergala tunnel) के बारे में जानकारी दी।

  • चत्तरगला सुरंग भद्रवाह और डोडा को छूते हुए चत्तरगला के रास्ते बसोहली-बानी से होकर गुजरने वाले नए राजमार्ग के माध्यम से कठुआ जिले को डोडा जिला से जोड़ेगी।
  • यह एक 6.8 किमी. लंबी सुरंग होगी। इस सुरंग को पूरा होने में लगभग 4 साल का समय लगेगा और इसके निर्माण की लागत लगभग 3,000 करोड़ रुपये होगी।
  • यह एक ऐतिहासिक परियोजना बनने जा रही है, जो सुदूर के दो क्षेत्रों के बीच हर मौसम में आवागमन वाली वैकल्पिक सड़क संपर्क प्रदान करेगी और डोडा से पंजाब सीमा पर स्थित लखनपुर तक की यात्रा में लगने वाले समय को घटाकर महज चार घंटे कर देगी।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

भारतीय सेना में स्वदेशी सेतु प्रणाली का अधिष्ठापन


  • निजी उद्योगों और रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के साथ करीबी सहयोग से भारतीय सेना ने 10 मीटर लंबाई के कम समय में तैयार तीन सेतु शामिल किए। इन्हें लार्सन एंड टूब्रो लिमिटेड के तालेगांव केंद्र में 29 दिसंबर, 2020 को औपचारिक रूप से सौंपा गया।
  • यह सेतु सैन्य कार्रवाइयों के दौरान हमारी सेना को तेजी से आवागमन संबंधी सुविधा प्रदान करने की आवश्यकता को पूरा करेंगे।
  • देश में ही डिजाइन, विकसित और तयशुदा समय में सौंपे गये इन सेतुओं की आपूर्ति विदेश में निर्मित उपकरणों पर हमारे सैन्य बलों की निर्भरता को कम करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

सागरमाला सीप्‍लेन सेवा


बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्रालय अपनी महत्वांकाक्षी ‘सागरमाला सीप्लेन सेवा’ को (Sagarmala Seaplane Services-SSPS) संभावित एयर लाइन परिचालकों के साथ शुरू करने को अग्रसर है।

महत्वपूर्ण तथ्य: बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्रालय कुछ चुनिंदा मार्गों पर विशेष प्रयोजन वाले वाहन (Special Purpose Vehicle -SPV) संरचना के तहत संभावित एयर लाइन परिचालकों के जरिए सीप्लेन सेवा शुरू करने वाला है।

  • इस परियोजना को मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण वाले सागरमाला विकास कंपनी लिमिटेड (SDCL) के माध्यम से लागू किया जाएगा।
  • SDCL दूरदराज के इलाकों को संपर्क और आसान पहुंच मुहैया कराने के लिए सीप्लेन सेवा के जरिए देश की विस्तृत तटीय रेखा और विभिन्न जलधाराओं/नदियों के इस्तेमाल की योजना बना रहा है।
  • हब एंड स्पोक मॉडल के तहत प्रस्तावित उद्गम – गंतव्य स्थलों में अंडमान और निकोबार तथा लक्षद्वीप समूह, असम में गुवाहाटी रिवरफ्रंट और उमरांसों जलाशय, दिल्ली में यमुना रिवरफ्रंट से अयोध्या, टिहरी, श्रीनगर (उत्तराखंड), चंडीगढ़ तथा पंजाब और हिमाचल प्रदेश के कई पर्यटन स्थल; मुंबई से शिरडी, लोनावला, गणपतिपुले; सूरत से द्वारका, मांडवी और कांडला; खिंडसी बांध, नागपुर और इराई बांध, चंद्रपुर (महाराष्ट्र) आदि शामिल हैं।
  • ऐसी ही एक सीप्लेन सेवा अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट और केवड़िया के बीच पहले से ही चल रही है, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री ने 31 अक्टूबर, 2020 को किया था।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

टॉयकाथॉन-2021’


शिक्षा मंत्रालय, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (एमडब्ल्यूसीडी), वस्त्र मंत्रालय, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने मिलकर 5 जनवरी, 2020 को संयुक्त रूप से ‘टॉयकाथॉन-2021’ (Toycathon-2021) को लॉन्च किया है। इस अवसर पर टॉयकाथॉन पोर्टल का भी लोकार्पण किया गया।

उद्देश्य: बच्चों के बीच सकारात्मक व्यवहार तथा अच्छे मूल्यों को विकसित करने हेतु भारतीय मूल्यों पर आधारित अभिनव खिलौनों की अवधारणा विकसित करना।

महत्वपूर्ण तथ्य: भारत को वैश्विक खिलौना निर्माण केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए टॉयकाथॉन का आयोजन किया जा रहा है। भारत में खिलौना बाजार आर्थिक आधार पर लगभग एक अरब डॉलर का है, लेकिन भारत में 80% खिलौने आयात किए जाते हैं।

टॉयकाथॉन: यह 9 विषयों पर आधारित है- भारतीय संस्कृति, इतिहास, भारत और सांस्कृतिक मूल्यों का ज्ञान; सीखना, अध्ययन और स्कूली शिक्षा; सामाजिक तथा मानवीय मूल्य; व्यवसाय एवं विशिष्ट क्षेत्र; वातावरण; दिव्यांग; फिटनेस और खेल; रचनात्मक एवं तार्किक सोच तथा पारंपरिक भारतीय खिलौनों को फिर से तैयार/पुन: डिजाइन करना।

  • टॉयकाथॉन में तीन स्तर होंगे- जूनियर स्तर, वरिष्ठ स्तर और स्टार्ट अप स्तर। इसमें स्टार्टअप और खिलौना विशेषज्ञों के अलावा स्कूलों, कॉलेजों तथा विश्वविद्यालयों के छात्रों एवं शिक्षकों को भागीदारी की अनुमति होगी।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

अंटार्कटिका के लिए 40वां भारतीय वैज्ञानिक अभियान


भारत ने अंटार्कटिका के लिए 40वां वैज्ञानिक अभियान शुरू किया। इसे 5 जनवरी, 2021 को गोवा से जहाज के साथ रवाना किया गया।

मुख्य उद्देश्य: जलवायु परिवर्तन, भू-विज्ञान, महासागर पर्यवेक्षण, बिजली और चुंबकीय प्रवाह माप, पर्यावरण निगरानी पर चल रही वैज्ञानिक परियोजनाओं में सहयोग करना; भोजन, ईंधन, रसद और अतिरिक्त पुरजों की फिर से आपूर्ति करना।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह भारतीय अभियान दक्षिणी सफेद महाद्वीप में देश के वैज्ञानिकों के चार दशकों के प्रयास का प्रतीक है।

  • चार्टर्ड आइस-क्लास पोत एमवी वासिली गोलोवनिन (chartered ice-class vessel MV Vasiliy Golovnin) 30 दिन में अंटार्कटिका पहुंचेगा, जहां यह 40 सदस्यों की एक टीम को छोड़ेगा। यह अप्रैल 2021 में, इससे पहले गई शीतकालीन टीम को वापस लाएगा।
  • भारतीय अंटार्कटिक अभियान 1981 में शुरू हुआ था। पहला अभियान दल डॉ. एस जेड कासिम के नेतृत्व में गया था, जिसमें 21 वैज्ञानिकों और सहायक कर्मचारियों की एक टीम शामिल थी।
  • भारतीय अंटार्कटिक कार्यक्रम ने अंटार्कटिका में तीन स्थायी अनुसंधान बेस स्टेशन बनाने का श्रेय हासिल कर लिया है, जिनका नाम ‘दक्षिण गंगोत्री’, ‘मैत्री’ और ‘भारती’ है। वर्तमान में, अंटार्कटिका में मैत्री और भारती भारत के दो चालू अनुसंधान स्टेशन हैं।
  • राष्ट्रीय ध्रुवीय एवं समुद्री अनुसंधान केंद्र, गोवा (The National Centre for Polar and Ocean Research- NCPOR) संपूर्ण भारतीय अंटार्कटिक कार्यक्रम का प्रबंधन करता है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

कोच्चि-मंगलुरू प्राकृतिक गैस पाइपलाइन


‘एक राष्ट्र, एक गैस ग्रिड’ के निर्माण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 5 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘कोच्चि-मंगलुरू प्राकृतिक गैस पाइपलाइन’ राष्ट्र को समर्पित की।

महत्वपूर्ण तथ्य: कुल 450 किमी. लंबी इस पाइपलाइन का निर्माण गेल (इंडिया) लिमिटेड द्वारा किया गया है। इसकी परिवहन क्षमता 12 मिलियन मीट्रिक मानक घन मीटर प्रति दिन है।

  • यह कोच्चि (केरल) स्थित तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) के पुनर्गैसीकरण टर्मिनल से एर्नाकुलम, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझीकोड, कन्नूर और कासरगोड जिले होते हुए मंगलुरु (दक्षिण कन्नड़ जिला, कर्नाटक) तक प्राकृतिक गैस ले जाएगी।
  • इस परियोजना की कुल लागत लगभग 3000 करोड़ रूपये थी और इसके निर्माण के दौरान 12 लाख से अधिक मानव-दिवस के बराबर रोजगार सृजित हुआ।
  • इस पाइपलाइन की सहायता से आम लोगों के घरों में पाइप्ड प्राकृतिक गैस (पीएनजी) और परिवहन क्षेत्र को संपीडित प्राकृतिक गैस (सीएनजी) के रूप में पर्यावरण अनुकूल और सस्ती ईंधन की आपूर्ति होगी।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

