समसामयिकी - January 2022

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2022


24 नवरी, 2022 को 29 बच्चों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2022 से सम्मानित किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: ये बच्चे देश के सभी क्षेत्रों से नवाचार (7), सामाजिक सेवा (4), शैक्षिक (1), खेल (8), कला और संस्कृति (6) और वीरता (3) श्रेणियों में अपनी असाधारण उपलब्धियों के लिए चुने गए।

  • 21 राज्यों और केंद्र शा सित प्रदेशों के इन पुरस्कार विजेताओं में 15 लड़के और 14 लड़कियां थी। 2022 के पुरस्कार विजेताओं को 1,00,000/- रुपए का नकद पुरस्कार दिया गया।
  • यह पुरस्कार हर साल महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा विभिन्न क्षेत्रों- नवाचार, शैक्षिक उपलब्धियों, समाज सेवा, कला और संस्कृति, खेल और वीरता मेंबच्चों की असाधारण उपलब्धियों के लिए दिया जाता है।

ब्लॉक चेन तकनीक: समारोह के दौरान, प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय ब्लॉकचेन परियोजना के तहत आईआईटी कानपुर द्वारा विकसित एक ब्लॉकचेन-संचालित तकनीक का उपयोग करके प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2021 और 2022 के 61 विजेताओं को डिजिटल प्रमाण पत्र दिए।

  • डिजिटल प्रमाणपत्र प्राप्तकर्ताओं के मोबाइल पर इंस्टॉल डिजिटल वॉलेट में स्टोर किए जाते हैं।
  • पुरस्कार विजेताओं को प्रमाण पत्र देने के लिए पहली बार ब्लॉक चेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

त्रिंकोमाली तेल टैंक फार्म परियोजना


इंडियन ऑयल की सहायक लंका आईओसी, सीलोन पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (सीपीसी) और श्रीलंका सरकार ने जनवरी 2022 में 'त्रिंकोमाली ऑयल तेल टैंक फार्म सौदा परियोजना' पर हस्ताक्षर किए।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसके लिए भारत के साथ रणनीतिक त्रिंकोमाली तेल टैंक फार्म के विकास पर तीन पट्टा समझौतों (lease agreements) पर हस्ताक्षर किए गए।

  • त्रिंकोमाली तेल टैंक फार्म त्रिंकोमाली के गहरे पानी में स्थित प्राकृतिक बंदरगाह के करीब 'चाइना बे' में स्थित है। इसमें 99 भंडारण टैंक शामिल हैं।
  • इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन की अनुषंगी लंका आईओसी के पास 14 तेल भंडारण टैंक है, जबकि सीपीसी के पास 24 टैंक होंगे।
  • परियोजना के लिए सीपीसी द्वारा स्थापित, ट्रिंको पेट्रोलियम टर्मिनल प्रा. लिमिटेड शेष 61 टैंक विकसित करेगा।
  • ट्रिंको पेट्रोलियम टर्मिनल एक संयुक्त उद्यम है, जिसमें 51% हिस्सेदारी सीपीसी और 49% हिस्सेदारी लंका आईओसी की होगी।
  • त्रिंकोमाली तेल टैंक फार्म के संयुक्त विकास के प्रस्ताव की परिकल्पना 1987 में भारत-श्रीलंका समझौते में की गई थी।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 जनवरी, 2022 को आभासी प्रारूप में पहले भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन की मेजबानी की।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसमें कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपतियों ने भाग लिया।

  • भारत और मध्य एशियाई देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 30वीं वर्षगांठ पर यह पहला भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया।
  • नेताओं ने इसे हर 2 साल में आयोजित करने का निर्णय लेकर शिखर सम्मेलन तंत्र को संस्थागत बनाने पर सहमति व्यक्त की। इसके लिए नई दिल्ली में एक भारत-मध्य एशिया सचिवालय स्थापित किया जाएगा।
  • भारत और मध्य एशियाई देशों के बीच (उनकी भू- आबद्ध प्रकृति और भारत के साथ भूमिगत कनेक्टिविटी की कमी के संदर्भ में) व्यापार और वाणिज्य को बढ़ाने के लिए आपसी संपर्क के और विकास की आवश्यकता पर जोर दिया गया।
  • मध्य एशियाई क्षेत्र के साथ भारतीय व्यापार को वर्तमान में लगभग 2 बिलियन डॉलर के निम्न स्तर से आगे बढ़ाने की संभावनाओं पर चर्चा की गई।

सामयिक खबरें आर्थिकी

चालू वित्त वर्ष में जीडीपी वृद्धि 9.2% रहने का अनुमान


राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जनवरी 2022 में जारी आंकड़ों के अनुसार भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में पिछले वित्त वर्ष (2020-21) के 7.3% संकुचन के बाद चालू वित्त वर्ष (2021-22) में 9.2% की वृद्धि का अनुमान है।

महत्वपूर्ण तथ्य: हालांकि एनएसओ ने स्पष्ट किया कि है ये 'शुरुआती अनुमान' थे, जिसमें विभिन्न संकेतकों के वास्तविक प्रदर्शन के साथ-साथ महामारी के प्रसार को रोकने के लिए के लिए उठाए गए कदमों का इन अनुमानों के बाद के संशोधनों पर असर पड़ेगा।

  • वर्ष 2021-22 में स्थिर कीमतों (2011-12) पर वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद या सकल घरेलू उत्पाद का अनुमान 147.54 लाख करोड़ रुपए है, जबकि वर्ष 2020-21 के लिए सकल घरेलू उत्पाद का अनंतिम अनुमान 135.13 लाख करोड़ रुपए है।
  • मूल कीमतों पर वास्तविक जीवीए (सकल मूल्य वर्द्धन) 2021-22 में135.22 लाख करोड़ रुपए होने का अनुमान जताया गया है, जो 2020-21 में 124.53 लाख करोड़ रुपए के मुकाबले, 8.6% की वृद्धि दर्शाता है।
  • एनएसओ के जीवीए अनुमान से पता चलता है कि खनन क्षेत्र पिछले साल (2020-21) के 8.5% संकुचन के बाद 14.3% की वृद्धि के साथ दूसरों से आगे निकल गया, इसके बाद विनिर्माण क्षेत्र में 12.5% की वृद्धि देखी गई, जिसमें 2020-21 में 7.2% का संकुचन हो गया था।

अन्य तथ्य: जनवरी 2022 में लंदन स्थित आईएचएस मार्किट (IHS Markit) द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार 2030 तक भारत जापान को पीछे छोड़कर एशिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। भारत, वर्तमान में अमेरिका, चीन, जापान, जर्मनी और यूनाइटेड किंगडम के बाद छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

डिजिटल भुगतान सूचकांक


भारतीय रिजर्व बैंक ने 19 जनवरी, 2022 को 'सितंबर 2021 के लिए डिजिटल भुगतान सूचकांक' की घोषणा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: सूचकांक भारत में डिजिटल मोड के माध्यम से भुगतान की प्रवृत्ति को दर्शाता है, सितंबर 2021 में यह 39.64% बढ़कर 304.06 हो गया, जो सितंबर 2020 में 217.74 था।

  • डिजिटल भुगतान सूचकांक का आधार वर्ष 2018 है। इसका मतलब है कि मार्च 2018 अवधि के लिए इंडेक्स का स्कोर 100 पर सेट किया गया है। सितंबर 2019 में डिजिटल भुगतान सूचकांक 173.49 था।
  • आरबीआई-डिजिटल भुगतान सूचकांक में पांच व्यापक मानदंड शामिल हैं जो देश में अलग-अलग समय अवधि में डिजिटल भुगतान की गहराई और पैठ को मापने में सक्षम बनाते हैं- भुगतान सक्षमकर्ता (25%), भुगतान अवसंरचना- मांग पक्ष कारक (10%), भुगतान अवसंरचना-आपूर्ति पक्ष कारक (15%), भुगतान प्रदर्शन (45%) और उपभोक्ता केंद्रितता (5%)
  • सूचकांक मार्च 2021 से अर्ध-वार्षिक आधार पर (मार्च और सितंबर में) प्रकाशित किया जाता है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

भारत का पहला जिला सुशासन सूचकांक


केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने 22 जनवरी, 2022 को वर्चुअल माध्यम में केंद्र-शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर के 20 जिलों के लिए 'भारत का पहला जिला सुशासन सूचकांक' जारी किया।

(Image Source: https://twitter.com/dcjammuofficial)

महत्वपूर्ण तथ्य: यह भारत के सभी राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों के लिए जिला स्तर पर शासन के समान मानदंड के लिए एक रोडमैप प्रदान करता है।

  • जम्मू और कश्मीर का जिला सुशासन सूचकांक प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग (DARPG), भारत सरकार द्वारा केंद्र-शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर सरकार के सहयोग से तैयार किया गया है।

सूचकांक के बारे में: इस सूचकांक में 116 डेटा बिंदुओं के साथ 58 संकेतक वाले दस शासन क्षेत्रों के तहत प्रदर्शन शामिल हैं।

  • ये दस शासन क्षेत्र हैं- कृषि और संबद्ध क्षेत्र, वाणिज्य और उद्योग, मानव संसाधन विकास, सार्वजनिक स्वास्थ्य, सार्वजनिक अवसंरचना और उपयोगिताएँ, समाज कल्याण और विकास, वित्तीय समावेशन, न्यायपालिका और सार्वजनिक सुरक्षा, पर्यावरण और नागरिक केंद्रित शासन।
  • सूचकांक में जम्मू जिला शीर्ष स्थान पर रहा है। इसके बाद डोडा दूसरे, सांबा तीसरे, पुलवामा चौथे और श्रीनगर पांचवें स्थान पर हैं।
  • 'राजौरी जिला' जम्मू और कश्मीर के जिला सुशासन सूचकांक में अंतिम 20वें स्थान पर है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ाया पिता की संपत्ति में पुत्रियों केअधिकार का दायरा


20 जनवरी, 2022 को सुप्रीम कोर्ट ने पिता की अपनी कमाई संपत्तियों में पुत्रियों के अधिकार पर एक अहम फैसला सुनाया।

महत्वपूर्ण तथ्य: यदि किसी हिंदू पुरुष की बिना वसीयत लिखे मौत हो जाए तो उनकी पुत्रियां भी पुत्रों के समान पिता की स्व-अर्जित और अन्य संपत्ति पाने की हकदार होंगी और उन्हें परिवार के अन्य सदस्यों की अपेक्षा वरीयता होगी।

  • शीर्ष अदालत का फैसला हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम के तहत हिंदू महिलाओं और विधवाओं के संपत्ति अधिकारों से संबंधित मद्रास उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ अपील पर आया है।
  • सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम 1956 से पहले के संपत्ति के वितरण पर भी लागू होगा।
  • यह फैसला दो न्यायाधीशों - न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी की पीठ ने सुनाया।
  • संपत्ति में ऐसे पुरुष हिंदू की पुत्री को अपने मृतक पिता के भाइयों के पुत्रों / पुत्रियों की तुलना में वरीयता दी जाएगी।
  • यदि एक हिंदू महिला की बिना वसीयत लिखे मृत्यु हो जाती है, तो उसके माता-पिता से विरासत में मिली संपत्ति उसके पिता के उत्तराधिकारियों के पास जाएगी, जबकि उसके पति या ससुर से विरासत में मिली संपत्ति पति के उत्तराधिकारियों के पास जाएगी।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

कथक नृतक पंडित बिरजू महाराज का निधन


देश के प्रसिद्ध कथक नृतक पंडित बिरजू महाराज का 17 जनवरी, 2022 को दिल्ली में निधन हो गया। वे 83 वर्ष के थे।

(Image Source: https://www.firstpost.com/)

  • बिरजू महाराज का जन्म कथक नृत्य के लिए प्रसिद्ध एक परिवार में हुआ था। उनका पूरा नाम बृजमोहन नाथ मिश्र था।
  • लखनऊ के कालका-बिंदादीन घराने से ताल्लुक रखने वाले महाराज अपनी संपूर्ण लय और अभिव्यंजक हावभाव भाषा के लिए जाने जाते थे।
  • उन्हें एक शानदार कोरियोग्राफर के रूप में भी जाना जाता था, और उन्होंने नृत्य-नाटकों को लोकप्रिय बनाने में मदद की। उन्होंने हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत का भी अभ्यास किया और वे एक गायक थे।
  • बिरजू महाराज ने बॉलीवुड में कई गानों को कोरियोग्राफ किया है, जिनमें देवदास (2002) में 'काहे छेड़े मोहे' और बाजीराव मस्तानी (2015) में 'मोहे रंग दो लाल' शामिल हैं।
  • पंडित बिरजू महाराज को वर्ष 1986 में प्रतिष्ठित पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। 2012 में, उन्होंने फिल्म 'विश्वरूपम' के लिए सर्वश्रेष्ठ कोरियोग्राफी का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता।

अन्य पुरस्कार व सम्मान: संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, सोवियत लैंड नेहरू पुरस्कार, संगम कला पुरस्कार और लता मंगेशकर पुरस्कार।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

दिमितार कोवासेवस्की को उत्तर मैसेडोनिया के प्रधानमंत्री


उत्तर मैसेडोनिया में सांसदों ने 16 जनवरी, 2022 को दिमितार कोवासेवस्की को प्रधानमंत्री के रूप में चुना है।

(Image Source: https://www.newdelhitimes.com/)

  • कोवासेवस्की ने जोरान जेव की जगह ली, जिन्होंने 31 अक्टूबर को इस्तीफा दे दिया।
  • उत्तर मैसेडोनिया दक्षिण पूर्व यूरोप का एक देश है। इसने 1991 में यूगोस्लाविया के उत्तराधिकारी राज्यों में से एक के रूप में स्वतंत्रता प्राप्त की।
  • उत्तर मैसेडोनिया एक भू-आबद्ध देश है, जिसकी सीमा उत्तर पश्चिम में कोसोवो, उत्तर में सर्बिया, पूर्व में बुल्गारिया, दक्षिण में ग्रीस और पश्चिम में अल्बानिया से लगती है। स्कोप्जे देश की राजधानी और सबसे बड़ा शहर है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

गणतंत्र दिवस पर वीरता पुरस्कार


राष्ट्रपति ने 73वें गणतंत्र दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर सशस्त्र बलों के कर्मियों और अन्य को 384 वीरता और अन्य रक्षा अलंकरण पुरस्कारों की स्वीकृति दी है।

(Image Source: https://www.dnaindia.com/)

  • राजपूताना राइफल्स की चौथी बटालियन के टोक्यो 2020 के स्वर्ण पदक विजेता सूबेदार नीरज चोपड़ा को परम विशिष्ट सेवा पदक (पीवीएसएम) से सम्मानित किया जाएगा, जो आमतौर पर विशिष्ट सेवा के लिए थ्री-स्टार अधिकारियों को दिया जाता है।
  • छ: सैन्य कर्मियों, जिनमें से पांच को, मरणोपरांत शौर्य चक्र के लिए चुना गया है, जो तीसरा सर्वोच्च शांतिकालीन वीरता पुरस्कार है।
  • मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित पांच कर्मियों में 17 मद्रास रेजीमेंट के नायब सूबेदार एम. श्रीजीत और सिपाही मारुप्रोलू जसवंत कुमार रेड्डी; राजपूत रेजीमेंट के हवलदार अनिल कुमार तोमर; कोर ऑफ इंजीनियर्स के हवलदार काशीराय बम्मनल्ली; जाट रेजीमेंट के हवलदार पिंकू कुमार हैं।
  • छठे शौर्य चक्र से सम्मानित 5 असम राइफल्स के राइफलमैन राकेश शर्मा हैं।
  • सभी छ: कर्मियों को आतंकवाद विरोधी अभियानों में उनकी भूमिका के लिए शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है, जिनमें से सभी शहीद हुए पांच कर्मियों को जम्मू और कश्मीर में और नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर ऑपरेशन के लिए मरणोपरांत सम्मानित किया गया।
  • इसके अलावा, राष्ट्रपति ने तटरक्षक कर्मियों को एक राष्ट्रपति तटरक्षक पदक (विशिष्ट सेवा), तीन तटरक्षक पदक (वीरता) और एक तटरक्षक पदक (मेधावी सेवा) से सम्मानित किया है।
  • 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड के दौरान जम्मू और कश्मीर पुलिस के सहायक उप-निरीक्षक, बाबू राम को श्रीनगर में आतंकवाद विरोधी अभियान के दौरान "वीरता और अनुकरणीय साहस के प्रदर्शन" के लिए मरणोपरांत देश के सर्वोच्च शांतिकालीन वीरता पुरस्कार ‘अशोक चक्र’ से सम्मानित किया गया।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

अंतरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस (24 जनवरी)


2022 का विषय: 'चेंजिंग कोर्स, ट्रांसफर्मिंग एजुकेशन' (Changing Course, Transforming Education)।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: वर्ष 2018 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने शांति और विकास के लिए शिक्षा की भूमिका के उपलक्ष्य में 24 जनवरी को अंतरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में घोषित करने के लिए सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव अपनाया था।
  • सतत विकास लक्ष्य- 4, का उद्देश्य विशेष रूप से, 2030 तक "समावेशी और समान गुणवत्ता वाली शिक्षा सुनिश्चित करना और सभी के लिए आजीवन सीखने के अवसरों को बढ़ावा देना" है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

आईसीई360 सर्वेक्षण 2021


जनवरी 2022 में मुंबई स्थित थिंक टैंक ‘पीपुल्स रिसर्च ऑन इंडियाज कंज्यूमर इकोनॉमी’ (PRICE) द्वारा संचालित ‘आईसीई360 सर्वेक्षण 2021’ (ICE360 Survey 2021) के परिणाम जारी किए गए।

महत्वपूर्ण तथ्य: PRICE के निष्कर्षों में 2016 के आंकड़ों की तुलना में वार्षिक घरेलू आय में व्यापक असमानता का दावा किया गया है। इसमें 2021 में सबसे गरीब 20% आबादी की आय में 52.6% की गिरावट दर्ज की गई है।

  • 20% निम्न मध्यम वर्ग ने भी आय में 32.4% की गिरावट का सामना किया है। जबकि सबसे अमीर 20% की आय में लगभग 39% की वृद्धि दर्ज की गई है।
  • अप्रैल और अक्टूबर 2021 के बीच किए गए सर्वेक्षण के पहले दौर में 200,000 परिवारों और दूसरे दौर में 42,000 परिवारों को कवर किया गया। यह सर्वेक्षण 100 जिलों के 120 कस्बों और 800 गांवों में किया गया।
  • महामारी ने शहरी गरीबों को सबसे अधिक प्रभावित किया और उनकी घरेलू आय को काफी कम कर दिया है।
  • शहरी क्षेत्रों में सबसे गरीब लोगों (20%) की हिस्सेदारी 2016 में लगभग 10% से बढ़कर 2021 में 30% हो गई है, जबकि इसी अवधि में ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीबों की संख्या 90% से घटकर 70% हो गई है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

ऑक्सफैम रिपोर्ट 'इनइक्वेलिटी किल्स'


ऑक्सफैम इंडिया ने 16 जनवरी, 2022 को 'इनइक्वेलिटी किल्स' (Inequality Kills) रिपोर्ट जारी की।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह रिपोर्ट 'इनइक्वेलिटी किल्स: इंडिया सप्लीमेंट 2022' (Inequality Kills: India Supplement 2022) शीर्षक से जारी की गई।

  • भारत में 84% परिवारों की आय में 2021 में गिरावट आई है। साथ ही भारतीय अरबपतियों की संख्या 102 से बढ़कर 142 हो गई है।
  • 2021 में, भारत के 100 सबसे अमीर लोगों की सामूहिक संपत्ति 775 अरब डॉलर के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई। उसी वर्ष, राष्ट्रीय संपत्ति में निम्न स्तर की 50 फीसदी आबादी का हिस्सा मात्र 6% रहा।
  • महामारी के दौरान (मार्च 2020 से 30 नवंबर, 2021 तक) भारतीय अरबपतियों की संपत्ति 313 अरब डॉलर से बढ़कर 719 अरब डॉलर हो गई है।
  • इस बीच, 4.6 करोड़ से अधिक भारतीयों के 2020 में अत्यधिक गरीबी के दलदल में फँसने का अनुमान है।
  • रिपोर्ट के अनुसार भारत में 98 सबसे अमीर परिवारों पर 4% संपत्ति कर 2 से अधिक वर्ष के लिए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की फंडिंग कर सकता है, 17 वर्ष तक देश के मध्याह्न-भोजन कार्यक्रम के लिए फंडिंग कर सकता है।
  • 98 सबसे अमीर अरबपति परिवारों पर 1% संपत्ति कर सात वर्ष से अधिक समय के लिए आयुष्मान भारत योजना या एक वर्ष के लिए भारत सरकार के स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग को वित्तपोषित कर सकता है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

सिविल सेवकों की प्रतिनियुक्ति पर केंद्र के प्रस्तावित संशोधन


कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (DOPT) ने 12 जनवरी, 2022 को सभी राज्यों को एक पत्र भेजकर भारतीय प्रशासनिक सेवा (कैडर) नियम 1954 के नियम 6 (कैडर अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति) में संशोधन के प्रस्ताव पर उनकी राय मांगी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: प्रस्तावित संशोधन से केंद्र सरकार को ‘केंद्रीय प्रतिनियुक्ति’ संबंधी मामलों में अधिक अधिकार प्राप्त होंगे।

  • यह संशोधन केंद्र सरकार को राज्य सरकार की अनुमति लिए बिना केंद्र सरकार और मंत्रालयों में IAS/IPS और IFoS अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति करने की शक्ति प्रदान करते हैं।
  • केंद्र सरकार में प्रतिनियुक्त किए जाने वाले अधिकारियों की वास्तविक संख्या संबंधित राज्य सरकार के परामर्श से केंद्र सरकार द्वारा तय की जाएगी।
  • केंद्र और राज्य के बीच किसी भी असहमति की स्थिति में मामले का निर्णय केंद्र सरकार द्वारा किया जाएगा और संबंधित राज्य केंद्र के निर्णय को 'एक निर्दिष्ट समय के भीतर" लागू करेगा।
  • यदि राज्य सरकार केंद्र सरकार के निर्णय को लागू करने में देरी करती है, तो केंद्र सरकार द्वारा उस अधिकारी को निर्दिष्ट तिथि से कैडर से मुक्त कर दिया जाएगा।
  • यदि केंद्र सरकार को 'जनहित' में कैडर अधिकारियों की सेवाओं की आवश्यकता होती है, तो राज्य अपने निर्णयों को एक निर्दिष्ट समय के भीतर प्रभावी करेगा।
  • कुछ राज्यों ने प्रस्तावित संशोधनों को सहकारी संघवाद की भावना के विपरीत बताते हुए अपना विरोध जाहिर किया है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 जनवरी, 2022 को इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया, जहां स्वतंत्रता सेनानी की एक भव्य प्रतिमा जल्द ही लगाई जाएगी।

(Image Source: https://twitter.com/narendramodi/)

महत्वपूर्ण तथ्य: नेताजी की 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य में होलोग्राम को छत्र (Canopy) के नीचे स्थापित किया गया है, जहां 1968 तक किंग जॉर्ज पंचम की एक प्रतिमा थी।

  • होलोग्राम का सटीक प्रभाव उत्पन्न करने के लिए उस पर नेताजी की त्रि-आयामी (3-D) तस्वीर लगाई गई है।
  • होलोग्राम प्रतिमा 28 फीट ऊंची और 6 फीट चौड़ी है, जो वास्तविक ग्रेनाइट प्रतिमा के समान है, और यह सूर्यास्त से सूर्योदय तक हर रोज तब तक चमकता रहेगा, जब तक वास्तविक मूर्ति नहीं तैयार हो जाती।
  • काले ग्रेनाइट की वास्तविक मूर्ति, राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, दिल्ली के महानिदेशक अद्वैत गडनायक की अध्यक्षता में एक टीम द्वारा बनाई जाएगी।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

2021 छठा सबसे गर्म वर्ष


13 जनवरी, 2022 को यूनाइटेड स्टेट्स नेशनल ओशनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन (एनओएए) के वैज्ञानिकों के अनुसार, 1880 में तापमान रिकॉर्ड प्रक्रिया शुरू होने के बाद से वर्ष 2021 में वैश्विक सतह का तापमान छठा सबसे अधिक रहा।

महत्वपूर्ण तथ्य: नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) द्वारा 13 जनवरी को ही जारी वैश्विक तापमान डेटा के एक अलग विश्लेषण के अनुसार वर्ष 2021 वर्ष 2018 के बराबर छठा सबसे गर्म वर्ष रहा।

  • वर्ष 1880 में तापमान दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू होने के बाद से पिछले आठ वर्ष सबसे गर्म वर्ष रहे।
  • 2021 में पृथ्वी का तापमान औद्योगिक क्रांति की शुरुआत की तुलना में लगभग 1.1 डिग्री सेल्सियस अधिक गर्म था।
  • उत्तरी गोलार्ध की भूमि की सतह का तापमान रिकॉर्ड तीसरा सबसे अधिक था - 2016 (दूसरा) और 2020 (पहला) सर्वाधिक गर्म वर्ष था।
  • 2021 के दक्षिणी गोलार्ध की सतह का तापमान रिकॉर्ड में नौवां उच्चतम था। अटलांटिक और प्रशांत महासागरों के कुछ हिस्सों में समुद्री सतह का उच्च तापमान दर्ज किया गया।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

पियरे-ओलिवियर गौरींचस आईएमएफ के अगले मुख्य अर्थशास्त्री


11 जनवरी, 2022 को फ्रांस में जन्मे यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया-बर्कले के अर्थशास्त्री पियरे-ओलिवियर गौरींचस (Pierre-Olivier Gourinchas) को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) का अगला मुख्य अर्थशास्त्री नियुक्त किया गया है।

(Image Source: https://www.nber.org/)

  • उन्होंने गीता गोपीनाथ का स्थान लिया है, जिन्होंने जनवरी 2022 में आईएमएफ के फर्स्ट डेप्यूटी मैनेजिंग डायरेक्टर का पद संभाल लिया है।
  • गौरींचस, ने 24 जनवरी को अंशकालिक रूप से अपना पद शुरू किया है और 1 अप्रैल से फंड के लिए पूर्णकालिक रूप से काम करेंगे। आर्थिक परामर्शदाता के रूप में, वे आईएमएफ के अनुसंधान विभाग के निदेशक के रूप में कार्य करेंगे।
  • गौरींचस राष्ट्रीय आर्थिक अनुसंधान ब्यूरो (NBER) में अंतरराष्ट्रीय वित्त और समष्टि अर्थशास्त्र (International Finance and Macroeconomics) के कार्यक्रम निदेशक भी हैं।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

79वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स


10 जनवरी, 2022 को 79वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स की घोषणा की गई है। ये पुरस्कार 'हॉलीवुड फॉरेन प्रेस एसोसिएशन' द्वारा प्रदान किए जाते हैं।

  • सर्वश्रेष्ठ मोशन पिक्चर (ड्रामा): द पावर ऑफ द डॉग
  • सर्वश्रेष्ठ टेलीविजन सीरीज (ड्रामा): सक्सेसन
  • सर्वश्रेष्ठ टेलीविजन सीरीज (म्यूजिकल या कॉमेडी): हैक्स
  • सर्वश्रेष्ठ फिल्म (म्यूजिकल या कॉमेडी): वेस्ट साइड स्टोरी
  • सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (मोशन पिक्चर): जेन कैंपियन (द पावर ऑफ द डॉग)
  • मोशन पिक्चर (ड्रामा) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री: निकोल किडमैन (बीइंग द रिकार्डो)
  • मोशन पिक्चर (म्यूजिकल या कॉमेडी) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री: राशेल जेग्लर (वेस्ट साइड स्टोरी)
  • टेलीविजन सीरीज (ड्रामा) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री: माइकेला जे रोड्रिगेज (पोज)
  • टेलीविजन सीरीज में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री (म्यूजिकल या कॉमेडी): जीन स्मार्ट (हैक्स)
  • मोशन पिक्चर (नाटक) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता: विल स्मिथ (किंग रिचर्ड)
  • मोशन पिक्चर (म्यूजिकल या कॉमेडी) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता: एंड्रयू गारफील्ड (टिक, टिक ... बूम)
  • टेलीविजन सीरीज (ड्रामा) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता: जेरेमी स्ट्रॉन्ग (सक्सेसन)
  • सर्वश्रेष्ठ टेलीविजन अभिनेता (म्यूजिकल या कॉमेडी): जेसन सुदेकिस (टेड लासो)
  • सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री (टेलीविजन): सारा स्नूक (सक्सेसन)
  • सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता (टेलीविजन): ओ येओंग-सु (स्क्विड गेम)
  • मोशन पिक्चर में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री: एरियाना देबोस (वेस्ट साइड स्टोरी)
  • मोशन पिक्चर में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता: कोडी स्मिट-मैकफी (द पावर ऑफ द डॉग)
  • सर्वश्रेष्ठ पटकथा (मोशन पिक्चर): केनेथ ब्रानघ (बेलफास्ट)
  • सर्वश्रेष्ठ फिल्म (गैर-अंग्रेजी भाषा): ड्राइव माई कार (जापानी फिल्म)
  • सर्वश्रेष्ठ मोशन पिक्चर (एनिमेटेड): एनकांटो (Encanto)

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

अंतरराष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस 2022 (26 जनवरी)


2022 का विषय: 'डेटा संस्कृति को अपनाकर और डेटा इकोसिस्टम का निर्माण करके सीमा शुल्क डिजिटल परिवर्तन को बढ़ावा' (Scaling up Customs Digital Transformation by Embracing a Data Culture and Building a Data Ecosystem)।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: अंतरराष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस (ICD) 26 जनवरी को विश्व सीमा शुल्क संगठन (WCO) के उद्घाटन सत्र की वर्षगांठ के अवसर मनाया जाता है, जो इस दिन 1953 में आयोजित किया गया था। इस दिवस का उद्देश्य सीमा शुल्क अधिकारियों के महत्व और उनकी सीमाओं के पार वस्तुओं की सुचारू आवाजाही में भूमिका के बारे में जागरूकता बढ़ाना भी है।
  • विश्व सीमा शुल्क संगठन का गठन 1952 में ‘सीमा शुल्क सहयोग परिषद’ के रूप में किया गया था।

राज्य समाचार ओडिशा

ओडिशा के सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में प्ले ग्रुप कक्षा का प्रस्ताव


जनवरी 2022 में ओडिशा सरकार ने सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में 'प्ले ग्रुप कक्षाएं' (play classes) शुरू करने का प्रस्ताव किया है ताकि बच्चों को पहली से तीसरी कक्षा में बुनियादी साक्षरता और अंकगणित के लिए एक मजबूत तैयारी विकसित करने में मदद मिल सके।

  • ओडिशा स्कूल और जन शिक्षा विभाग की आगामी शैक्षणिक वर्ष 2022-23 से राज्य में आंगनवाड़ी केंद्रों के पास 5000 प्राथमिक विद्यालयों में प्ले कक्षा शुरू करने की योजना है।
  • प्रारंभ में, इन प्ले स्कूलों को शहरी या अर्ध-शहरी क्षेत्रों में शुरू करने का प्रस्ताव है।
  • प्ले ग्रुप (5 वर्ष तक की आयु) के बच्चे प्रातः 9 बजे से 10 बजे तक पूरक पोषाहार कार्यक्रम के लिए आंगनबाडी में भाग लेंगे, तत्पश्चात विद्यालय के मार्गदर्शन में प्रातः 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक शैक्षणिक गतिविधियों में भाग लेंगे और इसके बाद आंगनवाड़ी केंद्रों में मध्याह्न भोजन करेंगे।
  • प्रत्येक स्कूल में कम से कम दो शिक्षकों (अधिमानतः महिला) को प्ले कक्षाओं के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

भारत बना दुनिया में ककड़ी और खीरे का सबसे बड़ा निर्यातक


भारत दुनिया में खीरे का सबसे बड़ा निर्यातक बनकर उभरा है। 2020-21 में, भारत ने 223 मिलियन डॉलर के मूल्य के साथ 2,23,515 मीट्रिक टन टन ककड़ी और गर्किंस या अचारी खीरे (gherkins) का निर्यात किया।

(Image Source: https://newsonair.gov.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: इसमें से भारत ने अप्रैल-अक्टूबर (2020-21) के दौरान 114 मिलियन डॉलर के मूल्य के साथ 1,23,846 मीट्रिक टन ककड़ी और अचारी खीरे का निर्यात किया।

  • गर्किन (gherkin) शब्द का प्रयोग सामान्यतः चटपटे अचारी खीरे के लिए किया जाता है। गर्किन और व्यवसायिक खीरे एक ही प्रजाति (Cucumis sativus) के हैं, परंतु ये विभिन्न कृषि समूहों के अंतर्गत आते हैं ।
  • गर्किन (gherkin) दो श्रेणियों के तहत निर्यात किया जाता है - ककड़ी और गर्किन।
  • गर्किन (अचारी खीरा) की खेती, प्रसंस्करण और निर्यात की शुरुआत भारत में 1990 के दशक में कर्नाटक में छोटे स्तर पर शुरू हुई और बाद में तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भी इसकी शुरुआत हुई।
  • वैश्विकस्तर पर खीरे की मांग का लगभग 15% उत्पादन भारत में होता है।
  • Gherkins वर्तमान में 20 से अधिक देशों को निर्यात किया जाता है, जिसमें प्रमुख गंतव्य उत्तरी अमेरिका, यूरोपीय देश और महासागरीय देश जैसे- संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, स्पेन, दक्षिण कोरिया, कनाडा, जापान, बेल्जियम, रूस, चीन, श्रीलंका और इजराइल हैं। ।
  • भारत में, अनुबंध खेती के तहत लगभग 90,000 छोटे और सीमांत किसानों द्वारा 65,000 एकड़ के वार्षिक उत्पादन क्षेत्र के साथ खीरे (gherkins) की खेती की जाती है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

'अबाइड विद मी' धुन बीटिंग रिट्रीट समारोह से हटाई गई


केंद्र सरकार द्वारा महात्मा गांधी के पसंदीदा पारंपरिक ईसाई स्तुति गीत 'अबाइड विद मी' (Abide with me) को वर्ष 2022 के बीटिंग रिट्रीट समारोह की धुनों की सूची से हटा दिया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह धुन 1950 से हर साल वार्षिक समारोह में बजाई जाती थी।

  • 'अबाइड विद मी' को 19वीं शताब्दी में स्कॉटलैंड के कवि हेनरी फ्रांसिस लिटे द्वारा लिखा गया था और इसकी धुन विलियम हेनरी मोंक ने तैयार की थी।
  • 'अबाइड विद मी' की जगह कवि प्रदीप की मौलिक कृति 'ऐ मेरे वतन के लोगों' ने ले ली है, जिसकी रचना भारत-चीन युद्ध के मद्देनजर की गई थी। इस गीत को पहली बार 27 जनवरी, 1963 को सी रामचंद्र द्वारा बनाई गयी धुन पर लता मंगेशकर द्वारा गाया गया था।
  • राष्ट्रीय राजधानी के विजय चौक पर हर साल 29 जनवरी की शाम को बीटिंग रिट्रीट समारोह आयोजित किया जाता है, जो गणतंत्र दिवस समारोह के आधिकारिक समापन को दर्शाता है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

प्रख्यात फ्रांसीसी कथकली नृत्यांगना मिलिना साल्विनी का निधन


इटली में जन्मी फ्रांस की प्रसिद्ध कथकली नृत्यांगना मिलिना साल्विनी का 25 जनवरी, 2022 को निधन हो गया। वे 84 वर्ष की थी।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

  • 1962 में मिलिना ने ‘केरल कलामंडलम’ में कथकली में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए छात्रवृत्ति प्राप्त की।
  • अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद, मिलिना पेरिस लौट आई और यूनेस्को सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम के तहत कथकली मंडली के दौरे की व्यवस्था की।
  • मिलिना ने अपने पति रोजर फिलिपुजी के सहयोग से 1975 में पेरिस में 'मंडप सेंटर' (Mandapa Centre) की स्थापना की और चार दशकों से अधिक समय तक भारतीय नृत्य और संगीत को बढ़ावा दिया।
  • कथकली में उनकी सेवाओं के लिए उन्हें2019 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

पद्म पुरस्कार 2022


25 जनवरी, 2022 को पद्म पुरस्कार 2022 की घोषणा की गई।

(Image Source: https://twitter.com/PadmaAward)

  • इस वर्ष राष्ट्रपति ने 128 पद्म पुरस्कारों को प्रदान करने की मंजूरी दी है, जिसमें 2 जोड़ी पुरस्कार (किसी जोड़ी को दिए पुरस्कार की गणना एक पुरस्कार के रूप में की जाती है) भी शामिल हैं।
  • इस सूची में 4 पद्म विभूषण, 17 पद्म भूषण और 107 पद्म श्री पुरस्कार शामिल हैं।
  • पद्म पुरस्कार प्राप्त करने वालों में 34 महिलाएं हैं और इस सूची में 10 व्यक्ति विदेशी/एनआरआई/ पीआईओ/ओसीआई श्रेणी के अंतर्गत हैं और 13 व्यक्तियों को मरणोपरांत पुरस्कार दिया गया है।

1) पद्म विभूषण

  • जन सेवा: कल्याण सिंह (मरणोपरांत) (उत्तर प्रदेश)
  • कला: प्रभा अत्रे* (महाराष्ट्र)
  • साहित्य और शिक्षा: राधेश्याम खेमका (मरणोपरांत) (उत्तर प्रदेश)
  • सिविल सेवा: जनरल बिपिन रावत (मरणोपरांत) (उत्तराखंड)

2) पद्म भूषण

  • जन सेवा: गुलाम नबी आजाद (जम्मू और कश्मीर) और बुद्धदेव भट्टाचार्य (पश्चिम बंगाल)
  • कला: विक्टर बनर्जी (पश्चिम बंगाल), गुरमीत बावा* (मरणोपरांत) (पंजाब) और राशिद खान (उत्तर प्रदेश)
  • व्यापार और उद्योग: नटराजन चंद्रशेखरन (महाराष्ट्र), कृष्णा एल्ला और सुचित्रा एल्ला* (जोड़ी) (तेलंगाना), सत्य नारायण नडेला (संयुक्त राज्य अमेरिका), सुंदरराजन पिचाई (संयुक्त राज्य अमेरिका) और साइरस पूनावाला (महाराष्ट्र)
  • साहित्य और शिक्षा: प्रतिभा रे* (ओडिशा), स्वामी सच्चिदानंद (गुजरात) और वशिष्ठ त्रिपाठी (उत्तर प्रदेश)
  • सिविल सेवा: राजीव महर्षि (राजस्थान)
  • विज्ञान एवं इंजीनियरिंग: संजय राजाराम (मरणोपरांत) (मेक्सिको)
  • खेल: देवेंद्र झाझरिया (राजस्थान)
  • अन्य: मधुर जाफरी* (पाक कला- संयुक्त राज्य अमेरिका)

3) महत्वपूर्ण पद्म श्री

  • साहित्य और शिक्षा: प्रो. नजमा अख्तर* (दिल्ली), सिरपी बालासुब्रमण्यम (तमिलनाडु), अखोन असगर अली बशारत (लद्दाख), मारिया क्रिस्टोफर बायर्स्की (पोलैंड), खलील धनतेजवी (मरणोपरांत) (गुजरात), गिरधारी राम घोंजू (मरणोपरांत) (झारखंड), शैबाल गुप्ता (मरणोपरांत) (बिहार), तारा जौहर* (दिल्ली), रटगर कोर्टेनहॉर्स्ट (आयरलैंड), चिरापत प्रपंडविद्या (थाईलैंड), विश्वमूर्ति शास्त्री (जम्मू-कश्मीर), तातियाना लवोवना शौम्यान* (रूस), सिद्धलिंगैया (मरणोपरांत) (कर्नाटक), विद्या विंदु सिंह* (उत्तर प्रदेश) और बडापलिन वार* (मेघालय)
  • कला: कमलिनी अस्थाना* और नलिनी अस्थाना* (जोड़ी) (उत्तर प्रदेश), माधुरी बर्थवाल* (उत्तराखंड), सुलोचना चव्हाण* (महाराष्ट्र), लौरेम्बम बिनो देवी* (मणिपुर), श्यामामणि देवी* (ओडिशा), गोसावीदु शेख हसन (मरणोपरांत) (आंध्र प्रदेश), सौकार जानकी* (तमिलनाडु), आर मुथुकन्नम्मल* (तमिलनाडु), त्सेरिंग नामग्याल (लद्दाख), सोनू निगम (महाराष्ट्र), शिवनाथ मिश्र (उत्तर प्रदेश), रामचंद्रैया (तेलंगाना), पद्मजा रेड्डी* (तेलंगाना), अजिता श्रीवास्तव* (उत्तर प्रदेश), ललिता वकील* (हिमाचल प्रदेश) और दुर्गा बाई व्याम* (मध्य प्रदेश)
  • व्यापार और उद्योग: मुक्तामणि देवी* (मणिपुर) और रयुको हीरा (जापान)
  • सामाजिक कार्य: आचार्य चंदना जी* (बिहार), शकुंतला चौधरी* (असम), बसंती देवी* (उत्तराखंड), सावजी भाई ढोलकिया (गुजरात), केवी राबिया* (केरल), गामित रमीलाबेन रायसिंहभाई* (गुजरात), प्रभाबेन शाह* (दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव), बाबा इकबाल सिंह जी (पंजाब)
  • खेल: सुमित अंतिल (हरियाणा), प्रमोद भगत (ओडिशा), नीरज चोपड़ा (हरियाणा), शंकरनारायण मेनन चुंडायिल (केरल), फैसल अली डार (जम्मू-कश्मीर), वंदना कटारिया* (उत्तराखंड), अवनि लेखरा* (राजस्थान) और ब्रह्मानंद सांखवलकर (गोवा)
  • विज्ञान एवं इंजीनियरिंग: संघमित्रा बंद्योपाध्याय* (पश्चिम बंगाल) और अजय कुमार सोनकर (उत्तर प्रदेश)
  • चिकित्सा: डॉ. प्रोकर दासगुप्ता (यूनाइटेड किंगडम), डॉ. लता देसाई* (गुजरात), डॉ. नरेंद्र प्रसाद मिश्रा (मरणोपरांत) (मध्य प्रदेश), डॉ. बालाजी तांबे (मरणोपरांत) (महाराष्ट्र), कमलाकर त्रिपाठी (उत्तर प्रदेश)
  • सिविल सेवा: गुरुप्रसाद महापात्र (मरणोपरांत) (दिल्ली)
  • जन सेवा: मालजी भाई देसाई (गुजरात)
  • अन्य: सोसम्मा इयपे* (पशुपालन - केरल), अब्दुल खादर नादकत्तिन (जमीनी नवाचार-कर्नाटक), अमाई महालिंग नाइक (कृषि- कर्नाटक), गुरु तुल्कु रिनपोछे (आध्यात्म - अरुणाचल प्रदेश), सेठ पाल सिंह (कृषि-उत्तर प्रदेश), शिवानंद (योग-उत्तर प्रदेश) और सद्गुरु ब्रह्मेशानंद आचार्य स्वामी (आध्यात्म-गोवा)

नोट- * से महिला पुरस्कार विजेता को दर्शाया गया है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप युद्धाभ्यास/सैन्य अभियान

अभ्यास पश्चिम लहर


पश्चिमी तट पर भारतीय नौसेना द्वारा आयोजित एक संयुक्त समुद्री अभ्यास 'पश्चिम लहर’ (XPL-2022) 25 जनवरी, 2022 को संपन्न हुआ।

  • 20 दिनों तक चला यह अभ्यास पश्चिमी नौसेना कमान की परिचालन संबंधी योजनाओं को सुदृढ़ करने और भारतीय नौसेना, भारतीय वायुसेना, भारतीय थल सेना और तटरक्षक बल के बीच अंतर-सेवा तालमेल बढ़ाने के उद्देश्य से आयोजित किया गया था।
  • यह अभ्यास पश्चिमी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ के तत्वावधान में आयोजित किया गया था।
  • इस इंट्रा-थिएटर अभ्यास में भारतीय नौसेना के 40 से अधिक जहाजों और पनडुब्बियों की संलग्नता और भागीदारी हुई।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस (25 जनवरी)


2022 का विषय: 'ग्रामीण और सामुदायिक केंद्रित पर्यटन' (Rural and Community Centric Tourism)

  • महत्वपूर्ण तथ्य: यह दिवस देश की अर्थव्यवस्था में पर्यटन के महत्व के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।
  • इस अवसर पर केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी ने पर्यटन मंत्रालय द्वारा भारत में घूमने के लिहाज से महत्वपूर्ण पर्यटन केंद्रों को समर्पित 75 अविश्वसनीय स्थलों पर डिजिटल बुकलेट और 'अतुल्य भारत 2022 डिजिटल कैलेंडर' का शुभारंभ किया।

संक्षिप्त खबरें इन्हें भी जानें

नॉन-फंजिबल टोकन


नॉन-फंजिबल टोकन (Non-Fungible Token: NFT) एक अद्वितीय, अपरिवर्तनीय टोकन है, जिसका उपयोग संगीत, कलाकृति, यहां तक कि ट्वीट और मीम (memes) जैसी डिजिटल परिसंपत्तियों के स्वामित्व को साबित करने के लिए किया जा सकता है।

  • किसी व्यक्ति के पास NFT का होना यह दर्शाता है कि उसके पास कोई अद्वितीय (यूनिक) डिजिटल परिसंपत्ति है, जो दुनिया में और किसी के भी पास नहीं है। नॉन-फंजिबल शब्द का सीधा सा अर्थ है कि प्रत्येक टोकन अलग है।
  • एक NFT को दूसरे NFT के साथ नहीं बदला जा सकता क्योंकि दोनों अलग हैं और इसलिए अद्वितीय हैं। प्रत्येक टोकन का एक अलग मूल्य होता है, जो इस बात पर निर्भर करता है कि वह किस संपत्ति का प्रतिनिधित्व करता है।
  • NFT 2021 में लोकप्रिय हुआ, जब कलाकारों द्वारा इसे अपने काम से कमाई करने के एक सुविधाजनक तरीके के रूप में देखा जाने लगा।
  • NFT लेनदेन ब्लॉकचेन पर दर्ज किए जाते हैं, जो एक डिजिटल सार्वजनिक खाता बही है, जिसमें अधिकांश NFT इथेरियम ब्लॉकचेन का हिस्सा हैं। ब्लॉकचेन पर एक डिजिटल परिसंपति के स्वामित्व का पंजीकरण करना NFT कहलाता है।
  • NFT एक नई तरह की वित्तीय प्रणाली का एक हिस्सा है, जिसे विकेंद्रीकृत वित्त (decentralised finance) कहा जाता है, जो बैंकों जैसे संस्थानों की भागीदारी को दूर करता है।

राज्य समाचार गुजरात

1922 के पाल और दढवाव के शहीद आदिवासी


26 जनवरी, 2022 को गणतंत्र दिवस परेड में गुजरात की झांकी में साबरकांठा के पाल और दढवाव गांव के आदिवासी शहीदों को दर्शाया गया। पाल और दढवाव के गांवों में 1922 में ब्रिटिश शासन के खिलाफ विरोध करते हुए 1,200 आदिवासी नरसंहार में शहीद हो गए थे।

(Image Source: PIB)

  • गुजरात की झांकी का विषय ‘गुजरात के आदिवासी क्रांतिवीर’ था। झांकी में साबरकांठा के पोशिना तालुका के आदिवासी कलाकारों द्वारा पारंपरिक 'गेर' नृत्य और संगीत का भी प्रदर्शन किया गया।
  • मोतीलाल तेजावत के नेतृत्व में, 7 मार्च, 1922 को ब्रिटिश शासकों द्वारा लगाए गए जागीरदार और रजवाड़ा से संबंधित भूमि राजस्व प्रणाली और कानूनों के विरोध में कई भील आदिवासी लोग 'हेर' नदी के तट पर एकत्र हुए थे।
  • मेजर एचजी सटन द्वारा जारी एक फायरिंग आदेश के बाद, लगभग 1,200 आदिवासी उस दिन शहीद हो गए थे।
  • यह भी कहा जाता है कि क्षेत्र में ‘ढेखड़िया कुआं’ और दूधिया कुआं’ नाम के दो कुएं आदिवासी लोगों के शवों से भरे हुए थे।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

'बैंकिंग ऑन इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया' रिपोर्ट


नीति आयोग, रॉकी माउंटेन इंस्टीट्यूट (आरएमआई) और आरएमआई इंडिया ने 21 जनवरी, 2022 को 'बैंकिंग ऑन इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया' रिपोर्ट (Banking on Electric Vehicles in India Report) शीर्षक से एक रिपोर्ट जारी की।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: रिपोर्ट इलेक्ट्रिक मोबिलिटी इकोसिस्टम में खुदरा ऋण के लिए प्राथमिकता-क्षेत्र की मान्यता के महत्व को रेखांकित करती है।
  • रिपोर्ट भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र को उधार (PSL) दिशा-निर्देशों में इलेक्ट्रिक वाहनों को शामिल करने की सूचना देने के लिए विचार और सिफारिशें प्रदान करती है।
  • RBI बैंकों और एनबीएफसी को इलेक्ट्रिक वाहनों (EVs) के लिए अपने वित्तपोषण को बढ़ाने के लिए एक मजबूत नियामक प्रोत्साहन प्रदान कर सकता है।
  • आरबीआई पांच मापदंडों के आधार पर विभिन्न EVs खंडों पर विचार कर सकता है। इन मापदंडों में सामाजिक-आर्थिक क्षमता, आजीविका सृजन क्षमता, मापनीयता, तकनीकी-आर्थिक व्यवहार्यता और हितधारक स्वीकार्यता शामिल हैं।
  • PSL के तहत इलेक्ट्रिक दो-पहिए, तीन-पहिए और वाणिज्यिक चार-पहिए वाहन प्राथमिकता वाले शुरुआती खंड हैं।
  • रिपोर्ट में EVs को शामिल किए जाने के प्रभाव को अधिकतम करने के लिए नवीकरणीय ऊर्जा व EVs को प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र को उधार देने के लिए एक स्पष्ट उप-लक्ष्य और जुर्माना प्रणाली की भी सिफारिश की गई है।
  • इसके अलावा यह वित्त मंत्रालय द्वारा EVs को एक बुनियादी ढांचा उप-क्षेत्र के रूप में मान्यता देने और आरबीआई के तहत एक अलग रिपोर्टिंग श्रेणी के रूप में शामिल करने का सुझाव देती है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