भारत ने शुरू किया सहजन पाउडर का निर्यात


केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय के अनुसार सहजन में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की वजह से उसकी दुनिया भर में तेजी से मांग बढ़ने के चलते भारत ने सहजन पाउडर का निर्यात शुरू किया है। 29 दिसंबर, 2020 को दो टन जैविक सहजन के पाउडर का निर्यात अमेरिका को हवाई मार्ग के जरिए किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: सहजन को 'मोरिंगा' या 'ड्रमस्टिक' (Drumsticks) के रूप में भी जाना जाता है, जिसका उपयोग सदियों से विभिन्न रूपों में औषधीय और स्वास्थ्य लाभों के लिए किया जाता रहा है।

  • सहजन का वानस्पतिक नाम ‘मोरिंगा ओलीफेरा’ (Moringa oleifera) है। सहजन उत्तरी भारत के उप-हिमालयी इलाकों में एक तेजी से बढ़ने वाला पेड़ है। यह लंबे समय तक सूखे की स्थिति में भी उग जाता है और पोषण का एक विश्वसनीय स्रोत है।
  • सहजन के बीज खाद्य और गैर-खाद्य अनुप्रयोगों के लिए एक महत्वपूर्ण संसाधन हैं। इसकी पत्तियां प्रोटीन, खनिज, बीटा-कैरोटीन और एंटीऑक्सिडेंट यौगिकों से समृद्ध हैं, और न केवल मानव और पशु पोषण के लिए, बल्कि पारंपरिक चिकित्सा में भी उपयोग की जाती हैं।
  • इसके बीज का उपयोग पेट दर्द, अल्सर, जोड़ों के दर्द के इलाज के लिए और पाचन समस्याओं के लिए किया जाता है। इसी कारण सहजन की पत्तियों से बने पाउडर और सहजन के तेल की मांग में काफी बढ़ोतरी हुई है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

वर्ल्ड ऑफ कोरिऐन्डर वेबिनार


4 जनवरी, 2021 को भारतीय मसाला बोर्ड तथा डीबीटी-एसएबीसी बायोटेक किसान हब ने आईसीएआर-एनआरसीएसएस, राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड और कोटा कृषि विश्वविद्यालय के सहयोग से गुणवत्तायुक्त धनिये के उत्पादन, फसल कटाई के बाद, मूल्य संवर्धन तथा भारत से धनिये का निर्यात बढ़ाने पर ‘वर्ल्ड ऑफ कोरिऐन्डर वेबिनार’ (World of Coriander Webinar) आयोजित किया।

  • राजस्थान को अगला मसाला उत्पादन और निर्यात हब बनाने के लिए सभी विभागों के एकीकृत और समन्वित प्रयासों की आवश्यकता पर जोर दिया गया।
  • दक्षिण पूर्व राजस्थान का ‘हदोती क्षेत्र’ तथा मध्य प्रदेश का ‘गुना जिला’ धनिया उत्पादन के लिए जाना जाता है और देश से धनिया के निर्यात में इनका महत्वपूर्ण योगदान है।
  • जोधपुर, रामगंज, मंडी (कोटा) तथा गुना में मसाला पार्कों में मसाला बोर्ड द्वारा कॉमन सुविधा केंद्र (common facility centre) स्थापित किए गए हैं।
  • कोटा जिला की रामगंज एपीएमसी मंडी एशिया में धनिया की सबसे बड़ी मंडी है और इसे ‘कोरिऐन्डर सिटी या धनिया का शहर’ (Coriander city) के रूप में जाना जाता है।
  • हाल में भारत सरकार के खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने ‘एक जिला एक उत्पाद’(One District One Product- ODOP) की सूची में धनिया को कोटा जिले के उत्पाद माना है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप समझौते/संधि

आंध्र प्रदेश में राजमार्ग नेटवर्क और जिला सड़क नेटवर्क हेतु ऋण समझौता


भारत सरकार, आंध्र प्रदेश सरकार और न्यू डेवलपमेंट बैंक (NDB) ने 6 जनवरी, 2021को दो परियोजनाओं के लिए 646 मिलियन डॉलर के ऋण समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

  • पहली परियोजना 'आंध्र प्रदेश सड़क और पुल पुनर्निर्माण परियोजना' में राज्य राजमार्ग के 1,600 किमी. हिस्से का डबल लेन चौड़ीकरण और जीर्ण-शीर्ण पुलों का पुनर्निर्माण शामिल है।
  • दूसरी परियोजना 'आंध्र प्रदेश मंडल कनेक्टिविटी और ग्रामीण कनेक्टिविटी सुधार परियोजना'में जिला सड़क के 1,400 किमी. का डबल लेन चौड़ीकरण और जिला सड़क नेटवर्क पर जीर्ण-शीर्ण पुलों का पुनर्निर्माण शामिल है।
  • आंध्र प्रदेश सरकार 'सड़क और भवन विभाग' के माध्यम से परियोजनाओं को लागू करेगी।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

तीन अवसंरचना परियोजना के निर्माण को स्वीकृति


30 दिसंबर, 2020 को आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 3 अवसंरचना परियोजना के निर्माण के लिए उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) के प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान की।

  • आंध्र प्रदेश में कृष्णापट्टनम औद्योगिक क्षेत्र में 2,139.44 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से परियोजना का निर्माण;
  • कर्नाटक में तुमकुर औद्योगिक क्षेत्र में 1,701.81 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से निर्माण;
  • उत्तर प्रदेश में 3,883.80 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से ग्रेटर नोएडा स्थित मल्टी मोडल लॉजिस्टिक हब (एमएमएलएच) और मल्टी ट्रांसपोर्ट हब (एमएमटीएच) का निर्माण।
  • ‘चेन्नई बेंगलुरु औद्योगिक गलियारा’ के अंतर्गत आंध्र प्रदेश में कृष्णापट्टनम औद्योगिक क्षेत्र और कर्नाटक में तुमकुर औद्योगिक क्षेत्र को स्वीकृति दी गई है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

उजाला कार्यक्रम के छ: साल पूरे


प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई, भारत सरकार की शून्य सब्सिडी ‘उन्नत ज्योति सभी के लिए सस्ती एलईडी- उजाला’ (Unnat Jyoti by Affordable LEDs for All- UJALA) कार्यक्रम और ‘स्ट्रीट लाइटिंग नेशनल प्रोग्राम’ (Street Lighting National Programme- SLNP) ने 5 जनवरी, 2021 को छ: वर्ष पूरे कर लिए हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: दोनों कार्यक्रमों को भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के अधीन सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के एक संयुक्त उद्यम ‘एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) द्वारा प्रायोजित और कार्यान्वित किया गया है।

उजाला: इस पहल के माध्यम से, 36.69 करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब पूरे भारत में वितरित किए गए हैं। इसके परिणामस्वरूप 47.65 बिलियन किलोवाट की वार्षिक ऊर्जा बचत हुई है।

स्ट्रीट लाइटिंग नेशनल प्रोग्राम: इसके तहत ईईएसएल ने अब तक 1.14 करोड़ से अधिक स्मार्ट एलईडी स्ट्रीट लाइट लगाए गए हैं। इसके परिणामस्वरूप 7.67 बिलियन किलोवाट की वार्षिक ऊर्जा बचत हुई है और हर वर्ष ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में 5.29 मिलियन टन CO2 की कमी हुई है।

अन्य तथ्य: भारत में एलईडी परितंत्र के निर्माण के ठोस प्रयासों के लिए इन कार्यक्रमों को प्रतिष्ठित ‘साऊथ एशिया प्रोक्योरमेंट इनोवेशन अवार्ड 2017’ (South Asia Procurement Innovation Award 2017) समेत कई विश्वस्तर के पुरस्कार प्राप्त हुए हैं।

  • आईटी के नवाचार उपयोग के लिए SLNP को 2019 में ‘सीआईओ 100 पुरस्कार’ (CIO 100 award) प्राप्त हुआ है।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

राष्ट्रीय माप पद्धति सम्‍मेलन 2021


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 4 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘राष्ट्रीय माप पद्धति सम्मेलन 2021’ में उद्घाटन भाषण दिया।

राष्ट्रीय माप पद्धति सम्मेलन 2021: इसका आयोजन वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद- राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला (सीएसआईआर-एनपीएल), नई दिल्ली द्वारा किया गया, जिसने अपनी स्थापना के 75वें वर्ष में प्रवेश किया है।

सम्मेलन का विषय: ‘राष्ट्र के समावेशी विकास के लिए माप पद्धति’ (Metrology for the Inclusive Growth of the Nation)।

  • इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने ‘नेशनल एटॉमिक टाइमस्केल’ (National Atomic Timescale) और ‘भारतीय निर्देशक द्रव्य’ (Bhartiya Nirdeshak Dravya) राष्ट्र को समर्पित किया और ‘राष्ट्रीय पर्यावरण संबंधी मानक प्रयोगशाला’ (National Environmental Standards Laboratory) की आधारशिला भी रखी।

नेशनल एटॉमिक टाइमस्केल: यह भारतीय मानक समय का सबसे उच्च दक्षता वाला मापदंड है। यह 2.8 नैनो सेकंड की सटीकता के साथ परिणाम देता है।

भारतीय निर्देशक द्रव्य: यह अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए प्रयोगशालाओं में जांच और मापांकन में सहयोग कर रहा है।

राष्ट्रीय पर्यावरण संबंधी मानक प्रयोगशाला: यह नजदीकी परिवेश की वायु और औद्योगिक उत्सर्जन निगरानी उपकरणों के प्रमाणीकरण में आत्मनिर्भरता में सहायता करेगी।

पीआईबी न्यूज पर्यावरण

2020 के दौरान भारत की जलवायु पर वक्तव्य


भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के जलवायु अनुसंधान और सेवाओं (सीआरएस) ने 5 जनवरी, 2021 को ‘2020 के दौरान भारत की जलवायु’ ((Statement on Climate of India during 2020) को लेकर एक वक्तव्य जारी किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: राष्ट्रव्यापी रिकॉर्ड के अनुसार वर्ष 2020, 1991 के बाद से आठवां सबसे ज्यादा गर्म वर्ष रहा। हालांकि, यह 2016 में भारत के सबसे गर्म वर्ष से काफी कम रहा।

  • पिछले दो दशक (2001-2010 / 2011-2020) 0.23 डिग्री सेल्सियस / 0.34 डिग्री सेल्सियस के उतार चढ़ाव के साथ रिकॉर्ड सबसे गर्म दशक रहे।
  • हाल के 15 वर्षों (2006-2020) में से 12 वर्ष सबसे अधिक गर्म वर्ष रहे।
  • 1901-2020 के दौरान देश के औसत वार्षिक माध्य तापमान (averaged annual mean temperature) में 0.62 डिग्री सेल्सियस / 100 वर्ष की बढ़ती प्रवृत्ति दिखने को मिली, जिसमें अधिकतम तापमान में महत्वपूर्ण वृद्धि की प्रवृत्ति (0.99 डिग्री सेल्सियस / 100 वर्ष) और न्यूनतम तापमान में अपेक्षाकृत कम वृद्धि की प्रवृत्ति (0.24 डिग्री सेल्सियस / 100 वर्ष) देखने को मिली।
  • 2020 के दौरान देश की मुख्य सतह का औसत वार्षिक तापमान + 0.29 डिग्री सेल्सियस था, जो 1981-2010 की औसत अवधि से अधिक रहा।
  • देश के पांच सबसे गर्म वर्ष इस प्रकार हैं: 2016 (+0.71 डिग्री सेल्सियस), 2009 (+0.55 डिग्री सेल्सियस), 2017 (+0.541 डिग्री सेल्सियस), 2010 (+0.539 डिग्री सेल्सियस), और 2015 (+0.42 डिग्री सेल्सियस) रहे।

सामयिक खबरें आर्थिकी

डिजिटल भुगतान सूचकांक


जनवरी 2021 में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पूरे देश में भुगतान के डिजिटलीकरण के स्तर का आकलन करने के लिए एक समग्र डिजिटल भुगतान सूचकांक ( Digital Payments Index- DPI) तैयार किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसके लिये आधार अवधि मार्च 2018 को बनाया गया है।

  • मार्च 2019 और मार्च 2020 के लिये DPI क्रमश: 153.47 और 207.84 रहा, जो अच्छी वृद्धि का संकेत देता है।
  • DPI में पांच व्यापक मानदंड शामिल हैं, जो विभिन्न समयावधि में डिजिटल भुगतान की स्थिति का आकलन करते हैं।
  • ये मानदंड हैं- भुगतान को सुगम बनाने वाले (25% भारांश), भुगतान संबंधी बुनियादी ढांचा-मांग पक्ष कारक (10%), भुगतान संबंधी बुनियादी ढांचा-आपूर्ति पक्ष कारक (15%), भुगतान प्रदर्शन (45%) और उपभोक्ता केंद्रितता (5%)।
  • मार्च 2021 से चार महीने के अंतराल के साथ DPI का प्रकाशन छमाही आधार पर केंदीय बैंक की वेबसाइट पर किया जाएगा।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित स्थल

दीपोर बील में सामुदायिक मछली पकड़ने पर प्रतिबंध


  • 1 जनवरी, 2021 को कामरूप महानगर जिला ने दीपोर बील में सामुदायिक मछली पकड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह आदेश 31 जनवरी, 2021 तक प्रभावी रहेगा।
  • असम का एकमात्र रामसर स्थल दीपोर बील, गुवाहाटी के दक्षिणी-पश्चिमी छोर पर स्थित एक ताजे पानी की झील है।
  • दीपोर बील को 2002 में पक्षियों की 219 प्रजातियों के अलावा जलीय जीवों के अस्तित्व के लिए एक रामसर स्थल नामित किया गया था।
  • एक रामसर स्थल एक अंतरराष्ट्रीय महत्व की आर्द्रभूमि है, जिसे 2 फरवरी, 1971 को ईरान के शहर रामसर में हस्ताक्षरित आर्द्रभूमि अभिसमय (रामसर अभिसमय) के तहत नामित किया जाता है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

एग्री इंडिया हैकथॉन


केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 31 दिसंबर, 2020 को ‘एग्री इंडिया हैकथॉन’ (Agri-hackathon 2020) के पहले संस्करण का शुभारंभ किया।

  • एग्री इंडिया हैकथॉन कृषि क्षेत्र में संवाद करने और नवाचारों में तेजी लाने के लिए सबसे बड़ा ऑनलाइन कार्यक्रम है।
  • एग्री इंडिया हैकथॉन का आयोजन केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग एवं पूसा कृषि, आईसीएआर- आईएआरआई द्वारा 60 दिनों तक किया जाएगा।
  • विभिन्न फोकस क्षेत्रों से 24 सर्वश्रेष्ठ नवाचारों को 1,00,000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा।

फोकस क्षेत्र: हैकथॉन नए युग के लिए तेज व मितव्ययी नवाचारों के लक्ष्य के साथ 5 परस्पर क्षेत्रों पर प्रभाव पैदा करना चाहता है। ये क्षेत्र हैं- खेती-सम्बद्ध गतिविधियों का मशीनीकरण; सेंसर, डब्ल्यूएसएन, आईसीटी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, आईओटी और ड्रोन के अनुप्रयोग को शामिल करते हुये ‘परिशुद्धता कृषि’(precision agriculture); आपूर्ति शृंखला और कृषि रसद; फसलोपरांत एवं खाद्य प्रौद्योगिकी तथा मूल्य संवर्द्धन; कृषि अपशिष्ट से धन एवं कृषि में हरित ऊर्जा।

सामयिक खबरें राज्य मध्य प्रदेश

संगीत महोत्सव: तानसेन समारोह 2020


मध्य प्रदेश में बहुप्रतीक्षित ‘संगीत महोत्सव: तानसेन समारोह 2020’ 26 से 30 दिसंबर, 2020 तक आयोजित किया गया।

  • तानसेन समारोह मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के बेहट गाँव (तानसेन की जन्मस्थली) में हर साल दिसंबर माह में आयोजित किया जाता है। इस साल यह 96वां संस्करण था।
  • राज्य सरकार के संस्कृति विभाग की ओर से मध्य प्रदेश सांस्कृतिक परिषद और उस्ताद अल्लाउद्दीन खान संगीत एवं कला अकादमी द्वारा संयुक्त रूप से इस विश्व स्तरीय संगीत समारोह का आयोजन किया जाता है।
  • 5 दिवसीय संगीत समारोह में महान संगीतज्ञ तानसेन को श्रद्धांजलि देने के लिए दुनिया भर के कलाकार और संगीत प्रेमी यहां इकट्ठा होते हैं।
  • समारोह में जाने माने संतूर वादक पंडित सतीश व्यास को प्रतिष्ठित ‘तानसेन सम्मान’ से नवाजा गया। भोपाल स्थित अभिनव कला परिषद संस्थान को ‘राजा मान सिंह तोमर’ पुरस्कार दिया गया।
  • तानसेन सबसे प्रसिद्ध ध्रुपद गायकों में से एक थे और सम्राट अकबर के दरबार के नौ रत्नों में से एक थे। उन्हें ‘मियां की उपाधि’ अकबर द्वारा दी गई थी।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

अंतरराष्ट्रीय प्रतिभूति आयोग संगठन


अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) जनवरी 2021 में अंतरराष्ट्रीय प्रतिभूति आयोग संगठन (International Organization of Securities Commissions- IOSCO) का सहयोगी सदस्य बन गया है। इससे गिफ्ट-सिटी अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र में वित्तीय उत्पादों, वित्तीय सेवाओं और वित्तीय संस्थानों के विकास और विनियमन के बारे में भी काफी सहयोग मिलेगा।