टैंक-रोधी हथियार 'एटी-4'


स्वीडन की रक्षा उपकरण निर्माता कंपनी 'साब' (Saab) ने 20 जनवरी, 2022 को कहा कि उसने भारतीय सशस्त्र बलों को टैंक-रोधी हथियार 'एटी-4' (AT4) की आपूर्ति के लिए एक अनुबंध किया है।

(Image Source: https://morningexpress.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: भारतीय थल सेना और भारतीय वायुसेना द्वारा एटी-4 का उपयोग किया जाएगा।

  • भारतीय सशस्त्र बल एटी-4 के नए ग्राहक हैं। इस आदेश में AT4CS AST शामिल है, जिसे अंदर की इमारतों, बंकरों और अन्य शहरी परिवेशों जैसे सीमित स्थानों से दागा जा सकता है।
  • इसका वजन लगभग 9 किलोग्राम है और इसकी प्रभावी सीमा 200 मीटर है।
  • एटी-4 सिस्टम को दुनिया भर में युद्ध के लिए प्रामाणिक रूप से सक्षम माना जाता है। ये हल्के, एकल शॉट वाले तथा उपयोग करने और संभालने में आसान है।
  • एकल सैनिक द्वारा संचालित, इस सिंगल-शॉट सिस्टम ने लैंडिंग क्राफ्ट, हेलीकॉप्टर, बख्तरबंद वाहनों और कर्मियों के खिलाफ प्रभावशीलता साबित की है और इसका 84 मिमी कैलिबर वॉरहेड बढ़ी हुई क्षमता प्रदान करता है।
  • भारतीय सेना पहले से ही साब कंपनी द्वारा निर्मित 'कार्ल-गुस्ताफ हथियार प्रणाली' (Carl-Gustaf system) का उपयोग करती है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

एल्बिनो मगरमच्छ


जनवरी 2022 में ओडिशा के भितरकनिका राष्ट्रीय उद्यान में एक दुर्लभ एल्बिनो खारे पानी का मगरमच्छ देखा गया।

(Image Source: https://www.newindianexpress.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: वन कर्मियों ने इसका नाम 'श्वेता' रखा है। श्वेता का जन्म तीन साल पहले हैचरी (hatchery) में हुआ था।

  • भितरकनिका राष्ट्रीय उद्यान में अब तीन 'कैप्टिव एल्बिनो मगरमच्छ' (captive albino crocodiles) हैं।
  • एक अल्बिनो मगरमच्छ के सफेद रंग को विकसित होने में कुछ साल लगते हैं।
  • हालांकि एल्बिनो खारे पानी के मगरमच्छ दुर्लभ हैं, लेकिन उन्हें भितरकनिका में जंगल में देखा गया है।
  • मगरमच्छ संरक्षण कार्यक्रम के एक भाग के रूप में 1975 में वन विभाग द्वारा हैचरी में पैदा किया गया 'गोरी' नमक मगरमच्छ भितरकनिका में देखा गया पहला एल्बिनो मगरमच्छ था।
  • 2005 में एक और एल्बिनो मगरमच्छ 'मल्ली' भी हैचरी में पैदा हुआ था।
  • पिछले साल की गणना के अनुसार कुल 1,768 मगरमच्छों में से 15 एल्बिनो या सफेद मगरमच्छ अभयारण्य में विभिन्न जल निकायों में देखे गए थे।

सामयिक खबरें पर्यावरण

गहरे समुद्र में रहने वाली मोलस्क प्रजाति


जनवरी 2022 में केरल और ब्राजील के शोधकर्ताओं की एक टीम ने पूर्वी अरब सागर से जाइलोफैगैडे (Xylophagaidae) परिवार से संबंधित एक दुर्लभ, गहरे समुद्र में रहने वाले मोलस्क (Deep-sea mollusc) की एक नई प्रजाति की पहचान की है।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: कोचीन विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीयूएसएटी) के समुद्री विज्ञान संकाय के डीन, प्रोफेसर बिजॉय नंदन के नाम पर इस छोटी मोलस्क प्रजाति का नाम 'जाइलोफगा नंदनी'(Xylophaga nandani) रखा गया है।

  • पहली बार अरब सागर से जीनस जाइलोफगा का एक सदस्य दर्ज किया गया है।
  • जाइलोफैगैडे परिवार के सदस्य गहरे समुद्र में पाये जाते हैं, उनकी उपस्थिति 7,000 मीटर की गहराई पर भी दर्ज की गई है।
  • आमतौर पर ये अधिक गहराई में लकड़ी पर पाए जाते हैं। इनकी जीवन शैली की अधिकांश आदतें एक रहस्य बनी हुई हैं। हालांकि, यह ज्ञात है कि वे अपने खोल (shells) का उपयोग लकड़ी को छोटे भागों में काटने के लिए करते हैं और इसे ऊर्जा के स्रोत के रूप में उपयोग करते हैं।

सामयिक खबरें पर्यावरण

हाइड्रोफिस ग्रैसिलिस


8 जनवरी, 2022 को जल पक्षी गणना के दौरान, पक्षी देखने वालों की एक टीम द्वारा तिरुवनंतपुरम के पेरुमाथुरा तट पर उथले पानी में छोटे सिर वाला समुद्री सांप 'हाइड्रोफिस ग्रैसिलिस' (Hydrophis gracilis) देखा गया।

(Image Source: C Susanth Kumar & https://www.thehindu.com/)

  • महत्वपूर्ण तथ्य: इस सांप को आमतौर पर 'सुंदर छोटे सिर वाले समुद्री सांप' (graceful small-headed sea snake) के रूप में जाना जाता है।
  • केरल से पहली बार सुंदर छोटे सिर वाले समुद्री सांप की जानकारी मिली है।
  • केरल से अभी तक समुद्री सांपों की छ: प्रजातियों की सूचना मिली थी। सुंदर छोटे सिर वाला समुद्री सांप दर्ज की जाने वाली सातवीं प्रजाति है।
  • यह अत्यधिक विषैला माना जाता है।
  • इसका नाम लैटिन शब्द "ग्रैसिलिस" के नाम पर रखा गया, जिसका अर्थ है छोटा। सांप की विशेषता उसका छोटा सिर और तुलनात्मक रूप से बड़ा शरीर (विशेषकर बीच में) है।
  • 'हाइड्रोफिस ग्रैसिलिस' सांप आमतौर पर हिंद महासागर, बंगाल की खाड़ी, फारस की खाड़ी, दक्षिण चीन सागर, मलेशिया, थाईलैंड और ऑस्ट्रेलिया के तटीय जल में पाया जाता है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

विनोदानंद झा पीएमएलए निर्णायक प्राधिकरण के नए अध्यक्ष नियुक्त


भारतीय राजस्व सेवा के 1983 बैच के सेवानिवृत्त अधिकारी विनोदानंद झा को 20 जनवरी, 2022 को राष्ट्रीय राजधानी स्थित पीएमएलए निर्णायक प्राधिकरण (PMLA Adjudicating Authority) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

(Image Source: https://www.freepressjournal.in/)

  • झा सितंबर 2018 से प्राधिकरण मेंबतौर सदस्य (वित्त और लेखा) के रूप में सेवारत हैं। पुणे में प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त के पद से सेवानिवृत्त होने के बाद उन्हें इस पद पर नियुक्त किया गया था।
  • तीन सदस्यीय 'पीएमएलए निर्णायक प्राधिकरण' धन शोधन निवारण अधिनियम या पीएमएलए (Prevention of Money Laundering Act: PMLA) के तहत जारी किए गए संपत्ति कुर्क करने के आदेशों के मामलों पर निर्णय लेता है और जांच के आधार पर इन आदेशों को जारी रखने, और जब्ती करने या छोड़ने का फैसला करता है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

12वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस (25 जनवरी)


2022 का विषय: 'चुनावों को समावेशी, सुलभ और सहभागी बनाना' (Making Elections Inclusive, Accessible and Participative)।

महत्वपूर्ण तथ्य: भारत के निर्वाचन आयोग के स्थापना दिवस को चिह्नित करने के लिए 2011 से हर साल 25 जनवरी को पूरे देश में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। भारत के निर्वाचन आयोग की स्थापना 25 जनवरी, 1950 को की गई थी।

  • इस दिवस का मुख्य उद्देश्य लोकतंत्र में प्रत्येक मत (वोट) के महत्व पर प्रकाश डालना; नए मतदाताओं के नामांकन को प्रोत्साहित करना, सुविधा प्रदान करना और अधिकतम करना तथा मतदाताओं की भागीदारी को बढ़ाना है।

राज्य समाचार गुजरात

प्रधानमंत्री ने किया सोमनाथ मंदिर के पास नए सर्किट हाउस का उद्घाटन


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जनवरी, 2022 को गुजरात में सोमनाथ मंदिर के पास नए सर्किट हाउस का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया।


(Image Source: https://newsonair.com/)

  • 48 कमरों वाला सर्किट हाउस 30 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है और यह 15,000 वर्ग मीटर में फैला है।
  • यह वीआईपी और डीलक्स रूम, कॉन्फ्रेंस रूम, ऑडिटोरियम हॉल आदि सहित शीर्ष श्रेणी की सुविधाओं से सुसज्जित है।

सोमनाथ मंदिर: सोमनाथ मंदिर गुजरात के पश्चिमी तट पर सौराष्ट्र में वेरावल के पास प्रभास पाटन में स्थित है।

  • इसे शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में पहला माना जाता है।
  • कई मुस्लिम आक्रमणकारियों और पुर्तगालियों द्वारा बार-बार इसे नष्ट किए जाने के बाद अतीत में कई बार इसका पुनर्निर्माण किया गया।
  • वर्तमान मंदिर का पुनर्निर्माण हिंदू मंदिर वास्तुकला की चालुक्य शैली में किया गया था और मई 1951 में पूरा किया गया था। पुनर्निर्माण वल्लभभाई पटेल द्वारा पूरा किया गया था।
  • त्रिवेणी संगम (तीन नदियों - कपिला, हिरण और सरस्वती का संगम) होने के कारण सोमनाथ का स्थल प्राचीन काल से एक तीर्थ स्थल रहा है।
  • वर्तमान में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं।

राज्य समाचार मेघालय

लिविंग रूट ब्रिज के लिए यूनेस्को की विश्व धरोहर टैग की वकालत


मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के. संगमा ने 21 जनवरी, 2022 को 50वें राज्य स्थापना दिवस पर 'लिविंग रूट ब्रिज' (Living Root Bridge) के लिए यूनेस्को की विश्व धरोहर टैग की वकालत की है।

(Image Source: https://economictimes.indiatimes.com/)

  • 'लिविंग रूट ब्रिज' एक सस्पेंशन ब्रिज की तरह होता है, जो 'रबड़ फिग ट्री' (rubber fig tree) की लचीली जड़ों की बुनाई करके तैयार किया जाता है। रबड़ फिग ट्री को वैज्ञानिक रूप से 'फिकस इलास्टिका' (Ficus elastica) के नाम से जाना जाता है।
  • मुख्यतः मेघालय की खासी और जयंतिया पहाड़ियों में सदियों से फैले 15 से 250 फीट के ये ब्रिज विश्व प्रसिद्ध पर्यटन के आकर्षण का केंद्र भी हैं।
  • इस तरह के पुल को स्थानीय रूप से 'जिंगकिएंग जरी' (jingkieng jri) कहा जाता है। सामान्यतः इन्हें धाराओं या नदियों को पार करने के लिये बनाया जाता है।
  • पारिस्थितिकीविदों के अनुसार यह लोगों और प्रकृति के बीच सहजीवी संबंधों को उजागर करता है।
  • भारतीय प्राणी सर्वेक्षण (ZSI) ने कहा कि वन्यजीव विविधता और स्वास्थ्य कार्ड तैयार करना मेघालय के 'लिविंग रूट ब्रिज' के लिए यूनेस्को टैग अर्जित करने के लिए आवश्यक शर्तें होंगी।

राज्य समाचार असम

कुपोषण पर असम मिशन को स्कॉच पुरस्कार 2021


6 माह से पांच साल की उम्र के बच्चों में कुपोषण का मुकाबला करने के लिए 'मिशन परवरिश' नामक परियोजना ने 9 जनवरी, 2022 को दक्षिणी असम के कछार जिले के लिए स्कॉच पुरस्कार 2021 हासिल किया है।

(Image Source: https://award.skoch.in/)

  • यह कार्यक्रम 2020 में 'पोषण माह' के दौरान शुरू किया गया था।
  • कार्यक्रम में गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के कुपोषित बच्चों के लिए एक समन्वित सामाजिक-आर्थिक दृष्टिकोण शामिल था।
  • ऐसे बच्चों को पोषण संबंधी सहायता प्रदान करने के लिए सरकारी एजेंसियां, स्थानीय नागरिक निकाय, गैर सरकारी संगठन और व्यवसायी एक साथ आए थे।

स्कॉच पुरस्कार: 2003 में स्थापित, ‘स्कॉच पुरस्कार’ उन लोगों, परियोजनाओं और संस्थानों को सम्मानित करता है, जो भारत को एक बेहतर राष्ट्र बनाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करते हैं।

  • ‘स्कॉच पुरस्कार’ स्कॉच समूह द्वारा डिजिटल, वित्तीय और सामाजिक समावेशन में सर्वोत्तम प्रयासों के लिए दिया जाता है।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

इलेक्ट्रॉनिक्स विनिनिर्माण पर विजन दस्तावेज का दूसरा खंड


24 जनवरी, 2022 को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इंडिया सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (ICEA) के साथ मिलकर इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र के लिए 5 साल का रोडमैप और विजन दस्तावेज का दूसरा खंड जारी किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस विजन दस्तावेज का शीर्षक है- "2026 तक 300 बिलियन डॉलर का सतत इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण और निर्यात"।

  • रोडमैप का पहला विजन दस्तावेज नवंबर 2021 में "भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स निर्यात और जीवीसी में हिस्सेदारी बढ़ाना" शीर्षक से जारी किया गया था।
  • रिपोर्ट विभिन्न उत्पादों के लिए वर्ष-वार विवरण और उत्पादन के बारे में अनुमान प्रस्तुत करती है। मोबाइल फोन, आईटी हार्डवेयर (लैपटॉप, टैबलेट), कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स (टीवी और ऑडियो), औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स, ऑटो इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रॉनिक पुर्जे, एलईडी लाइटिंग, सामरिक इलेक्ट्रॉनिक्स, प्रिंटेड सर्किट बोर्ड संयोजन, पहनने योग्य और सुनने योग्य तथा दूरसंचार उपकरण उन प्रमुख उत्पादों में शामिल हैं, जो इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण क्षेत्र में भारत की प्रगति का मार्ग प्रशस्त कर सकते हैं।
  • अगले 5 वर्षों में घरेलू बाजार के 65 अरब डॉलर से बढ़कर 180 अरब अमेरिकी डॉलर होने की उम्मीद है। इससे 2026 तक भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग को 2-3 शीर्ष रैंकिंग निर्यातों में स्थान मिल जाएगा।

पीएलआई योजनाएं: 300 बिलियन डॉलर का ‘इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण’, सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले इको-सिस्टम पर जोर देने के लिए सरकार द्वारा घोषित 10 बिलियन डॉलर मूल्य की उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना से जुड़ा है।

  • सरकार ने अगले 6 वर्षों में चार पीएलआई योजनाओं - सेमीकंडक्टर और डिजाइन, स्मार्टफोन, आईटी हार्डवेयर और कल-पुर्जों के लिए लगभग 17 बिलियन डॉलर का प्रावधान किया है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

भारत का पहला इंटेलिजेंट क्रॉनिक डिजीज पेशेंट्स हैबिट ट्रैकिंग सिस्टम


केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने 15 जनवरी 2022 को माधवबाग (वैद्य साने आयुर्वेद लैब्स लिमिटेड) के 'पावर एमएपी' (Power MAP) का उद्घाटन किया। पावर एमएपी भारत का पहला 'इंटेलिजेंट क्रॉनिक डिजीज पेशेंट्स हैबिट ट्रैकिंग सिस्टम' (Intelligent Chronic Disease Patients Habit Tracking System) है।

महत्वपूर्ण तथ्य: पावर एमएपी एक मेडिकल एनालिटिक्स एप्लिकेशन है।

  • पावर एमएपी एप्लिकेशन विभिन्न चिकित्सा सेवाओं जैसे- पैथोलॉजी लैब, आहार विशेषज्ञ, व्यायाम विशेषज्ञ, तनाव परामर्शदाता और अन्य विशेष सलाहकारों को एकीकृत करता है।
  • यह एक बटन के एक क्लिक पर रोगियों के स्वास्थ्य परिणामों को बेहतर बनाने में मदद करता है।
  • माधवबाग (वैद्य साने आयुर्वेद लैब्स लिमिटेड), एक अद्वितीय चिकित्सा सेवा संस्थान है, जो आयुर्वेद के पारंपरिक उपचार के साथ प्रौद्योगिकी के विशिष्ट दृष्टिकोण के साथ हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और मोटापे जैसी पुरानी बीमारियों का इलाज करता है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

लियोनार्डो डिकैप्रियो के नाम पर पेड़ का नाम


शोधकर्ताओं की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने 6 जनवरी, 2022 को कैमरून में ईबो वन (Ebo Forest) से एक नए उष्णकटिबंधीय पेड़ के पाये जाने की जानकारी दी।

(Image Source: https://metro.co.uk/)

महत्वपूर्ण तथ्य: अमेरिकी अभिनेता और संरक्षणवादी लियोनार्डो डिकैप्रियो द्वारा ईबो वन में वर्षावन को बचाने के लिए उनके अभियान की मान्यता में इस पेड़ का नाम उनके नाम पर रखा गया है।

  • 'उवेरियोप्सिस डिकैप्रियो' (Uvariopsis dicaprio) नाम का पेड़ 13 फीट (चार मीटर) लंबा है, जिसमें 15 सेंटीमीटर लंबी पत्तियां होती हैं और इसके तने पर बड़े, चमकदार, चमकीले पीले-हरे फूलों के गुच्छे होते हैं।
  • यह पेड़ 'यलंग-यलंग' (ylang-ylang) परिवार से संबंधित है।
  • पेड़ ईबो वन में पाया जाता है, जो अब तक केवल निम्न उप-पर्वतीय वनों के लिए जाना जाता था, जिनकी ऊंचाई 850 मीटर तक है।
  • 'उवेरियोप्सिस डिकैप्रियो' को 'गंभीर रूप से संकटग्रस्त' प्रजाति के रूप में वर्गीकृत किया गया है क्योंकि इसको कटान, वृक्षारोपण में रूपांतरण और खनन से खतरा रहता है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार 2022


23 जनवरी, 2022 को गुजरात आपदा प्रबंधन संस्थान (GIDM) को (संस्थान श्रेणी) और सिक्किम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विनोद शर्मा को (व्यक्तिगत श्रेणी) में आपदा प्रबंधन में उत्कृष्ट कार्य के लिए सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया।

(Image Source: https://twitter.com/ndmaindia)

गुजरात आपदा प्रबंधन संस्थान: इसकी स्थापना 2012 में हुई थी और तब से यह गुजरात की आपदा जोखिम न्यूनीकरण क्षमता को बढ़ाने के लिए काम कर रहा है।

विनोद शर्मा: भारतीय लोक प्रशासन संस्थान के वरिष्ठ प्रोफेसर शर्मा राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन केंद्र के संस्थापक संयोजक भी हैं, जिसे अब राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान के रूप में जाना जाता है।

  • उन्होंने आपदा जोखिम न्यूनीकरण को राष्ट्रीय एजेंडा में सबसे आगे लाने की दिशा में अथक प्रयास किए हैं।

पुरस्कार के बारे में: आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में देश में व्यक्तिगत स्तर पर तथा संगठनों के अमूल्य योगदान के सम्मान में भारत सरकार द्वारा स्थापित इस वार्षिक पुरस्कार की घोषणा हर साल 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती (पराक्रम दिवस) पर की जाती है।

  • पुरस्कार के रूप में संस्थान को 51 लाख रुपये नकद तथा एक प्रमाण पत्र एवं व्यक्तिगत स्तर पर 5 लाख रुपये नकद तथा एक प्रमाण पत्र प्रदान किये जाते हैं।
  • प्रधानमंत्री ने वर्ष 2019, 2020, 2021 और 2022 के सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार विजेताओं को सम्मानित किया।

सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार के पूर्व विजेता: वर्ष 2021- सस्टेनेबल एनवायरनमेंट एंड इकोलॉजिकल डेवलपमेंट सोसाइटी (SEEDS) (संस्था श्रेणी) और डॉ. राजेंद्र कुमार भंडारी (व्यक्तिगत श्रेणी)।

  • वर्ष 2020 - आपदा न्यूनीकरण एवं प्रबंधन केंद्र, उत्तराखंड (संस्था श्रेणी) और कुमार मुन्नान सिंह (व्यक्तिगत श्रेणी)।
  • वर्ष 2019 - राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 8वीं बटालियन, गाजियाबाद (संस्था श्रेणी)।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप वेब पोर्टल/ऐप

कोयला दर्पण पोर्टल


कोयला क्षेत्र से संबंधित प्रमुख प्रदर्शन संकेतक को साझा करने के लिए 21 जनवरी, 2022 को कोयला मंत्रालय के सचिव डॉ. अनिल कुमार जैन द्वारा 'कोयला दर्पण' पोर्टल लॉन्च किया गया।

  • प्रारंभिक चरण के रूप में, पोर्टल में ये प्रमुख प्रदर्शन संकेतक हैं - 1. कोयला/लिग्नाइट उत्पादन, 2. कोयला/लिग्नाइट की खरीद, 3. अन्वेषण डेटा, 4. केंद्रीय क्षेत्र की योजनाएं, 5. ताप विद्युत संयंत्रों में कोयला भंडार की स्थिति, 6. बुनियादी ढांचा परियोजनाएं, 7. ब्लॉकों का आवंटन (सीएमएसपी/एमएमडीआर), 8. प्रमुख कोयला खानों की निगरानी (कॉल इंडिया लिमिटेड), 9. कोयला मूल्य।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

राष्ट्रीय बालिका दिवस (24 जनवरी)


महत्वपूर्ण तथ्य: राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने का उद्देश्य देश की लड़कियों को हर संभव सहायता और अवसर प्रदान करना है। इसका उद्देश्य बालिकाओं के अधिकारों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देना और लड़कियों की शिक्षा, उनके स्वास्थ्य और पोषण के महत्व पर जागरूकता बढ़ाना भी है।

  • राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा पहली बार 2008 मेंकी गई थी।

राज्य समाचार गुजरात

गहरे समुद्र में अपशिष्ट निपटान पाइपलाइन परियोजना


जनवरी 2022 में साबरमती नदी में प्रदूषण के बारे में एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान गुजरात सरकार ने उच्च न्यायालय को सूचित किया है, कि वह 'गहरे समुद्र में अपशिष्ट निपटान पाइपलाइन परियोजना' (deep-sea effluent disposal pipeline project) पर काम कर रहा है।

  • औद्योगीकरण के कारण नदियों में प्रदूषण में बढ़ोतरी के बावजूद राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी 2,300 करोड़ रुपए की यह परियोजना वर्ष 2020 में निविदा जारी किए जाने के बाद आगे नहीं बढ़ पाई है।
  • 2020 में, सरकार गंभीर रूप से प्रदूषित हो चुके साबरमती, महिसागर, विश्वामित्र और भादर को बचाने के लिए औद्योगिक अपशिष्टों को सीधे गहरे समुद्र में ले जाने के लिए पाइपलाइन नेटवर्क बिछाने के लिए एक विशाल योजना लेकर आई थी।
  • परियोजना के तहत, अहमदाबाद के 11 सामान्य अपशिष्ट उपचार संयंत्र और खेड़ा, वडोदरा और जेतपुर से एक-एक अपशिष्ट उपचार संयंत्र से उपचरित जल को समुद्र के भीतर कई किलोमीटर में बिछायी गई पाइपलाइनों के माध्यम से समुद्र में छोड़ा जाएगा।

राज्य समाचार ओडिशा

गंजम जिला बाल विवाह मुक्त घोषित


3 जनवरी‚ 2022 को ओडिशा के गंजम जिले को 'बाल विवाह मुक्त' जिला घोषित किया गया । गंजम बाल विवाह मुक्त होने वाला राज्य में पहला जिला है।

(Image Source: https://www.indiatvnews.com/)

  • जिला प्रशासन दो साल (2020-2021) में 450 बाल विवाह को रोकने और 48,383 विवाहों की वीडियो-रिकॉर्डिंग करने में सक्षम रहा।
  • जिला प्रशासन ने सितंबर 2019 में किशोरों के सशक्तीकरण और बाल विवाह को रोकने के लिए एक अभिनव जागरूकता अभियान कार्यक्रम 'निर्भया कढ़ी' (Nirbhaya Kadhi) शुरू किया।
  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (आशा) ने किशोरियों को शिक्षित करने के लिए हर महीने बाल विवाह के दुष्परिणामों के बारे में ग्रामीण स्तर पर बैठकें आयोजित की।
  • बाल विवाह के बारे में प्रशासन को सूचित करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए 5,000 रुपये के इनाम की घोषणा की गई थी।

राज्य समाचार जम्मू-कश्मीर

जेर्री गाँव जम्मू-कश्मीर का पहला 'मिल्क विलेज' घोषित


जनवरी 2020 में केंद्र-शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में, प्रशासन ने रियासी जिले में जेर्री गाँव को केंद्र-शासित प्रदेश का पहला 'मिल्क विलेज' या 'दुग्ध ग्राम' घोषित किया है।

  • गाँव में 370 गायों के साथ 73 व्यक्तिगत डेयरी इकाइयां हैं, जो स्थानीय किसानों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करेगी।
  • दुग्ध ग्राम घोषित होने के बाद IDDS के तहत गांव के लिए कुल 57 और डेयरी इकाइयां स्वीकृत की गई हैं।
  • IDDS के तहत पांच पशुओं की डेयरी इकाइयों को 50 फीसदी सब्सिडी दी जाती है।

राज्य समाचार नागालैंड

नागालैंड के मोन जिले को राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस पुरस्कार


स्थानीय गैर सरकारी संगठनों के समन्वय से कोविड-19 के प्रबंधन के लिए नागालैंड के मोन जिले की एक डिजिटल पहल ने राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस पुरस्कार हासिल किया है।

  • मोन 'कोविड-19 के प्रबंधन में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के उपयोग' की श्रेणी में देश भर के जिलों की 231 प्रविष्टियों में शामिल था। 'प्रशासन की सहायता में प्रौद्योगिकी' (Technology in aid to administration) नामक जिले की परियोजना ने सिल्वर अवॉर्ड (Silver Award) जीता।
  • राष्ट्रीय पुरस्कार 7 और 8 जनवरी को हैदराबाद में 24वें राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन में प्रदान किए गए।

खेल समाचार विविध

9वीं महिला राष्ट्रीय आइस हॉकी चैम्पियनशिप-2022


लद्दाख महिला टीम ने हिमाचल प्रदेश में 'आइस हॉकी एसोसिएशन ऑफ इंडिया' द्वारा आयोजित 9वीं राष्ट्रीय महिला आइस हॉकी चैंपियनशिप 2022 जीत ली है।

  • चैंपियनशिप हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति जिले के काजा स्थित आइस स्केटिंग रिंक में 16 से 21 जनवरी, 2022 तक आयोजित की गई।
  • इस प्रतियोगिता में हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, लद्दाख, आईटीबीपी लद्दाख, चंडीगढ़ और दिल्ली की टीमों ने हिस्सा लिया।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

भारतीय अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी लिमिटेड में निवेश


आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 19 जनवरी, 2022 को भारतीय अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी लिमिटेड (IREDA) में 1500 करोड़ रुपये के इक्विटी निवेश को मंजूरी दी।

(Image Source: https://www.ireda.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: इस इक्विटी निवेश से साल भर में लगभग 10,200 रोजगारों का सृजन होगा तथा लगभग 7.49 मिलियन टन कार्बन डाई-ऑक्साइड / प्रतिवर्ष के बराबर कार्बन डाई-ऑक्साइड के उत्सर्जन में कमी आयेगी।

  • भारत सरकार द्वारा 1500 करोड़ रुपये का अतिरिक्त इक्विटी निवेश IREDA को सक्षम बनाएगा –
    1. अक्षय ऊर्जा (RE) के क्षेत्र में लगभग 12000 करोड़ रुपए का ऋण प्रदान कर 3500-4000 मेगावाट की अतिरिक्त क्षमता को सुविधाजनक बनाने में।
    2. उसकी निवल संपत्ति (नेटवर्थ) को बढ़ाने में मदद मिलेगी, जो अतिरिक्त अक्षय ऊर्जा वित्तपोषण के लिये सहायक होगी।
    3. उसके ऋण देने और लेने की गतिविधियों के संचालन में सुविधा के लिये पूंजी जोखिम आधारित परिसंपत्ति अनुपात (Capital-to-Risk weighted Assets Ratio: CRAR) में सुधार होगा।
  • IREDA, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन एक मिनी रत्न (श्रेणी-1) कंपनी है, जिसकी स्थापना 1987 में अक्षय ऊर्जा क्षेत्र के लिए एक विशेष गैर-बैंकिंग वित्त एजेंसी के रूप में काम करने के लिए की गई थी।
  • 34 वर्षों से अधिक की तकनीकी-वाणिज्यिक विशेषज्ञता के साथ IREDA अक्षय ऊर्जा परियोजना के वित्तपोषण में उत्प्रेरक की भूमिका निभाता है।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

भारत-इजरायल औद्योगिक अनुसंधान एवं विकास और तकनीकी नवाचार कोष


भारत और इजराइल के विशेषज्ञों ने अपनी 8वीं प्रबंध निकाय की बैठक में 'भारत-इजराइल औद्योगिक अनुसंधान एवं विकास तथा प्रौद्योगिकी नवाचार कोष (India-Israel Industrial R&D and Technological Innovation Fund: I4F) के दायरे को व्यापक बनाने के बारे में विचार-विमर्श किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: उन्होंने 5.5 मिलियन डॉलर की 3 संयुक्त अनुसंधान एवं विकास परियोजनाओं को मंजूरी दी और एक व्यापक भारत-इजरायल सहयोगी इकोसिस्टम का सृजन करने के उपायों का सुझाव दिया।

  • भारत-इजराइल औद्योगिक अनुसंधान एवं विकास और तकनीकी नवाचार कोष (I4F), विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (DST), भारत सरकार और इजराइल इनोवेशन अथॉरिटी, इजराइल सरकार के बीच एक सहयोग है।
  • इसका उद्देश्य सहमति प्राप्त क्षेत्रों में चुनौतियों का समाधान करने के लिए भारत और इजराइल की कंपनियों के बीच संयुक्त औद्योगिक अनुसंधान एवं विकास परियोजनाओं को बढ़ावा देना, सुविधा प्रदान करना और समर्थन करना है, जिससे दोनों देशों को लाभ पहुंचाने वाली नवीन तकनीकों का सह-विकास और व्यावसायीकरण हो सके।
  • ग्लोबल इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी एलायंस (GITA) को भारत में I4F कार्यक्रम को लागू करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है, जबकि इजराइल इनोवेशन अथॉरिटी इजराइल में कार्यान्वयन एजेंसी है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

नर्चरिंग नेबरहुड चैलेंज


आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) ने 18 जनवरी, 2022 को 'नेचरिंग नेबरहुड चैलेंज' (Nurturing Neighbourhoods Challenge) के प्रायोगिक (पायलट) चरण के 10 विजेता शहरों की घोषणा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: विजेताओं में बेंगलुरू भी शामिल है, जिसने बच्चों के लिए विशिष्ट डिजाइन मानकों के साथ आंगनवाड़ी केंद्र की सुरक्षा में सुधार किया है।

  • हुबली-धारवाड़ ने गर्भवती महिलाओं के लिए सार्वजनिक परिवहन के अनुभव में सुधार करते हुए साझा प्राम सेवा (pram service) शुरू की और 100 बस रैपिड ट्रांजिट बसों में बैठने की प्राथमिकता दी।
  • जबलपुर, इंदौर, काकीनाडा, कोच्चि, कोहिमा, राउरकेला, वडोदरा और वारंगल को भी पायलट चरण के विजेताओं के रूप में चुना गया।
  • 'नर्चिंग नेबरहुड चैलेंज' आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार के स्मार्ट सिटीज मिशन की एक 3 साल की पहल है, जो बर्नार्ड वैन लीयर फाउंडेशन (BvLF) और तकनीकी साझेदार वर्ल्ड रिसोर्स इंस्टीट्यूट (WRI), भारत के सहयोग से शुरू की गई है।
  • इसे नवंबर 2020 में शुरू किया गया था और इसमें 25 शहरों की 70 पायलट परियोजनाएं शामिल थी।
  • इसका उद्देश्य भारतीय शहरों और उनके भागीदारों के साथ काम करना है और सार्वजनिक स्थलों, परिवहन, पड़ोस की योजना, शुरुआती बचपन सेवाओं और सुविधाओं तक पहुंच में सुधार के तरीकों को बढ़ाना है।
  • इसका उद्देश्य भारतीय शहरों की योजना और प्रबंधन में शुरुआती बचपन (0-5 वर्ष के बच्चों) के विकास पर ध्यान केंद्रित करना भी है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

स्ट्रीट्स फॉर पीपल चैलेंज


आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) ने 18 जनवरी, 2022 को 'स्ट्रीट्स फॉर पीपल चैलेंज' (Streets for People Challenge) के ग्यारह विजेता शहरों की घोषणा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: औरंगाबाद, बेंगलुरू, गुरुग्राम, कोच्चि, कोहिमा, नागपुर, पिंपरी चिंचवाड़, पुणे, उदयपुर, उज्जैन और विजयवाड़ा को उनकी पायलट परियोजनाओं के आधार पर चुना गया है।

  • इन शहरों को उनके प्रस्तावों को विस्तारित करने के लिए 50-50 लाख रुपए दिए जाएंगे।
  • 'स्ट्रीट्स फॉर पीपल चैलेंज' आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार के स्मार्ट सिटीज मिशन की एक पहल है, जो शहरों को त्वरित उपायों के माध्यम से चलने के अनुकूल सड़कों को बनाने के लिए प्रेरित करती है। इसे 2020 में लॉन्च किया गया था।
  • इस चैलेंज का आयोजन परिवहन और विकास नीति संस्थान के भारत कार्यक्रम (आईटीडीपी इंडिया) से तकनीकी सहायता के माध्यम से किया गया है।
  • मंत्रालय ने 'इंडिया साइकिल्स4चेंज' और 'स्ट्रीट्स फॉर पीपल चैलेंजेज' के सीजन-2 का भी शुभारम्भ किया।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

भारत-मॉरीशस संबंध


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ ने 20 जनवरी, 2022 को मॉरीशस में भारत की सहायता प्राप्त सामाजिक आवास इकाइयों की परियोजना का संयुक्त रूप से वर्चुअल माध्यम में उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: दोनों नेताओं ने इस अवसर पर मॉरीशस में सिविल सर्विस कॉलेज और भारतीय विकास सहायता के तहत चलाई जा रही 8 मेगावाट सोलर पीवी फार्म परियोजनाओं का भी शुभारंभ किया।

  • 8 मेगावाट सौर पीवी फार्म परियोजना के तहत सालाना लगभग 14 गीगावाट हरित ऊर्जा के उत्पादन के लिए 25,000 पीवी सेल की स्थापना की गयी है। इस परियोजना से लगभग 10,000 मॉरीशस परिवारों को बिजली की आपूर्ति की जायेगी तथा हर साल 13,000 टन कार्बन डाईआक्साइड उत्सर्जन में कमी आयेगी।
  • मेट्रो एक्सप्रेस परियोजना और अन्य बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए भारत से मॉरीशस को 190 मिलियन अमेरिकी डॉलर की ऋण सहायता (लाइन ऑफ क्रेडिट देने) पर समझौता और लघु विकास परियोजनाओं के कार्यान्वयन पर समझौता ज्ञापन का भी आदान-प्रदान किया गया।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

विराट, दारमी और हीना


विराट, दारमी और हीना को उनकी अनुकरणीय सेवा के लिए 15 जनवरी, 2022 को सेना दिवस के अवसर पर 'थल सेनाध्यक्ष प्रशंसा पत्र' (Chief of the Army Staff Commendation) से सम्मानित किया गया।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: 'विराट' भारत के राष्ट्रपति के अंगरक्षक के साथ एक घोड़ा है, जबकि दारमी और हीना भारतीय सेना के कुत्ते हैं।

  • 'विराट' एक हनोवेरियन (Hanoverian) नस्ल का घोडा है, जिसे 12 सितंबर, 2000 को राष्ट्रपति के अंगरक्षक के लिए जारी किया गया था।
  • 'विराट' ने एक दशक से अधिक समय तक कमांडेंट के चार्जर के रूप में अपने कर्तव्यों का पालन किया और विदेशी गणमान्य व्यक्तियों सहित दर्शकों को अपनी शिष्टता और आत्मविश्वास के साथ मंत्रमुग्ध किया है।
  • सेना के पास आठ अलग-अलग कौशल वाले कुत्ते हैं, जिनमें खोजी (tracker), रखवाली करना (guard), खदान का पता लगाना, विस्फोटक का पता लगाना, पैदल सेना गश्त, हिमस्खलन बचाव अभियान, खोज और बचाव (search and rescue), हमला और मादक पदार्थों का पता लगाना शामिल है।
  • 25 अप्रैल, 2021 को सियाचिन ग्लेशियर पर एक पोस्ट पर खोज और बचाव अभियान के लिए 'दारमी' को सेवा में लगाया गया था।
  • हीना एक 'लैब्राडोर रिट्रीवर' (Labrador retriever) नस्ल का पांच साल का खोजी कुत्ता है। यह अत्यधिक वफादार, सम-स्वभाव वाला, चतुर, आज्ञाकारी और असाधारण रूप से विश्वसनीय है।
  • फरवरी 2021 में, एक घुसपैठिए के सफाए के बाद हीना कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर एक व्यापक तलाशी अभियान का हिस्सा था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

25वां राष्ट्रीय युवा महोत्सव


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 जनवरी, 2022 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पुडुचेरी में ‘25वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव’ का उद्घाटन किया।

(Image Source: https://www.rninews.co.in/)

महोत्सव का विषय: ‘सक्षम युवा-सशक्त युवा’ (Saksham Yuva Sashakt Yuva)।

  • यह महोत्सव 12 - 13 जनवरी, 2022 को वर्चुअल माध्यम में आयोजित किया गया।
  • 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • इस महोत्सव का उद्देश्य भारत के युवा मस्तिष्क (youth brain) को आकार देना और उन्हें राष्ट्र निर्माण के लिए एक संयुक्त शक्ति में बदलना है।
  • कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री ने 'मेरे सपनों का भारत' और 'भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के गुमनाम नायकों' पर चयनित निबंधों का अनावरण किया।

संक्षिप्त खबरें संस्थान-संगठन

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग (National Commission for Safai Karamcharis: NCSK) के कार्यकाल को 31 मार्च, 2022 से आगे तीन साल के लिए विस्तारित करने को मंजूरी दे दी है। तीन साल के लिए विस्तार का कुल व्यय लगभग 43.68 करोड़ रुपये होगा।

  • राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग का गठन 12 अगस्त, 1994 को 'राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग अधिनियम, 1993' के तहत एक सांविधिक निकाय के रूप में किया गया था।
  • यह अधिनियम फरवरी 2004 में समाप्त हो गया था। 1994 से 2004 के बीच, NCSK एक सांविधिक निकाय रहा।
  • वर्ष 2004 से आयोग सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के अंतर्गत एक गैर-सांविधिक निकाय के रूप में कार्य कर रहा है, जिसका कार्यकाल समय-समय पर विस्तारित किया जाता है। वर्तमान आयोग का कार्यकाल 31 मार्च, 2022 तक है।
  • NCSK के कार्यों में शामिल हैं- सफाई कर्मचारियों की स्थिति और सुविधाओं में असमानताओं को समाप्त करना और उनके लिए अवसरों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार को कार्यक्रमों की सिफारिश करना
  • सफाई कर्मचारियों और विशेष रूप से मैला ढोने वालों (मैनुअल स्कैवेंजर्स) के सामाजिक और आर्थिक पुनर्वास के लिए कार्यक्रमों और योजनाओं के कार्यान्वयन का अध्ययन और मूल्यांकन करना।
  • मैनुअल स्कैवेंजर्स के रूप में रोजगार का निषेध और उनका पुनर्वास अधिनियम, 2013 के प्रावधानों के अनुसार, NCSK को अधिनियम के कार्यान्वयन की निगरानी करने, केंद्र और राज्य सरकारों को इसके प्रभावी कार्यान्वयन के लिए सलाह देने और अधिनियम के प्रावधानों के उल्लंघन/कार्यान्वयन के संबंध में शिकायतों की जांच करने का काम सौंपा गया है।

संक्षिप्त खबरें संस्थान-संगठन

भारतीय बीमा संस्थान


अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्रों (IFSCs) में बीमा क्षेत्र में पेशेवरों की क्षमता निर्माण के उद्देश्य से अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) ने 19 जनवरी, 2022 को भारतीय बीमा संस्थान (Insurance Institute of India) के साथ एक समझौता (MoU) किया।

(Image Source: https://www.insuranceinstituteofindia.com/)

  • भारतीय बीमा संस्थान, को पहले फेडरेशन ऑफ इंश्योरेंस इंस्टीट्यूट्स (जे.सी. सीतलवाड़ मेमोरियल) के नाम से जाना जाता था।
  • इसकी स्थापना देश में बीमा शिक्षा और प्रशिक्षण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से वर्ष 1955 में की गई थी। इसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में है।
  • भारतीय बीमा संस्थान बदलते बीमा परिदृश्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत और विदेशों में बीमा उद्योग से जुड़े पेशेवरों के लिए पाठ्यक्रम तैयार करता है, इनका लगातार अपग्रेड करता है तथा प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करता है।
  • संस्थान के प्रमाणन को बीमा उद्योग, नियामकों और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित अन्य बीमा शिक्षा प्रदाताओं द्वारा मान्यता दी गयी है।
  • भारतीय बीमा संस्थान वैश्विक बीमा शिक्षा संस्थान (Institute of Global Insurance Education) का भी सदस्य है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

हिमालयन मल्लार्ड


जनवरी 2022 में हैदराबाद में संजीवैया पार्क (Sanjeeviah Park) में 'हिमालयन मल्लार्ड' या जंगली बतख (Himalayan Mallard) को देखा गया।

(Image Source: iPranay Juvvadi (https:// thehindu.com)

महत्वपूर्ण तथ्य: हिमालयन मल्लार्ड बतख परिवार से संबंधित है।

  • आमतौर पर इसे उत्तर भारत के ठंडे क्षेत्रों में देखा जाता है, लेकिन देश के पश्चिमी और दक्षिणी क्षेत्रों में नहीं देखा जाता है।
  • हालांकि महाराष्ट्र के पश्चिमी क्षेत्र में कुछ दुर्लभ दृश्य दर्ज किए गए हैं, लेकिन तेलंगाना में आज तक इसे कभी भी नहीं देखा गया था।
  • वैज्ञानिक रूप से इसे 'अनस प्लैटिरिनचोस' (Anas Platyrhynchos) के रूप में जाना जाता है।
  • इसके नर पक्षी का इंद्रधनुषी हरा या नीला सिर इसकी सबसे विशिष्ट विशेषता है।
  • मल्लार्ड पालतू हैं और आमतौर पर उन क्षेत्रों में पाले जाते हैं जहां वे आसानी से पाए जाते हैं।
  • कभी-कभी वे अन्य झुंडों के साथ भटक जाते हैं और अपने स्वयं के समूह के बिना यात्रा करते हैं।
  • 1998 के बाद से, मल्लार्ड को लुप्तप्राय प्रजातियों की IUCN रेड लिस्ट में 'चिंतामुक्त' (least concern) प्रजाति के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

प्रख्यात पर्यावरणविद् एम के प्रसाद का निधन


प्रख्यात पर्यावरणविद् प्रोफेसर एम के प्रसाद का 17 जनवरी, 2022 को निधन हो गया। वे 89 वर्ष के थे।

(Image Source: https://www.ehtrend.com.br/)

  • वे केरल की ‘साइलेंट वैली’ में सदाबहार उष्णकटिबंधीय वर्षा वनों को विनाश से बचाने के लिए ऐतिहासिक जमीनी स्तर के आंदोलन में एक अग्रणी व्यक्ति थे।
  • उन्होंने 'सेव साइलेंट वैली अभियान' का नेतृत्व किया था, जिसे राज्य में वन पारिस्थितिकी तंत्र की रक्षा के लिए पहला लोकप्रिय अभियान माना जाता है।
  • प्रसाद 1970 के दशक में पलक्कड़ जिले में साइलेंट वैली में एक पनबिजली परियोजना स्थापित करने के राज्य सरकार के कदम के खिलाफ राष्ट्रीय आंदोलन के पीछे एक मार्गदर्शक शक्ति थे।
  • वे 'संयुक्त राष्ट्र के मिलेनियम इकोसिस्टम असेसमेंट बोर्ड' (Millennium Ecosystem Assessment Board of the United Nations) में भी शामिल रहे थे।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

एग्री न्यूट्री गार्डन


दीनदयाल अंत्योदय योजना - राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) ने जागरूकता अभियान और ग्रामीण घरों में 'एग्री न्यूट्री गार्डन' की स्थापना को प्रोत्साहित करने के माध्यम से 10 से 17 जनवरी, 2022 तक 'एग्री न्यूट्री गार्डन वीक' (Agri Nutri Garden Week) मनाया।

महत्वपूर्ण तथ्य: परिवार के पोषण की आवश्यकता को पूरा करने के लिए प्रत्येक ग्रामीण गरीब परिवार को एग्री न्यूट्री गार्डन का समर्थन करना मिशन का एजेंडा है और आय सृजन के लिए किसी भी अतिरिक्त उत्पादन की बिक्री भी की जा सकती है।

  • भारत में खाद्य और पोषण सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 78 लाख से अधिक 'कृषि पोषक उद्यानों' (एग्री न्यूट्री गार्डन) की स्थापना की जा रही है।
  • इस सप्ताह (10 से 17 जनवरी के बीच) के 7500 के लक्ष्य की तुलना में कुल 76,664 'एग्री न्यूट्री गार्डन' स्थापित किए गए।
  • यह पहल ग्रामीण क्षेत्रों में कृषक महिलाओं और स्कूली बच्चों को शामिल करते हुए पोषण संबंधी जागरूकता, शिक्षा और व्यवहार परिवर्तन को बढ़ावा देने में मदद कर रही है और घरेलू कृषि और न्यूट्री-गार्डन के माध्यम से पोषण-संवेदनशील कृषि (nutrition-sensitive agriculture) को कार्यान्वित कर रही है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

ग्रामीण क्षेत्र विकास योजना निर्माण और कार्यान्वयन दिशा-निर्देश


केंद्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने 20 जनवरी, 2022 को संशोधित 'ग्रामीण क्षेत्र विकास योजना निर्माण और कार्यान्वयन' (Rural Area Development Plan Formulation and Implementation: RADPFI) दिशा-निर्देश जारी किए।

नए दिशा-निर्देशों में फोकस के क्षेत्र: स्थानिक विकास योजना तैयार करने हेतु गांवों का अध्ययन (जनसंख्या, कृषि जलवायु क्षेत्र, पर्वतीय क्षेत्र, आपदा घटना, शहरी, शहरी- ग्रामीण और गांव, राष्ट्रीय राजमार्ग /राज्य राजमार्ग और लचीलापन के लिए रणनीति)।

  • विभिन्न क्षेत्रों के लिए, विभिन्न विशेषताओं के साथ अलग- अलग विकास भूमि उपयोग के मानकों के साथ काम करना। ग्रामीण क्षेत्रों के नियोजित स्थानिक विकास को सुगम बनाना।
  • समुदाय के माध्यम से सहयोगात्मक योजना पर आधारित 'गांव नगर नियोजन योजना' (Village Town Planning Scheme)।
  • पर्यावरणीय लाभ और आपदा तैयारियों के लिए योजना।
  • 73वें और 74वें संवैधानिक संशोधन अधिनियमों और ग्राम पंचायत विकास योजना के अनुसार ग्राम पंचायत विकास का रूर्बन क्लस्टर्स/ब्लॉक/जिला योजना के साथ एकीकरण/समेकन।
  • आबादी क्षेत्र में भूमि अभिलेखों को जोड़ने के लिए 'स्वामित्व' (SVAMITVA) और अन्य डिजिटल समाधानों का उपयोग।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

भारत-श्रीलंका विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी सहयोग


भारत और श्रीलंका ने मौजूदा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी सहयोग को 3 और वर्षों के लिए विस्तारित कर दिया है। इसकी घोषणा 20 जनवरी, 2022 को आयोजित विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी सहयोग पर भारत-श्रीलंका 5वीं संयुक्त समिति की बैठक में की गई।

महत्वपूर्ण तथ्य: आगामी 3 वर्षों में अपशिष्ट जल प्रौद्योगिकियों, जैव-प्रौद्योगिकी, टिकाऊ कृषि, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, रोबोटिक्स, बिग डेटा एनालिटिक्स और कृत्रिम बुद्धिमता के साथ ही औद्योगिक सहयोग जैसे नए क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

  • यह प्लेटफॉर्म विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग के लिए संभावित विभिन्न अन्य पहलुओं पर चर्चा करने का अवसर प्रदान करेगा।
  • भारत 'भारत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी फेलोशिप', 'ई-आईटीईसी' जैसी फेलोशिप प्रदान करता है और दोनों देश बिम्सटेक जैसे कई बहुपक्षीय प्लेटफार्मों के माध्यम से काम कर सकते हैं, जिसका वे हिस्सा हैं।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

अमर जवान ज्योति का राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की लौ में विलय


केंद्र सरकार ने 21 जनवरी, 2022 को इंडिया गेट पर स्थापित ‘अमर जवान ज्योति’ की शाश्वत ज्योति (लौ) का कुछ सौ मीटर की दूरी पर 2019 में स्थापित ‘राष्ट्रीय युद्ध स्मारक’ ज्योति के साथ विलय कर दिया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: अमर जवान ज्योति स्वतंत्रता के बाद से विभिन्न युद्धों और संघर्षों में देश के लिए शहीद हुए सैनिकों को देश की श्रद्धांजलि का एक प्रतिष्ठित प्रतीक है।

  • अमर जवान ज्योति को 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की जीत को चिह्नित करने के लिए स्थापित किया गया था। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 26 जनवरी, 1972 को इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति का उद्घाटन किया था।
  • इंडिया गेट का अनावरण 1931 में किया गया था और इसे ब्रिटिश भारत के 70 हजार से अधिक सैनिकों के सर्वोच्च बलिदान के सम्मान में बनाया गया था।
  • अमर जवान ज्योति एक काले रंग के संगमरमर का फलक है, जिसके चारों तरफ स्वर्णाक्षरों में 'अमर जवान' लिखा हुआ। इसके ऊपर एक L1A1 सेल्फ लोडिंग राइफल रखी है और उस पर एक सैनिक का हेलमेट किसी मुकुट की तरह रखा गया है।
  • इस फलक के चारों तरफ रखे हुए कलश में से एक में ज्योति 1971 से जल रही थी। यूं तो चारों कलशों में ज्योति जलती है मगर पूरे साल भर चार में से एक ही ज्योति जलती रहती थी। लेकिन गणतंत्र दिवस जैसे महत्वपूर्ण अवसरों पर चारों कलशों की ज्योति जलाई जाती थी।
  • 1972 से 2006 के बीच, ज्योति जलाने के लिए तरल पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) का इस्तेमाल होता था। उसके बाद से पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) इस्तेमाल की जानी लगी

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

गुजरात उच्च न्यायालय की दो डिजिटल पहल


सुप्रीम कोर्ट ई-समिति के अध्यक्ष और सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने 17 जनवरी, 2022 को गुजरात उच्च न्यायालय की दो डिजिटल सेवाओं - 'जस्टिस क्लॉक' (Justice Clock) और 'अदालत शुल्क हेतु इलेक्ट्रॉनिक भुगतान' (electronic payment of court fee) प्रणाली का उद्घाटन किया।

(Image Source: https://gujcourts.guj.nic.in/)

जस्टिस क्लॉक: यह गुजरात हाई कोर्ट परिसर के पास जमीन से 17 फीट की ऊंचाई पर स्थापित 7 फीट लंबा 10 फीट चौड़ा एलईडी डिस्प्ले है।

  • यह 'जस्टिस क्लॉक' गुजरात में न्याय वितरण प्रणाली (justice delivery system) के महत्वपूर्ण आंकड़ों को प्रदर्शित करेगी, ताकि राज्य की न्यायपालिका द्वारा किए गए कार्यों की 'अधिकतम पहुंच और दृश्यता' हो सके।
  • यह रियलटाइम में राष्ट्रीय न्यायिक डेटा ग्रिड (National Judicial Data Grid) से डेटा प्रदर्शित करेगा।
  • गुजरात न्यायपालिका से संबंधित आंकड़ों का एक समान प्रारूप 'वर्चुअल जस्टिस क्लॉक' (Virtual Justice Clock) के एक टैब के तहत गुजरात उच्च न्यायालय की वेबसाइट पर भी उपलब्ध होगा, जो सभी के लिए सुलभ होगा।

ई-कोर्ट शुल्क भुगतान प्रणाली: गुजरात उच्च न्यायालय के लिए ऑनलाइन ई-कोर्ट शुल्क प्रणाली पहले से ही उपलब्ध थी, जिसका प्रायोगिक आधार पर परीक्षण किया गया था।

  • इस प्रणाली से अधिवक्ता और पक्षकार इलेक्ट्रॉनिक भुगतान के माध्यम से और एक पीडीएफ रसीद जमा करके ऑनलाइन 'न्यायिक स्टाम्प' (judicial stamps) की खरीद कर सकते हैं।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

भारतीय सेना ने किया नई जलवायु अनुकूल वर्दी का अनावरण


भारतीय थल सेना ने 15 जनवरी, 2022 को सेना दिवस पर अपने कर्मियों के लिए एक हल्की, आरामदायक और अधिक जलवायु अनुकूल युद्धक वर्दी का अनावरण किया।

(Image Source: https://twitter.com/IndianDefence3)

महत्वपूर्ण तथ्य: नई वर्दी को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी की मदद से विकसित किया गया है।

  • वर्दी में नये अनूठे कैमोफ्लेज (camouflage) पैटर्न में ऑलिव ग्रीन और मिट्टी के रंग सहित मिश्रित रंगों वाले संयोजन को बरकरार रखा गया है।
  • कैमोफ्लेज वर्दी एक 'डिजिटल डिसरप्टिव' (digital disruptive) पैटर्न पर आधारित होगी और 13 आकारों में उपलब्ध होगी। 'डिजिटल डिसरप्टिव' पैटर्न कंप्यूटर की मदद से डिजाइन किया जाता है।
  • नई वर्दी को दो उद्देश्यों की पूर्ति के लिए डिजाइन किया गया है - कठोर जलवायु परिस्थितियों से सुरक्षा और जीवित बच निकलने के लिए सैनिकों को छिपने में मदद करना।
  • सेना की वर्दी 70% सूती (cotton) और 30% पॉलिएस्टर कपड़े के संयोजन से बनी है।
  • भारतीय सेना की नई वर्दी का कपड़ा हल्का होगा और जल्दी सूख जाएगा। इस प्रकार सैन्य ऑपरेशन के दौरान सैनिकों के लिए नई वर्दी अधिक टिकाऊ होने के साथ-साथ गर्मियों और सर्दियों दोनों में आरामदायक होगी।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

कटरोल हिल फॉल्ट


अवसादी नमूनों पर आधारित एक अध्ययन से पता चला है कि पिछले 30,000 वर्षों में अधिक तीव्रता वाली भूकंप की घटनाओं के चलते गुजरात स्थित कच्छ क्षेत्र में ‘कटरोल हिल फॉल्ट’ (Katrol Hill Fault) के भूदृश्य में असाधारण बदलाव आया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: कच्छ क्षेत्र में भूकंपीयता अत्यधिक जटिल है क्योंकि यह कई पूर्व-पश्चिम ट्रेंडिंग फॉल्ट लाइनों के रूप में विभिन्न भूकंपीय स्रोतों की विशेषता है, जो भूकंप पैदा करने वाले अंतरालों पर लगातार संचित विवर्तनिक तनावों (tectonic stresses) को पैदा करते हैं।

  • 2001 के विनाशकारी भुज भूकंप की घटना के बाद से भूकंप की रियलटाइम निगरानी से संकेत मिलता है कि इस क्षेत्र में अधिकांश फॉल्ट, जैसे- कच्छ मेनलैंड फॉल्ट, दक्षिणी वागड फॉल्ट, गेडी फॉल्ट और आइलैंड बेल्ट फॉल्ट भूकंपीय रूप से सक्रिय हैं।
  • चूंकि, कटरोल हिल फॉल्ट जैसे अन्य फॉल्ट के साथ भूकंपीय गतिविधि स्पष्ट नहीं है, इस प्रकार इस कारण इस वजह से क्षेत्र में भूकंपीय खतरे के आकलन और शमन का कार्य वैज्ञानिक रूप से एक जटिल प्रक्रिया हो जाता है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

नुसंतारा होगी इंडोनेशिया की नई राजधानी


इंडोनेशिया ने 18 जनवरी, 2022 को जकार्ता की जगह बोर्नियो द्वीप के पूर्व में स्थित पूर्वी कालीमंतन (East Kalimantan) को अपनी राजधानी बनाने हेतु एक विधेयक पारित किया। देश की नई राजधानी को 'नुसंतारा' (Nusantara) कहा जाएगा, जिसका अर्थ जावा भाषा में 'द्वीपसमूह' (archipelago) है।

महत्वपूर्ण तथ्य: इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने सबसे पहले 2019 में राजधानी को जकार्ता से स्थानांतरित करने की योजना की घोषणा की थी।

  • 'पूर्वी कालीमंतन' इंडोनेशिया, मलेशिया और ब्रुनेई द्वारा साझा किए गए बोर्नियो द्वीप के पूर्वी हिस्से में जकार्ता से 2,300 किलोमीटर दूर है।

राजधानी परिवर्तन का कारण: जकार्ता में बढ़ता प्रदूषण और अन्य पर्यावरणीय मुद्दे; जकार्ता में बढ़ती जनसंख्या; वित्तीय असमानता।

  • इसके अलावा, यह आशंका जताई जा रही है कि जकार्ता शहर के कई हिस्से 2050 तक पानी में डूब सकते हैं, क्योंकि इंडोनेशिया बाढ़ के प्रति अतिसंवेदनशील है और जकार्ता कई नदियों से भी घिरा हुआ है।

राजधानी बदलने वाले अन्य देश: म्यांमार ने 2005 में अपनी राजधानी को रंगून से 'नेपिडॉ' (Naypyidaw) स्थानांतरित कर दिया था।

  • 1960 में, ब्राजील ने अपनी राजधानी को रियो डी जनेरियो से बदलकर 'ब्रासीलिया' कर दिया
  • नाइजीरिया ने भी 1991 में देश की राजधानी को लागोस से बदलकर 'अबुजा' कर दिया था।
  • 1997 में, कजाकिस्तान ने अपनी राजधानी को अल्माटी से 'अस्ताना' स्थानांतरित कर दिया था। पूर्व राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव के सम्मान में अस्ताना का नाम बदलकर 2019 में 'नूर-सुल्तान' कर दिया गया।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

हूती विद्रोही


17 जनवरी, 2022 को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अबू धाबी में एक तेल डिपो पर तीन पेट्रोलियम टैंकरों पर संदिग्ध ड्रोन हमले में दो भारतीय और एक पाकिस्तानी मारे गए और दो भारतीयों सहित छ: अन्य लोग घायल हो गए।इस हमले की जिम्मेदारी ईरान समर्थित यमन के हूती विद्रोहियों (Houthi rebels) ने ली है।

महत्वपूर्ण तथ्य: यमन लाल सागर और अदन की खाड़ी के जंक्शन पर स्थित है।

  • यमन सात साल से अधिक समय से गृहयुद्ध से तबाह हो गया है और राजधानी सना सहित देश के पश्चिमी हिस्से पर हूती विद्रोहियों का नियंत्रण है।
  • युद्ध में प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से कई राष्ट्र शामिल हैं, और अबू धाबी में हमला उन कई संघर्षों को उजागर करता है, जो समग्र रूप से यमन और व्यापक क्षेत्र में चल रहे हैं।
  • हूती 'जैदी शिया संप्रदाय' से संबंधित एक बड़ा कबीला है, जिसकी जड़ें यमन के उत्तर-पश्चिमी 'सादा' प्रांत (Saada province) में हैं। यमन की आबादी का करीब 35 फीसदी 'जैदी' (Zaidis) आबादी हैं।
  • 1990 के दशक में हुसैन बदरुद्दीन अल-हूती द्वारा हूती समूह की स्थापना की गई थी। 2004 में यमन के सैनिकों द्वारा हुसैन को मारने के बाद, उनके भाई अब्दुल मलिक ने इसकी कमान संभाली।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

रोगाणुरोधी प्रतिरोध पर वैश्विक अनुसंधान रिपोर्ट


20 जनवरी, 2022 को 'द लैंसेट' में रोगाणुरोधी प्रतिरोध पर वैश्विक अनुसंधान रिपोर्ट (Global Research on Antimicrobial Resistance report) प्रकाशित की गई।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस रिपोर्ट में 2019 में रोगाणुरोधी प्रतिरोध के वैश्विक प्रभाव का एक व्यापक अनुमान प्रकाशित किया गया है, जिसमें 204 देशों और क्षेत्रों को शामिल किया गया है।

  • लैंसेट ने पाया है कि 2019 में रोगाणुरोधी प्रतिरोध (Antimicrobial Resistance: AMR) के प्रत्यक्ष परिणाम के रूप में 12.7 लाख लोगों की मृत्यु हुई।
  • AMR अब दुनिया भर में मौत का एक प्रमुख कारण है, जो एचआईवी / एड्स या मलेरिया से अधिक है।
  • 2019 में एचआईवी/एड्स और मलेरिया से क्रमश: 8.6 लाख और 6.4 लाख मौतें होने का अनुमान लगाया गया था।
  • अध्ययन किए गए 23 रोगजनकों में से, छ: में दवा प्रतिरोध (ई कोलाई, एस ऑरियस, के न्यूमोनिया, एस न्यूमोनिया, ए बॉमनी, और पी एरुगिनोसा) सीधे 9.29 लाख मौतों का कारण बना और 3.57 मिलियन मौतों से जुड़ा था।
  • एक रोगजनक-दवा संयोजन 'मेथिसिलिन-रेसिस्टेंट स्टैफिलोकोकस ऑरियस'(MRSA) सीधे तौर पर 1 लाख से अधिक मौतों का कारण बना।
  • एंटीबायोटिक दवाओं के दो वर्गों 'फ्लोरोक्विनोलोन' (fluoroquinolones) और 'बीटा-लैक्टम एंटीबायोटिक्स' (beta-lactam antibiotics) को अक्सर गंभीर संक्रमणों के खिलाफ सुरक्षा की अग्रिम पंक्ति माना जाता है। 'इन दवाओं के प्रति प्रतिरोध' AMR के कारण होने वाली 70% से अधिक मौतों के लिए जिम्मेदार हैं।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

माइक्रोसॉफ्ट ने की गेमिंग कंपनी एक्टिविजन ब्लिजार्ड का अधिग्रहण करने की घोषणा


माइक्रोसॉफ्ट ने 18 जनवरी, 2022 को 68.7 बिलियन डॉलर में गेमिंग कंपनी ‘एक्टिविजन ब्लिजार्ड’ (Activision Blizzard) का अधिग्रहण करने की घोषणा की।

महहत्वपूर्ण तथ्य: इसके साथ ही, माइक्रोसॉफ्ट राजस्व के हिसाब से 'टेनसेंट' (Tencent) और 'सोनी' (Sony) के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी गेमिंग कंपनी बन जाएगी।

  • अधिग्रहण को माइक्रोसॉफ्ट के 'मेटावर्स' (metaverse) के लिए एक प्रमुख कदम के रूप में भी देखा जा रहा है।

मेटावर्स में कंपनियों का प्रवेश: दुनिया भर में अधिकांश सॉफ्टवेयर और सोशल मीडिया समूह के लिए, मेटावर्स इंटरनेट के विकास में अगला कदम है।

  • मेटावर्स एक आभासी दुनिया है, जहां लोगों के वर्चुअल अवतार या ऑनलाइन पहचान आपस में इंटरैक्ट (interact) कर सकते हैं।
  • इसका मतलब यह है कि इंटरनेट पर केवल ऑनलाइन सामग्री (कंटेंट) देखने या सुनने के बजाय, लोग वर्चुअल दुनिया में, दूसरों के लिए रियलटाइम में कंटेंट तैयार सकते हैं और इसका अनुभव भी कर सकते हैं।
  • इसके पहले और प्रमुख अनुप्रयोगों में से एक 'गेमिंग' होगा। उदाहरण के लिए, गेम्स में खिलाड़ी इंटरनेट के माध्यम से दुनिया के अन्य हिस्सों के खिलाड़ियों के साथ टीम बना सकते हैं, जो अधिक इंटरैक्टिव होंगे।

सामयिक खबरें पर्यावरण

ईस्टर्न स्वैम्प डीयर की संख्या में कमी


काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और टाइगर रिजर्व में अतिसंवेदनशील (vulnerable) ‘ईस्टर्न स्वैम्प डीयर’ (eastern swamp deer) की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है। ईस्टर्न स्वैम्प डीयर दक्षिण एशिया में अन्य स्थानों पर विलुप्त हो चुके हैं।

(Image Source: https:// twitter.com/van_vihar)

महत्वपूर्ण तथ्य: वर्ष 2019 और वर्ष 2020 में आई दो विनाशकारी बाढ़ के कारण इनकी आबादी घटकर 868 हो गई है, जो 2018 में 907 थी।

  • हालांकि इसका सकारात्मक पक्ष यह है कि ईस्टर्न स्वैम्प डीयर अब काजीरंगा के अलावा ओरंग नेशनल पार्क और लाओखोवा-बुराचापोरी वन्यजीव अभयारण्यों जैसे अन्य क्षेत्रों में भी चले गए हैं।
  • भारतीय उपमहाद्वीप में दलदली हिरणों (स्वैम्प डीयर) की तीन उप-प्रजातियां पाई जाती हैं। वेस्टर्न स्वैम्प डीयर (Rucervus duvaucelii) नेपाल में पाया जाता है, साउदर्न स्वैम्प डीयर (Rucervus duvaucelii branderi) मध्य और उत्तर भारत में पाया जाता है और ईस्टर्न स्वैम्प डीयर (Rucervus duvaucelii ranjitsinhi) काजीरंगा और दुधवा राष्ट्रीय उद्यानों में पाया जाता है।
  • स्वैम्प डीयर को आईयूसीएन में 'अतिसंवेदनशील' (vulnerable), CITES के परिशिष्ट I में और भारत के 1972 के वन्यजीव संरक्षण अधिनियम की अनुसूची I के तहत सूचीबद्ध किया गया है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

स्की दुर्घटना में फ्रांसीसी अभिनेता गैसपर्ड उलिएल की मौत


फ्रांसीसी स्टार अभिनेता गैसपर्ड उलिएल (Gaspard Ulliel) का 19 जनवरी, 2022 को एक स्कीइंग दुर्घटना में निधन हो गया। वे 37 वर्ष के थे।

(Image Source: https://scroll.in/)

  • उन्होंने एक युवा 'हैनिबल लैक्टर' (Hannibal Lecter) की भूमिका निभाई थी और वह मार्वेल सीरीज की आगामी फिल्म 'मून नाइट' (Moon Knight) का भी हिस्सा हैं।
  • उन्होंने वर्ष 2007 की फिल्म 'हैनिबल राइजिंग' (Hannibal Rising) में युवा हैनिबल लैक्टर की भूमिका निभाई थी। मार्वेल सीरीज की आगामी फिल्म 'मून नाइट' में वे 'मिडनाइट मैन' के रूप में प्रमुख भूमिका में हैं।
  • उलिएल ने 2017 में 'इट्स ओनली द एंड ऑफ द वर्ल्ड' (It's Only the End of the World) में मुख्य भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फ्रांस का 'सेजर पुरस्कार' (César award) जीता था। 'सेजर पुरस्कार' को फ्रांस में ऑस्कर के समकक्ष माना जाता है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप युद्धाभ्यास/सैन्य अभियान

समुद्री साझेदारी अभ्यास


भारतीय नौसेना के जहाजों 'शिवालिक' और 'कदमत' ने 13 जनवरी, 2022 को बंगाल की खाड़ी में जापान मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स (JMSDF) के जहाजों 'उरगा' (Uraga) और 'हीराडो' (Hirado) के साथ ‘समुद्री साझेदारी अभ्यास’ किया।

  • दोनों JMSDF जहाज माइनस्वीपर डिवीजन वन का हिस्सा हैं और हिंद महासागर क्षेत्र में तैनाती पर हैं।
  • अभ्यास का उद्देश्य द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करना, रक्षा सहयोग को बढ़ावा देना, दोनों नौसेनाओं के बीच आपसी समझ और अंतर-संचालन को बढ़ाना और सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करना था।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

सानिया मिर्जा लेंगी 2022 सीजन के बाद संन्यास


19 जनवरी, 2022 को भारतीय टेनिस इतिहास की सबसे सफल महिला खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने 2022 सीजन के अंत में खेल को अलविदा कहने का फैसला किया है।

(Image Source: https://commons.wikimedia.org/)

  • ज्ञात हो की वे 2013 में एकल प्रतियोगिताओं से पहले ही बाहर हो गई थी।
  • सानिया के नाम मिश्रित युगल और महिला युगल में छ: ग्रैंड स्लैम खिताब हैं। ये हैं- ऑस्ट्रेलियन ओपन 2009 मिश्रित युगल, फ्रेंच ओपन 2012 मिश्रित युगल, यूएस ओपन 2014 मिश्रित युगल, विंबलडन 2015 महिला युगल, यूएस ओपन 2015 महिला युगल और ऑस्ट्रेलियाई ओपन 2016 महिला युगल।
  • टेनिस में उनकी उपलब्धियों के लिए, उन्हें 2004 में अर्जुन पुरस्कार, 2006 में पद्म श्री, 2015 में राजीव गांधी खेल रत्न (जिसे अब मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार कहा जाता है) और 2016 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है।

खेल समाचार फुटबॉल

बेस्ट फीफा फुटबॉल अवॉर्ड्स 2021


17 जनवरी, 2022 को बेस्ट फीफा फुटबॉल अवॉर्ड्स 2021 (The Best FIFA FootballAwards 2021) समारोह वर्चुअल टीवी शो के माध्यम से ज्यूरिख में आयोजित किया गया।


(Image Source: https://bwfworldtour.bwfbadminton.com/)

  • बायर्न म्यूनिख के पोलैंड के स्ट्राइकर 'रॉबर्ट लेवांडोव्स्की' ने 2021 के लिए 'फीफा सर्वश्रेष्ठ पुरुष खिलाड़ी का पुरस्कार' जीता, जबकि बार्सिलोना की स्पेनिश मिडफील्डर 'एलेक्सिया पुटेलास' ने 'फीफा सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी का पुरस्कार' जीता। लेवांडोव्स्की ने लगातार दूसरे वर्ष यह पुरस्कार जीता।
  • 27 वर्षीय पुटेलास ने बार्सिलोना की महिला टीम को स्पेनिश लीग और यूईएफए चैंपियंस लीग में जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।
  • कनाडा के लिए 308 मैचों में 188 गोल के साथ क्रिस्टीन सिंक्लेयर ने 'महिला फुटबॉल के लिए सर्वश्रेष्ठ फीफा विशेष पुरस्कार' प्राप्त किया और पुर्तगाल के लिए 184 मैचों में 115 गोल के साथ क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने 'पुरुष फुटबॉल के लिए सर्वश्रेष्ठ फीफा विशेष पुरस्कार' प्राप्त किया।
  • वर्ष के सर्वश्रेष्ठ गोल के लिए 'पुस्कस पुरस्कार अर्जेन्टीना के 'एरिक लामेला' ने जीता।

अन्य विजेता

  • सर्वश्रेष्ठ फीफा पुरुष गोलकीपर: एडौर्ड मेंडी (चेल्सी, सेनेगल)।
  • सर्वश्रेष्ठ फीफा महिला गोलकीपर: क्रिस्टियन एंडलर (ओलंपिक लियोनिस, चिली)।
  • सर्वश्रेष्ठ फीफा पुरुष कोच: थॉमस टुचेल (चेल्सी)।
  • सर्वश्रेष्ठ फीफा महिला कोच: एम्मा हेस (चेल्सी)।
  • फीफा फेयर प्ले अवॉर्ड: डेनमार्क की राष्ट्रीय टीम/डेनिश मेडिकल टीम और स्टाफ।
  • फीफा फैन अवॉर्ड: डेनमार्क और फिनलैंड के प्रशंसक।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

कला उत्सव 2021


डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से 1 से 12 जनवरी, 2022 तक 'कला उत्सव 2021' आयोजित किया गया।

(Image Source: https://twitter.com/Kala_Utsav)

महत्वपूर्ण तथ्य: कला उत्सव 2021 की प्रतिस्पर्धाओं में कला की कुल नौ विधायें थीं, जिनमें 1. संगीत गायन-शास्त्रीय, 2. संगीत गायन-पारंपरिक लोक गायन, 3. संगीत वाद्य -शास्त्रीय, 4. संगीत वाद्य -पारंपरिक लोक संगीत, 5. नृत्य-शास्त्रीय, 6. नृत्य-लोक, 7. दृश्य कला दो आयामी, 8. दृश्य कला तीन आयामी, 9. स्वदेशी खिलौने और खेल शामिल थे।

  • कला उत्सव 2021 में विभिन्न राज्यों, केंद्र-शासित प्रदेशों, केंद्रीय विद्यालय संगठन और नवोदय विद्यालय समिति विद्यालय की कुल 35 टीमों ने हिस्सा लिया।
  • ‘राष्ट्रीय कला उत्सव’ को प्रधानमंत्री के नेतृत्व में शिक्षा मंत्रालय के अधीनस्थ राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् तथा स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग ने 2015 में शुरू किया था।
  • कला उत्सव में देश के सभी स्कूलों के छात्रों को पहले जिला स्तर पर, फिर राज्य स्तर पर और अंत में राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न वर्गों में प्रतिस्पर्धा के लिये आमंत्रित किया जाता है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

भारतीय ध्वज संहिता 2002 का अनुपालन सुनिश्चित करने हेतु एडवाइजरी जारी


गृह मंत्रालय ने 18 जनवरी, 2022 को राज्य और केंद्र-शासित प्रदेशों के प्रशासन से ‘भारतीय ध्वज संहिता 2002’ और राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम, 1971’ के प्रावधानों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने हेतु एडवाइजरी जारी की।

महत्वपूर्ण तथ्य: प्राय: राष्ट्रीय ध्वज को प्रदर्शित करने के कानूनों और प्रक्रियाओं के बारे में लोगों और संगठनों में जागरूकता की कमी देखी गई है। इसी को ध्यान में रखते हुए एडवाइजरी जारी की गई।

  • राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों को महत्वपूर्ण राष्ट्रीय, सांस्कृतिक और खेल आयोजनों के अवसर पर जनता द्वारा केवल कागज के ध्वज का उपयोग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है।
  • इसने यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि कार्यक्रम/आयोजन के बाद कागज के ध्वज न फाड़े जाएं और न ही जमीन पर फेंके जाएं और ध्वज की गरिमा के अनुसार निपटान किया जाना चाहिए।

भारतीय ध्वज संहिता 2002: 2002 का ध्वज संहिता तीन भागों में विभाजित है- तिरंगे का एक सामान्य विवरण; सार्वजनिक और निजी संगठनों और शैक्षणिक संस्थानों द्वारा ध्वज के प्रदर्शन पर नियम; और सरकार तथा सरकारी निकायों द्वारा ध्वज के प्रदर्शन के नियम।

  • 'प्रतीक और नाम (अनुचित उपयोग की रोकथाम) अधिनियम, 1950' और 'राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम, 1971 में निर्धारित सीमा के अलावा सार्वजनिक और निजी निकायों और शैक्षणिक संस्थानों द्वारा ध्वज के प्रदर्शन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।
  • तिरंगे का उपयोग व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए नहीं किया जा सकता है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

कुष्ठ प्रभावित व्यक्तियों हेतु राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की एडवाइजरी


राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने 18 जनवरी, 2022 को कुष्ठ रोग से प्रभावित व्यक्तियों के कल्याण के लिए केंद्र, राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों को एक विस्तृत एडवाइजरी जारी की है।

महत्वपूर्ण तथ्य: एडवाइजरी में, NHRC ने 90 से अधिक कानूनों में भेदभावपूर्ण प्रावधानों को समयबद्ध तरीके से हटाने का आह्वान किया है।

NHRC की सिफारिशें: राज्य सरकार को शीघ्र रिपोर्टिंग और चिकित्सा सहायता सुनिश्चित करने के लिए एक हेल्पलाइन स्थापित करनी चाहिए और कुष्ठ प्रभावित व्यक्तियों के लिए मोबाइल आधारित टेली-परामर्श सेवाएं प्रदान करना चाहिए।

  • केंद्र और राज्य सरकारों को जागरूकता पैदा करनी चाहिए कि कुष्ठ रोग पूरी तरह से इलाज योग्य है।
  • यह जागरूकता फैलानी चाहिए कि कुष्ठ रोग से पीड़ित व्यक्ति एमडीटी की पहली खुराक प्राप्त करने के बाद संक्रामक नहीं रहता है और सामान्य विवाहित जीवन व्यतीत कर सकता है, बच्चे पैदा कर सकता है, सामाजिक कार्यक्रमों में भाग ले सकता है और सामान्य रूप से काम कर सकता है, स्कूल और कॉलेज जा सकता है।
  • युवाओं को संवेदनशील बनाने के लिए इसे ‘स्कूली पाठ्यक्रम’ में शामिल किया जाना चाहिए।
  • NHRC ने कुष्ठ रोग से प्रभावित व्यक्तियों और उनके परिवार के सदस्यों को व्यावसायिक प्रशिक्षण, बेरोजगारी भत्ता, मातृत्व-पितृत्व अवकाश, स्वास्थ्य बीमा और अंतिम संस्कार लाभ प्रदान करने के लिए विशेष कार्यक्रम शुरू करने का भी आह्वान किया है।
  • कुष्ठ से प्रभावित व्यक्तियों को प्राथमिकता के आधार पर बीपीएल कार्ड, आधार कार्ड, जॉब कार्ड और अन्य पहचान प्रमाण प्रदान किए जाएं।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

गणतंत्र दिवस पर नए कार्यक्रम


रक्षा मंत्रालय द्वारा आजादी के 75वें वर्ष समारोह के उपलक्ष्य में इस वर्ष गणतंत्र दिवस समारोह के लिए 'नए' ड्रोन शो और कई अन्य नए कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

(Image Source: https://twitter.com/livefist)

महत्वपूर्ण तथ्य: इस वर्ष 'बीटिंग रिट्रीट' समारोह के दौरान नॉर्थ और साउथ ब्लॉक की दीवारों पर एक लेजर प्रोजेक्शन और 1,000 ड्रोन का एक शो होगा।

  • देश के भीतर एक नई 'ड्रोन शो' की अवधारणा, डिजाइन, निर्माण और कोरियोग्राफ किया गया है। यह 'मेक इन इंडिया' पहल भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली और विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा समर्थित स्टार्टअप 'बोटलैब डायनेमिक्स' द्वारा आयोजित की जाएगी।
  • 10 मिनट की अवधि के इस शो में स्वदेशी तकनीक के माध्यम से तैयार किए गए 1,000 ड्रोन शामिल होंगे।

अन्य कार्यक्रम: राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम 'शहीदों को शत शत नमन' के तहत देश भर में एनसीसी कैडेटों द्वारा लगभग 5,000 शहीदों के परिजनों को 'कृतज्ञता पट्टिका' भेंट की जाएगी।

  • इसी तरह, रक्षा मंत्रालय द्वारा संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से एक कार्यक्रम 'कला कुंभ' का आयोजन किया जाएगा।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

प्रसिद्ध कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन


कई बंगाली कॉमिक किरदारों के सृजक प्रसिद्ध कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ (Narayan Debnath) का लंबी बीमारी के बाद 18 जनवरी, 2022 को निधन हो गया। वे 97 वर्ष के थे।

(Image Source: https://twitter.com/mygovindia)

  • वे बंगाली कॉमिक किरदारों 'बंतुल द ग्रेट', 'हांडा भोंडा' और 'नोंते फोंते' के सृजक थे।
  • उनके पास हांडा भोंडा कॉमिक्स सीरीज के लिए एक व्यक्तिगत कलाकार द्वारा सबसे लंबे समय तक चलने वाली कॉमिक्स का रिकॉर्ड है, जिसने लगातार 53 साल पूरे किए थे।
  • देबनाथ को वर्ष 2021 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।
  • देबनाथ को 2013 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था और पश्चिम बंगाल सरकार ने उन्हें उसी वर्ष 'बंग विभूषण' से सम्मानित किया था। 2015 में रवीन्द्र भारती विश्वविद्यालय ने उन्हें मानद डी. लिट की उपाधि प्रदान की थी।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप समझौते/संधि

व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण को उच्च शिक्षा से जोड़ना


व्यावसायिक और तकनीकी प्रशिक्षण ढांचे को और मजबूत करने के लिए, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने 18 जनवरी, 2022 को इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU) के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए।

साझेदारी का उद्देश्य: व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण को उच्च शिक्षा के साथ जोड़ना है, जिससे भारत के युवाओं को बेहतर काम के अवसरों तक पहुंचने के लिए अवसर सृजित करके रोजगार योग्य बनाया जा सके।

  • राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थान (NSTI), औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (ITI), प्रधानमंत्री कौशल केंद्र (PMKK) और जन शिक्षण संस्थान (JSS) से जुड़े प्रशिक्षु इस कार्यक्रम से लाभान्वित होंगे।

संक्षिप्त खबरें संस्थान-संगठन

पूर्वोत्तर बेंत और बांस विकास परिषद


पूर्वोत्तर बेंत और बांस विकास परिषद (North East Cane and Bamboo Development Council: NECBDC) ने "बांस के अंकुर का प्रसंस्करण एवं संरक्षण" पर एक प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रायोजित किया, जो NECBDC के पैनल में शामिल क्लस्टर मेसर्स डेलिसीज फूड प्रोसेसिंग सेंटर, मेघालय द्वारा 13 से 17 दिसंबर, 2021 तक आयोजित किया गया।

  • NECBDC पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय के अंतर्गत पूर्वोत्तर परिषद के तहत कार्य करता है।
  • NECBDC को पूर्व में बेंत और बांस विकास परिषद (Cane and Bamboo Development Council: CBDC) के रूप में जाना जाता था।
  • NECBDC को पूर्वोत्तर भारत के अब तक अप्रयुक्त बांस क्षेत्र को व्यवस्थित करने के उद्देश्य से स्थापित किया गया था।
  • NECBDC बिरनिहाट, असम में स्थित है।

राज्य समाचार आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश सरकार ने लगाया 100 साल पुराने 'चिंतामणि पद्य नाटकम' पर प्रतिबंध


17 जनवरी, 2022 को आंध्र प्रदेश सरकार ने लगभग 100 वर्षों से लोगों को मंत्रमुग्ध करने वाले लोकप्रिय 'चिंतामणि पद्य नाटकम' (Chintamani Padya Natakam) पर प्रतिबंध लगा दिया है।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

  • नाटक के मंचन पर प्रतिबंध लगाने का सरकार का निर्णय एक विशेष समुदाय के सदस्यों द्वारा प्रसिद्ध तेलुगु नाटक में कुछ संवादों और एक पात्र के चित्रण पर आपत्ति जताए जाने के बाद लिया गया।
  • 1920 में नाटककार कल्लाकुरी नारायण राव द्वारा लिखित इस प्रसिद्ध तेलुगु नाटक के कलाकारों ने 2021 में अपना शताब्दी समारोह मनाया था।
  • इस नाटक में, लेखक ने इस बात पर प्रकाश डाला है कि कैसे लोग कुछ सामाजिक बुराइयों का शिकार होकर अपने परिवारों की उपेक्षा करते हैं।
  • सुब्बिसेटी (Subbisetty), चिंतामणि, बिल्वमंगलुडु (Bilvamangaludu), भवानी शंकरम और श्रीहरि इस नाटक के कुछ पात्र हैं।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

विराट कोहली ने भारतीय क्रिकेट टीम के टेस्ट कप्तान का पद छोड़ा


विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 1-2 से टेस्ट सीरीज हारने के एक दिन बाद 15 जनवरी, 2022 को भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ दी है।

(Image Source: https://www.bcci.tv/)

  • विराट कोहली को 2014 में टेस्ट कप्तान नियुक्त किया गया था, जब महेंद्र सिंह धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के बीच में कप्तानी छोड़ दी थी।
  • 33 वर्षीय विराट ने हाल ही में टी-20 कप्तानी छोड़ दी थी और बाद में बीसीसीआई ने उन्हें एकदिवसीय कप्तानी से हटा दिया था। भारत की सीमित ओवरों के मैच की कप्तानी रोहित शर्मा के पास है।
  • वे स्टीव वॉ (57 मैचों में 41 जीत) और रिकी पोंटिंग (77 खेलों में 48) के बाद टेस्ट जीत प्रतिशत के मामले में टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में तीसरे सबसे सफल कप्तान हैं।
  • कोहली ने 68 टेस्ट में भारत का नेतृत्व किया, जिसमें उन्होंने 40 मैचों में जीत हासिल की हैं।
  • स्टीव वॉ का टेस्ट जीत प्रतिशत 71.92% है, जबकि रिकी पोंटिंग का जीत प्रतिशत 62.33% तथा विराट कोहली का जीत प्रतिशत 58.82% है।

खेल समाचार बैडमिंटन

योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन बैडमिंटन 2022


16 जनवरी, 2022 को नई दिल्ली में पुरुष एकल में लक्ष्य सेन और पुरुष युगल में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने ‘योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन बैडमिंटन 2022’ का खिताब जीत लिया है।

(Image Source: https://bwfworldtour.bwfbadminton.com/)

  • योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन 2022 केडी जाधव इंडोर हॉल, नई दिल्ली में 11 से 16 जनवरी, 2022 तक खेला गया।
  • बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता लक्ष्य ने फाइनल में मौजूदा विश्व चैम्पियन सिंगापुर के 'लोह कीन यू' (Loh Kean Yew) को 24-22, 21-17 से हराया।
  • सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की भारत की शीर्ष पुरुष युगल जोड़ी ने फाइनल में मोहम्मद अहसान और हेंड्रा सेतियावान की शीर्ष वरीयता प्राप्त इंडोनेशियाई जोड़ी को 43 मिनट में 21-16, 26-24 से हराया।
  • अन्य परिणाम-
  • महिला एकल: विजेता- बुसानन ओंगबामरुंगफान (थाईलैंड); उपविजेता- सुपनिदा कटेथोंग (थाईलैंड)।
  • महिला युगल: विजेता- बेन्यापा एम्सार्ड और नुंतकर्ण एम्सार्ड (दोनों थाईलैंड); उपविजेता- अनास्तासिया अक्चुरिना और ओल्गा मोरोजोवा (दोनों रूस)।
  • मिश्रित युगल: विजेता- ही योंग काई टेरी और टैन वेई हान (दोनों सिंगापुर); उपविजेता- चेन टैंग जी और पेक येन वेई (दोनों मलेशिया)।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

एनएलसी इंडिया लिमिटेड की नई पुनर्वास और पुनर्व्यवस्थापन नीति


केंद्रीय कोयला, खान और संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने 17 जनवरी, 2022 को एनएलसी इंडिया लिमिटेड (NLCIL) की ‘नई पुनर्वास और पुनर्व्यवस्थापन नीति’ (New Rehabilitation & Resettlement Policy) का शुभारंभ किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: नई पुनर्वास और पुनर्व्यवस्थापन नीति 'NLCIL खान क्षेत्र' के भूमि मालिकों के लिए लागू की गई है।

  • एनएलसी इंडिया लिमिटेड, कोयला मंत्रालय के तहत एक नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है।
  • NLCIL और तमिलनाडु सरकार प्रभावित लोगों के लिए उपलब्ध कई विकल्पों के साथ एक बहुत ही लचीली पुनर्वास नीति तैयार कर रही है।
  • नई नीति में परियोजना प्रभावित परिवारों को अधिक सुविधाएं देने का प्रावधान है।
  • NLCIL ने स्किल इंडिया मिशन के तहत युवाओं को कौशल विकास प्रदान करने के लिए तमिलनाडु सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

NLCIL: NLCIL ने 1956 में तमिलनाडु में लिग्नाइट खनन और लिग्नाइट आधारित बिजली उत्पादन में अपना परिचालन शुरू किया।

  • छ: दशकों से अधिक की अवधि में, कंपनी कोयला आधारित बिजली उत्पादन, अक्षय ऊर्जा मुख्य रूप से सौर और कोयला खनन में विविधता लाई है।
  • इस प्रक्रिया में, कंपनी ने 50.60 मिलियन टन प्रति वर्ष खनन और 6,061 मेगावाट बिजली उत्पादन क्षमता के साथ पूरे भारत में उपस्थिति दर्ज कराई है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

रविदासिया समुदाय


चुनाव आयोग ने गुरु रविदास जयंती समारोह के मद्देनजर राजनीतिक दलों के अनुरोध पर पंजाब विधानसभा चुनाव 14 फरवरी के बजाय 20 फरवरी को कराने का फैसला किया है। यह राज्य में रविदासिया समुदाय (Ravidassia community) के महत्व को रेखांकित करता है।

(Image Source: https://newsonair.gov.in/)

  • गुरु रविदास जयंती के अवसर पर राज्य के रविदासिया समुदाय के लोग बड़ी संख्या में डेरा सचखंड बल्लां, जालंधर द्वारा संचालित विशेष ट्रेन से वाराणसी की यात्रा करते हैं।

रविदासिया कौन हैं? रविदासिया दलित समुदाय है, जिनमें से अधिकांश, लगभग 12 लाख दोआब क्षेत्र में रहते हैं।

  • डेरा सचखंड बल्लां, दुनिया भर में 20 लाख अनुयायियों के साथ उनका सबसे बड़ा डेरा है, जिसे बाबा संत पीपल दास द्वारा 20वीं शताब्दी की शुरुआत में स्थापित किया गया था।
  • एक बार सिख धर्म से निकटता से जुड़े होने के बाद, डेरा ने 2010 में इन दशकों पुराने संबंधों को तोड़ दिया और घोषणा की कि वे रविदासिया धर्म का पालन करेंगे। डेरा ने वाराणसी में गुरु रविदास जयंती पर यह घोषणा की।
  • वाराणसी में जन्में गुरु रविदास 15वीं और 16वीं शताब्दी में भक्ति आंदोलन के एक सूफी कवि संत थे और उन्होंने 'रविदासिया धर्म' की स्थापना की।
2010 से, डेरा सचखंड बल्लां ने रविदासिया मंदिरों और गुरुद्वारों में गुरु ग्रंथ साहिब को अपने स्वयं के ग्रंथ 'अमृतवाणी' (Amritbani) से बदलना शुरू कर दिया था।

सामयिक खबरें पर्यावरण

भारत की सबसे बुजुर्ग स्लॉथ बीयर 'गुलाबो' की मृत्यु


'गुलाबो' नाम की भारत की सबसे बुजुर्ग मादा स्लॉथ बीयर (sloth bear) की 9-10 जनवरी, 2022 की रात भोपाल के ‘वन विहार राष्ट्रीय उद्यान और चिड़ियाघर’ में मौत हो गई। गुलाबो की उम्र 40 वर्ष थी।


(Image Source: https:// twitter.com/van_vihar)

महत्वपूर्ण तथ्य: गुलाबो को मई 2006 में 25 साल की उम्र में एक मदारी (नुक्कड़ कलाकार) से बचाया गया था।

स्लॉथ बीयर: इसे वैज्ञानिक रूप से ‘मेलर्सस उर्सिनस’ (Melursus ursinus) के रूप में जाना जाता है।

  • यह भारतीय उपमहाद्वीप का मूल निवासी है और भारत, नेपाल, भूटान और श्रीलंका में पाया जाताहै।
  • इसका प्रमुख आहार फल, चींटियां और दीमक है।
  • ये शुष्क उष्णकटिबंधीय जंगलों, सवाना, झाड़ी और घास के मैदानों सहित भारतीय मुख्य भूमि पर पर्यावास की एक विस्तृत शृंखला में पाये जाते हैं।
  • IUCN द्वारा इसे 'अतिसंवेदंशील (Vulnerable) प्रजाति के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।
  • यह CITES के परिशिष्ट I में सूचीबद्ध है और भारतीय वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 की अनुसूची I के तहत पूरी तरह से संरक्षित हैं।

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान: यह भोपाल की प्रसिद्ध ‘ऊपरी झील’ के पास स्थित है, जिसे 'बड़ा तालाब' के रूप में भी जाना जाता है, जो एक रामसर स्थल है और भोज आर्द्रभूमि की दो झीलों में से एक है। यहाँ ‘स्लॉथ बीयर बचाव और प्रजनन केंद्र’ भी है।

  • वन विहार को 1983 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया। यह राष्ट्रीय उद्यान, एक चिड़ियाघर, जंगली जानवरों के लिए बचाव केंद्र और चयनित महत्वपूर्ण प्रजातियों के लिए संरक्षण प्रजनन केंद्र का अनूठा संयोजन है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

2021 के दौरान भारत की जलवायु पर वक्तव्य


भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने 14 जनवरी, 2022 को '2021 के दौरान भारत की जलवायु पर वक्तव्य' (Statement on Climate of India during 2021) जारी किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: वर्ष 2021 भारत में 1901 के बाद से पांचवां सबसे गर्म वर्ष रहा, जिसमें देश का वार्षिक औसत वायु तापमान सामान्य से 0.44 डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया।

  • वर्ष 2021 के दौरान बाढ़, चक्रवाती तूफान, भारी बारिश, भूस्खलन, बिजली गिरने जैसी चरम मौसमी घटनाओं के कारण देश में 1,750 लोगों की मौत हुई।
  • 1901 में राष्ट्रव्यापी रिकॉर्ड रखने की शुरुआत के बाद से वर्ष 2021 पांचवां सबसे गर्म वर्ष रहा। सर्दियों और मानसून के बाद के मौसम में गर्म तापमान (warm temperature) ने मुख्य रूप से इसमें योगदान किया है।
  • 2016 में, देश में वार्षिक औसत वायु तापमान सामान्य से 0.71 डिग्री सेल्सियस अधिक था, जो 1901 के बाद से सबसे गर्म वर्ष रहा है।
  • इसके बाद क्रमश: सबसे गर्म वर्ष 2009 (+0.55 डिग्री सेल्सियस), 2017 (+0.541 डिग्री सेल्सियस), 2010 (+0.539 डिग्री सेल्सियस) और 2021 (+0.44 डिग्री सेल्सियस) रहे।
  • गरज और बिजली की घटनाओं से 2021 में भारत में 787 लोगों की मौत हुई, जबकि भारी बारिश और बाढ़ से संबंधित घटनाओं में 759 लोगों की मौत हुई है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

सामाजिक कार्यकर्ता शांति देवी का निधन


प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता और गांधीवादी शांति देवी का 16 जनवरी, 2022 को रायगडा जिले के गुनुपुर स्थित उनके सेवा समाज आश्रम में निधन हो गया। वे 87 वर्ष की थी।

(Image Source: https://padmaawards.gov.in/)

  • ओडिशा में, शांति देवी ने सेवा समाज आश्रम की स्थापना की थी, जहाँ से उन्होंने आदिवासी लड़कियों के भविष्य को संवारने हेतु शिक्षा प्रदान करने का अपना आंदोलन चलाया था।
  • वे एक पुराने जीवाणु संक्रमण 'याज' (Yaws) के उन्मूलन के लिए भी जानी जाती हैं।
  • 2021 में, उन्हें माओवादी प्रभावित रायगडा क्षेत्र में उनके सामाजिक कार्यों के लिए पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • प्रतिष्ठित पद्म श्री के अलावा, शांति को 1991 में 'बाल कल्याण के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार' और 1994 में महिलाओं और बच्चों के विकास और कल्याण के लिए 'जमनालाल बजाज पुरस्कार' से सम्मानित किया गया था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

प्रख्यात रॉकेट वैज्ञानिक एस सोमनाथ इसरो के चेयरमैन नियुक्त


प्रख्यात रॉकेट वैज्ञानिक एस सोमनाथ को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। उन्होंने 14 जनवरी, 2022 को अपना पदभार ग्रहण किया।

(Image Source: https://twitter.com/ISpA_India)

  • उन्हें अंतरिक्ष विभाग के सचिव और अंतरिक्ष आयोग के चेयरमैन के रूप में जिम्मेदारी सौंपी गई है। उनका तीन साल का कार्यकाल होगा।
  • वे विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) के निदेशक के रूप में कार्यरत थे। उन्होंने जनवरी 2018 में वीएसएससी के निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया था।
  • सोमनाथ ने टीकेएम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, कोल्लम से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बैंगलोर से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में मास्टर्स किया है।
  • वे 1985 में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र से जुड़े। उन्होंने PSLV और जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल एमके-III (GSLV Mk-III) के विकास में एक प्रमुख भूमिका निभाई है।
  • वे 2003 में GSLV Mk-III परियोजना में शामिल हुए, और 2010 से 2014 तक परियोजना निदेशक के रूप में कार्य किया।
  • बाद में, उन्होंने तरल प्रणाली प्रणोदन केंद्र, वालियामाला के निदेशक के रूप में ढाई साल तक कार्य किया, जहां उन्होंने जीएसएलवी के लिए स्वदेशी क्रायोजेनिक चरणों के विकास में योगदान दिया।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

तीसरा राष्ट्रीय जल पुरस्कार-2020


केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने 7 जनवरी, 2022 को 'तीसरे राष्ट्रीय जल पुरस्कार-2020' (3rd National Water Awards-2020) की घोषणा की।

(Image Source: https://secure.mygov.in/)

  • सर्वश्रेष्ठ राज्य श्रेणी में, उत्तर प्रदेश को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है, इसके बाद राजस्थान और तमिलनाडु का स्थान है।
  • मंत्रालय द्वारा 2018 में राष्ट्रीय जल पुरस्कारों की शुरुआत की गई थी। इस वर्ष, 11 विभिन्न श्रेणियों में कुल 57 पुरस्कारों की घोषणा की गई।
  • भारत की वर्तमान पानी की आवश्यकता प्रति वर्ष लगभग 1,100 बिलियन क्यूबिक मीटर होने का अनुमान है, जिसके वर्ष 2050 तक 1,447 बिलियन क्यूबिक मीटर तक बढ़ जाने का अनुमान है।