  • IOSCO एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है, जो विश्व के प्रतिभूति बाजारों के 95% से अधिक प्रतिभूति नियामकों को एक मंच पर लाता है। यह प्रतिभूतियां क्षेत्र के लिए एक वैश्विक मानक निर्धारणकर्ता है।
  • इसकी स्थापना अप्रैल 1983 में हुई थी। इसका मुख्यालय मेड्रिड, स्पेन में स्थित है। वर्तमान में इसके 226 सदस्य हैं।
  • IOSCO जी-20 और वित्तीय स्थिरता बोर्ड (एफएसबी) के साथ प्रतिभूतियां बाजारों को मजबूत बनाने के लिए मानकों का निर्धारण करने में मिलकर काम करता है।
  • इसका मुख्य उद्देश्य निवेशकों की सुरक्षा, निष्पक्ष, कुशल और पारदर्शी बाजारों का अनुरक्षण करने और प्रणालीगत जोखिमों को दूर करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त विनियमन, पर्यवेक्षण और प्रवर्तन के मानकों का पालन करने, विकसित करने, लागू करने और बढ़ावा देने में सहयोग करना है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

एएसएचए- इंडिया


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1 जनवरी, 2021 को अफोर्डेबल सस्टेनेबल हाउसिंग एक्सेलेरेटर्स- इंडिया (एएसएचए- इंडिया) ‘Affordable Sustainable Housing Accelerators – India’ (ASHA-India) के तहत विजेताओं की घोषणा की तथा प्रधानमंत्री आवास योजना- शहरी (पीएमएवाई-यू) मिशन के कार्यान्वयन में उत्कृष्टता के लिए वार्षिक पुरस्कार भी प्रदान किए।

एएसएचए- इंडिया: इसका उद्देश्य भविष्य की संभावित प्रौद्योगिकी को तैयार करने में सहायता प्रदान करते हुए घरेलू अनुसंधान और उद्यमिता को बढ़ावा देना है।

  • इस पहल के तहत प्रौद्योगिकी को तैयार करने में सहायता प्रदान करने के लिए 5 एएसएचए- इंडिया केंद्र स्थापित किए गए हैं।
  • इस पहल के माध्यम से पहचान की जाने वाली प्रौद्योगिकी, प्रक्रियाओं और सामग्रियों से रचनात्मक दिमाग वाले युवाओं, स्टार्ट-अप, नवप्रवर्तकों और उद्यमियों को मदद मिलेगी।

अन्य तथ्य: प्रधानमंत्री आवास योजना- शहरी (पीएमएवाई- यू) मिशन को '2022 तक सभी के लिए आवास' के दृष्टिकोण के साथ डिजाइन किया गया है। इसमें राज्यों, केंद्र-शासित प्रदेशों, शहरी स्थानीय निकायों और लाभार्थियों के उत्कृष्ट योगदान को मान्यता देने के लिए वार्षिक पुरस्कार देने की योजना बनाई गई है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

कालाजार बीमारी की स्थिति की समीक्षा


केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 30 दिसंबर, 2020 को उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में कालाजार बीमारी की स्थिति की समीक्षा की।

कालाजार: परजीवी से होने वाली मृत्यु का दुनियाभर में मलेरिया के बाद कालाजार दूसरा सबसे बड़ा कारण है, अगर समय रहते मरीज का इलाज न किया जाए, तो इससे 95 फीसदी मरीजों की मौत हो जाती है।

  • इसके अलावा, जो मरीज सही इलाज मिलने से ठीक हो जाते हैं, उनमें से करीब 20 फीसदी मरीजों के शरीर में ‘पोस्ट-कालाजार डर्मल लीशमैनियासिस’ (Post-Kala-Azar Dermal Leishmaniasis- PKDL)’ नामक त्वचा संबंधी रोग हो जाता है।

समीक्षा की मुख्य बातें: वर्तमान में देश के चार राज्य- बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 54 जिले कालाजार बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

  • 30 नवंबर, 2020 तक झारखंड के 12 खण्डों और बिहार के 4 खण्डों में प्रति 10,000 आबादी पर कालाजार का एक से अधिक मामला सामने आया है।
  • कालाजार से सबसे ज्यादा प्रभावित बिहार में सिवान और सारण जिलों के 4 खण्डों को छोड़कर (कुल 458 खण्ड में से) बाकी सभी खण्डों में इसके उन्मूलन के लक्ष्य को हासिल कर लिया गया है।
  • झारखंड ने प्रति 10000 आबादी पर एक से अधिक मामलों वाले खण्डों के साथ-साथ कालाजार और PKDL के मामलों में कमी दर्ज की है।
  • उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल ने कालाजार उन्मूलन के लक्ष्यों को हासिल कर लिया है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

भारत का लीथियम हेतु अर्जेंटीना से समझौता


भारत ने हाल ही में निगमित सरकारी कंपनी 'खनिज बिदेश इंडिया लिमिटेड' (Khanij Bidesh India Ltd) के जरिए लिथियम हेतु अर्जेंटीना की एक फर्म के साथ एक समझौता किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: दक्षिण अमेरिकी देश अर्जेंटीना में लिथियम का तीसरा सबसे बड़ा भंडार है।

  • नई कंपनी, खनिज बिदेश इंडिया लिमिटेड को अगस्त, 2019 में तीन सरकारी-स्वामित्व वाली कंपनियों, नाल्को, हिंदुस्तान कॉपर और मिनरल एक्सप्लोरेशन लिमिटेड को मिलाकर निगमित किया गया था, जिससे विदेशों से लिथियम और कोबाल्ट जैसी रणनीतिक खनिज परिसंपत्तियों को खरीदा जा सके।
  • भारत की नजर चिली और बोलिविया जैसे लीथियम का उत्पादन करने वाले शीर्ष देशों पर भी है।
  • चांदी जैसी सफेद क्षार धातु लिथियम का उपयोग ‘लिथियम आयन रीचार्जेबल बैटरियों’ (lithium-ion rechargeable batteries) में किया जाता है, जो इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवीएस), लैपटॉप और मोबाइल फोन को पावर प्रदान करने में इस्तेमाल की जाती हैं।
  • वर्तमान में, भारत इन सेल के आयात पर बहुत अधिक निर्भर है। लिथियम के लिए यह समझौता कच्चे माल और सेल दोनों के प्रमुख स्रोत चीन को टक्कर देने वाला साबित हो सकता है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों की नियुक्ति


  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों की नियुक्ति की गई है।
  • दिल्ली उच्च न्यायालय की न्यायाधीश न्यायमूर्ति ‘हिमा कोहली’ को ‘तेलंगाना उच्च न्यायालय’ की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया है। उन्होंने न्यायमूर्ति ‘राघवेंद्र चौहान’ का स्थान लिया, जिन्हें ‘उत्तराखंड उच्च न्यायालय’ का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।
  • ओडिशा उच्च न्ययालय के मुख्य न्यायाधीशन्यायमूर्ति ‘मोहम्मद रफीक’ को ‘मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय’ का नया मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।
  • पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति ‘डा.एस मुरलीधर’ को ‘ओडिशा उच्च न्यायालय’ का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।
  • कलकत्ता उच्च न्यायालय में न्यायाधीश न्यायमूर्ति ‘संजीब बनर्जी’ को ‘मद्रास उच्च न्यायालय’ का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।
  • इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति ‘पंकज मित्तल’ को ‘जम्मू-कश्मीर लद्दाख उच्च न्यायालय’ का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।
  • एक अदला-बदली में, आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति ‘जितेंद्र कुमार माहेश्वरी’ को ‘सिक्किम उच्च न्यायालय’ में स्थानांतरित किया गया, जबकि सिक्किम उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति ‘अरूप कुमार सिंह’ अब ‘आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय’ के नए मुख्य न्यायाधीश होंगे।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

ब्रह्मपुत्र आमंत्रण अभियान


  • जल शक्ति और सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने 30 दिसंबर, 2020 को ‘ब्रह्मपुत्र आमंत्रण अभियान’ में हिस्सा लिया।
  • ब्रह्मपुत्र आमंत्रण अभियान एक रिवर राफ्टिंग अभियान है, जिसे अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट में भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय के अंतर्गत ‘ब्रह्मपुत्र बोर्ड’ द्वारा आयोजित किया जाता है।
  • 917 किमी. लंबा यह राफ्टिंग अभियान और आउटरीच कार्यक्रम 23 दिसंबर को अरुणाचल प्रदेश में गेलिंग(Gelling) से शुरू हुआ था, जिसका समापन 21 जनवरी, 2021 को असम के असमरलगा (Assameralga) में होगा।
  • ‘नदियों के साथ जीवन’ (Living with the River) विषय से आयोजित इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों को ब्रह्मपुत्र नदी के बारे में जागरूक करना है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

विश्व ब्रेल दिवस


4 जनवरी

महत्वपूर्ण तथ्य: विश्व ब्रेल दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा दिसंबर 2018 में की गई थी। इस दिवस को नेत्रहीन फ्रांसीसी लुई ब्रेल की जयंती के रूप में भी मनाया जाता है, जिन्होंने 15 वर्ष की आयु में दृष्टि-बाधित या नेत्रहीन लोगों द्वारा पढ़ने और लिखने के उपयोग हेतु स्पर्शनीय 'ब्रेल' लिपि का आविष्कार किया था।