अन्य प्रमुख विजेताओं की सूची

  • सर्वश्रेष्ठ जिला - उत्तर क्षेत्र: मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश)
  • सर्वश्रेष्ठ जिला - दक्षिण क्षेत्र: तिरुवनंतपुरम (केरल)
  • सर्वश्रेष्ठ जिला - पूर्वी क्षेत्र: पूर्वी चंपारण (बिहार)
  • सर्वश्रेष्ठ जिला - पश्चिम क्षेत्र: इंदौर (मध्य प्रदेश)
  • सर्वश्रेष्ठ जिला - पूर्वोत्तर क्षेत्र: गोलपारा (असम)
  • सर्वश्रेष्ठ ग्राम पंचायत - उत्तर क्षेत्र: धसपड़ (जिला अल्मोड़ा, उत्तराखंड)
  • सर्वश्रेष्ठ ग्राम पंचायत - दक्षिण क्षेत्र: येलेरामपुरा पंचायत (जिला टुमकुरू, कर्नाटक)
  • सर्वश्रेष्ठ ग्राम पंचायत - पूर्वी क्षेत्र: तेलारी पंचायत (जिला गया, बिहार)
  • सर्वश्रेष्ठ ग्राम पंचायत - पश्चिम क्षेत्र: तख्तगढ़ (जिला साबरकांठा, गुजरात)
  • सर्वश्रेष्ठ ग्राम पंचायत - पूर्वोत्तर क्षेत्र: सियालसिर (जिला सिरचिप, मिजोरम)
  • सर्वश्रेष्ठ शहरी स्थानीय निकाय: वापी शहरी स्थानीय निकाय (गुजरात)
  • सर्वश्रेष्ठ मीडिया (प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक): मिशन पानी (नेटवर्क 18)
  • सर्वश्रेष्ठ स्कूल: राजकीय कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय, कावेरीपट्टिनम (तमिलनाडु)
  • परिसर उपयोग के लिए सर्वश्रेष्ठ संस्थान/आरडब्ल्यूए/धार्मिक संगठन: माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (जम्मू)
  • सर्वश्रेष्ठ उद्योग: वेलस्पन इंडिया टेक्सटाइल लिमिटेड (गुजरात)
  • सर्वश्रेष्ठ एनजीओ: कोस्टल सैलिनिटी प्रिवेंशन सेल‚ अहमदाबाद
  • सर्वश्रेष्ठ जल उपयोगकर्ता संघ: पंचगछिया एमडीटीडब्ल्यू डब्ल्यूयूए, हुगली (पश्चिम बंगाल)
  • कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व गतिविधियों के लिए सर्वश्रेष्ठ उद्योग: आईटीसी लिमिटेड, कोलकाता (पश्चिम बंगाल)

संक्षिप्त खबरें इन्हें भी जानें

गणतंत्र दिवस की झांकी


स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान पर आधारित 'पश्चिम बंगाल की झांकी' को दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड 2022 से बाहर करने के केंद्र सरकार के फैसले पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हैरानी जताई है। इस वर्ष प्रतिभागियों को दी गई थीम 'भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष' है।

  • गणतंत्र दिवस परेड और समारोहों के लिए जिम्मेदार रक्षा मंत्रालय हर साल सितंबर के आसपास, सभी राज्यों, केंद्र-शासित प्रदेशों, केंद्र सरकार के विभागों और कुछ संवैधानिक संस्थाओं को झांकी के माध्यम से परेड में भाग लेने के लिए आमंत्रित करता है।
  • दो अलग-अलग राज्यों/केंद्र-शासित प्रदेशों की झांकियां एक जैसी नहीं हो सकतीं, क्योंकि झांकियां मिलकर देश की विविधता को प्रदर्शित करती हैं।
  • राज्य/केंद्र-शासित प्रदेश/विभाग का नाम झांकी में आगे की तरफ हिंदी, पीछे अंग्रेजी और किनारों पर एक क्षेत्रीय भाषा में लिखा जाना चाहिए। झांकी में किसी लोगो (logos) का कोई लेखन या उपयोग नहीं किया जा सकता है।
  • रक्षा मंत्रालय कला, संस्कृति, चित्रकला, मूर्तिकला, संगीत, वास्तुकला, नृत्यकला आदि जैसे क्षेत्रों के विशिष्ट व्यक्तियों की एक विशेषज्ञ समिति का गठन करता है, जो प्रस्तावित झांकी को शॉर्टलिस्ट करने में मदद करती है।

राज्य समाचार मणिपुर

18वां कचाई लेमन फेस्टिवल


दो दिवसीय ‘18वां कचाई लेमन फेस्टिवल’ (18th Kachai Lemon Festival) 13-14 जनवरी, 2022 को मणिपुर में उखरूल जिले के कचाई गांव के स्थानीय मैदान में आयोजित किया गया।

(Image Source: https://newsonair.gov.in/)

  • मणिपुर के कचाई नींबू को भौगोलिक संकेतक (जीआई) पंजीकरण टैग प्रदान किया गया है, जिसे उखरूल जिले के कचाई गांव में काफी मात्रा में उगाया जाता है।
  • दुनिया के अन्य हिस्सों में उगाई जाने वाली अन्य नींबू किस्मों के विपरीत, कचाई नींबू को अनोखा माना जाता है क्योंकि यह एस्कॉर्बिक एसिड का एक समृद्ध स्रोत है और यह प्रचुर मात्रा में रस के लिए भी प्रसिद्ध है।
  • इस अनोखे प्रकार के नींबू को बढ़ावा देने और नींबू किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए हर साल कचाई लेमन फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है।
  • इस वर्ष महोत्सव का आयोजन 'सुरक्षित पर्यावरण और ग्रामीण परिवर्तन के लिए जैविक कचाई नींबू' (Organic Kachai Lemon for Safe Environment and Rural Transformation) विषय (theme) के तहत किया गया।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिंग अवसंरचना हेतु संशोधित दिशा-निर्देश


केंद्रीय विद्युत मंत्रालय ने 14 जनवरी, 2021 को इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) के लिए चार्जिंग अवसंरचना हेतु संशोधित दिशा-निर्देश जारी किए।

(Image Source: PIB)

उद्देश्य: सुरक्षित, विश्वसनीय और किफायती बुनियादी ढांचे को सुनिश्चित करके भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से अपनाने में सक्षम बनाना।

महत्वपूर्ण तथ्य: दिशा-निर्देश किसी व्यक्ति या इकाई को लाइसेंस की आवश्यकता के बिना चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने की अनुमति देते हैं बशर्ते वे तकनीकी, सुरक्षा और निष्पादन मानकों को पूरा करते हों।

  • इलेक्ट्रिक वाहन मालिक अपने मौजूदा बिजली कनेक्शन का उपयोग करके अपने निवास/कार्यालयों में अपने वाहनों को चार्ज कर सकते हैं।
  • चार्जिंग स्टेशन को आर्थिक रूप से व्यवहार्य बनाने में भूमि उपयोग के लिए एक राजस्व साझेदारी मॉडल लागू किया गया है।
  • राज्य सरकारें सेवा शुल्क की सीमा तय करेंगी।
  • ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों का एक राष्ट्रीय ऑनलाइन डेटाबेस तैयार करके उसका रखरखाव करेगा।
  • बीईई दस लाख से अधिक आबादी वाले नौ प्रमुख शहरों- मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरू, हैदराबाद, अहमदाबाद, चेन्नई, कोलकाता, सूरत और पुणे के लिए सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों की स्थापना के लिए कार्य योजना तैयार करने की प्रक्रिया में है।
  • प्रारंभिक अनुमानों के अनुसार वर्ष 2030 तक इन शहरों में सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों की स्थापना के लिए चलते आ रहे (business as usual) परिदृश्य में 3,263 चार्जर, मध्यम परिदृश्य में 23,524 चार्जर और सघन परिदृश्य के तहत 46,397 चार्जर लक्षित किए जा रहे हैं।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

बकरी के सिर वाली योगिनी मूर्ति


संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने 15 जनवरी, 2022 को घोषणा की है कि उत्तर प्रदेश के बांदा के लोखरी गांव में एक मंदिर से अवैध रूप से हटाई गई 10वीं शताब्दी की ‘बकरी के सिर वाली योगिनी की पत्थर की मूर्ति’ (Stone idol of Goat Head Yogini) भारत को वापस की जा रही है।

(Image Source: PIB)

महत्वपूर्ण तथ्य: इससे पहले लंदन में भारतीय उच्चायोग ने 1980 के दशक के आसपास लोखरी में एक मंदिर से अवैध रूप से हटाई गई इस मूर्ति की बरामदगी और उसके स्वदेश भेजे जाने की घोषणा की।

  • एक बकरी के सिर वाली योगिनी की यह मूर्ति मूल रूप से बलुआ पत्थर में ‘पत्थर के देवताओं’ (stone deities) के एक समूह से संबंधित है।
  • यह पता चला है कि 1988 में लंदन के कला बाजार में कुछ समय के लिए यह मूर्तिकला सामने आई थी।
  • भारतीय उच्चायोग को यह मूर्ति लंदन के पास एक निजी आवास के बगीचे में मिली, जो लोखरी संग्रह के विवरण से मेल खाती थी।
  • 2013 में भारतीय दूतावास, पेरिस ने ‘भैंस के सिर वाली वृषणा योगिनी’ की एक ऐसी ही मूर्ति को बरामद किया था, जो निश्चित तौर पर लोखरी गांव के उसी मंदिर से चुराई गई थी।
  • योगिनियां ‘तांत्रिक पूजा पद्धति’ से जुड़ी शक्तिशाली ‘महिला देवताओं का एक समूह’ हैं। उन्हें एक समूह के रूप में पूजा जाता है, जिसमें अक्सर 64 होती हैं और माना जाता है कि उनके पास अनंत शक्तियां होती हैं।

सामयिक खबरें आर्थिकी

राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस


देश में स्टार्टअप इकोसिस्टम को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 जनवरी, 2022 को 150 से अधिक स्टार्टअप्स के साथ बातचीत के दौरान 16 जनवरी को 'राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस' के रूप में मनाए जाने की घोषणा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: प्रधानमंत्री ने भारत में स्टार्टअप्स के महत्व पर भी प्रकाश डाला और कहा कि जब हम आजादी के 100 साल पूरे करेंगे, तो स्टार्टअप भविष्य को आकार देने में प्रमुख भूमिका निभाएंगे। उन्होंने स्टार्टअप्स को 'नए भारत की रीढ़' कहा।

  • उन्होंने कहा कि यह दशक भारत में प्रौद्योगिकी का दशक होगा, जिसे 'टेकेड' (techade) कहा जाएगा, जहां नवाचार, उद्यमिता और एक स्वस्थ स्टार्टअप इकोसिस्टम सरकारी प्रक्रियाओं और नौकरशाही के बंधनों से नवाचार को मुक्त करने में मदद करेगा।
  • भारत की स्टार्ट-अप पहल की 6वीं वर्षगांठ का यह कार्यक्रम स्वास्थ्य, कृषि, अंतरिक्ष, उद्योग 4.0, विज्ञान और अन्य सहित विभिन्न क्षेत्रों में स्टार्ट-अप को प्रदर्शित करता है।
  • 150 से अधिक स्टार्टअप को छ: कार्य समूहों में विभाजित किया गया था। छ: समूहों के तहत वर्गीकृत स्टार्टअप ने प्रधानमंत्री को छ: विषयों ‘ग्रोइंग फ्रॉम रूट्स’ (Growing from Roots); ‘नजिंग द डीएनए’ (Nudging the DNA); ‘फ्रॉम लोकल टू ग्लोबल’ (From Local to Global); ‘टेक्नोलॉजी ऑफ फ्यूचर’ (Technology of Future); ‘बिल्डिंग चैंपियंस इन मैन्युफैक्चरिंग’ (Building Champions in Manufacturing); और ‘सस्टेनेबल डेवलपमेंट’ (Sustainable Development) में प्रस्तुतियां दीं।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

फिलीपींस ने दी ब्रह्मोस मिसाइल के समझौते को मंजूरी


ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल प्रणाली के लिए पहले निर्यात आदेश में, फिलीपींस ने 14 जनवरी, 2022 को भारत से मिसाइल के तट-आधारित जहाज-रोधी संस्करण की खरीद के लिए 374.96 मिलियन डॉलर के अनुबंध को मंजूरी दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: फिलीपींस के राष्ट्रीय रक्षा सचिव, डेल्फिन लोरेंजाना ने खरीद के लिए 'नोटिस अधिनिर्णय' (Notice of award) पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसके लिए अनुबंध पर बहुत जल्द हस्ताक्षर होने की संभावना है।

  • भारत सरकार के साथ समझौते में, इसमें तीन बैटरियों की डिलीवरी, ऑपरेटरों और अनुरक्षकों (maintainers) के लिए प्रशिक्षण के साथ-साथ आवश्यक 'एकीकृत लॉजिस्टिक समर्थन' पैकेज शामिल हैं।
  • ब्रह्मोस की परिकल्पना 2017 की शुरुआत में की गई थी, और फिलीपींस के राष्ट्रपति कार्यालय ने 2020 में 'हॉरिजन 2 प्रायरिटी प्रोजेक्ट्स' (Horizon 2 Priority Projects) में इसके समावेश को मंजूरी दी थी।
  • 'फिलीपीन मरीन की तटीय रक्षा रेजिमेंट' फिलीपींस के सशस्त्र बलों की इस 'आधुनिक सामरिक रक्षा क्षमता' का प्राथमिक नियोक्ता होगा।
  • फिलीपींस कई देशों से ब्रह्मोस मिसाइलों की खरीद करने का इच्छुक है, इंडोनेशिया और थाईलैंड के साथ बातचीत उन्नत चरणों में है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

अरोमा मिशन


16 जनवरी, 2022 को पहले राष्ट्रीय स्टार्ट-अप दिवस के अवसर पर, केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि 'बैंगनी क्रांति' (जम्मू और कश्मीर) का 'स्टार्ट-अप इंडिया' (Start-ups India) में योगदान है। स्टार्ट-अप इंडिया पहल को 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया था।

(Image Source: https://twitter.com/csir_ind)

महत्वपूर्ण तथ्य: वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के माध्यम से केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा शुरू किए गए अरोमा मिशन ने भारत में प्रसिद्ध 'बैंगनी क्रांति' (Purple Revolution) को जन्म दिया है।

  • सीएसआईआर ने अपनी जम्मू स्थित प्रयोगशाला ‘इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटीग्रेटिव मेडिसिन’ (Indian Institute of Integrative Medicines: IIIM) के माध्यम से डोडा, किश्तवाड़, राजौरी और बाद में रामबन, पुलवामा सहित अन्य जिलों में खेती के लिए उच्च मूल्य वाले आवश्यक तेल वाले लैवेंडर फसल की शुरुआत की थी।
  • IIIM के अलावा, सीएसआईआर- हिमालय जैवसंपदा प्रौद्योगिकी संस्थान (CSIR-IHBT), सीएसआईआर-केंद्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (CSIR-CIMAP), सीएसआईआर-राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान (CSIR-NBRI) और सीएसआईआर-पूर्वोत्तर विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान (CSIR-NEIST) भी अब अरोमा मिशन में हिस्सा ले रहे हैं।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित व्यक्ति

तिरुवल्लुवर जयंती


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 जनवरी, 2022 को ‘तिरुवल्लुवर दिवस’ के अवसर पर तिरुवल्लुवर को श्रद्धांजलि दी।

(Image Source: https://twitter.com/VPSecretariat)

  • तमिल कवि और दार्शनिक तिरुवल्लुवर की जयंती के उपलक्ष्य में 'तिरुवल्लुवर दिवस' मनाया जाता है।
  • तिरुवल्लुवर तमिल संस्कृति में एक सम्मानित व्यक्ति हैं।
  • तिरुवल्लुवर अपने काम 'तिरुक्कुरल' (Tirukkural) के लिए सबसे ज्यादा जाने जाते हैं , जो राजनीति, प्रेम, नैतिकता और अर्थशास्त्र से संबंधित विषयों पर दोहों का संग्रह है।
  • तमिल साहित्य में तिरुक्कुरल को एक बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रंथ माना जाता है।
  • तमिल संत-कवि ने किसी भी पद्य में न तो अपने धर्म और जाति का उल्लेख किया और न ही अपने जन्म स्थान और भाषा का और न ही उन्होंने किसी विशेष धर्म या अनुष्ठान/संस्कार के बारे में अपने विचारों को उजागर किया है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

अलका मित्तल बनी ओएनजीसी की अंतरिम प्रमुख


अलका मित्तल को तेल और प्राकृतिक गैस निगम (ONGC) का अंतरिम अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया है।

(Image Source: https://www.indianchemicalnews.com/)

  • उनकी नियुक्ति 1 जनवरी, 2022 से छ: महीने की अवधि के लिए या पद पर एक नियमित पदधारी की नियुक्ति तक, या अगले आदेश तक, जो भी पहले हो, तक होगी।
  • वह देश की सबसे बड़ी तेल और गैस उत्पादक ओएनजीसी की प्रमुख बनने वाली पहली महिला हैं।
  • मित्तल किसी तेल और गैस अन्वेषण और उत्पादन कंपनी की अध्यक्षता करने वाली पहली महिला हैं।
  • उनसे पहले निशि वासुदेव एक तेल कंपनी की प्रमुख नियुक्त होने वाली पहली महिला थीं, जब उन्होंने 2014 में तेल शोधन और ईंधन विपणन कंपनी हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) की बागडोर संभाली थी।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

नारी शक्ति पुरस्कार-2021


जनवरी 2022 में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने नारी शक्ति पुरस्कार-2021 के लिए नामांकन आमंत्रित किए हैं।

  • महिला और बाल विकास मंत्रालय हर साल व्यक्तियों/संस्थानों को महिला सशक्तीकरण, विशेष रूप से कमजोर और हाशिए पर रहने वाली महिलाओं के लिए उनकी सेवा के सम्मान में नारी शक्ति पुरस्कार प्रदान करता है।
  • प्रत्येक विजेता को पुरस्कार में रूप में प्रमाणपत्र और दो लाख रुपये की नकद राशि दी जाती है।
  • सभी व्यक्ति और संस्थान इस पुरस्कार में हिस्सा ले सकते हैं। पुरस्कारों की अधिकतम संख्या (व्यक्तिगत और संस्थागत सहित) 15 हो सकती है।
  • नारी शक्ति पुरस्कार-2021 महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर यानी 8 मार्च, 2022 को प्रदान किया जाएगा।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

74वां सेना दिवस (15 जनवरी)


2022 का विषय: 'भविष्य के साथ प्रगति में' (In Stride with the Future)

  • महत्वपूर्ण तथ्य: हर साल, 15 जनवरी को सेना दिवस फील्ड मार्शल के.एम. करियप्पा के भारतीय सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ का पदभार ग्रहण करने की याद में मनाया जाता है। उन्हें भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर के स्थान पर 15 जनवरी, 1949 को कमांडर इन चीफ बनाया गया था।
  • फील्ड मार्शल के.एम. करियप्पा स्वतंत्र भारत के पहले भारतीय कमांडर-इन-चीफ नियुक्त हुए थे।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

भारत-दक्षिण कोरिया व्यापार संबंध


वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने 11 जनवरी, 2022 को दक्षिण कोरिया के व्यापार मंत्री येओ हान-कू के साथ नई दिल्ली में व्यापार और निवेश पर चर्चा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: भारत और दक्षिण कोरिया 2009 में हस्ताक्षरित अपने द्विपक्षीय व्यापार समझौते को अपग्रेड करने पर चर्चा में तेजी लाने के लिए तैयार हैं।

  • दक्षिण कोरिया के साथ भारत का व्यापार घाटा काफी अधिक है और इसका लक्ष्य भारतीय निर्यातकों द्वारा सामना की जाने वाली बाजार पहुंच और गैर-टैरिफ बाधाओं के मुद्दों को दूर करना है।
  • दोनों मंत्रियों ने व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौता (CEPA) अपग्रेड वार्ता पर चर्चा को गति प्रदान करने और दोनों देशों के उद्योग जगत की हस्तियों के बीच व्यापार और निवेश पर व्यापक बिजनेस-टू-बिजनेस वार्ता को बढ़ावा देने पर सहमति व्यक्त की।
  • भारत और दक्षिण कोरिया का उद्देश्य 2030 से पहले 50 बिलियन डॉलर के व्यापार लक्ष्य को प्राप्त करना है, जिस पर 2018 में शिखर बैठक में सहमति हुई थी।
  • वित्त वर्ष 2021 में 12.77 बिलियन डॉलर के आयात के मुकाबले भारत का दक्षिण कोरिया के साथ कुल निर्यात लगभग 4.68 बिलियन डॉलर था।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

कला कुंभ


राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, नई दिल्ली ने 'कला कुंभ' (Kala Kumbh) के साथ आजादी का अमृत महोत्सव मनाया।

(Image Source: PIB)

महत्वपूर्ण तथ्य: कला कुंभ भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के गुमनाम नायकों की वीरता की कहानियों का चित्रण करते हुए लगभग 750 मीटर की स्क्रॉल (नामावली) पेंटिंग के लिए कलाकार कार्यशालाएं (artist workshops) हैं।

  • संस्कृति मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय के बीच अद्वितीय सहयोग से विशाल नामावली पर किए गए कला के कार्य गणतंत्र दिवस समारोह 2022 का एक अभिन्न अंग होंगे।
  • ये स्क्रॉल कला के पारंपरिक रूपों के साथ-साथ समकालीन अभिव्यक्तियों को दर्शाते हैं, जो भारत की समृद्ध सांस्कृतिक और कलात्मक विरासत का सार प्रदर्शित करते हैं।
  • स्क्रॉल पर दो स्थानों, ओडिशा और चंडीगढ़ में फैले पांच सौ से अधिक कलाकारों द्वारा परिश्रमपूर्वक शोध किया गया है और उत्साहपूर्वक चित्रित किया गया है।
  • इसका उद्देश्य लोगों को भारत की समृद्ध राष्ट्रीय धरोहर और विरासत के बारे में सही अर्थों में प्रेरित करना है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

इंडिया एडटेक कंसोर्टियम


इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (IAMAI) ने 12 जनवरी, 2022 को ‘इंडिया एडटेक कंसोर्टियम’ (India EdTech Consortium: IEC) के गठन की घोषणा की।

(Image Source: https://economictimes.indiatimes.com/)

  • महत्वपूर्ण तथ्य: कंसोर्टियम में प्रमुख एडटेक कंपनियां जैसे- बायजूज, सिंपललर्न, अनएकेडमी, अपग्रेड, वेदांतु और अन्य शामिल हैं।
  • सरकार की हालिया एडवाइजरी के अनुरूप, IEC यह सुनिश्चित करेगा कि प्रत्येक शिक्षार्थी को गुणवत्तापूर्ण और सस्ती शिक्षा प्राप्त हो, जो न केवल उनके शैक्षणिक प्रदर्शन में सुधार करे बल्कि उन्हें भविष्य के लिए भी तैयार करे।
  • उपभोक्ता हित को कंसोर्टियम के केंद्र में रखते हुये, एडटेक कंपनियों ने एक सामान्य 'आचार संहिता' का अनुपालन करने के लिए प्रतिबद्ध की है तथा इसे सुनिश्चित करने के लिए दो स्तरीय शिकायत निवारण तंत्र स्थापित किया जाएगा।
  • इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (IAMAI) सोसायटी अधिनियम, 1896 के तहत पंजीकृत गैर-लाभकारी उद्योग निकाय है। इसका उद्देश्य ऑनलाइन और मोबाइल मूल्य वर्धित सेवा क्षेत्रों का विस्तार और सुधार करना है। इसकी स्थापना 2004 में हुई थी।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

बारिसिटिनिब और सोट्रोविमैब


विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने 14 जनवरी, 2022 को कोविड-19 के उपचार के लिए दो दवाओं, 'बारिसिटिनिब' (Baricitinib) और ‘सोट्रोविमैब’ (Sotrovimab) की सिफारिश की है।

बारिसिटिनिब: बारिसिटिनिब, जिसका उपयोग संधिशोथ यानी गठिया के इलाज के लिए भी किया जाता है, को कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के संयोजन में गंभीर या अत्यंत गंभीर कोविड -19 वाले रोगियों के लिए अनुशंसित किया गया है।

  • यह 'जेनस काइनेस (Janus kinase: JAK) अवरोधक' नामक दवाओं के एक वर्ग का हिस्सा है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली की अतिउत्तेजना को कम करते हैं।
  • बारिसिटिनिब एक मुंह से ली जाने वाली दवा (oral drug) है, और जुलाई 2021 में डब्ल्यूएचओ द्वारा कोविड के लिए अनुशंसित अन्य गठिया दवा 'इंटरल्यूकिन-6 रिसेप्टर ब्लॉकर्स' (Interleukin-6 receptor blockers) का विकल्प प्रदान करती है।

सोट्रोविमैब: सोट्रोविमैब, ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन द्वारा यूएस पार्टनर 'वीर बायोटेक्नोलॉजी इंक' के साथ विकसित की गई है, जो कोरोनवायरस के कारण होने वाली स्थितियों के उपचार में उपयोग के लिए एक मोनोक्लोनल एंटीबॉडी है।

  • डब्ल्यूएचओ ने सशर्त रूप से अस्पताल में भर्ती होने के उच्च जोखिम वाले रोगियों में हल्के या मध्यम कोविड -19 के उपचार के लिए इसके उपयोग की सिफारिश की है।
  • इनमें वे रोगी शामिल हैं, जो अधिक उम्र के हैं, जिनमें प्रतिरक्षा में कमी है, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और मोटापा के शिकार हैं, और जिनका टीकाकरण नहीं हुआ है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

मानव में पहली बार सुअर के हृदय का प्रत्यारोपण


10 जनवरी, 2022 को, यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड स्कूल ऑफ मेडिसिन ने घोषणा की कि उसने आनुवंशिक रूप से संशोधित सुअर के दिल को हृदय अतालता (अनियमित दिल की धड़कन) (Arrhythmia) वाले रोगी में सफलतापूर्वक प्रत्यारोपित किया है। इस सर्जरी के तीन दिन बाद रोगी की स्थिति में सुधार हो रहा है।

(Image Source: https://thehindu.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड मेडिकल सेंटर के डॉक्टरों का कहना है कि प्रत्यारोपण से पता चला है कि आनुवंशिक रूप से संशोधित जानवर का दिल तत्काल अस्वीकृति के बिना मानव शरीर में कार्य कर सकता है।

  • जेनोट्रांसप्लांटेशन (Xenotransplantation) या विषमजात प्रत्यारोपण, जीवित कोशिकाओं, ऊतकों या अंगों का एक प्रजाति से दूसरी प्रजाति में प्रत्यारोपण है।
  • जेनोट्रांसप्लांटेशन, पहली बार 1980 के दशक में मनुष्यों में किया गया था। अमेरिकी बेबी फे (Baby Fae) के प्रसिद्ध मामले के बाद इस प्रयोग को छोड़ दिया गया था। 1984 में बेबी फे जन्मजात हृदय दोष के साथ पैदा हुआ था, जो 21 दिन तक बबून के दिल के साथ जीवित रहा।
  • इस बार अंतर यह है कि मैरीलैंड के सर्जनों ने एक सुअर के दिल का इस्तेमाल किया, जिसकी कोशिकाओं से तेजी से अंग अस्वीकृति के लिए जिम्मेदार शुगर को हटाने के लिए जीन में बदलाव (gene-editing) किया गया है।
  • हालांकि यह जल्द पता चल जाएगा कि ऑपरेशन वास्तव में काम करेगा या नहीं, लेकिन जेनोट्रांसप्लांटेशन, अगर दीर्घकालिक रूप से सफल पाया जाता है, तो जीवन के लिए खतरनाक बीमारियों वाले लोगों में अंगों की वैकल्पिक आपूर्ति प्रदान करने में मदद मिल सकती है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

डॉप्लर मौसम रडार


भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के 147वें स्थापना दिवस कार्यक्रम पर अवसर 14 जनवरी, 2022 को केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने बेहतर अनुसंधान और परिचालन विश्लेषण के लिए लेह, मुंबई, दिल्ली और चेन्नई में चार 'डॉप्लर मौसम रडार' (Doppler weather radars) राष्ट्र को समर्पित किए।

(Image Source: http://kashmirinfocus.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: IMD ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के साथ साझेदारी में इन रडार को डिजाइन किया है तथा स्वदेशी रूप से निर्माण किया है।

  • लेह में एक एक्स-बैंड रडार, जो देश में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित है, को शुरू किया गया।
  • दिल्ली को अपना तीसरा डॉप्लर रडार ‘आया नगर’ में एक्स-बैंड रडार के रूप में मिला है। वर्तमान में पालम और मौसम भवन में भी रडार काम कर रहे हैं।
  • मुंबई को अपना दूसरा रडार, वेरावल्ली में एक सी-बैंड रडार के रूप मे मिला, जो शहर के चारों ओर 450 किलोमीटर के दायरे को कवर करता है।
  • चेन्नई के चारों ओर 150 किलोमीटर के दायरे को कवर करने वाला एक्स-बैंड रडार शुरू किया गया है। यह दक्षिणी शहर चेन्नई के लिए तीसरा रडार है।

डॉप्लर रडार: यह पूर्वानुमानकर्ताओं को रियलटाइम में वर्षा, बादलों की प्रगति, गरज और आकाशीय बिजली का अवलोकन करने में मदद करता है। भारी वर्षा जैसी चरम मौसमीय घटनाओं के दौरान रडार संचालन विशेष रूप से महत्वपूर्ण होते हैं और इनके डेटा का उपयोग स्थानीय स्तर पर अचानक बाढ़ की भविष्यवाणी करने में भी किया जाता है।

अन्य तथ्य: नवीनतम चार 'डॉप्लर मौसम रडार' के साथ, IMD के पास अब देश में 33 रडार हैं। पिछले साल जनवरी में हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में दो डॉप्लर रडार लगाए गए थे।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2021- 22


शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष सरकार ने 12 जनवरी, 2022 को 'स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2021- 22' का शुभारंभ किया।

(Image Source: https:// twitter.com/EduMinOfIndia)

  • स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार उन विद्यालयों को मान्यता, प्रेरणा और पुरस्कार प्रदान करता है, जिन्होंने जल, स्वच्छता और स्वास्थ्यकारिता (hygiene) के क्षेत्र में अनुकरणीय कार्य किया हो।
  • 'स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग' ने स्वच्छता के बारे में आत्म-प्रेरणा और जागरूकता पैदा करने के लिए स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार को पहली बार 2016-17 में शुरू किया था।
  • स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2021-22 में ग्रामीण और शहरी, दोनों क्षेत्रों में सभी श्रेणियों के विद्यालय यानी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त और निजी विद्यालय हिस्सा ले सकते हैं।
  • मानदंड: विद्यालयों का मूल्यांकन 6 उप-श्रेणियों में एक ऑनलाइन पोर्टल और मोबाइल ऐप के माध्यम से किया जाएगा। इन उप-श्रेणियों में जल, स्वच्छता, साबुन से हाथ धोना, संचालन और रखरखाव, व्यवहार परिवर्तन और क्षमता निर्माण तथा एक नई शामिल गई श्रेणी कोविड-19 की तैयारी व प्रतिक्रिया शामिल है।
  • पुरस्कार: अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त फाइव स्टार रेटिंग प्रणाली के आधार पर जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर विद्यालयों को सम्मानित किया जाएगा।
  • राष्ट्रीय स्तर पर इस वर्ष समग्र श्रेणी के तहत पुरस्कारों के लिए 40 स्कूलों का चयन किया जाएगा। समग्र शिक्षा योजना के तहत विद्यालयों के लिए पुरस्कार की राशि को 50,000 रुपये से बढ़ाकर 60,000 रुपये प्रति विद्यालय कर दिया गया है।
  • पहली बार 6 उप-श्रेणी वार पुरस्कार शुरू किए गए हैं, जिसमें पुरस्कार राशि 20,000 रुपये प्रति विद्यालय है।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

एलआईसी ने किया 'डिजी जोन' का उद्घाटन


भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने 29 दिसंबर, 2021 को अपने डिजिटल पहुँच को बढ़ाने के अपने प्रयास के तहत 'डिजी जोन' (Digi Zone) परिसर का उद्घाटन किया है।

  • एलआईसी 'डिजी जोन' परिसर में स्थापित कियोस्क के माध्यम से अपने उत्पादों और सेवाओं के संबंध में जानकारी प्रदान करेगा।
  • ग्राहक डिजी जोन में ऑनलाइन पॉलिसी खरीद सकते हैं, प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं और अन्य सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।
  • एम आर कुमार एलआईसी के चेयरमैन हैं।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

सशस्त्र बल भूतपूर्व सैनिक दिवस (14 जनवरी)


महत्वपूर्ण तथ्य: हमारे भूतपूर्व सैनिकों द्वारा प्रदान की गई सेवाओं के सम्मान और मान्यता के प्रतीक के रूप में प्रत्येक वर्ष 14 जनवरी को ‘सशस्त्र बल भूतपूर्व सैनिक दिवस’ (Armed Forces Veterans’ Day) मनाया जाता है। पहली बार यह दिवस 2017 में मनाया गया।

  • भारतीय सेना के पहले भारतीय कमांडर-इन-चीफ फील्ड मार्शल के एम करियप्पा, द्वारा प्रदान की गई सेवाओं के सम्मान और मान्यता के प्रतीक के रूप में इस दिवस को मनाने का निर्णय लिया गया है, जो 14 जनवरी, 1953 को सेवानिवृत्त हुए थे।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

24वां राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन


प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग (DARPG) और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY), भारत सरकार ने तेलंगाना राज्य सरकार के सहयोग से 7 - 8 जनवरी, 2022 को हैदराबाद, तेलंगाना में ‘24वें राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन’ का आयोजन किया।

(Image Source: https:// twitter.com/DDNewsHindi)

सम्मेलन का विषय: 'भारत का टेकेड: महामारी के बाद की दुनिया में डिजिटल गवर्नेंस’ (India’s Techade: Digital Governance in a Post Pandemic World) है।

  • सम्मेलन ने गहन विचार-विमर्श के बाद सर्वसम्मति से हैदराबाद घोषणा को स्वीकार किया।

हैदराबाद घोषणा: सम्मेलन ने संकल्प लिया कि भारत सरकार और राज्य सरकारें इन क्षेत्रों में सहयोग करेंगी-

  1. डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से नागरिकों और सरकार को करीब लाने में।
  2. आधार, यूपीआई, डिजिलॉकर, उमंग, ई साइन और सहमति रूपरेखा (consent framework) आदि का लाभ उठाकर प्रौद्योगिकी के उपयोग के माध्यम से नागरिक सेवाओं को बदलने में।
  3. प्रमुख सामाजिक क्षेत्रों में राष्ट्रीय स्तर के सार्वजनिक डिजिटल प्लेटफार्मों के कार्यान्वयन को फास्ट ट्रैक करने में जैसे कि स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि आदि से जुड़ी सेवाओं के लिए।

सामयिक खबरें आर्थिकी

भारत- यूनाइटेड किंगडम मुक्त व्यापार समझौते के लिए वार्ता शुरू


केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और यूनाइटेड किंगडम की अंतरराष्ट्रीय व्यापार मंत्री ऐनी मैरी ट्रेवेलेयन ने 13 जनवरी, 2021 को एक महत्वाकांक्षी, व्यापक मुक्त व्यापार समझौते (Free Trade Agreement: FTA) के लिए औपचारिक रूप से बातचीत शुरू की।

महत्वपूर्ण तथ्य: चमड़े, वस्त्र, आभूषण, प्रसंस्कृत कृषि उत्पादों में निर्यात वृद्धि के साथ इस बहुआयामी आर्थिक साझेदारी से भारत को लाभ होगा। साथ ही भारत की 56 समुद्री इकाइयों की मान्यता से समुद्री उत्पादों के निर्यात में भी भारत को भारी उछाल मिलने की उम्मीद है।

  • भारत और यूनाइटेड किंगडम के बीच 50 अरब डॉलर का द्विपक्षीय व्यापार 2030 तक दोगुना होकर 100 अरब डॉलर होने की उम्मीद है।
  • एक व्यापक समझौते के लिए बातचीत जारी रखते हुये दोनों पक्ष एक 'अंतरिम समझौते' के विकल्प पर विचार करेंगे।
  • भारत द्वारा संयुक्त अरब अमीरात, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और इजराइल के साथ भी इस तरह के मुक्त व्यापार समझौते पर चर्चा चल रही है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

इंदु मल्होत्रा समिति


पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 12 जनवरी, 2022 को एक पांच सदस्यीय समिति का गठन किया है। इस समिति की अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट की पूर्व न्यायाधीश इंदु मल्होत्रा करेंगी।

(Image Source: https://newsonair.gov.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: समिति में राष्ट्रीय जांच एजेंसी के महानिदेशक या उनके द्वारा नामित व्यक्ति, जो महानिरीक्षक के पद से नीचे के रैंक के न हो; केंद्र-शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशक; पंजाब के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सुरक्षा); और पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार-जनरल शामिल हैं।

समिति की संदर्भ शर्तें: सुरक्षा चूक के कारणों का पता लगाना; इसके लिए कौन व्यक्ति और किस हद तक जिम्मेदार है, इसका पता लगाना; प्रधानमंत्री और अन्य सुरक्षा प्राप्त लोगों की सुरक्षा में सुधार के लिए उपाय; और संवैधानिक पदाधिकारियों की सुरक्षा के लिए कोई अन्य सिफारिशें।

अन्य तथ्य: शीर्ष अदालत ने यह आदेश एनजीओ, ‘लॉयर्स वॉयस’ द्वारा दायर एक याचिका पर सुनवाई के बाद पारित किया है, जिसमें प्रधानमंत्री के कथित सुरक्षा उल्लंघन में उचित निर्देश या आदेश की मांग की गई है।

  • ज्ञात हो कि गृह मंत्रालय ने भी प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक की जांच के लिए कैबिनेट सचिवालय के सचिव (सुरक्षा) सुधीर कुमार सक्सेना के नेतृत्व में तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

भारत वन स्थिति रिपोर्ट-2021


13 जनवरी, 2022 को केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय द्वारा जारी द्विवार्षिक ‘भारत वन स्थिति रिपोर्ट-2021’ (India State of Forest Report-2021) के अनुसार, 2019 में अंतिम आकलन के बाद से देश में वन और वृक्षों के आवरण में 2,261 वर्ग किलोमीटर की बढ़ोतरी हुई है।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: देश का कुल वन आवरण (forest cover) और वृक्ष आवरण (tree cover) 80.9 मिलियन हेक्टेयर है, जो देश के भौगोलिक क्षेत्र का 24.62% है।
  • 2021 में भारत का कुल वन आवरण (total forest cover) 713,789 वर्ग किमी है, जो कि देश के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 21.71% है।
  • 2019 में पिछली रिपोर्ट के बाद से वन आवरण में 1,540 वर्ग किमी और वृक्षों के आवरण में 721 वर्ग किमी की वृद्धि हुई है।
  • वन आवरण में सबसे ज्यादा वृद्धि 'खुले वनों' (open forest) में देखी गई है, उसके बाद यह बहुत घने वनों (very dense forest) में देखी गई है।
  • वन क्षेत्र में वृद्धि दिखाने वाले शीर्ष तीन राज्य आंध्र प्रदेश (647 वर्ग किमी), तेलंगाना (632 वर्ग किमी) और ओडिशा (537 वर्ग किमी) हैं।
  • 17 राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों का 33% से अधिक क्षेत्र वन आच्छादित है। इनमें से पांच राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों लक्षद्वीप, मिजोरम, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश और मेघालय में 75% से अधिक वन क्षेत्र हैं।
  • क्षेत्रफल के हिसाब से, मध्य प्रदेश में देश का सबसे बड़ा वन क्षेत्र है। इसके बाद अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा और महाराष्ट्र हैं।
  • अपने कुल भौगोलिक क्षेत्र के प्रतिशत के रूप में वन आवरण के मामले में शीर्ष पांच राज्य मिजोरम (84.53%), अरुणाचल प्रदेश (79.33%), मेघालय (76%), मणिपुर (74.34%) और नागालैंड (73.90%) हैं।
  • देश में कुल मैंग्रोव क्षेत्र 17 वर्ग किमी बढ़कर 4,992 वर्ग किमी हो गया है।
  • देश के वनों में कुल कार्बन स्टॉक 7,204 मिलियन टन होने का अनुमान है, जिसमें 2019 से 79.4 मिलियन टन की वृद्धि हुई है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

आर्कटिक में बिजली गिरने की घटनाएं


तापमान में अभूतपूर्व वृद्धि के कारण आर्कटिक में आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं में काफी बढ़ोतरी देखी जा रही है।

महत्वपूर्ण तथ्य: फिनलैंड की पर्यावरण फर्म 'वैसाला' (Vaisala) के वैज्ञानिकों ने पाया कि 2021 में, ग्रह के उच्चतम अक्षांशों पर (उत्तरी ध्रुव में) पिछले वर्ष की तुलना में 91% अधिक आकाशीय बिजली गिरने की घटनाएं हुई हैं।

  • उत्तरी ध्रुव में 2021 में 7,278 बिजली गिरने की घटनाएं हुई, जो की पिछले नौ वर्षों में हुई कुल घटनाओं का लगभग दोगुना है।
  • आर्कटिक में आकाशीय बिजली ऐतिहासिक रूप से एक दुर्लभ घटना रही है, क्योंकि उन्हें ठंडी हवा, गर्म हवा और संवहनी अस्थिरता (convective instability) के मिश्रण की आवश्यकता होती है।
  • वैज्ञानिकों ने पाया कि 2010 और 2020 के बीच बिजली गिरने की संख्या में वृद्धि वैश्विक तापमान विसंगतियों (global temperature anomalies) से संबंधित प्रतीत होती है।
  • नेशनल ओशनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन (NOAA) की 2021 आर्कटिक रिपोर्ट के अनुसार 'अक्टूबर-दिसंबर 2020' वर्ष1900 के बाद से दर्ज की गई सबसे गर्म आर्कटिक शरद ऋतु थी।

सामयिक खबरें पर्यावरण

रेड सैंडर्स फिर से आईयूसीएन की 'संकटग्रस्त' श्रेणी में


रेड सैंडर्स या रेड सैंडलवुड (Red Sanders) को इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) की रेड लिस्ट में फिर से 'संकटग्रस्त' (Endangered) श्रेणी के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: रेड सैंडर्स या लाल चन्दन की इस प्रजाति का वैज्ञानिक नाम 'टेरोकार्पस सैंटालिनस' (Pterocarpus santalinus) है। यह एक भारतीय स्थानिक वृक्ष प्रजाति है, जिसकी पूर्वी घाट में एक सीमित भौगोलिक सीमा है।

  • यह प्रजाति आंध्र प्रदेश के विशिष्ट वन क्षेत्रों के लिये स्थानिक है। यह आंध्र प्रदेश के चित्तूर, कडपा, नंध्याल, नेल्लोर, प्रकाशम जिलों में पाई जाती है।
  • इसे वर्ष 2018 में 'संकटासन्न' (near threatened) के रूप में वर्गीकृत किया गया था। नवीनतम आईयूसीएन आकलन के अनुसार पिछली तीन पीढ़ियों में, प्रजातियों ने 50-80 प्रतिशत की आबादी में गिरावट का अनुभव किया है। इसलिए फिर से इसे 'संकटग्रस्त' (Endangered) श्रेणी में शामिल किया गया है।
  • यह मध्य दक्कन के कांटेदार झाड़ी/सूखे पर्णपाती वनों में, विशेषकर चट्टानी, पहाड़ी क्षेत्रों में उगता है।
  • रेड सैंडर्स अपने समृद्ध रंग और चिकित्सीय गुणों के लिए जाना जाता है। पूरे एशिया में, विशेष रूप से चीन और जापान में, सौंदर्य प्रसाधन और औषधीय उत्पादों के साथ-साथ फर्नीचर, लकड़ी के शिल्प और संगीत वाद्ययंत्र बनाने के लिए इसकी अत्यधिक मांग है।
  • रेड सैंडर्स CITES के परिशिष्ट II के तहत सूचीबद्ध है और अंतरराष्ट्रीय व्यापार के लिए प्रतिबंधित है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

मलयालम कवि एस. रामेसन का निधन


प्रसिद्ध मलयालम कवि और वक्ता तथा केरल के सामाजिक-राजनीतिक क्षेत्र में एक प्रमुख व्यक्तित्व और प्रगतिशील आंदोलन के प्रचारक एस रामेसन का 13 जनवरी, 2022 को एर्नाकुलम में निधन हो गया। वे 69 वर्ष के थे।

(Image Source: https://www.manoramaonline.com/)

  • 1952 में वैकोम में जन्मे रामेसन ने कम उम्र में ही कविता लिखना शुरू कर दिया था।
  • 'शिधिला चित्रंगल', 'माला कायरुन्नवर', 'कलुशिता कलाम' और 'करुथा कुरिपुकल' उनकी कुछ कृतियाँ हैं।
  • एस. रामेसन ने चेरुकाड पुरस्कार, आसन पुरस्कार और राज्य साहित्य अकादमी पुरस्कार जीता था।
  • वे 2007 तक राज्य सरकार में सेवारत थे।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

फिशरीज स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज


भारत सरकार के मत्स्य विभाग ने स्टार्टअप इंडिया, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के सहयोग से 13 जनवरी, 2022 को 'फिशरीज स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज' (Fisheries Startup Grand Challenge) का शुभारंभ किया।

(Image Source: https://twitter.com/FisheriesGoI)

  • इस चैलेंज को देश के भीतर स्टार्ट-अप्स को मत्स्यपालन और जलीय जीव पालन (Aquaculture) में अपने अभिनव समाधानों को प्रदर्शित करने के लिए एक मंच प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू किया गया है।
  • फिशरीज स्टार्टअप चैलेंज स्टार्ट-अप इंडिया पोर्टल (www.startupindia.gov.in) पर आवेदन जमा करने के लिए 45 दिनों तक लाइव रहेगा।

संक्षिप्त खबरें बिजनेस और सार्वजनिक उपक्रम

टिकटॉक ने गूगल को पछाड़ा, 2021 में बनी सबसे लोकप्रिय वेबसाइट


दिसंबर 2021 में आईटी सुरक्षा कंपनी क्लाउडफ्लेयर की एक रिपोर्ट के अनुसार, शॉर्ट वीडियो-शेयरिंग प्लेटफॉर्म टिकटॉक ने वर्ष 2021 की सबसे लोकप्रिय वेबसाइट के रूप में प्रौद्योगिकी दिग्गज गूगल को पीछे छोड़ दिया है।

  • वायरल वीडियो ऐप को सर्च इंजन गूगल से ज्यादा हिट मिले हैं।
  • रैंकिंग के अनुसार टिकटॉक ने इस साल फरवरी, मार्च और जून में गूगल पीछे छोड़ते हुये शीर्ष स्थान पर कब्जा किया और अगस्त 2021 से शीर्ष स्थान पर काबिज है।
  • 2020 में, गूगल पहले स्थान पर था; और टिकटॉक, अमेजॉन, ऐप्पल, फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट और नेटफ्लिक्स सहित कई अन्य साइटें शीर्ष 10 में थी।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम


इंडियन ऑयल ने उत्तर प्रदेश के 75 जिलों तथा पंजाब के 23 जिलों में से प्रत्येक में शहर समन्वय समितियों, जिला स्वास्थ्य समितियों, तकनीकी सहायता समूहों, आदि के साथ एकीकृत और प्राथमिकता वाली पहल के माध्यम से एक सक्षम वातावरण प्रदान करके भारत में राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम (National TB elimination Program) का समर्थन करने की प्रतिबद्धता की है।

(Image Source: https://twitter.com/ddgtb2017)

महत्वपूर्ण तथ्य: कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य अगले तीन वर्षों तक हर साल उत्तर प्रदेश और पंजाब की पूरी आबादी की स्क्रीनिंग और परीक्षण करना है।

  • एक बार रोगियों को सूचित करने के बाद, उनका उपचार राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के प्रोटोकॉल के अनुसार जारी रहेगा।
  • भारत में हर साल बड़ी संख्या में टीबी (तपेदिक) के 'गैर-सूचित' मामले होते हैं, जिनका पता नहीं लगाया जाता है या रिपोर्ट नहीं की जाती है।
  • 2018 में, प्रधानमंत्री ने 2030 के सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) के तहत लक्ष्य से पांच साल पहले 2025 तक भारत में टीबी रोग का उन्मूलन करने का आह्वान किया था।
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तत्वावधान में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के सहयोग से, 'टीबी मुक्त भारत' के 'जन आंदोलन' में शामिल हो रहा है।

अन्य तथ्य: उत्तर प्रदेश भारत में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य है (भारत की जनसंख्या का लगभग 20%)। 2020 में, 23.4 करोड़ से अधिक की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में भारत में तपेदिक मामलों का सबसे अधिक योगदान (20% से अधिक) था।

  • पंजाब कई राज्यों से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों को आश्रय देता है और प्रवासियों के बीच टीबी रोगियों की देखभाल सुनिश्चित करना एक चुनौती है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

गोवर्धन में प्रसाद परियोजनाएं


केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी ने 7 जनवरी, 2022 को गोवर्धन (मथुरा), उत्तर प्रदेश में प्रसाद (PRASHAD) परियोजनाओं का वर्चुअल माध्यम से उद्घाटन किया।

(Image Source: https://twitter.com/kishanreddybjp)

महत्वपूर्ण तथ्य: प्रसाद योजना के तहत 'गोवर्धन मथुरा के विकास' परियोजना को पर्यटन मंत्रालय द्वारा 39.73 करोड़ रुपये की लागत से जनवरी 2019 में मंजूरी दी गई थी।

  • इसके तहत 15.82 करोड़ रुपये की लागत से 'मल्टी लेवल कार स्टैंड ब्लॉक, क्लॉक रूम, शौचालय, बाउंड्री वॉल और गोवर्धन बस स्टैंड पर फर्श को विकसित कर सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है।
  • परियोजना के तहत स्वीकृत अन्य घटकों में मानसी गंगा, चंद्र सरोवर, गोवर्धन परिक्रमा का विकास और कुसुम सरोवर का विकास भी शामिल हैं।

प्रसाद योजना: 'तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक विरासत संवर्धन अभियान पर राष्ट्रीय मिशन (प्रसाद)' (National Mission on Pilgrimage Rejuvenation and Spiritual Heritage Augmentation Drive: PRASHAD) केंद्र सरकार द्वारा वित्तीय रूप से पोषित एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है।

  • पर्यटन मंत्रालय द्वारा प्रधानमंत्री के नेतृत्व में वर्ष 2014-15 में यह योजना शुरू की गई, जिसका उद्देश्य रोजगार सृजन और आर्थिक विकास पर प्रत्यक्ष और बहुस्तरीय प्रभाव के लिए तीर्थ और विरासत पर्यटन स्थलों का दोहन करने हेतु बुनियादी ढांचे के विकास पर ध्यान केंद्रित करना है।
  • बुनियादी ढांचे में पर्यटक सुविधा केंद्र, पार्किंग, सार्वजनिक सुविधा, रोशनी और ध्वनि और लाइट शो शामिल हैं।

सामयिक खबरें आर्थिकी

भारतीय मानक ब्यूरो ने पूरे किए 75 साल


भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) ने 6 जनवरी, 2022 को अपने अस्तित्व के 75 गौरवशाली वर्ष पूरे किए।

बीआईएस का कार्य: बीआईएस वस्तुओं के मानकीकरण, अंकन और गुणवत्ता प्रमाणन की गतिविधियों के सामंजस्यपूर्ण विकास के लिए और उससे जुड़े या उसके प्रासंगिक मामलों के लिए भारत का राष्ट्रीय मानक निकाय है।

  • बीआईएस राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को कई तरीकों से लाभ प्रदान कर रहा है - यह सुरक्षित विश्वसनीय गुणवत्ता वाले उत्पाद प्रदान करता है; उपभोक्ताओं के स्वास्थ्य जोखिम को कम करता है; निर्यात एवं आयात विकल्पों को प्रोत्साहित करता है; किस्मों के प्रसार को नियंत्रित करता है ।

बीआईएस का उद्भव: इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया), ने एक ऐसे संस्थान के संविधान का पहला मसौदा तैयार किया, जो राष्ट्रीय मानकों के निर्माण का कार्य कर सकता था।

  • उद्योग और आपूर्ति विभाग द्वारा 3 सितंबर, 1946 को एक ज्ञापन के जरिये औपचारिक रूप से 'भारतीय मानक संस्थान (Indian Standards Institution: ISI) नामक एक संगठन की स्थापना की घोषणा की गई।
  • 6 जनवरी, 1947 को ISI अस्तित्व में आया और जून 1947 में डॉ. लाल सी. वर्मन ने इसके पहले निदेशक के रूप में पदभार संभाला।
  • भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) वर्ष 1986 के संसद के एक अधिनियम के माध्यम से 1 अप्रैल, 1987 को अस्तित्व में आया।

बीआईएस अधिनियम 2016: 22 मार्च, 2016 को एक नया भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) अधिनियम 2016 अधिसूचित किया गया, जो 12 अक्टूबर, 2017 से लागू किया गया है।

  • अधिनियम भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) को 'भारत के राष्ट्रीय मानक निकाय' के रूप में स्थापित करता है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

अत्यधिक ठंड के मौसम की वस्त्र प्रणाली


रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव एवं रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के अध्यक्ष डॉ. जी सतीश रेड्डी ने 27 दिसंबर, 2021 को नई दिल्ली में 5 भारतीय कंपनियों को स्वदेशी ‘अत्यधिक ठंड के मौसम के कपड़ों की प्रणाली’ (Extreme Cold Weather Clothing system: ECWCS) के लिए तकनीक सौंपी।

(Image Source: https://www.timesnownews.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: ग्लेशियर और हिमालय की चोटियों में अपने निरंतर संचालन के लिए भारतीय सेना के जवानों को ज्यादा गर्म कपड़ों की जरूरत होती है।

  • भारतीय सेना सैनिकों के लिए अत्यधिक ठंडे मौसम के कपड़े, कई विशेष वस्त्र और पर्वतारोहण उपकरण वस्तुओं का आयात करती रही है।
  • डीआरडीओ द्वारा डिजाइन की गई ECWCS प्रणाली शारीरिक गतिविधि के विभिन्न स्तरों के दौरान हिमालयी क्षेत्रों में विभिन्न परिवेशी जलवायु परिस्थितियों में बेहतर तापावरोधन (insulation) और शारीरिक सहूलियत के साथ एक सुविधायुक्त रूप से डिजाइन की गई मॉड्यूलर तकनीकी कपड़ा प्रणाली है।
  • तीन स्तरीय इस कपड़ा प्रणाली को +15 डिग्री से -50 डिग्री सेल्सियस के तापमान रेंज पर उपयुक्त रूप से तापावरोधन प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है।
  • इस तकनीक में सांस, गर्मी और पानी की कमी और पसीने को तेजी से सोखने से संबंधित शारीरिक क्रियाओं सहित पर्याप्त सांस लेने की क्षमता और उन्नत इन्सुलेशन के साथ-साथ अधिक ऊंचाई वाले संचालन के लिए वाटर प्रूफ और विंड प्रूफ जैसी विशेषताएँ हैं।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित व्यक्ति

फातिमा शेख की जयंती


गूगल ने 9 जनवरी, 2022 को शिक्षक और समाज सुधारक फातिमा शेख को उनकी 191वीं जयंती पर अपने होमपेज पर डूडल बनाकर सम्मानित किया।

(Image Source: https://www.google.com/doodles/fatima-sheikhs-191s... /)

  • फातिमा शेख का जन्म 9 जनवरी, 1831 को पुणे में हुआ था।
  • आधुनिक भारत की पहली मुस्लिम महिला शिक्षकों में से एक फातिमा ने 1848 में ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले के साथ स्वदेशी पुस्तकालय की सह-स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
  • सावित्रीबाई फुले और फातिमा शेख ने उन वंचित दलित समुदायों और मुस्लिम महिलाओं और बच्चों को शिक्षा दी, जिन्हें वर्ग, धर्म या लिंग के आधार पर शिक्षा से वंचित कर दिया गया था।
  • फातिमा शेख ने फुले के 'सत्यशोधक समाज' में सक्रिय भूमिका निभाई और घर-घर जाकर अपने समुदाय के दलितों को स्वदेशी पुस्तकालय में पढ़ने और भारतीय जाति व्यवस्था की कठोरता से बचने का आह्वान किया।
  • भारत सरकार ने 2014 में उनकी उपलब्धि को उजागर करने के प्रयास किए तथा उर्दू पाठ्यपुस्तकों में उनकी प्रोफाइल को अन्य अग्रणी भारतीय शिक्षकों के साथ चित्रित किया।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

ग्लोबल वीमेन हेल्थटेक पुरस्‍कार 2022


5 जनवरी, 2022 को जैव प्रौद्योगिकी उद्योग अनुसंधान सहायता परिषद (DBT-BIRAC) द्वारा समर्थित दो स्टार्ट-अप को विश्व बैंक समूह और और कंज्यूमर टेक्नोलॉजी एसोसिएशन के 'ग्लोबल वीमेन हेल्थटेक पुरस्कार 2022' (Global Women's Health Tech Awards 2022) से सम्मानित किया गया है।

(Image Source: https://www.ifc.org/)

  • ये स्टार्टअप हैं- निरामई हेल्थ एनालिटिक्स प्राइवेट लिमिटेड (NIRAMAI Health Analytix Pvt. Ltd.) और 'इनएक्सेल टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड' (InnAccel Technologies Pvt. Ltd.)।
  • ये पुरस्कार उभरते हुए बाजारों में महिलाओं के स्वास्थ्य और सुरक्षा को बेहतर बनाने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने वाले नवाचारी स्टार्टअप्स को मान्यता प्रदान करते हैं।
  • निरामई हेल्थ एनालिटिक्स को उसके नवीन सॉफ्टवेयर-आधारित चिकित्सा उपकरण के लिए चुना गया था, जो सभी आयु वर्ग की महिलाओं में सरल और निजी तरीके से प्रारंभिक चरण के स्तन कैंसर का पता लगाता है।
  • इनएक्सेल टेक्नोलॉजीज को ‘फेटल लाइट’ (Fetal Lite) का विजेता घोषित किया गया। यह प्रसव के दौरान या 37 सप्ताह के गर्भ के बाद माताओं के लिए अगली पीढ़ी का, कृत्रिम बुद्धिमता-सक्षम भ्रूण हृदय गति मॉनिटर है, जो 'भ्रूण ईसीजी सिग्नल निष्कर्षण तकनीक' पर आधारित है। फेटल लाइट में अगली पीढ़ी का ईसीजी सिग्नल प्रोसेसिंग है और यह माताओं के लिए आरामदायक और उपयोग में आसान है।
  • अगस्त 2021 में लॉन्च किए गए इस पुरस्कार ने 35 देशों की 70 से अधिक कंपनियों को आकर्षित किया, जिन्होंने तीन श्रेणियों ‘प्रजनन स्वास्थ्य और गर्भावस्था’, ‘सामान्य महिला और किशोर स्वास्थ्य’ तथा ‘महिला सुरक्षा और बचाव’ के तहत अपने अभिनव उत्पादों और सेवाओं को प्रस्तुत किया।

संक्षिप्त खबरें संस्थान-संगठन

केंद्रीय शास्त्रीय तमिल संस्थान


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 जनवरी, 2022 को चेन्नई में स्थित केंद्रीय शास्त्रीय तमिल संस्थान (Central Institute of Classical Tamil: CICT) के नए परिसर का उद्घाटन किया।

  • CICT के नए परिसर की स्थापना भारतीय विरासत की सुरक्षा तथा संरक्षण एवं शास्त्रीय भाषाओं को बढ़ावा देने को लेकर प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप की गई।
  • नया परिसर पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित है, जिसे 24 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है।
  • केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संगठन 'केंद्रीय शास्त्रीय तमिल संस्थान' तमिल भाषा की प्राचीनता और विशिष्टता को स्थापित करने के लिए शोध गतिविधियां करके शास्त्रीय तमिल को बढ़ावा देने में योगदान दे रहा है।
  • यह संस्थान 19 मई, 2008 से चेन्नई में स्थित है। इससे पहले मार्च, 2006 से 18 मई, 2008 तक, संस्थान केंद्रीय भारतीय भाषा संस्थान, मैसूर के परिसर में कार्य कर रहा था और इसे शास्त्रीय तमिल उत्कृष्टता केंद्र कहा जाता था।
  • इस संस्थान का उद्देश्य विभिन्न भारतीय भाषाओं के साथ-साथ 100 विदेशी भाषाओं में शास्त्रीय तमिल भाषा में लिखित एक प्राचीन मुक्तक काव्य रचना 'तिरुक्कुरल' (Thirukkural) का अनुवाद और प्रकाशन करना भी है।

राज्य समाचार तमिलनाडु

तमिलनाडु सरकार ने किए क्षेत्रीय योजनाएं तैयार करने हेतु नियम अधिसूचित


जनवरी 2022 में तमिलनाडु सरकार ने तमिलनाडु टाउन एंड कंट्री प्लानिंग एक्ट, 1971 के तहत क्षेत्रीय योजना (तैयारी, प्रकाशन और स्वीकृति) नियम, 2021 को अधिसूचित किया है।

  • क्षेत्रीय योजना प्राधिकरण (RPA) के गठन के 18 महीने के भीतर क्षेत्रीय योजना क्षेत्र (regional planning area) और इसके विभिन्न हिस्सों के लिए भूमि और भवन-उपयोग का नक्शा तैयार करना चाहिए।
  • भूमि और भवन-उपयोग का नक्शा तैयार होने के दो साल के भीतर, RPA को क्षेत्रीय योजना का मसौदा तैयार करना चाहिए।
  • मसौदा योजना: मसौदा क्षेत्रीय योजना में क्षेत्र का स्थान, इसका ऐतिहासिक विकास, स्थलाकृति, भूविज्ञान और भू-आकृति विज्ञान, जल विज्ञान (सतह जल और भूजल), जलवायु, प्रशासनिक ढांचातथा शहरी और ग्रामीण विकास का कार्यात्मक क्षेत्र और अनुपात होगा।
  • इसमें आवासीय, औद्योगिक, वाणिज्यिक, कृषि और मनोरंजक उद्देश्यों के लिए या वनों के रूप में या खनिज दोहन के लिए भूमि के उपयोग की सीमा और विभिन्न क्षेत्रों के लिए विभिन्न सेक्टर से संभावित भूमि आवश्यकता अनुमान भी होंगे।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक ने लिया टेस्ट क्रिकेट से संन्यास


दक्षिण अफ्रीका के 29 वर्षीय विकेटकीपर-बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक ने 30 दिसंबर, 2021 को तत्काल प्रभाव से टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की।

(Image Source: https://www.skysports.com/)

  • तीनों प्रारूपों में दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी कर चुके डी कॉक सीमित ओवरों के प्रारूप में खेलना जारी रखेंगे। उन्होंने 54 टेस्ट मैचों में, नाबाद 141 के उच्चतम स्कोर के साथ से 3300 रन बनाए हैं।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का प्रदर्शन


केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण ने 7 जनवरी, 2022 को नई दिल्ली में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (PSBs) के प्रदर्शन की समीक्षा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: वित्त मंत्री ने कहा कि खुदरा क्षेत्रों में वृद्धि, समग्र व्यापक आर्थिक संभावनाओं में सुधार और उधारकर्ताओं के वित्तीय स्वास्थ्य में सुधार के कारण ऋण मांग में तेजी आने की उम्मीद है।

  • समीक्षा बैठक के दौरान, बैंकरों ने बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने देश में पुनर्भुगतान प्रवृत्ति में सुधार देखा है।
  • वित्त वर्ष 2020-21 में PSBs ने 31,820 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया, जो पिछले 5 वित्तीय वर्षों में सबसे अधिक है।
  • वित्त वर्ष 2021-22 की पहली छमाही में 31,145 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है, जो पूरे वित्त वर्ष 2020-21 के लाभ के लगभग बराबर है।
  • पिछले 7 वित्तीय वर्षों के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने 5,49,327 करोड़ रुपये की वसूली की है।
  • अक्टूबर 2021 में शुरू किए गए क्रेडिट आउटरीच कार्यक्रम के तहत, PSBs ने कुल 61,268 करोड़ रुपये की ऋण राशि को स्वीकृति दी है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

जेलों में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के लिए अलग आवास व्यवस्था


गृह मंत्रालय ने जनवरी 2022 में सभी राज्यों/केंद्र-शासित प्रदेशों को जेलों में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के लिए अलग आवास/वार्ड व्यवस्था (separate accommodation) सुनिश्चित करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: पुरुष और महिला के अलावा अन्य श्रेणी के रूप में 'ट्रांसजेंडर' को शामिल करने के लिए जेल प्रवेश रजिस्टर को उपयुक्त रूप से संशोधित किया जा सकता है।
  • ‘कारागार प्रबंधन प्रणाली’ में इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड बनाए रखने के लिए इसी तरह का प्रावधान किया जा सकता है।
  • सरकार 2019 में ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) अधिनियम लेकर आई थी, ट्रांसजेंडर व्यक्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और किसी भी प्रकार के शोषण से बचाने के लिए जेलों और सुधारात्मक सुविधाओं के लिए एडवाइजरी जारी की गई।
  • निजता के अधिकार और गरिमा को सुनिश्चित करने हेतु ट्रांसमेन (transmen) और ट्रांस वुमन (transwomen) के लिए अलग-अलग शौचालयों के साथ-साथ शॉवर सुविधा हो।
  • ट्रांसजेंडर कैदियों के लिए एक अलग वार्ड का प्रावधान करते समय, जेल अधिकारियों द्वारा इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि इससे उनका पूर्ण अलगाव न हो।
  • एक ट्रांसजेंडर व्यक्ति का शारीरिक परीक्षण/जांच उनके पसंदीदा लिंग के व्यक्ति द्वारा या एक प्रशिक्षित चिकित्सा पेशेवर या एक पैरामेडिक द्वारा की जा सकती है। साथ ही ट्रांसजेंडर व्यक्ति की सुरक्षा, निजता और गरिमा सुनिश्चित की जानी चाहिये।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

भारत-अमेरिका आंतरिक सुरक्षा वार्ता


भारत और अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच आंतरिक सुरक्षा वार्ता (India-US Homeland Security Dialogue) बैठक 12 जनवरी, 2022 को वर्चुअल माध्यम में आयोजित की गई।

महत्वपूर्ण तथ्य: बैठक की सह-अध्यक्षता भारत के गृह सचिव अजय भल्ला और अमेरिका के रणनीति, नीति और योजना, आंतरिक सुरक्षा विभाग के अवर सचिव, रॉबर्ट सिल्वर ने की।

  • दोनों पक्षों ने वर्तमान में जारी सहयोग की समीक्षा की और आतंकवाद, साइबर सुरक्षा, महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे और वैश्विक आपूर्ति शृंखला, समुद्री सुरक्षा, विमानन सुरक्षा, सीमा शुल्क प्रवर्तन और व्यापार सुरक्षा के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में सहयोग को और मजबूत बनाने एवं नवीन अवसरों की तलाश करने जैसे उपायों पर विचार-विमर्श किया।
  • दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि कानून प्रवर्तन में सहयोग, वैश्विक आपूर्ति शृंखला कायम रखने, विमानन सुरक्षा, खोजी सहयोग, क्षमता निर्माण और प्रशिक्षण पर आंतरिक सुरक्षा वार्ता के तहत मौजूदा उप-समूह आने वाले महीनों में अलग-अलग मिलेंगे ताकि इस दिशा में विचार-विमर्श किया जा सके।
  • दोनों पक्ष इस वर्ष के अंत में मंत्रिस्तरीय आंतरिक सुरक्षा वार्ता आयोजित करने पर भी सहमत हुए।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

आईएनएस खुकरी


स्वदेश निर्मित मिसाइल कार्वेट में से पहले जहाज ‘आईएनएस खुकरी’ (INS Khukri) को 23 दिसंबर, 2021 को 32 साल की शानदार सेवा के बाद सेवामुक्त कर दिया गया। जहाज का विदाई समारोह विशाखापत्तनम में आयोजित किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: कार्वेट को 23 अगस्त, 1989 को मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स द्वारा निर्मित किया गयागया था और इसे पश्चिमी और पूर्वी दोनों बेड़े का हिस्सा होने का गौरव प्राप्त था।

  • अपनी सेवा के दौरान, जहाज की कमान 28 कमांडिंग ऑफिसरों ने संभाली और 6,44,897 समुद्री मील से अधिक की दूरी तय की, जो 30 बार दुनिया का चक्कर लगाने के बराबर या पृथ्वी और चंद्रमा की दूरी का तीन गुना है।
  • ‘आईएनएस खुकरी’ जहाज भारतीय सेना के ‘गोरखा ब्रिगेड’ से संबद्ध था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप

उड़िया अभिनेता मिहिर दास का निधन


अनुभवी उड़िया अभिनेता अभिनेता मिहिर दास का 11 जनवरी, 2022 को कटक के एक अस्पताल में निधन हो गया। वे 63 वर्ष के थे।

(Image Source: https://pragativadi.com/)

  • उन्होंने आर्ट फिल्म 'स्कूल मास्टर' से अपनी शुरुआत की। उनकी पहली कमर्शियल फिल्म 1979 में 'मथुरा बिजय' (Mathura Bijay) थी।
  • बहुमुखी प्रतिभा के धनी मिहिर ने 'लक्ष्मी प्रतिमा' (1998) और 'फेरिया मो सुना भौनी' (2005) में अपने प्रदर्शन के लिए राज्य सरकार का सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार जीता था।
  • दास ने 'म्यू ताते लव करुछी' (Mu Tate Love Karuchhi) (2007) में अपनी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता का पुरस्कार जीता था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

उर्जित पटेल एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक के उपाध्यक्ष नियुक्त


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर डॉ. उर्जित पटेल को जनवरी 2022 को बीजिंग स्थित एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (AIIB) का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

(Image Source: https://economictimes.indiatimes.com/)

  • पटेल को इस बहुपक्षीय विकास बैंक के पांच उपाध्यक्षों में से एक के रूप में तीन साल के कार्यकाल के लिए नियुक्त किया गया है।
  • डॉ. उर्जित पटेल को निवेश संचालन क्षेत्र 1- दक्षिण एशिया, प्रशांत द्वीप समूह और दक्षिण पूर्व एशिया के उपाध्यक्ष के पद पर नियुक्त किया है। वे इस पद पर डॉ. डी.जे. पांडियन का स्थान लेंगे।
  • ज्ञात हो कि पटेल ने दो साल तक कार्य करने के बाद दिसंबर 2018 में आरबीआई गवर्नर के पद से इस्तीफा दे दिया था।
  • एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक को 2015 में बीजिंग में लॉन्च किया गया था। इसने जनवरी 2016 में बीजिंग में परिचालन शुरू किया और तब से दुनिया भर में इसके 105 स्वीकृत सदस्य हो गए हैं।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

यूनियन एमएसएमई फर्स्ट ब्रांच


यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने 23 दिसंबर, 2021 को देश भर में 20 अतिरिक्त स्थानों पर पुन: डिजाइन की गई एमएसएमई शाखाएं - 'यूनियन एमएसएमई फर्स्ट ब्रांच' (Union MSME First Branch) खोली।

  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक यूनियन बैंक की मार्च 2022 तक ऐसी पुन: डिजाइन की गई शाखाओं के नेटवर्क को पूरे भारत में 50 स्थानों तक विस्तारित करने की योजना है।
  • यूनियन एमएसएमई फर्स्ट ब्रांच ग्राहकों को एक ही छत के नीचे एमएसएमई ऋण, जमा, विदेशी मुद्रा सेवाएं, लेटर ऑफ क्रेडिट/बैंक गारंटी, क्रेडिट कार्ड और बीमा जैसे उत्पादों की पेशकश करेगी।

राज्य समाचार असम

असम में नगर पालिकाओं में महिलाओं के लिए 50% सीटें आरक्षित


असम विधान सभा ने 23 दिसंबर, 2021 को राज्य के नगर निकायों के निर्वाचन क्षेत्रों में तर्कसंगत आधार पर 10 वर्षों के लिए महिलाओं के लिए 50% सीटें आरक्षित करने वाले दो विधेयक पारित किए हैं।

  • असम नगरपालिका (तीसरा संशोधन) विधेयक, 2021 में प्रस्ताव किया गया है कि किसी भी नगर पालिका में प्रत्यक्ष चुनाव से भरी जाने वाली सीटों में से 50% सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी।
  • इन सीटों में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति की महिलाओं के लिए आरक्षित सीटें शामिल हैं।
  • असम नगरपालिका अधिनियम, 1956 में संशोधन के अनुसार, ऐसी सीटें हर 10 साल में एक नगर पालिका में अलग-अलग निर्वाचन क्षेत्रों में रोटेशन द्वारा आवंटित की जाएंगी।
  • विधानसभा ने गुवाहाटी नगर निगम (संशोधन) विधेयक, 2021 को भी पारित किया, जिससे उसके पार्षदों के सीधे चुनाव में महिला आरक्षण की अवधि को 10 साल तक बढ़ा दिया गया है।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

दक्षिण अफ्रीका के हरफनमौला क्रिकेटर क्रिस मॉरिस ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास


दक्षिण अफ्रीका के हरफनमौला क्रिकेटर क्रिस मॉरिस ने 11 जनवरी, 2022 को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की। वे अब घरेलू टीम टाइटन्स के साथ कोचिंग की भूमिका निभाएंगे।

(Image Source: https://www.espncricinfo.com/)

  • मॉरिस ने 2016 के अंत में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और केवल 4 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 173 रन बनाए और 12 विकेट लिए । उन्होंने 42 एकदिवसीय और 23 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेले, जिनमें क्रमशः 48 और 34 विकेट लिए।
  • मॉरिस आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स, दिल्ली कैपिटल्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और चेन्नई सुपर किंग्स फ्रेंचाइजी के लिए खेल चुके हैं।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

इंग्लैंड के पूर्व टेस्ट कप्तान रे इलिंगवर्थ का निधन


इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रे इलिंगवर्थ का 25 दिसंबर, 2021 को निधन हो गया। वे 89 वर्ष के थे।

(Image Source: https://wwos.nine.com.au/)

  • इलिंगवर्थ ने 1958 और 1973 के बीच इंग्लैंड के लिए 61 टेस्ट मैच खेले। उन्होंने 1,836 टेस्ट रन बनाए और 122 विकेट लिए।
  • उन्होंने 31 टेस्ट मैचों में देश की कप्तानी की, जिसमें 12 मैच जीते। उन्होंने 1970-71 में ऑस्ट्रेलिया में एक एशेज सीरीज भी जीती थी।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

वीर गाथा परियोजना


गणतंत्र दिवस समारोह के हिस्से के रूप में पहली बार रक्षा मंत्रालय देश के स्कूली बच्चों को युद्ध नायकों और बहादुर लोगों की कहानियों से प्रेरित करने के लिए ‘वीर गाथा’ परियोजना (Veer Gatha project) लेकर आई है।

(Image Source: https://innovateindia.mygov.in/veer-gatha-project/)

महत्वपूर्ण तथ्य: शिक्षा मंत्रालय, स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने पूरे देश में 21 अक्टूबर से 21 नवंबर, 2021 तक वीर गाथा परियोजना का आयोजन किया।

  • 28 राज्यों और आठ केंद्र-शासित प्रदेशों में फैले 4,788 स्कूलों के 8,03,900 से अधिक छात्रों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया और निबंध, कविता, ड्राइंग और मल्टीमीडिया प्रस्तुतियों के रूप में अपनी प्रेरणादायक कहानियों को साझा किया।
  • कई दौर के मूल्यांकन के बाद, 6 जनवरी, 2022 को 'सुपर 25' को चुना गया और विजेता घोषित किया गया।
  • विजेताओं को 10,000/- रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा और 25 जनवरी, 2022 को उनके नई दिल्ली आगमन पर सम्मानित किया जाएगा। वे रक्षा मंत्रालय के विशेष अतिथि के रूप में गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा होंगे।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

महाकाली नदी पर पुल का निर्माण


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 6 जनवरी, 2022 को धारचूला (भारत) - धारचूला (नेपाल) में महाकाली नदी पर पुल के निर्माण के लिए भारत और नेपाल के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) को मंजूरी दे दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: समझौता ज्ञापन से दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध और बेहतर होंगे।

  • घनिष्ठ पड़ोसियों के रूप में, भारत और नेपाल के बीच मित्रता तथा सहयोग का अनूठा संबंध है, जो एक खुली सीमा के साथ-साथ जन-जन के बीच गहरे संबंधों और संस्कृति से प्रमाणित है।
  • भारत और नेपाल दोनों विभिन्न क्षेत्रीय मंचों जैसे सार्क, बिम्सटेक के साथ-साथ वैश्विक मंचों पर एक साथ काम कर रहे हैं।

सामयिक खबरें आर्थिकी

कानपुर मेट्रो रेल परियोजना


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 दिसंबर, 2021 को ‘कानपुर मेट्रो रेल परियोजना’ के पूर्ण निर्मित खंड का उद्घाटन किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के 9 किमी. लंबे खंड का उद्घाटन किया गया, जिसमें कानपुर और मोतीझील के बीच 9 मेट्रो स्टेशन हैं।

  • कानपुर में मेट्रो रेल परियोजना की पूरी लंबाई 32 किलोमीटर है, जिसमें 2 गलियारे हैं, जिनमें से 13 किलोमीटर भूमिगत होंगे।
  • पहला गलियारा 'आईआईटी कानपुर से नौबस्ता' 23.8 किमी लंबा है, जबकि दूसरा गलियारा 'चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय से बर्रा-8' तक 8.6 किमी लंबा है।
  • प्राथमिक गलियारे के सभी 9 स्टेशनों को 'हरित भवन परिषद' की प्लेटिनम रेटिंग से प्रमाणित किया गया है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

भारत में सार्वभौमिक सुगम्यता के लिए सुसंगत दिशानिर्देश और मानक 2021


केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) ने दिसंबर 2021 में 'भारत में सार्वभौमिक सुगम्यता के लिए सुसंगत दिशानिर्देश और मानक 2021' (Harmonised Guidelines and Standards for Universal Accessibility in India 2021) जारी किए।

(Image Source: https://doj.gov.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: यह दिशानिर्देश फरवरी 2016 में आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के तहत सीपीडब्ल्यूडी द्वारा जारी दिव्यांगजनों और बुजुर्ग व्यक्तियों के लिए बाधा मुक्त वातावरण के लिए सुसंगत दिशानिर्देशों और मानकों का एक संशोधन है।

  • संशोधित दिशानिर्देश भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की और आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के 'राष्ट्रीय शहरी मामलों के संस्थान' की एक टीम द्वारा तैयार किए गए हैं।
  • पूर्व के दिशानिर्देश एक बाधा मुक्त वातावरण (आवाजाही और परिवहन) के लिए थे, लेकिन अब इसमें सार्वभौमिक सुगम्यता पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।
  • एक सुगम्य आवाजाही विकल्प प्रदान करने के लिए रैंप (व्हीलचेयर आदि के लिए ढालू मार्ग) अत्यंत महत्वपूर्ण हैं, लेकिन रैंप को दिए गए दिशानिर्देशों का पालन करना होगा।
  • दिशानिर्देश के अनुसार रैंप के लिए, छ: मीटर की लंबाई के लिए प्रवणता (gradient) 1:12 होना चाहिए। रैंप की न्यूनतम स्पष्ट चौड़ाई 1,200 मिमी. होनी चाहिए।
  • यह दिशानिर्देश केवल दिव्यांगजनों के लिए नहीं हैं, बल्कि सरकारी भवनों के निर्माण से लेकर मास्टर-प्लान वाली शहरी परियोजनाओं में शामिल लोगों के लिए भी हैं।
  • व्हीलचेयर उपयोगकर्ताओं के लिए सार्वजनिक भवनों और परिवहन को पूर्णतया सुगम्य बनाने के साथ ही अन्य उपयोगकर्ताओं को भी दिशानिर्देशों में शामिल किया गया है। जैसे- बच्चों को घुमाने वाली गाड़ी (Pram) आदि।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

वीर बाल दिवस


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 जनवरी, 2022 को श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व के शुभ अवसर पर घोषणा की कि इस वर्ष से 26 दिसंबर को साहिबजादा जोरावर सिंह जी और साहिबजादा फतेह सिंह जी की शहादत की स्मृति में 'वीर बाल दिवस' (Veer Baal Diwas) के रूप में मनाया जाएगा।

(Image Source: https://thenewshimachal.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: साहिबजादा जोरावर सिंह और साहिबजादा फतेह सिंह 10वें सिख गुरु गोविंद सिंह जी के 4 बेटों में से छोटे बेटे थे।

  • ज्ञात हो कि साहिबजादा जोरावर सिंह (9 वर्ष) और साहिबजादा फतेह सिंह (6 वर्ष) को 26 दिसंबर, 1705 को औरंगजेब की सेना द्वारा इस्लाम धर्म न अपनाने के कारण औरंगजेब के आदेश पर जिंदा दीवार में चुनवा दिया गया था।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

मिस्र बना न्यू डेवलपमेंट बैंक का चौथा नया सदस्य


29 दिसंबर, 2021 को मिस्र ब्रिक्स न्यू डेवलपमेंट बैंक के चौथे नए सदस्य के रूप में शामिल हुआ है।

महत्वपूर्ण तथ्य: बांग्लादेश,संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और उरुग्वे सितंबर 2021 में ब्रिक्स न्यू डेवलपमेंट बैंक में शामिल हुए थे।

  • सदस्यता विस्तार न्यू डेवलपमेंट बैंक को उभरती अर्थव्यवस्थाओं के लिए खुद को एक प्रमुख विकास संस्थान के रूप में स्थापित करने में सक्षम बनाता है।
  • ‘न्यू डेवलपमेंट बैंक’ ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) द्वारा 2015 में स्थापित किया गया था, जिसका उद्देश्य उभरती अर्थव्यवस्थाओं में बुनियादी ढांचे और सतत विकास परियोजनाओं के लिए संसाधन जुटाना है।
  • ब्रिक्स दुनिया के पांच सबसे बड़े विकासशील देशों को एक साथ लाता है, जो वैश्विक आबादी का 41%, वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का 24% और वैश्विक व्यापार का 16% प्रतिनिधित्व करता है।
  • न्यू डेवलपमेंट बैंक ने अब तक अपने सभी सदस्य देशों में लगभग 80 परियोजनाओं को मंजूरी दी है, जिनका कुल निवेश मूल्य 30 बिलियन डॉलर है।
  • ये परियोजनाएं परिवहन, पानी और स्वच्छता, स्वच्छ ऊर्जा, डिजिटल बुनियादी ढांचे, सामाजिक बुनियादी ढांचे और शहरी विकास जैसे क्षेत्रों में हैं।
  • न्यू डेवलपमेंट बैंक का मुख्यालय शंघाई, चीन में है। इसके क्षेत्रीय कार्यालय जोहान्सबर्ग (दक्षिण अफ्रीका), साओ पाउलो (ब्राजील) और मास्को (रूस) में स्थापित किए गए हैं।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

व्हीकल माउंटेड ड्रेन क्लीनिंग सिस्टम


वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद- केन्द्रीय यांत्रिक अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (CSIR-CMERI) ने स्वदेश में विकसित 'व्हीकल माउंटेड ड्रेन क्लीनिंग सिस्टम' (Vehicle mounted Drain Cleaning System) की तकनीकी जानकारी के लिए गैर-विशिष्ट अधिकार 28 दिसंबर, 2021 को ‘मनियार एंड कंपनी’ अहमदाबाद, गुजरात को सौंपे।

महत्वपूर्ण तथ्य: व्हीकल माउंटेड ड्रेन क्लीनिंग सिस्टम एक यंत्रीकृत कचरा उठाने वाला सिस्टम है।

  • यह CSIR-CMERI म्यूनिसिपल सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी 'अपशिष्ट प्रबंधन' के क्षेत्र में बदलाव की क्षमता रखती है और 'जीरो-लैंडफिल इंडिया' (Zero-Landfill India) के प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने में मदद करती है।
  • केन्द्रीय यांत्रिक अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान की स्थापना दुर्गापुर, पश्चिम बंगाल में फरवरी 1958 में मैकेनिकल इंजीनियरिंग प्रौद्योगिकी के विकास के विशिष्ट कार्य के साथ की गई थी। CMERI वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के तहत यांत्रिक अभियांत्रिकी (मैकेनिकल इंजीनियरिंग) के लिए शीर्ष अनुसंधान एवं विकास संस्थान है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

भारत में 2022 में लॉन्च होगी 5जी सेवा


दूरसंचार विभाग (DoT) ने 27 दिसंबर, 2021 को कहा कि गुरुग्राम, बेंगलुरू, कोलकाता, मुंबई, चंडीगढ़, दिल्ली, जामनगर, अहमदाबाद, चेन्नई, हैदराबाद, लखनऊ, पुणे और गांधीनगर 2022 में 5जी सेवाएं प्राप्त करने वाले पहले शहरों में शामिल होंगे।

महत्वपूर्ण तथ्य: 5जी या पांचवीं पीढ़ी ‘लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन’ (LTE) मोबाइल ब्रॉडबैंड नेटवर्क में नवीनतम अपग्रेड है। यह मुख्य रूप से तीन बैंड में काम करता है - निम्न, मध्य और उच्च-आवृत्ति, जिनमें से सभी के उपयोग के साथ-साथ अपनी सीमाएं भी हैं।

  • निम्न-बैंड स्पेक्ट्रम कवरेज के मामले में बहुत अच्छा है। इसकी अधिकतम इंटरनेट स्पीड 100 एमबीपीएस (प्रति सेकंड मेगाबिट्स) तक सीमित है।
  • मध्य-बैंड स्पेक्ट्रम, निम्न-बैंड स्पेक्ट्रम की तुलना में हाई स्पीड प्रदान करता है, लेकिन कवरेज और सिग्नल के मामले में इसकी सीमाएं हैं।
  • उच्च-आवृत्ति-बैंड सबसे अधिक स्पीड प्रदान करता है, लेकिन इसकी बेहद सीमित कवरेज और सिग्नल क्षमता है। इस स्पेक्ट्रम में स्पीड 20 Gbps (गीगाबिट प्रति सेकंड) तक होने का परीक्षण किया गया है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

विक्रम मिसरी डिप्टी एनएसए नियुक्त


केंद्र सरकार ने चीन में भारत के पूर्व राजदूत और चीन से जुड़े मामलों के विशेषज्ञ विक्रम मिसरी को देश का नया उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (डिप्टी एनएसए) नियुक्त किया है। वे मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को रिपोर्ट करेंगे।

(Image Source: https://www.prabhatkhabar.com/)

  • निवर्तमान डिप्टी एनएसए पंकज सरन का कार्यकाल समाप्त होने के बाद मिसरी ने 1 जनवरी, 2022 को कार्यभार संभाला।
  • वे अन्य दो डिप्टी एनएसए राजिंदर खन्ना और दत्तात्रेय पडसलगीकर (दोनों आईपीएस) के साथ काम करेंगे।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

विश्व हिंदी दिवस (10 जनवरी)


महत्वपूर्ण तथ्य: राष्ट्र भाषा प्रचार समिति, वर्धा के तत्वावधान में 10 जनवरी, 1975 को नागपुर में प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन आयोजित किया गया था।

  • दुनिया भर में हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 10 जनवरी, 2006 को पहली बार विश्व हिंदी दिवस मनाया गया था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस ने लॉन्च किया हेल्थ प्राइम राइडर


बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस ने दिसंबर 2021 में एक 'हेल्थ प्राइम' राइडर (Health Prime rider) लॉन्च करने की घोषणा की, जिसका लाभ बीमाकर्ता की स्वास्थ्य बीमा और व्यक्तिगत दुर्घटना पॉलिसियों के साथ लिया जा सकता है।

  • हेल्थ प्राइम राइडर का उद्देश्य एक संपूर्ण आरोग्य इकोसिस्टम प्रदान करना है और उपचारात्मक दृष्टिकोण के बजाय एक निवारक दृष्टिकोण को प्रोत्साहित करना है।
  • बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस ने अपने ग्राहकों की सेवा के लिए 'बजाज फिनसर्व हेल्थ' के साथ करार किया है।
  • राइडर चार प्रमुख क्षेत्रों को कवर करता है जिसमें टेली-परामर्श कवर, डॉक्टर परामर्श कवर, पैथोलॉजी या रेडियोलॉजी खर्चों के लिए जांच कवर और कैशलेस तरीके से वार्षिक निवारक स्वास्थ्य जांच कवर शामिल हैं।

राज्य समाचार तमिलनाडु

'मीनदम मंजप्पई' योजना


तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने 23 दिसंबर, 2021 को जनता द्वारा कपड़े की थैलियों के उपयोग को बढ़ावा देने और प्लास्टिक की थैलियों के उपयोग को हतोत्साहित करने के लिए 'मीनदम मंजप्पई' योजना (Meendum Manjappai scheme) शुरू की।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

  • ज्ञात हो की काफी समय पहले पीले रंग के कपड़े के थैले शुभ अवसर के प्रतीक माने जाते थे लेकिन बाद में प्लास्टिक की थैलियों ने उनकी जगह ले ली।

प्लास्टिक के हानिकारक प्रभाव: मुख्यमंत्री ने सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों के हानिकारक प्रभावों पर भी प्रकाश डाला।

  • अगर प्लास्टिक को फेंक दिया जाता है, तो इसे अपघटित होने में कई साल लग जाते हैं और इससे मिट्टी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है, जिससे कृषि प्रभावित होती है।
  • सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों को समुद्र में फेंकने से समुद्री जलीय प्रजातियों पर इसका दुष्प्रभाव दिखाई देता है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

हरित ऊर्जा गलियारा का दूसरा चरण


आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 6 जनवरी, 2021 को इंट्रा-स्टेट ट्रांसमिशन सिस्टम - हरित ऊर्जा गलियारा चरण- II को मंजूरी दे दी है।

(Image Source: https://twitter.com/VMBJP)

महत्वपूर्ण तथ्य: इस योजना में लगभग 10,750 सर्किट किलोमीटर की पारेषण लाइनें और सबस्टेशनों की लगभग 27,500 मेगा वोल्ट-एम्पीयर परिवर्तन क्षमता शामिल होगी।

  • यह योजना सात राज्यों में लगभग 20 गीगावाट अक्षय ऊर्जा बिजली परियोजनाओं के ग्रिड एकीकरण और बिजली निकासी की सुविधा प्रदान करेगी।
  • ये राज्य हैं गुजरात, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, केरल, राजस्थान, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश।
  • योजना (द्वितीय चरण) की कुल अनुमानित लागत 12,031.33 करोड़ रुपए है। इसमें केंद्रीय वित्तीय सहायता परियोजना लागत का 33% होगी, जो कि 3,970.34 करोड़ रुपए है।
  • ट्रांसमिशन सिस्टम वित्तीय वर्ष 2021-22 से 2025-26 तक पांच साल की अवधि में तैयार किए जाएंगे। यह योजना 2030 तक 450 गीगावाट स्थापित अक्षय ऊर्जा क्षमता के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करेगी।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

मसौदा क्षेत्रीय योजना-2041 पर आपत्ति


जनवरी 2022 में एक सेवानिवृत्त भारतीय वन सेवा अधिकारी, एक शहरी योजनाकार और एक पर्यावरण विश्लेषक सहित एक पांच सदस्यीय समूह ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) की ‘मसौदा क्षेत्रीय योजना-2041’ पर आपत्ति की है।

महत्वपूर्ण तथ्य: समूह ने प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र से 'अरावली' और 'वन क्षेत्र' शब्दों को बाहर करने का कड़ा विरोध किया है।

  • समूह के अनुसार प्रस्तावित योजना वन आवरण को काफी कम कर देगी, वन्यजीवों के आवास को कम कर देगी, वायु प्रदूषण में वृद्धि करेगी और अरावली में रियल एस्टेट के लिए द्वार खोल देगी।
  • समूह ने 'प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र' शब्द को मसौदा योजना में 'प्राकृतिक क्षेत्र' के साथ बदलने पर भी आपत्ति जताई है।
  • क्षेत्रीय मसौदे योजना-2041 के अनुसार वन के अंतर्गत क्षेत्र में 3.27% तक गिरावट आई है, फिर भी मसौदा योजना में वनों के संरक्षण को और कम कर दिया गया है।
  • क्षेत्रीय योजना-2021 'प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र' में निर्माण को उद्देश्य (केवल क्षेत्रीय मनोरंजक गतिविधियाँ) और सीमा (0.5%) दोनों द्वारा सीमित करती है, हालाँकि क्षेत्रीय योजना-2021 के मसौदे में इस क्षेत्र विनियमन (zoning regulation) को हटा दिया गया है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ लिविंग इंडेक्स 2021


इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट द्वारा दिसंबर 2021 में जारी 'वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ लिविंग इंडेक्स 2021' (Worldwide Cost of Living index 2021) के अनुसार तेल अवीव (इजरायल) अब दुनिया का सबसे महंगा शहर है।

महत्वपूर्ण तथ्य: पेरिस और सिंगापुर दूसरे स्थान पर हैं, उसके बाद ज्यूरिख चौथे, हांगकांग पांचवें, न्यूयॉर्क छठे और जेनेवा को सातवें स्थान पर रखा गया।

  • शीर्ष 10 में आठवें स्थान पर कोपेनहेगन, नौवें पर लॉस एंजिल्स और 10वें स्थान पर जापान का ओसाका है।
  • वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ लिविंग इंडेक्स 173 शहरों में वस्तुओं और सेवाओं के लिए अमेरिकी डॉलर में कीमतों की तुलना करके तैयार किया गया है।
  • सीरिया की राजधानी शहर दमिश्क सूचकांक में अंतिम स्थान पर है यानी यह दुनिया का सबसे सस्ता शहर है।
  • अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण आयात की कीमतों में वृद्धि और आपूर्ति में कमी के कारण ईरान की राजधानी तेहरान ने सर्वेक्षण किए गए 173 शहरों में सबसे बड़ी छलांग लगाई, जो 79वें स्थान से 29वें स्थान पर पहुंच गया है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

भारत का पहला ओपन रॉक संग्रहालय


केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने 6 जनवरी, 2022 को सीएसआईआर-राष्ट्रीय भूभौतिकीय अनुसंधान संस्थान (National Geophysical Research Institute: NGRI), हैदराबाद के परिसर में 'भारत के पहले ओपन रॉक संग्रहालय' (India’s first open rock museum) का उद्घाटन किया।

(Image Source: https://www.therightnews.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: इस ओपन रॉक म्यूजियम को स्थापित करने का उद्देश्य लोगों को ऐसे कई तथ्यों से अवगत कराना है, जिनके बारे में लोग अनजान हैं।

  • इसमें भारत के विभिन्न हिस्सों से लगभग 35 विभिन्न प्रकार की चट्टानों को प्रदर्शित किया गया है, जिनका समय काल 3.3 बिलियन वर्ष से लेकर लगभग 55 मिलियन वर्ष तक है।
  • यह चट्टानें धरती की सतह से लेकर 175 किलोमीटर तक की गहराई तक अलग-अलग स्तरों से ली गईं हैं।
  • इन चट्टानों को ओडिशा, तमिलनाडु, उत्तराखंड, झारखंड, जम्मू और कश्मीर और अन्य जगहों से प्राप्त किया गया है।

भूकंप जोखिम मानचित्र: उन्होंने लखनऊ और देहरादून शहरों के भूकंप जोखिम मानचित्रों का भी विमोचन किया और उन्हें संबंधित राज्यों की आपदा प्रबंधन एजेंसियों को सौंपा।

  • इनसे निजी घरों से लेकर बहु-मंजिला इमारतों और महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे जैसे पुलों या बांधों तक के जोखिम का आकलन करने में सहायता मिलेगी।

अन्य तथ्य: राष्ट्रीय भूभौतिकीय अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) की एक घटक अनुसंधान प्रयोगशाला है। इसकी स्थापना 1961 में पृथ्वी प्रणाली की अत्यधिक जटिल संरचना और प्रक्रियाओं के बहु-विषयक क्षेत्रों में अनुसंधान करने के मिशन के साथ की गई थी।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

'आधुनिक युग के डार्विन' ई.ओ. विल्सन का निधन


'आधुनिक युग के डार्विन' के रूप में प्रसिद्ध अमेरिकी प्रकृतिवादी एडवर्ड ओ. विल्सन का 26 दिसंबर, 2021 को मैसाचुसेट्स में निधन हो गया। वे 92 वर्ष के थे।

(Image Source: https://www.pbs.org/

  • ब्रिटिश प्रकृतिवादी डेविड एटनबरो के साथ, विल्सन को प्राकृतिक इतिहास और संरक्षण के क्षेत्र में दुनिया के अग्रणी लोगों में से एक माना जाता था।
  • विल्सन को 'डार्विन का प्राकृतिक उत्तराधिकारी' कहा जाता था और एक कीटविज्ञानी के रूप में उनके अग्रणी कार्य के लिए उन्हें 'आंट मैन' (the ant man) भी कहा जाता था।
  • विल्सन की 'हाफ-अर्थ' (Half-Earth) परियोजना में ग्रह की आधी भूमि और समुद्र की रक्षा करने का आह्वान किया गया है ताकि प्रजातियों की विलुप्ति को रोकने के लिए पर्याप्त विविध और अच्छी तरह से जुड़ा पारिस्थितिकी तंत्र हो।
  • उन्हें दो बार पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था- 1979 में 'ऑन ह्यूमन नेचर' (On Human Nature) और 1991 में 'द आंट्स' (The Ants) के लिए।
  • विल्सन की 1975 की पुस्तक 'सोशियोबायोलॉजी: द न्यू सिंथेसिस' से विवाद हो गया था, जिसमें उन्होंने लिखा था परोपकार या शत्रुता जैसे मानवीय व्यवहार जीन या प्रकृति द्वारा निर्धारित होते हैं, न कि वातावरण या लालन-पालन से।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार 2021


3 जनवरी, 2022 को कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार 2021 के लिए पुरस्कार राशि 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दी गई है।

  • वर्ष 2021 के लिए, लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार योजना का उद्देश्य इन क्षेत्रों में सिविल सेवकों के योगदान को मान्यता देना है-
    1. 'जन भागीदारी' या पोषण अभियान में लोगों की भागीदारी को बढ़ावा देना;
    2. खेलो इंडिया योजना के माध्यम से खेल और स्वास्थ्य में उत्कृष्टता को बढ़ावा देना;
    3. पीएम स्वनिधि योजना में डिजिटल भुगतान और सुशासन;
    4. एक जिला एक उत्पाद योजना के माध्यम से समग्र विकास;
    5. मानव हस्तक्षेप के बिना सेवाओं की निर्बाध, एंड-टू-एंड डिलीवरी;
    6. नवाचार।
  • 2021 के अंतर्गत पुरस्कारों की कुल संख्या 18 है। अब सभी जिला कलेक्टरों के लिए पुरस्कार के लिए आवेदन करना अनिवार्य है।
  • प्रधानमंत्री पुरस्कार 2021 में (i) ट्रॉफी, (ii) स्क्रॉल और (iii) सम्मानित जिले/संगठन को 20 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि शामिल होगी।
  • प्रोत्साहन राशि का उपयोग परियोजनाओं/ कार्यक्रमों के कार्यान्वयन या लोक कल्याण वाले किसी क्षेत्र में संसाधनों की कमियों को पूरा करने के लिए किया जाएगा।
  • पृष्ठभूमि: भारत सरकार ने वर्ष 2006 में 'लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार' योजना की शुरुआत की।
  • प्राथमिकता कार्यक्रमों, नवाचारों और आकांक्षी जिलों में जिला कलेक्टरों के प्रदर्शन को मान्यता देने के लिए 2014 में योजना का पुनर्गठन किया गया था। अब यह जिला कलेक्टर या व्यक्तिगत सिविल सेवक के बजाय जिले के प्रदर्शन पर आधारित हो गया है।
  • 'जिले के आर्थिक विकास' की दिशा में जिला कलेक्टरों के प्रदर्शन को मान्यता देने के लिए योजना को 2020 में फिर से पुनर्गठित किया गया।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