  • ब्रेल अक्षरात्मक और संख्यात्मक प्रतीकों का एक स्पर्शनीय निरूपण है। इसमें प्रत्येक अक्षर और संख्या और यहां तक कि संगीत संबंधी, गणितीय और वैज्ञानिक प्रतीकों का निरूपण करने के लिए छ: बिन्दुओं का उपयोग किया जाता है।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज और कमेंटेटर रॉबिन जैकमैन का निधन


इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज और कमेंटेटर रॉबिन जैकमैन का 25 दिसंबर, 2020 को 75 साल की उम्र में निधन हो गया।

  • भारत के शिमला में पैदा हुए जैकमैन ने 1974 और 1983 के बीच 4 टेस्ट और 15 एकदिवसीय मैचों में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने 33 अंतरराष्ट्रीय विकेट लिए।

सामयिक खबरें राज्य बिहार

बिहार सरकार को मिला 'डिजिटल इंडिया पुरस्कार 2020'


  • बिहार सरकार ने लॉकडाउन के दौरान काम के लिए 30 दिसंबर, 2020 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से 'डिजिटल इंडिया पुरस्कार 2020' प्राप्त किया।
  • मुख्यमंत्री सचिवालय, आपदा प्रबंधन विभाग और बिहार के राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) को 'महामारी में नवाचार' श्रेणी के तहत विजेता घोषित किया गया।
  • बिहार में, लॉकडाउन के दौरान 'प्रवासी सहायता ऐप' के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा राज्य के बाहर फंसे हुए 21 लाख से अधिक लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान की गई।
  • राज्य सरकार ने राशन कार्ड धारकों को मुफ्त राशन और अन्य खातों में नकद 1000 रुपये सहित अन्य सहायता की भी निगरानी जारी रखी।
  • आपदा प्रबंधन विभाग की पहल के तहत, कोरोना लॉकडाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों को पंजीकृत करने और उनके कौशल को मैप करने के लिए 'गरूर ऐप' (Garur App) नामक एक डिजिटल प्लेटफॉर्म विकसित किया गया था।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

ICCI और एचडीएफसी बैंक में समझौता


  • इन्वेंटिवप्रेन्योर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने एसएमई छोटे और मध्यम उद्यमोंऔर स्टार्टअप को समर्थन देने के लिए नवंबरको एचडीएफसी बैंक के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। द्वारा अनुशंसित और समर्थित स्टार्टअप्स को एचडीएफसी बैंक द्वारा खाते की सुविधा दी जायेगी।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

टीका और प्रतिरक्षा के लिए गठित वैश्विक गठबंधन ‘गावी’


केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को टीका और प्रतिरक्षा के लिए गठित वैश्विक गठबंधन ‘गावी’ (Gavi, the Vaccine Alliance) बोर्ड में बतौर सदस्य नामित किया गया है।

  • डॉ. हर्षवर्धन इस बोर्ड में दक्षिण-पूर्व क्षेत्र क्षेत्रीय कार्यालय / पश्चिमी प्रशांत क्षेत्रीय कार्यालय निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करेंगे। उनका कार्यकाल 1 जनवरी, 2021 से 31 दिसंबर, 2023 तक रहेगा। अभी तक इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व म्यांमार के मिंत ह्टवे कर रहे थे।
  • गरीब देशों में टीकाकरण की पहुंच बढ़ाने के लक्ष्य के साथ गावी, एक ‘सार्वजनिक-निजी वैश्विक स्वास्थ्य साझेदारी’ है। इसे वर्ष 2000 में लॉन्च किया गया था।
  • गावी के मुख्य साझेदारों में, विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनिसेफ, विश्व बैंक और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन शामिल हैं, जो प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधाओं (पीएचसी) को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • जीवन को बचाने, गरीबी को कम करने और महामारी से विश्व को बचाने के लिए अपने मिशन के हिस्से के रूप में टीका गठबंधन (गावी) ने विश्व के सबसे गरीब देशों के 82.2 करोड़ बच्चों का टीकाकरण किया है। वर्तमान में डॉ. नगोजी ओकोंजो इविएला गावी बोर्ड के अध्यक्ष हैं।
  • 'गावी’ को अपने इस मिशन के लिए प्रतिष्ठित लास्कर - ब्लूमबर्ग पब्लिक सर्विस अवार्ड 2019 से सम्मानित किया गया है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से छ: राज्यों में छ: स्थानों पर ‘ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलॉजी चैलेंज- इंडिया’ (Global Housing Technology Challenge-India: GHTC-India) के तहत हल्के मकान से जुड़ी परियोजनाओं (लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स) की आधारशिला रखी।

महत्वपूर्ण तथ्य: लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स (Light House Projects- LHPs) देश में पहली बार निर्माण क्षेत्र में इतने बड़े पैमाने पर अत्याधुनिक वैकल्पिक वैश्विक प्रौद्योगिकी, सामग्रियों और प्रक्रियाओं का बेहतरीन प्रदर्शन करती हैं।

  • इनका निर्माण GHTC-India के तहत किया जा रहा है, जो आवास निर्माण के क्षेत्र में नवीन तकनीकों को अपनाने के लिए एक समग्र परिवेश तैयार करने की परिकल्पना करता है।
  • इन LHP का निर्माण इंदौर (मध्य प्रदेश), राजकोट (गुजरात), चेन्नई (तमिलनाडु), रांची (झारखंड), अगरतला (त्रिपुरा) और लखनऊ (उत्तर प्रदेश) में किया जा रहा है। इसमें प्रत्येक स्थान पर संबद्ध बुनियादी ढांचा सुविधाओं के साथ लगभग 1,000 मकानों को शामिल किया गया है।
  • ये परियोजनाएं पारंपरिक तौर पर ईंट एवं कंक्रीट वाले निर्माण के मुकाबले कहीं अधिक तेजी से (महज बारह महीने के भीतर) रहने योग्य तैयार मकानों को वितरित करेंगी। इसके अलावा ये मकान उच्च गुणवत्ता के साथ किफायती और टिकाऊ भी होंगे।

अन्य तथ्य: प्रधानमंत्री ने ‘एनएवीएआरआईटीआईएच’ (New, Affordable, Validated, Research Innovation Technologies for Indian Housing- NAVARITIH) नाम से नवोन्मेषी निर्माण प्रौद्योगिकी पर एक सर्टिफिकेट कोर्स और जीएचटीसी- इंडिया के जरिये पहचान किए गए 54 नवोन्मेषी आवास निर्माण प्रौद्योगिकी के एक संग्रह का विमोचन भी किया।

पीआईबी न्यूज विज्ञान और तकनीक

भारतीय सार्स सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम


भारत सरकार द्वारा 30 दिसंबर, 2020 को ‘भारतीय सार्स सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम’ (Indian SARS-CoV-2 Genomic Consortia- INSACOG) लॉन्च किया गया।

लक्ष्य: नियमित आधार पर बहु-प्रयोगशाला नेटवर्क के माध्यम से सार्स सीओवी-2 के जीनोमिक्स प्रकारों पर नजर रखना।

महत्वपूर्ण तथ्य: सरकार ने 10 प्रयोगशालाओं डीबीटी-एनआईबीएमजी कल्याणी, डीबीटी- आईएलएस भुवनेश्वर, आईसीएमआर-एनआईवी पुणे, डीबीटी-एनसीसीएस पुणे, सीएसआईआर- सीसीएमबी हैदराबाद, डीबीटी-सीडीएफडी हैदराबाद, डीबीटी-इनस्टेम/एनसीबीएस बेंगलुरु, निमहांस, बेंगलुरु, सीएसआईआर-आईजीआईबी दिल्ली और एनसीडीसी दिल्ली को शामिल करते हुए भारतीय सार्स सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (आईएनएसएसीओजी) बनाया है।

  • यह महत्वपूर्ण शोध कंसोर्टियम भविष्य में संभावित वैक्सीनों के विकास में भी सहायता प्रदान करेगा। कंसोर्टियम देश के भीतर सार्स सीओवी-2 के नए प्रकार (सार्स सीओवी-2 वीयूआई 202012/01) की स्थिति का पता लगाएगा, सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रभाव सहित जीनोमिक्स प्रकारों का जल्द पता लगाने के लिए चौकस निगरानी स्थापित करेगा।
  • INSACOG में उच्च स्तरीय अंतर-मंत्रालयी संचालन समिति होगी, जो विशेषकर नीतिगत मामलों के लिए कंसोर्टियम को मार्गदर्शन प्रदान करेगी और निगरानी करेगी तथा इसमें वैज्ञानिक और तकनीकी मार्गदर्शन के लिए वैज्ञानिक सलाहकार समूह होगा।
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, आईसीएमआर और सीएसआईआर के साथ जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा समन्वय करके INSACOG की कार्यनीति और योजना तैयार की गई है।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह का निधन


पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह का 2 जनवरी, 2021 को निधन हो गया। वे 86 वर्ष के थे।