बैंक ऑफ बड़ौदा की सहायक और भारतीय नौसेना ने लॉन्च किया सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड


बैंक ऑफ बड़ौदा की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी 'बीओबी फाइनेंशियल सॉल्यूशंस लिमिटेड (बीएफएसएल) और भारतीय नौसेना ने भारतीय नौसेना कर्मियों के लिए एक सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड लॉन्च किया है।

  • रूपे प्लेटफॉर्म पर पेश किए गए कार्ड में कॉन्टैक्टलेस फीचर हैं। भारतीय नौसेना कर्मी सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड के 3 प्रकारों में से चयन कर सकते हैं।
  • कार्ड के 'आधार प्रकार' (बेस वेरिएंट) को लाइफ टाइम फ्री (LTF) क्रेडिट कार्ड के रूप में पेश किया जाएगा, अन्य दो प्रकार को बहुत ही आकर्षक प्रवेश शुल्क और वार्षिक शुल्क पर पेश किया जाएगा।
  • क्रेडिट कार्ड भारतीय नौसेना के कर्मियों को निर्बाध भुगतान सुविधा प्रदान करेंगे।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

विश्व युद्ध अनाथ दिवस (6 जनवरी)


महत्वपूर्ण तथ्य: संघर्ष के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों की दुर्दशा के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए 6 जनवरी को विश्व युद्ध अनाथ दिवस मनाया जाता है।

  • विश्व युद्ध अनाथ दिवस की शुरुआत फ्रांसीसी संगठन SOS Enfants en Detresses द्वारा की गई थी, जिसका उद्देश्य संघर्ष से प्रभावित बच्चों की मदद करना था।
  • यूनिसेफ द्वारा 18 वर्ष से कम उम्र के ऐसे बच्चे को 'अनाथ' के रूप में परिभाषित किया गया है, जिसने मृत्यु के किसी भी कारण से एक या दोनों माता-पिता को खो दिया हो।

राज्य समाचार गोवा

'मालाबार ट्री निम्फ' गोवा की राज्य तितली घोषित


अपने आकर्षक काले और सफेद पंखों के पैटर्न और अद्वितीय उड़ान स्पीड के लिए जानी जाने वाली 'मालाबार ट्री निम्फ' (Malabar tree nymph) को 16 दिसंबर, 2021 को चोराव में पांचवें गोवा पक्षी महोत्सव में ‘गोवा की राज्य तितली’ घोषित किया गया।

(Image Source: https://timesofindia.indiatimes.com/)

  • यह तितली प्रजाति पश्चिमी घाट के लिए स्थानिक है और हालांकि यह दक्षिणी महाराष्ट्र में पाई जाती है, लेकिन इसका भौगोलिक विस्तार गोवा से शुरू होता है। 'मालाबार ट्री निम्फ' का पंख 120-154 मिमी. का होता है।
  • 'मालाबार ट्री निम्फ' आईयूसीएन रेड लिस्ट में 'संकटासन्न' (near threatened) श्रेणी के अंतर्गत सूचीबद्ध है।
  • यह ज्यादातर उन आवासों में पाई जाती है, जहां नम पहाड़ी मिट्टी से पानी धीरे-धीरे निकलता है, स्थिर हो जाता है और शांत, अबाधित और नम जंगलों से गुजरने वाली उथली धाराओं में धीरे-धीरे बहता है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

ब्रज का 84 कोसी परिक्रमा मार्ग


केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने 7 जनवरी, 2022 को 'ब्रज के 84 कोसी परिक्रमा मार्ग' (84 Kosi Parikrama Marg of Braj) के विकास की घोषणा की।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस मार्ग को नए राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में घोषित किया जाएगा और भारतमाला परियोजना चरण- II में शामिल किया जाएगा।

  • इस मार्ग को 'अयोध्या के 84 कोसी परिक्रमा मार्ग' की तर्ज पर बनाया जाएगा और आसपास के सभी प्रमुख तीर्थ स्थलों से जोड़ा जाएगा।
  • यह मार्ग मथुरा के अलावा राजस्थान, हरियाणा के सीमावर्ती इलाकों से होकर गुजरेगा।
  • उन्होंने उत्तर प्रदेश के मथुरा में 14169 करोड़ रुपये की 336 किलोमीटर की 10 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

एलईडी फोटोमेट्री प्रयोगशाला


केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने 4 जनवरी, 2022 को 'ऊर्जा सक्षम प्रकाश प्रौद्योगिकी' विकसित करने के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए सीएसआईआर- राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला (NPL) में 'एलईडी फोटोमेट्री प्रयोगशाला' (LED Photometry Laboratory) राष्ट्र को समर्पित की।

(Image Source: PIB/)

महत्वपूर्ण तथ्य: यह राष्ट्रीय स्तर की सुविधा एलईडी लाइटिंग उत्पादों के शीर्ष स्तर के अंशांकन (calibration) और परीक्षण में भारत को 'आत्म-निर्भर' बनाने में योगदान देगी।

  • यह न केवल विदेशों से परीक्षण और अंशांकन सेवाओं का लाभ उठाने पर खर्च किए गए विदेशी मुद्रा की बचत करेगी, बल्कि सुधार के समय को भी काफी कम करेगी।

भारतीय निर्देशक द्रव्य: केंद्रीय मंत्री ने उच्च शुद्धता वाले सोने, चांदी और अन्य तत्वों के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप गुणवत्ता आश्वासन के लिए परीक्षण और अंशांकन प्रयोगशालाओं का समर्थन करने के लिए 'भारतीय निर्देशक द्रव्य' (Bharatiya Nirdeshak Dravya) भी जारी किया।

  • भारतीय निर्देशक द्रव्य या भारतीय संदर्भ सामग्री NPL द्वारा विकसित संदर्भ सामग्री हैं, जो अंतरराष्ट्रीय नेटवर्किंग के माध्यम से प्राप्त गुणवत्ता आश्वासन के लिए बेंचमार्क के रूप में माप की विश्वसनीयता और तुलनीयता सुनिश्चित करते हैं।

अन्य तथ्य: उन्होंने प्रदूषण से लड़ने के लिए भारत में निर्मित कम मात्रा वाले पीएम2.5 नमूने के लिए प्रमाणन प्रक्रिया के साथ-साथ भारतीय परिवेशी ओजोन विश्लेषक के लिए प्रमाणन प्रक्रिया भी शुरू की।

सामयिक खबरें आर्थिकी

मणिपुर में विकास परियोजनाएं


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 जनवरी, 2022 को इंफाल, मणिपुर में लगभग 1850 करोड़ रुपये की 13 परियोजनाओं का उद्घाटन किया और लगभग 2950 करोड़ रुपये की 9 परियोजनाओं की आधारशिला रखी।

महत्वपूर्ण तथ्य: उन्होंने 75 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से राष्ट्रीय राजमार्ग-37 पर बराक नदी पर बने स्टील ब्रिज का उद्घाटन किया, जो सिलचर और इंफाल के बीच यातायात को आसान बनाएगा।

  • प्रधानमंत्री ने 280 करोड़ मूल्य की 'थौबल बहुउद्देश्यीय परियोजना की जल प्रवाह प्रणाली' का उद्घाटन किया, जो इंफाल शहर को पेयजल आपूर्ति प्रदान करेगा।
  • प्रधानमंत्री ने इंफाल में लगभग 160 करोड़ रुपये की लागत से पीपीपी आधार पर निर्माण किए जाने वाले ‘अत्याधुनिक कैंसर अस्पताल’ का शिलान्यास किया।
  • उन्होंने कियामगेई में डीआरडीओ के सहयोग से निर्मित '200 बिस्तरों वाले कोविड अस्पताल' तथा 170 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित 'इंफाल स्मार्ट सिटी मिशन' के तहत तीन परियोजनाओं का उद्घाटन किया।
  • उन्होंने आविष्कार, नवाचार, ऊष्मायन और प्रशिक्षण केंद्र (Centre for Invention, Innovation, Incubation and Training) की आधारशिला भी रखी।
  • प्रधानमंत्री ने गुड़गांव, हरियाणा में 'मणिपुर प्रदर्शन कला संस्थान' (Manipur Institute of Performing Arts) के निर्माण की आधारशिला भी रखी।

सामयिक खबरें आर्थिकी

ब्रांड इंडिया अभियान


केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय नए बाजारों में सेवाओं और उत्पादों दोनों के निर्यात को गति देने के लिए 'ब्रांड इंडिया अभियान' (Brand India Campaign) शुरू करने की योजना बना रहा है।

महत्वपूर्ण तथ्य: वित्त वर्ष 2021-22 में भारत का आउटबाउंड शिपमेंट यानी निर्यात 400 बिलियन डॉलर को पार करने के लिए तैयार है। इसे देखते हुए 'ब्रांड इंडिया अभियान' शुरू किया जाएगा।

  • यह अभियान भारत द्वारा निर्यात की जाने वाली वस्तुओं और सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए एक 'छाता अभियान' (umbrella campaign) के रूप में काम करेगा।
  • प्रारंभिक चरण में, यह अभियान रत्न और आभूषण; चाय, कॉफी और मसाले जैसे वृक्षारोपण उत्पाद; शिक्षा; स्वास्थ्य सेवा, फार्मा और इंजीनियरिंग में भारतीय निर्यात पर ध्यान केंद्रित करेगा।
  • यह गुणवत्ता, विरासत, प्रौद्योगिकी, मूल्य और नवाचार पर ध्यान केंद्रित करेगा।
  • ब्रांड इंडिया अभियान 'इंडिया ब्रांड इक्विटी फाउंडेशन' (IBEF) द्वारा चलाया जाएगा।
  • IBEF वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत वाणिज्य विभाग द्वारा 2003 में स्थापित एक ट्रस्ट है, जिसका प्राथमिक उद्देश्य वैश्विक बाजारों में 'मेड इन इंडिया' उत्पादों को बढ़ावा देना और अंतरराष्ट्रीय जागरूकता पैदा करने के साथ ही भारतीय उत्पादों और सेवाओं के ज्ञान के प्रसार की सुविधा प्रदान करना है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

नई तालीम


4 जनवरी, 2022 को महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा के रजत जयंती समारोह को संबोधित करते हुए भारत के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि नई शिक्षा नीति स्कूल स्तर पर शिक्षा के माध्यम के रूप में मातृभाषा को महत्व देकर महात्मा गांधी की 'नई तालीम' (Nai Talim) का अनुसरण करती है।

महत्वपूर्ण तथ्य: 1937 में वर्धा में महात्मा गांधी द्वारा प्रस्तावित 'नई तालीम' में छात्रों को नि:शुल्क अनिवार्य शिक्षा और कौशल प्रशिक्षण के अलावा मातृभाषा को शिक्षा का माध्यम बनाने पर जोर दिया।

  • नई तालीम, को बुनियादी शिक्षण के नाम से भी जाना जाता है। गांधीजी का मानना था कि ऐसी शिक्षा गांवों को आत्मनिर्भर बनाएगी।
  • नई तालीम का उद्देश्य व्यक्तिगत विकास और सामाजिक विकास था।
  • स्थानीय रूप से सुलभ प्रौद्योगिकी के साथ कार्य केंद्रित शिक्षा का दृष्टिकोण बुनियादी था
  • नई तालीम चार सिद्धांतों पर आधारित थी, अर्थात्:
  1. हस्तशिल्प कार्य के साथ-साथ मातृभाषा में शिक्षा या अधिगम (learning);
  2. काम को स्थानीय सबसे उपयोगी व्यावसायिक जरूरतों से जोड़ा जाना चाहिए;
  3. अधिगम को व्यावसायिक कार्य से जोड़ा जाना चाहिए और;
  4. कार्य सामाजिक रूप से उपयोगी और जीवनयापन के लिए उत्पादक होना चाहिए।

अन्य तथ्य: 1975 में नागपुर में आयोजित विश्व हिंदी सम्मेलन के दौरान एक अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय स्थापित करने का प्रस्ताव रखा गया था। इसके बाद, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय, वर्धा की स्थापना 1997 में संसद द्वारा पारित एक विधेयक द्वारा की गई थी।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

जगन्नाथ मंदिर अधिनियम


जगन्नाथ मंदिर के स्वामित्व वाली भूमि से संबंधित मुद्दों को सुलझाने के उद्देश्य हेतु एक ऐतिहासिक निर्णय में, ओडिशा राज्य मंत्रिमंडल ने 5 जनवरी, 2022 को श्री जगन्नाथ मंदिर अधिनियम, 1954 में संशोधन को मंजूरी दे दी है।

(Image Source: https://www.newindianexpress.com/)

जगन्नाथ मंदिर अधिनियम, 1954: भारत की स्वतंत्रता के बाद, ओडिशा राज्य ने औपचारिक रूप से वर्ष 1952 में जगन्नाथ मंदिर अधिनियम पेश किया, जो 1954 में लागू हुआ।

  • इस अधिनियम में मंदिर के भूमि अधिकार, पुजारियों के कर्त्तव्य, श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंधन समिति की प्रशासनिक शक्तियों के अधिकार, पुरी के राजा और मंदिर के प्रबंधन व प्रशासन से जुड़े अन्य व्यक्तियों के विशेषाधिकार के प्रावधान शामिल हैं।

हालिया संशोधन: राज्य मंत्रिमंडल द्वारा हाल ही में स्वीकृत संशोधन ने अब मंदिर के भूमि संबंधी मुद्दों को सुलझाने की शक्ति का विकेंद्रीकरण कर दिया है।

  • जगन्नाथ मंदिर के नाम पर भूमि की बिक्री और पट्टे पर देने के अधिकार मंदिर प्रशासन और संबंधित अधिकारियों को सौंपे गए हैं।
  • पहले के विपरीत, इस प्रक्रिया के लिए राज्य सरकार से किसी अनुमोदन की आवश्यकता नहीं होगी।
  • अधिनियम की धारा 16 (2) के अनुसार मंदिर समिति द्वारा कब्जा की गई कोई भी अचल संपत्ति राज्य सरकार की पूर्व मंजूरी के बिना पट्टे पर, गिरवी पर या हस्तांतरित नहीं की जाएगी।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप अभियान/सम्मेलन/आयोजन

स्टार्टअप इंडिया नवाचार सप्ताह


वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अंतर्गत ‘उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग’ (DPIIT) द्वारा 10 से 16 जनवरी, 2022 तक 'स्टार्टअप इंडिया नवाचार सप्ताह' (Startup India Innovation Week) का आयोजन किया जा रहा है।

(Image Source: https://twitter.com/startupindia)

  • वर्चुअल तरीके से सप्ताह भर चलने वाले इस नवाचार उत्सव का उद्देश्य भारत की आजादी के 75वें वर्ष 'आजादी का अमृत महोत्सव' मनाना है।
  • इसे पूरे भारत में उद्यमिता के प्रसार और उसकी पहुँच को प्रदर्शित करने के लिए डिजाइन किया गया है।
  • स्टार्टअप इंडिया नवाचार सप्ताह में बाजार पहुंच के अवसरों को बढ़ाने, उद्योग जगत की हस्तियों के साथ चर्चा, राज्यों द्वारा अपनाई गई सर्वोत्कृष्ट कार्य प्रणालियों, सक्षम लोगों के क्षमता निर्माण, इन्क्यूबेटरों की नई भूमिका, प्रौद्योगिकी प्रदर्शनियों, कॉर्पोरेट से जुड़ाव जैसे विषयों पर सत्र होंगे।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

रूपे डेबिट कार्ड को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहन योजना


दिसंबर 2021में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने देश में रूपे डेबिट कार्ड और कम राशि वाले (2,000 रुपए तक के) भीम-यूपीआई लेनदेन (उपयोग करने वाले व्यक्ति से व्यापारियों-P2M) को बढ़ावा देने के लिए 1,300 करोड़ रुपए की प्रोत्साहन योजना को मंजूरी दी।

  • इस योजना के तहत, सरकार द्वारा ‘अधिग्रहण करने वाले बैंकों’ को रूपे डेबिट कार्ड और कम राशि वाले भीम-यूपीआई भुगतान के माध्यम से किए गए लेनदेन राशि का प्रतिशत भुगतान करके प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • इस योजना का 1 अप्रैल, 2021 से प्रभावी एक वर्ष की अवधि के लिए अनुमानित वित्तीय परिव्यय 1,300 करोड़ रुपये है।
  • यह योजना देश में डिजिटल लेनदेन को और बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा बजट घोषणाओं (वित्त वर्ष 2021-22) के अनुपालन में तैयार की गई है।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

परिचालन जोखिम के लिए न्यूनतम पूंजी आवश्यकताओं पर मास्टर निर्देश का मसौदा


भारतीय रिजर्व बैंक ने 15 दिसंबर, 2021 को बेसल III मानकों वाले बैंकों के लिए अपने विनियमों के अभिसरण के हिस्से के रूप में परिचालन जोखिम के लिए न्यूनतम पूंजी आवश्यकताओं पर मास्टर निदेश का मसौदा जारी किया।

  • इन निर्देशों के प्रावधान स्थानीय क्षेत्र के बैंकों, भुगतान बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और लघु वित्त बैंकों को छोड़कर सभी वाणिज्यिक बैंकों पर लागू होंगे। निर्देश 1 अप्रैल, 2023 से प्रभावी होंगे।
  • परिचालन जोखिम का अर्थ है अपर्याप्त या विफल आंतरिक प्रक्रियाओं, लोगों और प्रणालियों या बाहरी घटनाओं से होने वाले नुकसान का जोखिम। इस परिभाषा में कानूनी जोखिम शामिल है, लेकिन इसमें रणनीतिक और प्रतिष्ठित जोखिम शामिल नहीं है।

संक्षिप्त खबरें बिजनेस और सार्वजनिक उपक्रम

सामाजिक उद्यम के लिए अदानी पुरस्कार


23 दिसंबर, 2021 को अदानी समूह के अध्यक्ष गौतम अदानी ने अदानी समूह द्वारा दिये जाने वाले 'सामाजिक उद्यम के लिए अदानी पुरस्कार' की स्थापना की घोषणा की।

  • वर्ष 2022 से शुरू होने वाला, सामाजिक उद्यम के लिए अदानी पुरस्कार पांच उत्कृष्ट सामाजिक उद्यमियों को भारत और विकासशील दुनिया के अन्य हिस्सों में उनके प्रभाव के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • अदानी पुरस्कार पांच चुने गए सामाजिक उद्यमों के लिए कुल 5 करोड़ रुपये का वित्त पोषण प्रदान करेगा।
  • अदानी पुरस्कार प्रभावशाली सामाजिक उद्यमिता के लिए भारत का सबसे बड़ा वार्षिक पुरस्कार होगा।

संक्षिप्त खबरें संस्थान-संगठन

राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला


केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने 4 जनवरी, 2022 को सीएसआईआर-राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला (National Physical Laboratory: NPL), नई दिल्लीकी 75वीं (प्लेटिनम) जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में एक विशेष स्मारक डाक टिकट जारी किया।

(Image Source: https://www.nplindia.in/)

  • NPL वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के तहत स्थापित सबसे शुरुआती राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं में से एक है। जवाहरलाल नेहरू ने 4 जनवरी, 1947 को NPL की आधारशिला रखी थी।
  • सीएसआईआर- राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला नई दिल्ली में स्थित भारत की माप मानक प्रयोगशाला है।
  • ये भारत में एस.आई इकाइयों का अनुरक्षण (maintains) तथा राष्ट्रीय भार तथा माप के मानकों का अंशांकन (calibration) करती है।
  • के एस कृष्णन NPL के पहले निदेशक थे। वर्तमान में NPL के निदेशक प्रो. वेणुगोपाल अचंता हैं।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी


इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी (IGRUA) ने 2021 में 19000 उड़ान घंटों का एक नया रिकॉर्ड बनाया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: वर्ष 2021 के दौरान, IGRUA ने पिछले पांच वर्षों के दौरान प्रति वर्ष औसतन 15000 उड़ान घंटों के मुकाबले 19000 घंटे की उड़ान भरी, जबकि 2020 में यह 11641 उड़ान घंटे थी।

  • 2021 में महामारी के निरंतर प्रभाव और ताउते चक्रवात के कारण खराब मौसम की स्थिति के बावजूद IGRUA ने 19000 उड़ान घंटे की यह उपलब्धि हासिल की।
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी (IGRUA) की स्थापना भारत सरकार द्वारा वर्ष 1986 में फुरसतगंज एयरफील्ड में की गई थी, जो वर्तमान में उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में है।
  • IGRUA सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत स्थापित एक स्वायत्त निकाय है और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव की पदेन अध्यक्षता के तहत एक शासी परिषद द्वारा प्रशासित है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

स्मार्ट सिटीज एंड एकेडेमिया टुवर्ड्स एक्शन एंड रिसर्च


आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय के स्मार्ट सिटी मिशन ने 5 जनवरी, 2022 को 'स्मार्ट सिटीज एंड एकेडेमिया टुवर्ड्स एक्शन एंड रिसर्च' (सार) (Smart cities and Academia towards Action & Research: SAAR) कार्यक्रम शुरू किया है।

(Image Source: https://twitter.com/niua_india)

महत्वपूर्ण तथ्य: यह आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय, राष्ट्रीय शहरी मामलों के संस्थान (National Institute of Urban Affairs: NIUA) और देश के प्रमुख भारतीय शैक्षणिक संस्थानों की एक संयुक्त पहल है।

  • कार्यक्रम के तहत, देश के 15 प्रमुख वास्तुकला और योजना संस्थान स्मार्ट शहरों के साथ मिलकर स्मार्ट सिटीज मिशन द्वारा शुरू की गई ऐतिहासिक परियोजनाओं का दस्तावेजीकरण करेंगे।
  • इन दस्तावेजों में सर्वोत्तम पद्धतियों से सीखने, छात्रों को शहरी विकास परियोजनाओं पर जुड़ाव के अवसर प्रदान करने और शहरी चिकित्सकों तथा शिक्षाविदों के बीच तत्काल सूचना के प्रसार के उपायों का उल्लेख किया जाएगा।
  • ‘सार’ के तहत परिकल्पित पहली गतिविधि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत भारत में 75 ऐतिहासिक शहरी परियोजनाओं का एक समूह तैयार करना है। समूह में शामिल 75 परियोजनाएं 47 स्मार्ट शहरों के लिए हैं।
  • स्मार्ट सिटीज मिशन की शहरी परियोजनाएं अन्य आकांक्षी शहरों के लिए लाइटहाउस परियोजनाएं हैं। 2015 में मिशन की शुरुआत के बाद से, 100 स्मार्ट शहर 2,05,018 करोड़ रुपये के निवेश के साथ कुल 5,151 परियोजनाओं का विकास कर रहे हैं।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

उपभोक्ता इंटरनेट ऑफ थिंग्स को सुरक्षित करने के लिए अभ्यास संहिता


उपभोक्ता इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) उपकरणों को सुरक्षित करने के उद्देश्य से संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग के तहत दूरसंचार इंजीनियरिंग केंद्र ने 5 जनवरी, 2022 को 'उपभोक्ता इंटरनेट ऑफ थिंग्स को सुरक्षित करने के लिए अभ्यास संहिता' (Code of Practice for Securing Consumer Internet of Things) नाम से एक रिपोर्ट जारी की।

(Image Source: https://www.ssla.co.uk/)

महत्वपूर्ण तथ्य: ये दिशा-निर्देश उपभोक्ता IoT उपकरणों और इकोसिस्टम को सुरक्षित करने के साथ-साथ इससे संबंधित कमजोरियों को प्रबंधित करने में मदद करेंगे।

  • यह रिपोर्ट IoT उपकरण निर्माताओं, सेवा प्रदाताओं / सिस्टम इंटीग्रेटर्स और एप्लिकेशन डेवलपर्स आदि के उपयोग के लिए है।
  • दुनिया भर में सबसे तेजी से उभरती हुई प्रौद्योगिकी में से एक इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) का उपयोग कनेक्टेड उपकरणों की सहायता से विभिन्न कार्यक्षेत्रों जैसे- बिजली, मोटर वाहन, सुरक्षा और निगरानी, दूरस्थ स्वास्थ्य प्रबंधन, कृषि, स्मार्ट घर और स्मार्ट सिटी आदि में स्मार्ट बुनियादी ढांचे के निर्माण में किया जा रहा है।
  • अनुमानों के अनुसार, 2026 तक वैश्विक स्तर पर 26.4 बिलियन IoT उपकरण उपयोग में लाए जा सकते हैं, जिनमें से लगभग 20% उपकरण सेलुलर प्रौद्योगिकियों पर आधारित होंगे। उपभोक्ता और उद्यम IoT उपकरणों का अनुपात 45%: 55% हो सकता है।
  • दूरसंचार विभाग (DoT) द्वारा जारी 'राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति 2018' के अनुसार, वर्ष 2022 तक 5 बिलियन कनेक्टेड डिवाइसों के लिए एक इको-सिस्टम बनाया जाना है। इसलिए, वर्ष 2022 तक भारत में पांच बिलियन का लगभग 60% यानी तीन बिलियन कनेक्टेड उपकरण मौजूद होने की संभावना है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक


प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के चलते 5 जनवरी, 2021 को विरोध प्रदर्शन के कारण पंजाब के फिरोजपुर जिले में एक फ्लाईओवर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला 15 मिनट से अधिक समय तक फंसा रहा।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

प्रधानमंत्री की सुरक्षा की योजना: किसी भी दौरे के लिए प्रधानमंत्री की सुरक्षा की योजना बनाना एक विस्तृत अभ्यास है, जिसमें केंद्रीय एजेंसियां और राज्य पुलिस बल शामिल होते हैं।

  • स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की ब्लू बुक में प्रधानमंत्री की सुरक्षा से संबंधित व्यापक दिशा-निर्देश निर्धारित किए गए हैं।
  • किसी भी नियोजित यात्रा से तीन दिन पहले एसपीजी, जो प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है, एक अनिवार्य अग्रिम सुरक्षा संपर्क (Advance Security Liaison: ASL) करता है, जिसमें कार्यक्रम/आयोजन की सुरक्षा में लगे इंटेलिजेंस ब्यूरो के अधिकारियों सहित संबंधित राज्य, राज्य पुलिस अधिकारी और संबंधित जिला मजिस्ट्रेट सभी शामिल होते हैं।
  • बैठक में यह चर्चा की जाती है कि प्रधानमंत्री किस माध्यम (हवाई, सड़क या रेल) से पहुंचेंगे और एक बार जब वह उतरेंगे, तो वह अपने कार्यक्रम स्थल पर कैसे पहुंचेंगे (आमतौर पर हेलीकॉप्टर या सड़क से)।
  • यह बैठक खत्म होने के बाद ASL रिपोर्ट तैयार की जाती है, जिसके आधार पर सुरक्षा के सारे इंतजाम किए जाते हैं।

कौन किसके लिए जिम्मेदार है? एसपीजी प्रधानमंत्री को केवल नजदीकी सुरक्षा प्रदान करता है।

  • जब प्रधानमंत्री किसी भी राज्य की यात्रा कर रहे होते हैं, तो सम्पूर्ण सुरक्षा सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी राज्य पुलिस की होती है। उनके पास खुफिया जानकारी एकत्र करने, संबंधित मार्ग (रूट) की मंजूरी, कार्यक्रम स्थल की सफाई और भीड़ प्रबंधन की जिम्मेदारी है।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

तख्त दमदमा साहिब


3 जनवरी, 2022 को दिल्ली विधान सभा ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा अधिनियम, 1971 में एक संशोधन विधेयक पारित किया, जिसमें ‘तख्त दमदमा साहिब’ (Takht Damdama Sahib) को दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति में सिखों के पांचवें तख्त के रूप में मान्यता दी गई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: तख्त का शाब्दिक अर्थ है एक सिंहासन या प्राधिकारी की सीट। तख्त सिख समुदाय से संबंधित मुद्दों पर समय-समय पर हुकुमनामा जारी करने के लिए जाने जाते हैं। पांच सिख तख्त हैं, पंजाब में तीन और महाराष्ट्र और बिहार में एक-एक।

अकाल तख्त: अमृतसर में स्थित, यह तख्तों में सबसे पुराना है, और पाँचों में सर्वोच्च माना जाता है। इसकी स्थापना 1606 में गुरु हरगोबिंद ने की थी।

  • अन्य चार तख्त सिखों के दसवें गुरु, गुरु गोबिंद सिंह से जुड़े हुए हैं।
  • बिहार स्थित तख्त पटना साहिब में 1666 में गुरु गोबिंद सिंह का जन्म हुआ था।
  • तख्त केशगढ़ साहिब पंजाब के आनंदपुर साहिब में स्थित है। यहीं पर गुरु गोबिंद सिंह ने 1699 मेंखालसा पंथ की स्थापना की थी।
  • तख्त हजूर साहिब महाराष्ट्र के नांदेड़ में स्थित है, यहाँ गुरु गोबिंद सिंह ने समय बिताया था और 1708 में उनका अंतिम संस्कार भी किया गया था।
  • तख्त दमदमा साहिब बठिंडा के तलवंडी साबो में स्थित है। गुरु गोबिंद सिंह ने यहां कई महीने बिताए।

दिल्ली सिख गुरुद्वारा अधिनियम में संशोधन:इसके द्वारा दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति (DSGMC) के कार्यालय में एक और पदेन सदस्य (तख्त दमदमा साहिब के प्रमुख जत्थेदार) को जोड़ा गया है।

  • इससे पहले, इसमें चार पदेन सदस्य थे, जो अन्य चार सिख तख्तों के प्रमुख (जत्थेदार) हैं।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

लोवी इंस्टीट्यूट एशिया पावर इंडेक्स 2021


दिसंबर 2021 में सिडनी स्थित लोवी इंस्टीट्यूट द्वारा 'लोवी इंस्टीट्यूट एशिया पावर इंडेक्स 2021' (Lowy Institute Asia Power Index 2021) की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत एशिया का चौथा सबसे शक्तिशाली देश बन गया है।

(Image Source: https://power.lowyinstitute.org/)

महत्वपूर्ण तथ्य: इसे व्यापक शक्ति के लिए हिंद-प्रशांत में 26 देशों और क्षेत्रों में चौथा स्थान दिया गया है।

  • भारत के समग्र स्कोर में 2020 की तुलना में दो अंकों की गिरावट आई है और यह 2021 में अपने समग्र स्कोर में नीचे की ओर रुझान करने वाले इस क्षेत्र के अठारह देशों में से एक है।
  • किसी देश की व्यापक शक्ति आठ विषयगत मानदंडों में उसका भारित औसत होता है। ये हैं- आर्थिक क्षमता, सैन्य क्षमता, लचीलापन, भविष्य के संसाधन, आर्थिक संबंध, रक्षा नेटवर्क, राजनयिक प्रभाव और सांस्कृतिक प्रभाव।
  • लोवी इंस्टीट्यूट द्वारा 2018 में लॉन्च किया गया वार्षिक एशिया पावर इंडेक्स एशिया में देशों की सापेक्ष शक्ति को रैंक करने के लिए संसाधनों और प्रभाव को मापता है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

चिल्का झील में लगभग 11 लाख पक्षियों का आगमन


भारतीय उपमहाद्वीप में सबसे बड़ी खारे पानी की झील एवं पक्षियों के सर्दियों के प्रवास स्थल चिल्का झील में इस साल सर्दियों में लगभग 11 लाख पक्षी प्रवास पर आए हैं।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: चिल्का में किए गए जल पक्षी स्थिति सर्वेक्षण-2022 के अनुसार, पूरे लैगून में 107 जल पक्षी प्रजातियों के कुल 10,74,173 पक्षियों और 76 आर्द्रभूमि पर निर्भर प्रजातियों के 37,953 पक्षियों की गिनती की गई। पिछले साल चिल्का में यह संख्या 12 लाख से अधिक थी।

  • पक्षी गणना में इस साल आए पक्षियों में दुर्लभ 'मंगोलियाई गुल' (Mongolian gull) भी शामिल हैं।
  • 4 जनवरी, 2022 को ओडिशा राज्य वन्यजीव संगठन, चिल्का विकास प्राधिकरण और बॉम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसाइटी द्वारा संयुक्त रूप से पक्षी गणना की गई।
  • चिल्का झील के नलबाना अभयारण्य में अधिक से अधिक राजहंसों (फ्लेमिंगो) की संख्या में वृद्धि इंगित करती है कि नलबाना में इनकी बहाली प्रभावी है। इस साल राजहंसों की संख्या पिछले एक दशक में सबसे ज्यादा थी।
  • चिल्का झील एक खारे पानी की झील (brackish water lake) है और पूर्वी भारत में ओडिशा राज्य के पुरी, खुर्दा और गंजम जिलों में फैला एक उथला लैगून है।
  • चिल्का का जल क्षेत्र ग्रीष्मकाल और मानसून के दौरान क्रमशः 900 वर्ग किमी से 1165 वर्ग किमी के बीच है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

शिलांग चैंबर चोइर के संस्थापक नील नोंगकिनरिह का निधन


शिलांग चैंबर चोइर (गायक-मंडली) (Shillong Chamber Choir: SCC) के संस्थापक और प्रसिद्ध पियानोवादक व संगीतकार नील नोंगकिनरिह का 5 जनवरी, 2021 को मुंबई में निधन हो गया। वे 51 वर्ष के थे।

(Image Source: https://www.shillongchamberchoir.com/)

  • नील लंदन के प्रतिष्ठित ट्रिनिटी कॉलेज ऑफ म्यूजिक और गिल्डहॉल स्कूल ऑफ म्यूजिक के पूर्व छात्र थे।
  • 'शिलांग चैंबर चोइर' शिलांग, मेघालय में स्थित एक भारतीय गायक-मंडली है, जिसे 2001 में नील नोंगकिनरिह द्वारा स्थापित किया गया था, जो एक बहु-शैली वाली गाना बजाने वाली मंडली है।
  • SCC ने 2010 में रियलिटी टीवी शो 'इंडियाज गॉट टैलेंट' जीता। उसी वर्ष शाओजिंग, चीन में 'वर्ल्ड चोइर गेम्स' (World Choir Games) में तीन श्रेणियों - 'म्यूजिक सैक्रा' (Music Sacra) , गॉस्पेल (Gospel) और पॉपुलर (Popular) में गोल्ड अवार्ड भी जीते।
  • 2010 में, SCC ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और मिशेल ओबामा की भारत यात्रा के दौरान प्रस्तुति दी थी।
  • विशेष रूप से SCC के 'वंदे मातरम' संस्करण को लाइव टेलीकास्ट कार्यक्रम भारतीय अंतरिक्ष रॉकेट चंद्रयान - 2 के चंद्रमा पर उतरने के दौरान बजाया गया था।
  • नील को 2015 में 'पद्म श्री' से सम्मानित किया गया था।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

पेटीएम पेमेंट्स बैंक को मिला आरबीआई से अनुसूचित बैंक का दर्जा


पेटीएम की सहयोगी इकाई 'पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड' (पीपीबीएल) ने दिसंबर 2021 में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से अनुसूचित बैंक का दर्जा प्राप्त किया है और इसे भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 की दूसरी अनुसूची में शामिल किया गया है।

  • अनुसूचित भुगतान बैंक होने के नाते, पेटीएम पेमेंट्स बैंक अब सरकार और अन्य बड़े निगमों द्वारा जारी प्रस्तावों के लिए अनुरोध (आरएफपी), प्राथमिक नीलामी, निश्चित दर और परिवर्तनीय दर रेपो और रिवर्स रेपो के साथ ही सीमांत स्थायी सुविधा में भाग ले सकता है।
  • पेटीएम पेमेंट्स बैंक अब सरकार द्वारा संचालित वित्तीय समावेशन योजनाओं में भागीदारी के लिए भी पात्र होगा।
  • पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी सतीश कुमार गुप्ता हैं।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

छ: ‘एक जिला एक उत्पाद’ ब्रांड लॉन्च


केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने 5 जनवरी, 2022 को नई दिल्ली में ‘प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना’ (Pradhan Mantri Formalisation of Micro food processing Enterprises: PMFME) के तहत छ: ‘एक जिला एक उत्पाद’ (ODOP) ब्रांड लॉन्च किए।

महत्वपूर्ण तथ्य: छ: ब्रांड अमृत फल, कोरी गोल्ड, कश्मीरी मंत्र, मधु मंत्र, सोमदाना और दिल्ली बेक्स के होल व्हीट कुकीज लॉन्च किए गए।

  • आंवला जूस के लिए 'अमृत फल ब्रांड' को विशेष रूप से गुरुग्राम, हरियाणा के लिए ODOP अवधारणा के तहत विकसित किया गया है।
  • 'कोरी गोल्ड ब्रांड' को धनिया पाउडर के लिए विकसित किया गया है, जो कोटा, राजस्थान के लिए तैयार किया गया ODOP उत्पाद है।
  • 'ब्रांड कश्मीरी मंत्र' कुलगाम, जम्मू और कश्मीर से मसालों का सत है।
  • सहारनपुर, उत्तर प्रदेश से शहद के लिए ODOP अवधारणा के तहत 'ब्रांड मधु मंत्र' विकसित किया गया है।
  • 'ब्रांड सोमदाना' को ठाणे, महाराष्ट्र से मिलेट की ODOP अवधारणा के तहत विकसित किया गया है। यह रागी का आटा एक अनूठा उत्पाद है, जो ग्लूटेन मुक्त, आयरन, फाइबर और कैल्शियम से भरपूर होता है।
  • 'होल व्हीट कुकीज, दिल्ली बेक्स ब्रांड' के तहत विकसित किया गया दूसरा उत्पाद है।

अन्य तथ्य: आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत शुरू की गई, PMFME योजना एक केंद्र प्रायोजित योजना है, जिसमें 2020-21 से 2024-25 तक पांच वर्षों की अवधि में 10,000 करोड़, रुपये के परिव्यय के साथ मौजूदा सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्यमों के उन्नयन के लिए 2,00,000 सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों को सीधे सहायता प्रदान करने की योजना है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

भारत का शहद निर्यात


5 जनवरी, 2021 को वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अनुसार गुणवत्तापूर्ण उत्पादन और नए देशों में बाजार विस्तार सुनिश्चित करने के माध्यम से कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) शहद निर्यात को बढ़ावा देने पर जोर दे रहा है।

(Image Source: https://www.thehindubusinessline.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: एपीडा की यह पहल मधुमक्खी पालन और संबद्ध गतिविधियों को बढ़ावा देने के माध्यम से शहद की निर्यात क्षमता का दोहन करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'मीठी क्रांति' के दृष्टिकोण के अनुरूप है।

  • वर्तमान में, भारत का प्राकृतिक शहद निर्यात मुख्य रूप से एक बाजार ‘संयुक्त राज्य अमेरिका’ पर निर्भर है, जिसकी निर्यात में 80% से अधिक की हिस्सेदारी है।
  • भारत ने 2020-21 के दौरान 716 करोड़ रुपए के 59,999 मीट्रिक टन (MT) प्राकृतिक शहद का निर्यात किया है, जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका को 44,881 मीट्रिक टन शहद निर्यात किया गया है।
  • भारतीय शहद के निर्यात के लिए सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बांग्लादेश और कनाडा अन्य शीर्ष देश थे।
  • 2020 में निर्यात किया गया वैश्विक शहद 736,266.02 मीट्रिक टन है। शहद उत्पादक और निर्यातक देशों में भारत का विश्व में क्रमशः 8वां और 9वां स्थान है।

राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और शहद मिशन: भारत सरकार ने राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और शहद मिशन (NBHM) के लिए तीन साल (2020-21 से 2022-23) के लिए 500 करोड़ रुपये के आवंटन को मंजूरी दी। मिशन की घोषणा फरवरी 2021 में आत्मनिर्भर भारत पहल के हिस्से के रूप में की गई थी। NBHM को 'राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड' के माध्यम से लागू किया जा रहा है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

भारत द्वारा सोने का आयात


भारत ने 2021 में सोने के आयात पर 55.7 बिलियन डॉलर का रिकॉर्ड खर्च किया है।

  • महत्वपूर्ण तथ्य: व्यापक आयात रुझानों पर नजर रखने वाले एक अधिकारी के अनुसार, 2021 का स्वर्ण आयात बिल 2020 में खर्च किए गए 22 बिलियन डॉलर से दोगुना हो गया और 2011 में 53.9 बिलियन डॉलर के पिछले उच्च स्तर को पार कर गया।
  • 2021 में स्थिति सुधरने से त्योहार और शादी के सीजन में गहनों की मांग बढ़ी है, जिसे पूरा करने के लिए कारोबारियों ने सोने का ज्यादा आयात किया।
  • मात्रा के अनुसार, भारत ने 2021 में 1,050 टन आयात किया, जो एक दशक में सबसे अधिक है, और 2020 में आयात किए गए 430 टन से कहीं अधिक है।
  • सोने के खपत के मामले में भारत दुनिया में दूसरे स्थान पर है। देश में सोने की जितनी खपत होती है उसका अधिकांश हिस्सा विदेशों से आयात होता है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

भारत में चीता पुनर्वास के लिए कार्य योजना


केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री, भूपेंद्र यादव ने 5 जनवरी, 2022 को 'भारत में चीता पुनर्वास के लिए कार्य योजना' (Action Plan for Introduction of Cheetah in India) का अनावरण किया।

(Image Source: https://twitter.com/byadavbjp)

महत्वपूर्ण तथ्य: चीता एकमात्र बड़ा मांसाहारी है, जो 1952 में शिकार और निवास स्थान के नुकसान के कारण भारत में विलुप्त हो गया था।

  • कार्य योजना के तहत अगले पांच साल में 50 चीतों का भारत में पुनर्वास किया जाएगा।
  • अब, भारतीय वन्यजीव संस्थान और भारतीय वन्यजीव ट्रस्ट की मदद से, मंत्रालय पहले वर्ष के दौरान दक्षिण अफ्रीका / नामीबिया से लगभग 8-12 चीतों को लाएगा, जहां चीता की दुनिया की सबसे बड़ी आबादी है।
  • पहले चरण में इन्हें मध्य प्रदेश के कुनो पालपुर राष्ट्रीय उद्यान में रखा जाएगा। पांच मध्य भारतीय राज्यों में सर्वेक्षण किए गए दस स्थलों में से, 748 वर्ग किलोमीटर कुनो पालपुर राष्ट्रीय उद्यान 'निवास स्थान' और 'पर्याप्त शिकार आधार' के मामले में चीता स्थानान्तरण के लिए सबसे उपयुक्त है।
  • आईयूसीएन की खतरे वाली प्रजातियों की लाल सूची के तहत चीता को 'अतिसंवेदनशील' प्रजाति (vulnerable) के रूप में वर्गीकृत किया गया है। आबादी में गिरावट के बीच मुख्य रूप से अफ्रीकी सवाना में इनकी 7,000 से कम संख्या है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

टाइगर रिजर्व का जल स्रोत एटलस


केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने 5 जनवरी, 2021 को ‘टाइगर रिजर्व के जल स्रोत एटलस’ का विमोचन किया, जिसमें भारत के बाघ वाले क्षेत्रों के सभी जल निकायों का मानचित्रण किया गया है।

(Image Source: https://twitter.com/byadavbjp/)

महत्वपूर्ण तथ्य: एटलस में शिवालिक पहाड़ियों और गंगा के मैदानी परिदृश्य, मध्य भारतीय परिदृश्य और पूर्वी घाट, पश्चिमी घाट परिदृश्य, उत्तर पूर्वी पहाड़ियों और ब्रह्मपुत्र बाढ़ के मैदान और सुंदरबन सहित कई क्षेत्रों में ऐसे निकायों की उपस्थिति के बारे में जानकारी है।

  • एटलस को रिमोट-सेंसिंग डेटा और भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) मैपिंग का उपयोग करके एक साथ रखा गया है।
  • एटलस वन प्रबंधकों को उनकी भविष्य की संरक्षण रणनीतियों को आकार देने के लिए आधारभूत जानकारी प्रदान करेगा।
  • टाइगर रिजर्व सिर्फ बाघों के लिए नहीं है बल्कि 35 से अधिक नदियाँ इन्हीं क्षेत्रों से निकलती हैं, जो जल सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण हैं।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

जलवायु परिवर्तन और सुरक्षा पर संयुक्त राष्ट्र का मसौदा प्रस्ताव


दिसंबर 2021 में भारत ने जलवायु को सुरक्षा से जोड़ने वाले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में एक मसौदा प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: भारत का कहना है कि यह जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (यूएनएफसीसीसी) से जलवायु वार्ता को सुरक्षा परिषद में स्थानांतरित करने का प्रयास था।

  • प्रस्ताव आयरलैंड और नाइजर द्वारा प्रायोजित किया गया था, लेकिन यह पारित नहीं हुआ। यूएनएससी के 12 सदस्यों ने इसके लिए मतदान किया, भारत और रूस ने इसके खिलाफ मतदान किया और चीन मतदान से दूर रहा।
  • दिसंबर के लिए यूएनएससी की अध्यक्षता करने वाले नाइजर ने 9 दिसंबर को 'अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा का रखरखाव: आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन के संदर्भ में सुरक्षा' शीर्षक से एक बहस का आयोजन किया।
  • इस बहस का एक उद्देश्य आतंकवाद और सुरक्षा जोखिमों को जलवायु परिवर्तन से जोड़े जाने वाले पहलुओं की जांच करना था।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

नासा का जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप


नासा के जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप (James Webb Space Telescope) को 25 दिसंबर, 2021 को दक्षिण अमेरिका के फ्रेंच गुयाना स्थित कोरोऊ लॉन्च स्टेशन से एरियन-5 रॉकेट के माध्यम से सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया।

(Image Source: https://www.nasa.gov/)

महत्वपूर्ण तथ्य: दुनिया के सबसे बड़े और सबसे शक्तिशाली स्पेस टेलीस्कोप को हमारे सौर मंडल से परे ब्रह्मांड और पृथ्वी जैसे ग्रहों (Earth-like planets) की उत्पत्ति के रहस्यों की खोज करने के लिए कक्षा में सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया है।

  • यह हमारे सौर मंडल के साथ-साथ अन्य तारों की परिक्रमा करने वाले ग्रहों का पता लगाएगा, जिन्हें एक्सोप्लैनेट कहा जाता है।
  • इसे नासा, कनाडाई अंतरिक्ष एजेंसी (CSA) और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ESA) द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया गया है।
  • नासा के अनुसार यह ‘हबल टेलीस्कोप’ का उत्तराधिकारी है, जिसे वर्ष 1990 में पृथ्वी की निम्न कक्षा में लॉन्च किया गया था। हबल स्पेस टेलीस्कोप ने 1.4 मिलियन से अधिक अवलोकन किये हैं।
  • वेब टेलीस्कोप पृथ्वी से लगभग 1 मिलियन मील की दूरी पर सौर कक्षा में अपने गंतव्य तक पहुंच जाएगा, जिसे दूसरा लैग्रेंज बिंदु या L2 कहा जाता है।
  • वेब का विशेष कक्षीय पथ इसे पृथ्वी के साथ निरंतर संरेखण में रखेगा क्योंकि ग्रह और दूरबीन मिलकर सूर्य का चक्कर लगाते हैं।
  • जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप का नाम 1960 के दशक के दौरान अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख रहे 'जेम्स एडविन वेब' के नाम पर रखा गया है। वेब को 10 साल तक काम करने के लिए डिजाइन किया गया है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

'अनाथों की मां' सिंधुताई सपकाल का निधन


'अनाथंची माई' या 'अनाथों की माँ' (Mother of orphans) के नाम से प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता सिंधुताई सपकाल का 4 जनवरी, 2021 को पुणे के एक निजी अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे 73 वर्ष की थीं।

(Image Source: https://www.sindhutaisapkal.org/)

  • अत्यधिक गरीबी में पली-बढ़ी सिंधुताई पुणे के हडपसर इलाके में एक अनाथालय 'सनमती बाल निकेतन संस्था' चलाया करती थी।
  • उन्होंने इस अनाथालय में 1,000 से अधिक अनाथ बच्चों को गोद लिया और उनकी देखभाल की।
  • सपकाल को उनके काम के लिए 700 से अधिक पुरस्कारों से सम्मानित किया गया, जिसमें 2021 में ‘पद्म श्री’ भी शामिल है। उन्हें 2010 में महाराष्ट्र सरकार की ओर से 'अहिल्याबाई होल्कर पुरस्कार' से भी सम्मानित किया गया।
  • 2010 में, सपकाल की एक मराठी बायोपिक 'मी सिंधुताई सपकाल' को महाराष्ट्र में रिलीज किया गया था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप नियुक्ति

वी.एस. पठानिया ने संभाला भारतीय तटरक्षक महानिदेशक का पदभार


वी.एस. पठानिया ने 31 दिसंबर, 2021 को कृष्णास्वामी नटराजन से भारतीय तटरक्षक बल के 24वें महानिदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया।

(Image Source: PIB)

  • अपने 36 वर्षों से अधिक समय के शानदार करियर में उन्होंने कई प्रमुख नियुक्तियों पर कार्य किया है।
  • पठानिया ने तटरक्षक जहाजों के सभी वर्गों अर्थात् तटवर्ती गश्ती पोत 'रानीजिंदन', अपतटीय गश्ती जहाज 'विग्रह' और उन्नत अपतटीय गश्ती पोत 'सारंग' की कमान संभाली है।
  • उन्हें नवंबर 2019 में अतिरिक्त महानिदेशक के पद पर पदोन्नत किया गया और विशाखापत्तनम में तटरक्षक कमांडर (पूर्वी समुद्र तट) के रूप में पदभार संभाला।
  • वी. एस. पठानिया को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति का तटरक्षक पदक, वीरता के लिए तटरक्षक पदक तथा महानिदेशक भारतीय तट रक्षक प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया गया है।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री द्वारा त्रिपुरा में विभिन्न पहलों की शुरुआत


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 जनवरी, 2022 को अपने त्रिपुरा दौरे के दौरान अगरतला में 'मुख्यमंत्री त्रिपुरा ग्राम समृद्धि योजना' और '100 विद्याज्योति स्कूल परियोजना मिशन' पहलों का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री त्रिपुरा ग्राम समृद्धि योजना: इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण स्तर पर मुख्य विकास क्षेत्रों में सेवा प्रदान (service delivery) के लिए बेंचमार्क मानकों को प्राप्त करना है।

  • इस योजना के लिए चुने गए प्रमुख क्षेत्रों में घरेलू नल कनेक्शन, घरेलू बिजली कनेक्शन, हर मौसम में सड़कें, हर घर के लिए क्रियाशील शौचालय, प्रत्येक बच्चे के लिए अनुशंसित टीकाकरण, स्वयं सहायता समूहों में महिलाओं की भागीदारी आदि शामिल हैं।

100 विद्याज्योति स्कूल परियोजना मिशन: इस परियोजना का उद्देश्य राज्य में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करना है, जिसमें 100 मौजूदा हाई स्कूल / उच्च माध्यमिक विद्यालयों को अत्याधुनिक सुविधाओं और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ विद्याज्योति विद्यालयों में परिवर्तित किया जा रहा है।

  • यह परियोजना नर्सरी से बारहवीं कक्षा तक के लगभग 1.2 लाख छात्रों को कवर करेगी और अगले तीन वर्षों में लगभग 500 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

सामयिक खबरें आर्थिकी

महाराजा बीर बिक्रम हवाई अड्डा


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 जनवरी, 2022 को अपने त्रिपुरा दौरे के दौरान अगरतला में 'महाराजा बीर बिक्रम हवाई अड्डे' के नए एकीकृत टर्मिनल भवन का उद्घाटन किया।

(Image Source: https://travel.economictimes.indiatimes.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: प्रधानमंत्री ने कहा कि त्रिपुरा हीरा मॉडल (HIRA model) के आधार पर अपनी कनेक्टिविटी को मजबूत और विस्तारित कर रहा है। HIRA यानी H से हाईवे, I से इंटरनेट वे, R से रेलवे और A से एयरवेज।

  • लगभग 450 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित महाराजा बीर बिक्रम हवाई अड्डे का नया एकीकृत टर्मिनल भवन आधुनिक सुविधाओं से युक्त और नवीनतम आईटी नेटवर्क-एकीकृत प्रणाली द्वारा समर्थित 30,000 वर्ग मीटर में फैला एक अत्याधुनिक भवन है।
  • महाराजा बीर बिक्रम हवाई अड्डा मूल रूप से द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान तत्कालीन रियासत के राजा बीर बिक्रम किशोर माणिक्य देबबर्मन के सहयोग से अमेरिकी वायु सेना द्वारा बनाया गया था।
  • इसे पहले ‘अगरतला हवाई अड्डे’ के नाम से जाना जाता था और 2018 में इसका नाम बदल दिया गया।

सामयिक खबरें आर्थिकी

कार्ड टोकनाइजेशन


भारतीय रिजर्व बैंक ने कार्ड-ऑन-फाइल (CoF) टोकननाइजेशन (tokenisation) मानदंडों के कार्यान्वयन की तारीख 30 जून, 2022 तक बढ़ा दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: ज्ञात हो कि सितंबर 2021 में, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने व्यापारियों को 1 जनवरी, 2022 से अपने सर्वर पर ग्राहक कार्ड विवरण संग्रहीत करने से प्रतिबंधित कर दिया था और कार्ड स्टोरेज के विकल्प के रूप में कार्ड-ऑन-फाइल (CoF) टोकन को अपनाने को अनिवार्य कर दिया था। यह घरेलू, ऑनलाइन खरीद पर लागू होता है।

  • कार्ड टोकनाइजेशन एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके तहत वास्तविक क्रेडिट और डेबिट कार्ड के विवरण को को एक यूनीक कोड या टोकन के जरिए बदला जाएगा।
  • यह टोकन, कार्ड, टोकन अनुरोधकर्ता और डिवाइस के संयोजन (combination of card, token requestor and device) के लिए अद्वितीय (unique) होगा।
  • एक टोकनयुक्त कार्ड लेनदेन को सुरक्षित माना जाता है क्योंकि लेनदेन प्रक्रिया के दौरान वास्तविक कार्ड विवरण व्यापारी के साथ साझा नहीं किया जाता है।
  • एक से अधिक कार्ड के मामले में, प्रत्येक को टोकन देना होगा।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

बहु निकाय केंद्र


केंद्र सरकार ने राज्यों से 'बहु निकाय केंद्र' (Multi Agency Centre: MAC) के माध्यम से अधिक से अधिक खुफिया जानकारी साझा करने के लिए कहा है।

महत्वपूर्ण तथ्य: MAC इंटेलिजेंस ब्यूरो के तहत एक आम आतंकवाद विरोधी ग्रिड है, जिसे 2001 में कारगिल युद्ध के बाद शुरू किया गया था।

  • 3 जनवरी, 2022 को एक उच्च स्तरीय बैठक में, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पुलिस महानिदेशकों से MAC के माध्यम से पर्याप्त जानकारी और कार्रवाई योग्य इनपुट साझा करने को कहा।
  • रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ), सशस्त्र बल और राज्य पुलिस सहित 28 संगठन इस प्लेटफॉर्म का हिस्सा हैं। विभिन्न सुरक्षा एजेंसियां MAC पर रीयल-टाइम इंटेलिजेंस इनपुट साझा करती हैं।
  • आईबी ने समिति को सूचित किया था कि आतंकवाद विरोधी प्रयासों में किसी भी तरह से शामिल सभी संगठन इस केंद्र के सदस्य हैं। सभी राज्यों की राजधानियों में एक 'सहायक बहु एजेंसी केंद्र' (Subsidiary Multi Agency Centre: SMAC) है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

विश्व असमानता रिपोर्ट 2022


पेरिस स्थित एक वैश्विक शोध पहल 'वर्ल्ड इनइक्वेलिटी लैब' (World Inequality Lab) द्वारा दिसंबर 2021 में 'विश्व असमानता रिपोर्ट 2022' (World Inequality Report 2022) प्रकाशित की गई।

(Image Source: https://wid.world/)

महत्वपूर्ण तथ्य: दुनिया की सबसे गरीब आधी आबादी के पास "मुश्किल से कोई संपत्ति है" (कुल संपत्ति का सिर्फ 2%) है, जबकि सबसे अमीर 10% आबादी के पास 76% संपत्ति है।

  • सबसे अमीर 10% आबादी का वर्तमान में वैश्विक आय में 52% हिस्सा है और सबसे गरीब 50% आबादी की वैश्विक आय में मात्र 8% हिस्सेदारी है।
  • मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका दुनिया के सबसे असमान क्षेत्र हैं, जबकि यूरोप में असमानता का स्तर सबसे कम है।

भारत की स्थिति: भारत एक गरीब और अत्यधिक असमान देश है, जिसकी शीर्ष 1% आबादी के पास 2021 में कुल राष्ट्रीय आय का पांचवां हिस्सा था और निचले स्तर की 50% आबादी के पास सिर्फ 13% हिस्सा था।

  • भारत में 1% सबसे अमीर आबादी के पास 2021 में कुल राष्ट्रीय आय का 22% हिस्सा है, जबकि सबसे अमीर 10% आबादी के पास आय का 57% हिस्सा है।
  • भारत में महिला श्रम आय 18.3% है, जो एशिया के औसत से कम है, जो 2019 में 27% थी।
  • भारतीय वयस्क आबादी की औसत राष्ट्रीय आय 2,04,200 रुपये है। निचले स्तर की 50% आबादी की औसत राष्ट्रीय आय 53,610 रुपये है, जबकि शीर्ष 10% आबादी की आय इससे 20 गुना अधिक, अर्थात 11,66,520 रुपए है।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021


विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा दिसंबर 2021 में जारी विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021 के अनुसार, 2020 में नोवेल कोरोना वायरस बीमारी (COVID-19) के कारण मलेरिया से निपटने के वैश्विक प्रयास प्रभावित हुए हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: यदि शीघ्र कार्रवाई नहीं की जाती है, तो दुनिया में मलेरिया बीमारी के तत्काल फिर से उभरने का खतरा है, खासकर अफ्रीका में।

मलेरिया से मौतें: 2020 में अनुमानित 627,000 मलेरिया मौतें हुईं, जो 2019 की तुलना में 12% की वृद्धि को दर्शाता है।

  • अतिरिक्त 69,000 मौतों में से 47,000 (68%) मौतें कोविड-19 के दौरान मलेरिया की रोकथाम, निदान और उपचार में व्यवधान के कारण हुई।

अफ्रीका में मामले: WHO का अफ्रीकी क्षेत्र, 2020 में अनुमानित 228 मिलियन मलेरिया के मामलों के साथ, लगभग 95% मामलों के लिए जिम्मेदार था।

  • विश्व स्तर पर मलेरिया के 96% मामलों में 29 देशों का योगदान रहा।
  • छ: देशों - नाइजीरिया, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य, युगांडा, मोजाम्बिक, अंगोला और बुर्किना फासो का वैश्विक स्तर पर सभी मलेरिया के मामलों में लगभग 55% का योगदान था।

अन्य तथ्य: डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में 83% मलेरिया मामलों में भारत का योगदान है। श्रीलंका को 2016 में मलेरिया मुक्त प्रमाणित किया गया था और वह मलेरिया मुक्त बना हुआ है।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

सर्वेक्षण पोत ‘संध्याक’


दिसंबर 2021 में भारतीय नौसेना के लिए बनाए जा रहे सर्वेक्षण पोत (लार्ज) परियोजना के तहत चार जहाजों में से पहला ‘संध्याक’ (Sandhayak) कोलकाता में लांच किया गया।

(Image Source:PIB)

महत्वपूर्ण तथ्य: जहाज का शुभारंभ नौसेना की सामुद्रिक परंपरा के अनुरूप रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट की पत्नी पुष्पा भट्ट ने अथर्ववेद के मंत्रजाप से किया।

  • यह जहाज (पोत) रक्षा क्षेत्र में सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स (जीआरएसई) लिमिटेड, द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है। इस पोत का हुगली नदी में जलावतरण किया गया।
  • ये सर्वेक्षण पोत बंदरगाहों और हार्बर के पूर्ण पैमाने पर तटीय और गहरे पानी वाले हाइड्रोग्राफिक सर्वेक्षण और नौवहन चैनलों और मार्गों के निर्धारण में सक्षम हैं।
  • इसके अलावा ये जहाज समुद्री सीमाओं का सर्वेक्षण करने और रक्षा अनुप्रयोगों हेतु समुद्र संबंधी और भौगोलिक डेटा के संग्रह में भी सक्षम हैं।
  • एक यूटिलिटी हेलीकॉप्टर सहित इन जहाजों में वापसी के लिए एक हैंगर भी होगा। इसमें लागत के हिसाब से 80% से अधिक स्वदेशी सामग्री का उपयोग किया गया है।
  • 30 अक्टूबर‚ 2018 को 2435 करोड़ रुपये की कुल लागत से रक्षा मंत्रालय और जीआरएसई के बीच चार सर्वेक्षण पोत के निर्माण हेतु अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए थे।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

बॉब वर्ल्ड वेव


बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) ने 13 दिसंबर, 2021 को संपूर्ण स्वास्थ्य इकोसिस्टम के साथ एकीकृत भुगतान के लिए एक पहनने योग्य डिवाइस (wearable device) 'बॉब वर्ल्ड वेव' ((bob World Wave) लॉन्च करने के लिए भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) के साथ साझेदारी की है।

  • बॉब वर्ल्ड वेव ग्राहकों को अपने ऑक्सीजन स्तर, शरीर के तापमान, हृदय गति और रक्तचाप की निगरानी करने में सक्षम करेगा।
  • बॉब वर्ल्ड वेव के साथ, बैंक ऑफ बड़ौदा व्यक्तिगत स्वास्थ्य कोच, डॉक्टर टेली-परामर्श और वीडियो कोचिंग के साथ-साथ एक विशेष 3 महीने का मुफ्त आरोग्य पैकेज प्रदान कर रहा है।
  • डिवाइस से सभी पॉइंट ऑफ सेल उपकरणों में 5,000 रुपए तक का संपर्क रहित भुगतान किया जा सकता है। ग्राहक पिन का उपयोग करके 5,000 रुपए से अधिक का संपर्क रहित भुगतान कर सकते हैं।

राज्य समाचार केरल

केरल की सिल्वरलाइन परियोजना


राजनीतिक दलों के साथ-साथ नागरिक संगठन जैसे 'के-रेल सिल्वरलाइन विरुद्ध जनकीय समिति' केरल की सिल्वरलाइन परियोजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

(Image Source: https://www.newindianexpress.com)

  • पर्यावरणविदों का मानना है कि सिल्वरलाइन से पर्यावरण को बहुत नुकसान होगा क्योंकि इसका मार्ग कीमती आर्द्रभूमि, धान के खेतों और पहाड़ियों से होकर गुजरता है।

सिल्वरलाइन परियोजना: यह एक सेमी हाई स्पीड रेलवे परियोजना है।

  • प्रस्तावित 529.45 किलोमीटर की रेलवे लाइन दक्षिण में तिरुवनंतपुरम को उत्तर में कासरगोड से जोड़ेगी, जिसमें 11 स्टेशनों के माध्यम से 11 जिलों को शामिल किया जाएगा।
  • परियोजना के पूरा होने पर कासरगोड से तिरुवनंतपुरम के बीच यात्रा का समय 12 घंटे से घटकर चार घंटे से भी कम हो जाएगा।

कार्यान्वयन: केरल रेल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (KRDCL) द्वारा निष्पादित की जा रही इस परियोजना की समय सीमा 2025 है।

  • KRDCL, केरल सरकार और केंद्रीय रेल मंत्रालय के बीच एक संयुक्त उद्यम है, जिसे बड़ी रेलवे परियोजनाओं को निष्पादित करने के लिए बनाया गया है।

परियोजना की विशेषताएं: इसमें इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट (ईएमयू) प्रकार की ट्रेनें चलाई जाएंगी। प्रत्येक ट्रेन में 9 डिब्बे होंगे, जिन्हें 12 तक बढ़ाया जा सकता है।

एक डिब्बे में बिजनेस और स्टैंडर्ड क्लास में अधिकतम 675 यात्री बैठ सकते हैं। मानक गेज ट्रैक पर ट्रेनें 220 किमी/घंटा की अधिकतम गति से चल सकती हैं।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास


अंतरराष्ट्रीय टेस्ट हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने 24 दिसंबर, 2021 को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की।

(Image Source: https://www.reuters.com/)

  • हरभजन ने 1998 में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। अपने शानदार करियर मेंउन्होंने 103 टेस्ट में 417 विकेट, 236 एकदिवसीय मैचों में 269 विकेट और 28 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 25 विकेट लिए।

खेल समाचार विविध

‘मीट द चैम्पियंस’ अभियान


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनूठे स्कूल यात्रा अभियान ‘मीट द चैम्पियंस’ को आगे बढ़ाते हुए, भारतीय पहलवान और टोक्यो ओलम्पिक के कांस्य पदक विजेता बजरंग पुनिया ने 23 दिसंबर, 2021 को हरियाणा के पानीपत में आरोही मॉडल स्कूल का दौरा किया और युवा छात्रों से मिलकर संतुलित आहार, फिटनेस और खेल के महत्व के बारे में बातचीत की।

  • यह अनूठी पहल सरकार के 'आजादी का अमृत महोत्सव' का हिस्सा है, और दिसंबर माह में गुजरात में ओलम्पिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा द्वारा शुरू की गई थी।
  • इस विशेष स्कूल अभियान का आयोजन शिक्षा मंत्रालय और युवा मामले एवं खेल मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है।
  • अपनी यात्रा के दौरान, एथलीट अपने स्वयं के अनुभव, जीवन के अनुभव, अगला महान खिलाड़ी बनने से जुड़े सुझावों को साझा करेंगे और स्कूली बच्चों को समग्र रूप से प्रेरणादायक प्रोत्साहन देंगे।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

महत्वपूर्ण और रणनीतिक खनिज आवश्यकताओं में आत्मनिर्भरता


राष्ट्र की खनिज सुरक्षा सुनिश्चित करने और महत्वपूर्ण और रणनीतिक खनिजों के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए, खान मंत्रालय ने नेशनल एल्युमिनियम कंपनी लिमिटेड (नाल्को), हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड और मिनरल एक्सप्लोरेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एमईसीएल) की सहभागिता के साथ एक संयुक्त उद्यम कंपनी 'खनिज बिदेश इंडिया लिमिटेड' (Khanij Bidesh India Ltd: KABIL) बनाई है।

महत्वपूर्ण तथ्य: KABIL का गठन लिथियम, कोबाल्ट आदि जैसे महत्वपूर्ण और रणनीतिक प्रकृति की विदेशी खनिज संपत्तियों की पहचान और अधिग्रहण करने के लिए किया गया है।

  • आत्मनिर्भर भारत को और बढ़ावा देने के उद्देश्य से यह पहल ई-मोबिलिटी, नवीकरणीय ऊर्जा, चिकित्सा, एयरोस्पेस, विमानन आदि जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों की आवश्यकताओं को पूरा करेगी।
  • मान्यता प्राप्त अध्ययन और चयन मानदंड के आधार पर, चुनिंदा स्रोत देशों को विदेशों में खनिज संपत्ति अधिग्रहण की संभावनाओं की खोज के लिए चुना गया है।
  • वर्तमान में खनिज बिदेश इंडिया लिमिटेड की भागीदारी ऑस्ट्रेलिया, अर्जेंटीना, बोलीविया और चिली जैसे स्रोत देशों के साथ चल रही है, जो उद्धृत महत्वपूर्ण और रणनीतिक खनिजों से संपन्न हैं।

पीआईबी न्यूज राष्ट्रीय

प्रौद्योगिकी हेतु राष्ट्रीय शैक्षिक गठबंधन 3.0


केंद्रीय शिक्षा मंत्री और कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने 3 जनवरी, 2022 को क्षेत्रीय भाषाओं में ‘प्रौद्योगिकी हेतु राष्ट्रीय शैक्षिक गठबंधन 3.0’ (National Educational Alliance for Technology: NEAT 3.0) का शुभारंभ किया।

(Image Source: https://neat.aicte-india.org/)

महत्वपूर्ण तथ्य: यह देश के छात्रों को सर्वोत्तम विकसित एड-टेक (शिक्षा प्रौद्योगिकी) समाधान और पाठ्यक्रम प्रदान करने के लिए एक एकल मंच है।

  • केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने इस अवसर पर क्षेत्रीय भाषाओं में एआईसीटीई द्वारा निर्धारित तकनीकी पुस्तकों का भी विमोचन किया।

प्रौद्योगिकी हेतु राष्ट्रीय शैक्षिक गठबंधन (NEAT): यह शिक्षा क्षेत्र में सर्वोत्तम विकसित तकनीकी समाधानों का उपयोग करने के लिए शिक्षार्थियों की सुविधा के लिए एक मंच पर युवाओं की रोजगार क्षमता को बढ़ाने के लिए एक पहल है।

  • ये समाधान बेहतर अधिगम परिणामों (learning outcomes) और कौशल विकास के लिए व्यक्तिगत और अनुकूलित अधिगम अनुभव के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का उपयोग करते हैं।
  • अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई), शिक्षा मंत्रालय योजना को क्रियान्वित करने की प्रक्रिया में सुविधा प्रदाता के रूप में कार्य कर रहा है तथा यह सुनिश्चित करने का प्रयास करता है कि समाधान बड़ी संख्या में सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े छात्रों के लिए स्वतंत्र रूप से उपलब्ध हों।

महत्व: विशेष रूप से आर्थिक रूप से वंचित छात्रों के बीच डिजिटल अंतर को पाटने में NEAT एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी में अनुसंधान के लिए कल्पना चावला केंद्र


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 3 जनवरी, 2022 को चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में 'अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी अनुसंधान के लिए कल्पना चावला केंद्र' (Kalpana Chawla Centre for Research in Space Science & Technology: KCCRSST) का उद्घाटन किया।

(Image Source: https://pib.gov.in// and https://www.brilliantread.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: अंतरिक्ष विज्ञान, उपग्रह विकास में छात्रों को प्रशिक्षण प्रदान करने और अंतरिक्ष अनुसंधान में भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के उद्देश्य से स्थापित, अत्याधुनिक KCCRSST चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्र उपग्रह (Chandigarh University's Student Satellite: CUSat) के लिए एक ग्राउंड कंट्रोल स्टेशन होगा।

  • CUSat विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा डिजाइन किया जा रहा एक इन-हाउस विकसित नैनो-उपग्रह है और अन्य परियोजनाओं के अलावा अनुसंधान के लिए एक भू-स्थानिक केंद्र (Geo-Spatial Centre for research) है।
  • 2022 में 75वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर अंतरिक्ष में लॉन्च किए जाने वाले 75 छात्र-निर्मित उपग्रहों में से CUSat भी एक होगा।
  • चंडीगढ़ विश्वविद्यालय अब आईआईटी कानपुर, आईआईटी बॉम्बे जैसे 13 संस्थानों की सूची में शामिल हो गया है और अपने स्वयं के उपग्रह को डिजाइन और विकसित करने वाला उत्तर भारत का पहला विश्वविद्यालय बन गया है।
  • CUSat के प्रक्षेपण के साथ, पंजाब अंतरिक्ष में अपना उपग्रह भेजने वाला भारत का पहला सीमावर्ती राज्य बन जाएगा।
  • CUSat सीमा घुसपैठ का पता लगाने, कृषि, मौसम पूर्वानुमान, प्राकृतिक आपदा पूर्वानुमान से संबंधित डेटा एकत्र करेगा, जो इन क्षेत्रों में विभिन्न समस्याओं के अनुसंधान और अध्ययन में सहायक होगा।

सामयिक खबरें आर्थिकी

ऑफलाइन माध्यम में छोटे मूल्य के डिजिटल भुगतान को मंजूरी


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 3 जनवरी, 2022 को ऑफलाइन माध्यम में छोटे मूल्य के डिजिटल भुगतान की सुविधा के लिए फ्रेमवर्क जारी किया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह एक ऐसा कदम है, जो अर्ध-शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देगा।

  • फ्रेमवर्क में सितंबर 2020 और जून 2021 के बीच देश के विभिन्न हिस्सों में किए गए ऑफलाइन लेनदेन पर प्रायोगिक प्रयोगों से प्राप्त फीडबैक शामिल हैं।
  • एक ऑफलाइन डिजिटल भुगतान का अर्थ एक ऐसा लेनदेन है, जिसमें इंटरनेट या दूरसंचार कनेक्टिविटी की आवश्यकता नहीं होती है।
  • इस नए फ्रेमवर्क के तहत, इस तरह के भुगतान किसी भी चैनल या साधन जैसे कार्ड, वॉलेट, मोबाइल डिवाइस आदि का उपयोग करके आमने-सामने (निकटता मोड में) किए जा सकते हैं।
  • इस तरह के लेनदेन के लिए प्रमाणीकरण के अतिरिक्त कारक (Additional Factor of Authentication: AFA) की आवश्यकता नहीं होगी। चूंकि लेनदेन ऑफलाइन हैं, इसलिए ग्राहक को एक समय अंतराल के बाद अलर्ट (एसएमएस और/या ई-मेल के माध्यम से) प्राप्त होंगे।
  • प्रति लेनदेन 200 रुपए की सीमा है और सभी लेनदेन के लिए कुल 2,000 रुपए की सीमा है। शेष राशि की पुनःपूर्ति केवल एक ऑनलाइन मोड में हो सकती है अर्थात वॉलेट में फिर से 2000 रुपए रखने के लिए ऑनलाइन माध्यम का इस्तेमाल करना होगा।
  • आरबीआई के अनुसार यह फ्रेमवर्क तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

पश्चिमी घाट में खोजी गई दो नई पौधों की प्रजातियां


जनवरी 2022 में एसएनएम कॉलेज मलियांकारा, एम.एस. स्वामीनाथन रिसर्च फाउंडेशन और पय्यानूर कॉलेज ने तिरुवनंतपुरम और वायनाड जिलों में जैव विविधता संपन्न पश्चिमी घाट क्षेत्रों से दो नई पौधों की प्रजातियों 'फिम्ब्रिस्टिलिस सुनिलि' (Fimbristylis sunilii) और 'निनोटिस प्रभुई' (Neanotis prabhuii) की खोज की जानकारी दी है।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: आईयूसीएन रेड लिस्ट के तहत इन दोनों पादप प्रजाति को 'आंकड़ों की कमी' (data deficient) के रूप में वर्गीकृत गया है।

फिम्ब्रिस्टिलिस सुनिलि: यह 'सायपेरेसी' (Cyperaceae) परिवार का एक बारहमासी पौधा है, जो लंबाई में 20-59 सेमी होता है।

  • तिरुवनंतपुरम में पोनमुडी पहाड़ियों के घास के मैदानों से एकत्रित, फिम्ब्रिस्टाइलिस सुनिलि का नाम वनस्पति वर्गीकरण विज्ञानी एवं एसएनएम कॉलेज के सेवानिवृत्त प्रोफेसर 'सी.एन. सुनील' के नाम पर रखा गया है।

निनोटिस प्रभुई: यह एक बारहमासी जड़ी बूटी है। इसका नाम सीएसआईआर-राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान, लखनऊ के वरिष्ठ वैज्ञानिक के.एम. प्रभुकुमार के नाम पर रखा गया है।

  • वायनाड के चेम्बरा पीक घास के मैदानों में खोजा गया, यह पादप 'रुबियासी' (Rubiaceae) परिवार से है और अधिक ऊंचाई वाले घास के मैदानों पर उगता है।
  • यह 70 सेमी लंबाई तक का पुष्पीय पादप है, जिसमें हल्के गुलाबी रंग की पंखुड़ियों वाले फूल खिलते हैं।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित व्यक्ति

स्वतंत्रता सेनानी रानी वेलु नचियार


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 जनवरी, 2021 को तमिलनाडु की स्वतंत्रता सेनानी रानी वेलू नचियार की 292वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

(Image Source: https://www.amritmahotsav.nic.in/)

  • रानी वेलु नचियार (3 जनवरी, 1730 - 25 दिसंबर, 1796) तमिलनाडु के शिवगंगई जिले की 18वीं सदी की रानी थीं, जिन्हें ब्रिटिश औपनिवेशिक सत्ता के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाली पहली रानी के रूप में जाना जाता है।
  • उन्हें तमिल लोग 'वीरमंगई' (Veeramangai) के नाम से जानते हैं। वह रामनाथपुरम की राजकुमारी थी।
  • वह रामनाद साम्राज्य के राजा चेल्लामुथु विजयरागुनाथ सेतुपति और रानी सकंधिमुथल की इकलौती संतान थीं।
  • रानी वेलु नचियार को युद्ध में हथियारों के उपयोग, वलारी, सिलंबम (छड़ी का उपयोग करके लड़ना), घुड़सवारी और तीरंदाजी जैसे मार्शल आर्ट में प्रशिक्षित किया गया था।
  • 1796 में मृत्यु से पहले वेलु नचियार ने 10 से अधिक वर्षों तक शिवगंगई पर शासन किया।
  • 31 दिसंबर, 2008 को उनकी याद में एक डाक टिकट जारी किया गया था।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

विश्व ब्रेल दिवस (4 जनवरी)


महत्वपूर्ण तथ्य: विश्व ब्रेल दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा दिसंबर 2018 में की गई थी। इस दिवस को नेत्रहीन फ्रांसीसी लुई ब्रेल की जयंती के रूप में भी मनाया जाता है, जिन्होंने 15 वर्ष की आयु में दृष्टि-बाधित या नेत्रहीन लोगों द्वारा पढ़ने और लिखने के उपयोग हेतु स्पर्शनीय 'ब्रेल' लिपि का आविष्कार किया था।

संक्षिप्त खबरें संस्थान-संगठन

गणितीय विज्ञान संस्थान


गणितीय विज्ञान संस्थान (IMSc), चेन्नई ने 3 जनवरी, 2022 को अपनी स्थापना के 60 वर्ष पूरे कर लिए हैं।

(Image Source: https://www.imsc.res.in/)

  • गणितीय विज्ञान संस्थान को मैटसाइंस (Matscience) के नाम से भी जाता है। यह चेन्नई में स्थित सैद्धांतिक भौतिकी, गणित, सैद्धांतिक कंप्यूटर विज्ञान और कम्प्यूटेशनल जीव विज्ञान के क्षेत्रों में मौलिक अनुसंधान के लिए एक स्वायत्त राष्ट्रीय संस्थान है।
  • 3 जनवरी, 1962 को चेन्नई में अल्लादी रामकृष्णन द्वारा इसकी स्थापना की गई थी।
  • संस्थान एक बोर्ड और एक अकादमिक परिषद द्वारा शासित है। संस्थान के वर्तमान निदेशक वी. रवींद्रन हैं।
  • गणितीय विज्ञान संस्थान में अनुसंधान भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग और तमिलनाडु सरकार द्वारा समर्थित है।
  • 1984 में, परमाणु ऊर्जा विभाग (DAE) ने संस्थान का कार्यभार संभाला। संस्थान में सैद्धांतिक कंप्यूटर विज्ञान प्रभाग को शुरू करने के लिए 1986 में, कंप्यूटर वैज्ञानिक पी.एस. त्यागराजन और कई अन्य कंप्यूटर वैज्ञानिक संस्थान में शामिल हुए।

राज्य समाचार राजस्थान

लिग्नाइट खनन


राजस्थान सरकार बीकानेर जिले के गुढ़ा पश्चिम (Gudha West) में लिग्नाइट के खनन और इसके आसपास के क्षेत्र में एक नया लिग्नाइट आधारित ताप विद्युत संयंत्र की स्थापना के लिए एक महत्वाकांक्षी रोड मैप तैयार कर रही है।

  • संयुक्त कार्य योजना से राज्य की बिजली उत्पादन क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि होने की संभावना है।
  • गुढ़ा पश्चिम में 10 लाख टन की लिग्नाइट खनन क्षमता उपलब्ध थी, जहां वर्ष 2005 में भी 125 से 135 मेगावाट क्षमता का बिजली संयंत्र स्थापित करने की योजना थी।
  • केंद्र सरकार का नेवेली लिग्नाइट कॉरपोरेशन पहले से ही गुढ़ा पूर्व (Gudha East) में अपने बिजली संयंत्र में बिजली पैदा कर रहा है।
  • लिग्नाइट एक निम्न श्रेणी का कोयला है, जिसे अक्सर ‘भूरे कोयले’ के रूप में जाना जाता है। यह एक नरम, भूरा, दहनशील, तलछटी चट्टान है, जो प्राकृतिक रूप से संकुचित पीट से बनती है।
  • लिग्नाइट में 25% -35% कार्बन होता है और इसमें सभी कोयला रैंकों की ऊर्जा सामग्री सबसे कम होती है।

खेल समाचार चर्चित खेल व्यक्तित्व

अनुभवी पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद हफीज ने लिया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास


पाकिस्तान के हरफनमौला क्रिकेटर मोहम्मद हफीज ने 18 साल तक 392 मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने के बाद 3 जनवरी, 2022 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है।

(Image Source: https://www.icc-cricket.com/)

  • 41 वर्षीय हफीज ने 2018 में टेस्ट क्रिकेट छोड़ दिया था और लॉर्ड्स में 2019 विश्व कप में अपना आखिरी एकदिवसीय मैच खेला था, जबकि अंतिम टी-20 मैच 'टी-20 विश्व कप 2021' में खेला था।
  • हफीज ने पाकिस्तान की ओर से 55 टेस्ट मैच, 218 एकदिवसीय और 119 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 12,780 रन बनाए हैं। हफीज ने तीनों प्रारूपों में अपनी ऑफ स्पिन गेंदबाजी से 253 विकेट भी हासिल किए हैं।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

एग्रीटेक चैलेंज कोहॉर्ट


अटल नवाचार मिशन (एआईएम), नीति आयोग और संयुक्त राष्ट्र पूंजी विकास कोष (यूएनसीडीएफ) ने अपने महत्वाकांक्षी अभिनव कृषि-तकनीक कार्यक्रम के लिए 21 दिसंबर, 2021 को अपना पहला ‘एग्रीटेक चैलेंज कोहॉर्ट’ (AgriTech Challenge cohort) शुरू किया।

उद्देश्य: कोरोना महामारी के परिणामस्वरूप पैदा हुई चुनौतियों से निपटने में एशिया और अफ्रीका के छोटे किसानों की मदद करना।

महत्वपूर्ण तथ्य: अटल नवाचार मिशन (एआईएम) ने यूएनसीडीएफ, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन और राबो फाउंडेशन के साथ साझेदारी में जुलाई 2021 में नवाचारों, अंतर्दृष्टि (insights) और निवेश के सीमा पार आदान-प्रदान को सक्षम करने के लिए एक 'दक्षिण-दक्षिण नवाचार मंच' (South-South innovation platform) लॉन्च किया।

  • इस मंच के माध्यम से, भारत, इंडोनेशिया, मलावी, मलेशिया, केन्या, युगांडा, जाम्बिया में उभरते बाजारों के बीच सीमा पार सहयोग (cross-border collaborations) को सक्षम किया जाएगा।
  • इसके पहले प्लेटफॉर्म एग्रीटेक चैलेंज कोहॉर्ट और एग्री-फिनटेक इनोवेटर्स के लिए, दो ट्रैक- मुख्य ट्रैक (Main track) और एआईएम ट्रैक (AIM track) के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय बाजारों में उनके विस्तार की सुविधा के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे।
  • मुख्य ट्रैक अनुप्रयोगों का मुख्य उद्देश्य 'विस्तार - चुने हुए अंतरराष्ट्रीय बाजार में सहायता समाधान पायलट' (Expansion - Support solution pilot in the chosen international market) था।
  • कोहॉर्ट छोटे किसानों की मूल्य शृंखला में समाधानों की एक विविध श्रेणी का प्रतिनिधित्व करता है, जिसमें मृदा विश्लेषण, कृषि प्रबंधन और इंटेलिजेंस, डेयरी इकोसिस्टम, कार्बन क्रेडिट, सौर-आधारित कोल्ड स्टोरेज, डिजिटल मार्केटप्लेस, फिनटेक, पशुधन बीमा, आदि शामिल हैं।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

पृथ्वी पर सकुशल लौटे जापानी अंतरिक्ष पर्यटक


एक जापानी अरबपति युसाकु मेजावा, उसके निर्माता और एक रूसी अंतरिक्ष यात्री अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर 12 दिन बिताने के बाद 20 दिसंबर, 2021 को सकुशल पृथ्वी पर लौट आए।

महत्वपूर्ण तथ्य: फैशन कारोबारी युसाकु मेजावा, उनके प्रोड्यूसर योजो हिरानो और रूसी अंतरिक्ष यात्री अलेक्जेंडर मिसुर्किन रूसी सोयुज अंतरिक्ष यान से झेज्काजगन शहर से करीब 148 किलोमीटर दूर दक्षिण पूर्व में कजाखस्तान में उतरे।

  • मेजावा (46) और उनके 36 वर्षीय प्रोड्यूसर हिरानो वर्ष 2009 के बाद खुद पैसे चुकाकर अंतरिक्ष केंद्र जाने वाले पहले पर्यटक हैं।
  • मेजावा एक ऑनलाइन रिटेल ब्रांड, जोजो इंक के संस्थापक हैं। उन्होंने 1998 में जापान के सबसे बड़े ऑनलाइन शॉपिंग मॉल की स्थापना की और सितंबर 2019 में इसके सीईओ के रूप में इस्तीफा दे दिया था।
  • अक्टूबर 2021 में, रूसी अभिनेता यूलिया पेरसिल्ड और फिल्म निर्देशक क्लिम शिपेंको ने ऑर्बिट में दुनिया की पहली फिल्म बनाने के लिए स्टेशन पर 12 दिन बिताए थे, हालांकि, उनकी परियोजना को रूस के अंतरिक्ष निगम रोसकोसमोस ने प्रायोजित किया था।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

भारत का पहला स्वदेशी सर्वर 'रुद्र'


केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी और कौशल विकास और उद्यमिता राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने 3 दिसंबर,2021 को भारत का पहला स्वदेशी सर्वर- 'रुद्र' लॉन्च किया।

(Image Source: https://twitter.com/cdacindia)

महत्वपूर्ण तथ्य: इसे इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा समर्थित 'राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन' के तहत सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग (सी-डैक) द्वारा विकसित किया गया है।

  • 'रुद्र' सर्वर इंटेल एक्सकॉन स्केलेबल प्रोसेसर प्रौद्योगिकी की वर्तमान पीढ़ी पर आधारित सुरक्षित, विश्वसनीय, डुअल सॉकेट है जो तेज गणना को समर्थन देता है। इसकी कंप्यूटिंग क्षमता 3.6 T1 से लेकर 34 IT तक है।
  • हाई-परफार्मेंस कंप्यूटिंग सिस्टम, हाइपरस्केल डेटा सेंटर, एज कंप्यूटिंग, बैंकिंग और वाणिज्य, विनिर्माण, तेल और गैस उद्योग, स्वास्थ्य, शिक्षा, मनोरंजन उद्योग, रक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा सहित विभिन्न क्षेत्रों को स्वदेशी रूप से निर्मित सर्वर से अत्यधिक लाभ होगा।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित पुस्तक

चर्चित पुस्तक


  • 'बरकत: द इन्स्पिरेशन एंड द स्टोरी बीहाइंड वन ऑफ वर्ल्ड्स लार्जेस्ट फूड ड्राइव्ज फीड इंडिया' (Barkat: The Inspiration and the Story Behind One of World’s Largest Food Drives FEED INDIA)-- विकास खन्ना
  • 'द बैचलर डैड: माई जर्नी टू फादरहुड एंड मोर' (The Bachelor Dad: My Journey To Fatherhood And More) -- तुषार कपूर
  • 'लाल सलाम: एक उपन्यास' (Lal Salaam: A Novel) -- स्मृति जुबिन ईरानी
  • 'राज कपूर: द मास्टर एट वर्क' (Raj Kapoor: The Master at Work) -- राहुल रवैल और प्राणिका शर्मा
  • 'प्योर एविल: द बैड मैन ऑफ बॉलीवुड' (Pure Evil: The Bad Men of Bollywood) -- बालाजी विट्टल
  • 'रेबल्स अगेंस्ट द राजः वेस्टर्न फाइटर्स फॉर इंडियाज फ्रीडम' (Rebels Against the Raj: Western Fighters for India’s Freedom) -- रामचंद्र गुहा
  • 'जस्टिस फॉर द जज: एक आत्मकथा' (JUSTICE FOR THE JUDGE: AN AUTOBIOGRAPHY) -- रंजन गोगोई

राज्य समाचार आंध्र प्रदेश

भारत की पहली हरित हाइड्रोजन माइक्रोग्रिड परियोजना आंध्र प्रदेश में


भारत की पहली हरित हाइड्रोजन माइक्रोग्रिड परियोजना आंध्र में स्थापित की जा रही है।

(Image Source: https://auto.economictimes.indiatimes.com/)

  • एनटीपीसी ने सिम्हाद्री (विशाखापत्तनम के पास) के एनटीपीसी गेस्ट हाउस में इलेक्ट्रोलाइजर का उपयोग करके हाइड्रोजन उत्पादन के साथ ही 'एकल ईंधन-सेल आधारित माइक्रो-ग्रिड' परियोजना की शुरुआत की है।
  • यह भारत की पहली ‘हरित हाइड्रोजन आधारित ऊर्जा भंडारण परियोजना’ होगी और दुनिया की सबसे बड़ी परियोजनाओं में से एक होगी।
  • परियोजना के तहत नजदीक के फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट से इनपुट पावर लेकर उन्नत 240 किलोवाट सॉलिड ऑक्साइड इलेक्ट्रोलाइजर का उपयोग करके हाइड्रोजन का उत्पादन किया जाएगा।
  • यह परियोजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2070 तक कार्बन न्यूट्रल बनने और लद्दाख को कार्बन-न्यूट्रल क्षेत्र बनाने के दृष्टिकोण के अनुरूप है।

खेल समाचार टेनिस

डेविस कप 2021


रूसी टेनिस महासंघ ने 5 दिसंबर, 2021 को मैड्रिड में क्रोएशिया के खिलाफ डेविस कप फाइनल 2021 का खिताब जीत लिया।

  • डेनिल मेदवेदेव ने दूसरे एकल मैच में मारिन सिलिच को 7-6 (7, 6-2) से पराजित कर रूस को क्रोएशिया पर 2-0 की खिताबी जीत दिलाई।
  • यह रूस का तीसरा डेविस कप खिताब है, और 2006 के बाद पहला खिताब है।
  • 25 नवंबर से 5 दिसंबर‚ 2021 तक टेनिस में पुरुष वर्ग की सबसे प्रतिष्ठित टीम प्रतियोगिता डेविस कप का फाइनल मैड्रिड‚ स्पेन में संपन्न हुआ।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

नीति आयोग ने किया संयुक्त राष्ट्र खाद्य कार्यक्रम के साथ आशय घोषणापत्र पर हस्ताक्षर


नीति आयोग ने संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) के साथ 20 दिसंबर, 2021 को एक आशय घोषणापत्र पर हस्ताक्षर किये हैं।

साझेदारी का लक्ष्य: मोटे अनाज को मुख्यधारा में लाने पर ध्यान केन्द्रित करना और 2023 के अंतरराष्ट्रीय कदन्न वर्ष (International Year of Millet) होने के नाते भारत को ज्ञान के आदान-प्रदान के क्षेत्र में विश्व का नेतृत्व करने में समर्थन प्रदान करना।

  • छोटी जोत के किसानों के लिये सतत आजीविका के अवसर बनाना, जलवायु परिवर्तन को देखते हुये क्षमताओं को अपनाना और खाद्य प्रणाली में बदलाव लाना।
  • भारत में खाद्य और पोषण सुरक्षा में वृद्धि के लिए जलवायु अनुकूल कृषि को मजबूत करने के लिए नीति आयोग और डब्ल्यूएफपी के बीच रणनीतिक और तकनीकी सहयोग पर ध्यान केंद्रित करना।
  • इस साझेदारी के परिणामों को चार चरणों में हासिल किया जाएगा।

अन्य तथ्य: मोटे अनाज या कदन्न फसलों (ज्वार, बाजरा, रागी, मड़ुवा, सावां, कोदों, कुटकी, कंगनी, चीना आदि मोटे अनाज) के महत्त्व को पहचान कर इनके उत्पादन को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य सेभारत सरकार ने 2018 को कदन्न वर्ष के रूप में मनाया था। भारत सरकार ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में 2023 को अंतरराष्ट्रीय कदन्न दिवस के रूप में घोषित करने के प्रस्ताव का नेतृत्व भी किया था।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

चौथा राज्य स्वास्थ्य सूचकांक 2019-20


नीति आयोग ने 27 दिसंबर, 2021 को 'चौथा राज्य स्वास्थ्य सूचकांक 2019-20' (fourth State Health Index 2019–20) जारी किया।

(Image Source: https://www.niti.gov.in/)

महत्वपूर्ण तथ्य: 'हेल्दी स्टेट्स, प्रोग्रेसिव इंडिया' (Healthy States, Progressive India) शीर्षक वाली यह रिपोर्ट राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों को स्वास्थ्य परिणामों में साल-दर-साल वृद्धिशील प्रदर्शन के साथ-साथ उनकी समग्र स्थिति के आधार पर रैंक करती है।

  • यह रिपोर्ट केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और विश्व बैंक के सहयोग से नीति आयोग द्वारा संकलित की गई है।
  • स्वास्थ्य सूचकांक स्कोर संकेतकों के एक बड़े समूह में राज्यों के प्रदर्शन के आधार पर तैयार किया जाता है, जो तीन व्यापक डोमेन - स्वास्थ्य परिणाम, शासन और सूचना, और प्रमुख इनपुट / प्रक्रियाओं पर आधारित हैं।
  • इसमें 19 बड़े राज्यों, 8 छोटे राज्यों और 7 केंद्र-शासित प्रदेशों का सर्वेक्षण किया गया है। पर्याप्त डेटा की अनुपलब्धता के कारण इसमें पश्चिम बंगाल और लद्दाख को शामिल नहीं किया गया।
  • समग्र सूची में केरल लगातार चौथी बार शीर्ष स्थान पर है।

बड़े राज्य: बड़े राज्यों में, केरल और तमिलनाडु सूची में सबसे ऊपर हैं, जबकि तेलंगाना तीसरे स्थान पर है।

  • उत्तर प्रदेश रैंकिंग में सबसे नीचे है। हालांकि, यह वृद्धिशील प्रदर्शन के मामले में शीर्ष पर है। इसने 43 संकेतकों में से 33 पर अपने प्रदर्शन में सुधार किया है।
  • वार्षिक वृद्धिशील प्रदर्शन के मामले में उत्तर प्रदेश, असम और तेलंगाना शीर्ष तीन रैंकिंग वाले राज्य हैं।

छोटे राज्य: छोटे राज्यों में मिजोरम सबसे अच्छा और नागालैंड सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले राज्यों के रूप में उभरा।

केंद्र-शासित प्रदेश: दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव सूची में सबसे ऊपर और अंडमान और निकोबार सबसे नीचे है।

  • दिल्ली और जम्मू और कश्मीर समग्र प्रदर्शन में केंद्र-शासित प्रदेशों में सबसे निचले स्थान पर रहे, लेकिन वृद्धिशील प्रदर्शन में सूची में सबसे ऊपर थे।

सामयिक खबरें राष्ट्रीय

बांध सुरक्षा विधेयक 2019


2 दिसंबर, 2021 को देश में बांध सुरक्षा अधिनियमन का मार्ग प्रशस्त करते हुए संसद द्वारा ऐतिहासिक बांध सुरक्षा विधेयक 2019 पारित किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: विधेयक देश भर में सभी निर्दिष्ट बांधों की निगरानी, निरीक्षण, संचालन और रखरखाव का प्रावधान करता है। ये 15 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले बांध हैं, या कुछ डिजाइन और संरचनात्मक शर्तों के साथ 10 मीटर से 15 मीटर के बीच की ऊंचाई वाले बांध हैं।

  • यह दो राष्ट्रीय निकायों के गठन का प्रावधान करता है-बांध सुरक्षा पर राष्ट्रीय समिति, जिसके कार्यों में बांध सुरक्षा मानकों के संबंध में नीतियों को विकसित करना और विनियमों की सिफारिश करना शामिल है;
  • और राष्ट्रीय बांध सुरक्षा प्राधिकरण, जिसके कार्यों में राष्ट्रीय समिति की नीतियों को लागू करना, राज्य बांध सुरक्षा संगठनों को तकनीकी सहायता प्रदान करना और राज्य बांध सुरक्षा संगठनों के बीच के मामलों को हल करना शामिल है।
  • यह दो राज्य निकायों के गठन का प्रावधान भी करता है: बांध सुरक्षा पर राज्य समिति, और राज्य बांध सुरक्षा संगठन। ये निकाय अपने अधिकार क्षेत्र में बांधों के संचालन और रखरखाव की चौकसी, निरीक्षण और निगरानी के लिए जिम्मेदार होंगे।
  • विधेयक के तहत अपराध करने पर दो साल तक की कैद या जुर्माना या दोनों हो सकता है।
  • राष्ट्रीय निकायों और बांध सुरक्षा पर राज्य समितियों के कार्यों को विधेयक की अनुसूचियों में प्रदान किया गया है। इन अनुसूचियों में सरकारी अधिसूचना द्वारा संशोधन किया जा सकता है।

अन्य तथ्य: चीन और अमेरिका के बाद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश है, जहाँ बांधों की संख्या सबसे ज्यादा है। हमारे देश में करीब 5,700 बड़े बांध हैं, जिनमें से करीब 80% बांध 25 वर्ष से भी ज्यादा पुराने हैं।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

राष्ट्रपति कोविंद ने किया पुनर्निर्मित रमना काली मंदिर का उद्घाटन


17 दिसंबर, 2021 को, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बांग्लादेश की राजधानी ढाका के रमना में पुनर्निर्मित रमना काली मंदिर का उद्घाटन किया।

(Image Source: https://twitter.com/MEAIndia)

महत्वपूर्ण तथ्य: इस मंदिर को 1971 के युद्ध के दौरान जघन्य 'ऑपरेशन सर्चलाइट' के दौरान पाकिस्तानी सेना द्वारा पूरी तरह से नष्ट कर दिया गया था।

  • रमना काली बाड़ी ढाका का एक प्रसिद्ध स्थल हुआ करता था, जहाँ एक काली मंदिर सदियों से था।
  • पूर्वी पाकिस्तान के राजनीतिक विपक्ष और धार्मिक अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने वाली पाकिस्तानी सेना के ऑपरेशन सर्चलाइट की शुरुआत के एक दिन बाद 27 मार्च, 1971 को मंदिर और मंदिर परिसर में कई निवासियों को निशाना बनाया गया था।
  • भारत ने बांग्लादेश सरकार की मदद से ऐतिहासिक मंदिर के जीर्णोद्धार और संरक्षण का समर्थन किया है। 1971 में पाकिस्तान की हार के 50 साल बाद इसका उद्घाटन हुआ है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार 2021