  • बूटा सिंह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थे। वे आठ बार लोकसभा के लिए चुने गए थे।
  • सिंह ने 1960 के दशक में अकाली दल के साथ अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। वह 1962 में पहली बार पंजाब के मोगा से अकाली दल के टिकट पर लोकसभा के लिए चुने गए, लेकिन जल्द ही कांग्रेस में शामिल हो गए।
  • उन्होंने 1986 में राजीव गांधी सरकार में केंद्रीय गृह मंत्री के रूप में कार्य किया। इसके अलावा उन्होंने कृषि, संसदीय कार्य, नागरिक आपूर्ति, आवास, शिपिंग, परिवहन और खेल मंत्री के रूप में भी काम किया।
  • गृह मंत्री के रूप में उनका कार्यकाल राजीव गांधी सरकार द्वारा 1989 में अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर के शिलान्यास की अनुमति देने के फैसले में उनकी भूमिका के लिए याद किया जाएगा।
  • वह ‘ऑपरेशन ब्लू स्टार’ में इंदिरा गांधी के साथ बहुत करीब से जुड़े थे और एक मंत्री के रूप में उन्होंने उस ऑपरेशन के बाद स्वर्ण मंदिर के पुनर्निर्माण कार्य को भी देखा था।
  • वे बिहार के राज्यपाल और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (NCSC) के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य कर चुके थे।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

डिजिटल इंडिया पुरस्कार- 2020


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 30 दिसंबर, 2020 को सरकारी संस्थाओं के 24 डिजिटल गवर्नेंस पहलों/उत्पादों को 7 श्रेणियों में ‘डिजिटल इंडिया पुरस्कार- 2020’ प्रदान किए।

  • महामारी में नवाचार; डिजिटल प्रशासन में उत्कृष्टता-मंत्रालय/विभाग (केन्द्र); डिजिटल प्रशासन में उत्कृष्टता-राज्य/केन्द्र-शासित प्रदेश; डिजिटल प्रशासन में उत्कृष्टता-जिला; ओपन डाटा चैम्पियन, अनुकरणीय उत्पाद और जूरी की पसंद श्रेणियों में पुरस्कार प्रदान किए गए।

महामारी में नवाचार: ई-संजीवनी - राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन सेवा, कोविड-19 नमूना संग्रह प्रबंधन प्रणाली, आपदा सम्पूर्ति पोर्टल तथा प्रवासी श्रमिक और रोजगार सेतु पोर्टल।

डिजिटल प्रशासन में उत्कृष्टता-मंत्रालय/विभाग (केन्द्र): ई-समिति (भारत का सर्वोच्च न्यायालय, न्याय विभाग), डाक विभाग, उर्वरक विभाग तथा भूमि संसाधन विभाग।

डिजिटल प्रशासन में उत्कृष्टता-राज्य/केन्द्र-शासित प्रदेश: हरियाणा, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश तथा

पश्चिम बंगाल।

डिजिटल प्रशासन में उत्कृष्टता-जिला: खरगोन (मध्य प्रदेश), चांगलांग (अरूणाचल प्रदेश) तथा कामारेड्डी(तेलंगाना)।

ओपन डेटा चैंपियन: ओजीडी प्लेटफॉर्म इंडिया पर हेल्थ सेक्टर डेटा, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, भारतीय खाद्य निगम तथा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय।

अनुकरणीय उत्पाद: पोर्ट कम्युनिटी सिस्टम पीसीएस1एक्स (नेशनल मैरीटाइम सिंगल विंडो), सर्विस प्लस (एक मेटाडेटा-आधारित सेवा वितरण प्लेटफॉर्म) तथा एकीकृत मंदिर प्रबंधन प्रणाली।

जूरी की पसंद: आरोग्य सेतु तथा ई-ऑफिस।

सामयिक खबरें खेल क्रिकेट

अखिल भारतीय वरिष्ठ चयन समिति नियुक्तियों की घोषणा


24 दिसंबर, 2020 को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने अखिल भारतीय वरिष्ठ चयन समिति नियुक्तियों की घोषणा की।

  • क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) ने वरिष्ठ पुरुषों की चयन समिति पैनल के लिए चेतन शर्मा, अबे कुरुविला और देबाशीष मोहंती को नियुक्त किया है।
  • पाँच सदस्यीय चयन समिति में सुनील जोशी और हरविंदर सिंह भी शामिल हैं, जिन्हें मार्च 2020 में चयन समिति के लिए नामित किया गया था।
  • वरिष्ठता (टेस्ट मैचों की कुल संख्या) के आधार पर चयन समिति के अध्यक्ष की भूमिका के लिए चेतन शर्मा को नियुक्त किया गया है। चेतन ने 1984 से 1994 तक 23 टेस्ट और 65 एकदिवसीय मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

कर्नाटक बैंक ने लॉन्च किया नेशनल कॉमन मोबिलिटी डेबिट कार्ड


  • कर्नाटक बैंक लिमिटेड ने 9 नवंबर, 2020 को ‘नेशनल कॉमन मोबिलिटी डेबिट कार्ड’ (National Common Mobility Debit Card) लॉन्च किया है।
  • यह रुपे कार्ड एक संपर्क रहित डेबिट-सह-प्रीपेड और अंतर-संचालित परिवहन कार्ड (interoperable transport card) है।
  • उपयोगकर्ता प्वाइंट ऑफ सेल (PoS) टर्मिनल पर कार्ड डाले बिना भुगतान कर सकते हैं। इस कार्ड की मदद से टोल प्लाजा, मेट्रो, पार्किंग स्थल, खुदरा दुकानों और स्मार्ट शहरों में भुगतान किया जा सकता है।

सामयिक खबरें बिजनेस और सार्वजनिक उपक्रम

विप्रो जीई हेल्थकेयर और आईआईटी मद्रास साझेदारी


  • विप्रो जीई हेल्थकेयर ने 10 दिसंबर, 2020 को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास (IITM) के साथ एक फेलोशिप साझेदारी की घोषणा की, ताकि अनुसंधान अध्येताओं को देश में नवाचार पारितंत्र के निर्माण और सुधार के लिए और अधिक अवसर प्रदान किया जा सके।
  • कार्यक्रम के तहत, विप्रो जीई हेल्थकेयर (डब्ल्यूजीई) आईआईटी मद्रास में अनुसंधान अध्येताओं में चुने गए मास्टर्स (एमएस) को वित्तीय सहायता और औद्योगिक विशेषज्ञता प्रदान करेगा।

सामयिक खबरें इन्हें भी जानें

महा संयोजन


  • एक दुर्लभ खगोलीय घटना में 21 दिसंबर, 2020 को बृहस्पति और शनि के बीच 'महा संयोजन' (Great Conjunction) हुआ, जब दोनों ग्रह चमकते सितारे की तरह दिखाई दिये, जिसे क्रिसमस तारा (Christmas star) कहा गया।
  • संयोजन किसी भी घटना को दिया गया नाम है, जहां ग्रह या क्षुद्रग्रह पृथ्वी से देखे जाने पर आकाश में एक साथ बहुत करीब दिखाई देते हैं। ग्रहों के आकार के कारण खगोलविदों ने बृहस्पति और शनि के संयोजन के लिए 'महा संयोजन’ शब्द का उपयोग किया है।
  • 'महा संयोजन' घटना लगभग 20 वर्षों में एक बार होती है क्योंकि प्रत्येक ग्रह सूर्य के चारों ओर परिक्रमा करता है। बृहस्पति को सूर्य के चारों ओर एक चक्कर को पूरा करने में लगभग 12 साल (11 साल 11 माह) लगते हैं और शनि को 29.5 साल लगते हैं।
  • दोनों ग्रह वर्ष 2080 में पुन: इतने ही करीब होंगे। इस साल, हालांकि, यह घटना दुर्लभ है, क्योंकि लगभग 400 साल बाद आसमान में ग्रह एक-दूसरे के सबसे करीब आए और लगभग 800 साल बाद शनि और बृहस्पति का संयोग रात में हुआ है।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

जनसंख्या एवं विकास भागीदार


  • 8 दिसंबर, 2020 को जनसंख्या एवं विकास भागीदारों (Partners in Population and Development- PPD) द्वारा एक अंतर-मंत्रालयी सम्मेलन का आयोजन किया गया। भारत ने इसमें भाग लिया।
  • PPD प्रजनन स्वास्थ्य, जनसंख्या और विकास के क्षेत्र में दक्षिण-दक्षिण सहयोग को बढ़ावा देने के लिए एक अंतरसरकारी संगठन है।
  • इसकी शुरुआत 1994 में अंतरराष्ट्रीय जनसंख्या एवं विकास सम्मेलन (International Conference on Population and Development- ICPD) के दौरान की गयी थी।
  • इस सम्मलेन में एशिया, अफ्रीका और लैटिन अमेरिका के दस विकासशील देशों ने काहिरा कार्रवाई कार्यक्रम (Cairo Program of Action– POA) को लागू करने में मदद करने हेतु एक अंतर-सरकारी गठबंधन का गठन किया गया था। काहिरा कार्यक्रम को 179 देशों द्वारा समर्थन प्राप्त है।
  • यह कार्यक्रम देशों के भीतर और देशों के मध्य प्रजनन स्वास्थ्य (reproductive health- RH) और परिवार नियोजन में अनुभवों के आदान-प्रदान के माध्यम से विकास को बढ़ावा देने और सरकारों, गैर सरकारी संगठनों, अनुसंधान संस्थानों और निजी क्षेत्र के बीच प्रभावी भागीदारी को बढ़ावा देने हेतु एक तंत्र स्थापित करने की आवश्यकता पर बल देता है।
  • PPD का सचिवालय ढाका, बांग्लादेश में स्थित है। वर्तमान में, PPD में 27 विकासशील देश सदस्य के रूप में शामिल हैं।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

सहायक-एनजी’


रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने भारतीय नौसेना के साथ 30 दिसंबर, 2020 को गोवा तट से कुछ दूर समुद्र में हवा से गिराए जाने वाले कंटेनर ‘सहायक-एनजी’ (SAHAYAK-NG) का पहला सफल उड़ान परीक्षण सम्पन्न किया। यह परीक्षण भारतीय नौसेना के ‘आईएल- 38एसडी विमान’ (IL 38SD aircraft) से किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: सहायक-एनजी भारत का पहला स्वदेशी तौर पर डिजाइन और विकसित किया गया ऐसा कंटेनर है, जिसे आकाश से सतह पर उतारा जा सकता है।

  • भारतीय नौसेना ने अपनी परिचालन लॉजिस्टिक क्षमता में वृद्धि करने और तट से 2,000 किलोमीटर से अधिक की दूरी पर तैनात पोतों को महत्वपूर्ण अभियांत्रिकी भंडारण सुविधा मुहैया कराने के लिए यह परीक्षण किया।
  • इस सहायक-एनजी कंटेनर का विकास डीआरडीओर की दो प्रयोगशालाओं – विशाखापत्तनम स्थित एनएसटीएल और आगरा स्थित एडीआरडीई ने अपने उद्योग साझेदार मैसर्स अवान्टेल के साथ मिलकर किया है।
  • सहायक-एनजी, ‘सहायक एमके-1’(SAHAYAK Mk I) का आधुनिक संस्करण है। नव विकसित जीपीएस से लैस कंटेनर 50 किग्रा. तक वजन ले जाने में सक्षम है और इसे किसी भारी विमान से सतह पर उतारा जा सकता है।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

आईसीआईसीआई बैंक का ‘इनफाइनाइट इंडिया' प्लेटफॉर्म


  • दिसंबर 2020 में निजी क्षेत्र के ऋणदाता आईसीआईसीआई बैंक ने उन विदेशी कंपनियों के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ‘इनफाइनाइट इंडिया' (Infinite India) शुरू किया है, जो देश में व्यवसाय स्थापित करने की योजना बना रहे हैं।
  • 'प्लेटफॉर्म उन्हें बैंकिंग समाधान के साथ-साथ मूल्य-वर्धित सेवाएं प्रदान करता है जैसे कि एक व्यावसायिक इकाई, कॉर्पोरेट फाइलिंग, लाइसेंस और पंजीकरण, एचआर सेवाएं, अनुपालन और कराधान।
  • इन सुविधाओं को प्रदान करने के लिए बैंक ने सेवा प्रदाताओं के साथ समझौता किया है।

सामयिक खबरें इन्हें भी जानें

परमाणु चुंबकीय अनुनाद परीक्षण


  • भारत में शहद के 13 ब्रांडों में से 10 ब्रांड ‘परमाणु चुंबकीय अनुनाद परीक्षण’ (Nuclear Magnetic Resonance Test) में विफल रहे हैं।
  • परमाणु चुंबकीय अनुनाद (NMR) स्पेक्ट्रोस्कोपी एक विश्लेषणात्मक रसायन विज्ञान तकनीक है, जिसका उपयोग गुणवत्ता नियंत्रण में और एक नमूने के अवयवों और शुद्धता और साथ ही इसकी आणविक संरचना का निर्धारण करने के लिए अनुसंधान में किया जाता है।
  • भारतीय कानून में स्थानीय स्तर पर विपणन किए जाने वाले शहद के लिए NMR परीक्षण की आवश्यकता नहीं है, किंतु निर्यात करने हेतु शहद के लिए यह परीक्षण आवश्यक है।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद


केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 15 दिसंबर, 2020 को नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 23वीं वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद (FSDC) की बैठक की अध्यक्षता की।

  • वित्तीय स्थिरता बनाए रखने के लिए तंत्र को मजबूत करने और संस्थागत बनाने, अंतर-नियामक समन्वय को बढ़ाने और वित्तीय क्षेत्र के विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद (एफएसडीसी) की स्थापना सरकार ने दिसंबर 2010 में शीर्ष स्तर के मंच के रूप में की थी।
  • परिषद की अध्यक्षता केंद्रीय वित्त मंत्री द्वारा की जाती है। इसके सदस्यों में वित्तीय क्षेत्र के नियामक (RBI, SEBI, PFRDA, IRDA & FMC) के प्रमुख, वित्त सचिव और / या सचिव, आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव, वित्तीय सेवा विभाग के सचिव और मुख्य आर्थिक सलाहकार शामिल हैं। आवश्यकता पड़ने पर परिषद विशेषज्ञों को अपनी बैठक में आमंत्रित कर सकती है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

आकाश मिसाइल प्रणाली के निर्यात को मंजूरी


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 30 दिसंबर, 2020 को आकाश मिसाइल प्रणाली के निर्यात को मंजूरी दी और निर्यातों की त्वरित मंजूरी के लिए एक समिति गठित की।

महत्वपूर्ण तथ्य: आकाश सतह से हवा में मार करने वाली एक मिसाइल है, जिसकी मारक क्षमता 25 किलोमीटर तक है। इस मिसाइल को 2014 में भारतीय वायु सेना तथा 2015 में भारतीय सेना में शामिल किया गया था।

  • देश की महत्वपूर्ण मिसाइल आकाश का 96% से अधिक स्वदेशीकरण किया गया है।
  • अब तक, भारतीय रक्षा निर्यातों में पुर्जे/घटक आदि शामिल थे। बड़े प्लेटफार्मों का निर्यात न्यूनतम था।
  • भारत सरकार ने 5 बिलियन डॉलर के रक्षा निर्यात के लक्ष्य को प्राप्त करने और उच्च मूल्य वाले रक्षा प्लेटफार्मों के निर्यात पर ध्यान केंद्रित करने का विचार किया है।

निर्यातों की त्वरित मंजूरी के लिए एक समिति: आकाश के अलावा, अन्य प्रमुख प्लेटफार्मों जैसे तटीय निगरानी प्रणाली, रडार और एयर प्लेटफार्मों में भी रुचि दिखाई जा रही है।

  • ऐसे प्लेटफार्मों के निर्यात की त्वरित मंजूरी के लिए, रक्षा मंत्री, विदेश मंत्री और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की एक समिति गठित की गई है।
  • यह समिति विभिन्न देशों के लिए प्रमुख स्वदेशी प्लेटफार्मों के निर्यात को अधिकृत करेगी। समिति एक सरकार से दूसरी सरकार द्वारा खरीद सहित विभिन्न उपलब्ध विकल्पों का भी पता लगाएगी।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

टाइम मैगजीन हीरोज ऑफ 2020


दिसंबर 2020 में प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन द्वारा ‘हीरोज ऑफ 2020’ (Heroes of 2020) सूची जारी की गई।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस सूची में भारतीय-अमेरिकी राहुल दुबे को शामिल किया गया है। उन्हें अमेरिका में अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के बाद नस्लीय भेदभाव को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों के लिए वाशिंगटन स्थित अपने घर के दरवाजे को खोलने के लिए इस सूची में शामिल किया गया है।

  • टाइम मैगजीन ने स्वास्थ्य क्षेत्र में काम करने वाले राहुल दुबे को ‘जरूरतमंद को आश्रय देने वाला व्यक्ति बताया’ (The Man Who Gave Shelter to Those in Need) है।
  • सूची में ऑस्ट्रेलिया में आग से जूझने वाले स्वयंसेवी ल्यूक समरस्केल्स और जेसिका जैकब्स का नाम शामिल है, जिन्होंने नवंबर 2019 में अपने देश को आग से सुरक्षित रखने के लिए अपने आप का सब कुछ दांव पर लगा दिया था।
  • सूची में शिकागो के पास्टर रेशार्ना फिट्जपैट्रिक और उनके पति बिशप डेरिकफिट्ज पैट्रिक का नाम शामिल है, जिन्होंने कोविड-19 महामारी के दौरान लोगों की मदद करने के लिए अपने चर्च का स्वरूप बदल दिया था।
  • सूची में सिंगापुर में खाद्य पदार्थ बेचने वाले जैसन चुआ और हुंग झेन लोंग का भी नाम है, जिन्होंने कोविड-19 महामारी के दौरान किसी को भी भूखा न रहने देना सुनिश्चित किया था।
  • इस सूची में समाचार-पत्र वितरक ग्रेग डेली को शामिल किया गया है, जिन्होंने कोविड-19 महामारी के दौरान लोगों के घरों में आवश्यक दैनिक वस्तुओं की आपूर्ति की।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

तिहान-आईआईटी हैदराबाद


केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने 29 दिसंबर, 2020 को भारत की स्वायत्त नेविगेशन प्रणाली (स्थलीय और हवाई) के लिए प्रथम परीक्षण स्थल ‘तिहान-आईआईटी हैदराबाद’ (TiHAN-IIT Hyderabad) की वर्चुअल माध्यम में आधारशिला रखी।