साहित्य अकादमी ने 30 दिसंबर, 2021 को साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार 2021 के 22 विजेताओं की घोषणा की।

  • तमिल के लिए युवा पुरस्कार की घोषणा बाद में की जाएगी और इस साल राजस्थानी में कोई पुरस्कार नहीं दिया जाएगा।
  • साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार 2021 कविता की नौ पुस्तकों, पांच उपन्यासों, छ: लघु कथाओं और एक-एक निबंध और नाटक के लिए दिया जाएगा।
  • मेघा मजूमदार ने अपने पहले अंग्रेजी उपन्यास 'ए बर्निंग' के लिए युवा पुरस्कार जीता और हिमांशु वाजपेयी ने 'किस्सा किस्सा लखनउवा - लखनऊ के अवामी किस्से' नामक हिंदी लघु कथाओं के संग्रह के लिए युवा पुरस्कार जीता।
  • साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार विजेताओं को एक उत्कीर्ण ताम्रफलक और 50 हजार रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

विजेता सूची-

कविता: गौरब चक्रवर्ती (बंगाली), गौतम दैमारी (बोडो), अरुण आकाश देव (डोगरी), एच लक्ष्मी नारायण स्वामी (कन्नड़), श्रद्धा गरद (कोंकणी), लेनिन खुमानचा (मणिपुरी), अमित मिश्रा (मैथिली), थगुल्ला गोपाल (तेलुगु) और उमर फरहत (उर्दू)।

उपन्यास: मेघा मजूमदार (अंग्रेजी), दृष्टि सोनी (गुजराती), मोबिन मोहन (मलयालम), प्रणव सखादेव (मराठी) और कुना हंसदा (संताली)।

लघु कथा: हिमांशु वाजपेयी (हिंदी), देवव्रत दास (उड़िया), अभिजीत बोरा (असमिया), रजी ताहिर भगत (कश्मीरी), महेश दहल (नेपाली) और श्वेतपद्मा शतपथी (संस्कृत)।

निबंध: वीरदविंदर सिंह (पंजाबी)।

नाटक: राकेश शेवानी (सिंधी)।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप बिजनेस और सार्वजनिक उपक्रम

भारत पेट्रोलियम ने सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के साथ किया समझौता


भारत पेट्रोलियम (बीपीसीएल) ने अक्षय ऊर्जा पोर्टफोलियो को बढ़ाने के लिए नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के तहत एक सार्वजनिक उपक्रम 'सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड' (एसईसीआई) के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

  • एक 'महारत्न' और एक फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) का लक्ष्य 2025 तक 1 गीगावॉट अक्षय ऊर्जा पोर्टफोलियो हासिल करना है।
  • सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसईसीआई) के साथ सहयोग से दोनों संगठनों को सौर, पवन, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, हाइड्रोजन और वेस्ट-टू-एनर्जी सहित अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में अवसरों का पीछा करने के लिए एक-दूसरे की विशेषज्ञता का लाभ उठाने में मदद मिलेगी।
  • लंबी अवधि में, बीपीसीएल का लक्ष्य 2040 तक 10 गीगावॉट के अक्षय ऊर्जा पोर्टफोलियो कॉ हासिल करना है।

राज्य समाचार राजस्थान

मृदा स्वास्थ्य को पुनर्जीवित करने के लिए आदिवासी किसानों की पहल को एफएओ ने दी


मृदा स्वास्थ्य को पुनर्जीवित करने और इसकी जैव विविधता को बहाल करने के लिए दक्षिणी राजस्थान के तीन जिलों में आदिवासी किसानों की एक सामुदायिक पहल को संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) से मान्यता दी गई है।


(Image Source: https://www.thehindu.com/)

  • एफएओ ने मृदा स्वास्थ्य, कृषि उत्पादन और पर्यावरण संरक्षण पर इसके प्रभाव के लिए इस क्षेत्र में अपनाई गई 'पोषण-संवेदनशील कृषि प्रणाली' (nutrition-sensitive farming system) की प्रशंसा की है।
  • आदिवासी बहुल प्रतापगढ़, डूंगरपुर और बांसवाड़ा जिलों में शुरू की गई पहल से बड़ी संख्या में पारंपरिक कृषि पद्धतियों का पुनः प्रवर्तन हुआ है।
  • एफएओ ने इस पहल की सराहना की है और इसे अपने हालिया प्रकाशनों में से एक 'सॉएल बायोडाइवर्सिटी इन एक्शन' (Soil biodiversity in action) विषय के तहत शामिल किया है।
  • पोषण के प्रति संवेदनशील कृषि में प्राकृतिक उर्वरकों के रूप में फलियों के साथ मिश्रित फसल, फसल चक्रण, कृषि-वानिकी, मल्चिंग(mulching), वासभूमि में वृक्षारोपण और कृषि क्षेत्रों के चारों ओर घास के मैदान और घास की पट्टियाँ उगाना शामिल है।

खेल समाचार क्रिकेट

विजय हजारे ट्रॉफी 2021-22


26 दिसंबर, 2021 को सवाई मानसिंह स्टेडियम, जयपुर में खेले गए फाइनल में तमिलनाडु को 11 रन से हराकर हिमाचल प्रदेश ने पहली बार विजय हजारे ट्रॉफी 2021-22 का खिताब अपने नाम किया।

(Image Source: https://circleofcricket.com/)

  • 315 रनों का पीछा करते हुए, हिमाचल ने 47.3 ओवर में शुभम अरोड़ा के शानदार नाबाद 136 रनों की बदौलत चार विकेट पर 299 रन बनाए। खराब रोशनी के चलते खेल को रोकना पड़ा और वीजेडी (VJD) पद्धति के जरिये हिमाचल को 11 रनों से विजेता घोषित किया गया। शुभम अरोड़ा को 'प्लेयर ऑफ द मैच' चुना गया।
  • हिमाचल प्रदेश की कप्तानी ऋषि धवन ने की, जबकि तमिलनाडु की कप्तानी विजय शंकर ने की।
वीजेडी पद्धति बारिश से बाधित सीमित ओवरों के क्रिकेट मैचों में लक्ष्य स्कोर की गणना करने की एक विधि है, जिसे केरल के एक सिविल इंजीनियर वी जयदेवन द्वारा तैयार किया गया है। यह घरेलू क्रिकेट में डीएलएस (डकवर्थ, लुईस और स्टर्न) पद्धति का एक विकल्प है।

पीआईबी न्यूज अंतरराष्ट्रीय

आपराधिक मामलों में पारस्परिक कानूनी सहायता पर संधि


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 15 दिसंबर, 2021 को भारत सरकार और पोलैंड सरकार के बीच आपराधिक मामलों में पारस्परिक कानूनी सहायता संधि को मंजूरी दे दी है।

महत्वपूर्ण तथ्य: संधि का उद्देश्य आपराधिक मामलों में सहयोग और पारस्परिक कानूनी सहायता के माध्यम से अपराध की जांच और अभियोजन में दोनों देशों की प्रभावशीलता में वृद्धि करना है।

  • अंतरराष्ट्रीय अपराध और आतंकवाद के साथ इसके संबंधों के संदर्भ में, प्रस्तावित संधि, अपराध की जांच और अभियोजन के साथ-साथ अपराध के बढ़ने, इसके मददगार उपकरणों तथा आतंकवादी कृत्यों के वित्तपोषण के लिए धनराशि आदि का पता लगाने, रोकने और जब्त करने में पोलैंड के साथ द्विपक्षीय सहयोग के लिए एक व्यापक कानूनी ढांचा प्रदान करेगी।
  • इस संधि पर हस्ताक्षर और पुष्टि के बाद, आपराधिक प्रक्रिया संहिता, 1973 के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत उपयुक्त राजपत्र अधिसूचना जारी की जाएगी, ताकि भारत में संधि के प्रावधानों को प्रभावी तरीके से लागू किया जा सके।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

जीआईएस आधारित स्वचालित जल आपूर्ति प्रणाली


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा 16 दिसंबर, 2021 को रक्षा संपदा दिवस (Defence Estates Day) के अवसर पर छावनी बोर्डों के निवासियों के लिए 'भौगोलिक सूचना तंत्र (जीआईएस) आधारित स्वचालित जल आपूर्ति प्रणाली' (GIS Based Automatic Water Supply System) का शुभारम्भ किया गया।

(Image Source: https://www.bodonews.info/)

महत्वपूर्ण तथ्य: छावनी बोर्डों के लिए जीआईएस आधारित जल आपूर्ति प्रणाली का मॉड्यूल रक्षा सचिव और रक्षा संपदा महानिदेशक, दिल्ली के मार्गदर्शन में ‘भास्कराचार्य इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस एप्लिकेशन एंड जियो इंफॉर्मेटिक्स’ (BISAG) ने विकसित किया है।

  • यह पूरी तरह से स्वचालित है, जो अपने नागरिकों को पानी के कनेक्शन के लिये स्थान को चिह्नित करने में सुविधा प्रदान करती है। यह स्वचालित रूप से सबसे नजदीक स्थित पानी की पाइपलाइन का निर्धारण करता है।
  • यह मॉड्यूल ऑनलाइन पानी कनेक्शन के लिए मंजूरी की सुविधा भी प्रदान करता है।
  • यह जीआईएस प्रणाली देश में अपनी तरह की पहली प्रणाली है। यह ‘न्यूनतम सरकार’ पर आधारित है और ‘अधिकतम शासन’ की अवधारणा का समर्थन करती है क्योंकि इसमें पानी के कनेक्शन की मंजूरी/स्वीकृति के लिए कोई दफ्तरी हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है।

सामयिक खबरें आर्थिकी

उपभोक्ता संरक्षण (सीधी बिक्री) नियम 2021


केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने 28 दिसंबर, 2021 को उपभोक्ता संरक्षण (सीधी बिक्री) नियम, 2021 अधिसूचित किए हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य: मौजूदा सीधी बिक्री करने वाली कंपनियों (Direct Selling entities) को नब्बे दिनों के भीतर इन नियमों का पालन करना होगा।

  • इस नियम के दायरे में सीधी बिक्री करने वाली कंपनियों के अलावा ई-कॉमर्स मंचों पर सीधे ग्राहकों को सामान बेचने वाले विक्रेता भी आएंगे। इन्हें उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम, 2020 की आवश्यकताओं का पालन करना होगा।
  • अब सीधी बिक्री वाले विक्रेता और सीधी बिक्री करने वाली कंपनियां ‘धन प्रसार एवं पिरामिड’ योजनाएं (Pyramid Scheme or money circulation scheme) नहीं चला सकेंगे। राज्य सरकारेंइनकी गतिविधियों की निगरानी के लिए एक व्यवस्था स्थापित करेंगी।
  • उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए सीधी बिक्री वाले विक्रेता और कंपनियां वस्तुओं या सेवाओं की बिक्री से उत्पन्न होने वाली शिकायतों के लिए उत्तरदायी होंगी।
  • सीधी बिक्री करने वाली कंपनियों के मामले में, उन्हें कंपनी अधिनियम, 2013 के तहत निगमित किया जाना चाहिए। यदि एक साझेदारी फर्म है, तो साझेदारी अधिनियम, 1932 के तहत और यदि सीमित देयता भागीदारी फर्म हो तो सीमित देयता भागीदारी अधिनियम, 2008 के तहत पंजीकृत होना चाहिए।

सामयिक खबरें अंतर्राष्ट्रीय

तीसरा भारत-मध्य एशिया संवाद


तीसरा भारत-मध्य एशिया संवाद (The third India-Central Asia Dialogue) 18-19 दिसंबर, 2021 को नई दिल्ली में आयोजित किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: यह भारत और मध्य एशियाई देशों जैसे- कजाखस्तान, किर्गिजस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उज्बेकिस्तान के बीच एक मंत्री स्तरीय संवाद है।

  • तीसरे भारत-मध्य एशिया संवाद के हिस्से के रूप में विचार-विमर्श के अंत में एक संयुक्त वक्तव्य जारी किया गया।
  • इसके अनुसार अफगान निवासियों के लिए ‘तत्काल’ मानवीय सहायता प्रदान करना महत्वपूर्ण था।
  • भारत से भूमि व्यापार (land trade) पर पाकिस्तान के अवरोध को देखते हुए, देशों ने चाबहार के माध्यम से समुद्री मार्ग का अधिक उपयोग करने का दृढ़ संकल्प लिया, जो ईरान के माध्यम से सड़क और रेल द्वारा मध्य एशियाई देशों से जुड़ा हुआ है।
  • भारत ने मध्य एशियाई देशों के भारत और उसके बाहर अपने व्यापार को सुविधाजनक बनाने के लिए चाबहार बंदरगाह पर शहीद बेहेश्ती टर्मिनल की सेवाओं का उपयोग करने का स्वागत किया है।
  • भारत और मध्य एशियाई देशों के बीच वस्तुओं और सेवाओं की मुक्त आवाजाही के मुद्दों के समाधान के लिए संयुक्त कार्य समूहों की स्थापना की संभावनाओं का भी संवाद में फैसला लिया गया।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

बाल साहित्य पुरस्कार 2021


साहित्य अकादमी ने 30 दिसंबर, 2021 को 'बाल साहित्य पुरस्कार 2021' के 22 विजेताओं की घोषणा की।

  • इस साल गुजराती और पंजाबी में कोई पुरस्कार नहीं दिया गया है।
  • अनीता वछरजनी को अंग्रेजी जीवनी 'अमृता शेर-गिल: रेबल विद अ पेंटब्रश' के लिए और हिंदी लेखक देवेंद्र मेवाड़ी ने अपने नाटक "नाटक नाटक में विज्ञान" के लिए बाल साहित्य पुरस्कार 2021 जीता।

अन्य विजेता-

कविता: अनमोल झा (मैथिली), सुदर्शन अंबाटे (नेपाली), दिगराज ब्रह्मा (उड़िया), सोवा हांसदा (संथाली), किशन खुबचंदानी 'रंजयाल' (सिंधी) और कौसर सिद्दीकी (उर्दू)।

उपन्यास: मृणाल चंद्र कलिता (असमिया), बसु बेविनागिडा (कन्नड़), रघुनाथ पलेरी (मलयालम), संजय वाघ (मराठी) और कीर्ति शर्मा (राजस्थानी)।

लघु कथा: सुनीरमल चक्रवर्ती (बंगाली), मजीद मजाजी (कश्मीरी), आशा अग्रवाल (संस्कृत) और मु. मुरुगेश (तमिल)।

लघु उपन्यास: नरसिंह देव जामवाल (डोगरी) और सुमेधा कामत देसाई (कोंकणी)।

लोक कथा: रत्नेश्वर नारजारी (बोडो)।

नाटक संग्रह: निंगोमबम जदुमणि सिंह (मणिपुरी)।

नाटक: देवराजू महाराजू (तेलुगु)।

जीके फैक्ट: 'बाल साहित्य पुरस्कार’ विजेताओं को एक उत्कीर्ण ताम्रफलक और 50 हजार रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

आरबीआई ने किया एनबीएफसी के लिए अक्टूबर 2022 से प्रभावी पीसीए फ्रेमवर्क का अनावरण


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने संकटग्रस्त गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) की वित्तीय स्थिति में सुधार करने के लिए एक त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए फ्रेमवर्क (Prompt Corrective Action) फ्रेमवर्क तैयार करने का निर्णय लिया है।

  • अभी तक आरबीआई ने केवल बैंकों के लिए ही पीसीए फ्रेमवर्क लागू किया था।
  • यह कदम आईएलएंडएफएस, डीएचएफएल, एसआरईआई समूह और रिलायंस कैपिटल जैसी बड़ी एनबीएफसी के पिछले कुछ वर्षों में वित्तीय संकट से गुजरने के कारण उठाया गया है।
  • एनबीएफसी के लिए पीसीए फ्रेमवर्क 31 मार्च, 2022 को या उसके बाद उनकी वित्तीय स्थिति के आधार पर 1 अक्टूबर, 2022 से लागू होगा। एनबीएफसी के लिए पीसीए फ्रेमवर्क की तीन साल बाद समीक्षा की जाएगी।
  • पीसीए फ्रेमवर्क सरकारी कंपनियों को छोड़कर सभी जमा स्वीकार करने वाली एनबीएफसी और मध्यम, ऊपरी और शीर्ष लेयर में शामिल सभी जमा न लेने वाली एनबीएफसीपर लागू होगा।
  • केंद्रीय बैंक तीन संकेतकों को ट्रैक करेगा- पूंजी से जोखिम-भारित संपत्ति अनुपात (CRAR), टीयर I अनुपात और शुद्ध गैर-निष्पादित परिसंपत्तियां (एनएनपीए), जिनमें गैर-निष्पादित निवेश शामिल हैं।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

इंडसइंड बैंक ने की 'ग्रीन सावधि जमा' शुरू करने की घोषणा


दिसंबर 2021 में इंडसइंड बैंक ने 'ग्रीन सावधि जमा' (green fixed deposits) शुरू करने की घोषणा की है, जिससे जमा राशि का उपयोग संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) का समर्थन करने वाली परियोजनाओं और फर्मों के वित्तपोषण के लिए किया जाएगा।

  • ये जमा राशि खुदरा और कॉर्पोरेट दोनों ग्राहकों को दी जाएगी।
  • बैंक इन जमाराशियों से प्राप्त आय का उपयोग एसडीजी श्रेणी के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों की एक विस्तृत शृंखला के वित्तपोषण के लिए करेगा, जिसमें ऊर्जा दक्षता, नवीकरणीय ऊर्जा, हरित परिवहन, स्थायी भोजन, कृषि, वानिकी, अपशिष्ट प्रबंधन और ग्रीनहाउस गैस में कमी शामिल है।

राज्य समाचार ओडिशा

ओडिशा पंचायत कानून (संशोधन) अध्यादेश, 2021


ओडिशा सरकार ने 25 दिसंबर, 2021 को ओडिशा पंचायत कानून (संशोधन) अध्यादेश, 2021 को प्रख्यापित किया है, जिसमें आपदा प्रबंधन गतिविधियों में पंचायती राज संस्थान (पीआरआई) के प्रतिनिधियों की भागीदारी अनिवार्य की गई है।

  • अध्यादेश के माध्यम से ओडिशा ग्राम पंचायत अधिनियम 1964, ओडिशा पंचायत समिति अधिनियम, 1959 और ओडिशा जिला परिषद अधिनियम, 1991 में संशोधन किया गया है।
  • अब तक पंचायती राज संस्था के सदस्य आपदा के समय कार्यपालिका के निर्देशों से शासित होते थे।
  • 1891 और 2021 के बीच, 100 से अधिक उष्णकटिबंधीय चक्रवातों ने ओडिशा को प्रभावित किया है, जिससे यह भारत के सबसे अधिक चक्रवात-प्रवण राज्यों में से एक बन गया है। पिछले 20 वर्षों के दौरान, राज्य में 10 चक्रवात आए हैं।
  • राज्य सरकार के अनुसार, भारत का पूर्वी तट दुनिया के छ: सबसे अधिक चक्रवात संभावित क्षेत्रों में से एक है।
  • इसलिए बचाव, राहत और पुनर्वास प्रक्रिया के दौरान पंचायती राज संस्थाओं के सदस्यों की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है।
अध्यादेश में अन्य प्रावधान: ओडिशा में यदि कोई पंचायती राज संस्था का उम्मीदवार चुनाव में अपने नामांकन में गलत जानकारी देता है, तो उसे छ: महीने तक की कैद या जुर्माना या दोनों हो सकता है।

खेल समाचार क्रिकेट

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम का भारत दौरा 2021


न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने दो टेस्ट और तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज खेलने के लिए 17 नवंबर से 7 दिसंबर, 2021 तक भारत का दौरा किया।

(Image Source: https://scroll.in/)

  • भारत ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज 3-0 से अपने नाम की। भारत के कप्तान रोहित शर्मा को सीरीज में 159 रन बनाने के लिए 'प्लेयर ऑफ द सीरीज' चुना गया।
  • भारत ने 2 टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से जीती।
  • भारत ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट में न्यूजीलैंड को 372 रनों से हराकर टेस्ट सीरीज जीती। भारत के मयंक अग्रवाल को इस टेस्ट में 150 रन और 62 रन की पारी के लिए 'प्लेयर ऑफ द मैच' चुना गया।
  • रविचंद्रन अश्विन को टेस्ट सीरीज में 14 विकेट के लिए 'प्लेयर ऑफ द सीरीज' चुना गया।
  • न्यूजीलैंड के बाएँ हाथ के स्पिन गेंदबाज एजाज पटेल दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में सभी 10 विकेट लेकर टेस्ट क्रिकेट इतिहास में एक पारी में सभी 10 विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज बन गए हैं। दूसरी पारी में उन्होंने 4 विकेट के साथ दूसरे टेस्ट मैच में कुल 14 विकेट लिए।
  • एजाज पटेल से पूर्व इंग्लैंड के जिम लेकर और भारत के अनिल कुंबले ने एक पारी में 10 विकेट लिए हैं।
  • कानपुर में खेले गए पहले टेस्ट मैच में श्रेयस अय्यर अपने पदार्पण टेस्ट मैच में शतक बनाने वाले 16वें भारतीय बल्लेबाज बने।
  • श्रेयस अय्यर अपने पदार्पण टेस्ट में शतक और अर्धशतक बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी भी बने। श्रेयस ने भारत के लिए इस टेस्ट की पारियों में 105 रन और 65 रन बनाए।

सामयिक खबरें आर्थिकी

चीनी सब्सिडी पर भारत के खिलाफ विश्व व्यापार संगठन पैनल की रिपोर्ट


विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के विवाद निपटान निकाय (डीएसबी) द्वारा स्थापित एक पैनल ने14 दिसंबर, 2021 को भारत की चीनी सब्सिडी के खिलाफ फैसला सुनाया है।

महत्वपूर्ण तथ्य: इसने रिपोर्ट को अपनाने के 120 दिनों के भीतर उत्पादन सहायता, बफर स्टॉक और विपणन और परिवहन योजनाओं के तहत अपनी निषिद्ध सब्सिडी को वापस लेने के लिए कहा है।

  • इस रिपोर्ट को विश्व व्यापार संगठन की पूर्ण सदस्यता द्वारा अभी तक अपनाया (या अस्वीकार) किया जाना है।
  • हालांकि विश्व व्यापार संगठन पैनल के निष्कर्ष को भारत ने पूरी तरह से अस्वीकार किया है।

भारत के खिलाफ क्या थी शिकायत? वर्ष 2019 में ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील और ग्वाटेमाला ने डब्ल्यूटीओ में चीनी क्षेत्र में भारत के कुछ नीतिगत उपायों को चुनौती दी थी। उन्होंने दावा किया था कि गन्ना उत्पादकों को भारत द्वारा प्रदान की जाने वाली घरेलू सहायता डब्ल्यूटीओ द्वारा अनुमत सीमा से अधिक है और भारत चीनी मिलों को निषिद्ध निर्यात सब्सिडी प्रदान करता है।

  • 2014-15 से 2018-19 के बीच लगातार पांच चीनी मौसमों के लिए, भारत ने गन्ना उत्पादकों को गन्ना उत्पादन के कुल मूल्य के अनुमत 10 प्रतिशत के स्तर से अधिक गैर-छूट उत्पाद-विशिष्ट घरेलू समर्थन (non-exempt product-specific domestic support) प्रदान किया था।
  • रिपोर्ट के अनुसार भारत कृषि समझौते के अनुच्छेद 7.2 (बी) के तहत अपने दायित्वों के साथ असंगत रूप से कार्य कर रहा है।

सामयिक खबरें पर्यावरण

हैदरपुर आर्द्रभूमि रामसर स्थल की सूची में


उत्तर प्रदेश में स्थित हैदरपुर आर्द्रभूमि को दिसंबर 2021 में अंतरराष्ट्रीय महत्व की आर्द्रभूमि की 'रामसर स्थल' सूची में शामिल किया गया है। भारत में अब कुल 47 रामसर स्थल हो गए हैं।

(Image Source: https://twitter.com/moefcc/)

महत्वपूर्ण तथ्य: मानव निर्मित 'हैदरपुर आर्द्रभूमि' उत्तर प्रदेश के बिजनौर में 6,908 हेक्टेयर क्षेत्र में फैली हुई है।

  • मध्य गंगा बैराज पर गंगा नदी के बाढ़ के मैदान पर 1984 में निर्मित, यह आर्द्रभूमि 'हस्तिनापुर वन्यजीव अभयारण्य' की सीमाओं के भीतर स्थित है।
  • आर्द्रभूमि कई जानवरों और पौधों की प्रजातियों का निवास स्थान है। इसमें पौधों की 30 से अधिक प्रजातियां, पक्षियों की 300 से अधिक प्रजातियां, जिनमें 102 जलपक्षी, 40 से अधिक मछलियां और दस से अधिक स्तनपायी प्रजातियां शामिल हैं।
  • इसके अलावा, यह गंभीर रूप से संकटग्रस्त घड़ियाल, संकटग्रस्त हॉग डियर, ब्लैक-बेलिड टर्न (black-bellied tern), स्टेपी ईगल (steppe eagle), इंडियन स्किमर (Indian skimmer) और गोल्ड महाशीर जैसी वैश्विक रूप से संकटग्रस्त 15 से अधिक प्रजातियों का आवास स्थल भी है।

अन्य तथ्य: रामसर कन्वेंशन के अनुसार, आर्द्रभूमि वे भूमि क्षेत्र हैं, जो स्थायी रूप से या मौसमी रूप से पानी से संतृप्त होते हैं। 'अंत:स्थलीय आर्द्रभूमि' (Inland wetlands) में दलदल, तालाब, झीलें, नदियाँ, बाढ़ के मैदान और अनूप (swamps) शामिल हैं। 'तटीय आर्द्रभूमि' में खारे पानी के दलदल, मुहाना, मैंग्रोव, लैगून और प्रवाल भित्तियाँ और 'मानव निर्मित आर्द्रभूमि' में मछली के तालाब, धान के खेत और साल्टपैन (saltpans) शामिल हैं।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप निधन

रंगभेद नीति के विरोधी डेसमंड टूटू का निधन


नोबेल शांति पुरस्कार विजेता व दक्षिण अफ्रीका के आर्कबिशप रह चुके डेसमंड टूटू का 26 दिसंबर, 2021 को निधन हो गया। वे 90 वर्ष के थे।

(Image Source: https://www.cnbc.com/)

  • उन्हें दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद विरोधी प्रतीक के रूप में जाना जाता है। इतना ही नहीं टूटू को 'देश का नैतिक कम्पास' (country's moral compass) भी कहा जाता है।
  • डेसमंड टूटू ने दक्षिण अफ्रीका में नस्लीय भेदभाव के विरोध के लिए 1984 में नोबेल शांति पुरस्कार जीता था। दो वर्ष के बाद 1986 में वे केपटाउन के पहले आर्कबिशप बनाए गए थे।
  • टूटू ने दक्षिण अफ्रीका का वर्णन करने के लिए 1994 में 'रेनबो नेशन' (Rainbow Nation) शब्द गढ़ा था, जब नेल्सन मंडेला देश के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बने थे।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

कुमार मंगलम बिड़ला 'ग्लोबल एंटरप्रेन्योर ऑफ द ईयर अवॉर्ड' से सम्मानित


सिलिकॉन वैली स्थित 'द इंडस एंटरप्रेन्योर्स' (TiE) ने आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला को 'ग्लोबल एंटरप्रेन्योर ऑफ द ईयर अवॉर्ड - बिजनेस ट्रांसफॉर्मेशन' (Global Entrepreneur of the Year Award - Business Transformation) से सम्मानित किया है।

(Image Source: https:// twitter.com/AdityaBirlaGrp)

  • बिड़ला यह पुरस्कार प्राप्त करने वाले पहले भारतीय उद्योगपति हैं। उन्हें यह पुरस्कार उनके "महामारी से प्रेरित वैश्विक उथल-पुथल की अभूतपूर्व अवधि के दौरान विश्व स्तर पर विविध समूह के असाधारण नेतृत्व" के लिए दिया गया।
  • बिड़ला इस वर्ष पुरस्कार प्राप्त करने वाले वैश्विक उद्यमियों की सूची में शामिल हो गए, जिसमें एलन मस्क (ग्लोबल एंटरप्रेन्योर ऑफ द ईयर अवॉर्ड - आप्रवासी उद्यमी), जेफ बेजोस (ग्लोबल एंटरप्रेन्योर ऑफ द ईयर अवॉर्ड - पहली पीढ़ी) और सत्य नडेला (ग्लोबल एंटरप्रेन्योर ऑफ द ईयर अवॉर्ड - उद्यमी सीईओ) शामिल थे।

राज्य समाचार उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में आठ आयुष अस्पतालों का उद्घाटन


केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 24 दिसंबर, 2021 को राज्य में आठ नए, 50-बेड के एकीकृत आयुष अस्पतालों का उद्घाटन किया।

  • नए आयुष अस्पताल देवरिया, कौशाम्बी, सोनभद्र, लखनऊ, कानपुर, संत कबीर नगर, कानपुर देहात, ललितपुर में स्थित हैं और इन्हें 72 करोड़ रुपये की सामूहिक लागत से बनाया गया है।
  • आयुष मंत्रालय ने राष्ट्रीय आयुष मिशन के तहत केंद्र द्वारा राज्य को आवंटित 553.36 करोड़ रुपए भी जारी किए।
  • उन्होंने अयोध्या में 'आयुर्वेद के लिए एक नए आयुष शैक्षणिक संस्थान' की आधारशिला भी रखी, जिसे 49.83 करोड़ की लागत से बनाया जाएगा।
  • राज्य के विभिन्न हिस्सों में कुल 500 नए ‘आयुष स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों’ का भी उद्घाटन किया गया।
  • उन्नाव, श्रावस्ती, हरदोई, गोरखपुर, संभल और मिर्जापुर में बनने वाले छ: नए 50 बिस्तरों वाले अस्पतालों की भी आधारशिला रखी गई।

राज्य समाचार महाराष्ट्र

शक्ति आपराधिक कानून (महाराष्ट्र संशोधन) विधेयक 2020


महाराष्ट्र विधान सभा ने 23 दिसंबर, 2021 को महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराधों पर 'शक्ति आपराधिक कानून (महाराष्ट्र संशोधन) विधेयक, 2020 को सर्वसम्मति से पारित कर दिया है।

  • महाराष्ट्र आंध्र प्रदेश के बाद भारत का दूसरा राज्य बन गया, जिसने बलात्कार और सामूहिक बलात्कार के जघन्य अपराधों के लिए मृत्युदंड को मंजूरी दी है।

विधेयक के प्रावधान: 16 साल से कम उम्र की महिलाओं के साथ बलात्कार और सामूहिक बलात्कार के जघन्य अपराधों के मामलों में मौत की सजा या आजीवन कारावास।

  • महिला के शील का अपमान करने और संचार के किसी भी माध्यम से महिला को डराने के मामलों में पुरुषों, महिलाओं और ट्रांसजेंडरों को सजा।
  • पुलिस जांच के लिए डेटा साझा करने में विफलता के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, इंटरनेट या मोबाइल टेलीफोनी डेटा प्रदाताओं को तीन महीने तक की कैद और 25 लाख रुपये का जुर्माना या दोनों सजा का प्रावधान।
  • इस तरह के मामलों में 30 दिनों में जांच पूरी करने का प्रावधान। और यदि ऐसा नहीं होता है, तो विशेष महानिरीक्षक या पुलिस आयुक्त से कारण निर्दिष्ट करने के बाद और 30 दिनों का समय दिया जा सकता है।
  • एसिड अटैक के मामले में लागू भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 326ए में संशोधन कर दोषियों को न्यूनतम 15 साल से लेकर अधिकतम उम्र कैद और आर्थिक जुर्माने का प्रावधान किया गया है। साथ ही, पीड़िता के लिए प्लास्टिक सर्जरी आदि का खर्च आरोपी पर लगने वाले आर्थिक जुर्माने से लिया जाएगा।

राज्य समाचार ओडिशा

ओडिशा ने की कॉलेजों के लिए नैतिक कार्यक्रम की घोषणा


छात्रों के बीच अच्छे चरित्र को बढ़ावा देने के लिए, ओडिशा के उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के लिए एक नए गैर-शैक्षणिक कार्यक्रम 'जुबा संस्कार' (Juba Sanskaar) की घोषणा की है।

  • जनवरी 2022 से, जुबा संस्कार (युवाओं में नैतिकता) सभी स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए अनिवार्य होगा और प्रति सेमेस्टर एक क्रेडिट होगा। कोई अतिरिक्त मूल्यांकन या मूल्यांकन नहीं किया जाएगा।
  • यह उन्हें जिम्मेदार नागरिक बनने और समाज के प्रति सकारात्मक योगदान देने में भी मदद करेगा।
  • कार्यक्रम के लिए प्रत्येक संस्थान में तीन स्टाफ सदस्यों को नोडल शिक्षक के रूप में नियुक्त किया जाएगा।
  • मानक अवधि की कक्षा हर महीने एक बार आयोजित की जाएगी, जिसमें सभी छात्रों को अनिवार्य रूप से शामिल होना होगा।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

हिमाचल में जलविद्युत परियोजनाएं


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 दिसंबर, 2021 को हिमाचल प्रदेश में 11,000 करोड़ रुपये से अधिक की जलविद्युत परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया।

महत्वपूर्ण तथ्य: प्रधानमंत्री ने रेणुकाजी बांध परियोजना, धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना तथा लुहरी जलविद्युत परियोजना के पहले चरण की आधारशिला रखी और सावरा-कुड्डू जलविद्युत परियोजना का उद्घाटन किया।

  • रेणुकाजी बांध परियोजना: यह सिरमौर जिले में यमुना की सहायक गिरि नदी पर 6,700 करोड़ रुपये की परियोजना है। यह 40 मेगावाट की स्थापित क्षमता वाले सतही बिजली घर में 200 मिलियन यूनिट ऊर्जा पैदा करेगी।
  • धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना: हमीरपुर और कांगड़ा जिलों में ब्यास नदी पर 66 मेगावाट की धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना का निर्माण 688 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा।
  • लुहरी जलविद्युत परियोजना: शिमला और कुल्लू जिलों में सतलुज नदी पर 210 मेगावाट की यह परियोजना केंद्र और राज्य का एक संयुक्त उद्यम है, जिसे 1,811 करोड़ रुपये की लागत से पूरा किया जाएगा।
  • सावरा-कुड्डू जलविद्युत परियोजना: शिमला जिले में पब्बर नदी पर 2,081.6 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ 111 मेगावाट की इस परियोजना से सालाना 386 मिलियन (38.6 करोड़) यूनिट बिजली पैदा होगी।
  • अन्य तथ्य: प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश के मंडी में 'हिमाचल प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट' के दूसरे ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह की अध्यक्षता भी की। लगभग 28000 करोड़ रुपए की परियोजनाएं धरातल पर उतारी गईं।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

रक्षा प्रौद्योगिकी और परीक्षण केंद्र


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 26 दिसंबर, 2021 को लखनऊ में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा स्थापित किए जाने वाले 'रक्षा प्रौद्योगिकी और परीक्षण केंद्र’ (Defence Technology & Test Centre: DTTC) की आधारशिला रखी।

(Image Source: https://twitter.com/defenceminindia)

महत्वपूर्ण तथ्य: उत्तर प्रदेश डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में रक्षा और एयरोस्पेस विनिर्माण कलस्टरों के विकास में तेजी लाने के लिए लगभग 22 एकड़ में अपनी तरह के पहले DTTC की स्थापना की जा रही है।

  • इस केंद्र में छ: उप-केंद्र शामिल होंगे- डीप-टेक इनोवेशन एंड स्टार्टअप इनक्यूबेशन सेंटर, डिजाइन और सिमुलेशन केंद्र, परीक्षण और मूल्यांकन केंद्र, उद्योग 4.0/डिजिटल विनिर्माण केंद्र, कौशल विकास केंद्र और बिजनेस डेवलपमेंट सेंटर।
  • यह केंद्र उत्तर प्रदेश के अमौसी क्षेत्र में युवा नवोन्मेषकों और स्टार्टअप्स को ध्यान में रखते हुए रक्षा उत्पादों को विकसित करने के लिए प्रौद्योगिकी आधार उपलब्ध कराएगा।

सामयिक खबरें आर्थिकी

रूर्बन मिशन के क्रियान्वयन में तेलंगाना अव्वल


तेलंगाना ‘श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन’ (Shyama Prasad Mukherji Rurban Mission: SPMRM) के कार्यान्वयन में पहले स्थान पर रहा।

महत्वपूर्ण तथ्य: तेलंगाना के संगारेड्डी और कामारेड्डी जिले देश भर के उन 300 क्लस्टर (समूहों) में पहले दो स्थान पर रहे, जहां कार्यक्रम लागू किया जा रहा था।

  • तमिलनाडु और गुजरात ने क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया।
  • तेलंगाना में, 17 क्लस्टर (12 गैर-आदिवासी और पांच आदिवासी) में, कार्यक्रम को 1,885.12 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से लागू किया जा रहा था।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन: केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय के तहत शुरू किये गये श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन को स्थानीय आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करने, बुनियादी सेवाओं को बढ़ाने और सुनियोजित क्लस्टर बनाने के उद्देश्य से वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री द्वारा लॉन्च किया गया था।

देश भर के ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों में रूर्बन क्लस्टरों की पहचान की जाती है, जहां जनसंख्या घनत्व में वृद्धि, गैर-कृषि रोजगार के उच्च स्तर, आर्थिक गतिविधियां बढ़ने और अन्य सामाजिक-आर्थिक पैमाने जैसे शहरीकरण के बढ़ते संकेत मिल रहे हैं।

सामयिक खबरें विज्ञान-प्रौद्योगिकी

एल्बिनो इंडियन फ्लैपशेल टर्टल


दिसंबर 2021 में तेलंगाना के निजामाबाद में सिरनापल्ली वन में, एक अंतरराष्ट्रीय वन फोरेंसिक जांचकर्ता द्वारा 'एल्बिनो इंडियन फ्लैपशेल टर्टल' (ALBINO INDIAN FLAPSHELL TURTLE)की दुर्लभ प्रजाति देखी गई।

(Image Source: https://thehindu.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: इंडियन फ्लैपशेल टर्टल, जिसका वैज्ञानिक नाम 'लिसमिस पंक्टाटा' (Lissemys Punctata) है, दक्षिण एशिया में पाई जाने वाली मीठे पानी की प्रजाति है।

  • यह भारतीय क्षेत्र में सबसे प्रचुर मात्रा में मीठे पानी के कछुओं में से एक है, जिसकी सीमा पाकिस्तान से भारत, नेपाल, बांग्लादेश से लेकर पश्चिमी म्यांमार तक है।
  • प्रजाति अत्यधिक अनुकूलनीय है और विभिन्न जलीय आवासों जैसे- नदियों, तालाबों, गोखुर झीलों (ox-bow lakes), धाराओं, धान के खेतों, नहरों आदि में पाई जाती है।
  • इसके पीले रंग और नरम-खोलदार आकार के कारण इस प्रजाति को स्थानीय रूप से, 'वेल्लामा' (Vellaama) या 'पलामा' (Palaama) कहा जाता है, जिसका अर्थ क्रमशः सफेद कछुआ या दूधिया कछुआ होता है।
  • भारत भर में इस प्रजाति के एल्बिनो प्रकार की उपस्थिति को 'रिकॉर्ड' करने के इससे पहले केवल दो उदाहरण थे - एक बार ओडिशा और फिर पश्चिम बंगाल में।
  • आईयूसीएन रेड लिस्ट में यह प्रजाति 'अतिसंवेदंशील' (Vulnerable) के रूप में सूचीबद्ध है। इंडियन फ्लैपशेल टर्टल भारतीय वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम 1972 की अनुसूची I के तहत संरक्षित है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप पुरस्कार/सम्मान

निजामुद्दीन बस्ती परियोजना ने दो यूनेस्को धरोहर पुरस्कार जीते


दिल्ली में ऐतिहासिक निजामुद्दीन बस्ती समुदाय के समग्र शहरी पुनरोद्धार पर एक परियोजना ने इस वर्ष 'सांस्कृतिक धरोहर संरक्षण के लिए यूनेस्को एशिया-प्रशांत पुरस्कारों' में दो पुरस्कार जीते हैं।

  • निजामुद्दीन में संरक्षण पहल ने 'उत्कृष्टता पुरस्कार' और 'सतत विकास के लिए विशेष मान्यता पुरस्कार' जीता है।
  • यह संरक्षण परियोजना भारत की ओर से एकमात्र पुरस्कार विजेता प्रविष्टि थी।
  • निजामुद्दीन बस्ती में संरक्षण के प्रयास आगा खान ट्रस्ट फॉर कल्चर द्वारा दक्षिण दिल्ली नगर निगम, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण, दिल्ली शहरी विरासत फाउंडेशन और दरगाह समिति और हजरत निजामुद्दीन बस्ती के निवासी समुदाय समूहों के साथ 2007 से साझेदारी में किए जा रहे हैं।
  • वर्ष 2000से, सांस्कृतिक धरोहर संरक्षण कार्यक्रम के लिए यूनेस्को एशिया-प्रशांत पुरस्कार क्षेत्र में विशिष्ट धरोहर वाली संरचनाओं और इमारतों को पुनर्स्थापित करने, संरक्षित करने और रूपांतरित करने में निजी व्यक्तियों और संगठनों के प्रयासों को सम्मानित कर रहा है।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप

पैनेक्स-21


20-22 दिसंबर, 2021 को बिम्सटेक (बहु क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग के लिए बंगाल की खाड़ी पहल) के सदस्य देशों के लिए बहुपक्षीय और बहु-एजेंसी अभ्यास 'पैनेक्स-21' (PANEX-21) सम्पन्न हुआ, जो मानवीय सहायता और आपदा राहत (HADR) पर केंद्रित था।

  • उद्देश्य: बिम्सटेक देशों के आपदा प्रबंधन पहलुओं में कनेक्टिविटी को बढ़ावा देना और क्षमता विकास करना।
  • बिम्सटेक में भारत के अलावा बांग्लादेश, भूटान, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका और थाईलैंड शामिल हैं।

संक्षिप्त खबरें बैंकिंग, फाइनेंस, सेवा और बीमा

पेटीएम वेल्थ एकेडमी


पेटीएम ने दिसंबर 2021 में प्रौद्योगिकी-सक्षम एजुकेशनल प्लेटफॉर्म 'पेटीएम वेल्थ एकेडमी' (Paytm Wealth Academy) लॉन्च करने की घोषणा की है।

  • वेल्थ एकेडमी की शुरुआत अभी 'पेटीएम मनी ऐप' पर हुई, जो पेटीएम की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी 'पेटीएम मनी' के स्वामित्व वाला वेल्थ मैनेजमेंट ऐप है।
  • पेटीएम वेल्थ एकेडमी शुरू में चुनिंदा यूजर्स के लिए उपलब्ध होगी, इसके बाद इसे सभी के लिए शुरू किया जाएगा।
  • पेटीएम वेल्थ एकेडमी उपयोगकर्ताओं को अपने आराम के स्तर पर अपने हिसाब से ट्रेडिंग और वित्तीय कॉन्सेप्ट को सीखने में सक्षम करेगी।

संक्षिप्त खबरें बिजनेस और सार्वजनिक उपक्रम

इसरो ने NavIC संदेश सेवा के अनुसंधान एवं विकास के लिए किया ओप्पो से समझौता


भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 9 दिसंबर, 2021 को NavIC मैसेजिंग सेवा के अनुसंधान और विकास को मजबूत करने के लिए चीनी स्मार्टफोन डिवाइस निर्माता ओप्पो की भारतीय शाखा के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

(Image Source: https://www.isro.gov.in/)

  • NavIC प्रणाली भारतीय मुख्य भूमि और भारतीय मुख्य भूमि से 1,500 किमी तक के क्षेत्र को कवर करने वाली क्षेत्रीय नेविगेशन सेवाएं प्रदान करती है।
  • PNT (स्थिति, नेविगेशन और समय) सेवाएं प्रदान करने के अपने प्राथमिक कार्यों के अलावा, NavIC लघु संदेशों को प्रसारित करने में भी सक्षम है।
  • समझौते के तहत इसरो और ओप्पो इंडिया भारतीय उपयोगकर्ताओं की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए मोबाइल हैंडसेट प्लेटफॉर्म के साथ NavIC मैसेजिंग सेवा को एकीकृत करके तेजी से, उपयोग के लिए तैयार, एंड-टू-एंड एप्लिकेशन-विशिष्ट समाधान तैयार करने के लिए NavIC मैसेजिंग सेवाओं की तकनीकी जानकारी का आदान-प्रदान करेंगे।

संक्षिप्त खबरें सार-संक्षेप चर्चित दिवस

महामारी की तैयारी का अंतरराष्ट्रीय दिवस (27 दिसंबर)


महत्वपूर्ण तथ्य: संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा किए गए आह्वान के आधार पर 2020 में महामारी की तैयारी का पहला अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाया गया था। वैश्विक स्वास्थ्य निकाय डब्ल्यूएचओ के अनुसार, यह दिवस महामारी से रोकथाम, तैयारी और उसके खिलाफ भागीदारी के महत्व को दर्शाता है।

राज्य समाचार उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने दी वाराणसी में रोपवे परियोजना को मंजूरी


वाराणसी में रोपवे परियोजना के लिए एक प्रमुख पहल में 15 दिसंबर, 2021 को राज्य मंत्रिमंडल ने व्यवहार्यता अंतर वित्त पोषण, इसकी व्यवहार्यता रिपोर्ट, प्रस्ताव के लिए अनुरोध दस्तावेज, मसौदा रियायत दस्तावेज इत्यादि को मंजूरी दे दी।

(Image Source: https://www.amarujala.com/)

  • 3.65 किलोमीटर की यह परियोजना वाराणसी कैंट से शुरू होकर साजन तिराहा और रथ यात्रा होते हुए चर्च क्रॉसिंग तक जाएगी।
  • अनुमान के अनुसार, प्रतिदिन 80,000 यात्री रोपवे का उपयोग करेंगे। परियोजना को सार्वजनिक निजी भागीदारी मोड में विकसित किया जाएगा।

कैबिनेट के अन्य फैसले: राज्य की राजधानी में स्थित भातखंडे संगीत संस्थान को एक पूर्ण राज्य विश्वविद्यालय बनाने की मंजूरी।

  • नई खांडसारी लाइसेंसिंग नीति भी एक साल के बजाय इस बार पांच साल के लिए जारी की गई है। इस नीति से लघु और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।
  • आबकारी विभाग 31 मार्च, 2015 तक की 53.91 करोड़ रुपये की बकाया वसूली के लिए एकमुश्त निपटान योजना लेकर आया है।
  • सरकार ने ‘एकलव्य स्पोर्ट्स फंड’ के तहत खेल संघों को वार्षिक अनुदान 15,000 रुपये से बढ़ाकर 2 लाख रुपये कर दिया है।

पीआईबी न्यूज आर्थिक

बीना-पनकी बहु-उत्पाद पाइपलाइन परियोजना


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 28 दिसंबर, 2021 को बीना रिफाइनरी (मध्य प्रदेश) से पनकी, कानपुर (उत्तर प्रदेश) में पीओएल टर्मिनल तक ‘बहु-उत्पाद पाइपलाइन’ परियोजना (Multiproduct pipeline project) को राष्ट्र को समर्पित किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: 356 किलोमीटर लंबी परियोजना की क्षमता लगभग 3.45 मिलियन मीट्रिक टन प्रति वर्ष है।

  • इस परियोजना में टैंकेज क्षमता में वृद्धि और पनकी पीओएल टर्मिनल पर ‘रेल लोडिंग गैन्ट्री’ (Rail Loading Gantry) का निर्माण भी शामिल है।
  • परियोजना की कुल लागत 1524 करोड़ रुपये (उत्तर प्रदेश में 1227 करोड़ रुपये और मध्य प्रदेश में 297 करोड़ रुपये) है।
  • परियोजना उत्तर प्रदेश के 5 जिलों- ललितपुर, झांसी, जालौन, कानपुर देहात और कानपुर नगर और मध्य प्रदेश के 2 जिलों- सागर और टीकमगढ़ को कवर करेगी।
  • यह बीना रिफाइनरी से उत्पादों की सुरक्षित और कुशल निकासी को सुनिश्चित करेगा और पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य उत्तर प्रदेश, उत्तरी बिहार और दक्षिणी उत्तराखंड में उत्पादों की उपलब्धता में भी सुधार करेगा।

पीआईबी न्यूज विज्ञान-प्रौद्योगिकी

ब्रह्मोस विनिर्माण केंद्र


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 26 दिसंबर, 2021 को लखनऊ में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा स्थापित किए जाने वाले 'ब्रह्मोस विनिर्माण केंद्र' (BrahMos manufacturing centre) की आधारशिला रखी।

(Image Source: https://www.thehindu.com/)

महत्वपूर्ण तथ्य: ब्रह्मोस एयरोस्पेस द्वारा घोषित ब्रह्मोस विनिर्माण केंद्र, उत्तर प्रदेश डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर (UP DIC) के लखनऊ नोड में एक अत्याधुनिक सुविधा है।

  • यह 200 एकड़ से अधिक के क्षेत्र को कवर करेगा और विकास के तहत ब्रह्मोस-एनजी (अगली पीढ़ी) क्रूज मिसाइल संस्करण का उत्पादन करेगा।

जीके फैक्ट: 'ब्रह्मोस विनिर्माण केंद्र' अगले दो से तीन वर्षों में तैयार हो जाएगा और प्रति वर्ष 80-100 ब्रह्मोस-एनजी मिसाइलों की दर से उत्पादन शुरू करेगा।