मुख्य विशेषताएं: इस इकाई में टेस्ट ट्रैक, वास्तविक-विश्व परिदृश्यों का अनुकरण (Emulation of Real-World Scenarios), आधुनिक सिमुलेशन टेक्नोलॉजी (State of the Art Simulation Technologies), सड़क सुविधा, V2X कम्युनिकेशन, ड्रोन रनवे और लैंडिंग एरिया, मैकेनिकल इंटीग्रेशन सुविधा, केन्द्रीयकृत नियंत्रण कक्ष/भूतल नियंत्रण केन्द्र, हैंगर (Hangars) आदि शामिल हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) ने राष्ट्रीय अंतर-विषयी साइबर-फिजिकल सिस्टम (National Mission on Interdisciplinary Cyber-Physical Systems: NM-ICPS) मिशन के तहत स्वायत्त नेविगेशन और डेटा अधिग्रहण प्रणाली (UAVs, RoVs आदि) पर एक प्रौद्योगिकी नवाचार केन्द्र स्थापित करने हेतु आईआईटी हैदराबाद के लिए 135 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं।

  • आईआईटी हैदराबाद में मानव रहित वायुयानों तथा दूरस्थ नियंत्रित वाहनों के लिए स्वायत्त नेविगेशन प्रणाली पर आधारित प्रौद्योगिकी नवाचार केन्द्र को 'तिहान फाउंडेशन' के रूप में जाना जाता है। इसे जून 2020 में संस्थान द्वारा खंड-8 कंपनी के रूप में मान्यता दी गई है।
  • केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 2018 में पांच साल की अवधि के लिए 3660 करोड़ रुपए के कुल परिव्यय के साथ राष्ट्रीय अंतर-विषयी साइबर-फिजिकल सिस्टम मिशन (NM-ICPS) को मंजूरी दी गई थी।

सामयिक खबरें विज्ञान-पर्यावरण

रूथेनियम 106 पट्टिका


भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र (BARC) ने ‘नेत्र संबंधी ट्यूमर’ (Ocular Tumours) के इलाज के लिए पहली देशज ‘'रूथेनियम 106 पट्टिका’ (Ruthenium 106 Plaque) के रूप में आंखों के कैंसर के उपचार की पद्धति विकसित की है।

महत्वपूर्ण तथ्य: शल्य चिकित्सकों के लिए इस पट्टिका को संभालना आसान और सुविधाजनक है। खास बात यह है कि इस पट्टिका को अन्तरराष्ट्रीय मानकों के समकक्ष माना गया है।

  • अब तक परमाणु ऊर्जा विभाग द्वारा भारत में ही विकसित किए गए BARC की इस पट्टिका का आँखों के कैंसर से पीड़ित सात मरीजों पर इस्तेमाल किया गया है।
  • नेत्र संबंधी ट्यूमर आंख के अंदर का ट्यूमर हैं। ये कोशिकाओं का संग्रह होते हैं, जो असामान्य रूप से बढ़ते हैं और इकट्टा हो जाते हैं।
  • रूथेनियम पट्टिका चिकित्सा में कैंसर थेरेपी के लिए नेत्र-गोलक की सतह के संपर्क में रूथेनियम -106 (एक रेडियो आइसोटोप) जैसे रेडियोधर्मी स्रोत को नियत किया जाता है।

रूथेनियम 106: 'रूथेनियम 106’ दुर्लभ भारी धातु ‘रूथेनियम का एक रेडियोधर्मी रूप है, जो प्लैटिनम के समान 'प्लैटिनम समूह' की धातु है।

  • रूथेनियम 106 परमाणु विखंडन रिएक्टरों में प्रयुक्त यूरेनियम के प्रकार यूरेनियम -235 के विखंडन या विभाजन से उत्पन्न होता है, इसलिए यह खर्च किए गए परमाणु ईंधन में पाया जाता है।
  • यह कैंसर विकिरण चिकित्सा में प्रयोग किया जाता है, विशेष रूप से आंख और त्वचा के ट्यूमर के लिए।

सामयिक खबरें सार-संक्षेप विविध

विश्व-भारती विश्वविद्यालय का शताब्दी समारोह


  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 दिसंबर, 2020 को विश्व-भारती विश्वविद्यालय, शांतिनिकेतन के शताब्दी समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया।
  • गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा 1921 में स्थापित विश्व-भारती देश का सबसे पुराना केंद्रीय विश्वविद्यालय है।
  • मई 1951 में संसद के एक अधिनियम द्वारा विश्व-भारती को एक केंद्रीय विश्वविद्यालय और 'राष्ट्रीय महत्व का संस्थान' घोषित किया गया था। प्रधानमंत्री इस विश्वविद्यालय के कुलाधिपति हैं।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

राज कुमार शर्मा दिल्ली क्रिकेट टीम के मुख्य कोच नियुक्त


  • विराट कोहली के कोच राज कुमार शर्मा को आगामी सीजन (2020-21) के लिए दिल्ली क्रिकेट टीम का नया मुख्य कोच नियुक्त किया गया है।
  • पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेट खिलाड़ी शर्मा 2016 में द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किए गए थे। वे पिछले सत्र में दिल्ली के गेंदबाजी कोच भी थे। वे आईसीसी की एसोसिएट टीम माल्टा की राष्ट्रीय टीम के कोच भी रह चुके हैं।

सामयिक खबरें खेल चर्चित खेल व्यक्तित्व

मोहम्मद वसीम पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता नियुक्त


19 दिसंबर, 2020 को पाकिस्तान के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर मोहम्मद वसीम को 2023 विश्व कप तक पाकिस्तान का मुख्य चयनकर्ता नियुक्त किया गया।

  • वे मिस्बाह-उल-हक की जगह लेंगे, जिन्होंने अक्टूबर में राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच के रूप में अपनी भूमिका पर ध्यान केंद्रित करने के लिए मुख्य चयनकर्ता के पद से इस्तीफा दे दिया था।
  • वसीम 1996 और 2000 के बीच पाकिस्तान के लिए 18 टेस्ट मैच और 25 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं।

सामयिक खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

आत्मनिर्भर महिला गोल्ड योजना


बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) ने अपने बड़ौदा गोल्ड लोन के एक हिस्से के रूप में 'आत्मनिर्भर महिला गोल्ड योजना' (AtmaNirbhar Women Gold Scheme) शुरू की है। इस योजना के तहत, बैंक महिलाओं के लिए 0.50 प्रतिशत रियायत पर ऋण दे रहा है।

  • गोल्ड लोन योजना के तहत बैंक 0.25 प्रतिशत रियायत पर एग्री-गोल्ड लोन और 0.50 प्रतिशत रियायत पर खुदरा ऋण की भी पेशकश कर रहा है।
  • यह योजना बेंगलुरु में बैंक ऑफ बड़ौदा की राममूर्ति नगर शाखा में और साथ ही साथ देश में 18 अंचल (Zone) में आने वाली 18 शाखाओं में शुरू की गई।

सामयिक खबरें इन्हें भी जानें

हाइपोथर्मिया


  • हाइपोथर्मिया एक गंभीर चिकित्सा अवस्था है, जहां शरीर गर्मी पैदा करने से पहले इसे खो देता है, जिसके परिणामस्वरूप शरीर का तापमान खतरनाक रूप से कम हो जाता है।
  • सामान्य शरीर का तापमान लगभग 37 डिग्री सेल्सियस होता है, लेकिन हाइपोथर्मिया से पीड़ित व्यक्ति के शरीर का तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला जाता है।
  • सामान्य लक्षणों में कंपकंपी, सांस लेने की धीमी दर, स्पष्ट न बोल पाना, ठंडी त्वचा और थकान शामिल हैं।
  • अत्यधिक शराब का सेवन करने वालों में ठंड महसूस करने की क्षमता प्रभावित हो सकती है, उन्हें लगता है कि शरीर अंदर से गर्म है, लेकिन वास्तव में शराब पीने से रक्त वाहिकाएं फैल जाती हैं जिससे शरीर तेजी से गर्मी खो देता है।

सामयिक खबरें संस्थान-संगठन

केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग


  • 11 दिसंबर, 2020 को सरकार ने नियामक निकाय केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग (CERC) के सदस्य कानून (member law) के रूप में प्रकाश कुमार सिंह की नियुक्ति को मंजूरी दे दी है।
  • CERC, विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 76 के तहत एक सांविधिक निकाय है। CERC को वर्ष 1998 में विद्युत नियामक आयोग अधिनियम, 1998 के तहत गठित किया गया था।
  • केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग का उद्देश्य थोक बिजली बाजारों में प्रतिस्पर्धा, दक्षता और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना है।
  • CERC के प्रमुख कार्य आपूर्ति गुणवत्ता में सुधार करना, निवेश को बढ़ावा देना और मांग आपूर्ति की खाई को पाटने के लिए संस्थागत बाधाओं को हटाने हेतु सरकार को सलाह देना और इस प्रकार उपभोक्ताओं के हितों को बढ़ावा देना तथा केंद्रीय सरकार के स्वामित्व वाली अथवा उसके द्वारा नियंत्रित उत्पादन कंपनियों के टैरिफ का विनियमन करना है।